#धर्म और ज्योतिषी

राजेश कृष्ण पारीक Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए राजेश जी का जवाब
सभी को-जय सियाराम
1:57
जी नमस्कार अत्यंत सुंदर प्रश्न किया श्री रामचरित मानस के अंदर पूज्य पाद बाबा गोस्वामी तुलसीदास जी ने रावण के निवास को मंदिर बोला गया हूं दशानन मंदिर माही अति बिचित्र कहि जात सुना ही सुंदर कांड की चौपाई और विभीषण के निवास को भवन बोला कि हरी भवन एक अधिक सुवा हरी मंदिर साहिब इन न बनाओ तो मूवी भीषण के घर को भवन बोला और रावण के घर को मंदिर बन तो देखिए यथा योग्य अनुसार बताऊं मैं आपको तो रावण के घर को मंदिर इसलिए बोला क्योंकि रावण के साथ रानी मंदोदरी रहती थी और विभीषण जी के घर को भवन इसलिए बोला क्योंकि विभीषण की पत्नी को रावण ने उसे छीन लिया था तो वो रावण के महल में रहती थी तो जिस घर के अंदर स्त्री नहीं होती नारी नहीं होती वह घर घर ही रहता है भवन रहता है लेकिन वह मंदिर नहीं बन सकता घर मंदिर तभी बनता है जब घर के अंदर एक स्त्री होती है और स्त्री का बहुत प्रकार से सम्मान किया जाता है तभी वह घर है वह मंदिर बनता है इसलिए पूजा बाद बाबा ने रावण के लिए लिखा गया हूं दशानन मंदिर माही के हनुमान जी महाराज दशानन के मंदिर की दशा नंद के घर गए और विभीषण के घर के सामने गए तो भवन इसका यही सबसे बड़ा कारण है घर को अगर मंदिर बनाना है तो नारी का सम्मान करो जहां पर नारी नहीं है नारी का सम्मान नहीं होता वह घर भवन ही रहता है वह घर मंदिर नहीं बन पाता यारा

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गोस्वामी तुलसी बाबा रावण के तरफ,गोस्वामी तुलसीदास जी ,गोस्वामी जी ने रावण की निवास को मंदिर बोला
URL copied to clipboard