#जीवन शैली

bolkar speaker

फूल और कली में अंतर?

Phool Aur Kali Mein Antar
neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
0:59
गुड मॉर्निंग मैं नीलम मिश्रा और आपने हमें गलत बोल कर एक पिक सेंड फूल और कली में अंतर बताओ तो फूल और कली में अंतर जरा सा होता है दोस्तों ज्यादा नहीं जब फूल आधारशिला होता है जो महफ़िल में विकसित नहीं होता है उसे कल कहते हैं और कल ही जब पूरी तरह खिल जाती है पूर्ण विकसित हो जाती है उसकी हर पल कुड़िया अलग अलग हो जाती है और वह बड़ा रूप ले लेती है तो उसे फूल कहते हैं और वह फूल का छोटा सा फुल कवर प्रारंभिक रूप जो शुरुआत में होता है और खिला हुआ भाग खिला हुआ अवैध रूप से पूर्ण विकसित नहीं है उसे कल ही करते हैं तो दोस्तों फूल और कली नहीं जाना चाहता है पूर्व का ही प्रारंभिक रूप कली वाला कली का पूर्ण विकसित रूप फुल कहलाता है दोस्तों आपको मेरी जानकारी अच्छी लगे तो लाइक और कमेंट करिए और स्वस्थ रहिए मस्त रहिए मुस्कुराते रहिए धन्यवाद

और जवाब सुनें

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Sonia Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sonia जी का जवाब
Unknown
0:45
नमस्कार आपका प्रश्न यह है और कली में अंतर तो आइए जानते हैं दोनों में मुख्य अंतर क्या होता है फूल पौधे के एक हिस्से को संदर्भित करता है जिसमें प्रजनन अंग होते हैं यह अक्सर रंगीन पंखुड़ियों और चप्पलों से घिरा होता है और जो कली है वह एक अच्छी और फूल के एक प्रारंभिक चरण को संदर्भित करता है तो उसको हम कल ही कहते हैं तो मैं आशा करती हूं आपको इन दोनों में अंतर समझ आ गया होगा शुक्रिया

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
pari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए pari जी का जवाब
Unknown
1:05
हेलो एवरीवन किसी ने क्वेश्चन किया था और गली में क्या अंतर है तो फिर फूल और कली में यह अंतर है कि फूल जब फूलता है अपन उसको बहुत उपयोग में ला सकते हैं जैसे हार बनाना भगवान जी को चढ़ाना और कुछ भी है पंचायतों की घर की सजावट के लिए और कई लोग फूल से रंगोली बनाते हैं और काम है कि नहीं आती है पर फालतू का टोल्ड थे उन्हें और देखो जैसे माला भी नहीं बना सकते उनका भगवान जी को भी नहीं चढ़ा सकते और रंगोली भी नहीं बना सकते कि रंगोली बुक अच्छी नहीं रहती तपन को रखेंगे तो वह दूर-दूर दिखेगा ना इसलिए और वह फ्रेंड्स जो रहता है कि अपन माला पर बना देंगे उनको है ना लोग सो जाएगा मिल जाएगा लेकिन भूलता नहीं है वह मतलब ऐसे ही चंगा रहता है माला पहनाते हैं तो कलिया ना खिलती नहीं है वैसी रहती है थैंक यू

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:29
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा की आप का प्रेस में है फूल और कली में अंतर देखिए फ्रेंड भूल जो होता है आप सभी जानते हैं कि फूल किसे कहते हैं जब किसी पेड़ का जो हुआ है उसका बीज होता है जब अपने पूरे रूप में आ जाता है तो उसे फूल कहते हैं और सेम उसका उल्टा जोड़ता है फ्रेंडशिप कली जो होती है वह बीच का गुरु होती है तो पूरी रूप से विकसित नहीं हो पाती है आपने देखा होगा फ्रेंड की फुल रहता है जो इतनी बुरी अवस्था में आ जाता है और उसी के बगल कुछ फुल ऐसे रहते हैं जो बहुत ही छोटे छोटे रहते हैं यानी कि अभी वह कैसा है लाल की दिशा में रहते हैं वह एक नन्हे से बच्चे के रूप में रहते हैं तो उन्हें जो है हम सैनी की संज्ञा देते हैं अपनी सुनाओ कोई बच्ची रहती है तो उसे कहते हैं कि बहुत ही प्यारी लग रही है जैसे फूल की कली तो इसका अर्थ यही होता है कि कली ज्योति फ्रेंड को एक प्रकार से हम नवजात लेते हैं मानते हैं यानी कि जैसे कोई नवजात शिशु होता है जब वह जो है पैदा होता है तो वह एक प्रकार का कल ही होता है आप सीधी सी भाषा में आपको समझा रहा हूं ट्रेन जैसे कोई बच्चा जन्म लेता है कोई लड़की है एक लड़का है वह जन्म हुआ लड़की का मान लीजिए एग्जांपल के रूप में किसी लड़की का जन्म हुआ वह एक प्रकार की कली होती है वही लड़की जो है जब बड़ी होती है तो वह एक फूल बन जाती है जैसे कि आपको इसी गांधी के रूप में मैं समझाना चाहता हूं फ्रेंड कि जब लड़की बड़ी होती है तो वह एक करीना रह कर के जो है लड़की होती है फ्रेंड शादी हो जाती तो औरत हो जाती है सेम वही पोजीशन में भी होता है जब फूल का विकास नहीं हुआ रहता हूं छोटा रहता है वह कलिका संज्ञा दी जाती है कल इनाम दिया जाता है और जब उसी का रूप परिवर्तित होकर बड़ा हो जाता है एक फूल के रूप में परिवर्तित हो जाता है तो उसी को हम फूल का नाम देते हैं तो आता है से कि आप सभी को यह जवाब पसंद आया होगा शुक्रिया

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:51
फूल और कली में क्या अंतर है कली फूल का बचपन का रूप है यानी बाल्यावस्था में जब किसी पौधे से अंकुर निकलते हैं तक पहुंची में पहले कली का रूप धारण होता है कली पंखुड़ियों से तैयार होती है और वही जब तुम जो ना अवस्था में विकसित हो जाती है तो वह फूल बन जाती है यानी फूल की बचपन अवस्था को हम बोलेंगे बाल्यावस्था कौन बोलेंगे कली का होना और कली की युवावस्था कांगना उसे हम बोलेंगे फूल कंगना

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:52
फूल और कली में अंतर देखे तो फूल जाता है एक फूल और पत्तियों से बना हुआ और जो कल ही होती है जो पुल के नीचे जो डंठल होता है ठंडा होता है उसको कल के नाम से जाना जाता है जो कि उसको जो इतने जो पूछ के साथ जो जोड़ने का काम करती है तो फूल के अंदर कुछ और हो सकता है कि वह काली पड़ जाती है

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Brahma Prakash Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Brahma जी का जवाब
Asst. Teacher
0:41
नमस्कार मैं ब्रहम प्रकाश मिश्रा आपका बोल करें पर हार्दिक स्वागत करता हूं प्रश्न है फूल और करनी में अंतर तो जी मित्र फूल किसी भी पेड़ का एक विकसित जनन अंग होता है इसमें पूर्णता खिली हुई पंखुड़ियां होती है जब चली उस विकसित अंग की बजाय एक हफ्ता विकसित अंग होता है जिसकी विकसित होने के बाद फूल का रूप लेता है तो मित्र यह जवाब अच्छा लगा हो तो कृपया सब्सक्राइब लाइक शेयर और कमेंट जरूर करें धन्यवाद

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:56
नमस्कार दोस्तों प्रश्न है कि फूल और करनी में अंतर तो दोस्तों फूल और कड़ी में रहता ही अंतर है जैसे कि कोई बाल्यावस्था में बच्चा है या बच्ची है और जवान जोगन अवस्था में आ जाता है तो वही प्रक्रिया कली और फूल भी है फूल में है अगर हम बाल्यावस्था की बात करें तो कल ही कहलाए ही पोस्ट में और जब वह पूरा खेल के तैयार हो जाए फुल यानी कि जैसे कि कोई व्यक्ति जोगन अवस्था में पूर्ण रूप से सुदृढ़ हो जाता है टूटे नौजवान बोलते हैं या नो यूपी बोलते हैं तो वैसे ही फूल पूर्ण रूप से खिल चुका होता है तो उसे हम फूल बोलते हैं और कल ही है वह छोटी के रूप में धीरे-धीरे अपने रास्ता तय करता है यौवन की तरफ हो सकता है कि उसका समय काफी कम हो सकता है कुछ घंटे हो कुछ दिन हो जैसे कि बाल्यावस्था और युवावस्था में तो काफी वर्षों निकल जाते हैं लेकिन फूल और कली में ज्यादा अंतर नहीं हो सकता है 1 दिन में हो सकता है कल ही पूर्ण रूप से फूल में परिवर्तित हो जाए और उसका प्रयोग करने लायक हो जाए प्रयोग कैसे कर सकते हैं हम फुल पूरा खिला रहता है तो देखने में अच्छा लगता है भगवान के चरणो में अर्पण करने लायक हो जाता है उसकी माला बनाई जा सकती है शव यात्रा पर चला जा सकता है तो हमें कल ही को जाकर तोड़ना नहीं चाहिए बहुत सारे लोग कली को भी तोड़ लेते हैं हमें भूल को ही तोड़ना चाहिए धन्यवाद

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Sanjay Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sanjay जी का जवाब
Unknown
0:32
फूल और कली में क्या अंतर है तो फूल की बात की जाए कोई पौधा होता है जब वह थोड़ा बड़ा हो जाता है यानी कि वह इस काबिल हो जाता है कि इसमें किसी तरह का पुलिया लक्ष्य के सबसे पहले क्या होता है जो बीज होते हैं वह अंकुरित होते हैं और वह सबसे पहले उस समय यानी की फुल वहीं पर बैठे होते हैं खून बनने से पहले जो की व्यवस्था होती है वह कल की अवस्था होती है एक कली से ही फूल बनते हैं धन्यवाद

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
0:42
नमस्कार मित्रों की विसर्जन का प्रश्न है कि फूल और कली में क्या अंतर है फूल जो होता है वह आदाब में भून विकसित होने के बाद फूल बनता है और कल ही जो होता है वह आदत करा इंस्टल पर जब फूल खेलने के पहले जो पहले जो प्रक्रिया होती है पादपों में उसे हम कल ही कहते हैं कल ही मैं पूर्ण रुप से फूल का विकास नहीं होता है ब्यूटीफुल एक पूर्ण विकास होता है पागल था

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
0:49
आपका प्रश्न फूल और कभी में अंतर लिखिए जब किसी पोस्ट की पंखुड़ियां पूरी तरह से खेली जाती है तो उसे पुस्तक आ जाता है पंजाब में और जब वह बंद होती हैं तो पहले चरण में उन्हें ढूंढ ली और फिर कल ही कहा जाता है और काली और उसके बीच में एक वक्त था और आती जिसे मुकुल कहा जाता है इस तरह से ढूंढी जिसकी चर्चा ज्यादा नहीं होती कली मुकुल और खुशबू पूरी तरह से बंद होती है पंखुड़ियां तब उसे कभी कहते हैं और बिक्री होती हैं तो उसे मुकुल कहते हैं पूरी तरह से खिल जाती है फाइल जाती है तो उसे पुष्पक आ जाता है कोलकाता से

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:46
सिवान तक का सवाल है कि फूल और गली में क्या अंतर है तो नहीं फूल मतलब 2 जनवरी बहुत ही खिला होता है और जो कल होता है उसका वह फर्स्ट पेज होता कह सकते हैं पहला स्टेज होता है और वह भी छोटा और बड़ा होता है बड़ा क्या सकते हैं जो खेला हुआ भी नहीं होता उसके जो पेटल्स और जो पंखुड़ियां होती है वह अभी इतनी शैली और खिली हुई नहीं थी वह भी एक ग्रुप के स्टेज में आप क्या सकते हैं अभी खेलने के स्टेज में ही रहता है लेकिन वहीं अगर आप फूल की बात करते हैं तो उनके जितने भी बन गया वह पूरी खिली हुई और स्प्रेड रहती है जिससे आप आसानी से पहचान पहचान पाते हैं कि हां यह फूल है क्योंकि खिला हुआ है और यह जो कई है यह बर्थडे यह मतलब सिकुड़ा हुआ अभी ऑफिस में है अभी खेलने के
Sivaan tak ka savaal hai ki phool aur galee mein kya antar hai to nahin phool matalab 2 janavaree bahut hee khila hota hai aur jo kal hota hai usaka vah pharst pej hota kah sakate hain pahala stej hota hai aur vah bhee chhota aur bada hota hai bada kya sakate hain jo khela hua bhee nahin hota usake jo petals aur jo pankhudiyaan hotee hai vah abhee itanee shailee aur khilee huee nahin thee vah bhee ek grup ke stej mein aap kya sakate hain abhee khelane ke stej mein hee rahata hai lekin vaheen agar aap phool kee baat karate hain to unake jitane bhee ban gaya vah pooree khilee huee aur spred rahatee hai jisase aap aasaanee se pahachaan pahachaan paate hain ki haan yah phool hai kyonki khila hua hai aur yah jo kaee hai yah barthade yah matalab sikuda hua abhee ophis mein hai abhee khelane ke

bolkar speaker
फूल और कली में अंतर?Phool Aur Kali Mein Antar
राम सिंह Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए राम जी का जवाब
शिक्षण
0:40
नमस्कार दोस्तों मैं राम सिंह पंकज आपका स्वागत है और कली मंत्र के फूल आप सभी जानते हैं देखने में आता है लेकिन निकली है क्या कली फूल का विकसित रूप है पहले हाथियों फूल बाद में बनता है निकलती है उसका धीरे-धीरे विकास होता इसी तरीके से बायोलॉजिकल तरीके से धीरे-धीरे विकास होने के बाद वह कल ही फूल में कन्वर्ट होती है ना कि भूल कली में कन्वर्ट हो पाएगी खेत रूप है क्योंकि फूल क्या है गली का विचित्र रुको बस

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • फूल और कली में क्या अंतर है, फूल और कली में वैज्ञानिक अंतर, फूल और कली में क्या अंतर है बताइए
URL copied to clipboard