#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?

Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Nav kishor Aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nav जी का जवाब
Service
0:57
नमस्कार आप ने प्रश्न किया है कि मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है देखिए मैं समझता हूं मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण तो मनुष्य खुद ही है मनुष्य की जो लालसा है जो इच्छाएं हैं वह जरूरत से ज्यादा हो जाती है जरूरत से ज्यादा बढ़ जाती हैं जिस वजह से उसको दुख पहुंचता है वह परेशान हो जाता है और यह परेशानी ही उसके दुख का कारण होती है कभी भी ज्यादा इच्छा या ज्यादा लालसा नहीं रखनी चाहिए जितना मिले उसी में संतोष कीजिए कहते हैं ना कि जितना ज्यादा आप मांगेंगे जितना ज्यादा आप पाने की कोशिश करेंगे उतना ही ज्यादा आप होंगे भी तो इसलिए कभी भी अपनी गुंजाइश से ज्यादा अपनी इच्छाओं को कंट्रोल में रखें और अपनी जितना आपको मिलता है प्रभु ने आपको जो दिया है उसी में संतोष रखी है जितनी चादर आपकी है उतने ही पैर फैलाने बैठा रहे उम्मीद करता हूं जवाब अच्छा लगेगा धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya hai ki manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai dekhie main samajhata hoon manushy ke dukh ka sabase bada kaaran to manushy khud hee hai manushy kee jo laalasa hai jo ichchhaen hain vah jaroorat se jyaada ho jaatee hai jaroorat se jyaada badh jaatee hain jis vajah se usako dukh pahunchata hai vah pareshaan ho jaata hai aur yah pareshaanee hee usake dukh ka kaaran hotee hai kabhee bhee jyaada ichchha ya jyaada laalasa nahin rakhanee chaahie jitana mile usee mein santosh keejie kahate hain na ki jitana jyaada aap maangenge jitana jyaada aap paane kee koshish karenge utana hee jyaada aap honge bhee to isalie kabhee bhee apanee gunjaish se jyaada apanee ichchhaon ko kantrol mein rakhen aur apanee jitana aapako milata hai prabhu ne aapako jo diya hai usee mein santosh rakhee hai jitanee chaadar aapakee hai utane hee pair phailaane baitha rahe ummeed karata hoon javaab achchha lagega dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
1:24
नमस्कार दोस्तों कैसे हैं साले मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है जो मनुष्य का सबसे बड़ा दुख का कारण होने वाले अक्सर देखा जाता है कि मैंने उसे अपनी इच्छाओं पर काबू नहीं रख पाता और वह लोग हमेशा दुखी दुख जलता है क्योंकि अगर वह लोग जो हमारे 25 दिन से मैं संतुष्ट होकर पानी की कोशिश में लगे रहते हैं हम तो नहीं इस बात का ध्यान नहीं रहता है कि मतलब जो हमारे पास है उनसे में संतोष करना चाहिए लेकिन ऐसा होता नहीं है कि उनकी इच्छा है कि वह मतलब कोई भी चीज खरीदना चाहते हैं जो चीज खरीद लेते हैं बाद में उनका मन होता है कि दूसरे लोगों ने उचित कदम खरीदने व्यक्ति से संतुष्ट करो दूसरी चीज चीज चीज खरीदने के चक्कर में लगे रहते परंतु उन्हें इस बात का ध्यान रखें जो हमारे पास है सोचो जरा वो कितने लोगों के पास नहीं होगा उन लोगों की क्या हालत क्योंकि जो हम लोग उन लोगों के पास नहीं होगा जो हमारे पास है तो यह सब सुनकर मनुष्य अगर सोचता है तो निश्चित तौर पर अपने पास चीजें उनसे संतुष्ट रहता है परंतु अगर जो व्यक्ति या संस्था और अपनी इच्छाओं को अपने बस में नहीं कर पाते तूने चित्र वही दुख जलता है तुम्हारे हिसाब से यही जवाब दूंगा अगर अच्छा लगे तो प्लीज लाइक
Namaskaar doston kaise hain saale manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai jo manushy ka sabase bada dukh ka kaaran hone vaale aksar dekha jaata hai ki mainne use apanee ichchhaon par kaaboo nahin rakh paata aur vah log hamesha dukhee dukh jalata hai kyonki agar vah log jo hamaare 25 din se main santusht hokar paanee kee koshish mein lage rahate hain ham to nahin is baat ka dhyaan nahin rahata hai ki matalab jo hamaare paas hai unase mein santosh karana chaahie lekin aisa hota nahin hai ki unakee ichchha hai ki vah matalab koee bhee cheej khareedana chaahate hain jo cheej khareed lete hain baad mein unaka man hota hai ki doosare logon ne uchit kadam khareedane vyakti se santusht karo doosaree cheej cheej cheej khareedane ke chakkar mein lage rahate parantu unhen is baat ka dhyaan rakhen jo hamaare paas hai socho jara vo kitane logon ke paas nahin hoga un logon kee kya haalat kyonki jo ham log un logon ke paas nahin hoga jo hamaare paas hai to yah sab sunakar manushy agar sochata hai to nishchit taur par apane paas cheejen unase santusht rahata hai parantu agar jo vyakti ya sanstha aur apanee ichchhaon ko apane bas mein nahin kar paate toone chitr vahee dukh jalata hai tumhaare hisaab se yahee javaab doonga agar achchha lage to pleej laik

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:30
सिद्धू का सबसे बड़ा कारण क्या है दोस्तों मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण है उसके असफलता उसका टूट जाना जो कार्यकर्ता और यदि उस कार्य में सफल हो जाता है तो मेरा दिल ही जानता है और मेरे सबसे बड़ा कारण यही होता है कि जब दुख होता है उसका उत्तर की मेहनत करके फिर से सफल होने के लिए चलता है मेरे हिसाब से यह सबसे बड़ा रास्ता है
Siddhoo ka sabase bada kaaran kya hai doston manushy ke dukh ka sabase bada kaaran hai usake asaphalata usaka toot jaana jo kaaryakarta aur yadi us kaary mein saphal ho jaata hai to mera dil hee jaanata hai aur mere sabase bada kaaran yahee hota hai ki jab dukh hota hai usaka uttar kee mehanat karake phir se saphal hone ke lie chalata hai mere hisaab se yah sabase bada raasta hai

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
AM Kaptan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए AM जी का जवाब
Unknown
1:47
दोस्तों साथी आइए दोस्तों साथी आज का विषय देखते हैं मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है मैं आपको आश्वस्त कर देना चाहता हूं कि मनुष्य के दुख का कारण क्या है और कैसे होता है क्यों होता है इन सभी का जवाब मिल जाएगा तो मनुष्य कब दुखी होता है जब वह भी समाज में कहीं गया हो हजारों की संख्या में खड़ा हूं और वहीं पर उसे अपमानित होना पड़े तो खो गया है उसे दुख पहुंचा वह अपमानित हुआ वह अपमानित हुआ लज्जित हुआ इसका मतलब हो तुम किसके कारण पहुंचा दो अगर आज जितना होता है अपमानित ना होता तो उसे दुख आता ही नहीं आने की कुल मिलाकर कर सकते हो कि लज्जित ही यह दुख का कारण है इस तरह से कालिदास जी ने अगर उनकी पत्नी डॉट प्रकार ना लगाई होती इतना कड़वा न बोली होती इतना लज्जित ना किया होता है इतना अपमान इतना किया होता अगर आज उन्हें दुख ना होता तो शायद हो घर के छोड़ कर बाहर जा ही न पाते वह घर छोड़कर जब बाहर गए अपार ज्ञान की प्राप्ति की और को सबसे महान बन गए संस्कृत के लिए धन्यवाद साथी
Doston saathee aaie doston saathee aaj ka vishay dekhate hain manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai main aapako aashvast kar dena chaahata hoon ki manushy ke dukh ka kaaran kya hai aur kaise hota hai kyon hota hai in sabhee ka javaab mil jaega to manushy kab dukhee hota hai jab vah bhee samaaj mein kaheen gaya ho hajaaron kee sankhya mein khada hoon aur vaheen par use apamaanit hona pade to kho gaya hai use dukh pahuncha vah apamaanit hua vah apamaanit hua lajjit hua isaka matalab ho tum kisake kaaran pahuncha do agar aaj jitana hota hai apamaanit na hota to use dukh aata hee nahin aane kee kul milaakar kar sakate ho ki lajjit hee yah dukh ka kaaran hai is tarah se kaalidaas jee ne agar unakee patnee dot prakaar na lagaee hotee itana kadava na bolee hotee itana lajjit na kiya hota hai itana apamaan itana kiya hota agar aaj unhen dukh na hota to shaayad ho ghar ke chhod kar baahar ja hee na paate vah ghar chhodakar jab baahar gae apaar gyaan kee praapti kee aur ko sabase mahaan ban gae sanskrt ke lie dhanyavaad saathee

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
A.k.s. Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए A.k.s. जी का जवाब
Teacher
2:52
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण अगर कोई है तो वह है उसकी इच्छाएं इंसान है उसके दुख का कारण बनता है वह बनती है इसकी छाया नहीं होती है होती है उसकी वजह से उसे दुख प्राप्त होता है मन की जगह देने के लिए अनेक प्रकार के करता है मन करता है अपने शारीरिक सुख के लिए या फिर अपने सगे संबंधियों के लिए क्या तुम्हारे तू करता है इस कार्य को करने के लिए अबे इस सुख को प्राप्त कर लेंगे इस प्रकार से हमारे मन में आती हैं इच्छाएं कभी खत्म नहीं होती हैं अगर खत्म हो जाती है मन एक ऐसा अंधा कुआं है जिसे कभी भी कोई भी उसे भर नहीं सकता है एक खत्म होती तो दूसरी उसके पीछे पर आ जाती है इसलिए मनुष्य को जाना है उसे मन के अधीन नहीं कार्य करना है उसे मन करता है वह हमारी इच्छा है हमें चाहिए अपनी इच्छाओं को जितना कम से कम हो सके हमें जीवन जीने के लिए कार्य करना है दुख का कारण बनती है कंट्रोल करें और अपने जीवन को सरल और सादा बनाने के लिए अपने मन को एकाग्र करके हमें उस ईश्वर का चिंतन करना है जिसने भी सृष्टि को भेजा है और अपना कार्य आसानी के साथ करके इस संसार से निकल जाना है यह होता है संतमत की विचारधारा से धन्यवाद
Manushy ke dukh ka sabase bada kaaran agar koee hai to vah hai usakee ichchhaen insaan hai usake dukh ka kaaran banata hai vah banatee hai isakee chhaaya nahin hotee hai hotee hai usakee vajah se use dukh praapt hota hai man kee jagah dene ke lie anek prakaar ke karata hai man karata hai apane shaareerik sukh ke lie ya phir apane sage sambandhiyon ke lie kya tumhaare too karata hai is kaary ko karane ke lie abe is sukh ko praapt kar lenge is prakaar se hamaare man mein aatee hain ichchhaen kabhee khatm nahin hotee hain agar khatm ho jaatee hai man ek aisa andha kuaan hai jise kabhee bhee koee bhee use bhar nahin sakata hai ek khatm hotee to doosaree usake peechhe par aa jaatee hai isalie manushy ko jaana hai use man ke adheen nahin kaary karana hai use man karata hai vah hamaaree ichchha hai hamen chaahie apanee ichchhaon ko jitana kam se kam ho sake hamen jeevan jeene ke lie kaary karana hai dukh ka kaaran banatee hai kantrol karen aur apane jeevan ko saral aur saada banaane ke lie apane man ko ekaagr karake hamen us eeshvar ka chintan karana hai jisane bhee srshti ko bheja hai aur apana kaary aasaanee ke saath karake is sansaar se nikal jaana hai yah hota hai santamat kee vichaaradhaara se dhanyavaad

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:30
ऑफिस वाले जी मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है तो संसार में मनुष्य की दुखी रहने का सबसे बड़ा कारण है इसका आज तक था ना वह किसी भी व्यक्ति के प्रति आसक्त रहता है चाहे और भाई-बहन माता-पिता भाई बंधु या पुत्र पुत्र या किसी वस्तु के प्रति है तो इसे बिछड़ने या प्राप्त करने या खो जाने पर दुख का सामना करना पड़ता है
Ophis vaale jee manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai to sansaar mein manushy kee dukhee rahane ka sabase bada kaaran hai isaka aaj tak tha na vah kisee bhee vyakti ke prati aasakt rahata hai chaahe aur bhaee-bahan maata-pita bhaee bandhu ya putr putr ya kisee vastu ke prati hai to ise bichhadane ya praapt karane ya kho jaane par dukh ka saamana karana padata hai

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
25197141:29
हेलो फ्रेंड नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है मनुष्य का सबसे बड़ा जो दुख का कारण माना गया है वह है उसका संतोष उसकी दिन प्रतिदिन बढ़ती हुई भूख फ्रेंड है आप जितने में है जो चीज आप पर अगर इस चीज से आप संतुष्ट नहीं है फ्रेंड हालांकि मैं यह नहीं कहता कि आप थोड़ा सा काबिल हो जाएंगे तो आगे का कार्यरत ना होइए जरूर हुई है फ्रेंड क्योंकि अगर नहीं होंगे तो आप का विकास उतने पर रुका रहेगा आपको भी का सपना करना चाहिए बहुत बड़ा बनना चाहिए जितना हो सके उतना बड़ा करना चाहिए फ्रेंड संतोष के साथ जब आप बेचने में रहेगा उतने में खुश रहेंगे आप तो आप का विकास भी होगा और आपका किसी प्रकार से कोई और एक भी नहीं होगा लेकिन जब आपके पास संतोष नहीं होगा तो आपके पास जो है अहंकार आएगा लोगों को बुरी नजर से देखेंगे ऐसा करेंगे लोगों से यानी कि आपने में अपने आप को खुद ही आप जो है तड़पायेंगे प्रताड़ित करेंगे उसे प्रिंट क्या होगा कि दूसरा कोई नहीं है क्षतिग्रस्त होता है आप खुद जो है उस चीज से जो है अपने आप को छतिग्रस्त करते हैं तो आप के अंदर सबसे बड़ी जो चीज होती है सबसे बड़ा जो कारण होता है माने गया है दुकान है संतोष किसी दूसरे को देख कर के किसी दूसरे की चीजों को देख कर के अगर आप अफसोस करते हैं या फिर आपके अंदर किसी प्रकार का दुख या फेल पैदा हो जाता है तो वह कंडीशन जो होती है फ्रेंड बहुत ही बयां होती है ऐसा एक इंसान को नहीं करना चाहिए हमेशा नहीं रहता पुराना चाहिए फिर आगे की तरफ लेकिन संतोष के साथ आशा है कि आप सभी को यह जवाब पसंद आया होगा शुक्रिया
Helo phrend namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai manushy ka sabase bada jo dukh ka kaaran maana gaya hai vah hai usaka santosh usakee din pratidin badhatee huee bhookh phrend hai aap jitane mein hai jo cheej aap par agar is cheej se aap santusht nahin hai phrend haalaanki main yah nahin kahata ki aap thoda sa kaabil ho jaenge to aage ka kaaryarat na hoie jaroor huee hai phrend kyonki agar nahin honge to aap ka vikaas utane par ruka rahega aapako bhee ka sapana karana chaahie bahut bada banana chaahie jitana ho sake utana bada karana chaahie phrend santosh ke saath jab aap bechane mein rahega utane mein khush rahenge aap to aap ka vikaas bhee hoga aur aapaka kisee prakaar se koee aur ek bhee nahin hoga lekin jab aapake paas santosh nahin hoga to aapake paas jo hai ahankaar aaega logon ko buree najar se dekhenge aisa karenge logon se yaanee ki aapane mein apane aap ko khud hee aap jo hai tadapaayenge prataadit karenge use print kya hoga ki doosara koee nahin hai kshatigrast hota hai aap khud jo hai us cheej se jo hai apane aap ko chhatigrast karate hain to aap ke andar sabase badee jo cheej hotee hai sabase bada jo kaaran hota hai maane gaya hai dukaan hai santosh kisee doosare ko dekh kar ke kisee doosare kee cheejon ko dekh kar ke agar aap aphasos karate hain ya phir aapake andar kisee prakaar ka dukh ya phel paida ho jaata hai to vah kandeeshan jo hotee hai phrend bahut hee bayaan hotee hai aisa ek insaan ko nahin karana chaahie hamesha nahin rahata puraana chaahie phir aage kee taraph lekin santosh ke saath aasha hai ki aap sabhee ko yah javaab pasand aaya hoga shukriya

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:19
जेके दुख का सबसे बड़ा कारण तो यही है कि आदमी अपने आप से सेटिस्फाइड बिल्कुल नहीं लगता है अगर किसी को 3000 का जॉब मिल गया किस को बचा जगह चाहिए 50000 का मिल गया तुझे कला का चाहिए सुंदर बीवी मिल गई अच्छी बीवी मिल गई तो उससे भी सुंदर अच्छी बीवी उसको चाहिए दोगे तो दुख नहीं होता है अब आपके पास जो है इसका मतलब यह नहीं कि आपके पास कुछ भी नहीं है आप सुनाओ आपके पास कितना है कि आप उस में खुश रह सकते हो तो आप खुश रहो क्योंकि बहुत आदमी होते जिनको डेढ़ लाख दो लाख सैलरी भी होता है तो भी रोते रहते की सैलरी नहीं है वह जाकर देखें कि 30 40,000 में भी आदमी किस तरह से खुश रह रहे हैं आपका 20 मिनट अगर पूरा हो रहा है तब खुश रहिए आपका सैलरी आ गया कल बढ़ेगा आपका लाइफ स्टाइल चेंज होगा दूसरा आदमी में इसका बहुत ज्यादा आजकल बढ़ रहा है एक दूसरे को देखकर जलन का भावना का भावना से झूठ तो एक तो एक्सेस कंपटीशन का फिल्म का दूसरा इच्छा का भाव है इससे दूर है यह तो आपका दुख बहुत कम हो जाएगा थैंक यू अच्छा लगे तो लाइक
Jeke dukh ka sabase bada kaaran to yahee hai ki aadamee apane aap se setisphaid bilkul nahin lagata hai agar kisee ko 3000 ka job mil gaya kis ko bacha jagah chaahie 50000 ka mil gaya tujhe kala ka chaahie sundar beevee mil gaee achchhee beevee mil gaee to usase bhee sundar achchhee beevee usako chaahie doge to dukh nahin hota hai ab aapake paas jo hai isaka matalab yah nahin ki aapake paas kuchh bhee nahin hai aap sunao aapake paas kitana hai ki aap us mein khush rah sakate ho to aap khush raho kyonki bahut aadamee hote jinako dedh laakh do laakh sailaree bhee hota hai to bhee rote rahate kee sailaree nahin hai vah jaakar dekhen ki 30 40,000 mein bhee aadamee kis tarah se khush rah rahe hain aapaka 20 minat agar poora ho raha hai tab khush rahie aapaka sailaree aa gaya kal badhega aapaka laiph stail chenj hoga doosara aadamee mein isaka bahut jyaada aajakal badh raha hai ek doosare ko dekhakar jalan ka bhaavana ka bhaavana se jhooth to ek to ekses kampateeshan ka philm ka doosara ichchha ka bhaav hai isase door hai yah to aapaka dukh bahut kam ho jaega thaink yoo achchha lage to laik

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Nidhi Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Unknown
1:58
जिसकी आपने भोजन किया कि मनुष्य के दूंगा सबसे बड़ा कारण क्या है तो मेरे हिसाब से लगता है कि दूसरों से एक्सपर्ट करना दूसरों से जाओ आपको ज्यादा कर लेते हो और वह जो एक्सपेक्टेशन है वह कंप्लीट नहीं होता तो जाहिर सी बात है कि दुख होता है तो उसी लिए अपने आपको बैलेंस रखो हर इंसान को अपने आप को पहले रखना चाहिए और कुछ नहीं बस आप जितना दे सकते हो अपनी साइड से बस इतना ही रखो कि मैं अपने साइड से देख सकता हूं उसके साइड से मुझे क्या मिलेगा क्या नहीं उससे कुछ बात नहीं करना है क्योंकि अगर आप एक्सपर्ट करोगे दिन दिल तो होगा ही और कुछ किसी चीज को पकड़ लेना कि मतलब करना है आपके आपको किसी भी इंसान को जो इसका बस है वह कर्म करना कि रिजल्ट पर बस अपना कर्म सही कर देंगे चाहे जो भी हो उसे एक्सेप्ट करने की कोशिश करो दिन दुख जो है धीरे-धीरे कम हो जाएगा लेकिन यह करना बहुत कंपलीट प्रोसेस लेकिन धीरे-धीरे करने से यह लाइन में शामिल हो जाएगा और दूसरों से कुछ ज्यादा ही मतलब इंसान को दुखी करता है उसे थोड़ा किसी से करना जो इंसान दूसरे से कनेक्ट करता है और अपने साल से जितना है उतना देने की कोशिश करता तो वह इंसान अक्सर खुश रखता खुश ही रहता है और रही बात रिजल्ट की तो वह जो कर्म है उसके ऊपर जैसे कि भागवत गीता में लिखा कार में योगी जैसे कि वह क्या कहता है कि जो वह मतलब जो रेट है वह भगवान में वह कर सकता है वह अपने उसका बस है वह हंड्रेड परसेंट कर सकता है आप जो रिजल्ट आया वह उसे एक्सेप्ट कर लेना चाहिए अगर कुछ ऐसे उसमें कमियां दर्द उसको उसमें इंप्रूवमेंट करना चाहिए यही यही बर्थडे का रिमाइंड सेट इंसान अपने दिमाग में रख ले तो वह थोड़ा दुख हो दुखी होने का चांस है वह कम हो जाएगा थैंक यू
Jisakee aapane bhojan kiya ki manushy ke doonga sabase bada kaaran kya hai to mere hisaab se lagata hai ki doosaron se eksapart karana doosaron se jao aapako jyaada kar lete ho aur vah jo eksapekteshan hai vah kampleet nahin hota to jaahir see baat hai ki dukh hota hai to usee lie apane aapako bailens rakho har insaan ko apane aap ko pahale rakhana chaahie aur kuchh nahin bas aap jitana de sakate ho apanee said se bas itana hee rakho ki main apane said se dekh sakata hoon usake said se mujhe kya milega kya nahin usase kuchh baat nahin karana hai kyonki agar aap eksapart karoge din dil to hoga hee aur kuchh kisee cheej ko pakad lena ki matalab karana hai aapake aapako kisee bhee insaan ko jo isaka bas hai vah karm karana ki rijalt par bas apana karm sahee kar denge chaahe jo bhee ho use eksept karane kee koshish karo din dukh jo hai dheere-dheere kam ho jaega lekin yah karana bahut kampaleet proses lekin dheere-dheere karane se yah lain mein shaamil ho jaega aur doosaron se kuchh jyaada hee matalab insaan ko dukhee karata hai use thoda kisee se karana jo insaan doosare se kanekt karata hai aur apane saal se jitana hai utana dene kee koshish karata to vah insaan aksar khush rakhata khush hee rahata hai aur rahee baat rijalt kee to vah jo karm hai usake oopar jaise ki bhaagavat geeta mein likha kaar mein yogee jaise ki vah kya kahata hai ki jo vah matalab jo ret hai vah bhagavaan mein vah kar sakata hai vah apane usaka bas hai vah handred parasent kar sakata hai aap jo rijalt aaya vah use eksept kar lena chaahie agar kuchh aise usamen kamiyaan dard usako usamen improovament karana chaahie yahee yahee barthade ka rimaind set insaan apane dimaag mein rakh le to vah thoda dukh ho dukhee hone ka chaans hai vah kam ho jaega thaink yoo

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:31
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है तो फ्रेंड्स मेरे हिसाब से मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण है कि उसकी असीमित इच्छाएं मनुष्य को अपनी इच्छाएं कंट्रोल में रखना चाहिए लेकिन जिस व्यक्ति की इच्छाएं अनंत होती हैं यह बहुत ज्यादा इच्छाएं करता है वह तो वह दुखी रहता है इंसान को उतना ही उसे पाने की चाहत रखनी चाहिए उसे मिल जाए जो चाहता सीमित सोचता है इसीलिए उसे दुख का सामना करना पड़ता है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai to phrends mere hisaab se manushy ke dukh ka sabase bada kaaran hai ki usakee aseemit ichchhaen manushy ko apanee ichchhaen kantrol mein rakhana chaahie lekin jis vyakti kee ichchhaen anant hotee hain yah bahut jyaada ichchhaen karata hai vah to vah dukhee rahata hai insaan ko utana hee use paane kee chaahat rakhanee chaahie use mil jae jo chaahata seemit sochata hai iseelie use dukh ka saamana karana padata hai dhanyavaad

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:21
मनुष्य के सबसे दुख का बड़ा कारण है आ सकता है अर्थात जैसन माता-पिता भाई-बहन चाचा चाची रिश्तेदार या संबंध में आप उनसे छोड़ना या समाप्त होने वाला यह शख्स हमारा सबसे बड़ा कारण है
Manushy ke sabase dukh ka bada kaaran hai aa sakata hai arthaat jaisan maata-pita bhaee-bahan chaacha chaachee rishtedaar ya sambandh mein aap unase chhodana ya samaapt hone vaala yah shakhs hamaara sabase bada kaaran hai

bolkar speaker
मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है?Manushya Ke Dukh Ka Sabse Bada Karan Kya Hai
 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए जी का जवाब
Unknown
0:27
कपिल से मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है जब आपके अपने चिर निद्रा में सो जाते हैं अपेक्षा ही मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण अपेक्षा ही मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण है अपने परिवार वालों को दुखी देखना और उस दुख के लिए कुछ ना कर पाना बुढ़ापे में अपने बच्चों को होना मनुष्य जीवन का सबसे बड़ा दुख है
Kapil se manushy ke dukh ka sabase bada kaaran kya hai jab aapake apane chir nidra mein so jaate hain apeksha hee manushy ke dukh ka sabase bada kaaran apeksha hee manushy ke dukh ka sabase bada kaaran hai apane parivaar vaalon ko dukhee dekhana aur us dukh ke lie kuchh na kar paana budhaape mein apane bachchon ko hona manushy jeevan ka sabase bada dukh hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण क्या है मनुष्य के दुख का सबसे बड़ा कारण
URL copied to clipboard