#जीवन शैली

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:44
देखी आशीर्वाद लेना सच में हमें बहुत ज्यादा प्रभावित करता है और इंद्रसेंस पॉजिटिव में जिसे अगर कोई भी आदमी घर में अखबार माता-पिता का आशीर्वाद ले के दिन का शुरुआत पड़ता है या गगन में दादा-दादी या नाना-नानी है उनका आशीर्वाद लेकर दिन का शुरुआत करता है तो क्या है यह ब्लेसिंग जोता नहीं तरह से प्रोटेक्शन का काम करता है एक तरह से साउंड एनर्जी है यह तो यह इनर्जी आपको प्रोडक्ट करता है किसी भी तरह का नेगेटिव है उसे और आपको आगे बढ़ने में बहुत ज्यादा मन करता है तो हमेशा कोशिश कीजिए किसी ने किसी बड़ों की अपनों की आशीर्वाद को आप लोग थैंक यू

और जवाब सुनें

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
0:48
नमस्कार सोता हूं किसी से आशीर्वाद देना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है तो मेरा मानना है कि हमारे आसपास कुछ तरंगें हैं कुछ एनर्जी है कुछ वेब है इस पर अभी तक जाता है शोध नहीं हुआ है और हमारे पास ऐसे टेक्नोलॉजी भी नहीं है जो हम शोध कर पाए अच्छे से लेकिन मेरा मन है कि हमारे पास हम सब के आसपास से कहना जी हम सब के अंदर कहना चाहिए एक से दूसरे के अंदर ट्रांसफर कर सकते हैं और जो आशीर्वाद होता है वह भी ऐसा ही एक प्रोसेसेस इसमें बड़े बुजुर्ग लोग जो हमारे शुभ चिंतक हैं वह अपनी एनर्जी हमें देते हैं या किसी को भी देते हैं इसी माध्यम से एनर्जी वाटी जाती है तुम्हें नजरिए में आशीर्वाद लेने सेवा की हमें प्रभावित होता है

neera Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neera जी का जवाब
Unknown
1:07

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
3:59
किसी से आशीर्वाद देना क्या वाकई हमें प्रभावित करता है निश्चित रूप से हमें प्रभावित करता है क्योंकि जब कोई आशीर्वाद देता है और जब कोई आशीर्वाद देता है तो दोनों में एक ए पॉजिटिव उर्जा निर्मल छुट्टी है आनंद की अवस्था निर्माण होती है और हमेशा हमें आशीर्वाद देने वालों को हम याद करते हैं और वह याद आने पर हम एक प्रकार की ऊर्जा महसूस करते हैं 91 बीघा होता है आशीर्वाद में हम तब लेते हैं जब हम हमारे अहंकार को छोड़ देते मन कैसी प्रक्रिया हो जाती है कि जिसमें उनका रुख रहता नहीं है इसलिए समर्पित भाव से वह गुरु की गुरु के चरणो में अपने आप को सुख देता है या जो भी आशीर्वाद देने वाले हैं उनको अपने आप को समर्पित करना है इसे फायदा हो जाता है कि मानसिक रूप से हम सच हो जाते हैं और वह एक सकारात्मक ऊर्जा पर जाकर पर पैदा करता है और हमें ऊर्जा ऊर्जा आती है मैं कुछ करने के लिए नैतिक बल भी मिलता है और हमारा आत्मविश्वास हो जाता है और आशीर्वाद देने वाला व्यक्ति से केवल व्यक्ति से हम प्रभावित नहीं हो रहे थे उसके पूरे पूरे व्यक्तित्व से प्रभावित होते हैं उनमें उसके खुद क्या अचार और विचार दोनों शामिल होते हैं कुकुर व्यक्ति का प्रभावित होने से प्रॉब्लम नहीं होता है तो पूरा व्यक्तिमत्व उसके आचार विचार के साथ प्रभावित होना होता है और वह आशीर्वाद लेने के ऊपर भी प्रभाव पड़ता है और वह प्रभाव जो है वह सकारात्मक होता है इसलिए आशीर्वाद और तन के तो नहीं लाया जा सकता लेकिन जब कोई अपने मन से आशीर्वाद देता है तो निश्चित रूप से वह हमारे जीवन पर प्रभाव करता है कई बार कुछ ऐसे व्यक्तिमत्व होते हैं जिनके आशीर्वाद से हमारी सोच बदल जाती और हमारे जीवन में क्या जाती है इसलिए मैं आशीर्वाद देना बहुत जरूरी है अरे एक वक्त ऐसा भी आना चाहिए कि कोई हमारे आशीर्वाद की राह देखता रहे धन्यवाद अगर आपको यह जवाब सही लगा तो कृपया इसे लाइक करें

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:41
पूछा गया है क्या किसी से आशीर्वाद लेना बाकी में हमें प्रभावित करता है तो देखिए इसका जवाब मैं साइंटिफिक तरीके से देना चाहूंगी हमारे शरीर के आसपास एक और आ होता है एनर्जी का और तो जम आशीर्वाद के लिए किसी के सर पर हाथ रखते हैं तो असल में हमारे अंदर जी के और ऐसे कुछ एनर्जी उस इंसान के शरीर में उसके ऑर्डर में ट्रांसफर हो जाती है इससे क्या है कि हमारी एनर्जी कि ट्रांसफर होगी और जिस व्यक्ति मोबाइल से ट्रांसफर हुए तो उसका एनर्जी लेवल बढ़ गया है और यह उसको अच्छे मतलब अगर हम पॉजिटिवली उसका आशीर्वाद देंगे तो पॉजिटिव लिस्ट को प्रभावित करेगा और उसको और ज्यादा स्ट्रांग बनाएगा उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

Shrwan Shah Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Shrwan जी का जवाब
Unknown
0:21
जी हां हमें लगता है जी हां मैं वाकई में प्रभावित करता है

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:53
आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है दोस्त दोस्तों ऐसा तो बिल्कुल भी नहीं है कि आप उनको वह चीज प्रभावित करते हैं या नहीं करती है परंतु इतना जरूर है कि जब भी कोई व्यक्ति आपको आशीर्वाद आप के प्रति अपना सम्मान प्रकट करता है और जब आप उस को प्रणाम या फिर उसके पेट होते हैं तो आप उसका आदर और सम्मान करते हैं तो देखी आशीर्वाद लेना वाकई में दोस्तो इस तरीके से प्रभावित करता है परंतु आप उस प्रभाविता को कितना देते हैं मान लीजिए किसी ने आपको चिरंजी भव का आशीर्वाद दे दिया है यानी की लंबी उम्र के आशीर्वाद से तो मेरी चाबी प्रभावित नहीं कर रहा है ढंग से कार्य करने पर चलते हैं तो मेरे से वह जो आशीर्वाद है वह कामयाब होता है

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
3:00
खेसरिया रस आशीर्वाद लेना क्या वाकई में प्रभावित करता है आपको क्या लगता है कि प्रभावित नहीं करता आशीर्वाद हमेशा हम अपने बड़ों से और निश्चित तौर पर हमारा अपने बड़ों के प्रति सम्मान देना एक रिस्पेक्ट देना और उन्हें भी लगता है कि हमारे छोटे जो हैं हमारे छोटे निश्चित तौर पर हमारे आशीर्वाद तो कहीं ना कहीं उनका मनपसंद होता प्रफुल्लित होता है और इसमें बूथ स्तर पर आपको अच्छे भविष्य की कामना करते हैं अच्छे स्वास्थ्य की कामना करते हैं और जिस से कहीं न कहीं आपका मोरल बूस्ट होता आपके अंदर एक आत्मविश्वास आता है एक जुनून आता है चलो मान लीजिए परीक्षा देने जा रहे हैं कभी आपने देखा है बोर्ड के बच्चे जब पहली बार दसवीं के जाते हैं तो उनके अंदर एक तनाव और ऐसे मामले में यदि आप उनसे कहते कि नहीं फर्स्ट बेटा परेशान होने बेस्ट ऑफ लक बहुत अच्छा लिखोगे तो खून के अंदर कॉन्फिडेंस आ जाता और वही जो आपका आशीर्वाद है उसकी कार्यशैली में वृद्धि कर देता है तो प्रभावित नहीं हुए क्या या तो कहीं न कहीं बड़ों का जो प्यार है आशीर्वाद हमको प्रभावित कहीं कर जरूर करता हूं हमें प्रेरित करता है अच्छा काम करने के लिए हमें प्रेरित करता है कि हमें आगे बढ़ने के लिए हमें प्रेरित करता है हमारे अंदर आत्मविश्वास भर्ती जब मां-बाप बच्चे को हो सेंटर पर छोड़ कर आते एग्जामिनेशन सेंटर से कहते हैं कि बेटे बिल्कुल अच्छे से लिखना परेशान मत हो बड़ी शांति से लिखना तो जोशी प्रेरणा मिलती है वही उसकी कार्यशैली को प्रभावित करती है और आगे बढ़ाते हैं हम आप कभी आशीर्वाद किसी से ली नहीं आऊंगी तो कैसे इसलिए हम हमेशा कहते हैं कि हमें अपने बड़ों का सम्मान रिस्पेक्ट और आशीर्वाद लेते रहना चाहिए निश्चित तौर पर उनका प्यार आशीर्वाद हमारे कार्यप्रणाली को बिल्कुल प्रभावित करता है और हम आगे अग्रसर होते हैं

Devendra Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Devendra जी का जवाब
Unknown
0:19
जी हां किसी से किसी से आशीर्वाद लेकर फेमस प्रभावित होता है

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:35
हेलो आज आप का सवाल है कि किसी से आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है तो उसे कभी कदार क्या होता है कि कोई अगर हमें कुछ चीज दे रहा हूं मतलब हम जो चीज देख रहे हो जरूरी नहीं होता कि चीजों से खुश होते हैं और अपने आसपास जो चीज देख रहे इंसान हमारी मदद कर रहा है या फिर हमेशा संभाल रहा है समझा रहा है तू जरूरी नहीं होता कि हमेशा हर वक्त इंसान ऐसी चीजों से खुश हो कभी कदार क्या होता है ईश्वर से बात करना अपने मन में उनको याद करना आशीर्वाद लेना अपने बड़ों से या कोई भी जब हमें आशीर्वाद देते हैं तो इस तरह की पॉजिटिव वाइफ साथ है मतलब बहुत अच्छा लगता है कि नहीं हम शायद कुछ अच्छा ही करेंगे आगे अब हम को एग्जाम देने के लिए जाते तो दिखे हम सभी बात जानते की चीज टोटली हम पर डिपेंड करता है कि हम कैसे पढ़े हैं कैसे नहीं आया फिर जो भी हम जॉब है फिर कोई भी नहीं चीज के लिए जाते हैं तो हमें पता है कि हम जैसे किए हैं रिपेयर किए हैं जिस तरह से सब रिजल्ट हो उस तरह से आएगा लेकिन आशीर्वाद क्यों लेते हैं वह तो मतलब जाकर वह सकारात्मक पॉलिटिक्स आती थी मतलब जो भी होगा अच्छा ही होगा और हर चीज खराब हो जाती है और हम हमेशा सोचते एक मोटिवेशन भी होता है क्या लगता कि कोई मोटिवेट कर रहा है मैं समझा रहा नहीं कि हम कुछ कर सकते हैं और जो होगा रिजल्ट अच्छा ही होगा तो मेरे हिसाब से आशीर्वाद बहुत ही फैक्ट्री होता है

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:01
आकर बात करते हैं और उनकी दिल से आवाज निकलती है तुमसे कहने में कितनी बार निकलता है और आशीर्वाद होता है और हमारे कर्म अच्छे होने चाहिए हमारे द्वारा बोले गए शब्दों द्वारा किसी को तकलीफ ना हो हमारे लिए किए गए कार्य की कोशिश करनी चाहिए कि हमारा हर प्रकार से

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए satish जी का जवाब
Student
0:58
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा गया है कि किसी से आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करते हैं तो यह बात सही है कि अगर कोई व्यक्ति अगर आपको आशीर्वाद देता है तो वह होता है वाकई में कहीं ना कहीं जो है प्रभावित करता है क्योंकि व्यक्ति की जो होती है दुआ और बद्दुआ जो होती है वह दोनों कहीं ना कहीं तो होता है हमारे जीवन में जो होता है प्रभावित करने योग्य बन जाता है कि ज्यादातर देखा जाता है कि वृद्ध ज्योति औरत होती है कोई भी पुरुष होता है वह जो बताए आशीर्वाद ज्यादा देते हैं और ऐसा माना जाता है कि जो होते हैं लोग उन्हें आशीर्वाद उनका जो होता है ज्यादा है हमारे जीवन के जूते क्षेत्रों में काफी लंबा वल्लभ भावित होते हैं जैसे मैं कोई व्यक्ति जो होता है आपकी तरक्की के लिए आशीर्वाद देता है तो वह आपके जीवन का जो होता है कहीं ना कहीं और कोई ना कोई जो होता है ऐसा पल हो जाता है जो आपके लिए जो होता है आशीर्वाद का कारण दिखाई देता है

Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
5:31
जी बहुत ही अच्छा सवाल है चलिए इसको थोड़ा समझते हैं जब हम एक दूसरे को देखते हैं आप मुझको मैं आपको तो मैं आपको अपने से अलग देखता हूं क्योंकि आप एक सर्जिकल फॉर्म में है मैं एक फिजिकल फॉर्म में हूं आपको मेरा स्वरूप देखता है आपने से अलग इसी तरीके से जब हम किसी और इंसान को देखते हैं तो वह अलग दिखता है किसी और प्राणी को देखते हैं जीव जंतु को देखते हैं किसी वस्तु को देखते हैं वह सब अलग दिखता है क्योंकि सबका अपना स्वरूप है ऐसे देखते हैं एक इंसान को दूसरे इंसान को तो हमें नजर आते हैं फिजिकल फॉर्म वगैरह लेकिन अगर हम दूसरे डायमेंशन से देखें दूसरे तरीके से देखें तो इंसान खाली फिजिकलिटी नहीं है यह फिजिकल स्वरूप नहीं है इंसान कई लेवल पर है इंसान मेंटल लेवल पर होता है इमोशनल लेवल पर होता है थॉट लेवल पर होता है और एनर्जी लेवल पर होता है सोच कर देखिए आप जब आप जागृत अवस्था में होते हैं तो आपके अंदर क्या होता है हॉट आता है विचार आते हैं और जब वे का विचार आते हैं तो आपको जगत दिखता है वही जवाब सुषुप्ति के जवाब निद्रा में होते हैं जब आप सो रहे होते हैं तब आपको यह जगत नहीं दिखता है विचार नहीं दिखते हैं अब हम अगर एनओसी की बात करें और आशीर्वाद को इससे जोड़ने तो क्या है भाई आशीर्वाद एक तरीके का एनिवर्सरी है आप जैसा महसूस करते हैं वैसा एनर्जी आफ क्रेडिट करते हैं आपके अंदर अब ऐसी ऊर्जा का प्रभाव होता प्रवाह होता है संचार होता है और वही ऊर्जा सामने वाले को लगती है अगर वह पॉजिटिव एनर्जी है तो वही पॉजिटिविटी दूसरे इंसान को लगेगी अगर वह नेगेटिव या अच्छी नहीं है तो आपको वह लगेगी और यह नसीबो नहीं है कि मैंने कुछ बोला तो आपको लगा कि नहीं यह पुस्तक वाइब्रेशन होती हैं जो एक दूसरे के इर्द-गिर्द जाती हैं एक दूसरे को प्रभावित करती हैं आपने उस जब किया होगा कि कई बार आप किसी के काम पर नहीं में रहते हैं कंपनी बताओ किसी के स्थान से रहते हैं तो भले ही वह कुछ करें ना करें बोले ना बोले बहुत बढ़िया आयनों टॉप लेवल का यह बिजनेसमैन यार बहुत बड़ा इंसान ना हो इन टर्म्स ऑफ़ फाइनेंस इन ऑल लेकिन जैसा भी इंसान हो वह आपको अच्छा लगता है क्यों लगता है क्योंकि उसकी ऊर्जा वैसे ही होती है आप अब जब करेंगे कई बार आप किसी से मिलते हैं और 2 मिनट आप उसके साथ व्यतीत करते हैं भरी आपकी बातें होती है या नहीं होती आपको समझ आ रहे थे कि यहां कुछ कुछ यहां पर मजा नहीं आ रहा है और वहीं पर आप किसी को टी की सेकंड मिलते हैं और आपको वह इंसान अच्छा लगने लगता है तू ही खा ली उसके रंग रूप या बोली से नहीं है उसके डेजिग्नेशन नारोलिया पैसे रुपए या बड़ी गाड़ियां मकान देखकर नहीं होता यह ऊर्जा के कारण होता है तो जब हम एनर्जी की बात करते हैं तो वह एनर्जी जब आपको लगती है तो वह आशीर्वाद बनकर आपको लगता है और आप उसको रिसीव करते हैं तो देने वाला अगर पॉजिटिव है तो रिसीव करना भी करने वाले को भी भाई पॉजिटिविटी मिलेगी वहीं वहां से इधर आएगी जो ट्रांसमिट होती है वही रिसीव होती है कोई सी डेफिनेटली है आपको इंपैक्ट करता है आपको आंसर करता है तुझे हम आशीर्वाद की बात करते हैं और आप उसने किसी से आशीर्वाद देना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है जी देखिए आप आशीर्वाद ऐसे लेते नहीं हैं आप अपने कर्म करते हैं और सामने वाला आपको आशीर्वाद देता है क्योंकि आप ऐसा कर्म करते हैं आप ऐसे व्यक्ति हैं आपका व्यवहार ऐसा है वगैरह वगैरह तो आपको आशीर्वाद मिलते हैं इसीलिए हम कहते हैं कि ब्लेसिंग सागर मिले लाइफ में और वह भी बड़ों की अपरिचित कि आप अरिजीत के तो वह बहुत बढ़िया होता है बहुत काम करता है यह एक एंगल हुआ जहां पर मैंने आपको एनर्जी के लेवल पर बताया एक और हंगल बताता हूं आपको हम सब जानते हैं थोड़ा बहुत सबको पता होता है एस्ट्रोलॉजी क्या होता है प्लैनेट्स क्या होते हैं जो हमको गबन करते हैं हमको पता है ना लेकिन आपको बता दूं यह प्लान है कहीं और नहीं होते हैं यह प्लानेट सब चांसेस बढ़ कर हमारे लाइफ में होते हैं और अगर थोड़ा सा ध्यान दें तो गुस्सा नहीं जो होता है वह हमारे पिताजी को दर्शाता है जो मूड होता है वह में हमारी माताजी को दर्शाता है तो अगर किसी का स्थान ऐसा है किसी का मुंह ऐसा है और बाकी प्लेनेट ऐसे वैसे हैं मतलब जीटीएल की बात है तो यह सब आप को प्रभावित करता है संता आशीर्वाद पिता का आशीर्वाद मून का आशीर्वाद माता का आशीर्वाद बहुत बड़े बहुत इंपोर्टेंट होता है बहुत जरूरी होता है लेना चाहिए उनके सानिध्य में रहना चाहिए कहीं और से कोई और कुछ करे ना करे लेकिन यह जो हमारे साथ घर में है और ऐसी इनका आशीर्वाद अगर हम पर बना रहे तो बहुत बड़ी बात होती है लोग पता नहीं है आप अंगूठी पहनते हैं यह करते हैं वह करते हैं वह सब अपनी जगह है लेकिन यह आशीर्वाद वाली बात अपनी जगह होती है आप यह देख कर मत कीजिए कि मुझे आशीर्वाद मिल जाए आशीर्वाद मिल जाए लेकिन आप अपने व्यक्तित्व को अपने करें कारण को अपने चरित्र को ऐसा रखें कि आप जो भी कुछ करें सामने से आपको आशीर्वाद ही मिले सोच कर देखेगा तो इसीलिए यह आपको डेफिनेटली अपोजिट है बलिया प्रभावित करता है

NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:53
किसी से आशीर्वाद लेना वाकई में हमें प्रभावित करता है देखिए आशीर्वाद एक ऐसा शब्द है जिसका प्रभाव जीवन को पूरी तरह परिवर्तित कर देता है इसलिए अपने से बड़ों का आशीर्वाद अवश्य लेना चाहिए आशीर्वाद का चार अक्षर प्रतीक रूप में विभिन्न प्रकार के अर्थ प्रकट करता है क्योंकि प्रणाम किसी कामना खेड़ा से ही प्रेरित होता है इसलिए प्रणाम करते समय गुरु को यह जानकारी नहीं होती है किसी से चाहता क्या है यदि युद्ध में जाता है तो गुरु विजई भव का आशीर्वाद देते हैं गांव में आज भी जियो खुश रहो जैसे शब्द आशीर्वाद के रूप में कहे जाते हैं लेकिन आमतौर पर जब हम बड़ों के पास जाते हैं तो काम ना बताए बगैर हम उनका आशीर्वाद पढ़ना चाहते हैं इसी को देखते हुए एक ऐसा शब्द खोजा गया है जिसमें कई अर्थ समाहित हूं इस प्रकार आशीर्वाद के एक-एक अक्षर के लिए एक-एक शब्द अर्थात चार अक्षर के लिए 4 शब्द बनाए गए हैं यह चार अक्षर हैं आयु विद्या बल और बुद्धि जिस शुभकामना से आयु बल विद्या व बुद्धि वही वही आशीर्वाद है प्रत्येक व्यक्ति के मन में इन चारों की बढ़ोतरी की कामना होती है यदि सिर्फ श्रद्धा पूर्वक गुरु को प्रणाम करता है और गुरु स्नेह पूर्वक शिष्य को मंगल भविष्य की कामना करते हैं तो आशीर्वाद का प्रभाव निश्चित रूप से पड़ता है आपके मन में जितना अधिक आदर होगा आपको आशीर्वाद उतना ही मिलेगा धन्यवाद

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
0:30
पूछा क्या किसी से आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है जी बिल्कुल मैं आपको बता दूं यह सच है कि किसी से जो आशीर्वाद लेना हमें प्रभावित करता है जब कोई देखे हमें आशीर्वाद दे और हम दिल से उस आशीर्वाद को सुने और आशीर्वाद देने वाले व्यक्ति को एक प्यारी सी मुस्कान दे तो दिखे हमें भी सकारात्मक ऊर्जा मिलती है तो हम कह सकते हैं कि आशीर्वाद लेने से वाकई हमें प्रभावित करता है जय हिंद जय भारत

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#undefined

bolkar speaker
तिरंगा किसने बनाया था?
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:39
निलेश कुमार यादव जी द्वारा अनुमोदित सामान्य तिरंगा को किसने बनाया था नमस्कार निलेश जी आपने मुझसे प्रश्न किया है तिरंगा की जो रूपरेखा है वह चिंगली द्वारा तैयार किया गया था और इनका जन्म 18 सो 70 ईस्वी में हुआ था जो इन्होंने रूपरेखा तैयार की गई थी वह बहुत पहले ही कर देती को मान्यता मिली थी 1947 में राष्ट्रीय ध्वज के रूप में स्वीकार किया गया था 1943 को उम्मीद करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा आप लोग को चाहिए बच्चों को भी खुश रखे धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:31
नमस्कार दोस्तों एक मित्र का सवाल है मानव हृदय का रंग कैसा होता है तो दोस्त मैं आपको बता रही हूं कुछ अपनी जानकारी के हिसाब से कि जो मानव का हृदय होता है वह 13 सेंटीमीटर लंबा और 9 सेंटीमीटर चौड़ा होता है यह कार में तिकोना होता है और खोखला होता है इस कारण जो होता है वह लाल होता है मेरे दोस्त और आपको मैं बता दूं या पेसिफिक टू का बना होता है और यह एक आवरण में होता है जिसको हिंदी आवरण खाते हैं और दोस्त में बता दो 1 दिन में यह एक लाख बार धड़कता है और 1 मिनट में 7 सेकंड में यह 60 सेकंड में 70 बार धड़कता है अनुमानों का जो होता है दोस्तों खोखला होता है उसमें अंदर स्वाल सर से कनेक्ट होता है नसों से कनेक्ट होता है और दोस्ती यही खोखला और तिकोना होता है और इस कारण से होता है लाल होता है आपका सवाल है मानव ह्रदय कारण मानव हृदय का रंग जो होता है दोस्त वह लाल रंग का होता है आशा है कि आप हमारा जवाब पसंद आया होगा और अगर आपको मेरा जवाब पसंद आए तो दोस्त मुझे चालू करिए और मुझे सपोर्ट के लिए लाइक करें कमेंट करिए और आप हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए अपने आसपास सफाई बनाए रखें जय हिंद दोस्तों

#पढ़ाई लिखाई

Srishti Mehrotra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Srishti जी का जवाब
Unknown
0:36
घर पर चॉकलेट केक बनाने की रेसिपी क्या है यह काफी होता है इसके लिए आप कर सकते हैं और उसमें आपको बहुत सारी रेसिपीज मिल जाएंगी जो आपको मदद करेगी एक चॉकलेट केक बनाने में यूट्यूब पर आपको इनग्रेडिएंट्स का सही मेज़रमेंट सही मात्रा में आपको पता चल जाएगा कि कितनी मात्रा में डालना है क्योंकि केक बनाने के लिए सही मात्राओं में सारे इंडियन कराना बहुत जरूरी है तो आप यूट्यूब पर वीडियो दे सकते हैं और से चॉकलेट केक बनाने की विधि भी जान सकते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:32

#जीवन शैली

Deepak Perwani7017127373 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak जी का जवाब
Job
2:33
है प्रतिदिन के भोजन में कार्बोहाइड्रेट की कितनी मात्रा होनी चाहिए तो दोस्तों देखिए सामान्य व्यक्ति में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वजन के अनुसार निर्भर करती है विज्ञान के अनुसार प्रति 1 किलो वजन पर 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट ले नाचने के 1 किलो वजन 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट की जरूरत है मान लीजिए किसी बच्चे का वजन 20 किलो है तो 20 किलो वजन को अगर 9 से 1 गुना करेंगे 9 ग्राम से 180 ग्राम यानी कि 1 दिन की डाइट में 180 ग्राम उसे कार्बोहाइड्रेट की जरूरत पड़ेगी 20 किलो वजन पर आइए आपका जितना वजन है उस पर घाट आइएगा यह बात है उन लोगों की जो स्वस्थ है जितना विज्ञान के अनुसार सामान्य होना चाहिए अब सवाल अगर यह किसी किसी वेट लॉस वाले व्यक्ति ने किया है लीजिए बैलेंस में किसी ऐसे व्यक्ति इनके जो वजन घटाना चाहता हो तो प्रति 1 किलो पर जो मैंने बताया आपको ग्राम जगह कार्बोहाइड्रेट लेना 1 किलो वजन पर तो फिर वह 6 ग्राम कर देना है 5 ग्राम कर देना उनके पास से 6 ग्राम 1 किलो वजन पर आपको घटा देना यह अगर इससे भी आप नहीं चले आओगे सामान्य से अधिक कार्बोहाइड्रेट ले जाना भी नीचे गलत है फिर जो है आते हैं कि अगर कार्बोहाइड्रेट शरीर में बढ़ जाए तो भी व्यक्ति शुगर का मरीज बनकर घट जाए तो भी व्यक्ति को शुगर होती है घर घटता है तो कब से वगैरा की समस्या बढ़ जाती है पाचन संबंधी इसीलिए जो है विज्ञान के हिसाब से प्रतिदिन के भोजन में 1 किलो वजन पर 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट लेना चाहिए और अगर आप वेट लॉस पर है तो 5 ग्राम 1 किलो वजन पर लेना चाहिए तो आपको यह याद रखना अब सवाल है कि सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट होता किस में तो दोस्तों जितनी भी शुगर वाली मीठी चीज होती है उन सब में कार्बोहाइड्रेट होता है जैसे ब्रेड केला दूध दूध में सबसे ज्यादा होता 216 जो भी जिसमें हल्का शुगर होता है लेवल शुगर का लेवल वह सब कार्बोहाइड्रेट में आती है और फलों में भी काफी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है दूसरा यदि कार्बोहाइड्रेट शरीर से कम होता है तो ग्लूकोज की मात्रा को प्रभावित करता है ऐसे व्यक्ति का ज्यादातर बीपी लो रहता है अगर आपके शरीर में भी कार्बोहाइड्रेट की कमी होगी तो आपका बीपी लो रहता होगा अगर आपके शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होगी तो कुछ शुगर का लेवल बढ़ता होगा जय माता दी जय हिंदुस्तान

#भारत की राजनीति

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:32
नमस्कार साथियों आप का सवाल है और किसान नेता बलवीर सिंह राज्यपाल कौन है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर यह है कि भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष बलवीर गाजियाबाद धन्यवाद दोस्तों खुश रहो

#भारत की राजनीति

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:03
नमस्कार साथियों आपका पसंद है किसान नेता गुरनाम सिंह सलोनी का किसान आंदोलन में क्या योगदान है तो साथियों आपके प्रश्न का उत्तर इस प्रकार से है हरियाणा भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चन्नी है जो किसानों के हक की लड़ाई में पूरा योगदान दे रहे हैं हमारे देश के अन्नदाता के साधन मन धन के साथ हैं हमारे देश में सरकार ने किसानों के काले कानून को वापस करवाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं धन्यवाद दोस्तों खुश रहो

#भारत की राजनीति

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:34
प्रोटीन एक ऐसा शक्तिशाली अवयव है जो हमारे शरीर को तत्काल ताकत और राहत प्रदान करता है प्रोटीन की कमी से तमाम प्रकार की बीमारियां हो जाती है हमारा शरीर ईश्वर ने इस प्रकार से बनाया है किसको प्रोटीन मिनरल विटामिंस पानी ऑक्सीजन इन सब चीजों से से जीवंत बनाए रखा जा सकता है रूटीन आपको जो जितने भी नेचुरल चीजें हैं उसमें शुद्ध बढ़िया मिल जाता है और मांसाहारी लोगों को मांस में भी प्रोटीन मिलता लेकिन वह प्रोटीन जो है तमाम प्रकार की बीमारियां पैदा करता है जानवर बीमार था क्या था कैसा था किस तरह से था इसलिए उनसे सबसे बेटर यही है कि आप दूध में तो आपको मिल जाता है प्रोटीन पनीर में प्रोटीन मिल जाता है फलों और सब्जियों में प्रोटीन मिल जाता है बादाम में मिलता है मोहब्बतें में मिलता है सोयाबीन में मिलता है जितने भी हमारे देश की खाद्य पदार्थ इन सभी को प्रोटीन के भरपूर हैं इससे आपको विटामिन ए बी सी विटामिन बी कांपलेक्स विटामिन के शादी चीज है जितनी भी हो सब मिल जाती हैं जो शरीर को अति आवश्यक है और आसानी से सुलभ हो जाती हैं

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
RBC का जीवनकाल कितना होता है?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
0:41
प्रश्न की आरबीसी का जीवनकाल कितना होता है देखिए आरबीसी का जीवनकाल जाने से पहले हमें यह जानना होगा कि और भी सीख होता क्या है यानी कि लाल रक्त कोशिका जो रक्त की सबसे प्रमुख कोशिका मानी जाती है और यह पूरे रुधिर का 40% भाग होता है और इसके अगर कार्य की बात की जाए तो यह रीड धारी जंतुओं के स्वसन अंग से विभिन्न अंगों में तक जाती है लेकिन अगर यहां जीवन काल की बात करें तो उसका जीवन काल जो है मनुष्य में इसकी औसतन आए जो है 120 दिन होती है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
1:13
प्रश्न की एस्ट्रोजन हार्मोन क्या है तथा उनके लक्षणों का विकास करता है कि पोषक तत्व के साथ-साथ महिलाओं के लिए एस्ट्रोजन हार्मोन भी जरूरी है इसकी कमी से नासिर पीरियड अनियमित हो जाते हैं बल्कि इनफर्टिलिटी और तनाव का कारण भी बन सकती हैं शरीर में अगर इसकी कमियां हैं यह परेशानियां हैं तो जिन महिलाओं में एनोरेक्सिया में थायराइड की समस्या होती हैं उनमें एस्ट्रोजन की कमी की समस्या होने की ज्यादा संभावना रहती है और और इसमें कोई भी प्रॉब्लम होने से शरीर में इस हारमोन का स्तर कम होने लगता है जिससे फ्री मैनोपोज भी कह सकते हैं अनुवांशिक कीमोथेरेपी और इसके कुछ लक्षण जो बात करते हैं कि किन लक्षणों का विकास करता है देखिए अगर पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग हो रही है हम समय पर नहीं आ रही है अचानक भूख नहीं लगती है नींद नहीं आती है विचार ऐसी हो रही है मानसिक तनाव आ रहा है डिप्रेशन सो रहे हैं हम अचानक वजन बढ़ना शुरू हो गया है हड्डियों में दर्द हो रहा है कमजोरी हो रही है हम यह सारे के सारे इसके लक्षण होते हैं धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

AM Kaptan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए AM जी का जवाब
Unknown
0:32
आयशा की दोस्त आज का विषय देखते हैं ऐसी कौन सी मछली है जो जमीन पर भी रह सकती है तुम्हारा को स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि ऐसी कौन सी मछली है उस मछली का नाम है जादुई मछली जादुई मछली जो जमीन पर रह सकती है और पानी भी रह सकते हो दोनों स्थान पर रह सकती है ठीक और इसे पानी और जमीन पर दोनों को इस का निवास होता है धन्यवाद साथी

#धर्म और ज्योतिषी

PRAVIN KUMAR Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए PRAVIN जी का जवाब
Private teacher
0:47
आपका सवाल है हिंदू और बौद्ध धर्म है समानताएं क्या देखिए हिंदू धर्म और बौद्ध दोनों ही प्राचीन धर्म और दोनों ही भारत भूमि से उपजे हिंदू धर्म के वैष्णव संप्रदाय में गौतम बुध को दसवां अवतार माना गया कला की बहुत-बहुत खूबसूरत नहीं सकता बहुत धर्म भारतीय विचारधारा के सर्वाधिक विकसित रूपों में से एक और हिंदू मात्र से शाम यात्रा हो सकता है विश्वास से आपको आपके सवाल का सिलसिला होगा और आपको अच्छा लगा होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:59
सवाल है योग करने के लिए सबसे अच्छी उम्र कौन सी है तो जवाब है योग करने के लिए हर एक उम्र में आप लोग कर सकते हो योग योग का मतलब आजकल तो सिर्फ योगासन के नाम हो गया तो मैं आपको बताना चाहूंगा योग का अर्थ क्या होता है योग का अर्थ होता है जुड़ना जुड़ना जुड़ना आप ज्ञान करोगे आसन करो तो उसमें तो आप जोड़ नहीं सकते ना असली में अर्थ है मैं आपको बता दूं योग का अर्थ होता है मेडिटेशन आफ मेडिटेशन बोल सकते हो मेडिटेशन क्या होता है आत्मा का परमात्मा के साथ कनेक्शन योग इसलिए हम उसे योग कहते हैं तो अभियोग हर कोई कर सकता है छोटे बच्चों से लेकर बड़े लोग भी कर सकते हैं मेडिटेशन की आत्मा का परमात्मा से मिलन आप जो कहते हैं आजकल तो आज्ञा दो स्वामी रामदेव जी वह योगकारक बोलते हैं कि आसन वगैरा यह प्रणाम आसानी यह सब करो वह शारीरिक व्यायाम हो गया नहीं सारी स्वास्थ्य के लिए आपको राम प्रणाम यह सब आसन आपको करना चाहिए सारी स्वास्थ्य के लिए लेकिन मानसिक स्वास्थ्य के लिए आपको मेडिटेशन करते मेडिटेशन योग और योग और व्यायाम को आप भूल सकते हो लेकिन दोनों में कंफ्यूजन हो रहा है क्योंकि तू आजकल तो जो को ग्राम समझ लेते हैं तो आप स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य बहुत बहुत आवश्यकता है समय की मांग है शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक शारीरिक स्वास्थ्य विज्ञानी बीमारियां बढ़ रही आप देखो अभी कोरोनावायरस आ गया ड्यूटी अच्छी होनी चाहिए इसके लिए सारे साथी किला प्रोग्राम योगा करना है ठीक है हर दिन और मेडिटेशन क्यों करना है मानसिक स्वास्थ्य के लिए है क्योंकि आजकल आप देखोगे डिप्रेशन अनिद्रा की शिकायत अन इंद्र किसी को नींद अच्छा नहीं है तुम्हें क्वालिटी नहीं अच्छी क्वालिटी की नींद नहीं आती या फिर मोबाइल में दिनभर लगे रहते हैं तो फिर जब मन डिस्टर्ब होता है चारों तरफ आप देखोगे तो टीवी है मोबाइल से आप धीरे हो दूसरे आस पास इतने सारे विज्ञान में बना कर रख दिया कि हम सुबह से लेकर रात तक बिस्तर भी होते तो मन में इतने सारे इंफॉर्मेशन लिए वह लगभग सभी चीजें मन में आती है तो इन सभी को दूर करने की लाखों में टेशन इस समय की बहुत बड़ी मांग है मेडिटेशन तो आप को कम से कम 15 मिनट तो हर दिन आपको मेडिटेशन करना ही चाहिए अभ्यास अगर आप मेरी टेंशन नहीं आता आपको दिमाग को यह बता दो कि आप गूगल पर यूट्यूब पर आप चार्ज कर सकते मेडिसिन का शिकार होते तो फ्री में 7 दिन का कोर्स उतरा जो मेडिटेशन कोर्स आप अपने नजदीकी ब्रह्माकुमारी सेंटर में अदाकारी है राजयोग मेडिटेशन कोर्स सीख सकते हो वहां पर आप कंप्यूटर इंफॉर्मेशन मिल जाएगी योग कैसे कर सकते मूवी दर्शन कैसे करने के बारे में कंप्लीट इंफॉर्मेशन ठीक है और आप कीजिए सभी लोग कर सकते हैं और कोई मनाही नहीं आप कभी भी कोई भी टाइप कर सकते हो योगा मेडिटेशन मेडिटेशन कभी कर सकते हो

#खेल कूद

 Neeraj Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Unknown
1:07
अरे दोस्तों मैंने सवाल है आजकल की भागदौड़ में भरी जिंदगी में क्या आप अपनी हॉबी जैसे पेंटिंग लेखन या फिर कोई खेल खेलने के लिए समय कैसे निकालते हैं तो जैसी मेरी हॉबी है कि मैं चैटिंग करना मुझे बहुत पसंद है यानी कि मैं स्टॉक मार्केट में जो ट्रेडर होते हैं जो ट्रेडिंग करते हैं वह मेरी हॉबी है तो मैं अपनी हॉबी को ही अपना क्वेश्चन मना लिया हूं जिससे मैं पैसे कमा रहा हूं और जो मेरा समझ लीजिए एक तरह का एक बिजनेस है तो हम करते हैं आप ऑफलाइन करते हैं जैसे आप सीमेंट की कोई दुकान खोली है आपको सीमेंट को हवाई करिए डीलर से और कस्टमर को सेंड करिए इसी तरह के स्टॉक मार्केट में में ट्रेनिंग करता हूं और शेयर को ऐसे अटैक सीमेंट के शेर को बाई करता हूं और सेल करता हूं इसी तरीके से मैं ऑनलाइन बिजनेस करता हूं वह मुझे यह पोस्ट पसंद है इसलिए मैं पढ़ाई के साथ-साथ इसमें समय बिल्कुल निकाल लेता हूं

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
RBC का जीवनकाल कितना होता है?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
0:41
प्रश्न की आरबीसी का जीवनकाल कितना होता है देखिए आरबीसी का जीवनकाल जाने से पहले हमें यह जानना होगा कि और भी सीख होता क्या है यानी कि लाल रक्त कोशिका जो रक्त की सबसे प्रमुख कोशिका मानी जाती है और यह पूरे रुधिर का 40% भाग होता है और इसके अगर कार्य की बात की जाए तो यह रीड धारी जंतुओं के स्वसन अंग से विभिन्न अंगों में तक जाती है लेकिन अगर यहां जीवन काल की बात करें तो उसका जीवन काल जो है मनुष्य में इसकी औसतन आए जो है 120 दिन होती है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:19
बेटा आपका प्रश्न कौन सी दौलत है जिसे कोई चुरा नहीं सकता बल्कि बांटने से बढ़ती है निश्चित रूप से यह संपत्ति जो है ज्ञान और अनुभव है आपका ध्यान जो है आपका जो ज्ञान है आपका अनुभव है इसे कोई चुरा नहीं सकता है और जब आप इसे दूसरों को देते हैं तो निश्चित रूप से आपके अंदर और भी रचना धर्मिता पैदा होती है जो आपको और भी अर्जुन के लिए प्रेरित करती है इसीलिए कहा गया है कि विद्याधन जो है वह सबसे बड़ा धन है क्योंकि यह केवल हमारी पहचान नहीं बनाता है बल्कि हमारे वजूद को स्थापित करते हुए हमें हर तरह से संतुष्टि प्रदान करती विद्या देने से विद्या दान देने से दूसरों का भला भी होता है समझे आपने आपके अंदर कोई दुर्भावना नहीं होती है विद्या का दान दे करके आप इंसान और इंसानियत की रक्षा करते हैं इसलिए यही से बड़ा धन है जिसे कोई चुरा नहीं सकता है और जितना ही आप बाटेंगे उतना ही बढ़ेगा क्योंकि आपके अंदर भी जीत गया था पैदा होगी जितने लोगों को आप अपना विद्या का दाम देंगे वह लोग भी आपके समकक्ष आ जाएंगे और इस प्रकार से सभी विद्या के धनी होंगे थैंक यू

#जीवन शैली

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:31
वह कौन सा अपराध है जिसे करने के बाद स्वयं भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पा तो फिर भी इंसान उसे हंसी-खुशी करते हैं का जवाब है आप बोल रहे हो कि कोई अपराध लिखिए कोई अपराध भगवान नहीं करता एक बात आपको क्लियर कर दो हम सभी कौन है हम सभी की आत्मा है और आत्मा शरीर में धारण करने की सभी को शांति हम सभी रात में यही सभी को चलाने वाले आत्मा ठीक है तो हम इस शरीर के माध्यम से कर्म कर रहे हैं ठीक है और इसे ही को चला रहे हैं आप परमात्मा यानी कि भगवान तू हो ना ही जन्म लेते हैं ना ही उसकी मृत्यु होती है इसीलिए तो हम उसे परमपिता परमात्मा के परम हाथों मतलब दीदा नाथ की जन्म होती ना ही मृत्यु होती तो भगवान अपराध क्यों करेगा भाई भगवान तो मास्टर सर्वशक्तिमान है भगवान ना ही जन्म लेते हैं ना ही मृत्यु होती उसकी अपराध कैसे करेंगे आप ही बताओ आप हो जो सवाल है वह गलत लग रहा है ठीक है अभी आप बोल रहे हो कि कोई अपराधी से बचा नहीं पाता मैं आपको बता दूं इस धरती पर आप जो भी कर्म करोगे उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह निश्चित है चाहे इस दिन में मिले उसका फल या फिर अगले जन्म में आपको भुगतना ही पड़ेगा यह संसार का नियम है जैसा कर्म करोगे वैसा आपको फल मिलेगा ही मिलेगा ठीक है इसमें आपको कोई नहीं बचा सकता यह हंड्रेड परसेंट शुरू है आप जो भी कर्म किए थे पूछ लेना मैं उसका फल आप इस जन्म में भुगत रहे हो और आप इस जन्म में जो भी कर्म करो उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह हंड्रेड परसेंट ट्रू है रियल है दुनिया का नियम है आप मेरी जान लीजिए और आप बोलो कोई बचा नहीं सकता भगवान भी नहीं बचा पाए तुझे सुखी संसार का नियम है कि आप जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा ही मिले हर चीज का फल मिलता है हम पर ठीक है दुनिया है भैया संसार है जो चलता है और आप बोलो पर अपराध अपराध जैसे कि आप दूसरों का बुरा करते हो या फिर हत्या करते हुए चोरी करते हो तो यह अगर आप दूसरों के घर में चोरी करोगे तो एक न एक दिन आपके घर में चोरी होगी यह होता ही है कि जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा अगर आप किसी को कोई भी का अब कोई भी घटना ले लो ठीक है अगर आप किसी से कर्ज ले लेते हो या फिर किसी को धोखा दे देते हो तो कोई आपको धोखा दे देगा ऐसा होता है इस दुनिया में एक जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिले आप यह बात याद रख लीजिए और आप राज जैसा प्राप्त करें वैसे आपको फल भुगतना पड़ेगा या रहिएगा ठीक है तू जैसा कर्म करते हैं वैसा फल मिलेगा यह बात याद रखें और भगवान अपराध नहीं करते भाई गुरु भाई गुरु मतलब आप बोलो गुरु जो आपको गाइड करते हैं

#टेक्नोलॉजी

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:59
नमस्कार दोस्तों user-centered प्राइवेसी क्या है उसकी जरूरत क्यों है लेकिन अक्सर होता क्या हम जाने-अनजाने में अपने अकाउंट लॉगइन करते हैं और जो देता है वह सांझा करते हैं इंटरनेट पर उसे हम अपने या अपने जो भी हमारा ब्राउज़र है उसमें शेयर कर देते हैं और कुछ ऐसी साइट समथिंग करते हैं तो जिनके बारे में हमारा इंटरेस्ट होता है क्या हम उसकी जरूरत होती है तो होता क्या है कि एक तो वह सब ठीक है ना बेटा तो आप कैसे बोतल में शेर रहता था क्या तुम समझ कर सके और आपको दोबारा से भी चीजें डालने की जरूरत ना पड़े लेकिन इसमें सबसे बड़ा बनता है कि कुछ हरकत से कुछ ऐसे होते हैं जो आपके दोनों की खुशी और उसी को कॉपी कर ले तेरा शादी का कार्ड है फिर बेटा से दिल है अच्छे से हो आपकी मेल आईडी आपके डाटा का मिस यूज कर सकते हैं तो हमें इंटरनेट पर प्राइवेसी की बहुत ही ज्यादा आवश्यकता है तो कभी भी ऐसे अकाउंट लॉगइन ना करें और अपना डाटा बिना वजह किसी दूसरे के सिस्टम से सेव ना करें और कोशिश करें कि अपना डाटा हमेशा अपने पास रखें उसे सेव करने की जरूरत ना पड़े क्योंकि उसी का गलत इस्तेमाल से आपको परेशानी हो सकती है जो आपको 1 इंच भी आपको शुद्ध का झटका लग सकता है आपका कोई डाटा चुरा कर आप भी कुछ सेंड कर सकता है और उसे पैसे कमा सकता है नहीं तो कुछ हैकर सॉफ्टवेयर क्रेडिट कार्ड की डिटेल और कार्तिक दिल लेकर यूज कर सकते हैं तो हमारा हम बहुत सारी चीजें हैं इंटरनेट पर यूज करते हैं जो हम नहीं चाहते कि किसी और दूसरे के साथ सांझा हो तो कभी भी ब्राउज़र को यूज करें तो उसकी हिस्ट्री तो क्लियर करके जाएंगे और जो भी सेंड हमको प्लेयर करके जाएं आशा करता हूं आपको कुछ सवाल की जरूरत नहीं जवाब मिल गया होगा लाइक और शेयर करें धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:12
मेरे घरवाले भारत की मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला कि वह भारतीय लोग होते हैं उन्हें हर चीज देखने में सुंदर लगती है खरीदते हैं जबकि भारत की भारत की जो समान होती है अगर भारत की चीजों को और चीनी सामानों की जगह रखा जाए तो भारतीय अर्जुन समान होते जो क्वालिटी होती है बहुत अच्छी क्वालिटी होती है अच्छी कंपनी की भी होती है लेकिन चीनी सामानों के आगे आज जो है और ऊपर से इतना आकर्षित या फिर सुंदर नहीं दिखते जितने की चीनी सामान कैसे बनाया जाता है ताकि वह देखने में सुंदर लगे और आकर्षित लगे तो यही भारतीय लोगों की पसंद होती है क्योंकि उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता है कि यह कितना दिन चलेगा या फिर इसकी क्वालिटी क्या है देखने में कितना सुंदर लग रहा है भले ही वह चले या न चले तो इसलिए जो चीनी समान होते हैं जो चीनी समान होते हैं उसको यह भारतीय लोग खरीदते हैं जो कि से भारत में ही ज्यादा चीनी समान दिखती है हम लोग खरीदते हैं उनका जवाब चाहिए बच्चों को भी खुश रखे धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:43
मनोज ने पूछा क्यों फोन रिस्टोर करने का संकल्प नेट काम नहीं करता है कि पहले आपको समझना पड़ेगा कि फिंगरप्रिंट चोली में क्या है जैसे कि आपको पता आपको पता होगा कि हमारे जो वर्ड है उसमें जो हमारे देश में आज कल सुबह फिंगरप्रिंट को काफी ज्यादा महत्व बता दे गई है क्योंकि आधार कार्ड के साथ मरते भी थंब इंप्रेशन शॉपिंग प्रश्न जो भी होते हैं वह से व्रत है उसी के साथ हमारा डाटा सुरक्षा से जुड़ा रहता है वह हमारी तरफ से एक डिजिटल सिग्नेचर है क्योंकि आपने देखा होगा कहीं से लोग से नहीं कर पाते वह अपने थंब इंप्रेशन से ही काम चलाते हैं तो उसी चीज को और सिक्योर करने के लिए फिंगरप्रिंट सेंसर को दिया जाता है ताकि आप आसानी से चीजों को कर पाया और आपको इतने को दिक्कत ना हो लेकिन उसी चीज को देखते कोई भी आपका डाटा को चुरा सकता है जब से आप के फिंगर प्रिंट्स को चुरा सकता है जिससे आपको आपके कोई जानकारी लीक हो जाती जब पैसों से संबंधित है फिर भी खुश किसी चीज को शेयर करने के लिए कंपनी है जो है एक एक्स्ट्रा ले ऐड करते हैं सिक्योरिटी की कि जब भी आप अपना फोन का ऑन करो फोन का पता मैं आपको पहले पिक डालना पड़ता है पिन डालने के बाद तो क्या प्रोटीन है वह जब तक आप किसी से शेयर नहीं करोगे तब तक आपका वह अनलॉक नहीं हो सकता तो उस दिन को हम डालते हैं उसके बाद आरोप लगाते हैं तो फिंगरप्रिंट ऑटोमेटेकली आपके फोन के अंदर जो हर स्कैन करता है आपके पूरे थम्स के सिग्नेचर को और उसी के तारों से अनलॉक करता है तो इसी चीज को उन्होंने बढ़िया कर कहीं पर होता क्या क्या आप जैसे हम अनकॉन्शियस होकर सो जाते हैं तो कुछ ऐसा होता है तो मान लीजिए कोई तीसरा प्रश्न आता है और आपको फोन को ऑन करता है मालिक जिओ फोन आपका बंद हो गया फोन करता और आपके सोए हुए थंब इंप्रेशन लेता लेकिन उसको ब्लॉक नहीं कर पाएगा कुछ टाइम तो आपका पीने मांगेगा तो पिन मांगने की यही एक सबसे बड़ा देश ना कि कोई आपका डाटा चुरा ना सके और अभी आप की चीज डाटा का मिस यूज ना कर सके इसलिए मैंने इस चीज को ऐड कर रखा है क्योंकि यह आपका बहुत ही कॉन्फिडेंस और डाटा है जो आपके हर जगह पर इस्तेमाल होता है आजकल के दौर में तुझे उन्होंने फिंगरप्रिंट की सिक्योरिटी ऐड कर रखी थी चाचा क्या पता जब भी हम नया फोन लेते तो उसमें सिंह का पठार पर तुझ को हमारे पूरे समाज को घुमा फिरा कर सेंड करता हूं उसके बाद ही होता तो जब हम छोटा सा मदरसेंस होता तो हम फिंगर लगाते हो छोटा सा हिस्सा लेकर उसको जाता है और उसके अंदर उस सेंड करता किसी से कोई पार्टी सी थम्स का है या नहीं तो यह सिक्योरिटी में जानबूझकर तेरा लिखा कि आपका डाटा कहीं लिखना हो जब कुछ ऐसा ना हो आशा करता हूं आपको कुछ सवाल का जवाब मिल गया को लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Lali shukla Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Lali जी का जवाब
Unknown
1:56
वंदे मातरम बहुत ही मस्त सवाल है कि सरदार बल्लभ भाई पटेल को लौह पुरुष क्यों कहा जाता है तो जो देखी रे हाय सकते हैं जो हमारी स्वतंत्र भारत की पहली उपलब्धि थी और निर्विवाद रूप से पटेल साहब का विशेष योगदान था आप यहां पटेल साहब मैं सरदार वल्लभ भाई पटेल को बोल रही हूं तो नीतिगत जड़ता के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने उन्हें सरदार कुल्लू की उपाधि दी थी और बल्लभ भाई पटेल ने आजाद भारत में कितने साल राज्य बनाने में उल्लेखनीय योगदान दिया था इनका जो योगदान है कभी भुलाया नहीं जा सकता है आजादी के संघर्ष में उन्होंने जितना योगदान दिया से ज्यादा योगदान स्वतंत्र भारत को एक करने के लिए वहीं भारत के निर्माता का राष्ट्रीय एकता के बेजोड़ सरदार बल्लभ भाई पटेल के महत्व को सदैव याद रखा जाएगा भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन को एक नई दिशा देने के कारण सरदार पटेल ने राजनीति याद में गोरखपुर व्यक्तिगत में संगठन को संसार राजनीति सत्ता तथा राष्ट्रीय एकता के प्रति असीम शक्ति से उन्होंने नवजात गणराज्य की प्रारंभिक कहानियों का समाधान किया और यह गृह मंत्री ज्योति बन गई और उनकी जिम्मेदारियां दी हुई शॉपिंग की शादी के लिए गई है तो मेरे कहने का यह मतलब था धनी

#धर्म और ज्योतिषी

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:33
आपका प्रश्न है कभी ने ऐसा क्यों कहा कि संसार बौरा गया है आपने कभी किया पंक्ति नहीं लिखी पूरी देखिए जीवन दो तरह चलता है एक लौकिक और अलौकिक अलौकिक मैंने जो सांसारिक था में जो लगा हुआ है वह लौकिक जीवन है और जो ईश्वर पर जो अपने मन मस्तिष्क को लगाता है वह लव के अलौकिक माने जो गैर सांसारिक एक ऐसा संसार जो इस संसार से परे है जिसमें केवल ईश्वरी सत्ता का वास है तो जब मनुष्य केवल अपने ही उदर पूर्ति के लिए परिवार के लिए स्वार्थ पूर्ति के लिए सारे काम करता रहता है और वह अपने जीवन को नष्ट करके भगवानपुर से बिल्कुल अपने आपको ब्लॉक मार लेता है ऐसी स्थिति में यह कहा जाता है कि यह केवल स्वार्थी जीवन जी रहा है जिसे कहते हैं ना कि आत्मा में परमात्मा का वास है इस प्रभु ने आपके अंदर एक परमात्मा रूपी अपना एक प्रतिनिधि एक आत्मा आपके अंदर दे दी है उस आत्मा की बात को ना मानकर के केवल आप क्यों जीवन चलाने के लिए आप कुछ करते हैं यहां कुछ आए हैं आया है तो जाएगा राजा रंक फकीर कोई सिंहासन चढ़ चले कोई मदन जी तोमर ना सबको है क्या वह स्वार्थ में रख कर के मरे चाहे मानवी सेवा से मरे चाहिए स्वर में भक्ति करके बड़े अपने निजी कर्म को जो दिल्ली वाले कर उनको कीजिए और इस पर को भी अपने मन में स्थायित्व बनाए रखिए नहीं तो यही कहेंगे कि संसार बौरा गया है केवल अपने स्वार्थ के लिए जी रहा है ईश्वर के लिए कुछ नहीं कर रहा है जिसके लिए ईश्वर ने को भेजा है कि कर्म कीजिए कर्मण्ए वाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन

#धर्म और ज्योतिषी

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:01
नमस्कार आपका सवाल है जब भगवान की भक्ति करके शांत हो जाए और कोई हल ना निकले तो क्या करना चाहिए ताकि वैसे भगवान की भक्ति करने से कोई इंसान थकता नहीं है जब इंसान कुछ अपनी जान लेकर या फिर कोई उनकी इच्छा होती है जिसको लेकर कि वह भगवान की भक्ति करते हैं और भगवान की भक्ति करते समय जब उनके इच्छा और चाह पूरी नहीं होती है तब तब उनको ऐसा लगता है क्या तुम्हें भगवान की भक्ति छोड़ देनी चाहिए जबकि भक्ति करने से वह हमारी इच्छा ही नहीं पूरी हो रही है तब इंसान थक जाते हैं लेकिन भगवान की भक्ति करने से कोई भी इंसान को थकान नहीं होगी और ना ही होती है केवल जब उनकी इच्छा पूरी नहीं होती है और जो वह मनोकामना किए रहते हैं जब वह मनोकामना पूरी नहीं होती है तब इंसान को ऐसा लगता है कि अब हम थक गए हैं भगवान की भक्ति करते करते तो भगवान की भक्ति करने से कोई थकान नहीं होती जहां तक मैं जानती हूं और समझती हूं सुमित करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा आपको चाहिए दोस्तों को शनिवार

#जीवन शैली

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
0:31
पूजा के कोहरे से हमें क्या सीख मिलती है कोहरे से एक अच्छी बात यह दिखे सीख सकते हैं कि जीवन में जब कोई रास्ता ना देखिए तब भी हमें धीरे धीरे चलना चाहिए जहर बनाए रखेंगे तो रास्ता भी देखिए मिल जाएगा तो कोहरे से मुझे देख एक शायरी याद आ गई मैं आपको सुनाना चाहता हूं कि अच्छा हुआ जो आप कोहरा पड़ने लगा तुम्हारे इंतजार में नजर दूर तक ना जाएगी जय हिंद जय भारत
  • किसी से आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है किसी से आशीर्वाद लेना
URL copied to clipboard