#भारत की राजनीति

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:47
लॉकडाउन से देश को कितने लाख करोड़ का घाटा हुआ है और बदले में कितने लोगों की जान बचाई मोदी जी ने लोगों के रोजगार पर बैठ गए और साथ-साथ देश को नुकसान काफी ज्यादा हुआ क्योंकि जो देश की जो डोमेस्टिक प्रोडक्ट यूज होता है जीडीपी जो लोग डोंबेस वजह से पूरे वर्ल्ड के अंदर मंदिर छा गई है बात करते हैं कितने करोड़ का नुकसान हुआ तो आपको आना पड़ेगा रेट लगा कर के तौर पर इससे पहले कई लोगों की जान बचाई जा सकती है उसका यह तरीका था कि हमें विदेशी फ्लाइट बंद कर देनी चाहिए तो कोरोनावायरस के अंदर आता ही नहीं उनके साथ जाने से तात्पर्य डिस्टेंस दूरी बनाए रखी थी अब इसमें गवर्नमेंट क्या क्या डर है परंतु घाटे की जान तक बात की जाए तो घाटा बहुत ज्यादा हुआ क्योंकि मुझे पता है कि मैं काम पर नहीं गया तो मुझे सैलरी कहां से आएगी मुझे मिली नहीं रही तो इस तरीके से लोगों को काफी ज्यादा नुकसान भी हुआ और इसके अतिरिक्त गवर्नमेंट की बात करें तो हम लोग भी काम नहीं कर रहे तो देश की अर्थव्यवस्था के जीडीपी जो है वह कैसे बढ़ेगी तो ऐसी तौर पर यह कहूंगा की कॉपी ज्यादा लाखों करोड़ों का नुकसान तो हुआ

और जवाब सुनें

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:17
देश को कितने लाइक करो के घर 2:00 बजने में कितने लोगों की जान बचाई मोदी जी ने मोदी जी ने लाखों लोगों की जान बचाई यह पर लाखों करोड़ों रुपए का घाटा भी हुआ है 30 को ही कंप्लीट करने के लिए टैक्स बढ़ाया जा रहा है चीजें महंगी हो रही है तू क्या सुरवसे डगमगा गई है

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
3:00
86 लाख डाउन से देश को कितने लाख करोड़ का घाटा हुआ है और बदले में कितने लोगों की जान बचाई मोदी जी ने 135 करोड़ जनसंख्या है मोदी जी 2014 में 125 करोड़ जनसंख्या बोलते थे और 2021 में 135 करोड़ जनसंख्या बोलते हैं 9 पिछले 6 साल में भारत में 10 करोड़ जनसंख्या मोदी जी के अनुसार बच्चों की कोरोनावायरस की आडंबर में मोदी जी ने लाड लगा दिया पहले किस दिन के लिए फिर 14 दिन के लिए फिर 14 दिन के लिए खर्च करते जून तक खींचकर लेकर मार्च का 14 जून तक खींच के लिए हरीश लांगडोंग के दौरान मीडिया सोशल मीडिया यह बताएंगे कि मोदी जी ने 20 लाख करोड़ का पैकेट लिया लेकिन कोई भी आप सर्च करके देखिए कोई बताने को तैयार नहीं है कि मोदी जी ने लाखों लाख करोड़ का नुकसान किया जनता की को उसकी आय का स्रोत सिंधिया रोजगार इंडस्ट्री बंद हो गए दिल जानिया बंद हो गई सरकारी बैंकिंग बंद हो गई प्राइवेट में चले गए होटल बंद हो गए एयरपोर्ट बंद हो गए इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद हो गए स्कूल कॉलेज बंद हो गए यानी कि स्त्रोत बिल्कुल खत्म हो गई तो इंडिया का इस साल का बजट है बजट का 7 गुना मोदी जी ने नुकसान कर दिया और जनता को एक शोध 33 करोड़ जनता में से उन्होंने मैं कह रहा हूं एक करोड़ जनता की जान नहीं बचाई 10 लाख लोगों को पूरे विश्व में मौत के घाट उतार के करो ना की आड़ में हमारे मोदी जी ने हमारी सरकार ने मालूम है आपको 85 परसेंट जनता का मुंह का निवाला छीन लिया जान बचाना तो छोड़िए 85 से 92 5% लोगों की जान उन्होंने जोखिम में डाल दी और बचाने के नाम पर उनके पास कुछ नहीं यह कटु सत्य है मेरी बात आपको अगर बुरी लगती हो तो मैं क्षमा नहीं मांगूंगा क्योंकि कटु सत्य है लेकिन यह सत्य है आप सर्च कीजिए गूगल पर सर्च कीजिए कहीं और सर्च कीजिए अगर कहीं आपके लगता है कहीं आपके प्रश्न का उत्तर मिलता है कि मोदी जी ने कितने लाख करोड रुपए का नुकसान भारत को बचाया तो मुझे बताइए मैं आपकी हर बात से सहमत हूं गा और अपने शब्दों को वापस नहीं होगा

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए neelam जी का जवाब
I am nurse
3:00
हेलो भाई गुड आफ्टरनून नमस्कार मैं नीलम से आप सभी का स्वागत करती हूं भारत के नंबर वन सवाल-जवाब पर कॉल करें अपने दोस्तों से देश को कितने लाख करोड़ का घाटा हुआ और बदले में कितने लोगों की जान बचाई मोदी जी ने देश को और प्रति व्यक्ति को बहुत घाटा हुआ है क्योंकि लोगों की नौकरी नहीं कंपनी बंद हो गए कारखाने बंद हो गए जिसकी वजह से लोगों को घर पर बैठना पड़ा और प्रति व्यक्ति को आर्थिक और देश को भी जीडीपी जीडीपी वह नीचे गिरी और आज जो हमारा देश विदेश से आयात निर्यात होता था उन सब चीजों में भी कमी आएगी की वजह से हमारा आर्थिक जो भी है कमी हुई और आपकी प्रॉब्लम से हर किसी को वही देश को भी बहुत ही नुकसान हुआ कंपनी का खाने बंद हो जाने की बहुत नुकसान हुआ है लेकिन उनकी वजह से बहुत सारे फायदे भी होंगे जैसे हमारी नदियों को ले लीजिए जिनको प्रदूषण बहुत ज्यादा था जिस नदियां जो बात करनी थी जिन्हें जिस गंगा को साफ करने के लिए बहुत सारे तरीके अपनाए जा रहे थे वह लोगों के घर में रहने की वजह से पूरी तरह से स्वस्थ हो गया एक न्यूज़ में मैंने पढ़ा था कि वहां की इस ऋषिकेश की जमुना जी का पानी था वह पीने योग्य हो गया ना लगदा उन के दिनों में बहुत सारे नुकसान के साथ-साथ हो मां देवी महिला गांव में लेकिन जो आर्थिक प्रॉब्लम में वह प्रति व्यक्ति क्यों हुआ है वह देश को हुआ है तो नुकसान हुआ कितने लाख करोड़ का तो यह रात को गवर्नमेंट दे सकती है क्योंकि यह हम नहीं ले सकते हैं कि देश में क्यों को कितने करोड़ का घाटा हुआ या न्यूज़ एजेंसी इन न्यूज़ वाले या फिर कोई है मोबाइल भी संस्था द्वारा मेरे पास नहीं है और जान बचाने की तो मोदी जी ने जो लॉकडाउन लगवाया उसकी वजह से बहुत सारे लोगों की जान बची है आप खुद ही सोच लीजिए कि lock-down लगाने के बाद लोग घरों में रहने के बाद भी करो ना इतनी तेजी से हमारे देश में फैला है हमारे देश में लोग इतने तेजी से संक्रमित हैं घर में रहने के बावजूद अगर पति व्यक्ति घर से बाहर होता lock-down नहीं लगा होता तो आज क्या हालत होती तो यह सारी चीजें हैं जिसे आप समझ सकते हैं और इसे हमें नजर में तो आपको इसका इसके जो भी समझ में आएगी

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कोरोना और भारतीय अर्थव्यवस्था, भारतीय अर्थव्यवस्था पर covid-19 के प्रभाव, भारतीय अर्थव्यवस्था की वर्तमान स्थिति 2020
URL copied to clipboard