#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या मनुष्य के जीवन में आने वाले सुख और दुख उनके कर्मों का फल होता है?

Kya Manushya Ke Jivan Mein Aane Wale Sukh Aur Dukh Unke Karmo Ka Phal Hota Hai
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:49
पूछा गया है क्या मनुष्य के जीवन में आने वाले सुख और दुख उसके कर्मों का फल होता है तो देखिए बिल्कुल अगर आप अपने जीवन में जो है किसी भी तरीके के बुरे कर्म करते हैं लोगों को ऐड करते हैं तो उसका नतीजा कहीं ना कहीं आपको अपने जीवन में भुगतना पड़ता है और पिछले जन्म का तो मैं नहीं मानती पर अगर आप इस जन्म में कुछ गलत किया है और जानबूझकर कुछ गलत किया तो उसका परिणाम आपको अवश्य ही भुगतना पड़ेगा और मेरा यह मानना है कि हम को अपनी तरफ से कोशिश करनी चाहिए कि हम कम से कम अपने हरकत उधर अपने व्यवहार द्वारा जो है लोगों को हर्ट करें क्योंकि कल को अगर वही व्यवहार हमारे साथ होगा तो हम शायद वह शहर ना तड़पाए उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Poochha gaya hai kya manushy ke jeevan mein aane vaale sukh aur dukh usake karmon ka phal hota hai to dekhie bilkul agar aap apane jeevan mein jo hai kisee bhee tareeke ke bure karm karate hain logon ko aid karate hain to usaka nateeja kaheen na kaheen aapako apane jeevan mein bhugatana padata hai aur pichhale janm ka to main nahin maanatee par agar aap is janm mein kuchh galat kiya hai aur jaanaboojhakar kuchh galat kiya to usaka parinaam aapako avashy hee bhugatana padega aur mera yah maanana hai ki ham ko apanee taraph se koshish karanee chaahie ki ham kam se kam apane harakat udhar apane vyavahaar dvaara jo hai logon ko hart karen kyonki kal ko agar vahee vyavahaar hamaare saath hoga to ham shaayad vah shahar na tadapae ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या मनुष्य के जीवन में आने वाले सुख और दुख उनके कर्मों का फल होता है?Kya Manushya Ke Jivan Mein Aane Wale Sukh Aur Dukh Unke Karmo Ka Phal Hota Hai
Dukh kaise mite Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
2:58
देसी कृष्णा आपने पूछा क्या मनुष्य जीवन में आने वाले सुख-दुख उसके कर्मों का फल है हां बिल्कुल सत्य बात है उसके कर्मों का फल है लेकिन कर्म फल भी रोक लेते हैं सुनील शेट्टी के अधीन में वेदों में ज्ञान दिया देश का मतलब ज्ञान इस संस्था में एक सैनिक हो जाऊंगा ईश्वर थे वह मनुष्य और मनुष्य रूप बन के माया रानी माया में विश्व के भक्त या फिर उन्होंने ज्ञान दिया जो इस ज्ञान को पालन किया उनका प्रचार किया और इसी कारण उन्होंने इसे डीपी पर किया और आगे भेज दिया दिनेश को आगे पहले तो सुना करते थे फिर इसको फिर आगे नहीं क्यों बंद किया भेजनी तो इतनी सस्ती गाड़ी में हमें ज्ञान दे दिया है भक्ति और प्रार्थना वेदों में भक्ति उपरांत नहीं है और आगे जो ऋषि होते रहे तो फिर उन्होंने वेदों का सार भेज ज्यादा स्वरूप थे उनको सार निकालकर उल्लू बना दिया फिर अपने शुद्ध विचार इसमें ने गीता में बहुत छोटी स्लोगन कह दिया जैकी श्रॉफ आलिया तो सही कराने में मनुष्य को भक्ति का प्रार्थना दे दिया है सविधान बढ़ाने के लिए ऐश्वर्या ग्राम उनके बिना नहीं रह सकोगे बदल देंगे एक बार आ तो आपने भेजते रहते हैं बार-बार जिसे आपने क्या बताऊं फूलों को क्या रहता है मेरे जीवन में देखो कैसे-कैसे मेरे आने वाले भविष्य में जो कष्ट मिटाए ऐसे लोगों को पूरा दिन में लग जाता है इसमें तो बहुत कम समय है तो एक बार मैं सब्जी मंडी से सब्जी खा रहा था मेघा से करीब 5 किलोमीटर सब्जी मंडी है शाम के समय में आर्य शक्ल तो मैं तो ईश्वर का ध्यान करता हूं प्रकाश नहीं तो खरीद सब्जी मंडी से 1 किलोमीटर आगे अब तो बड़ी रोड हो तो साइड में वह चंडीगढ़ होते हैं जो लोग चलते चलते चलते वह के सामने एकदम आगे-आगे मुझे थोड़ा अटपटा भी लगा मैं क्यों आ गया फिर मैं सोचा कोई बात है अपने क्या है थोड़ा आगे थोड़ी चलती नहीं चलती थोड़े से आगे जाकर जिसकी एकदम जैसी को उत्साह है ना उसे साइड से जा रहा था तो फिर मैंने भी साइकिल ब्रेक लगा लेना क्यारी हां अभी मैं यह लड़की आगे नहीं आती तू मेरी साइकिल सांप का हॉस्पिटल भर्ती होना पड़ता

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • मनुष्य के कर्मों का फल कैसे मिलता है, कर्मों का फल कैसे मिलता है गीता सार, कर्मों का फल इसी जन्म में मिलता है
URL copied to clipboard