#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:17
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है तो दोस्त भी होता है मतलब अपना मानता बीएफ लेकिन हर एक इंसान के मन में कॉन्पिटिशन भी होता है कि मुझे आगे बढ़ने की भावना बढ़ने से कितना भी अच्छा आपका रिश्ता क्यों ना हो अच्छी दोस्ती क्यों ना हो तो जब कोई इंसान आगे बढ़ता है या फिर आपके साथ ही रहता आप की कैटेगरी का ही है सब दुनिया घर उनकी तारीफ करते हैं तो आपको कहीं से सुनने का मन करता है कि कुछ बुराई मुझे मेरे ताकि मैं जानता हूं जो इंसान बुरा है और अगर वह इंसान आगे नहीं बढ़ रहा है सिम आपके स्टेज में ही है तू भी अगर कोई इंसान बुराई करता है तो सुनने को अच्छा लगता है कि अरे हम इस इंसान के बारे में ही सोच से ही इंसान तो ऐसा निकला इस हिसाब से हम तो अच्छे हैं तो यह सब में चलता है जब भी कोई इंसान किसी के बारे में बुरा ही सोचता है और तू उसके मन में बहुत कुछ चलता है कि चलो मैं तो घर अच्छा हूं उसके बारे में इतना कुछ सुन रहा हूं फिर चलो वह भी मतलब बुरा है अगर कभी इनके सगरो कुछ प्रॉब्लम क्रिएट किया मेरे साथ तो मैं उसको रिटर्न में यह बात बोल पाऊंगा कि तुम्हारे बारे में भी लोग ऐसा कहते तो यह सब इंसान के मन में चलता है जिस वजह से लोग हमेशा दूसरे की बुराई सुनने में दिलचस्पी रखते हैं

और जवाब सुनें

Rajesh Kumar swami Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajesh जी का जवाब
Student
1:39
एहसान इसलिए दिल से होता है क्योंकि वह किसी बुराई से उसको अच्छा लगता है कि उसकी बुराई हो रही है उसने कुछ गलती की है इसलिए किसी की अगर होती है तो उसमें दिल जलता है क्योंकि वह अगर उसका कुछ दर्द है आपस में मुठभेड़ है उन दोनों की तो उसकी जो कोई सब सो गए करेगा तो उसको उसका दिल से ज्यादा सुनने में क्या बात है किस बात की बुराई कर रहा है इसलिए इंसान से ज्यादा इंसान बुराई की पात्रता अच्छी बात थी उसमें दिल से खून निकलता है अच्छी बारिश की अच्छाई के बारे में होती है तो उसमें कोई दम वाली बात नहीं कहती है आजकल के टाइम में ज्यादा इंसान जो कहीं पर भी आप जाकर देखो तो वहां पर जहां पर बड़े होती है या किसी इंसान को बुरा ही बात चलती है तो आपको यहां पर सुन सकते हो कि उसकी बुराई की बात चल रही थी उसमें दिल से करोगे बिल्कुल सुनने का तरीका याद रखोगे कि उसके बारे में क्या कह रहा है वह किस चीज की बुराई कर रहा है किसके बारे में चल रहा है आप जहां पर आप ज्यादा हो जाएगी जहां पर चलते वहां पर एक या दो लोग होते हैं बाकी सब अपने काम चले जाते हैं बाकी बुरा की बात होती है वहां पर सब लोग एक साथ था ओके उसकी बुराई करता है वह उसकी बुराई करता है आपस में सब बुराई करते हैं इसलिए इंसान सबसे ज्यादा खूबसूरत है

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:32
दोस्तों प्रश्न एक इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है तो दोस्तों यह ज्यादातर ऐसे लक्षण यह महिलाओं में पाए जाते हैं स्त्रियों में पाए जाते हैं लड़कियों में पाए जाते हैं पुरुषों में भी पाए जाते हैं लेकिन आप देखेंगे जो सारे सीरियल्स बने में जो टीवी पर आज कल आ रहे हैं वह सारे बुराइयों पर ही निर्भर करते हैं और जाट और उसमें महिलाओं का काफी रूम दिखाया जाता क्योंकि उन्होंने टीवी वालों ने धारावाहिक बना रहे हैं डायरेक्टर समझ चुके हैं साइकोलॉजी को तो स्लेव दिखाते हैं और महिलाएं निश्चित रूप से काफी दिलचस्पी भी लेती है पूछ भी काफी कई ऐसे होते हैं रुचि लेते लेकिन वह काफी चीजें अनदेखा कर देते हैं लड़के या पुरुष में क्या होता है इसके अंदर कि आप से किसी की लड़ाई हो रखी है या आपको कोई परेशान कर रहा है तो उसमें आपकी दिलचस्पी होती है बुराई सुनने की नहीं तो देखा मैंने कि पुरुष या जो हम लड़के कह रहे हैं वह ज्यादा इन सब चीजों में दिमाग नहीं लगाते हैं किसी की चुगली में बुराई में वह कहते भी हैं तो उसको दिल से नहीं लगाते हैं मजाक में डाल देते हैं लेकिन इसके महिलाएं इसको दिमाग में काफी बिठा कर रखती है जो कि उनके स्वास्थ्य के लिए भी स्वयं नुकसानदायक होता है तो इससे हमें दूरी रखनी चाहिए जो दिल नी दुनिया चल रही है चलने जल्दी चाहिए और किसी की बुराई करके क्या फायदा जो करनी है तो उसके मुंह के सामने करो तो उस में कुछ सुधार भी आए लेकिन अब आदत बनी है लोगों की और लड़के भी देखते होगे बहुत सारे चुगल खोर होते हैं या बहुत सारी बुराई करते रहते हैं उनको ऐसा एक प्रकार से उनको इस में ढल जाते हैं वह लेकिन सारे व्यक्ति ऐसे कब मिलेंगे आपको धन्यवाद

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:06
इंसान किसी की बुराई सुन ना यार बताने में इतना दिलचस्प इसलिए रखता है कि खाना और परिवार का सुख समाप्त हो बृहस्पति का कमजोर होना था कि लोगों में हमारे प्रति शत्रु भाव पैदा हूं नागौर चलते-चलते एकदम से रुक जाना और यदि कोई हमारी बुराई करता था हमने घर में हनुमान जी की याद करके घर से निकलना चाहिए सोमवार प्रातः सुगंध और जल अर्पित करना चाहिए भगवान भोले शंकर कथा इंसान किसी की बुराई सुनना मेरे दिल से सोच ले सकता कोई गाना वापस देगा मजाक और क्या करता कौन क्या उसे रहता और मॉडल्स वाले क्या कहते हैं हिसाब से आंतों का फायदा उठाता है जो चाहे कुछ भी कम याद तो जगह पर पुराना चोरी कर लेता या कुछ भी कर सकता हूं

Mayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Mayank जी का जवाब
Student/ Voracious reader
0:27
नमस्कार सोता तो इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है तो उसका कोई एक सही जवाब नहीं है कई कारण हो सकते हैं लेकिन मेरा मानना है कि मैं जल्दी होता यह है कि जब कोई व्यक्ति किसी और की बुराई सुनता है तो वह कहीं ना कहीं अपने आपको उससे बेहतर समझ में आता है और यह जो फीलिंग है अपने आप को किसी से बेहतर समझने की स्पेलिंग मुझे काफी अच्छी लगती है धन्यवाद

T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
2:58
आपका प्रश्न है कि इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है बहुत शानदार मजेदार प्रश्न देखिए आप मेरी बात को अन्यथा ना लें लेकिन जिसका जैसा स्वभाव होता है व्यक्ति उसी अनुसार कर्म करता है जो व्यक्ति अपने जीवन में कुछ बड़ा करना चाहता है जो व्यक्ति अपने जीवन में कुछ महान करना चाहता जो व्यक्ति जीवन में संसार से हट कर के अपनी एक अलग दिशा तय करना चाहता है मेरा यकीन कीजिए वह व्यक्ति दूसरों की बुराई करने में भी और दूसरों की बुराई सुनने में भी ज्यादा दिलचस्पी नहीं लेगा और आप शायद मेरे जो आंकड़े में आपको बता रहा हूं सुन कर के शायद अब आश्चर्यचकित हो जाएंगे लेकिन दुनिया में 90% लोग दूसरों की बुराई करने में और दूसरों की बुराई सुनने में बहुत ज्यादा दिलचस्पी लेते हैं और उसमें सन लिप्त रहते हैं लेकिन दुनिया में 10% लोग ऐसे हैं जो दूसरों की बुराई करने में विश्वास नहीं रखते जो दूसरों की बुराई सुनने में विश्वास नहीं करते वह दूसरों की गलतियों से तो सीखते तो जरूर हैं लेकिन वह हमेशा अपनी खुद की कमियों के बारे में बात करना ज्यादा पसंद करते हैं और वहीं 10% लोग इस दुनिया में सबसे ज्यादा सफल लोग हैं वही दुनिया में 10% लोगों ने जीवन में कुछ महान उपलब्धियां हासिल की है जिन्होंने अपना एक अलग नाम बनाया है अलग एक मुकाम हासिल किया है अपनी एक अलग उपलब्धि है और ऐसे जो लोग होते हैं वह दूसरों की बुराई करने में दूसरों की बुराई सुनने में ज्यादा दिलचस्पी नहीं लेते उसमें अपने समय को नहीं गवाते वह नकारात्मकता अपने शरीर के अंदर अपने मन्मथ लिस्ट में नहीं आने देते इसलिए मेरी सलाह यही है कि दूसरों की बुराई सुनने में और दूसरों की बुराई करने में कोई फायदा नहीं है अगर बुराई करनी है तो खुद की बुराइयों को समझिए खुद की बुराइयों का आकलन करके उसको दूर करने का प्रयास कीजिए दुनिया में जो दूसरे लोग गलतियां करते हैं उन गलतियों से सीखे और कोशिश करें कि वह गलतियां आप ना करें अपने आपको ऊपर लेकर जाएं दूसरों की बुराइयां करने में दूसरों की बुराइयां सुनने में आपका कोई भला नहीं होने वाला कोई हित नहीं होने वाला है और उससे दूर रहने में ही आपके जीवन में बहुत अच्छा होगा उम्मीद करता हूं मेरे उत्तर से आप संतुष्ट होंगे धन्यवाद

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:19
इंसान को इंसान की बुराई सुनने में आजकल दिलचस्पी ज्यादा पढ़ी है पहले के लोग माना कि मैंने भारत में अशिक्षा थी लेकिन बुराइयों से डरते थे बाप से डरते थे अन्य धर्म से डरते थे तो वे लोग दूसरों की बुराई सुनने में दिलचस्पी कम रखते थे लेकिन आज का इंसान इस पैसा कमाने की धुन में स्पष्ट कर चुका फॉलोइंग होता हुआ बे ताशा अंधा होकर धन कमाने की एक दर्जी मशीन बनता हुआ भाग रहा है परिणाम स्वरूप दिशा निर्देश इस कदर मर चुके हैं कि एक इंसान दूसरे इंसान की या तो बुराइयां करता है बुराइयां सुनता है इस प्रकार की स्थिति बन गई है परिणाम स्वरूप लोग एक दूसरे की बुराइयों में बड़ा रस लेते हैं चर्चाएं करते हैं और इस प्रकार की एक दूसरे की टांग खिंचाई चलती रहती है कि आज के दौर का प्रचलन बन गया है क्योंकि आज का इंसान स्वार्थी खुदगर्ज और लालच में डूबा हुआ है

kaalki Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए kaalki जी का जवाब
Marketing executive,,deals with wellness products,,Driver,
2:58
बहुत ही अच्छा है कि इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है इसका सरल सा जवाब यही है कि उसे खुद की अच्छाई ज्यादा अच्छी लगती है मुझे खुद की अच्छाई सुनना ज्यादा पसंद है इसलिए हम किसी की अच्छाई सुनना इतना पसंद नहीं करते जितना कि उसकी बुराई तो बुराई सुनने की आदत होती है बहुत ज्यादा इंसान नहीं है ऐसा भी नहीं है कि सभी ऐसे हैं बहुत ऐसे लोग हैं जो लोगों की अच्छी बातें भी तुमने सुनना पसंद करते हैं लोगों की का मतलब हमेशा जो अच्छी बातें करना पसंद करते अच्छी आदतें आदतों को अपनाना पसंद करते हैं तो बुराई सुनने वाले लोग हैं ना तो बुराई को सुनने में ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं असल में उनका मन बुराइयों से भर जाता है क्योंकि आप जैसा सुन रहे हो वैसा ही आप जो भी करोगे आप जैसा देखना चाहोगे वैसा ही आप ऑब्जर्व करोगे अगर आप देखना चाह बहुत के नेट नीचे को आप देखना चाहते हो भाई को आप देखना चाहते हैं खूबसूरती को तो यहां पर क्या है आप एक पॉजिटिव एनर्जी को ऑफ करें लेकिन आप उसके देखना चाहते यार किसी का झगड़ा हो जाए तो मैं ठीक हूं जा रहा हूं उसकी बुराई हो रही मैं कहां लगा लूं या कहीं लड़ाई हो रही तो मैं रुक जाता हूं देख लूंगा कैसे कैसे हो रही आपको नेगेटिविटी की ओर ले कर चली जाएगी आपको बुराई की ओर ले कर चली जाती है क्योंकि आप हमेशा बुराई को सुनना बुराई को देखना झगड़ों को देखना उसमें आपको दिलचस्पी आज तिथि क्या है हम नेगेटिविटी को ऑफ कर दो दिन अगर आपने यह चीज बदल दिया अपने अंदर अगर आपने सोचा कि हम सिर्फ एक खूबसूरत ईश्वर की बनाई हुई चीज है जो हमेशा अच्छाइयों के लिए बनी है तो उससे क्या होगा हमें पॉजिटिविटी एनर्जी का एक भंडार जो है सपोर्ट होगा और उसकी वजह से आपको चारों तरफ जो जो अच्छा है वह दिखना शुरू हो जाएंगे और आप उन्हीं की तरफ खींच लेंगे और इससे आपको एक फायदा और अमीर इंसान इस तरीके का जीवन जीता है मतलब कोई लड़ाई नहीं कोई झगड़ा नहीं किसी को गाली नहीं देना किसी की बुराई नहीं करना किसी की बुराई नहीं सुनना ऐसा इंसान जिस तरह लोग अपने जीवन को हंड्रेड एंड 10% पूरी तरीके से जीता है बाकी जो इंसान बुराइयां देखते हैं या इन सभी चीजों में पड़े रहते हैं कि जीवन को जीते नहीं है तो इस जीवन को सिर्फ और सिर्फ काट रहे हैं और ऐसे जीवन काटने वाले कवि ईश्वर के घर पर एक्सेप्ट नहीं किए जाते क्योंकि ईश्वर को भी एक ऐसा इंसान से यह नहीं कहती आत्मा चाहिए जो सिद्ध हो ऐसे इंसान का क्या करना जो इन बुराइयों में अच्छाइयों में हमेशा खड़ा रहेगा उसका ईश्वर कुछ नहीं करते और उसे अपने पास बुलाते भी नहीं

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#undefined

bolkar speaker
तिरंगा किसने बनाया था?
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:39
निलेश कुमार यादव जी द्वारा अनुमोदित सामान्य तिरंगा को किसने बनाया था नमस्कार निलेश जी आपने मुझसे प्रश्न किया है तिरंगा की जो रूपरेखा है वह चिंगली द्वारा तैयार किया गया था और इनका जन्म 18 सो 70 ईस्वी में हुआ था जो इन्होंने रूपरेखा तैयार की गई थी वह बहुत पहले ही कर देती को मान्यता मिली थी 1947 में राष्ट्रीय ध्वज के रूप में स्वीकार किया गया था 1943 को उम्मीद करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा आप लोग को चाहिए बच्चों को भी खुश रखे धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

neelam mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए neelam जी का जवाब
Job
1:31
नमस्कार दोस्तों एक मित्र का सवाल है मानव हृदय का रंग कैसा होता है तो दोस्त मैं आपको बता रही हूं कुछ अपनी जानकारी के हिसाब से कि जो मानव का हृदय होता है वह 13 सेंटीमीटर लंबा और 9 सेंटीमीटर चौड़ा होता है यह कार में तिकोना होता है और खोखला होता है इस कारण जो होता है वह लाल होता है मेरे दोस्त और आपको मैं बता दूं या पेसिफिक टू का बना होता है और यह एक आवरण में होता है जिसको हिंदी आवरण खाते हैं और दोस्त में बता दो 1 दिन में यह एक लाख बार धड़कता है और 1 मिनट में 7 सेकंड में यह 60 सेकंड में 70 बार धड़कता है अनुमानों का जो होता है दोस्तों खोखला होता है उसमें अंदर स्वाल सर से कनेक्ट होता है नसों से कनेक्ट होता है और दोस्ती यही खोखला और तिकोना होता है और इस कारण से होता है लाल होता है आपका सवाल है मानव ह्रदय कारण मानव हृदय का रंग जो होता है दोस्त वह लाल रंग का होता है आशा है कि आप हमारा जवाब पसंद आया होगा और अगर आपको मेरा जवाब पसंद आए तो दोस्त मुझे चालू करिए और मुझे सपोर्ट के लिए लाइक करें कमेंट करिए और आप हंसते रहिए मुस्कुराते रहिए अपने आसपास सफाई बनाए रखें जय हिंद दोस्तों

#पढ़ाई लिखाई

Srishti Mehrotra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Srishti जी का जवाब
Unknown
0:36
घर पर चॉकलेट केक बनाने की रेसिपी क्या है यह काफी होता है इसके लिए आप कर सकते हैं और उसमें आपको बहुत सारी रेसिपीज मिल जाएंगी जो आपको मदद करेगी एक चॉकलेट केक बनाने में यूट्यूब पर आपको इनग्रेडिएंट्स का सही मेज़रमेंट सही मात्रा में आपको पता चल जाएगा कि कितनी मात्रा में डालना है क्योंकि केक बनाने के लिए सही मात्राओं में सारे इंडियन कराना बहुत जरूरी है तो आप यूट्यूब पर वीडियो दे सकते हैं और से चॉकलेट केक बनाने की विधि भी जान सकते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:32
मेरे पास वाले को कौन सी चीज है जिसे देखकर इंसान की आंख में आंसू आ जाते हैं तो इसका जवाब प्याज हो सकता है कि कि जब प्याज को काटता हुआ देखते हैं और प्याज को काटते हैं तुम्हारी आंख में आंसू आ जाते हैं वैसे तो बहुत सारी चीजें जैसे किसी एक को मुसीबत में देख कर के और किसी को रोता हुआ देखकर के लिए मारी आंख में आंसू आ जाते हैं लेकिन प्याज मेरे ख्याल से टाइम पर हूं बाद में करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा खुशी दूसरों को भी सूचित करें

#जीवन शैली

Deepak Perwani7017127373 Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deepak जी का जवाब
Job
2:33
है प्रतिदिन के भोजन में कार्बोहाइड्रेट की कितनी मात्रा होनी चाहिए तो दोस्तों देखिए सामान्य व्यक्ति में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा वजन के अनुसार निर्भर करती है विज्ञान के अनुसार प्रति 1 किलो वजन पर 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट ले नाचने के 1 किलो वजन 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट की जरूरत है मान लीजिए किसी बच्चे का वजन 20 किलो है तो 20 किलो वजन को अगर 9 से 1 गुना करेंगे 9 ग्राम से 180 ग्राम यानी कि 1 दिन की डाइट में 180 ग्राम उसे कार्बोहाइड्रेट की जरूरत पड़ेगी 20 किलो वजन पर आइए आपका जितना वजन है उस पर घाट आइएगा यह बात है उन लोगों की जो स्वस्थ है जितना विज्ञान के अनुसार सामान्य होना चाहिए अब सवाल अगर यह किसी किसी वेट लॉस वाले व्यक्ति ने किया है लीजिए बैलेंस में किसी ऐसे व्यक्ति इनके जो वजन घटाना चाहता हो तो प्रति 1 किलो पर जो मैंने बताया आपको ग्राम जगह कार्बोहाइड्रेट लेना 1 किलो वजन पर तो फिर वह 6 ग्राम कर देना है 5 ग्राम कर देना उनके पास से 6 ग्राम 1 किलो वजन पर आपको घटा देना यह अगर इससे भी आप नहीं चले आओगे सामान्य से अधिक कार्बोहाइड्रेट ले जाना भी नीचे गलत है फिर जो है आते हैं कि अगर कार्बोहाइड्रेट शरीर में बढ़ जाए तो भी व्यक्ति शुगर का मरीज बनकर घट जाए तो भी व्यक्ति को शुगर होती है घर घटता है तो कब से वगैरा की समस्या बढ़ जाती है पाचन संबंधी इसीलिए जो है विज्ञान के हिसाब से प्रतिदिन के भोजन में 1 किलो वजन पर 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट लेना चाहिए और अगर आप वेट लॉस पर है तो 5 ग्राम 1 किलो वजन पर लेना चाहिए तो आपको यह याद रखना अब सवाल है कि सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट होता किस में तो दोस्तों जितनी भी शुगर वाली मीठी चीज होती है उन सब में कार्बोहाइड्रेट होता है जैसे ब्रेड केला दूध दूध में सबसे ज्यादा होता 216 जो भी जिसमें हल्का शुगर होता है लेवल शुगर का लेवल वह सब कार्बोहाइड्रेट में आती है और फलों में भी काफी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट होता है दूसरा यदि कार्बोहाइड्रेट शरीर से कम होता है तो ग्लूकोज की मात्रा को प्रभावित करता है ऐसे व्यक्ति का ज्यादातर बीपी लो रहता है अगर आपके शरीर में भी कार्बोहाइड्रेट की कमी होगी तो आपका बीपी लो रहता होगा अगर आपके शरीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा ज्यादा होगी तो कुछ शुगर का लेवल बढ़ता होगा जय माता दी जय हिंदुस्तान

#भारत की राजनीति

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:32
नमस्कार साथियों आप का सवाल है और किसान नेता बलवीर सिंह राज्यपाल कौन है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर यह है कि भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष बलवीर गाजियाबाद धन्यवाद दोस्तों खुश रहो

#भारत की राजनीति

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:03
नमस्कार साथियों आपका पसंद है किसान नेता गुरनाम सिंह सलोनी का किसान आंदोलन में क्या योगदान है तो साथियों आपके प्रश्न का उत्तर इस प्रकार से है हरियाणा भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चन्नी है जो किसानों के हक की लड़ाई में पूरा योगदान दे रहे हैं हमारे देश के अन्नदाता के साधन मन धन के साथ हैं हमारे देश में सरकार ने किसानों के काले कानून को वापस करवाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं धन्यवाद दोस्तों खुश रहो

#भारत की राजनीति

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:34
प्रोटीन एक ऐसा शक्तिशाली अवयव है जो हमारे शरीर को तत्काल ताकत और राहत प्रदान करता है प्रोटीन की कमी से तमाम प्रकार की बीमारियां हो जाती है हमारा शरीर ईश्वर ने इस प्रकार से बनाया है किसको प्रोटीन मिनरल विटामिंस पानी ऑक्सीजन इन सब चीजों से से जीवंत बनाए रखा जा सकता है रूटीन आपको जो जितने भी नेचुरल चीजें हैं उसमें शुद्ध बढ़िया मिल जाता है और मांसाहारी लोगों को मांस में भी प्रोटीन मिलता लेकिन वह प्रोटीन जो है तमाम प्रकार की बीमारियां पैदा करता है जानवर बीमार था क्या था कैसा था किस तरह से था इसलिए उनसे सबसे बेटर यही है कि आप दूध में तो आपको मिल जाता है प्रोटीन पनीर में प्रोटीन मिल जाता है फलों और सब्जियों में प्रोटीन मिल जाता है बादाम में मिलता है मोहब्बतें में मिलता है सोयाबीन में मिलता है जितने भी हमारे देश की खाद्य पदार्थ इन सभी को प्रोटीन के भरपूर हैं इससे आपको विटामिन ए बी सी विटामिन बी कांपलेक्स विटामिन के शादी चीज है जितनी भी हो सब मिल जाती हैं जो शरीर को अति आवश्यक है और आसानी से सुलभ हो जाती हैं

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
RBC का जीवनकाल कितना होता है?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
0:41
प्रश्न की आरबीसी का जीवनकाल कितना होता है देखिए आरबीसी का जीवनकाल जाने से पहले हमें यह जानना होगा कि और भी सीख होता क्या है यानी कि लाल रक्त कोशिका जो रक्त की सबसे प्रमुख कोशिका मानी जाती है और यह पूरे रुधिर का 40% भाग होता है और इसके अगर कार्य की बात की जाए तो यह रीड धारी जंतुओं के स्वसन अंग से विभिन्न अंगों में तक जाती है लेकिन अगर यहां जीवन काल की बात करें तो उसका जीवन काल जो है मनुष्य में इसकी औसतन आए जो है 120 दिन होती है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
1:13
प्रश्न की एस्ट्रोजन हार्मोन क्या है तथा उनके लक्षणों का विकास करता है कि पोषक तत्व के साथ-साथ महिलाओं के लिए एस्ट्रोजन हार्मोन भी जरूरी है इसकी कमी से नासिर पीरियड अनियमित हो जाते हैं बल्कि इनफर्टिलिटी और तनाव का कारण भी बन सकती हैं शरीर में अगर इसकी कमियां हैं यह परेशानियां हैं तो जिन महिलाओं में एनोरेक्सिया में थायराइड की समस्या होती हैं उनमें एस्ट्रोजन की कमी की समस्या होने की ज्यादा संभावना रहती है और और इसमें कोई भी प्रॉब्लम होने से शरीर में इस हारमोन का स्तर कम होने लगता है जिससे फ्री मैनोपोज भी कह सकते हैं अनुवांशिक कीमोथेरेपी और इसके कुछ लक्षण जो बात करते हैं कि किन लक्षणों का विकास करता है देखिए अगर पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग हो रही है हम समय पर नहीं आ रही है अचानक भूख नहीं लगती है नींद नहीं आती है विचार ऐसी हो रही है मानसिक तनाव आ रहा है डिप्रेशन सो रहे हैं हम अचानक वजन बढ़ना शुरू हो गया है हड्डियों में दर्द हो रहा है कमजोरी हो रही है हम यह सारे के सारे इसके लक्षण होते हैं धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

AM Kaptan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए AM जी का जवाब
Unknown
0:32
आयशा की दोस्त आज का विषय देखते हैं ऐसी कौन सी मछली है जो जमीन पर भी रह सकती है तुम्हारा को स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि ऐसी कौन सी मछली है उस मछली का नाम है जादुई मछली जादुई मछली जो जमीन पर रह सकती है और पानी भी रह सकते हो दोनों स्थान पर रह सकती है ठीक और इसे पानी और जमीन पर दोनों को इस का निवास होता है धन्यवाद साथी

#धर्म और ज्योतिषी

PRAVIN KUMAR Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए PRAVIN जी का जवाब
Private teacher
0:47
आपका सवाल है हिंदू और बौद्ध धर्म है समानताएं क्या देखिए हिंदू धर्म और बौद्ध दोनों ही प्राचीन धर्म और दोनों ही भारत भूमि से उपजे हिंदू धर्म के वैष्णव संप्रदाय में गौतम बुध को दसवां अवतार माना गया कला की बहुत-बहुत खूबसूरत नहीं सकता बहुत धर्म भारतीय विचारधारा के सर्वाधिक विकसित रूपों में से एक और हिंदू मात्र से शाम यात्रा हो सकता है विश्वास से आपको आपके सवाल का सिलसिला होगा और आपको अच्छा लगा होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:59
सवाल है योग करने के लिए सबसे अच्छी उम्र कौन सी है तो जवाब है योग करने के लिए हर एक उम्र में आप लोग कर सकते हो योग योग का मतलब आजकल तो सिर्फ योगासन के नाम हो गया तो मैं आपको बताना चाहूंगा योग का अर्थ क्या होता है योग का अर्थ होता है जुड़ना जुड़ना जुड़ना आप ज्ञान करोगे आसन करो तो उसमें तो आप जोड़ नहीं सकते ना असली में अर्थ है मैं आपको बता दूं योग का अर्थ होता है मेडिटेशन आफ मेडिटेशन बोल सकते हो मेडिटेशन क्या होता है आत्मा का परमात्मा के साथ कनेक्शन योग इसलिए हम उसे योग कहते हैं तो अभियोग हर कोई कर सकता है छोटे बच्चों से लेकर बड़े लोग भी कर सकते हैं मेडिटेशन की आत्मा का परमात्मा से मिलन आप जो कहते हैं आजकल तो आज्ञा दो स्वामी रामदेव जी वह योगकारक बोलते हैं कि आसन वगैरा यह प्रणाम आसानी यह सब करो वह शारीरिक व्यायाम हो गया नहीं सारी स्वास्थ्य के लिए आपको राम प्रणाम यह सब आसन आपको करना चाहिए सारी स्वास्थ्य के लिए लेकिन मानसिक स्वास्थ्य के लिए आपको मेडिटेशन करते मेडिटेशन योग और योग और व्यायाम को आप भूल सकते हो लेकिन दोनों में कंफ्यूजन हो रहा है क्योंकि तू आजकल तो जो को ग्राम समझ लेते हैं तो आप स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य बहुत बहुत आवश्यकता है समय की मांग है शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक शारीरिक स्वास्थ्य विज्ञानी बीमारियां बढ़ रही आप देखो अभी कोरोनावायरस आ गया ड्यूटी अच्छी होनी चाहिए इसके लिए सारे साथी किला प्रोग्राम योगा करना है ठीक है हर दिन और मेडिटेशन क्यों करना है मानसिक स्वास्थ्य के लिए है क्योंकि आजकल आप देखोगे डिप्रेशन अनिद्रा की शिकायत अन इंद्र किसी को नींद अच्छा नहीं है तुम्हें क्वालिटी नहीं अच्छी क्वालिटी की नींद नहीं आती या फिर मोबाइल में दिनभर लगे रहते हैं तो फिर जब मन डिस्टर्ब होता है चारों तरफ आप देखोगे तो टीवी है मोबाइल से आप धीरे हो दूसरे आस पास इतने सारे विज्ञान में बना कर रख दिया कि हम सुबह से लेकर रात तक बिस्तर भी होते तो मन में इतने सारे इंफॉर्मेशन लिए वह लगभग सभी चीजें मन में आती है तो इन सभी को दूर करने की लाखों में टेशन इस समय की बहुत बड़ी मांग है मेडिटेशन तो आप को कम से कम 15 मिनट तो हर दिन आपको मेडिटेशन करना ही चाहिए अभ्यास अगर आप मेरी टेंशन नहीं आता आपको दिमाग को यह बता दो कि आप गूगल पर यूट्यूब पर आप चार्ज कर सकते मेडिसिन का शिकार होते तो फ्री में 7 दिन का कोर्स उतरा जो मेडिटेशन कोर्स आप अपने नजदीकी ब्रह्माकुमारी सेंटर में अदाकारी है राजयोग मेडिटेशन कोर्स सीख सकते हो वहां पर आप कंप्यूटर इंफॉर्मेशन मिल जाएगी योग कैसे कर सकते मूवी दर्शन कैसे करने के बारे में कंप्लीट इंफॉर्मेशन ठीक है और आप कीजिए सभी लोग कर सकते हैं और कोई मनाही नहीं आप कभी भी कोई भी टाइप कर सकते हो योगा मेडिटेशन मेडिटेशन कभी कर सकते हो

#खेल कूद

 Neeraj Kumar  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Unknown
1:07
अरे दोस्तों मैंने सवाल है आजकल की भागदौड़ में भरी जिंदगी में क्या आप अपनी हॉबी जैसे पेंटिंग लेखन या फिर कोई खेल खेलने के लिए समय कैसे निकालते हैं तो जैसी मेरी हॉबी है कि मैं चैटिंग करना मुझे बहुत पसंद है यानी कि मैं स्टॉक मार्केट में जो ट्रेडर होते हैं जो ट्रेडिंग करते हैं वह मेरी हॉबी है तो मैं अपनी हॉबी को ही अपना क्वेश्चन मना लिया हूं जिससे मैं पैसे कमा रहा हूं और जो मेरा समझ लीजिए एक तरह का एक बिजनेस है तो हम करते हैं आप ऑफलाइन करते हैं जैसे आप सीमेंट की कोई दुकान खोली है आपको सीमेंट को हवाई करिए डीलर से और कस्टमर को सेंड करिए इसी तरह के स्टॉक मार्केट में में ट्रेनिंग करता हूं और शेयर को ऐसे अटैक सीमेंट के शेर को बाई करता हूं और सेल करता हूं इसी तरीके से मैं ऑनलाइन बिजनेस करता हूं वह मुझे यह पोस्ट पसंद है इसलिए मैं पढ़ाई के साथ-साथ इसमें समय बिल्कुल निकाल लेता हूं

#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker
RBC का जीवनकाल कितना होता है?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
0:41
प्रश्न की आरबीसी का जीवनकाल कितना होता है देखिए आरबीसी का जीवनकाल जाने से पहले हमें यह जानना होगा कि और भी सीख होता क्या है यानी कि लाल रक्त कोशिका जो रक्त की सबसे प्रमुख कोशिका मानी जाती है और यह पूरे रुधिर का 40% भाग होता है और इसके अगर कार्य की बात की जाए तो यह रीड धारी जंतुओं के स्वसन अंग से विभिन्न अंगों में तक जाती है लेकिन अगर यहां जीवन काल की बात करें तो उसका जीवन काल जो है मनुष्य में इसकी औसतन आए जो है 120 दिन होती है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:19
बेटा आपका प्रश्न कौन सी दौलत है जिसे कोई चुरा नहीं सकता बल्कि बांटने से बढ़ती है निश्चित रूप से यह संपत्ति जो है ज्ञान और अनुभव है आपका ध्यान जो है आपका जो ज्ञान है आपका अनुभव है इसे कोई चुरा नहीं सकता है और जब आप इसे दूसरों को देते हैं तो निश्चित रूप से आपके अंदर और भी रचना धर्मिता पैदा होती है जो आपको और भी अर्जुन के लिए प्रेरित करती है इसीलिए कहा गया है कि विद्याधन जो है वह सबसे बड़ा धन है क्योंकि यह केवल हमारी पहचान नहीं बनाता है बल्कि हमारे वजूद को स्थापित करते हुए हमें हर तरह से संतुष्टि प्रदान करती विद्या देने से विद्या दान देने से दूसरों का भला भी होता है समझे आपने आपके अंदर कोई दुर्भावना नहीं होती है विद्या का दान दे करके आप इंसान और इंसानियत की रक्षा करते हैं इसलिए यही से बड़ा धन है जिसे कोई चुरा नहीं सकता है और जितना ही आप बाटेंगे उतना ही बढ़ेगा क्योंकि आपके अंदर भी जीत गया था पैदा होगी जितने लोगों को आप अपना विद्या का दाम देंगे वह लोग भी आपके समकक्ष आ जाएंगे और इस प्रकार से सभी विद्या के धनी होंगे थैंक यू

#जीवन शैली

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:31
वह कौन सा अपराध है जिसे करने के बाद स्वयं भगवान और गुरु भी अपने आप को नहीं बचा पा तो फिर भी इंसान उसे हंसी-खुशी करते हैं का जवाब है आप बोल रहे हो कि कोई अपराध लिखिए कोई अपराध भगवान नहीं करता एक बात आपको क्लियर कर दो हम सभी कौन है हम सभी की आत्मा है और आत्मा शरीर में धारण करने की सभी को शांति हम सभी रात में यही सभी को चलाने वाले आत्मा ठीक है तो हम इस शरीर के माध्यम से कर्म कर रहे हैं ठीक है और इसे ही को चला रहे हैं आप परमात्मा यानी कि भगवान तू हो ना ही जन्म लेते हैं ना ही उसकी मृत्यु होती है इसीलिए तो हम उसे परमपिता परमात्मा के परम हाथों मतलब दीदा नाथ की जन्म होती ना ही मृत्यु होती तो भगवान अपराध क्यों करेगा भाई भगवान तो मास्टर सर्वशक्तिमान है भगवान ना ही जन्म लेते हैं ना ही मृत्यु होती उसकी अपराध कैसे करेंगे आप ही बताओ आप हो जो सवाल है वह गलत लग रहा है ठीक है अभी आप बोल रहे हो कि कोई अपराधी से बचा नहीं पाता मैं आपको बता दूं इस धरती पर आप जो भी कर्म करोगे उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह निश्चित है चाहे इस दिन में मिले उसका फल या फिर अगले जन्म में आपको भुगतना ही पड़ेगा यह संसार का नियम है जैसा कर्म करोगे वैसा आपको फल मिलेगा ही मिलेगा ठीक है इसमें आपको कोई नहीं बचा सकता यह हंड्रेड परसेंट शुरू है आप जो भी कर्म किए थे पूछ लेना मैं उसका फल आप इस जन्म में भुगत रहे हो और आप इस जन्म में जो भी कर्म करो उसका फल आपको मिलेगा ही मिलेगा यह हंड्रेड परसेंट ट्रू है रियल है दुनिया का नियम है आप मेरी जान लीजिए और आप बोलो कोई बचा नहीं सकता भगवान भी नहीं बचा पाए तुझे सुखी संसार का नियम है कि आप जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा ही मिले हर चीज का फल मिलता है हम पर ठीक है दुनिया है भैया संसार है जो चलता है और आप बोलो पर अपराध अपराध जैसे कि आप दूसरों का बुरा करते हो या फिर हत्या करते हुए चोरी करते हो तो यह अगर आप दूसरों के घर में चोरी करोगे तो एक न एक दिन आपके घर में चोरी होगी यह होता ही है कि जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिलेगा अगर आप किसी को कोई भी का अब कोई भी घटना ले लो ठीक है अगर आप किसी से कर्ज ले लेते हो या फिर किसी को धोखा दे देते हो तो कोई आपको धोखा दे देगा ऐसा होता है इस दुनिया में एक जैसा कर्म करेगा वैसा फल मिले आप यह बात याद रख लीजिए और आप राज जैसा प्राप्त करें वैसे आपको फल भुगतना पड़ेगा या रहिएगा ठीक है तू जैसा कर्म करते हैं वैसा फल मिलेगा यह बात याद रखें और भगवान अपराध नहीं करते भाई गुरु भाई गुरु मतलब आप बोलो गुरु जो आपको गाइड करते हैं

#टेक्नोलॉजी

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:59
नमस्कार दोस्तों user-centered प्राइवेसी क्या है उसकी जरूरत क्यों है लेकिन अक्सर होता क्या हम जाने-अनजाने में अपने अकाउंट लॉगइन करते हैं और जो देता है वह सांझा करते हैं इंटरनेट पर उसे हम अपने या अपने जो भी हमारा ब्राउज़र है उसमें शेयर कर देते हैं और कुछ ऐसी साइट समथिंग करते हैं तो जिनके बारे में हमारा इंटरेस्ट होता है क्या हम उसकी जरूरत होती है तो होता क्या है कि एक तो वह सब ठीक है ना बेटा तो आप कैसे बोतल में शेर रहता था क्या तुम समझ कर सके और आपको दोबारा से भी चीजें डालने की जरूरत ना पड़े लेकिन इसमें सबसे बड़ा बनता है कि कुछ हरकत से कुछ ऐसे होते हैं जो आपके दोनों की खुशी और उसी को कॉपी कर ले तेरा शादी का कार्ड है फिर बेटा से दिल है अच्छे से हो आपकी मेल आईडी आपके डाटा का मिस यूज कर सकते हैं तो हमें इंटरनेट पर प्राइवेसी की बहुत ही ज्यादा आवश्यकता है तो कभी भी ऐसे अकाउंट लॉगइन ना करें और अपना डाटा बिना वजह किसी दूसरे के सिस्टम से सेव ना करें और कोशिश करें कि अपना डाटा हमेशा अपने पास रखें उसे सेव करने की जरूरत ना पड़े क्योंकि उसी का गलत इस्तेमाल से आपको परेशानी हो सकती है जो आपको 1 इंच भी आपको शुद्ध का झटका लग सकता है आपका कोई डाटा चुरा कर आप भी कुछ सेंड कर सकता है और उसे पैसे कमा सकता है नहीं तो कुछ हैकर सॉफ्टवेयर क्रेडिट कार्ड की डिटेल और कार्तिक दिल लेकर यूज कर सकते हैं तो हमारा हम बहुत सारी चीजें हैं इंटरनेट पर यूज करते हैं जो हम नहीं चाहते कि किसी और दूसरे के साथ सांझा हो तो कभी भी ब्राउज़र को यूज करें तो उसकी हिस्ट्री तो क्लियर करके जाएंगे और जो भी सेंड हमको प्लेयर करके जाएं आशा करता हूं आपको कुछ सवाल की जरूरत नहीं जवाब मिल गया होगा लाइक और शेयर करें धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:12
मेरे घरवाले भारत की मोबाइल बाजार में चीनी उपक्रमों का बोलबाला कि वह भारतीय लोग होते हैं उन्हें हर चीज देखने में सुंदर लगती है खरीदते हैं जबकि भारत की भारत की जो समान होती है अगर भारत की चीजों को और चीनी सामानों की जगह रखा जाए तो भारतीय अर्जुन समान होते जो क्वालिटी होती है बहुत अच्छी क्वालिटी होती है अच्छी कंपनी की भी होती है लेकिन चीनी सामानों के आगे आज जो है और ऊपर से इतना आकर्षित या फिर सुंदर नहीं दिखते जितने की चीनी सामान कैसे बनाया जाता है ताकि वह देखने में सुंदर लगे और आकर्षित लगे तो यही भारतीय लोगों की पसंद होती है क्योंकि उन्हें इससे फर्क नहीं पड़ता है कि यह कितना दिन चलेगा या फिर इसकी क्वालिटी क्या है देखने में कितना सुंदर लग रहा है भले ही वह चले या न चले तो इसलिए जो चीनी समान होते हैं जो चीनी समान होते हैं उसको यह भारतीय लोग खरीदते हैं जो कि से भारत में ही ज्यादा चीनी समान दिखती है हम लोग खरीदते हैं उनका जवाब चाहिए बच्चों को भी खुश रखे धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:43
मनोज ने पूछा क्यों फोन रिस्टोर करने का संकल्प नेट काम नहीं करता है कि पहले आपको समझना पड़ेगा कि फिंगरप्रिंट चोली में क्या है जैसे कि आपको पता आपको पता होगा कि हमारे जो वर्ड है उसमें जो हमारे देश में आज कल सुबह फिंगरप्रिंट को काफी ज्यादा महत्व बता दे गई है क्योंकि आधार कार्ड के साथ मरते भी थंब इंप्रेशन शॉपिंग प्रश्न जो भी होते हैं वह से व्रत है उसी के साथ हमारा डाटा सुरक्षा से जुड़ा रहता है वह हमारी तरफ से एक डिजिटल सिग्नेचर है क्योंकि आपने देखा होगा कहीं से लोग से नहीं कर पाते वह अपने थंब इंप्रेशन से ही काम चलाते हैं तो उसी चीज को और सिक्योर करने के लिए फिंगरप्रिंट सेंसर को दिया जाता है ताकि आप आसानी से चीजों को कर पाया और आपको इतने को दिक्कत ना हो लेकिन उसी चीज को देखते कोई भी आपका डाटा को चुरा सकता है जब से आप के फिंगर प्रिंट्स को चुरा सकता है जिससे आपको आपके कोई जानकारी लीक हो जाती जब पैसों से संबंधित है फिर भी खुश किसी चीज को शेयर करने के लिए कंपनी है जो है एक एक्स्ट्रा ले ऐड करते हैं सिक्योरिटी की कि जब भी आप अपना फोन का ऑन करो फोन का पता मैं आपको पहले पिक डालना पड़ता है पिन डालने के बाद तो क्या प्रोटीन है वह जब तक आप किसी से शेयर नहीं करोगे तब तक आपका वह अनलॉक नहीं हो सकता तो उस दिन को हम डालते हैं उसके बाद आरोप लगाते हैं तो फिंगरप्रिंट ऑटोमेटेकली आपके फोन के अंदर जो हर स्कैन करता है आपके पूरे थम्स के सिग्नेचर को और उसी के तारों से अनलॉक करता है तो इसी चीज को उन्होंने बढ़िया कर कहीं पर होता क्या क्या आप जैसे हम अनकॉन्शियस होकर सो जाते हैं तो कुछ ऐसा होता है तो मान लीजिए कोई तीसरा प्रश्न आता है और आपको फोन को ऑन करता है मालिक जिओ फोन आपका बंद हो गया फोन करता और आपके सोए हुए थंब इंप्रेशन लेता लेकिन उसको ब्लॉक नहीं कर पाएगा कुछ टाइम तो आपका पीने मांगेगा तो पिन मांगने की यही एक सबसे बड़ा देश ना कि कोई आपका डाटा चुरा ना सके और अभी आप की चीज डाटा का मिस यूज ना कर सके इसलिए मैंने इस चीज को ऐड कर रखा है क्योंकि यह आपका बहुत ही कॉन्फिडेंस और डाटा है जो आपके हर जगह पर इस्तेमाल होता है आजकल के दौर में तुझे उन्होंने फिंगरप्रिंट की सिक्योरिटी ऐड कर रखी थी चाचा क्या पता जब भी हम नया फोन लेते तो उसमें सिंह का पठार पर तुझ को हमारे पूरे समाज को घुमा फिरा कर सेंड करता हूं उसके बाद ही होता तो जब हम छोटा सा मदरसेंस होता तो हम फिंगर लगाते हो छोटा सा हिस्सा लेकर उसको जाता है और उसके अंदर उस सेंड करता किसी से कोई पार्टी सी थम्स का है या नहीं तो यह सिक्योरिटी में जानबूझकर तेरा लिखा कि आपका डाटा कहीं लिखना हो जब कुछ ऐसा ना हो आशा करता हूं आपको कुछ सवाल का जवाब मिल गया को लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Lali shukla Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Lali जी का जवाब
Unknown
1:56
वंदे मातरम बहुत ही मस्त सवाल है कि सरदार बल्लभ भाई पटेल को लौह पुरुष क्यों कहा जाता है तो जो देखी रे हाय सकते हैं जो हमारी स्वतंत्र भारत की पहली उपलब्धि थी और निर्विवाद रूप से पटेल साहब का विशेष योगदान था आप यहां पटेल साहब मैं सरदार वल्लभ भाई पटेल को बोल रही हूं तो नीतिगत जड़ता के लिए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने उन्हें सरदार कुल्लू की उपाधि दी थी और बल्लभ भाई पटेल ने आजाद भारत में कितने साल राज्य बनाने में उल्लेखनीय योगदान दिया था इनका जो योगदान है कभी भुलाया नहीं जा सकता है आजादी के संघर्ष में उन्होंने जितना योगदान दिया से ज्यादा योगदान स्वतंत्र भारत को एक करने के लिए वहीं भारत के निर्माता का राष्ट्रीय एकता के बेजोड़ सरदार बल्लभ भाई पटेल के महत्व को सदैव याद रखा जाएगा भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन को एक नई दिशा देने के कारण सरदार पटेल ने राजनीति याद में गोरखपुर व्यक्तिगत में संगठन को संसार राजनीति सत्ता तथा राष्ट्रीय एकता के प्रति असीम शक्ति से उन्होंने नवजात गणराज्य की प्रारंभिक कहानियों का समाधान किया और यह गृह मंत्री ज्योति बन गई और उनकी जिम्मेदारियां दी हुई शॉपिंग की शादी के लिए गई है तो मेरे कहने का यह मतलब था धनी

#धर्म और ज्योतिषी

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:33
आपका प्रश्न है कभी ने ऐसा क्यों कहा कि संसार बौरा गया है आपने कभी किया पंक्ति नहीं लिखी पूरी देखिए जीवन दो तरह चलता है एक लौकिक और अलौकिक अलौकिक मैंने जो सांसारिक था में जो लगा हुआ है वह लौकिक जीवन है और जो ईश्वर पर जो अपने मन मस्तिष्क को लगाता है वह लव के अलौकिक माने जो गैर सांसारिक एक ऐसा संसार जो इस संसार से परे है जिसमें केवल ईश्वरी सत्ता का वास है तो जब मनुष्य केवल अपने ही उदर पूर्ति के लिए परिवार के लिए स्वार्थ पूर्ति के लिए सारे काम करता रहता है और वह अपने जीवन को नष्ट करके भगवानपुर से बिल्कुल अपने आपको ब्लॉक मार लेता है ऐसी स्थिति में यह कहा जाता है कि यह केवल स्वार्थी जीवन जी रहा है जिसे कहते हैं ना कि आत्मा में परमात्मा का वास है इस प्रभु ने आपके अंदर एक परमात्मा रूपी अपना एक प्रतिनिधि एक आत्मा आपके अंदर दे दी है उस आत्मा की बात को ना मानकर के केवल आप क्यों जीवन चलाने के लिए आप कुछ करते हैं यहां कुछ आए हैं आया है तो जाएगा राजा रंक फकीर कोई सिंहासन चढ़ चले कोई मदन जी तोमर ना सबको है क्या वह स्वार्थ में रख कर के मरे चाहे मानवी सेवा से मरे चाहिए स्वर में भक्ति करके बड़े अपने निजी कर्म को जो दिल्ली वाले कर उनको कीजिए और इस पर को भी अपने मन में स्थायित्व बनाए रखिए नहीं तो यही कहेंगे कि संसार बौरा गया है केवल अपने स्वार्थ के लिए जी रहा है ईश्वर के लिए कुछ नहीं कर रहा है जिसके लिए ईश्वर ने को भेजा है कि कर्म कीजिए कर्मण्ए वाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन

#धर्म और ज्योतिषी

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:01
नमस्कार आपका सवाल है जब भगवान की भक्ति करके शांत हो जाए और कोई हल ना निकले तो क्या करना चाहिए ताकि वैसे भगवान की भक्ति करने से कोई इंसान थकता नहीं है जब इंसान कुछ अपनी जान लेकर या फिर कोई उनकी इच्छा होती है जिसको लेकर कि वह भगवान की भक्ति करते हैं और भगवान की भक्ति करते समय जब उनके इच्छा और चाह पूरी नहीं होती है तब तब उनको ऐसा लगता है क्या तुम्हें भगवान की भक्ति छोड़ देनी चाहिए जबकि भक्ति करने से वह हमारी इच्छा ही नहीं पूरी हो रही है तब इंसान थक जाते हैं लेकिन भगवान की भक्ति करने से कोई भी इंसान को थकान नहीं होगी और ना ही होती है केवल जब उनकी इच्छा पूरी नहीं होती है और जो वह मनोकामना किए रहते हैं जब वह मनोकामना पूरी नहीं होती है तब इंसान को ऐसा लगता है कि अब हम थक गए हैं भगवान की भक्ति करते करते तो भगवान की भक्ति करने से कोई थकान नहीं होती जहां तक मैं जानती हूं और समझती हूं सुमित करते हैं सवाल का जवाब पसंद आएगा आपको चाहिए दोस्तों को शनिवार

#जीवन शैली

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
0:31
पूजा के कोहरे से हमें क्या सीख मिलती है कोहरे से एक अच्छी बात यह दिखे सीख सकते हैं कि जीवन में जब कोई रास्ता ना देखिए तब भी हमें धीरे धीरे चलना चाहिए जहर बनाए रखेंगे तो रास्ता भी देखिए मिल जाएगा तो कोहरे से मुझे देख एक शायरी याद आ गई मैं आपको सुनाना चाहता हूं कि अच्छा हुआ जो आप कोहरा पड़ने लगा तुम्हारे इंतजार में नजर दूर तक ना जाएगी जय हिंद जय भारत
  • इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है, किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी
URL copied to clipboard