#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?

Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:19
साले की छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम तो शादी के दो करती है मां की कल्याणिका और पर ईमेल बीपी का धन्यवाद
Saale kee chhaayaavaadee ke do pramukh krtiyon ke naam to shaadee ke do karatee hai maan kee kalyaanika aur par eemel beepee ka dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
0:31
कैसे सेंड कर दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए जो छायावाद की दो प्रमुख कृतियां थी जो ब्लड छायावाद का समय तो 1918 से 1936 के बीच में मुझसे कब मिलोगे शंकर प्रसाद के घर करती है कि बातचीत उनके मुकाम आए नहीं जानना आज की लड़कियां थी तथा महादेवी वर्मा की बात करें तो मन में क्या था जिसके चलते अतीत के चलचित्र मेरा परिवार आज तो अमित का तो सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा अगर अच्छा लगे तो प्लीज लाइक और सब्सक्राइब करें धन्यवाद
Kaise send kar do pramukh krtiyon ke naam likhie jo chhaayaavaad kee do pramukh krtiyaan thee jo blad chhaayaavaad ka samay to 1918 se 1936 ke beech mein mujhase kab miloge shankar prasaad ke ghar karatee hai ki baatacheet unake mukaam aae nahin jaanana aaj kee ladakiyaan thee tatha mahaadevee varma kee baat karen to man mein kya tha jisake chalate ateet ke chalachitr mera parivaar aaj to amit ka to savaal ka javaab achchha laga hoga agar achchha lage to pleej laik aur sabsakraib karen dhanyavaad

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
0:15
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम है नंबर 1 आराधना नंबर दो और सुना
Chhaayaavaadee ke do pramukh krtiyon ke naam hai nambar 1 aaraadhana nambar do aur suna

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:29
सवाल है कि छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए छायावाद हिंदी साहित्य की रोमांटिक उत्थान कि वह काव्यधारा है जो लगभग ईसा 1918 से 1936 तक की प्रमुख युगवाणी रही जयशंकर प्रसाद सूर्यकांत त्रिपाठी जी ने निराला भी कहते हैं सुमित्रानंदन पंत महादेवी वर्मा इस काव्य धारा के प्रतिनिधि कवि कवि माने जाते हैं
Savaal hai ki chhaayaavaadee ke do pramukh krtiyon ke naam likhie chhaayaavaad hindee saahity kee romaantik utthaan ki vah kaavyadhaara hai jo lagabhag eesa 1918 se 1936 tak kee pramukh yugavaanee rahee jayashankar prasaad sooryakaant tripaathee jee ne niraala bhee kahate hain sumitraanandan pant mahaadevee varma is kaavy dhaara ke pratinidhi kavi kavi maane jaate hain

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
1:43
हेलो फ्रेंड्स नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए कि मैं आपके सामने कुछ आकृतियां फ्रेश करता हूं जो कि छायावाद के ही हैं जैसी कि जयशंकर प्रसाद हुए इनका जन्म जो है 18 सो 89 ईस्वी में हुआ था और उनकी मृत्यु जो है वह नहीं सो 36 ईस्वी में हो गई और यह छायावादी के नए युग के जो है रचयिता थे इंकार रचना जो है झरना 1918 में प्रकाशित हुआ और आंसू 1925 में प्रकाशित हुआ और दूसरे फ्रेंड सूर्यकांत त्रिपाठी निराला जी इनका जन्म 18 सो 97 ईस्वी में हुआ था और 1962 ईस्वी में यह इनका निधन हो गया और इनकी रचना जो होता है वो अनामिका 1930 में यह राशि हुआ और सुमित्रानंदन पंत इसके बाद फ्रेंड जिनका जन्म जो है उन्नीस सौ में हुआ था और इनकी जो अमृत तो थी 1977 ईस्वी में हो गई यह जो है इनका उच्च वास्तु रचना था वह 1920 ईस्वी में प्रकाशित हुआ महादेवी वर्मा है इसके बाद फ्रेंड जो कि इनकी जो जन्म तिथि है वह 1960 ईस्वी में हुआ था और उनकी मृत्यु 1988 में हो गई इनका एक प्रकाशित हुआ निहार जो कि 1930 विश्व में प्रकाशित हुआ इसके बाद इनकी जो रचना है वह रसीद प्रकाशित हुई जोकि 1932 ईस्वी में प्रकाशित हुए आशा है कि आप सभी को यह जानकारी जो है पसंद आई होगी शुक्रिया धन्यवाद
Helo phrends namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai chhaayaavaadee ke do pramukh krtiyon ke naam likhie ki main aapake saamane kuchh aakrtiyaan phresh karata hoon jo ki chhaayaavaad ke hee hain jaisee ki jayashankar prasaad hue inaka janm jo hai 18 so 89 eesvee mein hua tha aur unakee mrtyu jo hai vah nahin so 36 eesvee mein ho gaee aur yah chhaayaavaadee ke nae yug ke jo hai rachayita the inkaar rachana jo hai jharana 1918 mein prakaashit hua aur aansoo 1925 mein prakaashit hua aur doosare phrend sooryakaant tripaathee niraala jee inaka janm 18 so 97 eesvee mein hua tha aur 1962 eesvee mein yah inaka nidhan ho gaya aur inakee rachana jo hota hai vo anaamika 1930 mein yah raashi hua aur sumitraanandan pant isake baad phrend jinaka janm jo hai unnees sau mein hua tha aur inakee jo amrt to thee 1977 eesvee mein ho gaee yah jo hai inaka uchch vaastu rachana tha vah 1920 eesvee mein prakaashit hua mahaadevee varma hai isake baad phrend jo ki inakee jo janm tithi hai vah 1960 eesvee mein hua tha aur unakee mrtyu 1988 mein ho gaee inaka ek prakaashit hua nihaar jo ki 1930 vishv mein prakaashit hua isake baad inakee jo rachana hai vah raseed prakaashit huee joki 1932 eesvee mein prakaashit hue aasha hai ki aap sabhee ko yah jaanakaaree jo hai pasand aaee hogee shukriya dhanyavaad

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
Divya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Divya जी का जवाब
Unknown
0:47
सवाल है छायावादी के दो प्रमुख सचिव के नाम लिखिए तो देखिए छायावादी युग में सूर्यकांत त्रिपाठी निराला को छायावादी युग का महाकाव्य माना जाता है और उनका जन्म पश्चिम बंगाल के मेदिनीपुर जिले में 896 में हुआ था उन्होंने हाई स्कूल तक हिंदी संस्कृत और बांग्ला का स्वतंत्र अध्ययन किया है उनकी प्रमुख कृतियों में परिमल अर्चना साध्य कानक्ली अपराजिता आराधना दो शरण राग विराग गीत गोविंद एनिमा कुकुरमुत्ता शामिल है
Savaal hai chhaayaavaadee ke do pramukh sachiv ke naam likhie to dekhie chhaayaavaadee yug mein sooryakaant tripaathee niraala ko chhaayaavaadee yug ka mahaakaavy maana jaata hai aur unaka janm pashchim bangaal ke medineepur jile mein 896 mein hua tha unhonne haee skool tak hindee sanskrt aur baangla ka svatantr adhyayan kiya hai unakee pramukh krtiyon mein parimal archana saadhy kaanaklee aparaajita aaraadhana do sharan raag viraag geet govind enima kukuramutta shaamil hai

bolkar speaker
छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए?Chaayaavadi Ke Do Pramukh Krtiyon Ke Naam Likhie
गोविन्द नाथ गोस्वामी Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए गोविन्द जी का जवाब
Unknown
0:33
नमस्कार दोस्तों आप का प्रेस में है छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए दोस्तों इस प्रश्न का सही जवाब छायावादी युग का महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला माना जाता है इनकी प्रमुख कृतियों में परिमल गीतिका कुकुरमुत्ता राग विराग आदि शामिल है धन्यवाद
Namaskaar doston aap ka pres mein hai chhaayaavaadee ke do pramukh krtiyon ke naam likhie doston is prashn ka sahee javaab chhaayaavaadee yug ka mahaakavi sooryakaant tripaathee niraala maana jaata hai inakee pramukh krtiyon mein parimal geetika kukuramutta raag viraag aadi shaamil hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम लिखिए छायावादी के दो प्रमुख कृतियों के नाम
URL copied to clipboard