#भारत की राजनीति

bolkar speaker

क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?

Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
Rubi Kumari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rubi जी का जवाब
Unknown
0:01

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:12
नमस्कार दोस्तों आपका सवाल है क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर यह है हमारे देश में वर्तमान में हालात बहुत ही खतरनाक है क्योंकि लोकतंत्र की धज्जियां उड़ाने का काम जोर-शोर से हो रहा है क्योंकि हमारे देश में चुनी हुई सरकार को गिराने का काम बहुत ज्यादा बढ़ गया है और हमारे देश में आम आदमी की सुनवाई बहुत ही कम होती है क्योंकि हमारे देश में हमने इनको सत्ता के आसन पर पहुंचे हो आम जनता की आवाज को नहीं सुन रहा है इसलिए हमारे देश में वर्तमान में लोकतंत्र खत्म होने की कगार पर है धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka savaal hai kya desh ke vartamaan haalaat lokatantr ko khatm kar rahe hain to doston aapake savaal ka uttar yah hai hamaare desh mein vartamaan mein haalaat bahut hee khataranaak hai kyonki lokatantr kee dhajjiyaan udaane ka kaam jor-shor se ho raha hai kyonki hamaare desh mein chunee huee sarakaar ko giraane ka kaam bahut jyaada badh gaya hai aur hamaare desh mein aam aadamee kee sunavaee bahut hee kam hotee hai kyonki hamaare desh mein hamane inako satta ke aasan par pahunche ho aam janata kee aavaaj ko nahin sun raha hai isalie hamaare desh mein vartamaan mein lokatantr khatm hone kee kagaar par hai dhanyavaad doston khush raho

bolkar speaker
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
1:00
हजरत क्वेश्चन पूछा गया कि क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं तो ऐसी बात नहीं है कि देश का जो वर्तमान हालात है वरना रे ज्वाइन लोकतंत्र को खत्म कर दी बट लोकतंत्र जाता है खतरा में तब माना जाता है जब वहां की जनता के द्वारा जो होता है प्रतिनिधित्व किया गया नेता को उसके विरोध में अगर कार्य कर रहा है तब माना जा सकता है कि जो है लोकतंत्र खतरे में है लेकिन तब तक अगर जनता के द्वारा चुने गए प्रतिनिधि जब उनके ही पक्ष में जो होते हैं कार्य करते हैं और जनता को ही जोड़ दें इससे फायदे पहुंचते हैं यह दूसरी भाषा में कहें कि हमने जनता को अगर कोई तकलीफ नहीं है और उन्हें सभी सुविधाएं सभी जाता है समान समय समय पर अगर मिल रही हैं तो उसे हम लोग तंत्र को खत्म होने की बात नहीं कर सकते
Hajarat kveshchan poochha gaya ki kya desh ke vartamaan haalaat lokatantr ko khatm kar rahe hain to aisee baat nahin hai ki desh ka jo vartamaan haalaat hai varana re jvain lokatantr ko khatm kar dee bat lokatantr jaata hai khatara mein tab maana jaata hai jab vahaan kee janata ke dvaara jo hota hai pratinidhitv kiya gaya neta ko usake virodh mein agar kaary kar raha hai tab maana ja sakata hai ki jo hai lokatantr khatare mein hai lekin tab tak agar janata ke dvaara chune gae pratinidhi jab unake hee paksh mein jo hote hain kaary karate hain aur janata ko hee jod den isase phaayade pahunchate hain yah doosaree bhaasha mein kahen ki hamane janata ko agar koee takaleeph nahin hai aur unhen sabhee suvidhaen sabhee jaata hai samaan samay samay par agar mil rahee hain to use ham log tantr ko khatm hone kee baat nahin kar sakate

bolkar speaker
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:13
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं श्री नहीं मैं ऐसा बिल्कुल नहीं समझता हूं क्योंकि लोकतंत्र के अंदर ही प्रोसेस होती है लोकतंत्र एक मजबूत होते जाता है साला अनुपात साल साल साल साल जैसे से चाहते हैं जैसे समय चोर होता है उसकी एज पड़ती है लोकतंत्र की लोकतंत्र अपने आप मजबूत होते जाता है तो लोकतंत्र में जनरल होता क्या है कि यह कोई भी एक इंसान यह नहीं चाहेगा कि मेरे हाथ से कोई सत्ता छोटे मैंने जो किंगडम होते हैं वह पहले हुआ करते थे जैसे एक महाराज और 1 राजाओं की अपने अपने इलाके हुआ करते थे तो क्या होता है कि पूरे लोगों का मिलके ही उन्होंने अपने घर आजा चुन कर दिया होता है तो लोकतंत्र के अंदर में यह चीजें होती है कि लोग अपनी आवाज उठाते हैं अलग-अलग जगह अपनी आवाज उठाते अलग अलग से सो गए क्या सभी के साथ में उठाएंगे और उसके अंदर उनके आवाज को अगर एक साथ अगर मान लो कि वह आवाज सुन ली जाए और उसको एग्जिट कर दिया जाए तुरंत ही तो फिर तो और ही स्टेंसी नहीं होगा और जब एक प्रोसेस है कि मैं आवाज उठाऊंगा फिर जो भी सत्ता में बैठे होंगे वह हाल वह है तो लोकतंत्र के नेता लोकतंत्र के नेता है लेकिन अभी भी यह लोकतंत्र से अपने भारतीय लोकतंत्र अभी हम मजबूती की कगार पर है मजबूत हुआ नहीं है तो यह फ्रिक्शन चलते रहते आप अमेरिका में भी देखिए अमेरिका इन मुद्दों से आगे चली गई है वहां पर भी ब्लैक और वाइट के ऊपर लोग राजनीति होती है वहां के लोकतंत्र के अंदर में तो इंसान की फितरत होती है कि अपना एक किंगडम को अपने को स्थापित करना हमेशा इंसान में रहेगी या यह किसी पॉलिटिकल पार्टी में हमेशा रहेगी तो उसके खिलाफ लड़ाई लड़ाई करना या उसके खिलाफ अपनी आवाज उठाना एक लोकतांत्रिक द प्रोसेस का एक हिस्सा है और यह चलते रहता है इसके पहले अन्ना हजारे आंदोलन हुआ था करप्शन के अगेंस्ट में तो तभी भी आवाज उठाई थी करप्शन के अगेंस्ट तो यह राजनीति में चलते रहता है उठाओ दबाने की कभी कोशिश होती है फिर से नेता अपने लोग अपनी आवाज को रखते हैं यह प्रोसेस है चलती रहती है चलते रहते आगे और लोग अगर होते जाते हो इस तरीके से लोकतंत्र मजबूत होता है लोकतंत्र कभी खत्म
Kya desh ke vartamaan haalaat lokatantr ko khatm kar rahe hain shree nahin main aisa bilkul nahin samajhata hoon kyonki lokatantr ke andar hee proses hotee hai lokatantr ek majaboot hote jaata hai saala anupaat saal saal saal saal jaise se chaahate hain jaise samay chor hota hai usakee ej padatee hai lokatantr kee lokatantr apane aap majaboot hote jaata hai to lokatantr mein janaral hota kya hai ki yah koee bhee ek insaan yah nahin chaahega ki mere haath se koee satta chhote mainne jo kingadam hote hain vah pahale hua karate the jaise ek mahaaraaj aur 1 raajaon kee apane apane ilaake hua karate the to kya hota hai ki poore logon ka milake hee unhonne apane ghar aaja chun kar diya hota hai to lokatantr ke andar mein yah cheejen hotee hai ki log apanee aavaaj uthaate hain alag-alag jagah apanee aavaaj uthaate alag alag se so gae kya sabhee ke saath mein uthaenge aur usake andar unake aavaaj ko agar ek saath agar maan lo ki vah aavaaj sun lee jae aur usako egjit kar diya jae turant hee to phir to aur hee stensee nahin hoga aur jab ek proses hai ki main aavaaj uthaoonga phir jo bhee satta mein baithe honge vah haal vah hai to lokatantr ke neta lokatantr ke neta hai lekin abhee bhee yah lokatantr se apane bhaarateey lokatantr abhee ham majabootee kee kagaar par hai majaboot hua nahin hai to yah phrikshan chalate rahate aap amerika mein bhee dekhie amerika in muddon se aage chalee gaee hai vahaan par bhee blaik aur vait ke oopar log raajaneeti hotee hai vahaan ke lokatantr ke andar mein to insaan kee phitarat hotee hai ki apana ek kingadam ko apane ko sthaapit karana hamesha insaan mein rahegee ya yah kisee politikal paartee mein hamesha rahegee to usake khilaaph ladaee ladaee karana ya usake khilaaph apanee aavaaj uthaana ek lokataantrik da proses ka ek hissa hai aur yah chalate rahata hai isake pahale anna hajaare aandolan hua tha karapshan ke agenst mein to tabhee bhee aavaaj uthaee thee karapshan ke agenst to yah raajaneeti mein chalate rahata hai uthao dabaane kee kabhee koshish hotee hai phir se neta apane log apanee aavaaj ko rakhate hain yah proses hai chalatee rahatee hai chalate rahate aage aur log agar hote jaate ho is tareeke se lokatantr majaboot hota hai lokatantr kabhee khatm

bolkar speaker
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:47
इसलिए इसमें प्रश्न किया है चलिए बल प्रश्न को देखते हैं उसको दे सकते हो दोस्तों उत्तर देंगे किसी ने प्रश्न किया है क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं जी आप बिल्कुल सही बात है वर्तमान देश के हालात को देखकर यही लग रहा है कि लोकतंत्र खतरे में लोकतंत्र खत्म हो जाए क्योंकि इतनी महंगाई चरम पर है बेरोजगारी चरम से मतलब किसी भी क्षेत्र में आप जाइए आप पर नेगेटिव की भरी हुई है कुछ नहीं हुआ पोस्ट कुछ है ही नहीं ना तो आप जगह खाली है ना तो भर्ती निकल रही है इस समय कम हो रही है और हाईटेक कंपटीशन बढ़ता जा रहा है जनसंख्या बढ़ रही है बहुत दिक्कत है आ रही है तो यह सब लग रहा है देख कर हां खतरे में है लोकतंत्र जरूर
Isalie isamen prashn kiya hai chalie bal prashn ko dekhate hain usako de sakate ho doston uttar denge kisee ne prashn kiya hai kya desh ke vartamaan haalaat lokatantr ko khatm kar rahe hain jee aap bilkul sahee baat hai vartamaan desh ke haalaat ko dekhakar yahee lag raha hai ki lokatantr khatare mein lokatantr khatm ho jae kyonki itanee mahangaee charam par hai berojagaaree charam se matalab kisee bhee kshetr mein aap jaie aap par negetiv kee bharee huee hai kuchh nahin hua post kuchh hai hee nahin na to aap jagah khaalee hai na to bhartee nikal rahee hai is samay kam ho rahee hai aur haeetek kampateeshan badhata ja raha hai janasankhya badh rahee hai bahut dikkat hai aa rahee hai to yah sab lag raha hai dekh kar haan khatare mein hai lokatantr jaroor

bolkar speaker
क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं?Kya Desh Ke Vartmaan Halat Loktantr Ko Khatam Kar Rahe Hain
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:54
लेकिन लोकतंत्र खत्म हो गया अपने देश में अभी गुंडाराज चल रहा है अभी देखिए कंगना राणावत का जिस तरह से ऑफिस तोड़ा गया महाराष्ट्र सीएम के द्वारा और उसके बाद भी कुछ बाकी भी उसके बाद में कुछ-कुछ एक्टिविटी ऐसी हुई महाराष्ट्र जो यह बताती है कि लोकतंत्र दम तोड़ा है वह अपने देश में पूरी तरह से दम तोड़ना जो पावरफुल है वह कुछ भी कर सकता भी किसान का आंदोलन देखिए देश का किसान है जो देश मत आना हम लोग को देते हैं और हम लोग साल भर उनके फसल के द्वारा हम लोग खाते हैं और जीते हैं तो उन किसानों का क्या हालत हो रहा है तुम लोग तो है ही नहीं बाकी मोदी जी कोशिश करते हैं थैंक यू
Lekin lokatantr khatm ho gaya apane desh mein abhee gundaaraaj chal raha hai abhee dekhie kangana raanaavat ka jis tarah se ophis toda gaya mahaaraashtr seeem ke dvaara aur usake baad bhee kuchh baakee bhee usake baad mein kuchh-kuchh ektivitee aisee huee mahaaraashtr jo yah bataatee hai ki lokatantr dam toda hai vah apane desh mein pooree tarah se dam todana jo paavaraphul hai vah kuchh bhee kar sakata bhee kisaan ka aandolan dekhie desh ka kisaan hai jo desh mat aana ham log ko dete hain aur ham log saal bhar unake phasal ke dvaara ham log khaate hain aur jeete hain to un kisaanon ka kya haalat ho raha hai tum log to hai hee nahin baakee modee jee koshish karate hain thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या देश के वर्तमान हालात लोकतंत्र को खत्म कर रहे हैं
URL copied to clipboard