#भारत की राजनीति

bolkar speaker

गदर पार्टी क्या थी?

Ghadar Party Kya Thee
Shankar Takalkar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Shankar जी का जवाब
Software Engineer
0:19

और जवाब सुनें

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Sales executive
0:35
गदर पार्टी एक मूवमेंट थी जो प्रवासी भारतीयों द्वारा जो विदेशों में रहते थे उनके द्वारा शुरू की गई थी 1913 से 20 की स्थापना हुई थी और लाला हरदयाल काशीराम के नेतृत्व करते थे और इनका मुख्य उद्देश था अंग्रेजों को भारत से अंग्रेजों को भारत से भगाना और औराई यहां पर शांति व्यवस्था को बनाए रखकर के भारत को आजादी दिलाना

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:14
गदर पार्टी क्या थी लेकिन संगठन के रूप में भारतीय देश से बाहर रह रहे थे प्रशांत चित्रों में रह रहे थे अमरीका कनाडा में रहने वाले भारतीयों ने 15 जुलाई 1913 को इस तरह का गठन किया था और पहली बार हिंदुस्तान ब्रदर के नाम से भी कर सकते हैं अगर पार्टी के नाम से भी जाना जाता है और कान्हा करतार सिंह भडाना और लाला हरदयाल सिंह लाला हरदयाल सिंह गदर पार्टी का शुरुआत 15 जुलाई 1913 को हुई थी पर सरदार सोहन सिंह का गाना जो है इसके पहले संस्थापक और अध्यक्ष के रूप में डॉक्टर हरदेव जी तो मंत्री के रूप में से 17 में जो है ना और उनको ना मानना प्रकाश करके जो भारत के बाहर रहने वाले भारतीय हैं उनके अंदर यह था और उन्होंने भी है भारत की पूरी आजादी की मांग की थी और यह है आंदोलन ज्यादा संघर्ष में नहीं लेकिन भारतीय इतिहास में चरण की जानकारी

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:29
गदर पार्टी क्या चीज देखी गदर पार्टी जो है यह भारत को अंग्रेजों की पराधीनता से मुक्त कराने के लिए एक संगठन बनाया गया था जिसे गदर पार्टी का नाम रखा गया इस संगठन ने भारत को बहुत सारे महान क्रांतिकारी दिए थे एक गदर पार्टी की थी जिन्होंने अंग्रेजों के विरुद्ध एक महासंघ एक संगठन और एक दुधारू आरंभ कर दिया था जब आप अपने लाइक सब्सक्राइब करें बोलकर से जुड़े रहे धन्यवाद
Gadar paartee kya cheej dekhee gadar paartee jo hai yah bhaarat ko angrejon kee paraadheenata se mukt karaane ke lie ek sangathan banaaya gaya tha jise gadar paartee ka naam rakha gaya is sangathan ne bhaarat ko bahut saare mahaan kraantikaaree die the ek gadar paartee kee thee jinhonne angrejon ke viruddh ek mahaasangh ek sangathan aur ek dudhaaroo aarambh kar diya tha jab aap apane laik sabsakraib karen bolakar se jude rahe dhanyavaad

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:20
कि क्या ठीक है दे दे पार्टी भारत-पाकिस्तान के बीच की लड़ाई का एक पाठ की जहां से भारतीय लोग जो भारतीय छवि पाकिस्तान से भारत किया गया वह जो पाकिस्तान और भारत से पाकिस्तानी चलिए हम भी उनकी पुश्तैनी जमीन जाए जाते हैं सुंदर होती जा रही है
Ki kya theek hai de de paartee bhaarat-paakistaan ke beech kee ladaee ka ek paath kee jahaan se bhaarateey log jo bhaarateey chhavi paakistaan se bhaarat kiya gaya vah jo paakistaan aur bhaarat se paakistaanee chalie ham bhee unakee pushtainee jameen jae jaate hain sundar hotee ja rahee hai

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:45
गदर पार्टी क्या की गदर पार्टी साम्राज्यवाद के खिलाफ हथियारबंद संघर्ष का ऐलान भारत की पूरी आजादी की मांग करने वाली राजनीतिक पार्टी थी जो कनाडा और अमेरिका में प्रवासी भारतीयों ने सन 1913 में बनाई थी इसके संस्थापक अध्यक्ष सरदार सिंह भाटी पार्टी का मुख्यालय सैन सैन फ्रांसिस्को मेटा इस पार्टी के पीछे लाला हरदयाल की सूची जिन्हें इंग्लैंड की आसपुर मिट्टी से स्वतंत्र आंदोलन से जुड़ी गतिविधियां चलाने के आरोप से निकाल दिया गया था इसके बाद वह अमेरिका चले गए थे वहां उन्होंने भारतीय प्रवासियों को जोड़ना शुरु किया और गदर पार्टी की स्थापना की पार्टी के अधिकतर चदर पंजाब की पूर्व सैनिक और किसान थी जब बेहतर जिंदगी की तलाश में अमेरिका के भारत को अंग्रेजी हुकूमत से आजाद कराने के लिए पार्टी ने हिंदी और उर्दू में हिंदुस्तान कदर नाम का फार्म भी निकालना वह इसी विदेश में रह रहे भारतीयों को भेजते थे सन् 1914 में 376 भारतीय काल और ब्रितानी हुकूमत से तंग आकर रोजगार की तलाश में कोमागाटा मारू जहाज से कनाडा जा रहे थे जहाज को गदर पार्टी से जुड़े गुरजीत सिंह ने किराए पर लिया था उत्तर कनाडा में प्रवासियों के लिए कानून सख्त किए जा रहे थे यह कानून अंग्रेजी हुकूमत के कहने पर बनाए जा रहे थे कोमागाटा मारू में समाज की जो चित्र भारती मुसाफिरों में 23 से 24 को कनाडा सरकार ने बैंक वर्क में उतरने की इजाजत दी थी गदर पार्टी के दबाव के बावजूद चाहत को वापस भारत भेज दिया गया लगभग 6 महीने समुंद्र घूमने के बाद यह जहाज कोलकाता में बस बस बंदरगाह पहुंचा कोलकाता पहुंचने के बाद जहाज में सवार लोगों को पंजाब लौटने को कहा गया लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया 29 सितंबर 1914 को बाबा गुरदीप सिंह और अन्य नेताओं को गिरफ्तार करने के लिए तत्पर पुलिस भेजी गई जहाज पर सवार लोगों ने इसका डटकर विरोध किया प्रथम विश्वयुद्ध और गदर पार्टी की योजनाओं से परेशान अंग्रेज सरकार ने यात्रियों पर गोली चलाई जिसमें 18 यात्री मारे गए थे ना कि बाबा गुरदीप सिंह कई अन्य लोगों के साथ भाग निकले बाकी जातियों को वापस पंजाब भेजा गया इसी घटना के बाद भारत में गदर आंदोलन की शुरुआत हुई पार्टी का उद्देश्य ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह करने और उनकी हत्या करने का था

bolkar speaker
गदर पार्टी क्या थी?Ghadar Party Kya Thee
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:44
नमस्कार साथियों सवाल है गदर पार्टी क्या थी तो साथियों गदर पार्टी भारत को अंग्रेजों की पराधीनता से मुक्त कराने के उद्देश्य से बना एक संगठन था इसे अमेरिका और कनाडा के भारतीयों ने 15 जुलाई 1913 सन फ्रांसिस्को नगर में बनाया था साथियों इसे प्रशांत तक का हिंदी संघ भी कहा जाता है साथियों साथियों या पार्टी हिंदुस्तान गदर के नाम से एक पत्र छापा करती थी जो उल्टी हो पंजाबी भाषा में था साथियों साथियों गदर पार्टी के जो संस्थापक अध्यक्ष थे वह सरदार मोहन सिंह थे तो आई हो कि आपके समझ में आया होगा धन्यवाद
Namaskaar saathiyon savaal hai gadar paartee kya thee to saathiyon gadar paartee bhaarat ko angrejon kee paraadheenata se mukt karaane ke uddeshy se bana ek sangathan tha ise amerika aur kanaada ke bhaarateeyon ne 15 julaee 1913 san phraansisko nagar mein banaaya tha saathiyon ise prashaant tak ka hindee sangh bhee kaha jaata hai saathiyon saathiyon ya paartee hindustaan gadar ke naam se ek patr chhaapa karatee thee jo ultee ho panjaabee bhaasha mein tha saathiyon saathiyon gadar paartee ke jo sansthaapak adhyaksh the vah saradaar mohan sinh the to aaee ho ki aapake samajh mein aaya hoga dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गदर पार्टी की स्थापना, गदर पार्टी का मुख्यालय, गदर पार्टी का चुनाव चिन्ह,
URL copied to clipboard