#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

किस बात से एक भारतीय छात्र निराश हो जाता है?

Kis Baat Se Ek Bharatiye Chatra Nirash Ho Jata Hai
Nidhi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nidhi जी का जवाब
Computer operator
0:49
एक भारतीय छात्र निंदा तक हो जाता है जब उसके पास डिग्री होने के बावजूद भी सारे स्किल्स होने के बावजूद भी उससे अच्छा जॉब नहीं मिल पाता है और भारतीय छात्र भारत में बढ़ती बेरोजगारी को देखकर भी बहुत निराश हो जाता है इससे उसके अंदर का जो उत्साह है वह खत्म हो जाता है पढ़ाई के प्रति यह जो बेरोजगारी है वह भारतीय छात्र की निराशा का सबसे मुख्य कारण है क्योंकि बेरोजगारी इतनी बढ़ गई है कि जहां एक पोस्ट आता है नौकरी का महा उस पर एक हजार अप्लाई कर देते हैं यह वही हाल हो जाता है कि एक अनार सौ बीमार तो इन सबको देखकर भारतीय छात्र बहुत मेरा

और जवाब सुनें

bolkar speaker
किस बात से एक भारतीय छात्र निराश हो जाता है?Kis Baat Se Ek Bharatiye Chatra Nirash Ho Jata Hai
vikas Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए vikas जी का जवाब
Unknown
6:31
आपका सवाल है किस बात से एक भारतीय छात्र निराश हो जाता है आरक्षण से एक भारतीय छात्र निराश हो जाता है आरक्षण बहुत बड़ी बीमारी है आरक्षण एक जहर है आरक्षण कैंसर से भी कई गुना अधिक खतरनाक जानलेवा बीमारी है जो भारत के 135 करोड़ देशवासियों को ग्रसित कर रही है कर चुकी है और आगे भी बहुत ज्यादा करेगी इसलिए भारत को आरक्षण में करना बहुत जरूरी है हमारे देश में आरक्षण लागू किया गया था 10 साल के लिए लागू किया गया था लेकिन कांग्रेस पार्टी ने आरक्षण को खत्म नहीं किया और उस आरक्षण की वजह से हमारे देश के गरीब और ज्यादा गरीब होते जा रहे हैं हमारे देश के sc-st समुदाय की स्थिति और खराब होती जा रही है तो क्या फायदा हुआ इस आरक्षण को देने से जनरल केटेगरी का एक लड़का पढ़ाई करता है एग्जाम में 80 नंबर पचासी नंबर लाता है एससी एसटी समुदाय के पैसे वाले आमिर खान का लड़का पढ़ाई करता है 35 नंबर 40 नंबर लाता है और 35 40 नंबर लाने वाले का सिलेक्शन होता है और अप्पी नंबर लाने वाले का सिलेक्शन नहीं होता है जब 35 40 नंबर वाला कुर्सी पर बैठेगा तो वह अपनी पावर का कितना अच्छे से इस्तेमाल कर पाएगा यह आप सभी लोग जानते हैं मुझे बताने की जरूरत नहीं पूरे भारत के लिए एक सिस्टम होना चाहिए पूरे भारत के स्टूडेंट के लिए एक सिस्टम होना चाहिए आरक्षण आर्थिक आधार पर दीजिए जो गरीब है उसकी शिक्षा फ्री होगी उसके रहने आने का पूरा व्यवस्था सरकार करेगी और कुछ पढ़ाई करना होगा और उसके बाद एग्जाम में जिसका मार्क्स अच्छा आएगा उसी का सिलेक्शन होगा मार्ग पता नहीं आएगा तो सिलेक्शन नहीं होगा यह सिस्टम है एजुकेशन में आरक्षण नहीं होना चाहिए यह के एग्जाम में आप देखोगे तो 9998 परसेंट जनरल कैटेगरी के मिलेंगे शायद उसमें आरक्षण नहीं है तो कहने का मतलब है उस डिपार्टमेंट में अच्छे अच्छे लोग हैं आरक्षण से स्थिति का बहुत ज्यादा नुकसान हो रहा है एसपी के स्टूडेंट को आरक्षण के माध्यम से मजबूर किया गया है कि तू भी 30 40 नंबर के लिए पढ़ना है स्टूडेंट फोन नंबर में 90 नंबर के बारे में सोचें कि नहीं पाते उनकी सोच को पहले से ही कमजोर बनाया गया है राजनीतिक पार्टियों के माध्यम से कांग्रेस जैसी पार्टियों के माध्यम से वरना वह भी जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट टू जयपुर ते नंबर लाने के लिए नंबर लाने के लिए समुदाय के लोग भी सोचते स्टूडेंट भी सोते तो इसकी समुदाय शिक्षित होने की तरफ अग्रसर होता है खुर्शीद को पूरा sc-st समुदाय अच्छे से अपनाने की कोशिश करता शिक्षित बनने की कोशिश करता है लेकिन माता-पिता का संकल्प होता कि नहीं हमें अपने बच्चों को एजुकेटेड बनाना है शिक्षित बनाना है चाहे हमें कितना भी कष्ट सहना पड़े हम अपने बच्चों को पढ़ाएंगे को पढ़ाने के लिए सोचते तो सरकार को भी कदम उठा उठाना पड़ता क्योंकि सोशल मीडिया का जमाना है हमारे जैसे लोग हैं हम लोग सरकार से रिक्वेस्ट करते हम लोग सोशल मीडिया पर पोस्ट करते थे इसी समुदाय के बच्चे पढ़ाई करना चाहते हैं और इनका फीस माफ किया जाए यह किया जाए वह किया जाए तो सरकारों को भी इनके लिए कदम और बेहतर उठाने पड़ते और फिर हमारे देश के लिटरेसी बढ़ने लगती और लिटरेसी जब बढ़ने लगती तो फिर देसी आगे बढ़ने लगता इसलिए देश के लोगों को शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए आरक्षण को खत्म करना होगा और जनरल कैटेगरी के स्टूडेंट हैं आप निराश बिल्कुल मत होइए चाहे कितना भी आरक्षण लागू हुआ लेकिन आज भी आप देखोगे बड़े-बड़े पोस्ट पर प्रोफेसर आईएएस पीसीएस जनरल कैटेगरी के लोग ही है कि नहीं निराश नहीं हुआ जाता है और मैं यह नहीं कह रहा हूं कि एससी एसटी बच्चे पढ़ाई करके 90 नंबर नहीं ला सकते हैं वह भी ला सकते हैं लेकिन सरकार को उसके लिए आरक्षण मुक्त भारत करना पड़ेगा पूरे भारत की साक्षरता बढ़ेगी कोई निराश नहीं होगा सभी लोग सभी स्टूडेंट अपना अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे देश की तरक्की में और आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने में तब जाकर नया भारत बनेगा धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किस बात से एक भारतीय छात्र निराश हो जाता है,फेल छात्र न हो निराश,फेल हो गए हैं उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है
  • भारतीय छात्र कब निराश होता है, क्या नंबर कम आने से छात्र निराश होते है, छात्रो को कौन सी बात निराश करती है
URL copied to clipboard