#भारत की राजनीति

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:27
रिवॉल्ट राम ने जिंदगी भर चुकी है वह दृष्टि करण की राजनीति की है क्योंकि राजनीति के लिए केजरीवाल सामने शुरू से ही जो किया है इस प्रकार की कार्य किए हैं क्योंकि उन्होंने अपने जब उन्होंने अन्ना हजारे को धोखा दे दिया क्योंकि अन्ना हजारे के साथ में जगह मिली थी उस समय अन्ना हजारे सामने और सिर्फ एक बात कही थी कि मेरे साथ केवल ब्यूरो हुआ है तो राजनीति में नहीं आना चाहते हैं जिनको देश सेवा करनी है चल सेवा करनी है तो उस समय उस समय केजरीवाल साहब अन्ना हजारे साहब के अनुयाई बन गए और उन्होंने यह सोच लिया कि मैं जन सेवा करना चाहता हूं लेकिन पीछे जब धीरे-धीरे अन्ना हजारे के साथ रहते हुए उन्हें पहचान मिल गई तो उसका बेनिफिट इसमें इलेक्शन में लिया और इस प्रकार से हो तुम वह दिल्ली में सीएम बन गए अब आप देख रहे हो कि जून की छुट्टी करण की नीति चलती है वो हमेशा ही एक वर्ग का एक धर्म विशेष का साथ देते हैं
Rivolt raam ne jindagee bhar chukee hai vah drshti karan kee raajaneeti kee hai kyonki raajaneeti ke lie kejareevaal saamane shuroo se hee jo kiya hai is prakaar kee kaary kie hain kyonki unhonne apane jab unhonne anna hajaare ko dhokha de diya kyonki anna hajaare ke saath mein jagah milee thee us samay anna hajaare saamane aur sirph ek baat kahee thee ki mere saath keval byooro hua hai to raajaneeti mein nahin aana chaahate hain jinako desh seva karanee hai chal seva karanee hai to us samay us samay kejareevaal saahab anna hajaare saahab ke anuyaee ban gae aur unhonne yah soch liya ki main jan seva karana chaahata hoon lekin peechhe jab dheere-dheere anna hajaare ke saath rahate hue unhen pahachaan mil gaee to usaka beniphit isamen ilekshan mein liya aur is prakaar se ho tum vah dillee mein seeem ban gae ab aap dekh rahe ho ki joon kee chhuttee karan kee neeti chalatee hai vo hamesha hee ek varg ka ek dharm vishesh ka saath dete hain

और जवाब सुनें

 Nida Rajput       Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए जी का जवाब
Student Computer Science Education
2:26
देखिए आप का सवाल है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार मंदिर तोड़ सकती है तो अवैध मजार दरगाह और मस्जिद क्यों नहीं तोड़ सकती देखिए मंदिर तोड़ा आपको पता है कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने मंदिर तोड़ा या कुछ और भी तो लोग हो सकते हैं ना जनक आपके पीछे होती हैं ना तो हिंदू कहता सकते हैं ना मुसलमान करे जा सकता है ना उनको कोई धर्म नहीं होता जो व्यक्ति मंदिर मस्जिदों को 9:00 बजे उसे क्या कहेंगे वह मनुष्य है नहीं कहा जा सकता है मनुष्य नहीं है वह क्योंकि एक मनुष्य तरह का घटिया काम नहीं कर सकता और अगर उसने किया उसने घर मंदिर मंदिर तोड़े चाहे वो किसी भी सरकार का व्यक्ति क्यों ना हो लेकिन आप यह बोल करके केजरीवाल सरकार मंदिर तोड़ सकती है तो अवैध मजार दरगाह और मस्जिद क्यों नहीं तोड़ सकती मतलब यह है आपके मन में भी ऐसी छवि उत्पन्न हो रही है कि आप उनसे उनको तोड़ना चाहते हैं जिन्हें तब आता है जब हम ऐसी सोसाइटी में रहते हैं हमारे आसपास के लोग ऐसे होते हैं घर में किस तरह के घर शिक्षा दी जाए तो उन लोगों ने तोड़ दिया लेकिन आपको आप भी उन्हीं की तरह हो क्या आप हम से बदला लेना चाहते हो कि वह लोग दरगाह मजार मस्जिद क्यों नहीं तोड़ सकते क्यों तोड़े जरूरी थोड़ी नहीं है कि केजरीवाल सरकार पर मुसलमानों ने मंदिर तोड़ा होगा कोई भी हो सकता है ना उसके पीछे तो और मंदिर मस्जिद तोड़ने वाला व्यक्ति इंसान नहीं है उसके अंदर का जो इंसानियत है वह बिल्कुल खत्म हो चुकी है मुसलमानों के लिए भी और हिंदू अभी तो काम पर उतारू हो गया है कुछ लोग क्या होते हैं क्या आपस में लड़ाई करवा देते हैं और बाद में जाते हैं रोकना है बढ़ावा नहीं देना है कि केजरीवाल सरकार ने मंदिर तोड़ा तो अवैध मजार दरगाह मस्जिद क्यों नहीं तोड़ सकती बढ़ावा नहीं देना है और उनका रास्ता निकालना है कि किस तरह से हम अपने देश को बचा सकते हैं धन्यवाद
Dekhie aap ka savaal hai ki dillee mein kejareevaal sarakaar mandir tod sakatee hai to avaidh majaar daragaah aur masjid kyon nahin tod sakatee dekhie mandir toda aapako pata hai ki dillee kee kejareevaal sarakaar ne mandir toda ya kuchh aur bhee to log ho sakate hain na janak aapake peechhe hotee hain na to hindoo kahata sakate hain na musalamaan kare ja sakata hai na unako koee dharm nahin hota jo vyakti mandir masjidon ko 9:00 baje use kya kahenge vah manushy hai nahin kaha ja sakata hai manushy nahin hai vah kyonki ek manushy tarah ka ghatiya kaam nahin kar sakata aur agar usane kiya usane ghar mandir mandir tode chaahe vo kisee bhee sarakaar ka vyakti kyon na ho lekin aap yah bol karake kejareevaal sarakaar mandir tod sakatee hai to avaidh majaar daragaah aur masjid kyon nahin tod sakatee matalab yah hai aapake man mein bhee aisee chhavi utpann ho rahee hai ki aap unase unako todana chaahate hain jinhen tab aata hai jab ham aisee sosaitee mein rahate hain hamaare aasapaas ke log aise hote hain ghar mein kis tarah ke ghar shiksha dee jae to un logon ne tod diya lekin aapako aap bhee unheen kee tarah ho kya aap ham se badala lena chaahate ho ki vah log daragaah majaar masjid kyon nahin tod sakate kyon tode jarooree thodee nahin hai ki kejareevaal sarakaar par musalamaanon ne mandir toda hoga koee bhee ho sakata hai na usake peechhe to aur mandir masjid todane vaala vyakti insaan nahin hai usake andar ka jo insaaniyat hai vah bilkul khatm ho chukee hai musalamaanon ke lie bhee aur hindoo abhee to kaam par utaaroo ho gaya hai kuchh log kya hote hain kya aapas mein ladaee karava dete hain aur baad mein jaate hain rokana hai badhaava nahin dena hai ki kejareevaal sarakaar ne mandir toda to avaidh majaar daragaah masjid kyon nahin tod sakatee badhaava nahin dena hai aur unaka raasta nikaalana hai ki kis tarah se ham apane desh ko bacha sakate hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard