#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:55
आज आपका सवाल है कि जो इंसान आखिरी समय में इच्छाएं अधूरी लेकर मरता है क्या उसे अगले जन्म में उन इच्छाओं की पूर्ति करनी पड़ती है तू देख अपनी सुना होगा आपने देखा भी होगा न्यूज़ में कि मतलब जब किसी को सजा-ए-मौत सुनाई जाती है और उसका मतलब उसे मतलब फांसी की सजा सुनाई जाती है और कल का वक्त होता जब उसे फांसी देने का समय होता है तो पहले से ही उनसे पूछा जाता है कि उनके आखिरी इच्छा है क्या है किस तरह से क्या वह चाहते हैं अभी तो फिर एक इंसान को मेरे साथ यही करना चाहिए अगर किसी की कोई इच्छा हो तो उसे पूरी करना चाहिए और अगर आपसे कोई बोल रहा है कि मेरी आए तो उसे भी पूरी करनी चाहिए और जब भी हमारा भी कभी भी कुछ भी मन करे खाने का या फिर कहीं घूमने का तो कोशिश करना चाहिए कि उस चीज को दबाकर नहीं देखने के लिए घर खाने का मन कर रहा है तू कुछ खाना चाहिए क्योंकि जिंदगी का कभी कोई भरोसा नहीं होता है क्योंकि मेरे हिसाब से अगले जन्म में अगले जन्म होता है या नहीं आया फिर वह इंसान इंसान के रूप में आएगा या नहीं या फिर किस तरह से यह जिंदगी यह दुनिया है नहीं है यह सभी तरह की मुझे रहस्य लगती है तो अगला जन्म होगा क्या होगा किस चीज में इंसान आएगा नहीं आएगा सच में यह इच्छा पूरी होगी या फिर वह कर पाएगा यह नहीं तो अच्छा होता है कि फिलहाल आप प्रेक्टिकल हर एक चीज सोची जो जिंदगी आपको फिलहाल अभी मिली है इस जिंदगी में जो भी आपकी इच्छा है उसे पूरी करने की कोशिश कीजिए और अगर कोई इंसान अगर आप इस तरह की बातें भी बोलता है क्योंकि आखिरी इच्छा है तो अगर आप से हो सके तो आप उनकी इच्छाओं को पूरी करने की कोशिश कीजिए
Aaj aapaka savaal hai ki jo insaan aakhiree samay mein ichchhaen adhooree lekar marata hai kya use agale janm mein un ichchhaon kee poorti karanee padatee hai too dekh apanee suna hoga aapane dekha bhee hoga nyooz mein ki matalab jab kisee ko saja-e-maut sunaee jaatee hai aur usaka matalab use matalab phaansee kee saja sunaee jaatee hai aur kal ka vakt hota jab use phaansee dene ka samay hota hai to pahale se hee unase poochha jaata hai ki unake aakhiree ichchha hai kya hai kis tarah se kya vah chaahate hain abhee to phir ek insaan ko mere saath yahee karana chaahie agar kisee kee koee ichchha ho to use pooree karana chaahie aur agar aapase koee bol raha hai ki meree aae to use bhee pooree karanee chaahie aur jab bhee hamaara bhee kabhee bhee kuchh bhee man kare khaane ka ya phir kaheen ghoomane ka to koshish karana chaahie ki us cheej ko dabaakar nahin dekhane ke lie ghar khaane ka man kar raha hai too kuchh khaana chaahie kyonki jindagee ka kabhee koee bharosa nahin hota hai kyonki mere hisaab se agale janm mein agale janm hota hai ya nahin aaya phir vah insaan insaan ke roop mein aaega ya nahin ya phir kis tarah se yah jindagee yah duniya hai nahin hai yah sabhee tarah kee mujhe rahasy lagatee hai to agala janm hoga kya hoga kis cheej mein insaan aaega nahin aaega sach mein yah ichchha pooree hogee ya phir vah kar paega yah nahin to achchha hota hai ki philahaal aap prektikal har ek cheej sochee jo jindagee aapako philahaal abhee milee hai is jindagee mein jo bhee aapakee ichchha hai use pooree karane kee koshish keejie aur agar koee insaan agar aap is tarah kee baaten bhee bolata hai kyonki aakhiree ichchha hai to agar aap se ho sake to aap unakee ichchhaon ko pooree karane kee koshish keejie

और जवाब सुनें

guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru जी का जवाब
Students
0:29

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:18
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है जो इंसान जो इंसान जो इंसान आखरी समय में इच्छाएं अधूरी लेकर मरता है क्या उसे अगले जन्म में उन्नाव की पूर्ति करनी पड़ती है तो अगला जन्म पिछला जन्म कोई नहीं देखता है यह सब कहा कही सुनी बातें होती हैं जो इंसान एक बार मर जाता है क्या वह देख पाता है कि हम क्या कर रहे हैं क्या नहीं कर रहे हैं यह शरीर एक मशीन की तरह होता है जब तक सारे पार्ट्स काम करें तब तक इंसान जिंदा रहता है जब तक काम करना बंद कर देते हैं तो इंसान की मृत्यु हो जाती है ऐसा नहीं है कि हम मर गए तो अगले जन्म में कार्य पूरा करेंगे क्योंकि मर के कोई नहीं देखता कि हम क्या कर रहे हैं क्या बन रहे हैं बाद में कहां जा रहे हैं क्या काम हो रहा है कोई नहीं जान पाता है सब कही सुनी बातें होती हैं आज तक किसी को पता है कि हम मर के कहां गए हैं तो यह सब कहने सुनने वाली बातें होती हैं लेकिन उसका मन जरूर भर भर आता है वह जो इंसान कोई काम अधूरा छोड़ कर चला जाता है तो उसकी आत्मा जरूर थोड़ा तकलीफ होती होगी उसको कि मैं यह काम नहीं कर पाया हूं बस यह बात जरूर है लेकिन मरने के बाद कोई भी कुछ पता नहीं कर पाता कि इंसान कहां चला जाता है तो आपको जवाब अच्छा लगे तो लाइक कीजिएगा धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai jo insaan jo insaan jo insaan aakharee samay mein ichchhaen adhooree lekar marata hai kya use agale janm mein unnaav kee poorti karanee padatee hai to agala janm pichhala janm koee nahin dekhata hai yah sab kaha kahee sunee baaten hotee hain jo insaan ek baar mar jaata hai kya vah dekh paata hai ki ham kya kar rahe hain kya nahin kar rahe hain yah shareer ek masheen kee tarah hota hai jab tak saare paarts kaam karen tab tak insaan jinda rahata hai jab tak kaam karana band kar dete hain to insaan kee mrtyu ho jaatee hai aisa nahin hai ki ham mar gae to agale janm mein kaary poora karenge kyonki mar ke koee nahin dekhata ki ham kya kar rahe hain kya ban rahe hain baad mein kahaan ja rahe hain kya kaam ho raha hai koee nahin jaan paata hai sab kahee sunee baaten hotee hain aaj tak kisee ko pata hai ki ham mar ke kahaan gae hain to yah sab kahane sunane vaalee baaten hotee hain lekin usaka man jaroor bhar bhar aata hai vah jo insaan koee kaam adhoora chhod kar chala jaata hai to usakee aatma jaroor thoda takaleeph hotee hogee usako ki main yah kaam nahin kar paaya hoon bas yah baat jaroor hai lekin marane ke baad koee bhee kuchh pata nahin kar paata ki insaan kahaan chala jaata hai to aapako javaab achchha lage to laik keejiega dhanyavaad

BK. SHYAAM. KARWA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BK. जी का जवाब
Unknown
1:00
नमस्कार आप ने प्रश्न किया कि जो इंसान आखिरी समय में इच्छाएं अधूरी लेकर मरता है कि वह अगले जन्म की पूजा करनी पड़ती आपको बताना चाहूंगा कि जो हमारी इच्छा होती है वह हर जन्म में बदलती रहती है पढ़ता था 20 दिन में जो अधूरी चाय लेकर मृत्यु हो जरूर नहीं क्या ले जाना मैं बीमारी से हुई थी क्योंकि अगले जन्म में हमारी से बदल जाती है इसलिए जिंदगी में पूछने करनी पड़ती है हमारी अक्ल बढ़ती जाती है तो मेरी चाची भी पूरी हो जाती कितनी डिग्री गर्मी हो जाती है धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya ki jo insaan aakhiree samay mein ichchhaen adhooree lekar marata hai ki vah agale janm kee pooja karanee padatee aapako bataana chaahoonga ki jo hamaaree ichchha hotee hai vah har janm mein badalatee rahatee hai padhata tha 20 din mein jo adhooree chaay lekar mrtyu ho jaroor nahin kya le jaana main beemaaree se huee thee kyonki agale janm mein hamaaree se badal jaatee hai isalie jindagee mein poochhane karanee padatee hai hamaaree akl badhatee jaatee hai to meree chaachee bhee pooree ho jaatee kitanee digree garmee ho jaatee hai dhanyavaad

BK. SHYAAM. KARWA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BK. जी का जवाब
Unknown
1:00
नमस्कार आप ने प्रश्न किया कि जो इंसान आखिरी समय में इच्छाएं अधूरी लेकर मरता है कि वह अगले जन्म की पूजा करनी पड़ती आपको बताना चाहूंगा कि जो हमारी इच्छा होती है वह हर जन्म में बदलती रहती है पढ़ता था 20 दिन में जो अधूरी चाय लेकर मृत्यु हो जरूर नहीं क्या ले जाना मैं बीमारी से हुई थी क्योंकि अगले जन्म में हमारी से बदल जाती है इसलिए जिंदगी में पूछने करनी पड़ती है हमारी अक्ल बढ़ती जाती है तो मेरी चाची भी पूरी हो जाती कितनी डिग्री गर्मी हो जाती है धन्यवाद
Namaskaar aap ne prashn kiya ki jo insaan aakhiree samay mein ichchhaen adhooree lekar marata hai ki vah agale janm kee pooja karanee padatee aapako bataana chaahoonga ki jo hamaaree ichchha hotee hai vah har janm mein badalatee rahatee hai padhata tha 20 din mein jo adhooree chaay lekar mrtyu ho jaroor nahin kya le jaana main beemaaree se huee thee kyonki agale janm mein hamaaree se badal jaatee hai isalie jindagee mein poochhane karanee padatee hai hamaaree akl badhatee jaatee hai to meree chaachee bhee pooree ho jaatee kitanee digree garmee ho jaatee hai dhanyavaad

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
1:11
जी हां जो इंसान आखरी समय में इच्छा अधूरी लेकर मरता है तो वह अगले जन्म में भी शिक्षा को पूर्ति पूर्ति अवश्य करनी पड़ती है उसे हर परिस्थिति से गुजर का हर गांव से निकलकर गुणों को पूरा करने के बाद व्यक्ति सफल हो पाता है अर्थात जो व्यक्ति है जो इंसान वाले हैं अधूरी छोड़ कर गया था तो वह जब दोबारा जन्म लेता है तो शेर का इच्छा पूरी करने के बाद ही वह मर सकता इसे महादेवा नहीं मर सकता लेकिन यह हमें पता नहीं रहता पता होता तो केवल ज्योतिष ज्योतिष के लोगों को पता होता उसकी उम्र कितनी उम्र में जो इच्छा है या दूरी थी और जो अब पूर्ण होने वाली है लेकिन यह नहीं बताएंगे कि कैसे पूराना होने वाली है अगर यह जानना तो आप ज्योतिष ज्योतिष की किताब को एवं पंचांग को पढ़ना पड़ेगा
Jee haan jo insaan aakharee samay mein ichchha adhooree lekar marata hai to vah agale janm mein bhee shiksha ko poorti poorti avashy karanee padatee hai use har paristhiti se gujar ka har gaanv se nikalakar gunon ko poora karane ke baad vyakti saphal ho paata hai arthaat jo vyakti hai jo insaan vaale hain adhooree chhod kar gaya tha to vah jab dobaara janm leta hai to sher ka ichchha pooree karane ke baad hee vah mar sakata ise mahaadeva nahin mar sakata lekin yah hamen pata nahin rahata pata hota to keval jyotish jyotish ke logon ko pata hota usakee umr kitanee umr mein jo ichchha hai ya dooree thee aur jo ab poorn hone vaalee hai lekin yah nahin bataenge ki kaise pooraana hone vaalee hai agar yah jaanana to aap jyotish jyotish kee kitaab ko evan panchaang ko padhana padega

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:34
जी हां अंतिम समय में आपकी इच्छाएं होती है ना वह इच्छाएं आपके अगले जन्म में व्यक्ति पीछा नहीं होती है वह इच्छाएं आपके अगले जन्म में भी आपके दिमाग में रहती आपके मन में रहती है मैं समझ नहीं पाता किस तारीख तक क्यों हो रहा है लेकिन समझा जा सकता है
Jee haan antim samay mein aapakee ichchhaen hotee hai na vah ichchhaen aapake agale janm mein vyakti peechha nahin hotee hai vah ichchhaen aapake agale janm mein bhee aapake dimaag mein rahatee aapake man mein rahatee hai main samajh nahin paata kis taareekh tak kyon ho raha hai lekin samajha ja sakata hai

घनश्याम वन Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए घनश्याम जी का जवाब
मंदिर सेवा
0:42
भगवान श्री कृष्ण ने गीता में कहां है सीएम समय में इसके जैसे भाग होते हैं उसे ऐसी ही बनी रहती है यदि हम समझने तुम मेरा नाम जब करोगे मेरे को ही अपना कुछ परेशानी होती है इंसान को पूरे करनी पड़ती है ऐसा शास्त्र में है जो पूजन मानते हैं तो उन्हें इस बात का ध्यान अवश्य होगा
Bhagavaan shree krshn ne geeta mein kahaan hai seeem samay mein isake jaise bhaag hote hain use aisee hee banee rahatee hai yadi ham samajhane tum mera naam jab karoge mere ko hee apana kuchh pareshaanee hotee hai insaan ko poore karanee padatee hai aisa shaastr mein hai jo poojan maanate hain to unhen is baat ka dhyaan avashy hoga

rizwan miya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rizwan जी का जवाब
Unknown
0:12

Dukh mitane ka upay Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dukh जी का जवाब
Unknown
1:07
ना आपने पूछा जो इंसान आगे समय इच्छा अधूरी लेकर मरता है क्या उसे अगले जन्म में शिक्षा को पूर्ति करनी पड़ती है कोई न कोई अच्छा रह जाती है तो मैं दोबारा जन्म यीशु देते जगह से प्राप्त की इच्छा अगर है तो हम इस विधा में चले जाएंगे वैष्णो धाम चले जाएंगे हरे कृष्ण हरे कृष्ण हरे तो भगवान काहे अर्जुन मेरी प्राप्ति की इच्छा करें मतलब सब इच्छाएं छोड़ दो लेकिन सुप्रभात इच्छा को इस अपराध की इच्छा का मतलब मुक्त होने की चकना हरे कृष्णा हरे कृष्णा हरे उनके पास है पीछा करना यह इच्छा आपको सुविधा मिल जाएगी उनके पास है जाएगी हर एक आस्था ऐसी इच्छा छोरी सेलाकुई में घुमाई हरे कृष्ण हरे कृष्ण हरे कृष्ण मैंने काफी ऑडियो प्लेयर नागपुर जौनपुर सुने अपना जीवन सफल बनाएं रेगिस्तानी कसनी कसनी कसनी करें मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं
Na aapane poochha jo insaan aage samay ichchha adhooree lekar marata hai kya use agale janm mein shiksha ko poorti karanee padatee hai koee na koee achchha rah jaatee hai to main dobaara janm yeeshu dete jagah se praapt kee ichchha agar hai to ham is vidha mein chale jaenge vaishno dhaam chale jaenge hare krshn hare krshn hare to bhagavaan kaahe arjun meree praapti kee ichchha karen matalab sab ichchhaen chhod do lekin suprabhaat ichchha ko is aparaadh kee ichchha ka matalab mukt hone kee chakana hare krshna hare krshna hare unake paas hai peechha karana yah ichchha aapako suvidha mil jaegee unake paas hai jaegee har ek aastha aisee ichchha chhoree selaakuee mein ghumaee hare krshn hare krshn hare krshn mainne kaaphee odiyo pleyar naagapur jaunapur sune apana jeevan saphal banaen registaanee kasanee kasanee kasanee karen meree shubhakaamanaen aapake saath hain

jayprakash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए jayprakash जी का जवाब
Unknown
1:33

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:58
आपका सवाल है जो इंसान आखरी समय में इच्छाएं अधूरी लेकर मरता है क्या उसे अगले जन्म में उन इच्छाओं की पूर्ति करनी पड़ती है उसका जवाब आप बोलो कि अगर मैं आपको बता दूं कि इंसान नहीं मरता है ठीक है हम सभी का हाथ में है रात में जो अधूरी इच्छाएं होती है वह अब बता लिए से किसी को आईएएस बनना है यानी कि आई ए एस ऑफिसर बनना है उसे लेकिन इस जन्म में वह आईएएस ऑफिसर नहीं बना लेकिन उन्हें बहुत अच्छी पढ़ाई की और अच्छे से प्रिपरेशन किया लेकिन वह अंत समय में आने की उसकी मौत हो जाती है फिर वह ऐसे नहीं बन पाती तो वह अगले जन्म में बर्थडे फिर से वह अगर आईएएस की प्रिपरेशन करती है तैयारी करते तो फिर से हमें तो उन्होंने आज ही तैयारी कर ली थी तो वह जल्दी जल्दी क्या है मैं तो सेट हो जाएगी ना तो तीनों को देखोगे कि बचपन से ही इंटेलिजेंट होते हैं बचपन से ही अन्य कई लोग कम उम्र में इतनी पढ़ाई कर लेते हैं इतना ज्ञान होता उसके पास आपने देखा हुआ तो वह पिछले जन्म के उनके कुछ गुना कुछ ज्ञान आ गया उसकी इच्छा पूरी हो जाती है फिर आप डॉक्टर बन गया कैसे होता है लेकिन यह सभी के लिए लागू नहीं होता कि सभी अपने अजय अच्छा अच्छा मतलब मैंने अब यह बताना आईएएस की प्रिपरेशन के तारीख के पूरे अच्छे से पूरा मन लगाकर एक लेकिन अंत समय में सेलेक्ट नहीं हो पाई और फिर की मौत हो गई तो अगर अगले जन्म लेती है तो चांस है कि वह बन सकती आयशर के निवासी डॉ कि अगर पढ़ाई कर रही है वह और किसी का जोर नहीं बन पाई बात करो अंत समय की ठीक है और अगर कोई व्यक्ति को यानी को आत्मा पूरे जीवन भर अगर वह सोचता है कि यह करूं और किसी से नहीं करेगा उस पर काम नहीं करेगा तब तक उसे रिजल्ट नहीं मिलेगा और पीछे रह जाती है इच्छा इच्छा तो करना अच्छी बात लेकिन उस पर काम करना मेरी पोस्ट अगर आप काम करोगे इस जन्म में भी तो गया ना मैं उसे तो उसका फल मिले आपको ठीक है तो काम करना मैं नहीं पहुंचा इच्छा तो हो गई आपकी कि आप बड़े आपके पास बड़ी गाड़ी हो घर हो भला हो जाए तो किसी के भी अधिक जैसे कि उसे पूरा करने के लिए आपको काम करना पड़ेगा मेहनत करनी पड़ेगी तभी वह आपको रियल में मिलेगा तुम मेहनत करोगे काम करोगे तो आपकी इच्छा पूरी होगी कहते हैं ना कि गरीब घर में गरीब गरीब गरीब में अगर आप जान मिली हो और गरीब ही मर जाते हो मेरी तुम उसमें आप भी आने की उसका कारण आप ही हो अगर आप गरीब घर में जन्म लेकर फिर करीब ही मरते हो तो फिर आपने कहा क्यों अगर आप बनना चाहते हो अपनी जिंदगी में कुछ कहना चाहते हो तो आज ही से और अभी से उस पर आपको काम करना होगा और इस जिंदगी में जीवन में
Aapaka savaal hai jo insaan aakharee samay mein ichchhaen adhooree lekar marata hai kya use agale janm mein un ichchhaon kee poorti karanee padatee hai usaka javaab aap bolo ki agar main aapako bata doon ki insaan nahin marata hai theek hai ham sabhee ka haath mein hai raat mein jo adhooree ichchhaen hotee hai vah ab bata lie se kisee ko aaeeees banana hai yaanee ki aaee e es ophisar banana hai use lekin is janm mein vah aaeeees ophisar nahin bana lekin unhen bahut achchhee padhaee kee aur achchhe se pripareshan kiya lekin vah ant samay mein aane kee usakee maut ho jaatee hai phir vah aise nahin ban paatee to vah agale janm mein barthade phir se vah agar aaeeees kee pripareshan karatee hai taiyaaree karate to phir se hamen to unhonne aaj hee taiyaaree kar lee thee to vah jaldee jaldee kya hai main to set ho jaegee na to teenon ko dekhoge ki bachapan se hee intelijent hote hain bachapan se hee any kaee log kam umr mein itanee padhaee kar lete hain itana gyaan hota usake paas aapane dekha hua to vah pichhale janm ke unake kuchh guna kuchh gyaan aa gaya usakee ichchha pooree ho jaatee hai phir aap doktar ban gaya kaise hota hai lekin yah sabhee ke lie laagoo nahin hota ki sabhee apane ajay achchha achchha matalab mainne ab yah bataana aaeeees kee pripareshan ke taareekh ke poore achchhe se poora man lagaakar ek lekin ant samay mein selekt nahin ho paee aur phir kee maut ho gaee to agar agale janm letee hai to chaans hai ki vah ban sakatee aayashar ke nivaasee do ki agar padhaee kar rahee hai vah aur kisee ka jor nahin ban paee baat karo ant samay kee theek hai aur agar koee vyakti ko yaanee ko aatma poore jeevan bhar agar vah sochata hai ki yah karoon aur kisee se nahin karega us par kaam nahin karega tab tak use rijalt nahin milega aur peechhe rah jaatee hai ichchha ichchha to karana achchhee baat lekin us par kaam karana meree post agar aap kaam karoge is janm mein bhee to gaya na main use to usaka phal mile aapako theek hai to kaam karana main nahin pahuncha ichchha to ho gaee aapakee ki aap bade aapake paas badee gaadee ho ghar ho bhala ho jae to kisee ke bhee adhik jaise ki use poora karane ke lie aapako kaam karana padega mehanat karanee padegee tabhee vah aapako riyal mein milega tum mehanat karoge kaam karoge to aapakee ichchha pooree hogee kahate hain na ki gareeb ghar mein gareeb gareeb gareeb mein agar aap jaan milee ho aur gareeb hee mar jaate ho meree tum usamen aap bhee aane kee usaka kaaran aap hee ho agar aap gareeb ghar mein janm lekar phir kareeb hee marate ho to phir aapane kaha kyon agar aap banana chaahate ho apanee jindagee mein kuchh kahana chaahate ho to aaj hee se aur abhee se us par aapako kaam karana hoga aur is jindagee mein jeevan mein

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:44
पुराणों और वेदों के अनुसार तह सही कहा गया है कि जब आदमी मरता है और उसकी जिसमें आ सकती रह जाती है यह जो चेहरे जाती है पूर्ण रह जाती है तब पर जाता है उसे अगले जन्म में जन्म लेकर के उन इच्छाओं को पूर्ण करने का अवसर प्राप्त होता है उसी योनि में से जन्म लेना होता है इसके लिए पुराण में को उदाहरण भी गया है मद भागवत में कहा जाता है कि जड़ भरत जो थे उनको एक मृत शिशु से प्रेम था वह मृत शिशु को पालते थे क्योंकि उसकी मां ने चंद दिन के बाद में यूज मर गई थी तो उस मृत शिशु का पालन पोषण जड़ भरत ने किया तो मरते समय भी उनकी यह भावना रही कि मेरे मर जाने के बाद में इस वृक्ष टू का कोई भी देखभाल करने वाला नहीं है यह किस प्रकार संसार के दुखों को सेंड करेगा परिणाम यह हुआ कि उन्हें अगले जन्म में मृत का जन्म लेना पड़ा था तो इससे सिद्ध होता है कि मानव की मरते समय जो इच्छाएं अधूरी होती है अतः होता है उसको अगले जन्म में उन इच्छाओं को पूर्ण करने का समय मिलता है उनके लिए ही उसे उस योनि में जन्म लेना होता है ऐसा कहा जाता है इसलिए आपने देखा हुआ कि मरते समय व्यक्ति से यह कहा जाता है वीर बाबा तेरी कोई इच्छा तो नहीं है तेरी कोई भावना तो नहीं है तो वह सिर्फ इसलिए कहा जाता है कि उसकी उसकी इच्छा को पूर्ण किया जाए परिणाम स्वरूप से उस योनि में दोबारा जन्म नहीं लेना पड़े
Puraanon aur vedon ke anusaar tah sahee kaha gaya hai ki jab aadamee marata hai aur usakee jisamen aa sakatee rah jaatee hai yah jo chehare jaatee hai poorn rah jaatee hai tab par jaata hai use agale janm mein janm lekar ke un ichchhaon ko poorn karane ka avasar praapt hota hai usee yoni mein se janm lena hota hai isake lie puraan mein ko udaaharan bhee gaya hai mad bhaagavat mein kaha jaata hai ki jad bharat jo the unako ek mrt shishu se prem tha vah mrt shishu ko paalate the kyonki usakee maan ne chand din ke baad mein yooj mar gaee thee to us mrt shishu ka paalan poshan jad bharat ne kiya to marate samay bhee unakee yah bhaavana rahee ki mere mar jaane ke baad mein is vrksh too ka koee bhee dekhabhaal karane vaala nahin hai yah kis prakaar sansaar ke dukhon ko send karega parinaam yah hua ki unhen agale janm mein mrt ka janm lena pada tha to isase siddh hota hai ki maanav kee marate samay jo ichchhaen adhooree hotee hai atah hota hai usako agale janm mein un ichchhaon ko poorn karane ka samay milata hai unake lie hee use us yoni mein janm lena hota hai aisa kaha jaata hai isalie aapane dekha hua ki marate samay vyakti se yah kaha jaata hai veer baaba teree koee ichchha to nahin hai teree koee bhaavana to nahin hai to vah sirph isalie kaha jaata hai ki usakee usakee ichchha ko poorn kiya jae parinaam svaroop se us yoni mein dobaara janm nahin lena pade

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • राहु का पूर्व जन्म से संबंध, पूर्व जन्म के पाप, पिछले जन्म में हम क्या थे
URL copied to clipboard