#जीवन शैली

bolkar speaker

मन को दिमाग से कैसे जोड़े?

Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:07
नमस्कार आपका सवाल अंगूरी बाग के कैसे जुड़ेंगे तो दिमाग से जुड़ना थोड़ा मुश्किल है लेकिन आप कोशिश कर सकते हैं कर सकते हैं तो खाने का मन करता है घूमने का मन करता है मन होता है खाने को कुछ खरीदने को तो अगर दिमाग चलता है कि यह तो सही रही है नहीं करेंगे तो सही रहेगा तो मैं काम पर हूं बोलना चाहिए
Namaskaar aapaka savaal angooree baag ke kaise judenge to dimaag se judana thoda mushkil hai lekin aap koshish kar sakate hain kar sakate hain to khaane ka man karata hai ghoomane ka man karata hai man hota hai khaane ko kuchh khareedane ko to agar dimaag chalata hai ki yah to sahee rahee hai nahin karenge to sahee rahega to main kaam par hoon bolana chaahie

और जवाब सुनें

bolkar speaker
मन को दिमाग से कैसे जोड़े?Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
2:58
नमस्कार साथियों सवाल है मन को दिमाग से कैसे जोड़े तो साथियों ज्ञान दृढ़ संकल्प और अभ्यासी अगर जोड़ना है मन को दिमाग से तो ज्ञान दृढ़ संकल्प और अभ्यास से जुड़िए साथियों मैं यह मान कर चल रहा हूं कि दिमाग कहने से आपका आशय बुद्धि से साथियों मन और बुद्धि की लड़ाई अक्सर होती रहती है और यह भी सत्य है कि कमजोर संकल वाले इंसान मन की जो बात होती है अक्सर मर जाते हैं और मन की ही सुनते हैं साथियों दरअसल बुद्धि और मन हमारे अंतःकरण के चार सूक्ष्म विभागों में दो विभाग है अन्य दो विभागों चिंतन और अहंकार संक्षेप में कहें तो यह हम जो कुछ भी करते हैं उसका निर्णय हमारा अंतःकरण यानी उसके चारों विभाग मिलकर करते हैं साथियों मन हमारी इंद्रियों द्वारा देखी सुनी या किसी अन्य प्रकार से महसूस की गई क्रिया या पदार्थ को करने या पाने की इच्छा करता है साथियों बुद्धि इस बात का विश्लेषण करती है कि मन की इच्छा पूर्ति होनी चाहिए या नहीं और अगर होनी चाहिए तो कैसे होनी चाहिए चिता हमारे द्वारा पिछले अनुभव और अन्य स्रोतों से प्राप्त ज्ञान के आधार पर एकत्रित हुई जानकारी अंकित करता है साथियों चित्र में अंकित जानकारी का उपयोग बुद्धि द्वारा मन की इच्छा का विश्लेषण आवश्यकता और क्षमता के आधार पर होता है साथियों कार्य को कर डाल दे या न करने का निर्णय होता है मन और बुद्धि के बीच होने वाली कसमस को विवेक क्रिया करती है साथियों अगर हम अपने विवेक से काम नहीं लेंगे तो फिर बुद्धि के आगे मनजीत जाएगा और विवेक क्रिया के पश्चात आए निर्णय के आधार पर अहंकार कर्म इंद्रियों माध्यम के माध्यम से मन की इच्छा पूर्ति के लिए आवश्यक करता है इसलिए साथियों हम साफ स्पष्ट बातों में आपको कहना चाहेंगे कि आप हमेशा बुद्धि की सुनो और मन की बातों को आप अपने दिमाग से बुद्धि से सोचिए कि हां या करने लायक है या नहीं अगर करने लायक है तो कीजिए वरना मत कीजिए आई हो कि जवाब पसंद है
Namaskaar saathiyon savaal hai man ko dimaag se kaise jode to saathiyon gyaan drdh sankalp aur abhyaasee agar jodana hai man ko dimaag se to gyaan drdh sankalp aur abhyaas se judie saathiyon main yah maan kar chal raha hoon ki dimaag kahane se aapaka aashay buddhi se saathiyon man aur buddhi kee ladaee aksar hotee rahatee hai aur yah bhee saty hai ki kamajor sankal vaale insaan man kee jo baat hotee hai aksar mar jaate hain aur man kee hee sunate hain saathiyon darasal buddhi aur man hamaare antahkaran ke chaar sookshm vibhaagon mein do vibhaag hai any do vibhaagon chintan aur ahankaar sankshep mein kahen to yah ham jo kuchh bhee karate hain usaka nirnay hamaara antahkaran yaanee usake chaaron vibhaag milakar karate hain saathiyon man hamaaree indriyon dvaara dekhee sunee ya kisee any prakaar se mahasoos kee gaee kriya ya padaarth ko karane ya paane kee ichchha karata hai saathiyon buddhi is baat ka vishleshan karatee hai ki man kee ichchha poorti honee chaahie ya nahin aur agar honee chaahie to kaise honee chaahie chita hamaare dvaara pichhale anubhav aur any sroton se praapt gyaan ke aadhaar par ekatrit huee jaanakaaree ankit karata hai saathiyon chitr mein ankit jaanakaaree ka upayog buddhi dvaara man kee ichchha ka vishleshan aavashyakata aur kshamata ke aadhaar par hota hai saathiyon kaary ko kar daal de ya na karane ka nirnay hota hai man aur buddhi ke beech hone vaalee kasamas ko vivek kriya karatee hai saathiyon agar ham apane vivek se kaam nahin lenge to phir buddhi ke aage manajeet jaega aur vivek kriya ke pashchaat aae nirnay ke aadhaar par ahankaar karm indriyon maadhyam ke maadhyam se man kee ichchha poorti ke lie aavashyak karata hai isalie saathiyon ham saaph spasht baaton mein aapako kahana chaahenge ki aap hamesha buddhi kee suno aur man kee baaton ko aap apane dimaag se buddhi se sochie ki haan ya karane laayak hai ya nahin agar karane laayak hai to keejie varana mat keejie aaee ho ki javaab pasand hai

bolkar speaker
मन को दिमाग से कैसे जोड़े?Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:10
आपका सवाल है मन को दिमाग से कैसे जुड़े देखे हमें समझना होगा मन और दिमाग अलग अलग ए दिमाग को हम बुद्धि बोलते हैं मन को माइंड बोलते हैं बुद्धि को अधिक दिमाग को ब्रेन बोलते हैं ब्रेड और माइंड दोनों अलग-अलग है आपको यह बात याद रखना ब्रेन मतलब कि जो शरीर में जो ब्रेन है ना दिमाग मांसपेशियों से निदान सेक्स हार्मोन की जो भी है वह ब्रेन साइड में जो स्थित है ब्रेन ठीक है और मन के आगमन के बारे में जाने हम सभी को पता है मैं आपको ही पता नहीं कि हम सब कौन हैं हम सभी एक आत्मा है आत्मा एनर्जी पॉइंट ऑफ लाइफ दो कि आज तक के मध्य स्थित है और इससे को चलाती है हम सभी गांवों में ही है आत्मा की स्थिति क्या है मन और मन से हम लोग सोचते हैं जो व्यवस्था हॉट प्लेट करते हो आपके मन से चैट करता हूं मन से आप जो भी सोचते हो तो बुद्धि कैसे जान लेती है और और उसके वैसा ही आप ऐसे ही प्रभाव पड़ता हमारे पास जो भी आप सोचोगे वैसे आपके शरीर में केमिकल्स बनेंगे वैसे आपकी लाइफ में होगा जैसा सोचोगे जैसा आप थोड़ा चेक करके भाई साहब की लाइफ बनेगी अगर आपके होंठ क्वालिटी अच्छी हो तो आपकी लाइफ बहुत अच्छी होगी यह बात आप लिखकर रख लो तो मन और दिमाग अलग अलग है भाई आप याद रखेंगे ठीक है मौत के बाद मंथ मंथ जारी किया था कि सकती है बहुत कलात्मक धारण कर लेती है और दिमाग दिमाग तो ऐसे ही नहीं रह जाता है ठीक है दिमाग और मन मतलब माइंड माइंड आत्मा की शक्ति है जिससे हम सोचते हैं सोच रहे हैं आप जो भी थॉट लेकर तो वह मंत्री करते हो आप वहां भी समझ ली दोनों अलग-अलग कुछ उन दोनों को छोड़ नहीं सकते हैं दोनों को गुड का दिमाग मानव बुद्धि तूने क्या करना है तो आकर के लिए आंखों में एडमिशन करना होगा मैं कसम से आपके मन और बुद्धि पर आप को कंट्रोल रहेगा और अब जो भी काम करना चाहते वह कर सकते हो तो आप फिल्म स्टेशन का नाम और आप मन और बुद्धि को शांत करना चाहते हो फिर आकर्षित करना चाहते हो तो स्टेशन कंपास देने के लिए डायवर्सिफिकेशन करना है आपको अच्छा लगा होगा ठीक है
Aapaka savaal hai man ko dimaag se kaise jude dekhe hamen samajhana hoga man aur dimaag alag alag e dimaag ko ham buddhi bolate hain man ko maind bolate hain buddhi ko adhik dimaag ko bren bolate hain bred aur maind donon alag-alag hai aapako yah baat yaad rakhana bren matalab ki jo shareer mein jo bren hai na dimaag maansapeshiyon se nidaan seks haarmon kee jo bhee hai vah bren said mein jo sthit hai bren theek hai aur man ke aagaman ke baare mein jaane ham sabhee ko pata hai main aapako hee pata nahin ki ham sab kaun hain ham sabhee ek aatma hai aatma enarjee point oph laiph do ki aaj tak ke madhy sthit hai aur isase ko chalaatee hai ham sabhee gaanvon mein hee hai aatma kee sthiti kya hai man aur man se ham log sochate hain jo vyavastha hot plet karate ho aapake man se chait karata hoon man se aap jo bhee sochate ho to buddhi kaise jaan letee hai aur aur usake vaisa hee aap aise hee prabhaav padata hamaare paas jo bhee aap sochoge vaise aapake shareer mein kemikals banenge vaise aapakee laiph mein hoga jaisa sochoge jaisa aap thoda chek karake bhaee saahab kee laiph banegee agar aapake honth kvaalitee achchhee ho to aapakee laiph bahut achchhee hogee yah baat aap likhakar rakh lo to man aur dimaag alag alag hai bhaee aap yaad rakhenge theek hai maut ke baad manth manth jaaree kiya tha ki sakatee hai bahut kalaatmak dhaaran kar letee hai aur dimaag dimaag to aise hee nahin rah jaata hai theek hai dimaag aur man matalab maind maind aatma kee shakti hai jisase ham sochate hain soch rahe hain aap jo bhee thot lekar to vah mantree karate ho aap vahaan bhee samajh lee donon alag-alag kuchh un donon ko chhod nahin sakate hain donon ko gud ka dimaag maanav buddhi toone kya karana hai to aakar ke lie aankhon mein edamishan karana hoga main kasam se aapake man aur buddhi par aap ko kantrol rahega aur ab jo bhee kaam karana chaahate vah kar sakate ho to aap philm steshan ka naam aur aap man aur buddhi ko shaant karana chaahate ho phir aakarshit karana chaahate ho to steshan kampaas dene ke lie daayavarsiphikeshan karana hai aapako achchha laga hoga theek hai

bolkar speaker
मन को दिमाग से कैसे जोड़े?Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
BK. SHYAAM. KARWA Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए BK. जी का जवाब
Unknown
1:55
नमस्कार आपने पसंद किया है कि मन को दिमाग से कैसे जोड़े तो देखी मन को दिमाग से तो भी जोड़ा जा सकता है जब मन शांत और ऐसा तभी हो सकता है जब राम योग्य ध्यान करते हुए ध्यान करता है और दिमाग को कंट्रोल करना सीख जाते हैं दोनों को एक साथ जोड़ लेते दिल में दिमाग कुछ भी सोचता है तो मन पर प्रभाव पड़ता है किंतु मन कुछ भी सोचता है तो उसके दिमाग पर बहुत ही गहरा क्योंकि हमारे मन दिमाग की कंट्रोल में नहीं रहता है कि दिमाग मन की कर दो जबकि मंदसौर में अपनी मनमानी से कुछ भी सोच सकते हैं इसलिए दोनों का ध्यान करते हैं उनको आप से जोड़ लेते हैं और फिर वह अपनी इच्छा अनुसार ऐसा सोचना चाहिए वैसा सोचते हैं और मन को विश्व शांति रख बात है इसलिए आप भी अपने मन को और दिमाग तो इच्छा जो देखना चाहते हैं तथा ध्यान रखना चाहते हैं जो आपको याद तो क्या सीखना होगा यही काम करते हैं इन दोनों की जिंदगी आप एक सफल व्यक्ति भी बनेंगे क्योंकि मन और दिमाग को जो व्यक्ति कंट्रोल करना सीख जाते हैं वह हमेशा खुश ही रहता है और प्रसन्न रहता हूं वकील से गाजीपुर जाने ध्यान दें
Namaskaar aapane pasand kiya hai ki man ko dimaag se kaise jode to dekhee man ko dimaag se to bhee joda ja sakata hai jab man shaant aur aisa tabhee ho sakata hai jab raam yogy dhyaan karate hue dhyaan karata hai aur dimaag ko kantrol karana seekh jaate hain donon ko ek saath jod lete dil mein dimaag kuchh bhee sochata hai to man par prabhaav padata hai kintu man kuchh bhee sochata hai to usake dimaag par bahut hee gahara kyonki hamaare man dimaag kee kantrol mein nahin rahata hai ki dimaag man kee kar do jabaki mandasaur mein apanee manamaanee se kuchh bhee soch sakate hain isalie donon ka dhyaan karate hain unako aap se jod lete hain aur phir vah apanee ichchha anusaar aisa sochana chaahie vaisa sochate hain aur man ko vishv shaanti rakh baat hai isalie aap bhee apane man ko aur dimaag to ichchha jo dekhana chaahate hain tatha dhyaan rakhana chaahate hain jo aapako yaad to kya seekhana hoga yahee kaam karate hain in donon kee jindagee aap ek saphal vyakti bhee banenge kyonki man aur dimaag ko jo vyakti kantrol karana seekh jaate hain vah hamesha khush hee rahata hai aur prasann rahata hoon vakeel se gaajeepur jaane dhyaan den

bolkar speaker
मन को दिमाग से कैसे जोड़े?Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:23
नमस्कार आपका प्रश्न है मन को दिमाग से कैसे जुड़े हमको अपने मन को 18 के चित्र करना होगा तभी वह दिमाग से जुड़ पाएगा हम जो भी मन में सोचते हैं वह अपने दिमाग से करें तो वे जुड़ पाएगा मन में सोचने वाले जो विचार आते हैं उनको हमको दिमाग से अपने हल करना है तो हम दिमाग से जुड़ पाएंगे धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai man ko dimaag se kaise jude hamako apane man ko 18 ke chitr karana hoga tabhee vah dimaag se jud paega ham jo bhee man mein sochate hain vah apane dimaag se karen to ve jud paega man mein sochane vaale jo vichaar aate hain unako hamako dimaag se apane hal karana hai to ham dimaag se jud paenge dhanyavaad

bolkar speaker
मन को दिमाग से कैसे जोड़े?Mann Ko Dimag Se Kaise Jode
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:34
ने पूछा क्या मन को दिमाग से कैसे चोदे के मन को दिमाग से आप आसानी से जोड़ सकते हो मैं आपको बता दूं मेरा भी बहुत कुछ मन करता है मेरे भी कुछ ख्वाहिश होते मेरे भी कुछ सपने होते हैं लेकिन उसको मैं दिमाग में ऐसे जोड़ता हूं कि यार सपने तो पूरे होंगे लेकिन वह चीज होने चाहिए सपने पूरे करने से कहीं घूमने जाना है तो पैसे होने चाहिए तो उस पैसे के लिए सबसे पहले तो हम को कम आना चाहिए हमें बचाना चाहिए पैसे की बचत तो मैं बताता हूं मैं घूमता हूं तब मैं अपने मन को पूरा करता हूं तो मन तो हर इंसान कभी क्या करता है कुछ ना कुछ करने का लेकिन कभी-कभी क्या है कि मन को कंट्रोल करना पड़ता है तो कंट्रोल करिए दिमाग में यह सोचे कि मैं क्यों करना चाहता हूं इसलिए आपका घूमने का शौक आप घूमने तो घूमने के लिए पैसे चाहिए तो पैसे आप पहले व्यवस्थित करिए पहले आप कमाइए अब आप किसी से अगर उधार लेंगे उधार लेकर घूमेंगे तो आपको उसको देना पड़ेगा पैसा उसको देने के लिए आपको पहले कम आना पड़ेगा डिस्प्ले सबसे पहले आप कमाल है अपने माइंड में यह सोचे कि मुझे पहले कंट्रोल करना मन को कंट्रोल करना है मन को आपको थोड़ा बनाना है कि चलो अभी नहीं बाद में कर लेते हैं और जो चीज देखी करने लायक है उस चीज को करी है जैसे कोई काम है आप सोच रहे हैं कि कल परसो नर्सों करना है दो-चार दिन बात करना नहीं उसको सोचिए कि अगर मेरे पास अभी समय है तो आप समय का प्रयोग करके उसको काम कर सकते मतलब यह मैं कहने का मतलब है कि आप समय की बर्बादी ना करें समय का इस्तेमाल करें आपका मन कर रहा है कहीं घूमने का तो लेकिन उसके लिए आप समय निकालें दिमाग में यह लाए कि मुझे करना क्यों है मुझे मतलब अपने टाइम को वेस्ट नहीं करना जिस दिन आप समझ लेंगे कि मुझे टाइम को वेस्ट नहीं करना है उसका अच्छे से इस्तेमाल करना उस दिन देखिए आप का मन नहीं करेगा आप समय को सोचे कि समय दी कि सबके पास एक टाइम मिलता है 24 घंटे मिलते हैं तो उस 24 घंटे का आप अच्छे से प्रयोग करें और जब आपके पास समय रहेगा आप अपने मन को भी पूरा कर लोगे तो इस चीज को दिमाग में लाएं और मेरा भी देखी वह कुछ मन करता लेकिन उस चीज को मैं कंट्रोल कर दो कंट्रोल करने के लिए आप एक्सरसाइज करें और आप कुछ अच्छे मोटिवेशनल वीडियो देखिए आपको सीखने को मिलेगा बोलकर में बने रहे जवाब मिलते रहेंगे आपको और आप जो मन में आए वो कंट्रोल करने की क्षमता आपको आ जाएगी उस दिन देखिए आपके साथ सब अच्छा ही होगा जैसे मैं भी अपने मन को इतना कंट्रोल करता हूं मेरे लिए देखिए वही चीज है जब मुझे लगता है कि हां अच्छी चीज तो उसको मैं पूरा भी करता हूं लेकिन मन में इतना भी नहीं हूं सोचता हूं मुझे वह चाहिए जो चाहिए नहीं कंट्रोल करना आना चाहिए मुझको चेंजर भारत
Ne poochha kya man ko dimaag se kaise chode ke man ko dimaag se aap aasaanee se jod sakate ho main aapako bata doon mera bhee bahut kuchh man karata hai mere bhee kuchh khvaahish hote mere bhee kuchh sapane hote hain lekin usako main dimaag mein aise jodata hoon ki yaar sapane to poore honge lekin vah cheej hone chaahie sapane poore karane se kaheen ghoomane jaana hai to paise hone chaahie to us paise ke lie sabase pahale to ham ko kam aana chaahie hamen bachaana chaahie paise kee bachat to main bataata hoon main ghoomata hoon tab main apane man ko poora karata hoon to man to har insaan kabhee kya karata hai kuchh na kuchh karane ka lekin kabhee-kabhee kya hai ki man ko kantrol karana padata hai to kantrol karie dimaag mein yah soche ki main kyon karana chaahata hoon isalie aapaka ghoomane ka shauk aap ghoomane to ghoomane ke lie paise chaahie to paise aap pahale vyavasthit karie pahale aap kamaie ab aap kisee se agar udhaar lenge udhaar lekar ghoomenge to aapako usako dena padega paisa usako dene ke lie aapako pahale kam aana padega disple sabase pahale aap kamaal hai apane maind mein yah soche ki mujhe pahale kantrol karana man ko kantrol karana hai man ko aapako thoda banaana hai ki chalo abhee nahin baad mein kar lete hain aur jo cheej dekhee karane laayak hai us cheej ko karee hai jaise koee kaam hai aap soch rahe hain ki kal paraso narson karana hai do-chaar din baat karana nahin usako sochie ki agar mere paas abhee samay hai to aap samay ka prayog karake usako kaam kar sakate matalab yah main kahane ka matalab hai ki aap samay kee barbaadee na karen samay ka istemaal karen aapaka man kar raha hai kaheen ghoomane ka to lekin usake lie aap samay nikaalen dimaag mein yah lae ki mujhe karana kyon hai mujhe matalab apane taim ko vest nahin karana jis din aap samajh lenge ki mujhe taim ko vest nahin karana hai usaka achchhe se istemaal karana us din dekhie aap ka man nahin karega aap samay ko soche ki samay dee ki sabake paas ek taim milata hai 24 ghante milate hain to us 24 ghante ka aap achchhe se prayog karen aur jab aapake paas samay rahega aap apane man ko bhee poora kar loge to is cheej ko dimaag mein laen aur mera bhee dekhee vah kuchh man karata lekin us cheej ko main kantrol kar do kantrol karane ke lie aap eksarasaij karen aur aap kuchh achchhe motiveshanal veediyo dekhie aapako seekhane ko milega bolakar mein bane rahe javaab milate rahenge aapako aur aap jo man mein aae vo kantrol karane kee kshamata aapako aa jaegee us din dekhie aapake saath sab achchha hee hoga jaise main bhee apane man ko itana kantrol karata hoon mere lie dekhie vahee cheej hai jab mujhe lagata hai ki haan achchhee cheej to usako main poora bhee karata hoon lekin man mein itana bhee nahin hoon sochata hoon mujhe vah chaahie jo chaahie nahin kantrol karana aana chaahie mujhako chenjar bhaarat

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • मन को एकाग्र कैसे करे, मन को केंद्रित कैसे करे, मन को कंट्रोल करने का मंत्र
URL copied to clipboard