#भारत की राजनीति

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:17
तो आज आप का सवाल है कि पुराने समय में डाकू अमीरों को लूट कर गरीबों में बांट देते थे बीजेपी सरकार गरीबों को लूट कर अमीरों में बांट रहे हैं तू दिखे बाकी में पहले ऐसा होता है कि मतलब देवी डाकू लोग होते थे इधर से उधर चोरी करना डालना लेकिन क्लास में पता चलता है कि उन पैसों का जो भी चीज है वह ज्वेलरी क्यों ना हो उसको गरीबों में बांट देते थे एक पल के लिए सोचते थे उनके किसी घर में चोरी आंखें डाका डाला गया है लेकिन लास्ट में पता चलता है कि गरीबों में बांट दिया जाता था तो अच्छा भी लगता था आजकल भीम इस बात से पूरी तरह से सहमत हूं कि कि नहीं थी इस महामारी में बहुत सारे मतलब लोग जॉब लेस हो गए हैं लोगों की नौकरियां चले गए और अभी भी वह नौकरी की तलाश में नहीं मिल पा रहा लेकिन नहीं आपने बॉलीवुड या फिर बिजनेस फिर भी देखे शूटिंग चल रहा है आप फिल्में बना रहे हैं उनका कामकाज ऐसा था मैं वैसे ही चलने लगा लेकिन हम जो गरीब लोग हैं उनको ही काम मिलने में और फिर अपना ही काम जो हम लोग से आ गया या फिर हम जहां से हट गया है इस महामारी के वजह से आज वही काम में फिर से दोबारा नहीं जा पा रहे हैं इस हिसाब से देखें अमीर और अमीर होता भी जाएगा वह भी राय और गरीब और गरीब कोई ऐसी चीजों को देखकर आपने बिल्कुल सही कहा कि गरीबों को लूट कर अमीर और अमीर हो रहे हैं यह बात तो मैं भी पूरी तरह से सहमत हूं मेरे हिसाब से अमीर लोग क्या 9 किलो में और एक फ्लैट में पैसे आ चुके हैं कि हम वहां पर अच्छे से काम कर रहे हैं लेकिन मेरे हिसाब से हम गरीबों को और हम मिडिल क्लास लोगों को जो 24 लोगों को पूरा ऊपर लाना चाहिए कामकाज देना चाहिए अखिलेश 2021 तो हम लोग मतलब खुद को दे पाए तो यह चीज मेरी सबसे सरकार को सोचना चाहिए
To aaj aap ka savaal hai ki puraane samay mein daakoo ameeron ko loot kar gareebon mein baant dete the beejepee sarakaar gareebon ko loot kar ameeron mein baant rahe hain too dikhe baakee mein pahale aisa hota hai ki matalab devee daakoo log hote the idhar se udhar choree karana daalana lekin klaas mein pata chalata hai ki un paison ka jo bhee cheej hai vah jvelaree kyon na ho usako gareebon mein baant dete the ek pal ke lie sochate the unake kisee ghar mein choree aankhen daaka daala gaya hai lekin laast mein pata chalata hai ki gareebon mein baant diya jaata tha to achchha bhee lagata tha aajakal bheem is baat se pooree tarah se sahamat hoon ki ki nahin thee is mahaamaaree mein bahut saare matalab log job les ho gae hain logon kee naukariyaan chale gae aur abhee bhee vah naukaree kee talaash mein nahin mil pa raha lekin nahin aapane boleevud ya phir bijanes phir bhee dekhe shooting chal raha hai aap philmen bana rahe hain unaka kaamakaaj aisa tha main vaise hee chalane laga lekin ham jo gareeb log hain unako hee kaam milane mein aur phir apana hee kaam jo ham log se aa gaya ya phir ham jahaan se hat gaya hai is mahaamaaree ke vajah se aaj vahee kaam mein phir se dobaara nahin ja pa rahe hain is hisaab se dekhen ameer aur ameer hota bhee jaega vah bhee raay aur gareeb aur gareeb koee aisee cheejon ko dekhakar aapane bilkul sahee kaha ki gareebon ko loot kar ameer aur ameer ho rahe hain yah baat to main bhee pooree tarah se sahamat hoon mere hisaab se ameer log kya 9 kilo mein aur ek phlait mein paise aa chuke hain ki ham vahaan par achchhe se kaam kar rahe hain lekin mere hisaab se ham gareebon ko aur ham midil klaas logon ko jo 24 logon ko poora oopar laana chaahie kaamakaaj dena chaahie akhilesh 2021 to ham log matalab khud ko de pae to yah cheej meree sabase sarakaar ko sochana chaahie

और जवाब सुनें

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:00
राजेश माता को मिलो गुटका गरीबों में बांट देते थे बीजेपी सरकार गरीबों को लूट कर नाम भी रूम में बांट रहे थे कि किसानों का मुद्दा जो है वह भी बहुत ज्यादा हाइलाइटेड किसानों का मुद्दा ही पूरी तरह से चालू नहीं हुआ है कि आपका सकते हैं लेकिन एक्चुअली में मोदी की सरकार काम अच्छा कर रही है मोदी जी ऐसा नहीं कि खराब कर रही है मुस्लिम के लिए तीन तलाक का नियम बदला उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक किया और करुणा काल में बहुत पेशेंस रखकर बहुत सही डिसीजन लिया मोदी जी ने तो आज आंकड़ा मौत का और इन्फेक्शन का कहीं ज्यादा रहता है तो मोदी जी खराब काम नहीं कर रही है बस एक किसान का मुद्दा थोड़ा बड़ा है इसको टाइम लग रहा था
Raajesh maata ko milo gutaka gareebon mein baant dete the beejepee sarakaar gareebon ko loot kar naam bhee room mein baant rahe the ki kisaanon ka mudda jo hai vah bhee bahut jyaada hailaited kisaanon ka mudda hee pooree tarah se chaaloo nahin hua hai ki aapaka sakate hain lekin ekchualee mein modee kee sarakaar kaam achchha kar rahee hai modee jee aisa nahin ki kharaab kar rahee hai muslim ke lie teen talaak ka niyam badala unhonne sarjikal straik kiya aur karuna kaal mein bahut peshens rakhakar bahut sahee diseejan liya modee jee ne to aaj aankada maut ka aur inphekshan ka kaheen jyaada rahata hai to modee jee kharaab kaam nahin kar rahee hai bas ek kisaan ka mudda thoda bada hai isako taim lag raha tha

Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:38
जी ने अपने किस हिसाब से कहा है वह तो मैं समझ में नहीं आया क्योंकि जब नोट बंदी हुई थी तब भी किसी गरीब का कोई नुकसान नहीं हुआ ठीक है जो गरीब था वो इसी बात से खुश था क्योंकि उसका नाम तो कोई पैसा नहीं हुआ ना कोई उसका यह हुआ कि मेरा पैसा मारा गया ना उसे एक नंबर में दिखाया ना दो नंबर में दिखाया आज की डेट में जो लोन ले रहे हैं मुद्रा से फायदे में हो रहे हैं अब देखिए बहुत से लोग कहते हैं मैं तो मिले नहीं होता क्या है इन में कागजी कार्रवाई करानी पड़ती है तो आदमी क्या सोचता है कि मुझे घर बैठे बैठे सारे काम हो जाए वह पॉसिबल नहीं है जब थोड़ी बहुत बड़ी होती है तो काम हो जाता है
Jee ne apane kis hisaab se kaha hai vah to main samajh mein nahin aaya kyonki jab not bandee huee thee tab bhee kisee gareeb ka koee nukasaan nahin hua theek hai jo gareeb tha vo isee baat se khush tha kyonki usaka naam to koee paisa nahin hua na koee usaka yah hua ki mera paisa maara gaya na use ek nambar mein dikhaaya na do nambar mein dikhaaya aaj kee det mein jo lon le rahe hain mudra se phaayade mein ho rahe hain ab dekhie bahut se log kahate hain main to mile nahin hota kya hai in mein kaagajee kaarravaee karaanee padatee hai to aadamee kya sochata hai ki mujhe ghar baithe baithe saare kaam ho jae vah posibal nahin hai jab thodee bahut badee hotee hai to kaam ho jaata hai

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk जी का जवाब
Student
0:38
किसी ने फूल से पूछा है कि पुराने समय में डाकू अमीरों को लूट कर गरीबों में बांट देते थे बीजेपी सरकार गरीबों को लूट कर आमिर ओम बांट रही है जी हां बिल्कुल सही है पुराने समय में डाकू चूरियां करके आते थे और बड़े-बड़े जो पैसे वाले उनके घर से लूट के गरीबों में बांट देते बट यह सरकार जो बीजेपी है वह गरीबों को लूट कर अमीरों में बांट रही है हम गरीबों के साथ बहुत ही अन्याय कर रही है ऐसा नहीं करना चाहिए जो कानून के विरुद्ध है और होती अश्वनी यह घटना है जिसकी निंदा नहीं की जा सकती होती गलत नहीं चाहिए
Kisee ne phool se poochha hai ki puraane samay mein daakoo ameeron ko loot kar gareebon mein baant dete the beejepee sarakaar gareebon ko loot kar aamir om baant rahee hai jee haan bilkul sahee hai puraane samay mein daakoo chooriyaan karake aate the aur bade-bade jo paise vaale unake ghar se loot ke gareebon mein baant dete bat yah sarakaar jo beejepee hai vah gareebon ko loot kar ameeron mein baant rahee hai ham gareebon ke saath bahut hee anyaay kar rahee hai aisa nahin karana chaahie jo kaanoon ke viruddh hai aur hotee ashvanee yah ghatana hai jisakee ninda nahin kee ja sakatee hotee galat nahin chaahie

आचार्य समशेरसिंह यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए आचार्य जी का जवाब
हिन्दी/संस्कृत व्याख्याता और वास्तुविद्
0:59
नमस्कार आपका प्रश्न है कि पुराने समय में डाकू अमीरों को लूट कर गरीबों में बांट देते क्या यह सत्य है लेकिन वास्तव में सत्य है उन लोगों के मन में रहेम था उन लोगों के मन में आस्था थी को ईश्वर के अंदर विश्वास करने वाले होते थे और यह सारे इस कारण से को ईश्वर से डरते थे इसी वजह से वह एक धार्मिक प्रवृत्ति में लूट जरूर करते थे लेकिन वह धार्मिक पर्दे के अंदर करते थे जिससे उनको भगवान माफ कर सके अर्थात उनको इसका दोस्त ना मिले तो काफी बेहतरीन लूट जो उनकी थी आज की लूट से बहुत ही सही थी हालांकि लूट कभी भी सही नहीं होती है लेकिन इस हिसाब से आज से 100 गुना अच्छी थी धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai ki puraane samay mein daakoo ameeron ko loot kar gareebon mein baant dete kya yah saty hai lekin vaastav mein saty hai un logon ke man mein rahem tha un logon ke man mein aastha thee ko eeshvar ke andar vishvaas karane vaale hote the aur yah saare is kaaran se ko eeshvar se darate the isee vajah se vah ek dhaarmik pravrtti mein loot jaroor karate the lekin vah dhaarmik parde ke andar karate the jisase unako bhagavaan maaph kar sake arthaat unako isaka dost na mile to kaaphee behatareen loot jo unakee thee aaj kee loot se bahut hee sahee thee haalaanki loot kabhee bhee sahee nahin hotee hai lekin is hisaab se aaj se 100 guna achchhee thee dhanyavaad

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:58
नहीं बिटिया का बहन है हां यह ससुर की बात आपने बिल्कुल सही लिखी है तो पुराने समय में जो कुछ धार्मिक भक्ति से परिपूर्ण डकैत थे भी अमीरों को लूटते थे और गरीबों में बांट देते थे तभी समाजीकरण का कार्य करते थे लेकिन वर्तमान की जो आप बीजेपी सरकार को गरीबों की लूट करने वाला बता रहे हैं मेरे विचार से शायद ये आपका पक्षपात पूर्ण निर्णय है किसी पार्टी विशेष के प्रति दुराग्रह आपके विचार यह बता रहे हैं कि आप किसी पार्टी विशेष के प्रति लगाव रखते हैं जबकि आपने स्वक्षता से यदि सोचेंगे तो हम भी मानता हूं इस बात से इंकार नहीं कर रहा हूं कि बेरोजगारी महंगाई और गरीबी बदस्तूर भारत में जारी है जो बीजेपी ने दूर करने का वायदा किया था इस वायदे को पूरा नहीं कर पाए हैं लेकिन एक बात जरूर निष्पक्ष भारतीय दल की रात विचार कर सकते हैं जो गबन घोटाले रिश्वतखोरी भ्रष्टाचार कांग्रेस के समय में देश था तो वह बीजेपी के समय में 19 हुआ है इस बात से इंकार नहीं कर सकते हो आप निष्पक्ष भारतीय की तरह कंपेयर कीजिए हां यह सत्य है गरीबी बेरोजगारी महंगाई कांग्रेस के समय भी बहुत ज्यादा थी और बीजेपी वालों की नई 20 कोई कार्य नहीं किया है आज भी महंगाई गरीबी और बेरोजगारी ने आम जनता की कमर को तोड़ रखा है इस बात से इंकार नहीं कर सकते
Nahin bitiya ka bahan hai haan yah sasur kee baat aapane bilkul sahee likhee hai to puraane samay mein jo kuchh dhaarmik bhakti se paripoorn dakait the bhee ameeron ko lootate the aur gareebon mein baant dete the tabhee samaajeekaran ka kaary karate the lekin vartamaan kee jo aap beejepee sarakaar ko gareebon kee loot karane vaala bata rahe hain mere vichaar se shaayad ye aapaka pakshapaat poorn nirnay hai kisee paartee vishesh ke prati duraagrah aapake vichaar yah bata rahe hain ki aap kisee paartee vishesh ke prati lagaav rakhate hain jabaki aapane svakshata se yadi sochenge to ham bhee maanata hoon is baat se inkaar nahin kar raha hoon ki berojagaaree mahangaee aur gareebee badastoor bhaarat mein jaaree hai jo beejepee ne door karane ka vaayada kiya tha is vaayade ko poora nahin kar pae hain lekin ek baat jaroor nishpaksh bhaarateey dal kee raat vichaar kar sakate hain jo gaban ghotaale rishvatakhoree bhrashtaachaar kaangres ke samay mein desh tha to vah beejepee ke samay mein 19 hua hai is baat se inkaar nahin kar sakate ho aap nishpaksh bhaarateey kee tarah kampeyar keejie haan yah saty hai gareebee berojagaaree mahangaee kaangres ke samay bhee bahut jyaada thee aur beejepee vaalon kee naee 20 koee kaary nahin kiya hai aaj bhee mahangaee gareebee aur berojagaaree ne aam janata kee kamar ko tod rakha hai is baat se inkaar nahin kar sakate

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:54
आपका मोहरा बड़ा सही है पुराने समय में डाकू लोग अमीरों को लोड कर करीब उनकी मदद किया करते थे वह अपने समुदाय के लोगों की बात करते थे तो क्या लेकिन गरीबों की मदद करते थे लेकिन बीजेपी सरकार ने एक का उल्टा कर दिया है गरीबों को लूट गई है अमीरों को बढ़ावा दे रहे हैं हम लोगों की कमी है उसमें हम लोग इसके जिम्मेदार है ना कि भाजपा वाले जिम्मेदार है कोई जिम्मेदार है हमने इनको गद्दी पर बैठाया है हमने अपना सब कुछ अधिकारों के को दे दिया है फोटो लूटने का मौका हमने दिया है हम को सुधारना होगा किसी दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने से कुछ नहीं होगा हम अपने आप को सुधारो तब यह देश सुधर जाएगा सब कुछ सही हो जाएगा
Aapaka mohara bada sahee hai puraane samay mein daakoo log ameeron ko lod kar kareeb unakee madad kiya karate the vah apane samudaay ke logon kee baat karate the to kya lekin gareebon kee madad karate the lekin beejepee sarakaar ne ek ka ulta kar diya hai gareebon ko loot gaee hai ameeron ko badhaava de rahe hain ham logon kee kamee hai usamen ham log isake jimmedaar hai na ki bhaajapa vaale jimmedaar hai koee jimmedaar hai hamane inako gaddee par baithaaya hai hamane apana sab kuchh adhikaaron ke ko de diya hai photo lootane ka mauka hamane diya hai ham ko sudhaarana hoga kisee doosare par aarop-pratyaarop karane se kuchh nahin hoga ham apane aap ko sudhaaro tab yah desh sudhar jaega sab kuchh sahee ho jaega

kamlesh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए kamlesh जी का जवाब
Berojagaar
0:11

rohit paste Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए rohit जी का जवाब
Unknown
1:46
और आप जो बता रहे हैं कि पुराने समय में डाकू अमीरों को लूट कर गरीबों में बांट देते उस तरह की हर-हर डाकू यह काम नहीं करते थे कुछ डाकू जो लूटमार करते थे वह खुद को भी रखते थे ना कि हर एक डाकू किसानों को गरीबों को या फिर जिनके पास पूंजी कम है उनको बांट देते थे इशक कम लोग हैं वह करते थे और आपका कहना है कि बीजेपी सरकार गरीबों से लौटकर आमिर को बांट रही है जिससे कि आपका कहना है कि मैं यहां भी राष्ट्र हो सकता है और कांग्रेस काल में भी यह सवाल आप अगर उठा के धोबिया का रास्ता हो सकता था सरकार जो चलानी होती है वह आप को भी मालूम है अभी कंपनसेटरी लड़नी होती थी या लड़ रही हो तो उसमें भी दो ढाई लाख खर्च हो जाते हैं तो उसके आगे ग्राम पंचायत हिरन नगर पालिका महानगरपालिका आमदार खासदार इन सब को कितना खर्चा आता है इससे आप देख लीजिए कि कोई भी सरकार को बड़े आदमी छाई होते बड़े बिजनेसमैन चाहिए होते हैं उनकी वजह से तो सरकार यह सब काम करती है और उसका फायदा वह बिजनेस लोग उठाते हैं यह कांग्रेस हो या भाइयों को चलता ही रहता है
Aur aap jo bata rahe hain ki puraane samay mein daakoo ameeron ko loot kar gareebon mein baant dete us tarah kee har-har daakoo yah kaam nahin karate the kuchh daakoo jo lootamaar karate the vah khud ko bhee rakhate the na ki har ek daakoo kisaanon ko gareebon ko ya phir jinake paas poonjee kam hai unako baant dete the ishak kam log hain vah karate the aur aapaka kahana hai ki beejepee sarakaar gareebon se lautakar aamir ko baant rahee hai jisase ki aapaka kahana hai ki main yahaan bhee raashtr ho sakata hai aur kaangres kaal mein bhee yah savaal aap agar utha ke dhobiya ka raasta ho sakata tha sarakaar jo chalaanee hotee hai vah aap ko bhee maaloom hai abhee kampanasetaree ladanee hotee thee ya lad rahee ho to usamen bhee do dhaee laakh kharch ho jaate hain to usake aage graam panchaayat hiran nagar paalika mahaanagarapaalika aamadaar khaasadaar in sab ko kitana kharcha aata hai isase aap dekh leejie ki koee bhee sarakaar ko bade aadamee chhaee hote bade bijanesamain chaahie hote hain unakee vajah se to sarakaar yah sab kaam karatee hai aur usaka phaayada vah bijanes log uthaate hain yah kaangres ho ya bhaiyon ko chalata hee rahata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • बीजेपी सरकार,
URL copied to clipboard