#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:04
हेलो विधानसभा जैसे बहुत सारे लोग समय कम होने की समझते हैं उनके लिए अगर आप कुछ कहना चाहते हैं तो फिर आप उनको कैसे समझेंगे तो देखिए समय का महत्व समझाने के लिए सबसे पहले किसी भी इंसान को यह समझना जरूरी है कि अगर हम समय का महत्व नहीं समझेंगे तो क्या हो सकता है और क्या लिंग के साथ हो चुका या फिर कोई भी अगर आपके आसपास कोई ऐसा उदाहरण हो या फिर आपकी जिंदगी से मिलता-जुलता उदाहरण है तो आप उदाहरण दे सकते हैं अपने नीचे जाकर कोई भी पेरेंट्स अगर हमें समय का महत्व समझाते हैं तो यह बोलते कि देखो हम अपने समय पर यह कर पाएगा या फिर उनकी कोई दोस्त का वो एग्जांपल दे दो कि किस तरह से अगर आप एग्जांपल देते हैं जिंदगी में इस तरह से आप उदाहरण देकर आएंगे तो अच्छे से समझ पाएंगे

और जवाब सुनें

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
4:38
बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो समय का महत्व नहीं है उनके लिए अगर आप कुछ कहना चाहते हैं या फिर उनके कुछ समझाना चाहते ऐसे लोगों को नासमझ लोगों को समझा नहीं पाओगे और पूरे विश्व में अवकाश कर भारत में तो मैं मानता हूं और सौ पर्सेंट होगा ऐसा मैं कुछ समझते ही नहीं समय को जब उनके ऊपर कोई मुसीबत आए जाती तब हो नहीं समझ में आता अन्यथा बिल्कुल आप चाहे शिक्षा के माध्यम से स्कूल में कॉलेज समझाती रही हो कभी नहीं समझते हैं मैंने तो यह ट्रेंड देख लिया है मैं एक टीचर के रूप में हूं मैं अधिकतर जगहों पर किसी वर्कशॉप सेमिनार का ही गया हूं उसका समय निर्धारित होता है 9:30 पर वह हमेशा लेट होता नहीं प्रिंसिपल मिनट में गया हुआ था प्रिंसिपल जो किसी स्कूलों का सबसे बड़े अधिकारी हम कर सकते हैं वह सर्वे सर्वा होते हैं जो डिसिप्लिन है अनुशासन है समय का पालन सिखाते हैं और वहां पर एक प्रोग्राम दिया गया कि 5:00 बजे शुरू होना है 4:30 से 4:45 तक सबको संभल होना है और जब मैं वहां पाए तो 25 से 30 पर सेंट टो गेट अंदर कार्यक्रम लगभग 30 मिनट तो क्वेश्चन उठाने की जिम्मेदारी है समाज को बच्चों को अनुशासन सिखाने का समय का पालन करने का उद्देश्य है तो बेटा वापस बिल्कुल सही है लोग समय को मनाते हो आप जानते हो हमारे अधिकतर बच्चे शिकायत करते हैं युवा कि हम फेल हो जा रहे हैं फ्लोर का मतलब अपनी जिंदगी में नौकरी नहीं मिल रही है कोई काम नहीं मिल पा रहा जब मैं बच्चों से पूछता हूं कि आपने कितना प्रयास किया तो करते हुए हमने यह कंपटीशन दिया वह कंपटीशन है दिल से सच में कितनी तैयारी की तो पाया जाता है कि 10 परसेंट तैयारी करते हैं और वही दर्शन बच्चे सफल होते हैं और किसी को आज के समय में किसी को बोलोगे वही सुबह जल्दी उठ जाओ आ जाओ अपनी औलाद को बोलो ना और आप चल बोलते हैं जब वह 18 साल का हो गए जब मैं छोटा था जब पैदा हुआ था 6 महीने का साल भर का होगा तब तो उसको लाइट बंद करने ले जब उसको 3 साल बाद अब लाड प्यार करता जब 5 साल का हुआ है स्कूल जाए तब भी लाड प्यार होता तो नतीजा है कि आपने समय के महत्व को समझाया नहीं और आज उसके लिए रोना रो और आपने क्वेश्चन कर रहे हैं कि आपने किसी को हम कहते हैं कि वह इस समय की कीमत समझो हो सकता ही नहीं और ना आपसे बात मोहम्मद लेगा इस समय अनुपालन को समझने के जानने और तभी हम दूसरों पर तो पाए तो निश्चित तौर पर रामकृष्ण बहुत अच्छा है लेकिन आप समझाने का प्रयास करते रहे कुछ लोग समझ जाएंगे कुछ नहीं समझा मैं अपने हर टीचर को कहता हूं कि भाई अपने कर्तव्य को निभाते इमानदारी से पढ़ाते मैं हंड्रेड परसेंट सफलता की नहीं बात करता मैं कहता हूं कि एक बच्चा अगर निकल जाएगा अच्छा सही रास्ते पर चला जाएगा तो निश्चित तौर पर कम से कम 100 लोगों को ठीक करेगा एक अच्छे प्रशासनिक स्तर पर पहुंचा तो समाज में कुछ अच्छा हो जाएगा
Bahut saare aise log hain jo samay ka mahatv nahin hai unake lie agar aap kuchh kahana chaahate hain ya phir unake kuchh samajhaana chaahate aise logon ko naasamajh logon ko samajha nahin paoge aur poore vishv mein avakaash kar bhaarat mein to main maanata hoon aur sau parsent hoga aisa main kuchh samajhate hee nahin samay ko jab unake oopar koee museebat aae jaatee tab ho nahin samajh mein aata anyatha bilkul aap chaahe shiksha ke maadhyam se skool mein kolej samajhaatee rahee ho kabhee nahin samajhate hain mainne to yah trend dekh liya hai main ek teechar ke roop mein hoon main adhikatar jagahon par kisee varkashop seminaar ka hee gaya hoon usaka samay nirdhaarit hota hai 9:30 par vah hamesha let hota nahin prinsipal minat mein gaya hua tha prinsipal jo kisee skoolon ka sabase bade adhikaaree ham kar sakate hain vah sarve sarva hote hain jo disiplin hai anushaasan hai samay ka paalan sikhaate hain aur vahaan par ek prograam diya gaya ki 5:00 baje shuroo hona hai 4:30 se 4:45 tak sabako sambhal hona hai aur jab main vahaan pae to 25 se 30 par sent to get andar kaaryakram lagabhag 30 minat to kveshchan uthaane kee jimmedaaree hai samaaj ko bachchon ko anushaasan sikhaane ka samay ka paalan karane ka uddeshy hai to beta vaapas bilkul sahee hai log samay ko manaate ho aap jaanate ho hamaare adhikatar bachche shikaayat karate hain yuva ki ham phel ho ja rahe hain phlor ka matalab apanee jindagee mein naukaree nahin mil rahee hai koee kaam nahin mil pa raha jab main bachchon se poochhata hoon ki aapane kitana prayaas kiya to karate hue hamane yah kampateeshan diya vah kampateeshan hai dil se sach mein kitanee taiyaaree kee to paaya jaata hai ki 10 parasent taiyaaree karate hain aur vahee darshan bachche saphal hote hain aur kisee ko aaj ke samay mein kisee ko bologe vahee subah jaldee uth jao aa jao apanee aulaad ko bolo na aur aap chal bolate hain jab vah 18 saal ka ho gae jab main chhota tha jab paida hua tha 6 maheene ka saal bhar ka hoga tab to usako lait band karane le jab usako 3 saal baad ab laad pyaar karata jab 5 saal ka hua hai skool jae tab bhee laad pyaar hota to nateeja hai ki aapane samay ke mahatv ko samajhaaya nahin aur aaj usake lie rona ro aur aapane kveshchan kar rahe hain ki aapane kisee ko ham kahate hain ki vah is samay kee keemat samajho ho sakata hee nahin aur na aapase baat mohammad lega is samay anupaalan ko samajhane ke jaanane aur tabhee ham doosaron par to pae to nishchit taur par raamakrshn bahut achchha hai lekin aap samajhaane ka prayaas karate rahe kuchh log samajh jaenge kuchh nahin samajha main apane har teechar ko kahata hoon ki bhaee apane kartavy ko nibhaate imaanadaaree se padhaate main handred parasent saphalata kee nahin baat karata main kahata hoon ki ek bachcha agar nikal jaega achchha sahee raaste par chala jaega to nishchit taur par kam se kam 100 logon ko theek karega ek achchhe prashaasanik star par pahuncha to samaaj mein kuchh achchha ho jaega

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:33
सारे लोग ऐसे होते हैं जो समय का महत्व नहीं समझते यह बात बहुत अच्छा क्वेश्चन आपने पूछा है उनके लिए अगर आप कुछ कहना चाहते हैं उनको कुछ समझाना चाहते तो बता मैं यह कहना चाहती है भैया आज समय का महत्व नहीं सुनी नहीं तो कल आप पछताएंगे क्योंकि अब ऐसे ही बन जाएगा जैसा कहा जाता है चिड़िया चुग गई खेत आपका करें समय निकल जाएगा तो आपके पास सिर्फ पछतावे के कुछ नहीं बचेगा तो कोशिश करें कि पछताना पड़े समय पर ही काम कर ले

मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
1:28
नमस्कार मित्रों जैसे आपका प्रश्न है बहुत सारे लोग हैं जो समय का महत्व नहीं समझते हैं उनके लिए अगर आप कुछ करना चाहते हो या फिर उनको कुछ सुझाव देना चाहते हो तो देखिए मेरा मानना यह है इस समय एक ऐसा चीज है जिन्हे हम सबके लिए बहुत बड़ी योगदान है जो कि समय का कद्र नहीं करेगा वह जीवन में आगे नहीं बढ़ता है ना इसलिए करके समय पर ही रहते हमें सब कुछ कार्य करना होता है समय ही एक बार निकल जाएगा तो फिर आप कुछ नहीं कर पाएगा कहते हैं ना कि बचपन पिक्चर को तुम्हें गया और जवानी नींद भर सोया बुढ़ापा में देख करके रोए यह कहावत जहां तक होता है कि महीने में अगर सोचे तो सही होते हैं अगर हम जब बचपन खेलकूद में ही बिता दिया और जवानी नींद भर सो गए तो फिर हम करेंगे क्या ऐसे करते हैं यह मेरा समय निकल जाएगा इसलिए करके जितना समय हमारे पास है इसमें हमें कुछ ना कुछ करना है और लाइफ में आगे भी बढ़ना समय रहते हुए अगर कारी आप नहीं कर पाए तो फिर आप उम्र ढल जाने के बाद कुछ नहीं कर पाएंगे इसलिए करते समय का महत्व बहुत बड़ा होता है दोस्त समय का आदर करो और समय से सब कुछ करो रहते हुए धन्यवाद
Namaskaar mitron jaise aapaka prashn hai bahut saare log hain jo samay ka mahatv nahin samajhate hain unake lie agar aap kuchh karana chaahate ho ya phir unako kuchh sujhaav dena chaahate ho to dekhie mera maanana yah hai is samay ek aisa cheej hai jinhe ham sabake lie bahut badee yogadaan hai jo ki samay ka kadr nahin karega vah jeevan mein aage nahin badhata hai na isalie karake samay par hee rahate hamen sab kuchh kaary karana hota hai samay hee ek baar nikal jaega to phir aap kuchh nahin kar paega kahate hain na ki bachapan pikchar ko tumhen gaya aur javaanee neend bhar soya budhaapa mein dekh karake roe yah kahaavat jahaan tak hota hai ki maheene mein agar soche to sahee hote hain agar ham jab bachapan khelakood mein hee bita diya aur javaanee neend bhar so gae to phir ham karenge kya aise karate hain yah mera samay nikal jaega isalie karake jitana samay hamaare paas hai isamen hamen kuchh na kuchh karana hai aur laiph mein aage bhee badhana samay rahate hue agar kaaree aap nahin kar pae to phir aap umr dhal jaane ke baad kuchh nahin kar paenge isalie karate samay ka mahatv bahut bada hota hai dost samay ka aadar karo aur samay se sab kuchh karo rahate hue dhanyavaad

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
6:59
बहुत सारे ऐसे लोग उसमें का मैच निषेचन कि नहीं अगर आप कुछ कहना चाहते हैं या फिर उनको कुछ समझाना चाहते हैं तो आप और सुनाइए देखिए क्यों लोग समय का महत्व नहीं समझते हैं वास्तव में समय उनको ठुकरा देते हैं क्योंकि आज जो समय को ठुकरा रहा है वह कैसे ठुकरा रहा है क्योंकि वह नहीं जानना कि आज हमें क्या करना चाहिए आज जो हमें करना चाहिए उसको मत नेआर्नेस अपनी मनमानी अपनी गलत नीति अपने ट्वीट या अपनी सोच के कारण हम उसे आज ना करके हमसे 10 दिन बाद या 30 दिन बाद या 6 महीने बात करते हैं तुम को कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि वह सोचे काम हो गया अगर 6 महीने पहले यह काम होता तो 6 महीने हमारा पैसा फंसा रहता अब है मैंने बात हमने काम किया है तो काम हो गया लेकिन वे लोग भूल जाते हैं कि 6 महीने का समय खुद ही आपने उसने आउटपुट जीरो है क्योंकि इनपुट गिरोह रावतपुर की रहे 6 महीने का बहुमूल्य में में उत्पादन या आए काम की पृथ्वीपुर की चुन्नी और क्षतिपूर्ति अनंत है लेकिन लोग आप से 6 महीने आगे निकल गए 6 महीने उन्होंने तैयारी करी है मैंने उन्होंने समर्पण किया और 6 महीने उन्होंने रात दिन एक कर के जो हासिल किया पुष्टि आप अनंत दूर है अब सफलता और असफलता निर्भर करती है परिस्थितियों पर हर परिश्रम करने वाला व्यक्ति सफल हो यह एक ही बार में जरूरी नहीं है वह दो बार में तीन बार में 4 बार में वह सफल हो जाता है क्योंकि वह परिश्रम कर रहा है क्योंकि उसने इनपुट किया है तो सफलता आउटपुट के रूप में उसे जरूर मिलेगी इनपुट करते समय कुछ चीजें इंसान से झुक जाती हैं साधन की कमी सामग्री की कमी समझ की कमी सहयोग की कमी यह सोच विचार की कमी जिनके तालमेल ना बैठने से संगठन ना होने से वह चीज टूट जाती है और इंसान जो है वह असफल हो जाता है इसका मतलब यह नहीं है कि वह नाकाफी है क्योंकि 6 महीने लगातार मैंने कैमरे का उधार लिया है 6 महीने लगातार उसने परीक्षण किया है तो कोई एक कमी के कारण वह एक बार रह गया दूसरी कमी के बाद दूसरी बार आया लेकिन जैसे-जैसे वह सफल हुआ सफलता की तरफ बढ़ने का उसका दोस्त बना हुआ क्योंकि उसे अपनी कमियों को भी उसने मिटाया और एक वह सफल हुआ लेकिन जिसने है मैंने तो कुछ किया ही नहीं वह 6 साल बिछड़ गया क्योंकि उसने सफलता या असफलता का स्वाद चखने नहीं और मान लीजिए बिना समय की उपयोगिता किए बिना समय के महत्व को समझे हुए अगर कहीं भी कहीं अपीयर होता है या किसी के जबरदस्ती उसको फिर कराया जाता है या किसी परीक्षा में बैठाया जाता है तो सफलता का तो सवाल ही नहीं उठता का मूल कारण क्योंकि उसने यह सोचा ही नहीं कि मुझे जहां बैठा है जाना है जहां मुझे बैठना चाहिए उसे मेरे को फायदा है मेरा भविष्य बनेगा मेरा जीवन जो है वह स्वतंत्र होगा और मैं आत्मनिर्भर आऊंगा क्योंकि जब तक इंसान की सोच और समझ में यह बात नहीं बैठेगी कि मैं क्या गलती कर रहा हूं तब तक समय उसको बहुत पीछे छोड़ देगा क्योंकि समय कभी नहीं रुकता टर्न 4 में कितने समय रुक जा रुक जाएगा संसार मृत्यु लोक को चला जाएगा अब एक प्रश्न उठता है कि लोग समय का मैच क्यों नहीं समझते उसका भी कारण बताता हूं उनको कोई सहयोग देने वाला मिल जाता है कोई उनको राह दिखाने वाला मिल जाता है तो लोग ऐसे लोगों को घर की मुर्गी दाल बराबर समझते हैं उनके मन में ही होता है दूर होती है कि जब यह बैठे जब चाहेंगे हो जाएगा यानी वह निर्भर हो जाते तो बहुत ज्यादा लड़कियों को ऐसे लगने लगता है कि क्यों मेरे पीछे पड़े कभी मुझे इस चीज में इंटरेस्ट नहीं है क्यों मुझे राह दिखा रहे हैं क्यों मेरे लिए आवेदन कर रहे हैं क्यों मेरे को विश किसी क्षेत्र विशेष में भेजना टेकिंग एनी संकीर्ण मानसिकता या विवेकशील बुद्धि का परिचय देना या मनमानी निर्णय लेना उसका परिणाम यह होता है कि इंसान अपनी जिंदगी में स्वर्णिम अवसर खो बैठता है और जब उसको आंख खुलती है तब शिवाय अंधकार की रोशनी नहीं होती क्योंकि जब वह अपने आप को औरों की तुलना में कहीं और खड़ा पाता है तुझे लगता है कि वह ढूंढ का टूट रही है और यही उसकी फूल उसे प्रायश्चित करने को मजबूर कर
Bahut saare aise log usamen ka maich nishechan ki nahin agar aap kuchh kahana chaahate hain ya phir unako kuchh samajhaana chaahate hain to aap aur sunaie dekhie kyon log samay ka mahatv nahin samajhate hain vaastav mein samay unako thukara dete hain kyonki aaj jo samay ko thukara raha hai vah kaise thukara raha hai kyonki vah nahin jaanana ki aaj hamen kya karana chaahie aaj jo hamen karana chaahie usako mat neaarnes apanee manamaanee apanee galat neeti apane tveet ya apanee soch ke kaaran ham use aaj na karake hamase 10 din baad ya 30 din baad ya 6 maheene baat karate hain tum ko koee phark nahin padata kyonki vah soche kaam ho gaya agar 6 maheene pahale yah kaam hota to 6 maheene hamaara paisa phansa rahata ab hai mainne baat hamane kaam kiya hai to kaam ho gaya lekin ve log bhool jaate hain ki 6 maheene ka samay khud hee aapane usane aautaput jeero hai kyonki inaput giroh raavatapur kee rahe 6 maheene ka bahumooly mein mein utpaadan ya aae kaam kee prthveepur kee chunnee aur kshatipoorti anant hai lekin log aap se 6 maheene aage nikal gae 6 maheene unhonne taiyaaree karee hai mainne unhonne samarpan kiya aur 6 maheene unhonne raat din ek kar ke jo haasil kiya pushti aap anant door hai ab saphalata aur asaphalata nirbhar karatee hai paristhitiyon par har parishram karane vaala vyakti saphal ho yah ek hee baar mein jarooree nahin hai vah do baar mein teen baar mein 4 baar mein vah saphal ho jaata hai kyonki vah parishram kar raha hai kyonki usane inaput kiya hai to saphalata aautaput ke roop mein use jaroor milegee inaput karate samay kuchh cheejen insaan se jhuk jaatee hain saadhan kee kamee saamagree kee kamee samajh kee kamee sahayog kee kamee yah soch vichaar kee kamee jinake taalamel na baithane se sangathan na hone se vah cheej toot jaatee hai aur insaan jo hai vah asaphal ho jaata hai isaka matalab yah nahin hai ki vah naakaaphee hai kyonki 6 maheene lagaataar mainne kaimare ka udhaar liya hai 6 maheene lagaataar usane pareekshan kiya hai to koee ek kamee ke kaaran vah ek baar rah gaya doosaree kamee ke baad doosaree baar aaya lekin jaise-jaise vah saphal hua saphalata kee taraph badhane ka usaka dost bana hua kyonki use apanee kamiyon ko bhee usane mitaaya aur ek vah saphal hua lekin jisane hai mainne to kuchh kiya hee nahin vah 6 saal bichhad gaya kyonki usane saphalata ya asaphalata ka svaad chakhane nahin aur maan leejie bina samay kee upayogita kie bina samay ke mahatv ko samajhe hue agar kaheen bhee kaheen apeeyar hota hai ya kisee ke jabaradastee usako phir karaaya jaata hai ya kisee pareeksha mein baithaaya jaata hai to saphalata ka to savaal hee nahin uthata ka mool kaaran kyonki usane yah socha hee nahin ki mujhe jahaan baitha hai jaana hai jahaan mujhe baithana chaahie use mere ko phaayada hai mera bhavishy banega mera jeevan jo hai vah svatantr hoga aur main aatmanirbhar aaoonga kyonki jab tak insaan kee soch aur samajh mein yah baat nahin baithegee ki main kya galatee kar raha hoon tab tak samay usako bahut peechhe chhod dega kyonki samay kabhee nahin rukata tarn 4 mein kitane samay ruk ja ruk jaega sansaar mrtyu lok ko chala jaega ab ek prashn uthata hai ki log samay ka maich kyon nahin samajhate usaka bhee kaaran bataata hoon unako koee sahayog dene vaala mil jaata hai koee unako raah dikhaane vaala mil jaata hai to log aise logon ko ghar kee murgee daal baraabar samajhate hain unake man mein hee hota hai door hotee hai ki jab yah baithe jab chaahenge ho jaega yaanee vah nirbhar ho jaate to bahut jyaada ladakiyon ko aise lagane lagata hai ki kyon mere peechhe pade kabhee mujhe is cheej mein intarest nahin hai kyon mujhe raah dikha rahe hain kyon mere lie aavedan kar rahe hain kyon mere ko vish kisee kshetr vishesh mein bhejana teking enee sankeern maanasikata ya vivekasheel buddhi ka parichay dena ya manamaanee nirnay lena usaka parinaam yah hota hai ki insaan apanee jindagee mein svarnim avasar kho baithata hai aur jab usako aankh khulatee hai tab shivaay andhakaar kee roshanee nahin hotee kyonki jab vah apane aap ko auron kee tulana mein kaheen aur khada paata hai tujhe lagata hai ki vah dhoondh ka toot rahee hai aur yahee usakee phool use praayashchit karane ko majaboor kar

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:02
बहुत सारे ऐसे लोग जो समय का महत्व नहीं समझते उनके लिए अगर आप कुछ कहना चाहते हैं या फिर उनको कुछ समझाना चाहते हैं तो समझा दे कि मैं उनको यही कहूंगा एक देखिए कहावत भी है किस समय और जो हर किसी का इंतजार नहीं करते लेकिन सभी को समय के मूल्य और महत्व को समझना चाहिए तो यही कहूंगा कि धान की तुलना में समय अधिक मूल्यवान है समय आंशिक रूप से देखिए इस कारण से है कि हम सभी को हमारे जीवन में केवल एक निश्चित समय अंकित किया जाता है और इसलिए हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हमें इसे बुद्धिमानी से उपयोग करें समय के प्रभा को कुछ भी नहीं रोक सकता अतीत को किसी भी तरह से वापस नहीं लाया जा सकता हर किसी को दिखे जीवन के हर मोड़ पर समय की पाबंदी के साथ चलना चाहिए यदि के बेहतर जीवन के लिए महत्वपूर्ण है यदि हम जीवन के हर काम में समय के पाबंद रहे तो कोई भी हमारे लिए इतने के कुछ भी गलत नहीं कर सकता मेरा कहने का मतलब है देखिए इस समय हमारे जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता यदि हम समय के मूल्य को बेहतर ढंग से समझते तो यह समय के साथ अनुभव और कौशल विकसित कर सकते हैं समिति के बाहरी गांव या भावनाओं को भी देखें ठीक कर सकता है समय देखी एक ऐसी चीज है जिसे हम माफ नहीं सकते काम जब समय पर कर दिया जाता है तो फलदाई होगा और प्रणाम बहुत अच्छे होंगे तो समय का मतलब उस बिंदु से भी हो सकता है जिसमें क्या है कि व्यक्ति संदर्भित कर रहा है तो अपने जीवन का देखिए हर मिनट का आनंद लेना सीखे अभी मैं खुश रहो भविष्य में आप को संतुष्ट करने के लिए दिखे खुद से बाहर किसी चीज का इंतजार ना करें इस पर विचार करें कि आपके पास कितना कीमती समय है चाहे वह काम पर हो या आपके परिवार के साथ हर मिनट का आनंद और सौर लेना चाहिए जय हिंद जय भारत
Bahut saare aise log jo samay ka mahatv nahin samajhate unake lie agar aap kuchh kahana chaahate hain ya phir unako kuchh samajhaana chaahate hain to samajha de ki main unako yahee kahoonga ek dekhie kahaavat bhee hai kis samay aur jo har kisee ka intajaar nahin karate lekin sabhee ko samay ke mooly aur mahatv ko samajhana chaahie to yahee kahoonga ki dhaan kee tulana mein samay adhik moolyavaan hai samay aanshik roop se dekhie is kaaran se hai ki ham sabhee ko hamaare jeevan mein keval ek nishchit samay ankit kiya jaata hai aur isalie hamen yah sunishchit karane kee aavashyakata hai ki hamen ise buddhimaanee se upayog karen samay ke prabha ko kuchh bhee nahin rok sakata ateet ko kisee bhee tarah se vaapas nahin laaya ja sakata har kisee ko dikhe jeevan ke har mod par samay kee paabandee ke saath chalana chaahie yadi ke behatar jeevan ke lie mahatvapoorn hai yadi ham jeevan ke har kaam mein samay ke paaband rahe to koee bhee hamaare lie itane ke kuchh bhee galat nahin kar sakata mera kahane ka matalab hai dekhie is samay hamaare jeevan mein ek mahatvapoorn bhoomika nibhaata yadi ham samay ke mooly ko behatar dhang se samajhate to yah samay ke saath anubhav aur kaushal vikasit kar sakate hain samiti ke baaharee gaanv ya bhaavanaon ko bhee dekhen theek kar sakata hai samay dekhee ek aisee cheej hai jise ham maaph nahin sakate kaam jab samay par kar diya jaata hai to phaladaee hoga aur pranaam bahut achchhe honge to samay ka matalab us bindu se bhee ho sakata hai jisamen kya hai ki vyakti sandarbhit kar raha hai to apane jeevan ka dekhie har minat ka aanand lena seekhe abhee main khush raho bhavishy mein aap ko santusht karane ke lie dikhe khud se baahar kisee cheej ka intajaar na karen is par vichaar karen ki aapake paas kitana keematee samay hai chaahe vah kaam par ho ya aapake parivaar ke saath har minat ka aanand aur saur lena chaahie jay hind jay bhaarat

Deepak Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Deepak जी का जवाब
संस्कृतप्रचारक:
3:46
नमस्कार मित्र आप ने प्रश्न किया है बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो समय का महत्व नहीं समझते हैं उनके लिए अगर आप कुछ कहना चाहते हैं या फिर उन्हें कुछ समझाना चाहते हैं तो जवाब जरूर दीजिए देखिए मित्र समय एक ऐसा पहिया है जो एक बार आगे निकल गया तो वह पीछे वापस नहीं आता मान लीजिए आज दिशा 11 तारीख है आज का जो समय है आप आज कोई काम करना चाहते हैं पर आप सोच रहे हैं कि नहीं यार आज नहीं मैं यह काम कल कर लूं तो कैसा रहेगा अब जब आपने आज का दिन छोड़ दिया आज का समय गवा दिया और कल के समय पर आप निर्भर हो गए कि यह काम कल करूंगा तो मित्र आपका जो काम आज नहीं हुआ है वह कल भी नहीं होगा यह आप सोच लीजिएगा कि आप जो चाहते हैं कि मैं यह काम आज नहीं कल कल नंबर सेव कर लूंगा अगर आप समय व्यतीत करते जाएंगे नष्ट करते जाएंगे तो याद रखेगा समय का पहिया ऐसा है एक बार चला गया तो वापस नहीं आएगा क्योंकि जो समय को बर्बाद करता है समय उसे बर्बाद कर देता है यह बात बहुत बड़ी लाइन है इसका ध्यान रखिएगा क्योंकि यह जिसने भी कहीं यह बहुत अच्छी बात कही है कि अगर माली जी मैं आज समय को बर्बाद कर रहा हूं मैं पास समय है पर फिर भी मैं उस समय का सदुपयोग में करके उसको बर्बाद करने में लगा हुआ हूं मतलब व्यतीत कर रहा हूं ऐसे ही मौज मस्ती में सब काम में जो काम मुझे करना चाहिए अभी वह मैं नहीं करके और कोई ऐसे ही गलत काम करने में लगा हुआ हूं उस काम जो नहीं करना है वह कर रहा हूं और जो करना चाहिए वह नहीं कर रहा यह क्या है यह समय का दुरुपयोग ही तो है जब हम इस तरीके का दुरुपयोग करते हैं तो समय हमें ही ऑफिस समय हमारा ही दुरुपयोग कर देगा कैसे मैं अब जो काम वाला अभी जो करना है वह कर नहीं रहा बाद में मुझे जो नहीं करना है मैं उस काम को करने लगूंगा तो कैसे होगा क्योंकि समय तो जा चुका है जब समय ही चला गया तो फिर आप उस समय हम लोग जब आपको काम करना है तो कैसे होगा क्योंकि जो काम जिस समय लिखा गया है तभी होगा इसके लिए हमेशा समय का सदुपयोग करें जब भी कोई काम हो तो उसे हमेशा हम लोग ताले नहीं व्यतित ना करें समय का सदुपयोग करें और आपके पास दिन में पता है कि 24 घंटे होते हैं हमारे पास उम्र चौबीस घंटों में आप कम से कम कुछ घंटे अच्छे काम में लगाइए कुछ ज्यादा घंटे अपने निजी काम में लगाई है और बाकी जो समय है आप उससे यह सोचिए कि मैं और क्या कर सकता हूं मतलब समय व्यतीत ना हो इस 24 घंटे में हम क्या-क्या अच्छे काम करें है क्या कल कितने लोगों की मदद कर सकते हैं और पल कुछ न कुछ चिंतन चलता रहना चाहिए कि हां अब यह हो सकता है क्या यह हो सकता है क्या मतलब इस तरीके का भी चिंतन रखिए के स्टोर में मुझे अब क्या करना है अगर आप यह रखेंगे तो ही आपका सही रहेगा वरना आप समय व्यतीत करते जाएंगे तो ध्यान रखिएगा जो मैंने कहा है आप समय को बर्बाद करेंगे तो समय आपको बर्बाद कर देगा धन्यवाद वहां एक बात और कि आप बाद में फिर ये ध्यान रखेगा आपको पछतावा बहुत होगा कि यार काश में यह काम उस समय कर लेता तो इस बात का भी ध्यान रखेगी पछतावा ना हो इसीलिए ही समय पर काम करना चाहिए धन्यवाद

Anika Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Anika जी का जवाब
Unknown
1:21
हाय दोस्त मैं तुमसे सिर्फ एक बात कहना चाहूंगी कि अगर तुम इस रिस्पांसिबिलिटी के लिए डैडी नहीं हूं और चाहते हो कि टाइम लो खुद कितने मिर्ची और बन जाओ कि पहले खुद को समझो उसके बाद किसी और को अपनी लाइफ में इंटर करवाओ तो प्लीज जल्दबाजी में बिल्कुल भी कोई गलत डिसीजन मत क्योंकि शादी सिर्फ दो इंसान की नहीं दो परिवारों की भी होती है शादी के साथ-साथ आप की रिस्पांसिबिलिटी बढ़ेगी आपकी एक परिवार में एंट्री होगी आपको अपना परिवार बनाना होगा इस परिवार को बनाने के लिए सबसे पहले आपको तड़पाए होना पड़ेगा तो अगर अभी आप साथ में नहीं हूं खुद से या इतने में तो नहीं हूं कि खुद ही हंस ले पाओगे अभी भी आप अपनी पेरेंट्स की हेल्प लेते हो तुम मेरी बात मानो और इंतजार कर लो कुछ नहीं मिलेगा अपने आप को सेटल कर लो इतना मेंटली स्ट्रांग बना लो या किसी और को अपनी लाइफ में एंटर कर सके और उसकी क्लियर कर सकूं आई विश कि आपको समझ में आए और आप अपने आप को टाइम
Haay dost main tumase sirph ek baat kahana chaahoongee ki agar tum is rispaansibilitee ke lie daidee nahin hoon aur chaahate ho ki taim lo khud kitane mirchee aur ban jao ki pahale khud ko samajho usake baad kisee aur ko apanee laiph mein intar karavao to pleej jaldabaajee mein bilkul bhee koee galat diseejan mat kyonki shaadee sirph do insaan kee nahin do parivaaron kee bhee hotee hai shaadee ke saath-saath aap kee rispaansibilitee badhegee aapakee ek parivaar mein entree hogee aapako apana parivaar banaana hoga is parivaar ko banaane ke lie sabase pahale aapako tadapae hona padega to agar abhee aap saath mein nahin hoon khud se ya itane mein to nahin hoon ki khud hee hans le paoge abhee bhee aap apanee perents kee help lete ho tum meree baat maano aur intajaar kar lo kuchh nahin milega apane aap ko setal kar lo itana mentalee straang bana lo ya kisee aur ko apanee laiph mein entar kar sake aur usakee kliyar kar sakoon aaee vish ki aapako samajh mein aae aur aap apane aap ko taim

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit जी का जवाब
Unknown
2:22
आपस वाली पहुंचा लोग समय का महत्व नहीं करते उन्हें क्या कहना चाहेंगे मैं उन्हें यही कहना चाहूंगा जो लोग समय का महत्व करते हैं वह अपने जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में सफलता प्राप्त करते हैं और जो लोग समय का महत्व नहीं करते उन्हें उनकी उन्हें क्या करना है कैसे करना है उन्हें कुछ नहीं पता होता और वह मुझे समय बता देता है कि क्या करना चाहिए था और क्या हो गया ठीक है मैं उन्हें आपको बताता हूं अभी जो आपके पास टाइम है इटावा वापस ला सकती हूं नहीं ला सकते अभी जो आपके पास पैसा आएगा वह पैसा चला भी जाए तो वापस ला सकते पैसा वापस आ सकता है लेकिन समय वापस नहीं आ सकता जब मैं वापस कभी नहीं आ सकता समय बहुत कीमती है पैसों से भी कीमती क्या है समय टाइम रास्ते भी बहुत कीमती है एक बार समय चला गया वापस नहीं आ सकता है लेकिन पैसा वापस आ चुके पैसा बाद में भी कमा सकते हो ठीक है समय का महत्व को समझो जो लोग नहीं समझते रहने दो आपने छोड़ दोगे मत बनाओ आप अपने आप को देखो कि आप समय का महत्व कार्य आप कर रहे हो बहुत अच्छी बात है दूसरे आप से देखेंगे वह खुद-ब-खुद करने लग जाएंगे तो सबसे पहले हमें खुद को बदलना है दूसरों को नहीं बदल रहा है ठीक है अगर हम खुद बदल ले तो दूसरे हमें देख कर के खुद अपने आप बदल जाएंगे ठीक है तो दूसरे को बदलने की कोशिश मत करो दोबारा बोल सकते हो अगर आपको कोई फ्रेंड है कोई दोस्त तो आपने बोलिए नहीं मान रहे तो छोड़ दीजिए आप खुद बताइए आप बदल जाओगे तो आपको देख कर के खुद बदल जाएगा ठीक है समय पर सही कार्य करते सब कुछ सीखते हो तो आने वाले टाइम में वह आपको बेनिफिट देगा ठीक है और अभी भी बहुत समय है अगर अभी आपने नहीं सीखा अगर कुछ नहीं किया अगर तू आने वाले टाइम में आप बहुत पछताएगी पछताओगे इतनी लेकिन आपको अफसोस होगा कि समय बीत गया करें क्योंकि अभी तो टाइम है ना कुछ बताएं तो अभी समय 21वीं सदी और आने वाले टाइम को आने वाले टाइम में क्या होने वाला है लेटे में सब कुछ डिजिटल इंडिया डिजिटल यानी कि सबकुछ ऑनलाइन होने वाला है तू करा पैसा भी हमेशा चुनाव ऑनलाइन तो आप ऑनलाइन अभी से स्टार्ट काम करने स्टार्ट कर दो आज से स्टार्ट कर दो कुछ न कुछ सीखो ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए सर्च करो जो करना है करो स्टार्ट करो आज से करो आनंद टाइम डिजिटल वाले हैं नानाजी सीख लो अभी सीख लो समय अभी भी ठीक है अगर समय का सही उपयोग करते तो आज वैलेंटाइन आपको बहुत-बहुत बहुत बेनिफिट होने वाला है ठीक है समय की कीमत को समझो और अपने काम पर लग जाओ
Aapas vaalee pahuncha log samay ka mahatv nahin karate unhen kya kahana chaahenge main unhen yahee kahana chaahoonga jo log samay ka mahatv karate hain vah apane jeevan ke pratyek kshetr mein saphalata praapt karate hain aur jo log samay ka mahatv nahin karate unhen unakee unhen kya karana hai kaise karana hai unhen kuchh nahin pata hota aur vah mujhe samay bata deta hai ki kya karana chaahie tha aur kya ho gaya theek hai main unhen aapako bataata hoon abhee jo aapake paas taim hai itaava vaapas la sakatee hoon nahin la sakate abhee jo aapake paas paisa aaega vah paisa chala bhee jae to vaapas la sakate paisa vaapas aa sakata hai lekin samay vaapas nahin aa sakata jab main vaapas kabhee nahin aa sakata samay bahut keematee hai paison se bhee keematee kya hai samay taim raaste bhee bahut keematee hai ek baar samay chala gaya vaapas nahin aa sakata hai lekin paisa vaapas aa chuke paisa baad mein bhee kama sakate ho theek hai samay ka mahatv ko samajho jo log nahin samajhate rahane do aapane chhod doge mat banao aap apane aap ko dekho ki aap samay ka mahatv kaary aap kar rahe ho bahut achchhee baat hai doosare aap se dekhenge vah khud-ba-khud karane lag jaenge to sabase pahale hamen khud ko badalana hai doosaron ko nahin badal raha hai theek hai agar ham khud badal le to doosare hamen dekh kar ke khud apane aap badal jaenge theek hai to doosare ko badalane kee koshish mat karo dobaara bol sakate ho agar aapako koee phrend hai koee dost to aapane bolie nahin maan rahe to chhod deejie aap khud bataie aap badal jaoge to aapako dekh kar ke khud badal jaega theek hai samay par sahee kaary karate sab kuchh seekhate ho to aane vaale taim mein vah aapako beniphit dega theek hai aur abhee bhee bahut samay hai agar abhee aapane nahin seekha agar kuchh nahin kiya agar too aane vaale taim mein aap bahut pachhataegee pachhataoge itanee lekin aapako aphasos hoga ki samay beet gaya karen kyonki abhee to taim hai na kuchh bataen to abhee samay 21veen sadee aur aane vaale taim ko aane vaale taim mein kya hone vaala hai lete mein sab kuchh dijital indiya dijital yaanee ki sabakuchh onalain hone vaala hai too kara paisa bhee hamesha chunaav onalain to aap onalain abhee se staart kaam karane staart kar do aaj se staart kar do kuchh na kuchh seekho onalain paise kaise kamae sarch karo jo karana hai karo staart karo aaj se karo aanand taim dijital vaale hain naanaajee seekh lo abhee seekh lo samay abhee bhee theek hai agar samay ka sahee upayog karate to aaj vailentain aapako bahut-bahut bahut beniphit hone vaala hai theek hai samay kee keemat ko samajho aur apane kaam par lag jao

Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
2:34
समय है तो यह तीन नंबर का सब परंतु भविष्य की अहमियत को इंसान समझ आता है उस इंसान को सफल होने से कोई भी बात है कोई भी समस्या किसी भी तरह की परिस्थिति नहीं रोक सकती है इस जीवन में समय की है न चांदनी समझी है उसी की अहमियत समय समझ पाता है कुछ समझ आया है अभी समय है अभी आप अगर समय की अहमियत समझ कर मेहनत करते हैं तो शिवचरण में समय आपके साथ रहेगा परंतु अगर अभी आपने टाइम वेस्ट किया है मैकेनिक नहीं समझी तो फ्यूचर में इसी समय आपको रोना आएगी कहने को तो दिन में 24 घंटे होते हैं परंतु देखा जाए 1 मिनट में 20 साल लेकिन होते हैं या नहीं अगर हम एक-एक मिनट का भी यूज करें तुम पूरी तरह से 24 घंटे को यूज कर सकते हैं हमें क्या लगता है कि हम आज नहीं हम कल कर लेंगे थोड़ी देर बात कर लेना और थोड़ी देर बाद यह सोचकर चलेगा 1 घंटे बाद दूध पीता हुआ एक घंटा है जिसमें अपने वाला थोड़ी देर बात करूंगा वह कभी लौटकर नहीं आए रात को जो सोते हैं अगली सुबह जो होती है बीती हुई रात कभी नहीं आ सकती गुजरे हुए साल में आपके साथ क्या अच्छा हुआ है उसका खुश होने की वजह आने वाले साल में आपको अपने साथ सब अच्छा करना है आपका फ्यूचर अच्छा उसके लिए अभी सही नानक करते रहिए समय किसी का सगा नहीं होता परंतु जो इसकी अहमियत समझ जाता है जब मैं उसी का साथ ही बन जाता है समय के साथ आकर बाल होते हैं पीछे पर नहीं होती अगर आप समय को आगे से पकड़ना चाहते हैं जब से पकड़ सकते हैं परंतु एक बार भी पूरा समय तो आपसे कभी भी नहीं पकड़ सकते आप जब भी कभी मेरी बात नहीं तो उसी समय से हमेशा अपनी एक-एक मिनट की अहमियत को समझें समय इतना बलवान है किसी भी तरह के इंसान को कभी भी कहां से कहां पहुंचा देता है इसका अंदाजा हम भी नहीं लगाते समय की अहमियत को समझ जाओ जिंदगी में कुछ बड़ा करना

Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
6:27
जी बहुत ही प्यारे सवाल पूछे हैं आपने बहुत सारे लोग समय का महत्व नहीं समझते हैं उनके लिए अगर मैं कुछ कहना चाहूं तो अलग ही सवाल पूरा नहीं दिख रहा इतना ही दिखता है तुझे ऐसा है क्या समय हमेशा चलता ही रहता है वो रुकता नहीं किसी के लिए ना आपके लिए ना मेरे लिए वह बढ़ता ही चला जाता है हमें तो यह देखना होता है कि अगर इस समय में मुझे यह करना है तो क्या महबूब कर रहा हूं या नहीं क्योंकि अगर वह समय चला गया और उस समय आपने याद नहीं किया उस तरीके का काम नहीं किया तो फिर आगे चलकर आपको दिक्कत परेशानी का सामना करना पड़ सकता है एग्जाम पर ले लेते हैं एचसीएफ एलसीएम सिखाया गया और बच्चे ने उस समय ध्यान नहीं दिया पढ़ाई नहीं किया उसने सोचा कोई बात नहीं मैं आगे चलकर देख लूंगा और जब क्लास नाइंथ एन या फिर और किसी जगह पर एक यह और एलसीएम वाले सवाल आते हैं या उनका उपयोग करने की बात आती है तो क्या वह समय होगा सही कि वह पहले वह सीखे और फिर उसके बाद उसको अमल में लाए क्या वह सही है नहीं ना जिस समय होना था अगर वह हो गया होता तो आपको आज एक आईडिया होता कि अच्छा यह होता क्या है और आप उसको आप सही जगह पर सही तरीके से इस्तेमाल कर लेते अब तो गाड़ी छूट गई इसी तरीके से अगर हमें हमारी यह अवस्था है ना कि भैया हम स्टूडेंट लाइफ में है तो वह कहां होना चाहिए ओके पढ़ाई लिखाई भी होना चाहिए खेल कुत्ते होना चाहिए व्यायाम व जिस पर होना चाहिए एक साइड पर होना चाहिए नेट पर होना चाहिए और उन सारी चीजों में जो आपको हेल्प करेगा अपने प्रोफेशनल करियर को डिवेलप करने के लिए क्योंकि बुनियाद आप यहां पर रहते हैं तभी जाकर आप सच्ची में या उसी में जाते हैं कॉलेज में और उसके बाद सबसीक्वेंटली आप किसी जॉब में जाते हैं उस फंक्शन में जाते हैं जो मैंने जाते हैं फील्ड में जाते हैं आप सेक्सरिया इंस्टीट्यूट करते हैं या तो आप जॉब करते हैं या फिर आप बिजनेस करते हैं लेकिन अगर आप तुरंत लाइफ में आपने सोचा चलो कोई बात नहीं आप ही हम एंजॉय कर लेते हैं और आगे बाद में देखा जाएगा तो समय निकल जाता है तो फिर लौट के नहीं आता है और एग्जाम तो लेते हैं आप से कोई गलती हो गई है ऑफिस में या पर्सनली पर्सनल लाइफ में किसी के साथ पर आपको पता लग गया तुरंत पता लग गया मेरे से गलती हो गई क्या और यह दो लोगों के बीच की बात है अभी से संबंध बिगड़ने के पूरे चांस हैं आपकी गलती आप भूल के कारण चाहे वो जाने या मैं जानू जिक्र किया आपने या अनजाने में किया लेकिन आपको पता लग गया कि भाई यह हो गया है तुझे उसी समय उसका उपचार करना ठीक होगा उसी समय उसको कंफर्म करना यह सुधारना सहयोग है उसको छोड़ देना सही होगा सोच कर देखे तुझे जैसा में जो करना होता है उस पर अगर हम उस समय ध्यान नहीं देते हैं तो आगे चलकर वह बड़ी प्रॉब्लम हो सकती है एक एक और एग्जाम कर लेते हैं जब आप शुरू होती है तू एक चिंगारी से शुरू होती है धीरे-धीरे को बढ़ने लगती है हम सोचे कि कोई बात नहीं आराम से कर लेते हैं तो काबू पा लेंगे तो आगे जब आंख बड़ी हो जाएगी तो क्या आप पर काबू पा पाएंगे मुश्किल हो जाएगा बहुत मुश्किल हो जाएगा अभी जब शायद एक बाल्टी पानी से काम हो जाता तो आगे चलकर हो सकता है द फायर ब्रिगेड भी उस आग को ना भुला पाए हो सकती है ना सोच कर देखिए जी देखिए समय किसी के लिए रुकता नहीं है अगर यह चाहिए था कि मैं प्रैक्टिस कर लूं अपनी स्केल पर काम कर लूं MP3 सिसोदिया ब्लॉक कर लूंगा मेरे पास टाइम है तो मेरी सांसे इससे बढ़िया काम कुछ और हो नहीं सकता क्योंकि आगे चलकर अगर आपको पता है कितनी जरूरत पड़ेगी तो अब यह काम कर देना चाहिए अब आप सोचते हैं कि चलो कोई बात नहीं आगे चलकर देखी जाएगी आज आराम कर लेते हैं तुझे कुछ नहीं होने वाला बहुत मुश्किल हो जाएगा आगे चलकर दिक्कत हो जाएगी तकलीफ हो जाएगी परेशानी हो जाएगी अभी आजकल के समय में हम देखते हैं कि भाई आ रहा करो ना का टाइम है और यह है वह है लुक्स उसे चलो बाद में कर देंगे ऐसा चलेंगे अरे भाई बहुत सारे लोग को बहुत दिक्कत हुई थी तकलीफ हुई थी किस लिए कि भाई अचानक से लॉक डाउन हो गया यह हो गया वह हो गया तो अगर आपने सब कुछ ठीक-ठाक रखा होता टाइम पर सब कुछ काम किया होता तो चाय लॉक डाउन हो या यह हो गया वह हो आपको दिक्कत परेशानी थोड़ी कम से कम होती कंपेरटिवली लेकिन अगर आपने नहीं किया तो देखा था गाड़ी का पीयूसी करवाना है और आपने टाइम पर नहीं भाई उसकी डेट निकल गई है तो आगे सिग्नल के बाहर बाद अगर कोई राशि का कौन से बलिया ट्राफिक पुलिस खड़ा है तो वहीं वह आपको रोक लेगा फिर आप क्या बोलेंगे बहाने बनाएंगे कि टाइम नहीं मिला तो यह हो गया तो वह हो गया अरे भाई सीधी सी बात है पीयूसी खत्म होने वाले हैं आप करवा लो इंश्योरेंस खत्म होने वाला है आप करवा दो क्योंकि हमें नहीं पता कि आगे क्या हो सकता है तो करवा लो ना टाइम से करवा लो क्या दिक्कत है एयरपोर्ट पहुंचना है अगर आप टाइम से नहीं पहुंचेगी टाइम से शुरुआत नहीं करेंगे तो भी हो सकते हैं आपकी फ्लाइट में सो जाए तो कितना बड़ा नुकसान हो जाएगा इस धोके के आधा घंटा आपको एयरपोर्ट पर रुकना बड़े कोई बात नहीं लेकिन अगर माली से आप आधे घंटे लेट हो गए तो तो फ्लाइट तो चली गई ना आप का नुकसान हो गया ना इसी तरीके से जीवन में जो रिलायंस कार्यालय प्रोफेशनल लाइफ यहां वहां हर जगह टाइम का सदुपयोग करना बहुत जरूरी होता है समय आपके लिए रुकेगा नहीं वह चलता चला जाएगा आप उस समय में क्या करते हैं कि आप पर निर्भर करता है अगर आपने सही समय पर सही काम कर लिया तो वह आपके बारे न्यारे और यह एक बार नहीं करना होता है यह हमेशा करते रहना पड़ता है आगे नहीं किया तो दिक्कत परेशानी का सामना करना पड़ सकता है फिर आप सोचेंगे पछतावा होगा कि काश मैंने उस समय उनकी बात मान ली होती काश मैंने उस समय कर लिया होता समय बहुत बलवान होता है दोबारा लौट के नहीं आता जो चला जाता है तो

Avdhesh Tiwari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Avdhesh जी का जवाब
Business
1:13

ashok pandit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ashok जी का जवाब
Godly service
2:58

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • हमारे जीवन में समय का महत्व, हमारे समय का सही उपयोग, लोगों को समय का महत्व कैसे समझाएं
URL copied to clipboard