#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speaker

महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?

Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:02
नमस्कार साथियों आप सभी बोलकर परिवार का तहे दिल से स्वागत है आज हम महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताएंगे महाशिवरात्रि का व्रत 11 मार्च को बृहस्पतिवार को आएगा महाशिवरात्रि के दिन शिव जी की पूजा की जाती है और किस दिन पूजा करने से हमारी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है और हमारी मान्यता है इस दिन व्रत और पूजा करने से व्यक्ति को मनचाहे वर की प्राप्ति होती है अगर कन्या का विवाह काफी समय से नहीं हो रहा हो या किसी तरह की बाधा आ रही हो तो उसे महाशिवरात्रि का व्रत करना चाहिए और इस स्थिति के लिए वक्त बहुत ही फलदाई माना जाता है इस व्रत को करने से भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त होता है हाथी हमें सुख और शांति और समृद्धि प्राप्ति होती है धन्यवाद साथियों खुश रहो

और जवाब सुनें

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:43
गया से महाशिवरात्रि के व्रत के महत्व के बारे में बताइए तो देखिए महाशिवरात्रि बहुत बड़ा जो है बहुत पावरफुल व्यक्ति के रूप में माना जाता है ऐसा माना जाता है कि इस महा शिव और पार्वती जी का विवाह संपन्न हुआ था इस दिन जो है पूरे ब्रह्मांड में सब तरफ पॉजिटिव एनर्जी टेबल करती रहती है और इस दिन आप जब तक उपवास रखते हैं तो इसका फल है आपको कहीं और ज्यादा गुना बढ़कर मिलता है और ऐसा माना जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन अगर आप रात्रि जागरण करते हैं तो आपकी जो नक्सली जनाजे को काफी ज्यादा गुना बढ़ जाती है उम्मीद करते हैं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Gaya se mahaashivaraatri ke vrat ke mahatv ke baare mein bataie to dekhie mahaashivaraatri bahut bada jo hai bahut paavaraphul vyakti ke roop mein maana jaata hai aisa maana jaata hai ki is maha shiv aur paarvatee jee ka vivaah sampann hua tha is din jo hai poore brahmaand mein sab taraph pojitiv enarjee tebal karatee rahatee hai aur is din aap jab tak upavaas rakhate hain to isaka phal hai aapako kaheen aur jyaada guna badhakar milata hai aur aisa maana jaata hai ki mahaashivaraatri ke din agar aap raatri jaagaran karate hain to aapakee jo naksalee janaaje ko kaaphee jyaada guna badh jaatee hai ummeed karate hain aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
2:18
वाले महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताओ देखिए शिव पुराण के अनुसार भगवान शिव ने स्वयं ब्रह्मा विष्णु और माता पार्वती को महाशिवरात्रि व्रत की महिमा के बारे में बताया था आप भी जानिए इस व्रत का महत्व शिव पुराण के अनुसार ब्रह्मा जी भगवान विष्णु और माता पार्वती ने भगवान शिव से पूछा कि आप से संतुष्ट होकर प्रथम सुख प्रदान करते हैं जिस व्रत के करने से भक्तों को भोग और मोक्ष की प्राप्ति हो सके उसके बारे में बताएं इस पर भगवान शिव ने कहा कि वैसे तो उनके कई व्रत है जो भोग और मोक्ष प्रदान करने वाले हैं दसों दसों व्रत कहा जाता है यह सभी के प्रयत्न पूर्वक सदा इन बातों का पालन करना चाहिए लेकिन मोदी की कामना करने वालों को 4 घंटों का नियम से पालन करना चाहिए यह चार व्रत है भगवान शिव की पूजा रूद्र मंत्रों का जाप शिव मंदिर में उपवास और काशी में देखते हैं यह मौत के संचार सनातन मार्ग इन चारों में भी शिवरात्रि व्रत का विशेष महत्व है अतः इसे अवश्य करना चाहिए प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी शिवरात्रि का लाठी मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी महाशिवरात्रि कहलाती है जिस दिन आध्यात्मिक चतुर्दशी तिथि है दीदी शुभरात्रि होती है उसी दिन व्रत और पूजा करनी चाहिए शिवरात्रि के दिन सुबह दैनिक क्रियाओं से निवृत्त होकर व्यक्ति को ललाट पर भस्म काट्टुकुन्ना लगाना चाहिए गले में रुद्राक्ष की माला पहने चाहिए क्यों मंदिर में जाकर शिवलिंग की विधि विधान से पूजा करनी चाहिए कि के नियमों का पालन करते हुए चार पहर में पूजा करें रात्रि में जागरण करें अगले दिन फिर शिव पूजन करें उसके बाद ग्रामीणों को शंकर आकर स्वयं भी भोजन करें यह सब महाशिवरात्रि का महापर्व 11 मार्च 2021 दिन गुरुवार को देवों के देव महादेव की विधि विधान से पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होंगी धन्यवाद

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:13
पेज की बैंक के बारे में बताइए महाशिवरात्रि का जो व्रत है उपवास है कि भगवान शिव की आराधना के लिए है माता पार्वती ने हजारों वर्ष तपस्या करके भगवान शिव की प्राप्ति की थी और शिव जी को जो है प्राप्त करने के उपरांत शिवजी का विवाह पार्वती जी के साथ जब संपन्न हुआ तो इस उत्सव को महाशिवरात्रि के रूप में जाना जाता है ग्रंथियों के अनुसार भगवान शिव की उत्पत्ति महाशिवरात्रि का कारण है तो कथाओं में यह भी कहा गया कि भगवान शिव के विवाह मंगल कार्यक्रम महाशिवरात्रि के रूप में जाना जाता है भगवान शिव की आराधना शिवरात्रि के दिन करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो और आज शाम होने से भगवान शिव बहुत ही अच्छा चित्र प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों के ऊपर कृपा दृष्टि रखते हैं

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:57
सवाल यह है कि महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइए महाशिवरात्रि के दिन भक्त जप तप व्रत रखते हैं और इस दिन भगवान के शिवलिंग रूप के दर्शन करते हैं इस पवित्र दिन पर देश के हर हिस्सों में शिवालयों में बेलपत्र धतूरा दूध दही शर्करा आदित्य शिवजी का अभिषेक किया जाता है देश भर में महाशिवरात्रि को एक महत्त्व के रूप में मनाया जाता है इस दिन देवों के देव महादेव का विवाह हुआ था हमारे धर्म शास्त्रों में ऐसा कहा गया है कि महाशिवरात्रि का व्रत करने वाले साधक को मोक्ष की प्राप्ति होती है जगत में रहते हुए मनुष्य का कल्याण करने वाला हसरत है महाशिवरात्रि व्रत को रखने से साधक के सभी दुख मीणाओं का अंत होता है साथ ही मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं शिव की आराधना से धन-धान्य सुख सौभाग्य और समृद्धि की कभी कमी नहीं रहती भक्ति और भाव से सतह के लिए तो करना ही चाहिए साथ ही आज के कल्याण के लिए भगवान आशुतोष की आराधना करनी चाहिए मनसा वाचा कर्मणा हमें शिव की आराधना करनी चाहिए भगवान भोलेनाथ नीलकंठ है और अवश्य हिंदू धर्म धर्म शास्त्रों में प्रदोष काल यानी सूर्यास्त होने के बाद रात्रि होने के मध्य की अवधि मतलब सूर्य अस्त होने के बाद के 2 घंटे 24 मिनट की अवधि प्रदोष काल कहलाती है इसी समय भगवान आशुतोष प्रसन्न मुद्रा में नृत्य करते हैं इसी समय सर्वजन अप्रिय भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था यही वजह है कि प्रदोष काल में शिव पूजा नवरात्रि में औघड़ दानी भगवान शिव का जागरण करना विशेष कल्याणकारी कहा गया है हमारे सनातन धर्म में 12 ज्योतिर्लिंग हैं का वर्णन किया है कहा जाता है कि प्रदोष काल में महाशिवरात्रि तिथि में ही सभी ज्योतिर्लिंग का आप पादु भरवा अपात्र भाव हुआ है

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Shivangi Dixit.  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Shivangi जी का जवाब
Unknown
0:49
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइए कि महाशिवरात्रि के व्रत के दिन हमें भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए जिनका प्रभाव दीदी सब हो रहा है या जिनका प्रभाव होने में दिक्कत आ रही है तो वह महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर जल चढ़ाएं धूप नैवेद्य अर्पण करके फूल वगैरह करके भगवान से अपने लिए इकट्ठा भर मांगी अपने लिए एक अच्छी कन्या की शादी जब से हुआ था तू यही कि उनकी कृपा से महाशिवरात्रि का व्रत करने से निरोगी काया सुख समृद्धि प्राप्त होती है शिवजी की पूजा करने से जवाब

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:01
हेलो जीवन आई होप आप सब ठीक होगा प्रश्न पूछा गया है महाशिवरात्रि व्रत के बारे में के महत्व के बारे में बताओ इसे महाशिवरात्रि का महापर्व 11 मार्च को स्कूल देवों के देव महादेव की विधि विधान से पूजा जागरण अध्यात्म में आज में महाशिवरात्रि व्रत महत्व कार्य में काफी बताएगा शिव अनुसार के अनुसार शिव पुराण के अनुसार भगवान शिव ने स्वयं ब्रह्मा विष्णु और माता पार्वती को फांसी देते समय के बारे में बताया था तुम इस ग्रुप के हाथों की बात करें तो शिव पुराण के अनुसार ब्रह्मा जी दो भगवान विष्णु और माता पार्वती ने भगवान शिव से मैसेज आप किस पद से स्वस्थ होकर उत्तम सुख प्रदान करते हैं उसकी व्रत करने से भक्तों को भोग और मोक्ष की प्राप्ति हो सके उसके बारे में बताएं इस पर भगवान शिव ने कहा था कि बचत उनके कई व्रत है जो भोग मोक्ष प्रदान करते दिल को उद्देश्य व्रत रखा जाता है अंग्रेजों को यदि पुरुष अगर हो तो बताना करना चाहिए क्योंकि मोक्ष मोक्ष की कामना करने वालों को चार वेदों के नाम से पालन करना यह व्रत तीजा व्रत है भगवान शिव की पूजा 20 मंत्रों का जाप शिव मंदिर में उपवास रखा चिन्ह देते हुए मौत की सजा सुनाती मार्ग विचारों को शिवरात्रि की कमी बहुत ज्यादा देश विशेष महत्व है अतः अवश्य करना चाहिए प्रत्येक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी शिवरात्रि खिलाती है फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष चतुर्थी महाशिवरात्रि चला दे चुके नवरात्रि में चतुर्भुज की थी उसी दिन शिवरात्रि होती उसे उसी दिन व्रत की पूजा करनी चाहिए कि शिवरात्रि कितने तारीख से वशीभूत होकर व्यक्ति को ललाट पर प्रतिबंध लगाना चाहिए गले में रुद्राक्ष की माला पहने चाहिए शिव मंदिर में जाकर सूर्य की विधि विधान से पूजा करवा चौथ के नियमों का पालन करते हुए 4 मिनट में पूजा करें रात्रि में जागरण कर अगले दिन पूर्व का पूजन के बाद ब्राह्मणों को भोजन कराकर सॉन्ग को दूर कर लो इसके महत्व और उसकी किस प्रकार से उसके नियम है वह हम आपको बताएं आशा करता हूं आपको मैंने दाल की की जानकारी भजन को सब्सक्राइब करें धन्यवाद

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
kamal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए kamal जी का जवाब
Unknown
0:05
ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं और बच्चों का विकास dw4a क्या है

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:56
फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रेम स्नेह महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइए तो फ्रेंड्स मेरी तरफ से सब को महाशिवरात्रि की बहुत सारी शुभकामनाएं महाशिवरात्रि का त्यौहार होता है उसमें शंकर भगवान की पूजा की जाती है माता पार्वती के साथ और यह बहुत ही शुभ फलदाई होता है और लोग इस दिन रवि करते हैं और ऐसा कहा जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन शिव और पार्वती जी की शादी हुई थी तो हम लोग शिव और पार्वती की शादी की जो वर्षगांठ है उमर बार सेलिब्रेट करते हैं यही महाशिवरात्रि का व्रत पूजन करके और इस दिन मां शिवरात्रि के दिन शंकर भगवान की पूजा की जाती है उनको जल्दी चले जाते हैं माता पार्वती को विश सुहाग का सिंगार का सामान चढ़ाया जाता है तो इस दिन माता पार्वती और शंकर भगवान की पूजा का बहुत ही महत्व है धन्यवाद

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:41
प्रश्न है महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइए तो देखिए महाशिवरात्रि का व्रत हम बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं और इसीलिए सत्य ही शिव है शिव ही सुंदर है तभी तो भगवान आशुतोष को सत्यम शिवम सुंदरम कहां गया है वहीं पर भगवान शिव की महिमा अपार होती है और उनका त्यौहार क्यों मनाया जाता है त्रयोदशी तिथि फाल्गुन मास कृष्ण पक्ष तिथि को मनाया जाता है वही महाशिवरात्रि के दिन भक्त जप तप व्रत रखते हैं इस दिन भगवान की शिवलिंग के रूप में दर्शन करते हैं इस भगवान इस पवित्र दिन में देश की हर शिवालयों पर बेलपत्र धतूरा दही दूध शर्करा आज से शिवजी का अभिषेक किया जाता है वहीं अगर बात करें इस महोत्सव को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है क्योंकि देवों के न्यू महादेव का इस दिन क्या हुआ था विवाह हुआ था इनकी विवाह किस सर काट के रूप में हम इसे मनाते हैं और बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं इनकी जो साधक होते हैं जो व्रत रखते हैं उनकी हर इच्छाएं पूरा होती है धन्य धान सौभाग्य उनकी हर एक इच्छाओं की कभी कमी नहीं होती मैं तो उनकी हर एक इच्छाएं पूरी होती हैं और जो भी उस चाहते हैं जो भी उनकी मनोकामना इच्छाएं होती है पूरा होती है उसके साथ साथ जो भी साधक व्रत रहते हैं उनके दुख पीड़ा कष्ट पूरी तरह से नष्ट हो जाते हैं

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
priyanka kumari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए priyanka जी का जवाब
Unknown
0:31
क्वेश्चन इन महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताओ धार्मिक मान्यताओं के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन होते हैं उनकी कृपा से निरोगी काया सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है जिन लोगों का विवाह नहीं हो रहा होता है या किसी कारण उस में देरी हो रही है तो महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग की पूजा करने से मनोकामना पूर्ण होती है जीवन में सुख शांति की प्राप्ति भी शिव कृपा से होती

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
1:04
हनी सर नमस्कार मैं मनीष कुमार राजू रोकने प्रशन के उत्तर के साथ आपने क्वेश्चन किया है महाशिवरात्रि व्रत की मृत्यु महाशिवरात्रि का व्रत भगवान शंकर पार्वती माता के लिए रखा जाता है यह महाशिवरात्रि के आज के दिन शंकर भगवान की पूजा होती है और महाशिवरात्रि के दिन व्रत रखकर हमेशा हमारे जो बुजुर्ग लोग हैं वह बताते हैं कि हमेशा श्याम भोजन करते हैं शंकर भगवान का जो व्रत का होता है वह जल उसके लिए शिवलिंग पर जल चढ़ाया जाता है फिर मंगलवार को शंकर भगवान की पूजा की जाती है और हमेशा शाम को उनका व्रत है जो विधि विधान विधान के साथ खोला जाता है पूजा और करके हमारे गांव में यही रितु पता चल रही है जो मैंने आपको बताई है

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:48
आपका सवाल है कि महाशिवरात्रि व्रत के मित्रों के बारे में बताएं तुम्हार शिवरात्रि का पर्व फागुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी की निषदी अर्धरात्रि होने पर मनाया जाता है ज्योतिष गणना के अनुसार चतुर्दशी तिथि के स्वामी श्री हरीश द्विवेदी जी शिव उपासना के लिए महत्वपूर्ण है इस साल महाशिवरात्रि 11 मार्च गुरुवार को पढ़ रहे हैं पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन शिव भगवान और माता पार्वती का विवाह हुआ था इस दिन भगवान शिव और पार्वती जी की पूरी विधि विधान से पूजा की जाती है उन्हें भांग धतूरा विफल पत्र और पेट चढ़ाए जाते हैं ज्योतिषी वेद पंडित श्री नारायण व्यास अंतरा बताते हैं कि इस दिन लोग धार्मिक अनुष्ठान या रुद्रा अभिषेक किया महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते हैं इस दिन अधिकांश घरों में लोग बर्थ रखते हैं शाम को फलाहार कर के वक्त पूरा किया जाता है इस दिन देशभर में कई स्थानों पर शिवराज निकाली जाती है और धूमधाम से यह पर्व मनाया जाता है शिवरात्रि के दिन व्रत और पूजा करने से ही युक्तियों को मनचाहे फल की प्राप्ति होती है और कन्या शादी मैं बंदा आने पर इस दिन व्रत करना चाहिए इस दिन हरिद्वार में कुंभ का प्रथम शाही स्नान भी होता है और किसी का व्रत करने से उसने भी कुंडली में दोष है वह पूरे समाप्त हो जाते हैं धन्यवाद

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:31
ब्रिज के महत्व की बात है ताकि महाशिवरात्रि व्रत बहुत अच्छा और सही है उधर पैसा है क्या की हर एक मनोकामना को पूरा कर देता है आप कोशिश करना कि चाय जी के आज के युग फूल पथरी और बिल वगैरह चढ़ाई जाती हो सकता है उसके बाद घर पर आए और आपको जरूर आना है वह खाए और आपकी मनोकामना पूर्ण होती है उसको कोई भी कर सकते हैं उसमें कोई वह नहीं है कि बस 3डी सिखा सकती जांच नहीं कर सकते सब कुछ कर सकते हैं
Brij ke mahatv kee baat hai taaki mahaashivaraatri vrat bahut achchha aur sahee hai udhar paisa hai kya kee har ek manokaamana ko poora kar deta hai aap koshish karana ki chaay jee ke aaj ke yug phool patharee aur bil vagairah chadhaee jaatee ho sakata hai usake baad ghar par aae aur aapako jaroor aana hai vah khae aur aapakee manokaamana poorn hotee hai usako koee bhee kar sakate hain usamen koee vah nahin hai ki bas 3dee sikha sakatee jaanch nahin kar sakate sab kuchh kar sakate hain

bolkar speaker
महाशिवरात्रि व्रत के महत्व के बारे में बताइये?Mahashivaratri Vrat Ke Mahatv Ke Bare Mei Bataiye
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
5:02
महाशिवरात्रि जल के महत्व के बारे में बताओ आप जानते हैं कि भारत में बहुत तेजी से त्योहार को मनाया जाता है और यहां पर अंदरूनी सकते हैं नहीं भी जा सकते हैं कहते हैं कि त्रयोदशी के दिन और खास करके यह यंत्र होती है फागुन महीने की आरती है फाल्गुन महीने की त्रयोदशी के दिन भगवान सिंह शिवराज और पार्वती से शादी हुआ था और इसी कारण से महाशिवरात्रि मनाई जाती है और कुछ लोगों का इसलिए माना जाता है क्योंकि वैसे तो हर महीने में तो दूसरी आती है लेकिन यह कुछ खास होती है खास करके फाल्गुन महीने की किस्त गुजराती किस पक्ष में जो आती है ऐसे लोगों पर देखा लोग अलग-अलग ढंग से बता रहे हैं कि कीजिए और यह मनोदशा रही है और भी बहुत सारी चीजें तो सभी करते हैं कि महाशिवरात्रि के दिन अगर आप सचमुच भगवान शंकर मानवाधिकार का ध्यान देना चाहते हैं तो सबसे पहले आप सुबह उठ के नहा धोकर केक संकल्प कीजिए कि भाई हम महाशिवरात्रि का व्रत रखना चाहते हैं और भगवान से मनोकामना पूर्ण कि मेरी निकली और दूसरी बात है कि फिर आप किसी भी शिवलिंग पर जाइए जो आपके इर्द-गिर्द हो और वहां पंचामृत ले सकते हैं या नहीं तो दूध ले ले उसमें शक्कर डालें शहद भी डाल सकते हैं बेलपत्र ले सकते हैं धतूरा ले सकते हैं सभी फूल ले सकते हैं शिवलिंग पर जा करके चढ़ा सकते हैं जो हम कर सकते हैं लोग अलग-अलग ढंग से ज्योतिष शास्त्र लोकदल के लिए पर आप दूर चला सकते हो सहित चढ़ा सकते बेलपत्र झाड़ पर चढ़ा सकते हो और हेलो यार आ सकती है दो बत्ती के बाद में दीया जला के रख उनको कर सकते हो पान के पत्ते या तुलसी वगैरह भी चढ़ा सकते ऐसा मत करा कर के हम भगवान की आरती कर लो और उसका समापन कर दीजिए अपने 12 ज्योतिर्लिंगों को याद कर सकते हैं जैसे पहला सोमनाथ जी के हैं जो कि गुजरात में है फिर दूसरा है शैल मल्लिकार्जुन है जो हैदराबाद से आगे वाली गाड़ी सिंपल अंतर पाया जाता है फिर महाकाल है उज्जैन में ओमकारेश्वर है जो इंदौर में है नागेश्वर हैं द्वारिका धाम में बेचना है जो बिहार में है वहां तो जो है बिहार से हटकर के दूसरे प्रदेश में पहुंच चुके हैं खासकर के शंकर हैं जो कि महाराष्ट्र में त्रंबकेश्वर है जो नासिक में गणेश्वर है औरंगाबाद में केदारनाथ हिमालय है काशी विश्वनाथ जो है बनारस में है रामेश्वरम कृष्णापल्ली में है तो कर सकते हैं और शिवरात्रि निश्चित तौर पर पूरे भारत में मनाई जाती है और शिव की महिमा पढ़ सकते हैं क्रोध मंत्र हैं इनके पढ़ सकते हो और जो भी समर्थन करते हैं कि भगवान भोलेनाथ हैं सब की मनोकामना पूर्ण करते हैं आपको अपना घर परिवार के लिए शांति सुकून के लिए कर्ज मुक्ति के लिए प्रार्थना कर सकते हैं निश्चित तौर पर भगवान ने आपकी और आपके 108 नामा होता है इनका भगवान दुर्गाष्टमी जाम कर सकते हैं किस तरह से पूजा पाठ कर सकते हैं

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महाशिवरात्रि व्रत क्यों रखा जाता है, महाशिवरात्रि व्रत का महत्व
URL copied to clipboard