#रिश्ते और संबंध

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
3:40
विजयपाल बहुत शानदार है कि कोई लड़की हमें मर्जी शादी करती है और समाज वाले नहीं अपनाते हैं उसके माता-पिता नहीं अपनाते हैं बल्कि वह अपनी खुशी से शादी करती है विजय शादी की उम्र 20 25 या 30 साल की होती है उम्र और उस समय यह लड़की और लड़की और मंत्री अपने माता-पिता के मंत्र शादी करते हैं उसमें पीटा कि वह छत्रछाया में रहते हैं और जानते हैं कि अगर हम गलत भी करेंगे तो मेरे माता-पिता जरूर हम कोशिश करेंगे वह उनके अंदर ही जोश होता है एक उन्माद होती है और उस देश में वह गलत काम कर सकते हैं बच्चे जो हैं अपने पिता से दिमाग से बिल्कुल तेज होते हैं मैं मानता हूं लेकिन उन्होंने अनुभव देता है वह अपनी उम्र के उस पड़ाव में अनुभव को एक कड़वा अनुभव महसूस करते हैं और जो नहीं चाहते हैं कि मेरे बच्चे कस्टमर हैं इसलिए वो अपने बच्चों की अच्छी जिंदगी के लिए ही एक अच्छा लड़का खोजते हैं एक अच्छी लड़की खोजते हैं लोग मुझे लगता है कि नहीं पिताजी ने गलत शादी कर दिया लेकिन दीजिए आज भी अरेंज मैरिज बहुत लगती है और लव मैरिज वीडियोस कॉमेडी बहुत ज्यादा है बहुत जल्दी टूट जाते हैं हमारे क्योंकि उस समय मैसेज होती है कि कुछ दिखाई नहीं देता है सिर्फ प्यार दिखता है और कुछ नहीं दिखता है और मां-बाप ही जानते हैं कि प्यार पेट नहीं भरेगा प्यार जो है सैनिक नहीं चलेगी कि प्यार किए भाग गए उसके लिए पैसा चाहिए उसके लिए दिमाग चाहिए और वह चाहिए शादी करने के लिए मां-बाप जब तक होते हैं उनकी छत्रछाया में हम रहते हैं तो तक हमें कोई दिक्कत महसूस नहीं होती है हम आराम से उठते हैं कांटे हैं सोते हैं टीवी देखते हैं दिमाग में प्रेशर सुनने होता है लेकिन जैसे वह दुनिया छोड़ जाते हैं तुम्हें पता चलता है कि वास्तव में जो दुनिया देख रही है गुलाब के फूल की तरह नहीं यह कांटों की तरह है गुलाब का कांटो की तरह जो तक हमारे मां-बाप रहते हैं यह गुलाब के फूल की तरह दिखती है और जब मर जाते हैं यह गुलाब के कांटे की तरह धोने दिखाई देने लगती है कि कोई भी व्यक्ति नहीं चाहता है कि आप आगे बढ़े सब एक दूसरे के पैर खींचने में लगे रहते हैं और सबसे ज्यादा बड़ी बात यह है कि आपके अपने लग रहा था जो सबसे आपके करीबी है और इसका अनुभव सिर्फ मां बाप होता है लड़की भाग कर शादी करें मां-बाप की बेजती लोग खुश होते हैं एक बच्चा पालने में कितना मेहनत है आप समझते हैं यह जो बाप होगा वही समझता होगा वह भागने वाला नहीं समझते हैं उनका बच्चा हुआ तो समझेंगे कितना मेहनत पड़ता है और वह बच्चा जब मनमाने ढंग से काम करने लगे गलत काम करें सही काम करें कोई दिक्कत नहीं मन मारेंगे तो सही काम करेगी जब गलत काम करने लगे तब बहुत कष्ट होता है
Vijayapaal bahut shaanadaar hai ki koee ladakee hamen marjee shaadee karatee hai aur samaaj vaale nahin apanaate hain usake maata-pita nahin apanaate hain balki vah apanee khushee se shaadee karatee hai vijay shaadee kee umr 20 25 ya 30 saal kee hotee hai umr aur us samay yah ladakee aur ladakee aur mantree apane maata-pita ke mantr shaadee karate hain usamen peeta ki vah chhatrachhaaya mein rahate hain aur jaanate hain ki agar ham galat bhee karenge to mere maata-pita jaroor ham koshish karenge vah unake andar hee josh hota hai ek unmaad hotee hai aur us desh mein vah galat kaam kar sakate hain bachche jo hain apane pita se dimaag se bilkul tej hote hain main maanata hoon lekin unhonne anubhav deta hai vah apanee umr ke us padaav mein anubhav ko ek kadava anubhav mahasoos karate hain aur jo nahin chaahate hain ki mere bachche kastamar hain isalie vo apane bachchon kee achchhee jindagee ke lie hee ek achchha ladaka khojate hain ek achchhee ladakee khojate hain log mujhe lagata hai ki nahin pitaajee ne galat shaadee kar diya lekin deejie aaj bhee arenj mairij bahut lagatee hai aur lav mairij veediyos komedee bahut jyaada hai bahut jaldee toot jaate hain hamaare kyonki us samay maisej hotee hai ki kuchh dikhaee nahin deta hai sirph pyaar dikhata hai aur kuchh nahin dikhata hai aur maan-baap hee jaanate hain ki pyaar pet nahin bharega pyaar jo hai sainik nahin chalegee ki pyaar kie bhaag gae usake lie paisa chaahie usake lie dimaag chaahie aur vah chaahie shaadee karane ke lie maan-baap jab tak hote hain unakee chhatrachhaaya mein ham rahate hain to tak hamen koee dikkat mahasoos nahin hotee hai ham aaraam se uthate hain kaante hain sote hain teevee dekhate hain dimaag mein preshar sunane hota hai lekin jaise vah duniya chhod jaate hain tumhen pata chalata hai ki vaastav mein jo duniya dekh rahee hai gulaab ke phool kee tarah nahin yah kaanton kee tarah hai gulaab ka kaanto kee tarah jo tak hamaare maan-baap rahate hain yah gulaab ke phool kee tarah dikhatee hai aur jab mar jaate hain yah gulaab ke kaante kee tarah dhone dikhaee dene lagatee hai ki koee bhee vyakti nahin chaahata hai ki aap aage badhe sab ek doosare ke pair kheenchane mein lage rahate hain aur sabase jyaada badee baat yah hai ki aapake apane lag raha tha jo sabase aapake kareebee hai aur isaka anubhav sirph maan baap hota hai ladakee bhaag kar shaadee karen maan-baap kee bejatee log khush hote hain ek bachcha paalane mein kitana mehanat hai aap samajhate hain yah jo baap hoga vahee samajhata hoga vah bhaagane vaala nahin samajhate hain unaka bachcha hua to samajhenge kitana mehanat padata hai aur vah bachcha jab manamaane dhang se kaam karane lage galat kaam karen sahee kaam karen koee dikkat nahin man maarenge to sahee kaam karegee jab galat kaam karane lage tab bahut kasht hota hai

और जवाब सुनें

Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:19
फ्रेंड की शादी कर लेता है उसे क्यों नहीं आज की ताजी इतनी बड़ी सोच है जिसके तहत नहीं पाता है
Phrend kee shaadee kar leta hai use kyon nahin aaj kee taajee itanee badee soch hai jisake tahat nahin paata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

URL copied to clipboard