#पढ़ाई लिखाई

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:29
आपने कहा क्या आप इस कथन से सहमत हैं कि भारत में अंग्रेजी क्यों नहीं आता ही नहीं करते थे और यह तो हम लोगों ने बनाया है भारतीय लोगों ने अंग्रेजी को इतनी प्राथमिकता देती कितने उसको उचित स्थान दे दिया कि आज अंग्रेजी हमारे भारतीय लोगों का सबब बन गया एस्टेट स्टेटस सिंबल बन गया है मान सम्मान का विषय बन गया है हर क्षेत्र में इंग्लिश का ब्लू प्रिंट इंग्लिश में इंटरव्यू जो इंग्लिश में बातचीत देखें तो इंग्लिश के खिलाफ नहीं हूं इंग्लिश में बोलना अच्छा है समझ नहीं आता है कि तूने देसी विदेशी लोगों की विषय में जानकारी मिलती है लेकिन इंग्लिश के अभाव में हम यह नहीं कि हम पूर्ण रुप से ज्ञान से वंचित हो जाएंगे यह कहना चाहते हैं आज हिंदी संगानी जिंदगी का हर 1 दिन में इंग्लिश सीखे बिना आगे बढ़ने का रास्ता मिल जाएगा बहुत मुश्किल है इतनी जिद क्यों कर हमारी क्षेत्र में मरीज मर कैरियर में बहुत स्थान बहुत मायने रखती है

और जवाब सुनें

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:38
आप इस कथन से सहमत हैं कि भारत में अंग्रेजी की वैदिक भाषा नहीं बल्कि उस पर बहुत अधिक है तो जी हां यह बहुत अधिक है क्योंकि हम नोटिस करेंगे जो लोग रैली में खेल सकते हैं उनकी लिस्ट हिंदी उस टाइम वैल्यू पर लेकिन जैसी भी कॉलेज लाइफ एंट्री करते हुए समझ जाते हैं यदि हम इंग्लिश बोलना पढ़ना नहीं सीखेंगे तो हम कुछ आगे नहीं कर सकते हैं सर कुछ सरकारी जॉब सिंह जो हिंदी के पेपर के द्वारा संचालित से देखकर पास पैसे थे लेकिन फिर भी लाइफ में अंग्रेजी में टीचर के लिए तो भेजी थी ना बहुत इंपॉर्टेंट है बहुत सी चीजें गणेश महफिल होती है हिंदी में नहीं

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अंग्रेजी भाषा का महत्व, भारत में अंग्रेजी भाषा का स्थान, भारत में अंग्रेजी भाषा का इतिहास
URL copied to clipboard