#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:48
राजेश राय की नारी सशक्तिकरण क्या है और क्या नारी को व सम्मान वाहक मिल रहा है जो समाज में उसे भूलना चाहिए प्लीज जवाब दीजिए तो दिखे नारी सशक्तिकरण का मतलब होता है वह पागल मैंने जितना भी औरतों को शक हो गया या फिर हरे क्षेत्र में भी सैमसंग ने भी हर एक चीज उनका हक होना चाहिए चाहे डिसीजन को लेकर वह पार्लियामेंट में हूं पॉलिटिक्स में हूं हर एक जगह होनी भी इक्वल और जितना सब को एक समान हक मिलना है इसका मतलब बारिश हो सकती करूंगी होता तो आजकल के समाज में हम देख रहे हैं अब तो हाथ में दे देते इतना प्राइमरी अपने सारे के सारे सारे रेप के सो रहे हैं कि वह अपने ही देश में कितने सुरक्षित नहीं है आप देखिए हर एक दिन आपको नोटिफिकेशन में आता है वह कितने सारे कैसे सो रहे हैं आ मतलब कितना ज्यादा यह क्राइम अगर बात करें तो आज भी बहुत सारे ऐसे फील्ड और बहुत सारे ऐसे क्षेत्र जहां पर वूमेन को कम मतलब क्या होता है कि उनका कहां पर जॉब लगे और मैन पावर की वजह से मेरा दामन पर रहते हैं और बहुत सारी ऐसी आदमी समाज सोसायटी होता है कि लड़कियां मतलब नहीं सकती ज्यादा मतलब इतना काफी रघु दादा पढ़ना चाहती तूने पढ़ने नहीं दिया जाता सीढ़ियों पर चढ़े थे उनके घर में और फिर उनके घर परिवार का यह सोच डोमेस्टिक वायलेंस आटे की शादी के बाद कितना डोमेस्टिक वायलेंस होता है डोरी को लेकर कितनी सारी चीजों की वजह से मतलब इनवाइट करती देखी उनको उनका हक नहीं है वह एक पल नहीं किया जाता है जिसकी वजह से आज ही ऐसा हो रहा है और लोगों की आज भी ऐसी मेंटालिटी है कि अगर डाइवोर्स होकर अगर कोई लड़की घर भूख लगती है भले जब शादी से पहले अपनी बेटी की लेकिन शादी के बाद आती है तो सामान सोसायटी क्या-क्या आएगा मतलब सोच बदल जाता है जिसकी वजह से वह मैं सुसाइड करना जाना है यह समझते हैं और रहना और जिंदगी जीने के लिए बहुत सारी चीज़ें इंसान की सोच बदलना बहुत जरूरी है वह में के लिए पुलाव बनाना आज इतने सारे क्राइम का मतलब बिना सोचे समझे अगर कोई इंसान किसी के भी साथ कुछ गलत कर रहा है चाहे वह सरकार हो या कोई भी तो तुरंत सजा देनी चाहिए तो इस तरह से लो हमारा मतलब स्ट्रांग आर्काइव्स कम होंगे और अरे मतलब

और जवाब सुनें

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:29
नमस्कार दोस्तों प्रस्तुत किया गया कि नारी सशक्तिकरण क्या है और क्या नारी को वर्तमान वाहक मिल रहा है जो समाज में उसे मिलना चाहिए प्लीज जवाब दें तो दोस्तों में बताना चाहता हूं कि नारी सशक्तिकरण मात्र राजनेताओं द्वारा निकाला गया तब किताबों में रह गया है कोई नारी को आगे बढ़ने देना नहीं चाहता नेता चाहते हैं या पद पर बैठे जो पदाधिकारी है वो नहीं चाहते कि महिलाएं आगे जाए जब तक समाज में ऐसी ही बनी रहेगी तो जनता पर उसका असर नहीं पड़ेगा सबसे अच्छा उदाहरण देख सकते हैं कि संसद में महिलाओं की भागीदारी 50% है कि नहीं है या कोई पार्टी चुनाव लड़ने के लिए महिलाओं को कितनी सीटें देती हैं निश्चित रूप से शहरों में महिलाएं मजबूत हुई है बहुत अच्छे अच्छे पदों पर आसीन हैं उनको मौका मिल रहा है तो निश्चित रूप से और में प्रतिभा की कमी नहीं होती है तो नारी सशक्तिकरण केवल किताबों में ना रहे जो हमारे प्रधानमंत्री जी हैं राष्ट्रपति जी हैं या अन्य पार्टी के सदस्य हैं वह भी इसको गंभीरता से लें जहां रा नैतिक महत्वाकांक्षा जाती हैं वह महिला को पीछे छोड़ देते हैं क्योंकि जब बड़े पद पर महिला रहेगी तो वह महिलाओं का उत्थान कर सकती है नारी सशक्तिकरण को बढ़ावा दे सकती है उसमें आत्मविश्वास जगा सकती है तो दोस्तों राजनीति में भी आना चाहिए और प्राइवेट में या समाज में प्राइवेट कंपनियों में जैसा कि मैंने बताया समाज में धीरे-धीरे भागीदारी महिलाओं की बढ़ती जा रही है लेकिन यह बहुत सारी ऐसी छोटी छोटी बातें भी ध्यान देनी पड़ेगी जैसे पिक्चरों में महिलाओं का चित्र सीरियल्स में महिलाओं का चित्र उससे भी कहीं ना कहीं महिलाओं की सशक्त इकाना आहत होती है तो उसको सेंसर बोर्ड को देखना पड़ेगा कि महिलाओं को वस्तु ना बनाया जाए बल्कि महिलाओं को एक मनुष्य के रूप में पेश किया जाए जो पुरुष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़े और अच्छे भारत का विश्व का निर्माण करें धन्यवाद

Chandan Kumar bharati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Chandan जी का जवाब
Teacher
1:08
एक प्रश्न की नारी सशक्तिकरण क्या और क्या नारी को वह सम्मान वाहक मिल रहा है यह समाज में उससे मिलना चाहिए जो नारी को जो पंचायती राज व्यवस्था के स्तर पर नारियों को 50 परसेंटेज का हक दिया जाता है लेकिन आप बात करते हैं जो नारी सशक्तिकरण का नारी नारी शक्ति कर जैसे हम लोकतंत्र लोगों के द्वारा किया गया था सर को हम लोग लोकतंत्र का तो इस तरह नारी नारी अनेक नारियों से जो मिली शक्ति होते जो समूह होता है उसे हम लोग शक्ति करण कात्यानी नारियों के समूह नारियों के समूह को इस सिंपल भाषा में समझाया साधारण भाषा में कहा जाए कहा जाता है तो नारी के समूह को हम लोग शक्ति कार्ड कहते हैं नारी का सम्मान हो वर्क मिलना चाहिए और मिलता है जो समाज में इसके अस्तर पर इसे पाया जाता है और यह भी हो गया पंचायत स्तर पर तो अब तो 50% नारी को हक दिलाया जाता है इसलिए छत पर पड़े विक्रांत

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
1:11
नमस्कार पेस्ट है नारी सशक्तिकरण क्या है और क्या नारी को वह सम्मान बहुत मिल रहा है जो समाज में से मिलना चाहिए प्लीज जवाब दें कि नारी सशक्तिकरण क्या है कि हम नारी को तो है उसके हक के लिए लड़ना सिखाएं उसको जो है ऐसा ना बना दें कि आप कमजोर हो आप मतलब जो नर हैं उनके बराबर होकर नहीं लड़ सकते हैं उनको हमेशा ना बोले उनको उनका सशक्तिकरण करें उनको उनके हक के लिए लड़ना दिखाएं उन्हें हर क्षेत्र में आगे बढ़ना तक आए उन्हें अपनी बात रखने का तरीका किस तरह से बात करनी है वह दिखाएं ताकि नारी जो है वह आगे जो है हर हर क्षेत्र में हर क्षेत्र में नारी बढ़-चढ़कर भाग ले प्रीति को नारी सशक्तिकरण कहा जाता है अगर हम बात करें आज के समय में ऐसा हो रहा है या नहीं तो कह सकते हैं वह भी रहा है लेकिन नहीं भी हो रहा कुछ शहर है इसे जहां नारी सशक्तिकरण बोने हो रहा है लेकिन कुछ ऐसे भी है मैं कहूंगी बहुत सारे ऐसे हैं जहां पर यह चीज अभी नहीं हो रही है शुक्रिया

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:48
सामने है ना इस बच्ची का नाम क्या है और क्या नारी को वेतनमान बैलेंस कितना है जो सामान्य से मिलना चाहिए जवाब नारी सशक्तिकरण का गीत चाहिए कि नारी को अबला नारी हर क्षेत्र में पुरुषों के आगे हैं उनको मजबूती मिले उनको सत्ता मिली उनको तरक्की का होता है मैंने उन्हें समाज में सम्मान मिले पुरुषों के बराबर उनको हक मिले और वह भी उन समस्त कार्यों को करने में सक्षम है जो एक पुरुष के अंदर है नारियां अग्रणी बनी और उनकी लेटेस्ट में कुल किसान सशक्तिकरण का एक इंसान की कमजोरियां वास्तव में होना चाहिए लेकिन हमारी जीत की नारी कमजोर सपना आता है और बीएचयू ऑनलाइन उसे ना तो सम्मान मिलता है ना उसे मान मिलता है नहीं उसे प्यार मिलता है नहीं उठे तो संतान के प्रति सम्मान मिलता है और न ही उसकी समाज के अंदर किसी भी क्षेत्र में उसको अग्रसर होने का वचन बताइए किस तरह से नारी का सशक्तीकरण अंदाज देखने को तो कथनी और करनी में बहुत बड़ा अंतर है

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
2:00
हाय फ्रेंड्स क्वेश्चन पूछा गया कि नारी सशक्तिकरण क्या है और क्या नारी को सम्मान हो रहा तुम मिल रहा है जो समाज में आने चाहिए सबसे पहले में नारी सशक्तिकरण के बारे में स्पष्ट तो बताना चाहूंगा कि नारी सशक्तिकरण एक ऐसी शक्ति के रूप में देखे जाते हैं जिसके अंतर्गत नारी को सम्मान दिया जाता है इसमें बताया जाता है कि नारी पर जो होता है वह कार्य कर सकते हैं जो एक पुरुष कर सकता है जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे समाज में जो होता है नारी का सम्मान नहीं दिया जाता है उस दृष्टि से नहीं देखा जाता है अत इस दृष्टि से जो है हम पुरुषों को देखते हैं इसके अलावा देखा जाए तो नारी को उस सब शक्तियों से वंचित भी रखा जाता है जिसके लिए वह जो है लगता है तो कहीं ना कहीं उन सभी से जो है शोषित महिला जो है शीला को जो है सम्मान दिलाने के लिए नारी सशक्तिकरण अभियान शुरू किया गया लेकिन अभी क्या बात करते हो अभी समाज में जो है उन लोगों को वहां को मिल रहा है और वह आरक्षण से लेकर शोषित महिलाओं को उनका सम्मान भी जो है धीरे-धीरे आओ हमारे समाज में व्याप्त हो रहा है और महिलाओं के सामने जो पुरुषों का भी उतना ही महत्व है जितना महिला का है यानी कि अब दोनों जो है बराबर हो गए हम अगर हर क्षेत्र की बात करें तो हर क्षेत्र में चयन महिला की भूमिका निभा रही हो चाहे खेल का चित्र हो या राजनीति का क्षेत्र हो या फिर पढ़ाई से लेकर किसी भी चीज का उसमें नारी का महत्व को दर्शाया गया है पर यह वास्तव में पहनते हैं

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:58
प्रश्न है कि नारी सशक्तिकरण क्या है और नारी को क्या सामान और हक मिल रहा है जो कि समाज में मिला चाहिए तो दिखे महिला दिवस जो है वह मनाया जाता है 8 मार्च को महिलाओं के हुए शोषण के विरुद्ध उनकी बातों रखने के लिए और सबसे बड़ी बात है कि महिलाएं जो होती हैं वह हमारे देश विदेश में पूरी विश्व की जननी होती है इन्हीं के द्वारा हमें हर एक रुप में यह हमारे साथ खड़ी होती है महिला सशक्तिकरण क्या है यह पूछा जा रहा है तो महिलाओं के सशक्तिकरण का मतलब है कि महिलाओं को अपनी जिंदगी जीने का फैसला करने का स्वतंत्रता होना चाहिए उन्हें ऐसी क्षमता है उनके पास होती है कि वह हर समाज के साथ सही स्थान स्थापित कर सकें यही सशक्तिकरण का मतलब होता है अधिक सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था व्यवस्था बनाने में योगदान रहता है महिलाओं की क्षमता का होता है चाहे आप देख लीजिए अपने परिवार में जाए और पूरे विश्व में देख लीजिए महिला ही हर एक रुप में आकर हमारा साथ देती है और हमें हमारे साथ कदम से कदम मिलाकर अयूब करती है चाहे वह मां के रूप में हो बहन के रूप में हो भाभी के रूप में हो दीदी के रूप में जीत के रूप में अब देखेंगे अपने साथ कदम से कदम मिलाकर हमारे साथ खड़ी होती हैं क्यों आप जानते हैं क्यों आवश्यकता पड़ी सशक्तिकरण की क्योंकि शक सशक्तिकरण की आवश्यकता इसलिए पड़ी कि सदियों से महिलाओं का पुरुषों द्वारा किए गए शोषण भेदभाव से मुक्ति दिलाने के लिए आवश्यकता है और यही जरूरत है इसीलिए महिलाओं की आवाज को उठाने की बात होती है महिलाओं के विभिन्न प्रकार की हिंसा और दुनिया भर में पुरुषों द्वारा किए गए भेदभाव को हटाने के लिए महिला सशक्तिकरण बनाया जाता है उसके महिला राष्ट्रीय अगर देखा जाए तो सशक्तिकरण की नीति कब बनी तो हमारे देश में 2001 में बनी और इसी के साथ में हम महिलाओं के सशक्तिकरण की बात करते हैं वही महिला विश्व महिला दिवस हम 8 मार्च को मनाते हैं और महिलाओं की बात रखने की महिलाओं का हर जगह सम्मान होना चाहिए हर जगह उन्हें प्यार मिला चाहिए शोषण तो कहीं नहीं होना चाहिए यही लक्ष्य होता है और इस 8 मार्च को हम सारे लोग एक साथ मिलकर महिलाओं का सम्मान करेंगे और उनके साथ साथ हम उन्हें वह आधार भावपूर्ण अपने पूरे मन और दिल से करेंगे और आने वाले समय तक आने वाली अगली 8 मार्च 2022 तक उनका सामान इसी तरह मिलना चाहिए और धीरे-धीरे एक कांति बस इसी तरह मिलना चाहिए जो उन्हें सम्मान मिलना चाहिए

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:06
दीक्षित बदलाव होने में टाइम तो लगता है और हक मांगने से नहीं मिलता वह तो बनाना पड़ता है आपको अगर आप कुछ ऐसा काम कर रहे हैं जिससे आपको समाज में गुस्ताखी मिले तो वह आज न कर आपको मिलेगा आप एक पोयम हो आप पोयम लिखने वाले हो आप राइटर हो या फिर आप आशीष हो या डॉक्टर इंजीनियर कुछ भी एयरपोर्ट से हो आर्मी में हो आप अगर कोई रिस्पेक्ट वर्क कर रहे हो तो आपको आज नहीं तो कल लेट तक तो मिलेगा ही कुमाऊनी की चीज तो है ही नहीं जैसे जैसे आप काम करोगे जैसे साथी डिग्निटी बढ़ेगी वैसे-वैसे आपको दिक्कत मिलेगा और समाज में पहले से बहुत ज्यादा बदलाव आया है और आगे भी आता रहेगा तीन तलाक का नियम कानून तो मोदी जी ने खत्म कर दिया ठीक और नारी को जो एजुकेशन मिलना चाहिए वह मिल रहा है तो बदलाव आ रहा है और आगे और भी देखने को मिलेंगे

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:41
नारी सशक्तिकरण के और क्या नारी को मैं सम्मान वह आपको मिल रहा है जो समाज में से मिलना चाहिए प्लीज जवाब दें लेकिन नारी सशक्तिकरण अधिकारी थी उसको बराबरी में लाना तो उठ जाइए को पहचाना मुझे मैं नॉर्मल इसकी परिभाषा बता रहा हूं आपको कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जहां पर नहीं मिल रहा है सब कुछ चल रहा है जॉब मिल भी रहा है समाज में नारी और पुरुष दोनों को सम्मान देना चाहिए और शासन को भी आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:57
नारी सशक्तिकरण और क्या नारी का सम्मान बेहद मिल रहा है जो समाज में से मिलना चाहिए प्लीज जवाब नहीं देती सशक्तिकरण पर उसमें नारी को भी हर क्षेत्र में आगे बढ़ने का मौका मिला है उसे हर नौकरी में समान मिले और उसने कोई भेदभाव ना हो और हर क्षेत्र में वे आगे बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया नौकरी में गरीबी करें तो वही नारी सशक्तिकरण होता है और सामान और वह जगह समाज में नारी के सम्मान मिल भी रहा है जो पढ़ने के लिए में नालियों का हमेशा सम्मान करते हैं और वहां की सरकार से राज्य हैं जैसे कि उनकी सरकार है नालियों का सम्मान करती है तो होली वैकेंसी भी निकालती हैं हर जगह महिलाओं की भर्ती होती है तो बहुत जगह समाज में मिल गिरा है किंतु अनपढ़ लोग होते हैं में नारी को सम्मान नहीं करते हैं धन्यवाद

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
नारी सशक्तिकरण क्या है और क्या नारी को सम्मान वाहक मिल रहा है जो समाज में समाज ने देना चाहिए या संविधान ने दिया है इस तरह का प्रश्न है पूरी दुनिया की व्यवस्था कुछ सालों के पीछे से हम जब देखते हैं तो असली शोषण के आधार पर खड़ी है देख महत्वपूर्ण प्रशन का आधार है श्री शोषण दुनिया में सभी जगह पर हुआ है और उसके लिए जागरूकता और कानून व्यवस्था कर दी गई है फिर भी विकसित देशों में भी सहयोग को समान हक जिसको कहते हैं वह नहीं मिलता मिलता है किसी ना किसी तरह से पुरुष पुरुष मानसिकता जो होती है वह श्री को कि का दमन करने की होती है और क्या जाता है और कई जगह पर यह बहुत गंभीर रूप से होता है इसलिए नारी नारी सशक्तिकरण की जरूरी सशक्तिकरण सशक्तिकरण में आता है कि वह उसका श्री का मूल लड़की का एजुकेशन ज्यादा से ज्यादा होना चाहिए वह खुद कमाने की स्थिति में रहे होनी चाहिए मैंने अपने पैरों के ऊपर खड़ी होकर प्रक्रिया चमक अरलीकट्टी विजय आर्थिक रूप से उनके सामाजिक रूप से भी श्री को एक सुरक्षितता स्वतंत्र है और समांतर जो है वह उसकी जरूरत है लेकिन वह लक्ष्य हासिल नहीं हो रहा है इसका कारण भी मूलभूत रूप से यह है कि जो 68 दिन होता है पैसा घर में आता है वह श्री के माध्यम से ज्यादा तो नहीं आता है जब श्री के माध्यम से वह आने लगेगा तब श्री की प्रतिष्ठा बढ़ जाएगी बहुत कमजोर होते हैं समाज भी बहुत कमजोर होता है कमजोर दिल का होता है तो सुन के आगे लगता है अब ऐसा ना होने पर उसको चलता है तो नारी सशक्त सशक्तिकरण एक ऐसा धर्म है स्टेटस जी है प्रयास है कि उसको सशक्त किया जाए उसे सशक्त हो सशक्त का मतलब शरीर शारीरिक रूप से वह बलवान हो ऐसा नहीं है वह भी उसमें है होता ही है लेकिन आर्थिक सामाजिक व राजकीय और सांस्कृतिक क्षेत्र में भी वह अधिकार पर हूं एनी डिसीजन मेकर मेकिंग की पावर या अधिकारी को होना चाहिए तो वह सो प्रतिशत बनती और इसके लिए प्रयास भी हो रहे हैं अभी उसकी गति बहुत छोटी है लेकिन वह बढ़ जाएगी और बढ़ाने की जरूरत भी हो जाएगी और अंखियों में अंखियों से आवाज भी आ जाएगी डिमांड आ जाएगी अब पुलिस मिलिट्री एयर फोर्स रेल चलाना बस स्टील गाड़ियां ट्रैफिक और कई जगह पर यह भी दिख रहा है महाराष्ट्र में की कटिंग हेयर कटिंग सलून में लड़कियां काम कर रहे हैं और अच्छी तरह से वह अपना काम करती है तो क्षेत्र में हम काम करेंगे क्योंकि एक कानूनी तौर पर और समझता भी नजरिया बदल जाता है जब दुनिया छोड़कर जाएगी तो यह दुनिया का जो प्रभाव है विकसित देशों का प्रभाव है वह भारत पर पड़ेगा थोड़ी रहा है अभी तो नाच नारी सशक्तिकरण पर होगी रहा है अभी उतना शर्मा नहीं मिल रहा है लेकिन इसमें काफी सुधारना हुई है

KAUSHAL KUMAR SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए KAUSHAL जी का जवाब
Gmind institute
1:19
देखें महिला सशक्तिकरण को आसान शब्दों में परिभाषित किया जा सकता है इससे महिलाएं शक्तिशाली बनती है जिससे वहां अपने जीवन से जुड़े हर फैसले स्वयं ले सकती और परिवार और समाज में अच्छे से रह सकती हैं समाज में उनके वास्तविक अधिकार को प्राप्त करने के लिए उन्हें सक्षम बनाना ही महिला सशक्तिकरण है इसमें ऐसी ताकत है कि वह समाज और देश में बहुत कुछ बदल सके वह समाज में किसी भी समस्या को पूछो से बेहतर ढंग से निपट सकते हैं विकास की मुख्यधारा में महिलाओं को लाने के लिए हालांकि भारत सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई गई हैं समय के साथ महिलाओं ने अपने महत्व को जगजाहिर किया है उसने दुनिया को बताया है कि वह सिर्फ संतानोत्पत्ति के लिए नहीं व कवि लेखक योद्धा खिलाड़ी राजनेता और अंतरिक्ष यात्री भी बन सकती हैं और उन्हें अपनी भूमिका को हर बार स्पष्ट और सिद्ध किया है तो भारत में अगर देखा जाए तो महिलाओं को सशक्तिकरण के प्रति प्रेरित करना चाहिए और हमें इस समाज और अपने घर से भी यह शुरुआत करनी चाहिए और निश्चित तौर से अगर हमारी जो महिलाएं हैं वह सशक्त होंगी तो एक मजबूत राष्ट्र की हम परिकल्पना आगे चलकर कर सकते हैं

sargam shukla Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए sargam जी का जवाब
I am only student👩‍🎓
1:29
राधे-राधे बुआ जी को ही मन किया गया है कि नारी सशक्तिकरण क्या है क्या नारी को सम्मान वाहक मिल रहा है जो समाज में से मिलना चाहिए यह नारी सशक्तिकरण व चीज है कि जो नारी है मैं अपने अधिकारों के प्रति अपने कर्तव्यों के प्रति तत्व तत्व तत्व में अपने अधिकारों के लिए लड़ सकती है तो देखिए यह नहीं बोलूंगी कि हर जगह पर नारी शक्ति का हो चुका है क्योंकि जो हमारे भारत का एक राज्य केरल वहां पर नारी सशक्तिकरण सफलतापूर्वक संपन्न हो रहा है क्योंकि मैंने इसका मतलब यहां से लगाया कि नहीं वहां पर नारी साक्षरता 91% है 9191 प्रतिशत है और वहां पर महिलाओं को महत्व दिया जाता है जैसा कि अदर अदर राज्यों में हमारे इधर पुरुषों को महत्व दिया जाता है वैसे वहां पर महिलाओं का होना शुभ माना जाता है केरल में तो हम और की बात नहीं कर पाते क्योंकि हमारे गांव में आज भी कुप्रथा को मानते हैं कि पर्दा परंतु अभी भी गांवों में प्रचलित है और पुरुष को प्रधान मानना अब तो समाज की अपनी अलग अलग सोच है लेकिन हमारी सरकार व का नारी सशक्तिकरण में बहुत मदद कर रही है तो हर जगह औरतों को सम्मान नहीं मिला नारियों को और कहीं कहीं मिल नहीं रहा राधे राधे

Bhanu Prakash jha Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Bhanu जी का जवाब
Students
1:05

ashok pandit Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए ashok जी का जवाब
Godly service
2:53

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • नारी सशक्तिकरण क्या होता है, नारी सशक्तिकरण क्या है, नारी सशक्तिकरण किसे कहते हैं
URL copied to clipboard