#भारत की राजनीति

Vaishnavi Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Vaishnavi जी का जवाब
Student / Artist
1:35
नमस्कार मेरा नाम है वैष्णवी और आप मुझे सुन रहे हैं भारत के नंबर एक सवाल और जवाब करने वाले आप बोलकर पर आप ने सवाल किया है क्या पेट्रोल की कीमतों में अनियंत्रित वृद्धि के कारण भाजपा आगामी चुनाव हार जाएगी तो देखिए कहा नहीं जा सकता है यह भाजपा जो है वह आगामी चुनाव हारेगी या जीतेगी हनुमान जरूर लगाया जा सकता है मैं अनुमान लगा सकती हूं आप अनुमान लगा सकते हैं कि शायद भाजपा जो है वह चुनाव हार जाएगी या चुनाव दी जाएगी हालांकि देश में जो कुछ भी हुआ है चाहे वह पेट्रोल की कीमतों में अनियंत्रित वृद्धि हो चाहे किसान आंदोलन हो नोटबंदी हो जितने भी मुद्दे देश में हुए हैं इन सबका असर जो है वह चुनाव में जरूर देखने को मिलेगा इसके साथ-साथ यह भाजपा सरकार के इस प्रक्रिया पर भी निर्भर करेगा कि वे चुनाव में कितनी एरिया करते हैं और वे चुनाव के प्रचार को कैसे करते हैं और वह इस बार जनता से और क्या वादे करते हैं यह इस बात पर भी निर्भर करेगा तो यही है अब ऐसे ही अब जब चुनाव के नतीजे आएंगे तभी पता चलेगा कि भाजपा जो है वह चुनाव जीती या हारी है हालांकि इन सारी चीजों का असर जो है वह जरूर पड़ेगा मुझे उम्मीद है आपको आपके प्रश्न का जवाब मिल गया होगा धन्यवाद

और जवाब सुनें

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
4:29
उसने क्या-क्या पेट्रोल की कीमतों में अनियंत्रित गति के कारण भारतीय जनता पार्टी आगामी चुनाव हार जाएगी श्रीमान जी आपको याद होगा कांग्रेस के शासनकाल में पांच पैसे 10 पैसे पेट्रोल भरता था तो सुषमा स्वराज अरुण जेटली राजनाथ जैसे नेता सड़कों पर उतर कर कांग्रेस सरकार के खिलाफ क्या करते थे वह दिन याद करिए घड़े फोड़ते के हानियां बताते थे बर्तन बनाते थे और गधों पर सवारी करते थे कि अब हमारे पास पेट्रोल की कीमतें बढ़ गई हैं तो हमारे पास जानवरों पर सवारी करने के अलावा कुछ नहीं बचा है आज उनकी सरकार है उनकी सरकार के मंत्री क्या कहते हैं कि जब गाड़ी खरीद सकते हो तो पेट्रोल नहीं ऐसी दोगली नीति वाली देखी और सरकार क्या क्या उम्मीद करेंगे कि वह सरकार है जितनी जो भी वादा किया जनता से 2014 के चुनाव में उसका एक अधिकारी उन्होंने संपन्न नहीं किया बल्कि इसके विपरीत 11 टो 20 कर्मियों को जो वादा किया उसके खिलाफ किया क्या इन्होंने वादा किया था कि हम लोड बंदी करेंगे क्या इन्होंने वादा किया था कि हम भ्रष्टाचार फैला आएंगे क्या इन्होंने वादा किया था कि हम जनता को बेरोजगार कर देंगे क्या इन्होंने वादा किया था कि हम देश में जो है दो खाली नहीं है सब को दुखी बना देंगे सब क्यों रोज गानों को खत्म कर देंगे तब इन्होंने किया लेकिन जो वादा किया उसके अनुकूल एक भी वचन नहीं निभाया गरीबों को खाना दे दो रोटी दे दो तो उनकी खरीद लो मीनू को पहचानो मशीन की खरीद नहीं है की सरकार ने जो वादा किया दो करोड़ लोगों को रोजगार देंगे हर एक गरीब के खाते में 1500000 देंगे और इंसान की जो है खुशहाली के दिन आएंगे अच्छे दिन आएंगे भ्रष्टाचार को खत्म करेंगे महंगाई को खत्म करेंगे और जीवन में भारत की उन्नति के लिए कदम बढ़ाएंगे एक भी वादा करता नी चाहे वह जीएसटी का हो चाहे वह नोटबंदी का हो चाहे वह लॉक डाउन का हो यह सरकार की गलत नीतियों का परिणाम है कि आज भारत की अर्थव्यवस्था जो कांग्रेस के जमाने में 11% तक पहुंच गई थी 8 - 20 परसेंट पर चल रही है फिर भी छोड़ने से पीछे नहीं हट रहे किसानों के दौरान जिन किसानों ने अपनी मेहनत और कुर्बानी से लाखों लोगों को मुजीब उठाकर भी अनाज को देने की कोशिश कि किसानों के आंदोलन को तोड़ने के लिए सरकार सारी ताकत लगा रही है सरकार खर्च कर रही है कुछ किसानों को खरीद रही है ट्रांसफर में कितने जो सरकार इस विचारधारा की होगी क्या वह गलत चुनाव जीतेगी जनता शांति प्रकाश का आंदोलन दुनिया की शक्ति आयरन लेडी शक्तिशाली प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को एक जयप्रकाश के आंदोलन ने धूल चटा दी थी और इंदिरा जी चुनाव हार गई थी तो वह वक्त आ रहा है कि एक शांत ज्वालामुखी चढ़ता है तो उसका लावा जाने कितने कितने दिनों तक कितने युगों तक के लिए इंसान के ऊपर छोड़ जाता है तो वह समय आ रहा है चुनाव जीतने हारने का नहीं अप्रत्याशित परिणाम देखने को मिलेगा जिसका हम समस्त भारतीय जनता जो चोरी हुई थी वह अंदरूनी रोते जाग गई है लेकिन मुंह पर वह शब्दों को ना लाकर अपने आने वाले टाइम पर कितनी मशीनीकरण करने कितनी हेराफेरी करने पर नाम चांदनी जरूर आएगा

मनोज कुमार यादव Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए मनोज जी का जवाब
कृषक 🌾🌾🌾🌾
1:48
नमस्कार मिश्रा जी शिव का प्रश्न है क्या पेट्रोल की कीमतें में अनुत्री वृद्धि के कारण भाजपा आगामी चुनाव हार जाएगी लेकिन मित्रों यह जनता के ऊपर डिपेंड करता है कि उसे किस को सरकार बनाना है नहीं बनाना है एक व्हाट्सएप की सरकार नहीं बनता है सरकार बनने के लिए पूरा हमारे भारत देश की बोर्ड की जरूरत थी उसी तरह अगर अगर मोदी सरकार ने पेट्रोल डीजल या अन्य पदार्थों का दाम बढ़ाए तो यह उसकी मर्जी क्योंकि उसके हाथ में भी पावर है वह जो जी में आए वह कर सकते हैं और जो लोग विरोध करेगा उसका मदद देगा फिर वह बोल नहीं सकता है इस सरकार चाहती है जो कि यह अपने अतीत और किसी का सुनता ही नहीं है काश अगर सही हो या गलत हो किसान आंदोलन का एक भी बात मान लेते सरकार तो समझ जनता के हित में सरकार विश्वशम अपने लिए ही सोचता है वह क्या सरकार चलाएगी हमारे देश में सरकार सभी का मौत को लेकर के चलना चाहिए आज महंगाई आसमान छू रहे हैं यह कोई जरूरी नहीं है कि पेट्रोल-डीजल का ही दाम बढ़े और वह वस्तु का खाने का पदार्थ को लेकर के चल अंडर सहित का दाम बढ़ाया है बोलिए से में इंसान जिएगा यह मरे और सर सरकार चुपचाप बैठा है अपना हसन लेकर के मरीज के लिए सोचिए कुछ आपको सवा लाख जनता ने वोट देकर के सरकार बनाए हैं आप उनके लिए कुछ तो करो जागो और अभी भी समय है वरना जितना यह तो अपनी जनता के परी डांस करता है अगर जनता चाहे तो जिसको चाहे उसको भी सरकार बना सकते हैं धन्यवाद

मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
1:21
सर आपने पूछा है क्या पेट्रोल की कीमतों में 80% भाजपा आगामी चुनाव हार जाएगी तो मुझे नहीं लगता कि इस पर कोई भाजपा में असर पड़ेगा क्योंकि सर यह जो पेट्रोलियम है इसके दामों में बढ़ोतरी फूड ऑयल के दामों में बढ़ोतरी के कारण पीछे जो बेकार लगता है उन कारणों से इसके दाम बढ़ते हैं सरकार अपने टैक्स और बेटा के आगामी दिनों में पेट्रोल की कीमतों में कटौती भी कर सकती है अभी भी मैंने न्यूज़ पेपर के अंदर सुना था वह सरकार है ₹15 1315 इसमें घटाने की कोशिश में वेट कम करने की कोशिश में केंद्र सरकार जिस से उनको बहुत ज्यादा फायदा होगा आने वाले चुनाव में थोड़ा बहुत नुकसान हो सकता है किंतु से लोगों के मन में ध्यान संकोच होता है लेकिन आपने जो प्रश्न पूछा है इतना ज्यादा नहीं होगा जिसके अंदर भाव मन में बसी हुई है भाजपा को वोट देगा और उसके मन में भाजपा का काम देश की बची हुई है वह कांग्रेस को देगा लेकिन थोड़ा बहुत पांच पर्सेंट तक पड़ सकता है बाकी अगर मीडिया में पेट्रोल सस्ता हो जाएगा एक पीछे के कारण है पेट्रोल की कीमतें केंद्र सरकार अपना वेट घटाने की कम हो जाएंगे

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:27
स्वागत है आपका पता नहीं कि पेट्रोल कीमतों में अनियंत्रित वृद्धि के कारण भाजपा आगामी बता सकता कि भाजपा चुनाव में हारेगी के जीतेगी यह चुनाव नतीजे आएंगे तभी पता चलेगा जीतेगी हारेगी और पेट्रोल की कीमतें बढ़ती रहती है उसका कोई तरीका

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
0:55
प्रश्न है कि क्या पेट्रोल की कीमतों में और नियंत्रण वृद्धि के कारण भाजपा आगामी चुनाव हार जाएगी कि हम ऐसा नहीं कर सकते कुछ उतार-चढ़ाव होता है और यही देखने को मिला कहीं न कहीं सरकार पूरी तरह से नियंत्रण नहीं कर पा रही है इसके लिए सरकार को खामियाजा भुगतना पड़ सकता है लेकिन इसमें यह है कि चुनाव हार नहीं सकती है बस यह है कि अपनी स्थितियों को सुधार कर ले जो महंगाई या हो रही है उसे कंट्रोल करें और आने वाले समय में इसके लिए अच्छी पोजीशन हो सकती है तो कहीं ना कहीं एक थोड़ा सा असर कर सकता है बीजेपी के लिए बस हमें यही कहना है कि जो भी महंगाई है उसको रोक के रखे उसे कहा जाए कि उसे पूरी तरह से नियंत्रण करें और नियंत्रण करने का ही एक उपाय है कि उसे कंट्रोल करें और जो महंगाई बहुत तेजी से बढ़ रही है उसे हम रोक के रखे और डिक्रीज पोजीशन करें

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:18
की कीमतों के कारण अनियंत्रित रखी के सारे राज्यों का आगामी चुनाव हार जाएगी कहां मजे पागल होते क्योंकि ज्यादा निबंध जल के आम जनता की सेटिंग जरूरत है और उनकी जरूरत है उन्होंने कहा तक बढ़ा दिया कि तुझे परेशान हो जाता है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पेट्रोल-डीजल की कीमतों से चुनाव वाले राज्यों में बीजेपी की दिक्कतें बढ़ीं, Petrol Diesel Price,पेट्रोल-डीजल के बढ़ते रेट
URL copied to clipboard