#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?

Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:29
हेलो शिवांशु आज आपका सदा ही हाथ में निर्धनता के निधन के बारे में बताइए तो देखिए आत्मनिर्भर का मतलब होता है के साइड इफेक्ट हम खुद पर ही निर्भर रहते किसी और पर निर्भर नहीं होते हैं चाहे वह भी नाम से नहीं हूं या फिर कोई भी काम का जो पढ़ाई लिखाई हो उसे ही अपना हर एक काम करते हैं अपना मदद जो भी हमें प्रॉब्लम मैं खुद से ही ठीक कर दे समाधान निकाल दे तो मतलब हम खुद पर ही निर्भर है किसी और पर निर्भर होने की जरूरत नहीं है जैसे कि जैसे झुमराज ऑफ लगता है तो मम्मी पापा भी जनरल पेरेंट्स एनएफसी बंद करने की इतनी हमारी टेंशन हो जाती कैसे सेट होती कि हां मम्मी पापा की मदद करते हैं उनको भी पैसे की प्रॉब्लम हो तो और भी कोई भी प्रॉब्लम है अगर कोई फसता है तो अगर वह खुद से वह प्रॉब्लम का समाधान और चुपचाप निकल पाता मतलब जरूरी नहीं कि हर एक इंसान सोचे कि किसी को इंवॉल्व करें तो वह चाहता है कि वह खुद से ही निकले खुद को जब भी आप कहीं पर किसी दावत या फिर कोई भी प्रॉब्लम है अगर आप चाहते हो कि पढ़ाई लिखाई के नोट्स को लेकर या कुछ भी जाति के सवाल-जवाब जाति मूल करा था तो यहां पर भी आप अपने आप से तारे मतलब सवाल का जवाब आप ढूंढने की कोशिश करना किसी और की हेल्प ले ले रहे हैं आप खुद से ही हर एक चीज का जवाब हर एक चीज का समाधान आप ढूंढ रहे हैं तो यह भी आपको आसानी बनारस किसी और पर डिपेंड नहीं होकर खुद से सारी चीज का रास्ता हर चीज का हल निकाल दे

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:30
नमस्कार मेरे सभी बोलकर परिवार के सभी सदस्यों को आप सुन रहे हैं आपका प्रिय सदस्य विजय सिंह का जवाब आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से है आत्मनिर्भरता का अर्थ अपने ऊपर निर्भर रहना जो व्यक्ति दूसरे के मुंह को नहीं सकता है और वही आता निर्भर होता है आत्मविश्वास के बल पर जो कार्य करता है और अपने आप पर आत्मनिर्भर रहता है और आतम निर्भरता का अर्थ है समाज और हमारे राष्ट्र की आवश्यकताओं की पूर्ति करना व्यक्ति और समाज महाराष्ट्र में आत्मविश्वास की भावना आत्मनिर्भरता की पूर्ति को करना व्यक्ति और समाज और राष्ट्र में आत्मविश्वास की भावना भावना करता भाई प्रतीक माना जाता है और स्वयं भी जीवन की सफलता की पहली सिटी सफलता प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को स्वावलंबी होना चाहिए स्वालंबन व्यक्ति समाज और राष्ट्र के जीवन में सर्वागीण सफलता प्राप्ति का महामंत्र है स्वयं भी जीवन का अमूल्य आभूषण होता है और वीर और कर्म योगा का एक देश माना जाता है धन्यवाद दोस्तों खुश रहो

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
2:42
खुद पर हो विश्वास रखो विश्वास कर लोगे हर चुनौती को पार कर लोगे हर चुनौती को तड़पा आत्मनिर्भरता कॉन्फिडेंट इंडिपेंडेंसी अगर किसी इंसान को अपने लाइफ में सक्सेस चाहिए अपनी कुल कोशिश करना है तो उसको आत्मनिर्भर होना बहुत ज्यादा जरूरी है चाहे कितना भी काटा वाला रास्ता कितने भी लोग आपको सजेशन देने वाले हो कितने भी लोग आपको और दिशा दिखाने वाले हो परंतु उस कांटे वाले रास्ते पर चलना आप ही को है कोई और आपके साथ नहीं चलेगा कोई और आपका हाथ पकड़ कर कांटे वाले रास्ते को आप को पानी नहीं कराएगा इसीलिए आप को आत्मनिर्भर बनना बहुत ज्यादा जरूरी है यह समझ लीजिए आप जीवन में सकते हैं आप जीवन में अगर कामयाब हो रहे हैं तो उसका असर सिर्फ और सिर्फ आपके जीवन पर पड़ रहा है वह अलग बात है कि आपके मम्मी पापा को समझा फिर सुधार खुश होंगे परंतु आप अपने जीवन में कुछ अजीब कर रहे हैं या फिर कुछ खो रहे हैं उसकी पूरी पूरी जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ आपकी है आप अगर कुछ होते हैं तो आप अपने कार्य अपने किसी कमी के कारण कुछ हो रहा है और अगर आप कुछ पाते हैं तो अपने अंदर की खासियत यानी आत्म निर्भरता के कारण पा रहे हैं अगर आप आत्मनिर्भर हैं कि किसी भी काम को किसी भी सफलता को पाने में किसी भी चुनौती को पार करने में आपको किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होगी जो इंसान आत्मनिर्भर नहीं होता जो साल अपने आप को आत्मनिर्भरता से परिपूर्ण नहीं कर पाता वह इंसान सक्सेस तक तो पहुंच जाता है परंतु उसके बाद आगे वाल शक्ति से पानी में जमाना बीत जाता है यानी समय बीत जाता है परंतु वैसे नहीं पापा यानी मैं कहना चाहते हो अगर आप आत्मनिर्भरता को छोड़कर आगे बढ़ते हैं तो आपको सकता है दो-तीन बार सक्सेस मिले वह भी लक बाय चांस परंतु अगर आपको अपनी लाइफ की चुनौती मिली चुनौती के रास्ते में सफलता चाहिए उसके लिए आपको अपने अंदर आत्मनिर्भरता लाना ही होगा आत्मनिर्भरता लाओ जीवन की हर जंग जीत जाओ आत्मनिर्भर तलाव जीवन की हर जंग जीत जाओ और समाज के लिए कुछ कर जाओ

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
मनीष कुमार Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए मनीष जी का जवाब
किसान
1:11
कमलेश कुमार मैं आपको बताना चाहता हूं आपने कृष्ण की आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताइए आतम निर्भरता के अंत के मतलब यही है कि हम दूसरे देशों से जो माल आयात करते हैं हम वो एकदम बंद कर देंगे याद करेंगे नहीं हम नहीं आती करेंगे हम खुद अपने आत्मनिर्भर होकर हम खुद अपनी चीजें बनाएंगे भारतीय का निर्देश है और मोदी जी ने आंध्र प्रदेश को बनाया है मोदी जी का यही सपना है यह वह इस में लगे हुए हैं आत्मनिर्भर भारत बन जाए भाजपा वाले ही लक्ष्य है और मोदी जी का भी यह लक्ष्य आत्मनिर्भर बनने से हमारे देश के अंदर हम किसी भी प्रोडक्ट को निर्यात कर सकते हैं दूसरे देश को बांटने पर बनेंगे तो ही हम दूसरे देश को निर्यात कर के हम हमारा देश संपन्न बन सकता है आज आप हमारा कम हो जाएगा हम दूसरे लोगों से कुछ नहीं खरीदेंगे जहां तक हो सकता है वहां तक आजकल हम इलेक्ट्रॉनिक टेक्नोलॉजी में भी मोदी जी चाहते हैं कि निर्यात ज्यादा हो मोदी जी जाते हैं आत्मनिर्भर बने यही मोदी जी की सोच है यह मेरी सोच है और मेरे माइंड में आत्मनिर्भर का मतलब है कि हम खुद उस चीज को खुद ही कर सकते हैं हम किसी के भरोसे नहीं रहना है

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Bhanu Prakash jha  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Bhanu जी का जवाब
Students
0:08

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:15
विकास निर्भरता एक छोटा सा शब्द है लेकिन उसका अर्थ बोलती है इस लेवल को पाने के लिए मेहनत बहुत करना पड़ता है आप किसी पर डिपेंड है ही हो आप सारे काम खुद से कर सकते हैं और इस हद तक कर सकते हो कि आप किसी के लिए प्रेरणा स्रोत भी उस लेवल को पाने के लिए काफी टाइम लगता है जैसे आप संदीप माहेश्वरी जी को देखने की विवेक बिंद्रा जी को देती है एक आत्मनिर्भर आदमी है कि किसी भी बड़े आशीष का पता नहीं है तो वह खुद की जिम्मेदारी को उठा सकते हैं खुद के काम को कर सकते और इस लेवल पर कर सकते हैं जहां उनसे हजारों लाखों में रहना भी ले उस लेवल पर जाना जहां पर आप खुद को भी हैंडल कर सकूं और सोसाइटी के एक बड़े वर्ग को भी हैंडल कर दो फोन को एकदम सही राह दिखा सकूं वह बहुत बड़ी बात में टाइम लगता है छोटे छोटे काम के लिए आप आत्मनिर्भर है तो बहुत अच्छा बात है लेकिन अगर आप इसको बड़े लेवल पर जाओगे तो वह बहुत अच्छी

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
2:18
आत्मनिर्भरता के अर्थी बारे में बताइए आत्मनिर्भर का मतलब होता है चंदन को हटाना बिना किसी के सहयोग की आप अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति करने आवश्यकता ओं की पूर्ति करने के लिए समस्त संसाधनों का उत्पन्न करना उनका उपयोग करना और उसके बाद जो शेष बचे वह दूसरों को उपलब्ध कराना यानी हर बात निर्भर हो जाता है इसमें कोई संदेह नहीं है वह जनहित के लिए फायदेमंद है लेकिन सरकार के लिए नुकसान का कारण है सरकारी इसलिए चुनी जाती हैं कि जनता के चित्र कल्याण के लिए सरकारी योजनाएं बनाएं और कार्य करें और सरकार जनता की समस्याओं का समाधान करें समस्त जनता समस्या और सुविधाएं और निर्णय की शक्ति देकर आत्मनिर्भर हो जाएगी तुम किसी प्रकार की जरूरत नहीं है और पूजन भारत में बहुत जल्दी आने वाला है किसान आंदोलन ने शुरू करके अनेक आंदोलनों को मौका देती है और वह वक्त दूर नहीं है जब सभी आंदोलन होकर भारत में क्रांति आएगी विदेशी क्रांति आएगी जिस क्रांतीचे अंध भक्तों की आंखें खुल जाएंगी और चापलूस क्योंकि खुशी जाएगी और सत्ताधारी तानाशाह का इंतकाल हुआ इसमें कोई दो राय नहीं आत्मनिर्भर मैट्रिकिरण आत्मनिर्भरता संसाधन को जुटाकर अपनी आंखों मांग की पूर्ति करने से कुछ भी कर लेगा तो फिर देश में अन्य संसाधनों के उपयोग और उसके उत्पादन के उपयोग और उसके निर्माण में किसका योगदान होगा

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student
0:44
नोट कर दो तुम कैसी है पता कि आपके बारे में बता दे क्या आपने भरता कार्ड किसे कहा जाता है कि आप अपने आप से मिल करने में समर्थ हो जाने की किसी प्रकार की कोई की मदद की जरूरत नहीं है उसके तेरे पापा आत्मनिर्भर का मतलब होता है कि आप अपने पैरों पर खड़े हो जाओ तो मुझे भी आप अपने आप पैसे कमा कर के हम लोग खर्चा चलाते हैं तो वह भी आपने एक भी सैनिक होने पर आप अपने किसी चमत्कार करने में असमर्थ हो जाते हैं उनसे ही बात नहीं है भरता करते हैं तो उम्मीद करता हूं सवाल का जवाब अच्छा लगा होगा धन्यवाद

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:30
एडवेंचर खेल के बारे में बताओ आज से नहीं बल्कि डिपेंडेंसी होती है इसमें आप गर्ल्स हो या बॉय तो आप नौकरी करते हैं आप इतना समझ ले कि आप अपना पूरा मंथली खर्चा निकाल के साथ अपनी पहली जरूरत नहीं होती है हम अपना फ्यूचर कर देख सकते हैं तो बहुत अच्छे से समझ कर पूरा कर सकते हैं उसी को आश्रम वर्धा कहते हैं सभी अपना अपना करे तेरी लत लग जाए तो आपको देखकर सोच समझकर करनी चाहिए

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
mahendra meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए mahendra जी का जवाब
Unknown
1:23
नमस्कार आपका सवाल आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ तो आत्मनिर्भरता इसका अर्थ सीधा सा है और जाता लोग जानते हैं और तुम्हें खुद पर खुद पर खड़ा हुआ अपने पैरों पैरों पर खड़ा सनी कि हमें जिंदगी जीने के लिए हम सक्षम रहे हमारे पास हो क्वालिटी हो जॉब को पैसा होना चाहिए जो हम एक अच्छा जीवन जी सकें यदि हम सरकारी नौकरी लग जाते हैं तो हम आत्म नियमन जाते हैं यदि सरकारी नौकरी नहीं भी रखते हैं तो हम अच्छा बिजनेस और कोई दिमाग वाला या आधी प्राइवेट जॉब तो अच्छी जॉब करके 8 मई में बन सकते हैं तो हमें हाथ में नहीं बनाना बहुत जरूरी है चाहे वह लड़का और लड़की हमारे फायदे के लिए सभी आत्मनिर्भर नहीं है तो हमारे जीवन में बहुत सारी समस्याएं दुख का सामना करना पड़ेगा और हमें जीवन बहुत दुखी लगाएगा

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
N. A. tuition centre Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए N. जी का जवाब
Teaching
0:27
हेलो फ्रेंड्स जैसे कि आपका सवाल है आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ तो देखे फ्रेंड आत्मनिर्भरता का मतलब होता है यानी कि स्वयं पर निर्भर होना खुद ही के पैरों पर खड़ा होना आत्मनिर्भरता का मतलब यही होता है कि आप अपने पैरों पर खड़े हैं यानी कि आत्मविश्वास के साथ खड़े हैं और सुंदरता से खड़े धन्यवाद

bolkar speaker
आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ?Aatmnirbharta Ke Arth Ke Baare Mein Btao
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:43
सवाल है कि आत्मनिर्भरता के अर्थ के बारे में बताओ निर्भरता का अर्थ है मानसिक बौद्धिक आध्यात्मिक व आर्थिक रूप से स्वयं पर निर्भर यह निर्भर होना ही आत्मनिर्भरता है साथ में निर्धारित निर्भरता का अर्थ केवल इतना ही नहीं है इसका अर्थ और भी ज्यादा हो जाता है आज निर्भर होना हमेशा दव महत्वकांक्षी बना देता है इतना महत्वाकांक्षी कि हम हर प्रकार से मेहनत करने को तैयार रहते हैं जिस तैयारी के कारण निर्भरता जीवन में धारण होती जाती है यह धारणा वास्तव में मनुष्य तब तक कर सकता है जब उसकी सोच स्वतंत्र बने जब तक स्वतंत्र नहीं बन नहीं तब तक वह परतंत्र होकर निर्भरता कोला नहीं सकता निर्वस्त्र निर्भरता में स्वाध्याय भी जरूरी है स्वाध्याय का अर्थ है अपने आप को जानना स्वयं को जानना ही चारों प्रकार की निर्भरता को आत्मनिर्भरता में बदलना है बदलाव असल में स्वयं की सोच परिवर्तन होता है कैसे सोच और धारणा बदली तो आत्मनिर्भरता को पहचान मिली पहचान के आधार में से हम निर्भर व्यक्तित्व को दाखिल कर सकते हैं व्यक्ति में कमी है तो निर्भर है केवल व्यक्तित्व को बनाना होता है व्यक्तित्व हमेशा भी सकारात्मक और रवैया हमेशा जीवन होता है वह केवल यही पहचान है हमें निरंतर प्रयासरत है इस प्रयास को जो भाभी बनाता है वह परिणाम के रूप में होनी है यह परिणाम हमारे पक्ष में होता है क्योंकि हमने अपने पक्ष में पहले ही वह कर दिया जो हमने स्वाध्याय को धार ना किया है स्वाध्याय की से समस्त बातें हमारे पक्ष में आ जाते हैं क्योंकि निर्भरता का मूल अर्थ महाशक्ति बॉडी पेंडेंसी है इसके विपरीत आत्मनिर्भरता हड़ताल आत्मनिर्भर इसमें निर्भर होने के लिए ही स्वास्थ्य अध्याय है स्वाध्याय की फौज का प्रारंभ करता है यह आरंभ करना आत्मनिर्भर बनने की दिशा में बहुत बड़ा कदम है इस कदम के आधार से हम स्वयं में नित नई उन्नति की धारणा के बीजों को बोल सकते हैं यह भी जा परिपक्वता और विकास निरंतर स्वाध्याय का अभ्यास से हम में परिपक्वता व विकास बढ़ता है यह दोनों बातें आने से ही कुछ अजीब बातें हटती जाती है अजीब बातें तो हमें मालूम ही नहीं रहती हमें क्या सोच रहे हैं हमारी सोच सीधी लाइन में आ जाती है और लाइन क्लियर होने के कारण निरंतर निरंतर हम विकास के चलना आरंभ कर देते हैं जो निष्क्रिय यही है सब जाए कहीं निर्भरता का दिशा का कदम है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आत्मनिर्भरता के अर्थ ,आत्मनिर्भरता का मतलब,आत्मनिर्भरता किसे कहते हैं
URL copied to clipboard