#धर्म और ज्योतिषी

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
2:02
नमस्कार दोस्तों प्लस नहीं क्या एक मरे हुए व्यक्ति को भी गुरु बनाया जा सकता है अगर हां तो वह दीक्षा किस प्रकार देगा तो दोस्तों हम किसी ना किसी को ग्रुप बनाते हैं वह व्यक्ति कोई उमर नहीं है उसकी मृत्यु निश्चित है तो ऐसा नहीं है कि हम उसकी दीक्षा नहीं ले सकते हैं उसके बताए हुए मार्ग पर चल सकते हैं उनके बताए हुए संकलित पुस्तकों को पढ़ सकते हैं जिसमें कि उन्होंने में बताया और आजकल तो मॉडर्न जमाना आ गया है उनके बताए व्यभिचार वीडियो के माध्यम से ऑडियो के माध्यम से उपलब्ध रहते हैं या हमारे जैसे देवी देवता भी हमारे हैं हम कई लोग उनको भी गुरु मानते हैं तो उनके जो पुराने कहानियां उनके बारे में लिखे नहीं हैं जो उनके पर उनके द्वारा बताए गए हमें बताए गए हैं उनको हम अनुसरण करते हैं और पूर्ण रूप से गुरु मानते हैं लेकिन आजकल ऐसा क्या हो रहा है कलयुग की दुनिया में मैंने कई ऐसे गुरुओं को जानता हूं जो मर गए हैं लेकिन वहां नहीं मरने का ढोंग करवा रहे हैं उनके जो प्रबंधक है वह चाहते हैं कि मंडी खत्म ना हो जाए इसकी उनको ठंडे घर में रखा हुआ है बताते हैं कि वह ध्यान मग्न है तो दोस्तों कोई व्यक्ति पृथ्वी पर अमर होकर नहीं आया है चाहे भगवान ने भी अवतार लिया तो उनको भी देह का त्याग करना पड़ा तू ही हमें समझना चाहिए गुरु किसी को भी बनाया कोई दिक्कत नहीं है हम उनके बताए हुए मार्गों पर चले वही उनके धन्यवाद

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:16
सेंड स्वागत है आपका आपका पिक मेरी बेटी को भी बुला सकता है अगर हां तो रक्षा किस प्रकार होगी तो फ्रेंड्स मरे हुए व्यक्ति को भी गुरु बनाया जा सकता है उसकी फोटो रखकर उसकी पूजा की जा सकती है और उसी से दीक्षा ली जा सकती है

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:27
बरेली बच्चों को भी गुरु बनाया जा सकता है तो कुछ अच्छा पिक्चर है तेरे ग्रुप जुटे थे उस व्यक्ति ने जिसको हम अपना गुरु मान बैठे हैं वह प्रणाम ह्यूमन चाहती है लेकिन उनका डिस्ट्रिक्ट उनका चरित्र के आकर्षण के सिद्धांत मल्होत्रा कोलकाता आगे पीछे हो जा चुके हैं लेकिन अपने व्यक्तित्व रखते थे वो आज भी जिले बजे खाना नहीं दत्त गुरु गोविंद गुरु बनाए जा सकते हैं और उनसे शिक्षा दी जा सकती है उसी प्रकार की कमी आ सकती है फिल्म लेडीस जानी थी लेकिन उनके सिद्धांतों का अनुसरण करके उनकी नई निकली उनकी मूर्ति के समक्ष आप उनके प्रति सम्मान की भावना से आज्ञा का पालन करें आपको शिक्षा

Prerna Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Prerna जी का जवाब
Collage student in polytechnic collage
2:46
जिस हिसाब से यह सवाल पूछना है क्या एक मरे हुए व्यक्ति को भी गुरु बनाया जा सकता है मेरी मां ने तो हां बिल्कुल कसम कहते हैं कि यह बंदा मेरा आइडियल है इसने रुक काम किया है उस देश का मुझे बहुत ज्यादा इन्फ्लेशन महसूस होता है कुछ कुछ आईडिया महात्मा गांधी होते हैं कुछ कुछ के इंदिरा गांधी होते हैं इस क्वेश्चन में गुरुजी के बारे में पूछा गया है अगर हां तो वह दीक्षा किस प्रकार देंगे मैं आपको पता था आप जैसे ही आइडियल बनाना चाहते हैं या यह कहें जिसे भी अपना गुरु बनाना था गुरु अगर आपने पूरी क्षमता से पूरे मन से पूरे दिन से मैं ग्रुप बना चुके हैं तो आपको विश्वास जरूर दिखाएंगे जैसे हम जानते हैं गुरु द्रोणाचार्य ने उन्हें अपना शिष्य नहीं माना था परंतु एकलव्य ने पूरे दिल से पूरी निष्ठा से हमें गुरु मान लिया था और उनकी मूर्ति बनाकर उनकी मूर्ति के पास हीरोज अभ्यास करता था जबकि उसे कोई सिखाता नहीं था पर उसे लगता था कि मूर्ति ही उस पर ध्यान रख रही है वही उसे दिखा दिखा रहे हैं जिसके कारण इतना बड़ा योद्धा बात की बात है तूने गुरु दक्षिणा में वो दोनों में द्रोणाचार्य नेमीचंद का अंगूठा मांग लिया था कि आप ने केंद्र की ऊर्जा देखी उसमें एक निजी निर्जीव की यानी माटी कल अपने गुरु का मूर्ति बनाया तब भी अजीब है परंतु अपने भक्ति से उसने उसे सजीव बना दिया और सबसे बड़ा योद्धा को सबसे तेज सबसे ज्यादा टी सबसे पहले सीखने वाला तीर धनुष योद्धा बन गया जैसे कि आप भी किसी को भी गुरु मानकर अगर आप पूरी तरह से निष्ठा से लोग रोमांच उनके कहे हुए आदेशों पर चलते हैं आपको जरूर आप जरूर आगे बढ़ पाएंगे इस सवाल में जो पूछा गया था मेरे ख्याल से आपको आपका आंसर मिल गया होगा एकलव्य की कहानी से इसलिए हम चाहे तुम हिंदी को भी आइडियल बना सकते हैं पर जरूरी है उसे आइडियल बनाने से पहले हमें उनके प्रतिशत के प्रति सम्मान उनके प्रति आदर का भाव उनके प्रति सब कुछ पता कर लेना चाहिए हम साथ साथ कभी भी किसी भी तरह का मन में लालच नहीं आना चाहिए

डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
2:14

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • अपना गुरु किसे बनाएं, गुरु किसे बनाना चाहिए,
URL copied to clipboard