#भारत की राजनीति

bolkar speaker

स्वदेशी करोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है?

Svadeshi Corona Vaccine Bharat Biotech Par Kya Rajneeti Ho Rahi Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
2:32
तो आज आप का सवाल है कि स्वदेशी कोरोनावायरस इन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है तो देना चाहे वह कोई भी कंट्री क्यों ना हो मतलब हम इसका मतलब ऐसे सब टिप्पणी चलती रहती है इतनी जल्दी नहीं है उल्लू का हो या फिर जो भी बहुत साल और बहुत वक्त लग जाता है बनने में और जब बंद ही जाता है उसके ट्राइल्ज जो होते हैं वह बहुत वक्त लगता है सही भी होता है क्योंकि अच्छा को डाटा चाहिए कि हां यह वैक्सीन से ट्रायल से क्या-क्या हो रहा है क्या इंफॉर्मेशन तो ऐसे समय पर आप जो करते हैं वह बहुत वक्त होता है स्टेज वाइज होता है तो अभी हम देख रहे कि कोरोनावायरस अगले साल और यह साल बाद सेना गया है तो यह बहुत ही जल्दबाजी में हुआ है बस यह अच्छी बात है कि हमें वैक्सीन मिल गया गरी सब तरफ से परफेक्ट और अच्छा जैसा कि कहा जाए किसकी कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है इंसान मतलब आराम से ठीक हो जाएगा तो अभी इसे हरी झंडी दिखा दी गई है सब तरफ से डब्ल्यूएचओ की तरफ से भी बोल दिया गया कि हां यह पूरी तरह से सुरक्षित है तू यह बहुत अच्छी बात है तुम बहुत सारे लोगों का यह कहना है कि यह व्यक्ति जल्दी कैसे बन सकती है सरकार को आगे अच्छा दिखाने के लिए जल्द से जल्द के ट्रायल से आधा अधूरा में खत्म कर दिए हैं या फिर बहुत सारे लोग ऐसा सोच ले कि हम लोगों पर क्यों लगाया जा रहा था कि सरकार पर क्यों नहीं लगाया जा रहा है चल रहा है तो अभी फिलहाल आप लोगों को या किसी को भी हम लोगों में से किसी को डरने की जरूरत नहीं है बाकी लोग क्या बोल रहे हैं मुझे नहीं पता बट मैंने बहुत सारे सर्च किया मैंने बहुत सारे वीडियोस बहुत सारे लोग जो भी इस लोगों की भी मैंने बहुत सारे बात है मैंने देखा इस लाइन को लेकर अभी तक इतना ही बताया गया कि बहुत ही से और सुरक्षित हो तो कोई भी बात नहीं है कुछ भी नुकसान नहीं होगा फिलहाल हमें खुश होना चाहिए कि हमें व्यक्ति मिल गया भले जल्दी ही सही पर हमें मिल गया है राजनीति हो रही है या जो हो रही है हमें तो बस इतना ही पता चलेगा जो भी चीज देखी आते हैं ना तो राजनीति चलती रहती उसमें अभी फिलहाल हमें पता है यह महामारी मतलब कितना ज्यादा है उसके इंपैक्ट और हम देख रहे हैं तो फिलहाल लग रही है सबको लग जाएगी यह अच्छी बात है और आशा करते हैं और दुआ हमें हम लोग करते रहने की कोई भी साइड इफेक्ट ना हो जाता कहां जा रही है मैं साहू भी नाम सबसे पहले की तरह अच्छा हो जाए
To aaj aap ka savaal hai ki svadeshee koronaavaayaras in bhaarat baayotek par kya raajaneeti ho rahee hai to dena chaahe vah koee bhee kantree kyon na ho matalab ham isaka matalab aise sab tippanee chalatee rahatee hai itanee jaldee nahin hai ulloo ka ho ya phir jo bhee bahut saal aur bahut vakt lag jaata hai banane mein aur jab band hee jaata hai usake trailj jo hote hain vah bahut vakt lagata hai sahee bhee hota hai kyonki achchha ko daata chaahie ki haan yah vaikseen se traayal se kya-kya ho raha hai kya imphormeshan to aise samay par aap jo karate hain vah bahut vakt hota hai stej vaij hota hai to abhee ham dekh rahe ki koronaavaayaras agale saal aur yah saal baad sena gaya hai to yah bahut hee jaldabaajee mein hua hai bas yah achchhee baat hai ki hamen vaikseen mil gaya garee sab taraph se paraphekt aur achchha jaisa ki kaha jae kisakee koee bhee said iphekt nahin hai insaan matalab aaraam se theek ho jaega to abhee ise haree jhandee dikha dee gaee hai sab taraph se dablyooecho kee taraph se bhee bol diya gaya ki haan yah pooree tarah se surakshit hai too yah bahut achchhee baat hai tum bahut saare logon ka yah kahana hai ki yah vyakti jaldee kaise ban sakatee hai sarakaar ko aage achchha dikhaane ke lie jald se jald ke traayal se aadha adhoora mein khatm kar die hain ya phir bahut saare log aisa soch le ki ham logon par kyon lagaaya ja raha tha ki sarakaar par kyon nahin lagaaya ja raha hai chal raha hai to abhee philahaal aap logon ko ya kisee ko bhee ham logon mein se kisee ko darane kee jaroorat nahin hai baakee log kya bol rahe hain mujhe nahin pata bat mainne bahut saare sarch kiya mainne bahut saare veediyos bahut saare log jo bhee is logon kee bhee mainne bahut saare baat hai mainne dekha is lain ko lekar abhee tak itana hee bataaya gaya ki bahut hee se aur surakshit ho to koee bhee baat nahin hai kuchh bhee nukasaan nahin hoga philahaal hamen khush hona chaahie ki hamen vyakti mil gaya bhale jaldee hee sahee par hamen mil gaya hai raajaneeti ho rahee hai ya jo ho rahee hai hamen to bas itana hee pata chalega jo bhee cheej dekhee aate hain na to raajaneeti chalatee rahatee usamen abhee philahaal hamen pata hai yah mahaamaaree matalab kitana jyaada hai usake impaikt aur ham dekh rahe hain to philahaal lag rahee hai sabako lag jaegee yah achchhee baat hai aur aasha karate hain aur dua hamen ham log karate rahane kee koee bhee said iphekt na ho jaata kahaan ja rahee hai main saahoo bhee naam sabase pahale kee tarah achchha ho jae

और जवाब सुनें

bolkar speaker
स्वदेशी करोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है?Svadeshi Corona Vaccine Bharat Biotech Par Kya Rajneeti Ho Rahi Hai
Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
2:54
नमस्कार श्रोताओं ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया बीसीसीआई ने इस संडे को दो कोरोनावायरस को मंजूरी दे दी है इस्तेमाल के लिए अब इसका इस्तेमाल कर सकते हैं दो वैक्सीन का पर इसके बाद राजनीति छिड़ गई है आसान शब्दों में कहें तो एक है वैक्सीन ऑक्सफर्ड की और ए के अपने स्वदेशी यानी भारत की बनाई हुई तो एक्सपर्ट की जो वैक्सीन है उसके ट्रायल हो चुके हैं सारे ट्रायल हो चुके हैं उसको एक अच्छी वैक्सीन बता दिया गया कि इसको इस्तेमाल कर सकते हैं फायदेमंद है लेकिन स्वदेशी वैक्सीन है भारत बायोटेक कि उसके अभी तक ट्रायल चल रहे हैं और उसका डेट अब तक शेयर नहीं किया गया उसके जो ट्रायल चलने है उसका डाटा शेयर नहीं किया गया है अभी यह पता नहीं है कि वह कितनी असरदार है उसके क्या असर हो रहा है और इन सबके बावजूद बिना डाटा होने के बावजूद उस को मंजूरी दे दी गई है इस कारण इस पर राजनीति चल रही है डिटेल्स में जानते हैं तो क्या हुआ छुट्टी को को मंजूरी देने की प्रक्रिया में साफगोई नहीं होती पहला कारण यह है दूसरा इनके अप्रूवल के बारे में बताने के लिए जो प्रेस कांफ्रेंस बुलाई गई थी उसमें रिपोर्टरों के सवाल पूछने पर भी रोक थी ऐसे में उस टीके की मंजूरी को लेकर पे खड़ा खड़ा हो गया था जिसे भारत बायोटेक और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च आईसीएमआर ने मिलकर बनाया है असल में किसी व्यक्ति को मंजूरी दिए जाने के अंतर्राष्ट्रीय मानक तय हैं पहला व सुरक्षित हो दूसरा उसे लगाए जाने के बाद रोग से लड़ने की विनती बड़े तीसरा असरदार हो अब भारत बायोटेक की वैक्सीन का भी तरीका चल रहा है जबकि सरकार एमरजैंसी में स्पीकर की कीमत इस्तेमाल की अनुमति दे दिया उसका कहना है कि यह पैसा जनहित के लिए जनहित में लिया गया है और क्लीनिकल ट्रायल के दौरान इसे लेकर काफी सावधानियां बरती गई है अप्रूवल इसलिए दिया गया है क्योंकि इस दौरान वैक्सीन सुरक्षित पाई गई पर सवाल यह उठता है कि जो भारत बायोटेक के उसने अब तक डाटा शेयर नहीं किया उसने अपने शॉप भागीदारों पर इसके असर के डाटा नहीं दिया जो जरूरी होता है देना कोई भी कंपनी अगर अप्रूवल मांगती है कि वैक्सीन का तो उसे कम से कम इतने भागीदारों के आंकड़े दे नहीं पड़ते हैं निशा भागीदारों का कर देना ही पड़ता है पर नहीं दिया क्या ऑक्सफर्ड की बात कर रहे हैं जो सीरम की वैक्सीन ऑक्स पर टेक्स्ट जाने का है उसको अप्रूवल दे दिया गया वह सही है उसके ट्रायल को देखते मंजूरी दे दी गई है तू राजनीति अभी भारत बायोटेक की बनाई हुई वैक्सीन पर चल रहा है कि उसका डाटा शेयर नहीं किया गया और तब भी उसे अप्रूवल दे दिया गया है धन्यवाद
Namaskaar shrotaon drags kantrolar janaral oph indiya beeseeseeaee ne is sande ko do koronaavaayaras ko manjooree de dee hai istemaal ke lie ab isaka istemaal kar sakate hain do vaikseen ka par isake baad raajaneeti chhid gaee hai aasaan shabdon mein kahen to ek hai vaikseen oksaphard kee aur e ke apane svadeshee yaanee bhaarat kee banaee huee to eksapart kee jo vaikseen hai usake traayal ho chuke hain saare traayal ho chuke hain usako ek achchhee vaikseen bata diya gaya ki isako istemaal kar sakate hain phaayademand hai lekin svadeshee vaikseen hai bhaarat baayotek ki usake abhee tak traayal chal rahe hain aur usaka det ab tak sheyar nahin kiya gaya usake jo traayal chalane hai usaka daata sheyar nahin kiya gaya hai abhee yah pata nahin hai ki vah kitanee asaradaar hai usake kya asar ho raha hai aur in sabake baavajood bina daata hone ke baavajood us ko manjooree de dee gaee hai is kaaran is par raajaneeti chal rahee hai ditels mein jaanate hain to kya hua chhuttee ko ko manjooree dene kee prakriya mein saaphagoee nahin hotee pahala kaaran yah hai doosara inake aprooval ke baare mein bataane ke lie jo pres kaamphrens bulaee gaee thee usamen riportaron ke savaal poochhane par bhee rok thee aise mein us teeke kee manjooree ko lekar pe khada khada ho gaya tha jise bhaarat baayotek aur indiyan kaunsil oph medikal risarch aaeeseeemaar ne milakar banaaya hai asal mein kisee vyakti ko manjooree die jaane ke antarraashtreey maanak tay hain pahala va surakshit ho doosara use lagae jaane ke baad rog se ladane kee vinatee bade teesara asaradaar ho ab bhaarat baayotek kee vaikseen ka bhee tareeka chal raha hai jabaki sarakaar emarajainsee mein speekar kee keemat istemaal kee anumati de diya usaka kahana hai ki yah paisa janahit ke lie janahit mein liya gaya hai aur kleenikal traayal ke dauraan ise lekar kaaphee saavadhaaniyaan baratee gaee hai aprooval isalie diya gaya hai kyonki is dauraan vaikseen surakshit paee gaee par savaal yah uthata hai ki jo bhaarat baayotek ke usane ab tak daata sheyar nahin kiya usane apane shop bhaageedaaron par isake asar ke daata nahin diya jo jarooree hota hai dena koee bhee kampanee agar aprooval maangatee hai ki vaikseen ka to use kam se kam itane bhaageedaaron ke aankade de nahin padate hain nisha bhaageedaaron ka kar dena hee padata hai par nahin diya kya oksaphard kee baat kar rahe hain jo seeram kee vaikseen oks par tekst jaane ka hai usako aprooval de diya gaya vah sahee hai usake traayal ko dekhate manjooree de dee gaee hai too raajaneeti abhee bhaarat baayotek kee banaee huee vaikseen par chal raha hai ki usaka daata sheyar nahin kiya gaya aur tab bhee use aprooval de diya gaya hai dhanyavaad

bolkar speaker
स्वदेशी करोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है?Svadeshi Corona Vaccine Bharat Biotech Par Kya Rajneeti Ho Rahi Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:55
संसार में भारत से ज्यादा घटिया राजनीति और कहीं हो ही नहीं सकती है संसार की सबसे घटिया सबसे अजीब पार्टी की राजनीति भारत पहुंची है यहां पर हर चीज में सरकारी में स्थित राजनीति का घटिया पर दिखाई देता है अभी 2020 में भारतीय नई समस्त विश्व में स्वयं वायरस के कारण से आकार मचा हुआ था भारत कोरोना वायरस का संक्रमण इस कदर फैला हुआ था कि समस्त मानवता के अस्तित्व को खतरा उत्पन्न हो गया था अमेरिका इटली फ्रांस जर्मनी रूस जिन देशों की विज्ञान हमसे बहुत आगे हैं किन देशों की टेक्नोलॉजी हमसे बहुत आगे हैं जहां की फैसिलिटी हमसे बहुत आगे हैं जो धनाढ्य श्रेणी के देश का ही जाते हैं विकसित किस देश का ही जाते हैं उन देशों में इस कोरोनावायरस ने आकार मचवा दिया आज बांदा शुक्र उठाने वाले पैदा नहीं हो रहे हैं लाशों के लिए स्थान कम होते जा रहे हैं बड़ी आशाएं लेकर कि मानव ने यह सांसो में जी रहा था कि वैक्सीन बन जाएगी सब कुछ जीने के साधन बन जाएंगे मानक जी सकेगा लेकिन देखिए दुर्भाग्य भारत का कोरोनावायरस इन भारत में बनकर पैदा भी ना हो पाई मार्केट में अभी ना पाई उससे पहले भारत की घटिया राजनीति ने उसको भी शंकाओं के बारे में डाल दिया और उस पर भी घटिया राजनीति की जा रही है यह बड़ा दुर्भाग्य का बात है काश इस भारत में कभी नैतिकता आएगी वह गांधीजी बिचारी जिन्होंने भारत में राम राज्य का सपना देखा था या वह अमर शहीद जिन्होंने इस भारत देश को स्वतंत्र कराने के लिए अपनी कुर्बानिया दी चल शेखर आजाद सरदार भगत सिंह यदुनाथ राजगुरु सुखदेव अशफ़ाकउल्ला आदि जैसे जो अमर शहीद थे जिन्होंने अपनी कुर्बानिया देश भारत देश को स्वतंत्र कराने के लिए उन विचारों को क्या मालूम था कि हमारे जाने के बाद जब हम देश को स्वतंत्र करा देंगे तो यहां के घटिया राजनीति किस प्रकार की घटिया राजनीति करेंगे जो स्वार्थ खुदगर्जी और लालच से भरी होगी कि बड़ा दुर्भाग्य का विषय है काश इस देश में संपन्न राजनीतिज्ञों को भगवान सद्बुद्धि दे और यह जनहित में कार्य करें जन सेवा के कार्य करें जब कल्याण के कार्य करें जो बीजों को उनको राजनीति करनी चाहिए उन विषयों पर कभी बात नहीं करते हैं जब कल्याण की जन सेवा की बातें जनहित की बातें कभी राजनीति में दिखाई नहीं दे रही है बड़ा दुर्भाग्य कसम है
Sansaar mein bhaarat se jyaada ghatiya raajaneeti aur kaheen ho hee nahin sakatee hai sansaar kee sabase ghatiya sabase ajeeb paartee kee raajaneeti bhaarat pahunchee hai yahaan par har cheej mein sarakaaree mein sthit raajaneeti ka ghatiya par dikhaee deta hai abhee 2020 mein bhaarateey naee samast vishv mein svayan vaayaras ke kaaran se aakaar macha hua tha bhaarat korona vaayaras ka sankraman is kadar phaila hua tha ki samast maanavata ke astitv ko khatara utpann ho gaya tha amerika italee phraans jarmanee roos jin deshon kee vigyaan hamase bahut aage hain kin deshon kee teknolojee hamase bahut aage hain jahaan kee phaisilitee hamase bahut aage hain jo dhanaadhy shrenee ke desh ka hee jaate hain vikasit kis desh ka hee jaate hain un deshon mein is koronaavaayaras ne aakaar machava diya aaj baanda shukr uthaane vaale paida nahin ho rahe hain laashon ke lie sthaan kam hote ja rahe hain badee aashaen lekar ki maanav ne yah saanso mein jee raha tha ki vaikseen ban jaegee sab kuchh jeene ke saadhan ban jaenge maanak jee sakega lekin dekhie durbhaagy bhaarat ka koronaavaayaras in bhaarat mein banakar paida bhee na ho paee maarket mein abhee na paee usase pahale bhaarat kee ghatiya raajaneeti ne usako bhee shankaon ke baare mein daal diya aur us par bhee ghatiya raajaneeti kee ja rahee hai yah bada durbhaagy ka baat hai kaash is bhaarat mein kabhee naitikata aaegee vah gaandheejee bichaaree jinhonne bhaarat mein raam raajy ka sapana dekha tha ya vah amar shaheed jinhonne is bhaarat desh ko svatantr karaane ke lie apanee kurbaaniya dee chal shekhar aajaad saradaar bhagat sinh yadunaath raajaguru sukhadev ashafaakulla aadi jaise jo amar shaheed the jinhonne apanee kurbaaniya desh bhaarat desh ko svatantr karaane ke lie un vichaaron ko kya maaloom tha ki hamaare jaane ke baad jab ham desh ko svatantr kara denge to yahaan ke ghatiya raajaneeti kis prakaar kee ghatiya raajaneeti karenge jo svaarth khudagarjee aur laalach se bharee hogee ki bada durbhaagy ka vishay hai kaash is desh mein sampann raajaneetigyon ko bhagavaan sadbuddhi de aur yah janahit mein kaary karen jan seva ke kaary karen jab kalyaan ke kaary karen jo beejon ko unako raajaneeti karanee chaahie un vishayon par kabhee baat nahin karate hain jab kalyaan kee jan seva kee baaten janahit kee baaten kabhee raajaneeti mein dikhaee nahin de rahee hai bada durbhaagy kasam hai

bolkar speaker
स्वदेशी करोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है?Svadeshi Corona Vaccine Bharat Biotech Par Kya Rajneeti Ho Rahi Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:46
स्वदेशी कोरोनावायरस इन भारत बायोटेक पर क्या राजनीत हो रही है कि पक्षी हैं उनको सरकार पर भरोसा नहीं है हु करें कि सरकार पहले प्रधानमंत्री लगाया मतलब पहले मंत्री बन जाए तब हम लोग लागू आएंगे तो ठीक है ना अच्छा बुरा सब लोग ही भाव अनियंत्रित हुई उन्होंने जानते हैं उनको नहीं भरोसा है लेकिन देश को इसकी आवश्यकता है और हमें राजनीति से कोई मतलब नहीं है इसलिए आप यथावत जैसा भी प्राप्त हो कोरोनावायरस इन लगाइए और अपने जीवन को स्वस्थ बनाइए राजनीति में गंदे विचार वाले कुछ न कुछ कीचड उछलते ही रहेंगे और यह कभी कभी खत्म ना होने वाली भी चर्चाएं हैं
Svadeshee koronaavaayaras in bhaarat baayotek par kya raajaneet ho rahee hai ki pakshee hain unako sarakaar par bharosa nahin hai hu karen ki sarakaar pahale pradhaanamantree lagaaya matalab pahale mantree ban jae tab ham log laagoo aaenge to theek hai na achchha bura sab log hee bhaav aniyantrit huee unhonne jaanate hain unako nahin bharosa hai lekin desh ko isakee aavashyakata hai aur hamen raajaneeti se koee matalab nahin hai isalie aap yathaavat jaisa bhee praapt ho koronaavaayaras in lagaie aur apane jeevan ko svasth banaie raajaneeti mein gande vichaar vaale kuchh na kuchh keechad uchhalate hee rahenge aur yah kabhee kabhee khatm na hone vaalee bhee charchaen hain

bolkar speaker
स्वदेशी करोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है?Svadeshi Corona Vaccine Bharat Biotech Par Kya Rajneeti Ho Rahi Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:10
सवाल यह है कि स्वदेशी कोरोना वैक्सीन भारत बायोटेक पर क्या राजनीति हो रही है तो भारत बायोटेक की कोरोनावायरस इन को भारत में मंजूरी दिए जाने के बाद से ही कंपनी को लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है देश के अपने स्वदेशी को 3:00 पर कांग्रेस के कुछ नेताओं ने सवाल उठाए हैं और तीसरे चरण के परीक्षण डाटा को मौजूद नहीं होने पर चिंता जताई है भारत बायो टेक्नोलॉजी नाव को खारिज कर दिया है और कहा है कि इसका सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन उत्पादन का रिकॉर्ड रहा है और उसके सभी डाटा पारदर्शी हैं कांग्रेस नेता शशि थरूर ने बिना तीसरे चरण के परीक्षण के भारत बायोटेक को कोविड-19 को मंजूरी देने के लिए सरकार की जमकर खिंचाई की है थरूर ने कहा हम सिर्फ इतना ही नहीं कह रही थी अगर टीका प्रभावी रूप से काम किया तो हमारे लिए गर्व की बात होगी लेकिन तीसरे चरण के वैधानिक परीक्षण से पहले से मंजूरी देना वैज्ञानिक प्रोटोकॉल का उल्लंघन है जब तक कहीं भी दूध हमें नहीं हुआ है अंदर राष्ट्रभक्ति कॉमन सेंस का विकल्प नहीं हो सकती लेकिन स्वास्थ्य मंत्री ने कहा है कि इसके काम करने की अधिक संभावना है और इस बात की भी संभावना है कि दूसरी वैक्सीन की तरह भी असरदार हो यह बात करने वाली नहीं है लेकिन तीसरे चरण के नादानी परीक्षण के बाद ही सरटेन में बदल सकता है इन्हीं विवादों के बीच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा कि भारत बायोटेक की टीम को मंजूरी बैकअप के तौर पर केवल आपातकालीन स्थिति के लिए ही दिया अरे दावों को खारिज कर दिया गया है कि टीका कि उनकी पूरी प्रक्रिया फास्ट ट्रैक किया जाएगा उन्होंने कहा कि अगर मामलों में बढ़ोतरी होती है तो हमें टीके के बड़े डोर की भी जरूरत होगी तब हम भारत बायोटेक के टीके का इस्तेमाल कर सकते हैं भारत बायोटेक का चेकअप के लिए है उन्होंने कहा सुरक्षा प्रभाव के संदर्भ में किसी भी क्लीनिकल परीक्षण को पास में नहीं किया गया नियामक की मंजूरी लेने में फास्ट ट्रैक किया गया है जिसमें एक चरण से दूसरे चरण तक जाने में सामान्य तौर पर ज्यादा समय लगता है
Savaal yah hai ki svadeshee korona vaikseen bhaarat baayotek par kya raajaneeti ho rahee hai to bhaarat baayotek kee koronaavaayaras in ko bhaarat mein manjooree die jaane ke baad se hee kampanee ko lagaataar aalochanaon ka saamana karana pad raha hai desh ke apane svadeshee ko 3:00 par kaangres ke kuchh netaon ne savaal uthae hain aur teesare charan ke pareekshan daata ko maujood nahin hone par chinta jataee hai bhaarat baayo teknolojee naav ko khaarij kar diya hai aur kaha hai ki isaka surakshit aur prabhaavee vaikseen utpaadan ka rikord raha hai aur usake sabhee daata paaradarshee hain kaangres neta shashi tharoor ne bina teesare charan ke pareekshan ke bhaarat baayotek ko kovid-19 ko manjooree dene ke lie sarakaar kee jamakar khinchaee kee hai tharoor ne kaha ham sirph itana hee nahin kah rahee thee agar teeka prabhaavee roop se kaam kiya to hamaare lie garv kee baat hogee lekin teesare charan ke vaidhaanik pareekshan se pahale se manjooree dena vaigyaanik protokol ka ullanghan hai jab tak kaheen bhee doodh hamen nahin hua hai andar raashtrabhakti koman sens ka vikalp nahin ho sakatee lekin svaasthy mantree ne kaha hai ki isake kaam karane kee adhik sambhaavana hai aur is baat kee bhee sambhaavana hai ki doosaree vaikseen kee tarah bhee asaradaar ho yah baat karane vaalee nahin hai lekin teesare charan ke naadaanee pareekshan ke baad hee saraten mein badal sakata hai inheen vivaadon ke beech akhil bhaarateey aayurvigyaan sansthaan ke nideshak ranadeep guleriya ne kaha ki bhaarat baayotek kee teem ko manjooree baikap ke taur par keval aapaatakaaleen sthiti ke lie hee diya are daavon ko khaarij kar diya gaya hai ki teeka ki unakee pooree prakriya phaast traik kiya jaega unhonne kaha ki agar maamalon mein badhotaree hotee hai to hamen teeke ke bade dor kee bhee jaroorat hogee tab ham bhaarat baayotek ke teeke ka istemaal kar sakate hain bhaarat baayotek ka chekap ke lie hai unhonne kaha suraksha prabhaav ke sandarbh mein kisee bhee kleenikal pareekshan ko paas mein nahin kiya gaya niyaamak kee manjooree lene mein phaast traik kiya gaya hai jisamen ek charan se doosare charan tak jaane mein saamaany taur par jyaada samay lagata hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • करोना वैक्सीन,भारत बायोटेक वैक्सीन
URL copied to clipboard