#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:46
हेलो एवरीवन तू आज आपका सवाल है कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का क्या मतलब है और ऐसा क्यों कहा जाता है तो दीजिए आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब भी इंसान को किसी चीज की जरूरत पड़ती है तो इंसान कुछ ना कुछ खोज और कुछ ना कुछ प्लान और कुछ ना कुछ इन्वेंशन जरूर करता है जैसे कि आपको पता है कि लॉकडाउन है या फिर आप यहां से वहां तक जा नहीं पाएंगे या फिर जा नहीं सकते तो आपको पता है कि आपको जरूरत भी है तो आप कुछ ना कुछ अविष्कार करने के बारे में सोचते हो कर भी लेते हैं क्योंकि आपको पता है कि आपको जाना है वहां यह बहुत जरूरी है तो जब भी इंसान को जरूरत पड़ती है इंसान कुछ ना कुछ जरूर अविष्कार और अपनी जरूरत के हिसाब से कुछ ना कुछ जरूर अविष्कार रीमेंस इन करता है जैसे कि नहीं पता था कि नहीं लाइट की जरूरत है या फिर इस चीज की जरूरत है या फिर वह खाने की जरूरत है इंसान उसकी जरूरत को पूरा करने के लिए जुट जाता है पूरा जी जान लगा देता है और कुछ ना कुछ उसके बदले या फिर उस तरह की चीजें वह जरूर मतलब वहां पर अविष्कार करता है आप जैसे कि कोई टेबल आपने लाया है उस टेबल पर बहुत सारे सामान घर पर रख रहे टेबल टूट जाता है या फिर किसी भी तरह से खराब हो जाता है वह सारे सामान को कहां रखना आपका दिमाग चलने लगता आप तुरंत कुछ ना कुछ उपाय सोचने लगते तो इस तरह क्या पाकिस्तानी करते फिर वह सामान पर किसी और जगह पर पेपर से या फिर कुछ भी चीज बनाकर आपने टेबल वहां पर बना लेते एक अविष्कार करते क्योंकि आपको पता था इतना सामान रखा है यह भी जरूरत की चीज है जो इंसान को जब भी किसी चीज की जरूरत पड़ती है इंसान कुछ ना कुछ अविष्कार जरूर करता है

और जवाब सुनें

Vikash Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikash जी का जवाब
Unknown
2:07

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:30
आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का मतलब यह है कि जब आप कोई अन्य कार्य नहीं कर सकते लेकिन किसी निश्चित कार्य को पूरा करने का निश्चित स्थिति में ही जीवन निर्वाह करना है तो आप ही के साथ जीवन यापन करने का प्रबंध करते हैं यही मतलब था

पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम सोनी जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:57
जिंदगी की जो हो सकता है होते हैं वही खोज करके अपनी आवश्यकता की पूर्ति का एक साधन बनते हैं अविष्कार मैंने खोज आवश्यकता मैंने जो हमारे जीवन के आवश्यक अगर मैं गर्मी लग रही है तुम यह खुद करेंगे कि हमें गर्मी कैसे दूर हो किसी पेड़ की छांव छांव में पहुंचे अगर आसपास छाया नहीं है तुम धीरे-धीरे यह कोशिश करेंगे हम पेड़ लगा दे भूख लग रही है तो कम से कम जल्दी से समय में कौन सी जी खाली तो हमारी की भूख मिट जाए अगर हमको न शिक्षा पद्धति पर कुछ बदलाव लाने हैं तुम ऐसे कौन से बदलाव लाने की कम समय में पढ़ करके हमारी बौद्धिक शक्ति के अनुसार उन्हें सारी ज्ञान प्राप्त हो जाएं तो हमारी आवश्यकता अधिक ज्ञान प्राप्त करने की है अधिक ज्ञान प्राप्त करने का जो साधन है वह आविष्कार कहलाता है स्टार आवश्यकता आविष्कार की जननी है हमें जिस चीज की आवश्यकता होती उसी हिसाब से हम 14 अविष्कार कर लेते हैं

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
4:55
आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन पर क्या मतलब है और ऐसा क्यों कहा जाता है जो भी इंसान ने अविष्कार किए थे बिजली का आविष्कार हो मोबाइल फोन का आविष्कार कौन विमान का अविष्कार हूं पैसे होते हैं उनकी जो है वह आवश्यकता है का मतलब यह है कि जब इंसान को किसी चीज की जरूरत होती है वैसे आदिमकाल में इंसान को अपनी सुरक्षा सुरक्षा की जरूरत होने लगी उसको यह डर लगने लगा कि कोई जानवर दूसरे जानवर जो ऊपर हमला कर कर उनके उनको मार ना दे तुम सोचने लगा कि हमारे मेरे बचाव के लिए मुझे क्या करना चाहिए और उसने आसपास भी देखा तो पहले उसको पत्थर दिखाई दिए और वह मजबूत अर्जुन पर फेंके जा सकती है ऐसा भी उसको लगा तो पहले उसने पत्थर देखना शुरू कर दिया और बाद में कुछ पत्थरों को उसने इकरार करने के लिए उस तरीके से बनाया डिसएबल नजदीक के दुश्मन को यादव को मार सके और इसका एक आगे जाकर जो तलवारी बनी तो बनी तो बने और मिसाइल से बने यह सारी चीजें की सुरक्षा के लिए आवश्यक इसलिए वह बन गई अब आप अभी आपका जो अपडेट अपडेट है अपडेट इंफॉर्मेशन नहीं है इंसान को ज्यादा काम करने की इच्छा नहीं है वह मशीनों के द्वारा ही काम कर रहे हो लेना चाहता है और खुद आराम से जिंदगी जीना चाहते हैं तो रोबोट कार अविष्कार हुआ अब उसको ऐसा भी लग रहा है कि हमारे दिमाग को ज्यादा तकलीफ देना भी अच्छा नहीं है उससे प्यार मांगे वह हमें आराम चाहिए तो हमारी जगह कोई और दूसरा हमारी सरोज सोच सोच सकेगा और हमारे काम कर देगा तो कितना बेहतरीन और आज तुम स्तर की कृतिका उसने सोचना शुरू कर दिया और समाज में कुछ टैलेंट लोग होते हैं लाखों में एक होता है लेकिन लाखों को भारी होता है इंजीनियर लोग समाज में होती है वहीं दुनियाभर बदलते ख्याल तो हर व्यक्ति के मन में कई आते हैं लेकिन जिसको हासिल हुई करते हैं जो जीनियस लोग होते हैं और इसी तरह की तरीके से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस किया हुआ कैसे डाल दी गई है और यह शुरू भी हो गई तो आगे जाकर इंसान के बहुत सारे काम जो है वह उसने करेंगे और उन्हें अपना एक इंटेलिजेंस होगा कुछ सोचेंगे क्या-क्या करना चाहिए और इसका इस्तेमाल जीवन के हर क्षेत्र में किया जाएगा नैनो रोबोट से बनाकर इंसान के शरीर के अंदर की कैंसर की पेशियां होती है तेल शोधन को नष्ट कलयुग करने वाले ये नैनोबोट्स संशोधन चल रहा है और यह भी होगा जो जो भी आवश्यकता है आएगी वह उस पर मार्ग निकलता है इंसान का दिमाग धन्यवाद

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit Kumar जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:01
क्वेश्चन बहुत अच्छा है आपका आवश्यकता ही आविष्कार की जननी इस कथन का क्या मतलब होता है और ऐसा क्यों कहा जाता है बिना जरूरत का अविष्कार नहीं होता है हम लोगों को जिंदगी भर भोजन करने की जरूरत होती है एक घर की जरूरत होती है तभी हम लोग नौकरी तुमसे अगर आपको भोजन करने की जरूरत नहीं हो आपको अगर कपड़े पहनने की जरूरत नहीं हो तो आप कभी नौकरी नहीं दूंगी है उसी तरह लोगों को घर में अंधेरा लगता था उजाला नहीं लगता था थॉमस अल्वा एडिसन ने बल्ब का आविष्कार किया इसी तरह से दुनिया भर के साइंटिस्ट को जब भी कोई चीज किसी चीज का जरूरत होता तो वह उसकी खोज करते हैं जब वह खुद करते तो वह खुद अविष्कार में चेंज हो जाता है तो सही बात है आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है जब तक हम लोगों को जरूरत नहीं होगी हम लोग बिना जरूरत है किसी भी चीज को नहीं खोजते

Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera khaan जी का जवाब
Unknown
0:59
गुड मॉर्निंग फ्रेंड आपका सवाल है आप शायद आप ही आविष्कार की जननी है इस कथन का क्या मतलब है ऐसा क्यों कहा जाता है इसका मतलब है कि जब हमें किसी चीज की जरूरत महसूस होती है तब हम उसे खोजते हैं उसका आविष्कार करती थी अभी हाल ही में भारत में और पूरी दुनिया में कोरोनावायरस उसे पढ़ने के बाद ही तू उसकी वेबसाइट उससे पहले नहीं आए तो जब हमें जरूरत महसूस हुई तब वैक्सीन का आविष्कार हुआ और यही कारण है कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है जब भी व्यक्ति को किसी चीज की आवश्यकता होती है तभी वह आविष्कार करता है

Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti Yadav जी का जवाब
Student
0:40
दवा ली है क्या आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का क्या मतलब है और ऐसा क्यों कहा जाता है आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है यह कहावत कहती है कि किसी भी आविष्कार के पीछे एक मुख्य प्रेरक शक्ति होती है आवश्यकता विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभिन्न अवधारणाओं को लागू कर के जीवन को आसान बनाने के लिए मानव की बुनियादी आवश्यकता आविष्कार के पीछे प्राथमिक बल है उदाहरण के लिए बात करने के लिए टेलीफोन का आविष्कार हुआ मनोरंजन करने के लिए टेलीविजन का आविष्कार हुआ और इसी तरह अंधेरों में देखने की जरूरत ने प्रेरित किया तो बल्ब का आविष्कार किया

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Archana Mishra जी का जवाब
Housewife
0:43
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका दोस्त आपका सवाल है आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का क्या मतलब है और ऐसा क्यों कहा जाता है तो दोस्तों जब हमें किसी चीज की जरूरत होती है तो हम उस चीज को खोजते हैं और अविष्कार अपने आप ही हो जाता है इसलिए जब किसी चीज की जरूरत पड़ती है तो उसका आविष्कार भी निकल आता है दोस्तों जैसे हमें भूख लगी है खाना बनाना है तो हम अपने आप ही उसको काम करेंगे कुछ अविष्कार निकल आएगा कुछ तो बना ही लेंगे इसलिए कहते हैं कि आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है तो दोस्तों अगर आपको मेरे जवाब अच्छे लगते हैं तो प्लीज लाइक करें सब्सक्राइब करें धन्यवाद

bipin gupta  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए bipin gupta जी का जवाब
Ac technician aur computer diploma
2:03
77 पहले या 20 साल पहले जब मोबाइल टेक्नोलॉजी का जमाना नहीं था तब लोगों के पास चिट्ठियां लिख कर समाचार भेजा जाता था या समाचार पाया जाता था डाक सेवा द्वारा इस प्रक्रिया चलती थी अब बहुत तकलीफ होती थी लेकिन जब हमें आवश्यकता पड़ गया रिक्वेस्ट चिट्टियां गायब होने लगी किसी किसी के जितिया पहुंच ही नहीं पाती थी तो कोई कोई का हाल-चाल मिली नहीं पाता था तो हो सकता पूरा भाई कि क्यों ना एक ऐसा यंत्र बनाया जाए कि आदमी घर बैठे किसी का भी हाल चाल पूछ सके बात कर सके आवाज सुन सके तो जब हो सकता पड़ गई तो यह मोबाइल टेक्नोलॉजी का खोजा इस खोज के कारण एक दूसरे से आदमी घर बैठे भात हाल-चाल लेने लगा समाचार होने लगा फिर इसमें आवश्यकता बढ़ती गई और यह मोबाइल आजा स्मार्टफोन के समान बनी चुका है 4G की आवश्यकता पड़ गई 4G बन गया हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन हो गई टॉर्च लग गया बहुत चने को चीज मोबाइल के कारण होने लगा इंटरनेट से सुलभ हो गया इसलिए कहा गया है कि जब-जब आवश्यकता पड़ती है एक नया अविष्कार अवश्य होता है इसीलिए कहा जाता हो सकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का यही अपील है कि जब तक हमें किसी वस्तु का किसी चीज की आवश्यकता नहीं पड़ेगी तब तक हम नया कुछ नहीं कर पाएंगे थैंक यू

guru ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए guru ji जी का जवाब
Students
0:28

Deven  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Deven जी का जवाब
Valuepreneur Adventurer Life Explorer Dreamer
2:03
आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है इस कथन का क्या मतलब है ऐसा क्यों कहा जाता है सिंपल साइड में जो भी पोस्ट आया तो लॉक डाउन हुआ और उसके बाद आप देखिए कितने टाइप की चीजें जो अपनी लाइफ में पहले लोगों ने बनाए गए सभी लोग को बनाने लगे तो अब जरूरत पड़ने लगे बोर्ड में ऐसी जगह होता था वायरस पर दिखाओ लोगों ने उसके उसको लेकर चीजें बनाना शुरू कर दिया ताकि आप अपने घर के अंदर वायरस को मारकर इस लेवल तक रिसर्च आगे बढ़ते चला गया उनकी बात देखो बनी रहती है अगर कॉल नहीं आता तो को बैकस्ट्रीट के सबसे पहले किस मिलती थी हजारों थे कि आप देखोगे ना ही के पास पहले जाते थे तो सलून में जाते थे तो कपड़ा लगाते थे वह फिर वह बाल काटता था लेकिन इन लोगों को आवश्यकता पड़ी तो इस तरीके का विस्तार होने लगा मिस्टर का मतलब क्या होता है की चीजें भेजते हैं लेकिन मुझे एप्लीकेशन लिखने के लिए ऐसा लगा सकता हूं कि कहा जा सकता है इस तरीके इसका यह मतलब आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है और यह हमेशा होता रहता आवश्यक

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#टेक्नोलॉजी

Sreenivas Tutorials Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sreenivas Tutorials जी का जवाब
Self employed
2:08
आज के मशीनी युग में इंसान अपना काफी समय मशीनों के साथ में व्यतीत करते हैं तो मशीनों के साथ में काम करते वक्त एक व्यक्ति को कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है इसके लिए एक अलग सा विज्ञानिक जैसे हमें अंग्रेजी में एरदोनॉमिक्स कहते हैं तब उन्होंने यह बताता है कि किसी मशीन के साथ में काम करते वक्त आपको किन बातों का ध्यान रखना है उदाहरण के तौर पर जब आप कंप्यूटर में काम करते हुए एल्बम मिर्जापुर यह बताता है कि आप कंप्यूटर से या मॉनिटर से कितनी दूरी पर बैठे आप के बैठने की व्यवस्था कैसी होनी चाहिए आप किस तरह की कुर्सी का इस्तेमाल करेंगे आपको बाजार में ऐसे ही कई अवश्य मिल जाएंगे जिसका लिखा होता है यह दोनों में अकेली फिट है यानी आपके शरीर पर जाइए कम से कम प्रभाव डालेगा तो कीबोर्ड भी अंकल के जो कीबोर्ड है वह ई डब्ल्यू ई आर टी वाई से स्टार्ट होता है यानी कोटि कीबोर्ड चलाते हैं इसे एचडीएफसी स्टार्ट होते थे तो इनकी बोर्ड के ज्योतिष का अरेंजमेंट इस तरीके से किया गया है कि आपकी उंगलियों पर यहां तो कर कम से कम असर डालते हुए आपकी जो टाइपिंग की स्पीड है वो काफी जहां काफी तेजी से बढ़ा सकें और साथ ही साथ आपकी उंगलियों पर किसी भी तरह के दबाव न पड़े तो यह काफी रिसर्च के बाद में जो है कीबोर्ड के जो गीत है उनको अरेंज किया गया है ताकि आपको भविष्य में किसी भी तरह की परेशानी उठानी ना पड़े शायद आपको पता ना हो अगर आप कीबोर्ड में जहां साड़ी कंप्यूटर में जब आप काम करते वक्त आपको बैठे हो क्या तरीका सही ना तो भविष्य में हो सकता है कि आप कमर दर्द या फिर आंखों की कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Aakancha Shaw Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Aakancha Shaw जी का जवाब
Unknown
0:31
सबसे पहले आप सोने लगा आपको पेन कीजिए से रजिस्ट्रेशन करने के लिए केबीसी लिंक पर क्लिक करें वापस करने वाले रजिस्ट्रेशन प्रश्न का उत्तर दे अब जो आपको फॉर्म दिखाई दे रहा है उसने पूरी जानकारी भरे फिर सबमिट पर क्लिक करें समय होने के बाद अगर स्क्रीन पर कोई संदेश दिख रहा है जिसमें कहा जा रहा है कि केबीसी रजिस्ट्रेशन पूरा करने के लिए धन्यवाद तो आप समझ जाइए कि आपकी रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है

#पढ़ाई लिखाई

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:36
1 हेक्टेयर में 10000 वर्ग मीटर होते हैं तथा 1 बीघा 2530 वर्ग मीटर का होता है तो 1 मिनट पर 10000 में 82 एमपी क्या मतलब 2530 इसका संख्या में भाग देना उसका 2530 का प्रचार में भाग देने पर 3 पॉइंट नोट 5 बीघा होती है मतलब कितने की आती क्या के करीब होती है

#रिश्ते और संबंध

Anand Kumar Pathak Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Anand Kumar Pathak जी का जवाब
Unknown
2:58
जाहिर सी बात है कि जो लड़की कभी घर से बाहर ना गई हो तो उसका हैबिटेशन अन्य लड़कियों की तुलना में काफी ज्यादा होती है खासकर या देखा जाता है कि लड़कों के मुकाबले लड़कियां अपने दिल की बात ज्यादा सुनती है वह उनके अंदर फिलिंग्स ज्यादा होता है अगर कोई डांट देता है या बोल देता है तो लड़के सुनकर उसे एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल सकते हैं परंतु लड़कियां उसे दिल पर लगा लेती है और वह रोती है अब हम बात करते हैं इंटरव्यू की तो कोई भी इंसान कितना भी क्वालिफाइड हो कितना भी नॉलेज रखता हो परंतु उसे इंटरव्यू या कोई परफॉर्मेंस करने के लिए जब बताया जाता है तो वह अंदर ही अंदर डरता है घबराता है जगता है तो वैसे ही जब आपको इंटरव्यू देने जाना है तो आपके मन में जो है घबराहट तो हो गए लेकिन एक बात हमेशा याद रखिए कि जब बच्चा जन्म लेता है तो जन्म लेते तो नहीं ना दौड़ता सबसे पहले वह कुछ महीनों बाद किसी सहारे अपने दोनों पैरों पर खड़ा होता है फिर गिर जाता है फिर उठता है फिर गिरता है ऐसा करते करते एक पल आता है जब वह एक दो कदम चल के गिर जाता है फिर उसके बाद एक ऐसा भी पल आता है जब वह तोड़ने लगता है तो बिना प्रयास के बिना संघर्ष के आदमी सफलता पर सफलता के एक कदम नहीं सुन सकता उसी तरह आप यह सोचिए कि वक्त बीत जाएगा चाहे वह संघर्ष का वक्त हो या सुख का वक्त हो या दुख का वक्त है जो भी वक्त है वह बिक जाएगा और पीटी रहा है अभी मैं बोल रहा हूं यह भी एक वक्त है इसके बाद में सोने जाऊंगा या अभी यह वक्त है तो सब वक्त बीत ही जाएगा ठीक है इंटरव्यू देने जा रहे हैं हम चाहेंगे हमारा इंटरव्यू अच्छा होगा हम पॉजिटिव थिंकिंग रखते हुए जाएंगे अगर इंटरव्यू में अगर हम डिसेलेक्ट भी हो गए अगर हम फिल्मी हो गए तो क्या फर्क पड़ता है जिंदगी है ना मौका तो फिर आते रहेंगे अब इसको सोच सोच के घबराने से क्या फायदा धन्यवाद

#भारत की राजनीति

Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh Kumar Yadav जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
2:18
खबर आई है कि दिल्ली की संजय झील में जिन बातों को और जल मुर्गियों की चाल अकादमी देखने लोग आते थे उनके संक्रमित होने के शक पर पलक झपकते ही उन्हें मार डाला गया बीते 10 दिनों से देश में कहीं भी किसी भी पक्षी को संक्रमित होने के शक होने पर आसपास के सभी पक्षी निर्माता से मार दिए जा रहे हैं और इस बार पक्षियों को मारने की शुरुआत कब से हुई है जिनकी प्रतिरोधक क्षमता सबसे सशक्त मानी जाती है और मध्यप्रदेश के मालवा के मंदसौर नेम चांद बाबू से सटे राजस्थान के झालावाड़ जिले में हुए मरे मिले हैं जबकि इस क्षेत्र में प्रवासी पक्षी कम ही आते हैं इसके बाद हिमाचल प्रदेश के 5 जिले में प्रवासी पक्षी मारे गए हैं और फिर केरल में पालतू मुर्गी और बत्तख ज्ञात है कि देश में बीते कई वर्षों से इस मौसम में बर्ड फ्लू का शोर मच रहा है पर अब किसी मनुष्य ने इसे मारे जाने का समाचार नहीं मिला है अलबत्ता इसे मुर्गी पालन में लगे लोगों की भारी नुकसान अवश्य होता है इस मौसम में पक्षियों को मारने के कारण हजारों किलोमीटर दूर से जीवन की उम्मीद के साथ आने वाले विपक्षी होते हैं जिनकी कई पोस्ट सदियों से इस मौसम में यहां आती रही है लेकिन इन्ना विचारों की मौत का सिलसिला कुछ दशक पहले से शुरू हुआ है ऐसे में मौत का असली कारण उनके प्राकृतिक पर्यावरण में लगातार हो रही छेड़छाड़ छेड़छाड़ व जलवायु परिवर्तन भी हो सकता है और आठ की छात्रा और उत्तरी ध्रुव में तब तापमान शून्य से 40 डिग्री तक नीचे चला जाता है तब यह पक्षी भारत का रुख करते हैं ऐसा हजारों वर्षों से होता आ रहा है इन पक्षियों के यहां आने का मुख्य उद्देश्य भोजन की तलाश तथा गर्मी और सर्दी से बच ना होता है तो इस तरह के पक्षियों को मारा जा रहा है और भारत में पक्षियों की स्थिति 2020 रिपोर्ट के अनुसार पक्षियों को लगता है संख्या घट रही है जो हमारे लिए चिंता का विषय भी है और बीते 25 वर्षों से हमारे पक्षी भी भेजता पर बड़ा हमला हुआ है सरकार को चाहिए कि इस पर एक जांच बैठा है इसकी जांच पड़ताल करें और अफवाह में और यही पक्षियों को ना मारे

#जीवन शैली

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:46
आप सब लोग यह बताओ कि यह जो हमारे घर पर भीख मांगने वाले लोग आते हैं क्या वह सच में गरीब होते हैं क्या दोस्तों आपको बता दें कि कुछ लोग तो है वास्तव में गरीब होते हैं और उनके पास कुछ नहीं होता है और वह भी मांग कर अपना गुजारा करते हैं उनको ठाकुर के बेटा जा सकता है क्या वहां पर कोई महिला को जबरदस्ती करके उनको जो भी गंदे होते तो आपको इन लोगों से लोगों को अपने घर से बाहर ही रखना उचित समझिए

#टेक्नोलॉजी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:49
मैं जानता हूं कि जो हम फोन चला रहे हैं इसे साबित टाइम बंद है कभी सोच सकते हैं अब बताओ कैसे दोस्ती बात करें मोबाइल फोन को लेकर दे तो आजकल के लोगों की दिनचर्या जो मोबाइल पर किस तरीके से कट रही है उन्हें अपना जो साथी है उसकी फिक्र नहीं है वह दोस्त नहीं बना पा रही है आज का जो हम खेलने के लिए मोबाइल फोन

#टेक्नोलॉजी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:56
आजकल मुर्गे में ज्यादा बीमारी फैल रही है क्या बात है बबलू नाम का यह भी इसी का एक पार्ट है बड़े तालाब में कौवे अंशिता जो कभी डेथ हुई है और लोगों के साथ पानी पूरी खाते हैं तो आप चिकन बिल्कुल भी मत

#टेक्नोलॉजी

Ashok Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Ashok जी का जवाब
कृषक👳💦
1:20
दोस्तों आप यह तो जानते ही हैं कि पृथ्वी का 71% हिस्सा पानी से ढका हुआ है जिसमें से 1.6% पानी जमीन के नीचे है और 0.001% बॉस और बादलों के रूप में पृथ्वी की सतह पर जो पानी है उसमें से 97% साग्रो और महासागरों में है जो कि नमकीन है और पीने के काम में नहीं आ सकता केवल 3% पानी पीने योग्य जिसमें से 2.4% ग्लेशियरों और उत्तरी दक्षिणी दुर्ग में जमा हुआ है और केवल 0.6% पानी नदियों झीलों और तालाबों में है जिसे इस्तेमाल किया जा सकता है एक अनुमान के अनुसार पृथ्वी पर कुल 32 करोड़ 60 लाख खराब गैलन पानी है और एक रोचक बात यह भी है कि यह मात्रा घटती बढ़ती नहीं है सागर का पानी पास बनकर उड़ता है बादल बनकर बरसता है और फिर सागरों में जैसा माता है और यह चक्र चलता रहता है धन्यवाद

#भारत की राजनीति

Ashok Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Ashok जी का जवाब
कृषक👳💦
2:16
दोस्तों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन का 55 वादे ने आज किसानों ने 23 और 24 जनवरी को किसान संसद का आयोजन करने का ऐलान किया यह आयोजन सिंधु बॉर्डर के पास गुरु तेग बहादुर मेमोरियल में किया जाएगा इसमें आंदोलन से जुड़े सभी मुद्दों के अलावा एमएसबी पर भी बात होगी सुप्रीम कोर्ट के कुछ रिटायर्ड जज कुछ पूर्व सांसद पत्रकार पी साईनाथ सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर सीनियर एडवोकेट प्रशांत भूषण इसमें शामिल होंगे इसी बीच किसानों ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने को लेकर मंगलवार को दिल्ली पुलिस के साथ मीटिंग भी की है और सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने 30 जनवरी से किसानों के समर्थन में रामलीला मैदान में अनशन शुरू करने का ऐलान किया है लेकिन केंद्र सरकार के निर्देश पर भाजपा की राज्य इकाई ने पूर्व कृषि मंत्री राधाकृष्ण विखे पाटील को अन्ना को मनाने का जिम्मा सौंपा है देखे पाटिल का प्रभाव क्षेत्र महाराष्ट्र के अहमदनगर का पहला का माना जाता है जहां अन्ना का गांव रालेगण सिद्धि सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को कहा था कि दिल्ली में किसानों को एंट्री दी जाएगी या नहीं यह पुलिस तय करेगी क्योंकि यह कानून व्यवस्था से जुड़ा मुद्दा है इस मामले में कल बुधवार को सुनवाई होगी इसके अलावा किसान और सरकार के बीच बातचीत का 11 वा दौर है लेकिन सरकार ने सोमवार रात बताया कि मीटिंग मंगलवार की बजाय बुधवार को की जाएगी इससे पहले 10 दौर की बैठकों में से 9 वर्ड बेनतीजा रही सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमेटी 21 जनवरी को किसानों से बातचीत के लिए मिलेगी साथी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए भी बातचीत की जाएगी

#भारत की राजनीति

lalit Netam Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lalit Netam जी का जवाब
Unknown
2:51
आपका सवाल है क्या मैं सरकारी नौकरी करते हुए सरकारी कॉलेज कर सकता हूं अगर मैंने पहले कॉलेज में एडमिशन लिया और पढ़ाई के साथ गैर सरकारी जॉब लग गई तो क्या होगा तो भाई मैं आपको यह बोलना चाहूंगा ऐसे आप सरकारी नौकरी कब तैयारी कर रहे हो तू इतना आसान भी नहीं है क्या आप सरकारी नौकरी में इतनी जल्दी से लेकर काफी भीड़ लाखों में होती है एक-एक पद के लिए लोग लाखों फार्म भरते हैं तो आप मेहनत की गई जिसका साथ अगर आप पढ़ाई करें वह भी अच्छी बात है लेकिन साथ में यह बोलूंगा कि आप अपनी पर्सनालिटी और क्या कहते कमीशन स्केल से इंसाफ सीखो * करो अभी आप कॉलेज स्टूडेंट में अभी पढ़ाई कर रहे हो ना तो आप अपनी स्किल्स कंपू करोगे ना तो आप सरकारी नौकरी नहीं आप प्राइवेट नौकरी में भी जाओगे ना तो वहां पर भी आपको अच्छी सैलरी मिल जाएगी तो डिग्री इंपॉर्टेंट तो है वह साथ-साथ आप अपनी पर्सनालिटी कितने स्किल्स को इंटरव्यू के हुआ है इस टाइम पर मैं यही चीज अगर आप सभी लोग कॉलेज डिग्री ले लेते हैं तो आप ही बताइए सब को जवाब देना होगा तो किसी जॉब देगी कोई कंपनी जिसकी पर्सनालिटी अच्छे हो गई इसी कम्युनिकेशन स्किल अच्छा होगा जो अच्छा यानी कि हर चीज में अच्छा होगा उसे कंपनी अपने अपने आने की जॉब मिलेगी तो आज सरकारी इंटरव्यू में जाओ जॉब के लिए कहीं भी जाओ तो ऐसा ही चीज मायने रखती थी आपकी कम्युनिकेशन स्किल कैसी आपकी पर्सनालिटी कैसी है इन सभी चीजों पर आप इंप्रूव करो पढ़ाई के साथ साथ में ही बोलूंगा और उसकी चिंता मत करो सरकारी जॉब लगी या नहीं लगी आप तैयारी करते रहो अलग भी आती सरकारी जॉब तो आप क्या कर सकते हो आप छोड़ कर सकते हो कॉलेज को या फिर उसके साथ-साथ आप पढ़ाई करने का मन है तो आप कर सकते हो ठीक है क्योंकि लोग पढ़ाई क्यों कर रहे हैं आप क्यों करोगी जान आप कुछ अपने आप से आप पढ़ाई क्यों कर रहे हो कॉलेज में उसने डिग्री क्यों हासिल कर रहे हो उससे आपको क्या क्या मिलेगा भाई बेनिफिट अपने रीजन ढूंढो डिवीजन रीजन आपको पता चल जाएगा ना कि आप कॉलेज क्यों कर रहे हो सरकारी नौकरी की तैयारी करें दिन में साफ हो आपको क्या चाहिए सरकारी जॉब चाहिए तू बियर कि आप जॉब के लिए इतना सब पढ़ाई कर रहे हो जाओ मिल जाएगी उसके बाद पढ़ाई करने से आपको और क्या क्या बेनिफिट होने वाले आप ही बताइए आप ही सोचिए कुछ कुछ ना कुछ तो रीज़न होगा फिर आप पढ़ रहे हो तो आप रिजन ढूंढना की सरकार ने क्रिकेट जॉब लग जाती तो आप पढ़ाई करके और क्या-क्या और पढ़ाई क्यों करोगे उससे रीजन क्या है आप अपने आपसे पूछो रीजन क्या क्या है आप अपने लिए निकालते हो कि आप सरकारी जॉब की तैयारी कर रहे हो और पढ़ाई क्यों कर रहे तब तक आप रीजन नहीं ढूंढ पर एक बहुत ही बड़ी रीजन होना चाहिए जिसके कारण ही आप कोई भी चीज में आप सक्सेसफुल हो सकते हो पढ़ाई में भी आपका मन लगेगा आप अच्छे डिजाइन के साथ पढ़ाई करोगे की पढ़ाई क्यों कर रहे हो कोई अच्छा रीजन होना चाहिए कि मुझे पढ़ाई इसलिए करना है मुझे लगाइए प्लीज यार इसलिए करने का अगर रिजल्ट ढूंढोगे ना यार तो सभी क्षेत्र में आप सफल लागत समय बहुत कीमती है समय का सदुपयोग कीजिए आप सभी क्षेत्र में सफल होगी ठीक है

#पढ़ाई लिखाई

Sanjay kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sanjay kumar जी का जवाब
Cricket Enthusiast | YouTuber | Channel Name~ Sanjay kumar
1:22
भारत में कुल कितने राज्य हैं हेलो दोस्तों भारत की बात की जाए तो भारत में कुल 28 राज्य व 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं और 28 राज्य इस तरह से हैं कि 5 अगस्त 2019 से पहले हमारे देश में 29 राज्य हुआ करते थे यानी कि स्टेट्स हुआ करते थे लेकिन उसके बाद क्या हुआ और 7 यूनियन टेरिटरी यानी कि केंद्र शासित प्रदेश हुआ करते थे लेकिन उसके बाद में यह हुआ कि जो जम्मू कश्मीर था उसकी राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया तो हमारे पास कितने स्टेट में से 28 स्टेट बजे जबकि दो यूनियन टेरिटरी में जम्मू कश्मीर राज्य को बांट दिया गया लद्दाख और जम्मू कश्मीर में शासन की संख्या हो गई नो एंट्री हो गई उनकी संख्या 9 हो गई उसके बाद क्या किया गया कि दमन और दीव 1 तारीख प्रदेश था और दूसरा था दादरा और नगर हवेली इन दोनों के खातिर प्रदेशों को मर्जी कर दिया गया जिससे कि जो बड़ी हुई संख्या के शासित प्रदेशों की 9 थी वह आगे चलकर 8 में तब्दील हो गई तो वर्तमान समय में हमारे देश में 8 केंद्र शासित इसमें क्या बता सकते हैं कि शासक क्या सात केंद्र शासित प्रदेश है और एक जोरदार है उसे हम कहते हैं नेशनल कैपिटल रीजन तो एनसीआर नहीं इसके अलावा एक दूसरा वर्ड होता है वह हम यूज करते हैं लेकिन फिर भी उसे हम एक तरफ से खेल सारे प्रदेश की तरह ही ट्वीट करते हैं तो कुल मिलाकर 8 केंद्र शासित प्रदेश और 28 राज्य हैं धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:42
अंग्रेजी में वह कौन सी कमी है जो आप लोग करते हैं दोस्तों वैसे देखा जाए तो अंग्रेजी के अंदर हम जैसे लोग कमियां कुछ नहीं करते बल्कि अंग्रेज एवं इसके अंदर कमियां कर देते हैं ठीक उसी तरीके से जिस तरीके से हिंदी के वर्ड बोलते हैं और उसका सामने वाला समझ जाता है परंतु हमारे नजरों के अंदर यह हम जो बोलते हैं उसमें हमला जाते हैं कुछ कमेडियम देखे तो हम जैसे फादर होता है उसका फादर नहीं बोलते बोलते हैं कि सामने वाले को सुनना चाहिए उधर है परंतु उड़ते देखा जाए तो हम नहीं हमसे ज्यादा तो अंग्रेज खुद जो है इसमें गलतियां करते हैं

#पढ़ाई लिखाई

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
1:06
सब लेकर एक विभाजन अनंत है और मुझे एक का उपयोग करने से बचना चाहिए यह सवाल देर से देख रहा हूं पर कोई जवाब नहीं दे रहा है तो कोई भी बंद नहीं होता है कोई भी चीज हो उसका अंत जरूरी है और उसका अंत होता है या फिर आपने इस सवाल को लिखा है और मुझे एक का उपयोग करने से क्यों मेरे साथ से तो आप किसी भी चीज के लिए नहीं बचना चाहिए यदि आपका सवाल जो मैथमेटिक्स हो सकते का उपयोग करने से किसी भी व्यक्ति को नहीं बताना चाहिए

#पढ़ाई लिखाई

Sandeep chhipa Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Sandeep chhipa जी का जवाब
social worker (MSW)
1:25

#रिश्ते और संबंध

Anand Kumar Pathak Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Anand Kumar Pathak जी का जवाब
Unknown
2:58
जाहिर सी बात है कि जो लड़की कभी घर से बाहर ना गई हो तो उसका हैबिटेशन अन्य लड़कियों की तुलना में काफी ज्यादा होती है खासकर या देखा जाता है कि लड़कों के मुकाबले लड़कियां अपने दिल की बात ज्यादा सुनती है वह उनके अंदर फिलिंग्स ज्यादा होता है अगर कोई डांट देता है या बोल देता है तो लड़के सुनकर उसे एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल सकते हैं परंतु लड़कियां उसे दिल पर लगा लेती है और वह रोती है अब हम बात करते हैं इंटरव्यू की तो कोई भी इंसान कितना भी क्वालिफाइड हो कितना भी नॉलेज रखता हो परंतु उसे इंटरव्यू या कोई परफॉर्मेंस करने के लिए जब बताया जाता है तो वह अंदर ही अंदर डरता है घबराता है जगता है तो वैसे ही जब आपको इंटरव्यू देने जाना है तो आपके मन में जो है घबराहट तो हो गए लेकिन एक बात हमेशा याद रखिए कि जब बच्चा जन्म लेता है तो जन्म लेते तो नहीं ना दौड़ता सबसे पहले वह कुछ महीनों बाद किसी सहारे अपने दोनों पैरों पर खड़ा होता है फिर गिर जाता है फिर उठता है फिर गिरता है ऐसा करते करते एक पल आता है जब वह एक दो कदम चल के गिर जाता है फिर उसके बाद एक ऐसा भी पल आता है जब वह तोड़ने लगता है तो बिना प्रयास के बिना संघर्ष के आदमी सफलता पर सफलता के एक कदम नहीं सुन सकता उसी तरह आप यह सोचिए कि वक्त बीत जाएगा चाहे वह संघर्ष का वक्त हो या सुख का वक्त हो या दुख का वक्त है जो भी वक्त है वह बिक जाएगा और पीटी रहा है अभी मैं बोल रहा हूं यह भी एक वक्त है इसके बाद में सोने जाऊंगा या अभी यह वक्त है तो सब वक्त बीत ही जाएगा ठीक है इंटरव्यू देने जा रहे हैं हम चाहेंगे हमारा इंटरव्यू अच्छा होगा हम पॉजिटिव थिंकिंग रखते हुए जाएंगे अगर इंटरव्यू में अगर हम डिसेलेक्ट भी हो गए अगर हम फिल्मी हो गए तो क्या फर्क पड़ता है जिंदगी है ना मौका तो फिर आते रहेंगे अब इसको सोच सोच के घबराने से क्या फायदा धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:42
अंग्रेजी में वह कौन सी कमी है जो आप लोग करते हैं दोस्तों वैसे देखा जाए तो अंग्रेजी के अंदर हम जैसे लोग कमियां कुछ नहीं करते बल्कि अंग्रेज एवं इसके अंदर कमियां कर देते हैं ठीक उसी तरीके से जिस तरीके से हिंदी के वर्ड बोलते हैं और उसका सामने वाला समझ जाता है परंतु हमारे नजरों के अंदर यह हम जो बोलते हैं उसमें हमला जाते हैं कुछ कमेडियम देखे तो हम जैसे फादर होता है उसका फादर नहीं बोलते बोलते हैं कि सामने वाले को सुनना चाहिए उधर है परंतु उड़ते देखा जाए तो हम नहीं हमसे ज्यादा तो अंग्रेज खुद जो है इसमें गलतियां करते हैं

#टेक्नोलॉजी

Barsan Banerjee Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Barsan Banerjee जी का जवाब
Unknown
1:25
रहता है हमारा डीलक्स सेकंड मटक मटक नंबर 831 एक अलग पानी और नंबर पर आए सिक्स नंबर पर कोई भी सीट नंबर पर जो आता है वह चीन इंडिया ट्रेनिंग है वह भी एक अच्छा पानी अच्छा नहीं बहुत खतरनाक है मैंने बोला कि नंबर पर जो आता है वह हमारा एक दोस्ताना में 10 मीटर दौड़ में बहुत ही ज्यादा खतरनाक होता है उसके पास नंबर पर आता है वह है इनाम इनाम चिंग चांग 21 चाइनीस बन जाती है तो वह भी बहुत खतरनाक होता है ठंड में पर जो आता है वह मकड़ी इसका नाम है अलसो नो एस का अर्थ वास्तविक बहुत ज्यादा खतरनाक प्राणी है और बहुत ज्यादा खतरनाक जानवर है जो अपने थर्ड नंबर पर आता है पर नंबर नहीं चलेगा जो नंबर सेकंड नंबर पर आता है वह एक्टिविटी के भी बहुत ज्यादा खतरनाक है और गाय विलुप्त हो चुके हैं उनमें से आप ही नंबर पर जो आता है पाइथन हुआ सबसे ज्यादा खतरनाक सांप में से उचित जाना जाता है और सबसे ज्यादा बढ़ा साहब को एक मिला लोटन से 1 गुण ज्यादा बड़ा हो सकता है इतना बड़ा और सबसे बड़ा हो जाए तो बहुत ज्यादा खतरनाक हो सकता था और उसे मारने के लिए डायनोसोर्स भी हद तक दूर हो गया और आखिर तक जब उपस्थित होने वाली थी मतलब उस समय की जब वह मारे गए तो यहीं थे वह द स्कूल 10 खतरनाक जानवर जो विलुप्त हो चुके धन्यवाद दोस्तों

#पढ़ाई लिखाई

Barsan Banerjee Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Barsan Banerjee जी का जवाब
Unknown
1:09
तुझी लोगों ने महाराणा प्रताप जो सीरियस है वह देखा है तो उनको जरूर पता होगा एक एक ऐसी महिला थी जिन्होंने बोल दिया था कि अगर अगर कभी भी इस तरह से लेकर महाराणा प्रताप के सामने जाएगा तो महाराणा प्रताप से उनकी मृत्यु निश्चित है तो यह बहुत बार गाड़ी भी दी गई है क्योंकि महाराणा प्रताप चाहते तो उन्हें पांच से छह बार में ही मार दे सकते थे या पहली बार भी मार सकते थे पर उन्होंने महारानी क्योंकि बहुत पर ऐसी कारण हुआ कि उनके पास ही रहते थे और सेकंड थे या अभी चलते जब वह नशा करते थे तब तो राजपूत एक नियम होता है कि शिवानी का सकते हैं चलो खैर कोई बात नहीं हुआ तो उसे नहीं मार सकते और यही इंसान को कभी मरते नहीं तो इस तरह से बहुत सारे कारण कुछ और ही मारता है बट अगर वह शस्त्र लेकर अगर कभी उनके सामने जाते तो महाराणा प्रताप सचमुच उनको एक बार में ढेर कर पाते इसलिए हमने कभी नहीं गए क्योंकि उन्होंने एक स्त्री जो सन्यासी होती है मैंने उसे बोला था कि अगर सामने कभी तुम्हारा प्रताप के पड़ गए तो तुम ऐसे ही मर जाओगे इसलिए महाराणा प्रताप का अकबर को महाराणा प्रताप अकबर महाराणा तब से कितना डरते थे

#पढ़ाई लिखाई

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
2:43
हेलो जुबान तो आज आप का सवाल है कि क्या चीन की वस्तुओं के बिना भारत अपना काम चला सकता है बहुत सारे ऐप्स बैंड हुए हैं जैसे की टिक टॉक हो गया आपके बहुत सारे गेम्स में आम दर्द जो है वह गेम बहुत सारे गेम सबवे मतलब बंद हुआ नहीं था तो उसके चले जाने से मुझे नहीं लगता है कि कोई भी मतलब प्रॉब्लम लेकिन हां बहुत मतलब कुछ जैसे कि ऐसे ऑनलाइन शॉपिंग कैसे बहुत सारे मतलब थे क्लब फैक्ट्री लाइक तो वह सब में बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट जाते थे जो आपको जनरल मतलब इंडियन आर्मी देखने के लिए नहीं बताता तो बहुत ही अच्छा प्रोडक्ट भी होता था तो 1 महीने यह नोटिस किया दूसरा मैंने ऐसे बहुत सारे मतलब लाइक जेंडर जो बंद किया गया तो वह भी फिलहाल अभी तो फोन में चल रहा है लेकिन मूवी कैप्टन आपने वह भी था और फिर ऐसे बहुत सारे ऐसे एप्स हैं और अभी भी देखे बहुत सारे ऐसे मोबाइल फोन नंबर से मोबाइल फोन को तो मन नहीं किया यह बहुत सारे से मोबाइल फोन अभी भी है जो चाइना तू मेरे हिसाब से पूरी तरह से अगर बंद कर दिया जाए और चाइना प्रोडक्ट तू मुझे नहीं लगता है कि काम चल सकता है क्योंकि कहीं ना कहीं आज भी लोग चाइना प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर रहे हैं जो छोटी मोटी जो आप जो भी बंद किया गया इसके जाने से मुझे नहीं लगता है कितना कोई नुकसान मतलब किसी इंसान का हुआ टिक टॉक या कोई गेम्स एक्शन क्योंकि यह जो एंटरटेनिंग के लिए था कि खेल रहे हैं या फिर टिक टॉक देख रहे हैं यह कर यार या फिर एक हिस्सा आपके मतलब ऐसा कुछ भी नहीं था जिसके चले जाने से कुछ नुकसान हो सकता है तो अगर फोन वगैरा को बंद कर दिया जाता तो बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता था तो मेरे हिसाब से आज भी हम बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट यूज कर रहे हैं चाइना का अगर ऐसा कुछ हुआ इन फ्यूचर भविष्य में कि हां सब चीज चाइना का प्रोडक्ट बंद कर दिया जो मेरे साथ से उस जगह पर एक बेस्ट से बेस्ट चीज भी लाना चाहिए जिसमें ऑनलाइन शॉपिंग के बारे में बात करते बहुत सारे प्रोडक्ट होते हैं जो बहुत अच्छे लगते थे मैं भी देखती थी मैं तारीफ नहीं कर रही हूं लेकिन जहां पर अफरीदी की बात आती है तो इंसान अच्छा ही चीज ही देखता है तू बहुत सारी ऐसी चीजें तुझे मुझे बहुत अच्छा लगता था तो मेरे हिसाब से जो इंडियन आए थे वहां पर भी वैसे प्रोडक्ट होनी चाहिए तभी तो इंसान मतलब खुश होगा कि हां जी बचाने के कटक बंधु आप अच्छा में इंडिया की तरफ से भी अच्छे से प्रोडक्ट तो मिले उससे भी जबकि वेस्ट में से बेस्ट और अच्छा देना पड़ता है तो मेरे हिसाब से भविष्य में अगर कुछ भी बंधु और भी ज्यादा तो कुछ अच्छा फैलाना चाहिए उसके बारे में सोचना चाहिए तब जाकर पूरी तरह से बंद कीजिए और फ़िलहाल की बात करें तो भी बहुत सारे ऐसे प्रोडक्ट है जो हम यूज करें लेकिन जो चीज बार हो चुका है मेरे साथ इतना इंपॉर्टेंट हिस्सा नहीं था

#पढ़ाई लिखाई

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh kumar जी का जवाब
Unknown
0:55
हंसने के अंग्रेजी में कनेक्शन का कार्य क्या होता है तो देखिए क्या होता है कि कलेक्शन का जुगाड़ हो जाए तो पार्ट ऑफ स्पीच चाहिए पार्ट है और पार्ट आफ स्पीच इज यूज टू कनेक्ट वर्ड वर्ड वर्ड कनेक्ट करने का काम करता जैसे फ्रेश हो गया सेंटेंस हो गया तू क्या करता है कि इसमें हम कुछ वर्ड को जब कनेक्ट करते हैं तो किसके द्वारा करते हैं वही होता है हमारा कनेक्शन तो कनेक्शन क्या-क्या होते हैं एंड होता है विकास होता है बट होता है etco2 आप इन तीनों अगर देखा जाए तो एंड विकास व्हाट्सएप यूज हो तो आप को समझना चाहिए कि एक कंजक्शन है और यही क्या करते हैं जोड़ने का काम करते हैं तो घर दिखा जा तो अंग्रेजी में स्पंजेक्शन का कार्य जो होता है शब्दों को जोड़ने का कार्य

#पढ़ाई लिखाई

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh kumar जी का जवाब
Unknown
0:47
कुछ लोग अंग्रेजी भाषा सीखने के कारण दूध लाने लगते हैं ऐसा नहीं होता क्या होता है अंग्रेजी उनके लिए थोड़ा साफ हो जाती है की वजह से उसका नाम लेने में उनके पास हिचकिचाहट होती है और कहीं ना कहीं उसे ऐसा होता है कि और शुद्ध बोलते हैं और अशुद्ध की वजह से तू तुला पल उनके अंदर हो जाता है तो ऐसा नहीं होता है बस उनके अंदर एक ऐसी डर बनी रहती है और दिखा जा तू चुप हो जाते हो तो बुलाते नहीं है और कुछ लोगों जो तू बुलाते हैं तो कुछ लोग की जनरल प्रॉब्लम होती है तुतलाना तो अलग ही बात है लेकिन अंग्रेजी सीखने के कारण बहुत कम लोग क्या होता है जो डरते हैं वही क्या होते तो पिलाते हैं और क्या होता है कि उन्हें बोलने में अंग्रेजी वर्ड बोलने में थोड़ी सी दिक्कत होती है तू तू तू लाकर बोलते हैं

#धर्म और ज्योतिषी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
1:21
नई साल के शुरूआत होते ही सबसे पहले तो हार आता है लोड जो कि 13 जनवरी को मनाया जाता है अर्थात सकरात के 1 दिन पहले वह इसलिए की लोहड़ी का त्यौहार शरद ऋतु के अंत में मनाया जाता है तथा सा माना जाता है कि लड़के 3 साल की सबसे लंबी रात होती है और अगले दिन से धीरे-धीरे दिन बढ़ने लगता है लोहड़ी का त्यौहार किसानों को समर्पित था जब मैं तक रबी की फसल काट ली जाती है और की फसल बोने से पहले लोड के त्यौहार की तैयारी की जाती है अपलोड का जश्न मनाया जाता है इस दिन किसान यह प्रार्थना करते हैं कि हमें फसल आती हो इसीलिए यह 13 जनवरी को मनाया जाता है तथा चीज 13 जनवरी रात से लेकर 14 के दिन तक सूर्य उत्तरायण हो जाता है पूर्व से उतरा उतरा दिन बढ़ने लग जाता है रात छोटी होने लगती है

#टेक्नोलॉजी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:56
इन 1 सेकंड व्हाट विल टेल हाउ वास फील्ड में इसका सबसे सर्वोपरि स्थान है इससे तारपीन का तेल भी कहते हैं यह जिहादी जीवित 1 वर्षों से प्राप्त किया जाता है इसमें ट्रक पेन होता है जो कि नीचे तारपीन एवं पेट्रोलियम में काम में लिया जाता है तारपीन के तेल का उपयोग जोड़ो मांसपेशियां सुनाई भी कहां दर्द के लिए किया जाता है फेफड़ों से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में भी तारपीन के तेल का उपयोग किया जाता है तथा तारपीन के तेल की भाप लेने से के कारण छाती काम होती है तो उसे हमें निजात मिलती है

#जीवन शैली

RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH KUMAR PANDEY जी का जवाब
Director of Study Gateway+
1:13
यहां से ज्यादा कुमार का व्रत करना चाहिए अपनी इच्छाओं को हद से ज्यादा मार्केट बचत नहीं करना चाहिए इससे आपके अंदर एक ऐसी अभिवृत्ति पैदा होगी जो आपके परिवार के लिए बहुत ही खतरनाक हुए आपके परिवार में विद्रोह शुरू हो जाएगा आपके बच्चों में आपके फैमिली में ठीक है और आप ज्यादा इच्छाएं मार कर बात करेंगे तो दूसरों के फिर इच्छाओं को ही मारेंगे क्योंकि मेरा पैसा कमा रहे हैं तो आप से 2 लोग जुड़े हुए हैं आप कर अपनी इच्छाओं को मारना है तो फिर उनकी इच्छाओं को अब मारेंगे वैसे ही और इसका जो रिजल्ट है वह बहुत हो गए और आपको भी शांति से जी नहीं पाएंगे इसलिए बचत जो है वह आप अपनी चाय बहुत ज्यादा नहीं रखे लेकिन ऐसा रखिए कि आपका सारा काम हो जाए ठीक है और जिंदगी आराम कीजिए व्रत करना चाहिए लेकिन सभी काम हो जाने के बाद जैसे अगर आप क्या चाहिए एक घर चाहिए कपड़े लगते चाहिए और भजन चाहिए और इसके बाद हमें और क्या चाहिए ठीक है दवा चाहिए सब काम पूरा हो जाता है
  • आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है
URL copied to clipboard