#भारत की राजनीति

bolkar speaker

चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?

Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:04
टेस्ट में चंदन के पेड़ की बागवानी आम सरकार आम की शाम को क्यों नहीं देती तो क्या होता है कि चंदन की बागवानी करने में बहुत समय लगता है क्योंकि एक संयम के साथ आपको इसमें सब्र करना पड़ता है कब एक आप समझ लीजिए कि बच्चों की तरह अपने बच्चों की तरह इसका पालन पोषण करना पड़ता है क्योंकि 15 से 30 साल के बीच में तैयार होते हैं तो आप इतना हर किसान को सब्र नहीं होता है उसके साथ साथ अगर देखा जाए तो एक बार किसान कर नहीं पाते हैं इसमें क्या होता है एक किसान रजिस्टर्ड होते हैं उन्हीं को दिया जाता कि आप इसकी बागवानी कर रहे हैं खुद बता दे कि हां मैं इससे करने में सक्षम हूं और मैं ही इसे कर सकता हूं तो सरकार भी जो नियम कानून बनाया उसको उस क्राइटेरिया से पार होने के बाद ही किसान को चंदन के पेड़ की बागवानी करने को मिलता है आपको बता दें कि आप सोचें कि 30 साल तक में कबाब 2021 में अगर पेड़ को लगा रहे हैं तो 2051 में आप उस पेड़ को काट सकते हैं क्योंकि हर एक किसान चाहता है कि मुझे अच्छी प्रॉफिट मिले तो कहीं ना कहीं आपके बच्चे को काटेंगे यह आपके बच्चे की बच्चे पेड़ काटते मिलेंगे क्योंकि क्या होता है कि बहुत सी 30 साल का सफर बहुत बड़ी होती है और यह सफर तय करना बहुत ही ज्यादा लोगों में एक संयम होना चाहिए उसके साथ साथ अगर आप आम का पेड़ लगा देंगे तो मैक्सिमम 2 से 3 साल में मतदान के चले कि आपको 5 साल के अंदर उससे कुछ आमदनी कमा सकते हैं क्योंकि पेड़ में जब आम के फल लगने लगेंगे तो उसे दो पैसे आप कमा सकते हैं लेकिन अब चंदन के पेड़ से कम से कम 30 साल आपको समय देना पड़ेगा जिससे कि हर एक किसान नहीं दे पाता है और सरकार का यह भी है कि चंदन की तस्करी को रोकने के लिए भी इस तरह रजिस्ट्रेशन प्रोवाइड कराती है और हर एक किसान को नहीं देती है
Test mein chandan ke ped kee baagavaanee aam sarakaar aam kee shaam ko kyon nahin detee to kya hota hai ki chandan kee baagavaanee karane mein bahut samay lagata hai kyonki ek sanyam ke saath aapako isamen sabr karana padata hai kab ek aap samajh leejie ki bachchon kee tarah apane bachchon kee tarah isaka paalan poshan karana padata hai kyonki 15 se 30 saal ke beech mein taiyaar hote hain to aap itana har kisaan ko sabr nahin hota hai usake saath saath agar dekha jae to ek baar kisaan kar nahin paate hain isamen kya hota hai ek kisaan rajistard hote hain unheen ko diya jaata ki aap isakee baagavaanee kar rahe hain khud bata de ki haan main isase karane mein saksham hoon aur main hee ise kar sakata hoon to sarakaar bhee jo niyam kaanoon banaaya usako us kraiteriya se paar hone ke baad hee kisaan ko chandan ke ped kee baagavaanee karane ko milata hai aapako bata den ki aap sochen ki 30 saal tak mein kabaab 2021 mein agar ped ko laga rahe hain to 2051 mein aap us ped ko kaat sakate hain kyonki har ek kisaan chaahata hai ki mujhe achchhee prophit mile to kaheen na kaheen aapake bachche ko kaatenge yah aapake bachche kee bachche ped kaatate milenge kyonki kya hota hai ki bahut see 30 saal ka saphar bahut badee hotee hai aur yah saphar tay karana bahut hee jyaada logon mein ek sanyam hona chaahie usake saath saath agar aap aam ka ped laga denge to maiksimam 2 se 3 saal mein matadaan ke chale ki aapako 5 saal ke andar usase kuchh aamadanee kama sakate hain kyonki ped mein jab aam ke phal lagane lagenge to use do paise aap kama sakate hain lekin ab chandan ke ped se kam se kam 30 saal aapako samay dena padega jisase ki har ek kisaan nahin de paata hai aur sarakaar ka yah bhee hai ki chandan kee taskaree ko rokane ke lie bhee is tarah rajistreshan provaid karaatee hai aur har ek kisaan ko nahin detee hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:04
टेस्ट में चंदन के पेड़ की बागवानी आम सरकार आम की शाम को क्यों नहीं देती तो क्या होता है कि चंदन की बागवानी करने में बहुत समय लगता है क्योंकि एक संयम के साथ आपको इसमें सब्र करना पड़ता है कब एक आप समझ लीजिए कि बच्चों की तरह अपने बच्चों की तरह इसका पालन पोषण करना पड़ता है क्योंकि 15 से 30 साल के बीच में तैयार होते हैं तो आप इतना हर किसान को सब्र नहीं होता है उसके साथ साथ अगर देखा जाए तो एक बार किसान कर नहीं पाते हैं इसमें क्या होता है एक किसान रजिस्टर्ड होते हैं उन्हीं को दिया जाता कि आप इसकी बागवानी कर रहे हैं खुद बता दे कि हां मैं इससे करने में सक्षम हूं और मैं ही इसे कर सकता हूं तो सरकार भी जो नियम कानून बनाया उसको उस क्राइटेरिया से पार होने के बाद ही किसान को चंदन के पेड़ की बागवानी करने को मिलता है आपको बता दें कि आप सोचें कि 30 साल तक में कबाब 2021 में अगर पेड़ को लगा रहे हैं तो 2051 में आप उस पेड़ को काट सकते हैं क्योंकि हर एक किसान चाहता है कि मुझे अच्छी प्रॉफिट मिले तो कहीं ना कहीं आपके बच्चे को काटेंगे यह आपके बच्चे की बच्चे पेड़ काटते मिलेंगे क्योंकि क्या होता है कि बहुत सी 30 साल का सफर बहुत बड़ी होती है और यह सफर तय करना बहुत ही ज्यादा लोगों में एक संयम होना चाहिए उसके साथ साथ अगर आप आम का पेड़ लगा देंगे तो मैक्सिमम 2 से 3 साल में मतदान के चले कि आपको 5 साल के अंदर उससे कुछ आमदनी कमा सकते हैं क्योंकि पेड़ में जब आम के फल लगने लगेंगे तो उसे दो पैसे आप कमा सकते हैं लेकिन अब चंदन के पेड़ से कम से कम 30 साल आपको समय देना पड़ेगा जिससे कि हर एक किसान नहीं दे पाता है और सरकार का यह भी है कि चंदन की तस्करी को रोकने के लिए भी इस तरह रजिस्ट्रेशन प्रोवाइड कराती है और हर एक किसान को नहीं देती है
Test mein chandan ke ped kee baagavaanee aam sarakaar aam kee shaam ko kyon nahin detee to kya hota hai ki chandan kee baagavaanee karane mein bahut samay lagata hai kyonki ek sanyam ke saath aapako isamen sabr karana padata hai kab ek aap samajh leejie ki bachchon kee tarah apane bachchon kee tarah isaka paalan poshan karana padata hai kyonki 15 se 30 saal ke beech mein taiyaar hote hain to aap itana har kisaan ko sabr nahin hota hai usake saath saath agar dekha jae to ek baar kisaan kar nahin paate hain isamen kya hota hai ek kisaan rajistard hote hain unheen ko diya jaata ki aap isakee baagavaanee kar rahe hain khud bata de ki haan main isase karane mein saksham hoon aur main hee ise kar sakata hoon to sarakaar bhee jo niyam kaanoon banaaya usako us kraiteriya se paar hone ke baad hee kisaan ko chandan ke ped kee baagavaanee karane ko milata hai aapako bata den ki aap sochen ki 30 saal tak mein kabaab 2021 mein agar ped ko laga rahe hain to 2051 mein aap us ped ko kaat sakate hain kyonki har ek kisaan chaahata hai ki mujhe achchhee prophit mile to kaheen na kaheen aapake bachche ko kaatenge yah aapake bachche kee bachche ped kaatate milenge kyonki kya hota hai ki bahut see 30 saal ka saphar bahut badee hotee hai aur yah saphar tay karana bahut hee jyaada logon mein ek sanyam hona chaahie usake saath saath agar aap aam ka ped laga denge to maiksimam 2 se 3 saal mein matadaan ke chale ki aapako 5 saal ke andar usase kuchh aamadanee kama sakate hain kyonki ped mein jab aam ke phal lagane lagenge to use do paise aap kama sakate hain lekin ab chandan ke ped se kam se kam 30 saal aapako samay dena padega jisase ki har ek kisaan nahin de paata hai aur sarakaar ka yah bhee hai ki chandan kee taskaree ko rokane ke lie bhee is tarah rajistreshan provaid karaatee hai aur har ek kisaan ko nahin detee hai

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:38
पेट की बागवानी सरकार आम किसानों को क्यों नहीं करने देती तो देखिए आपने देखा होगा कि गवर्नमेंट ने जो किसी ना किसी चीज को रोक कर रखी हुई है किसी चीज पर रोक लगा रखी होती जा रही है किस चीज के लिए कुछ और मुझे नहीं लगता कि चंदन की खेती के लिए जो बागवानी की जाती है उसके लिए सरकार आप को रोकेगी दोस्तों तो भगवान ही आप कर सकते हैं परंतु को काटने का अधिकार आपको नहीं है क्योंकि यह जो चंदन जाती है परंतु अब बागवानी कश्यप
Pet kee baagavaanee sarakaar aam kisaanon ko kyon nahin karane detee to dekhie aapane dekha hoga ki gavarnament ne jo kisee na kisee cheej ko rok kar rakhee huee hai kisee cheej par rok laga rakhee hotee ja rahee hai kis cheej ke lie kuchh aur mujhe nahin lagata ki chandan kee khetee ke lie jo baagavaanee kee jaatee hai usake lie sarakaar aap ko rokegee doston to bhagavaan hee aap kar sakate hain parantu ko kaatane ka adhikaar aapako nahin hai kyonki yah jo chandan jaatee hai parantu ab baagavaanee kashyap

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:42
चंदन का पेड़ की बागवानी सरकार आम किसानों को क्यों नहीं करने देती है क्योंकि दोस्तों के साथ बागवानी इसलिए करते हैं कि वह अपना पेट तैयार करके 10 साल में जब भी उनका पेट तैयार हो उसके बाद में उस पेड़ को काट सके लेकिन चंदन के पेड़ को अगर आपने लगा दिया है तो आप उसको कभी भी काट दे सकते और आप अगर काटेंगे तो वह गैरकानूनी है और आप को जेल हो सकती है इसीलिए आम किसानों को मना किया जाता है कि आप बागवानी मत करिए और अपनी जरा में ही वहां की मत खराब करिए क्योंकि अगर आपने उस पेड़ को लगा दिया तो फिर आप उस पेड़ को चाह कर भी नहीं निकाल सकते हैं दोस्तों अगर आपको जवाब सही लगा हुआ पसंद आया हो तो लाइक के बटन को जरूर दबाएं धन्यवाद
Chandan ka ped kee baagavaanee sarakaar aam kisaanon ko kyon nahin karane detee hai kyonki doston ke saath baagavaanee isalie karate hain ki vah apana pet taiyaar karake 10 saal mein jab bhee unaka pet taiyaar ho usake baad mein us ped ko kaat sake lekin chandan ke ped ko agar aapane laga diya hai to aap usako kabhee bhee kaat de sakate aur aap agar kaatenge to vah gairakaanoonee hai aur aap ko jel ho sakatee hai iseelie aam kisaanon ko mana kiya jaata hai ki aap baagavaanee mat karie aur apanee jara mein hee vahaan kee mat kharaab karie kyonki agar aapane us ped ko laga diya to phir aap us ped ko chaah kar bhee nahin nikaal sakate hain doston agar aapako javaab sahee laga hua pasand aaya ho to laik ke batan ko jaroor dabaen dhanyavaad

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:48
पूछा गया है चंदन के पेड़ की बात बनी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती है तो देखे चंदन के पेड़ के बारे में हम सब यह जानते कि जो चंदन का पेड़ होता है उसकी संस्था से जो काफी ठंडी होती है और यही कारण है कि इसकी ठंडी तासीर और इसकी सुगंध की वजह से बहुत सारे सांप चंदन के पेड़ के आस पास पाए जाते हैं और ज्यादातर चंदन के पेड़ से लिपटे होते हैं और इनमें से कई साथ ऐसे भी होते हैं जिनको आप के लिए पहचानना मुश्किल हो जाएगा कि यहां पर कोई साथ है उसकी जो स्किन होती चंदन के पेड़ जैसी होती है तो ऐसी स्थिति में एक आम किसान के लिए यह काम थोड़ा वह महान जानलेवा साबित हो सकता है यही कारण है कि सरकार चंदन के पेड़ के परवाने आप की शाम को करने नहीं देती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Poochha gaya hai chandan ke ped kee baat banee sarakaar aam kisaan ko kyon nahin karane detee hai to dekhe chandan ke ped ke baare mein ham sab yah jaanate ki jo chandan ka ped hota hai usakee sanstha se jo kaaphee thandee hotee hai aur yahee kaaran hai ki isakee thandee taaseer aur isakee sugandh kee vajah se bahut saare saamp chandan ke ped ke aas paas pae jaate hain aur jyaadaatar chandan ke ped se lipate hote hain aur inamen se kaee saath aise bhee hote hain jinako aap ke lie pahachaanana mushkil ho jaega ki yahaan par koee saath hai usakee jo skin hotee chandan ke ped jaisee hotee hai to aisee sthiti mein ek aam kisaan ke lie yah kaam thoda vah mahaan jaanaleva saabit ho sakata hai yahee kaaran hai ki sarakaar chandan ke ped ke paravaane aap kee shaam ko karane nahin detee hai ummeed karatee hoon aapako mera javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
2:03
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम आदमी को क्यों नजर करने देती यह कानून सिर्फ 2001 तथा 2002 में नियमों में नए नियम परिवर्तित हो गए जिसके कारण आज के समय में जो कोई व्यक्ति अपने घर पर चंदन के पेड़ की बागवानी करता हूं तो हुआ बार-बार कर सकता है पेड़ लगा सकता है एक दिन उसको प्लाट में सकता सरकारी अनुमति के बिना सरकारी कर्मचारी फॉरेस्ट अधिकारी इसे काट कर ले जा सकते हैं यह राष्ट्र की संपत्ति है इसे केवल लगाने का गाने का कार्य कर सकते हैं आम आदमी तथा आम आदमी में कितना पानी पिया क्या किया क्या नहीं किया जो भी चीज का मुसलमान लगा है उसका पैसा कितना लगा हुआ सारे फॉरेस्ट ऑफिसर के रखा था चंदन का पेड़ 15 से 20 साल के मध्य काट कर बेचा जा सकता इससे पहले कि नहीं मतलब कि हम नहीं भेज सकते ऑफिसर को सूचना करेंगे वह आप काट कर ले जाएंगे हमारा काम है अन्य मामलों का काम है इसकी रखवाली करना पानी दे देना और जिसे जो पैसे लगे अधूरा काम पूरा यही कार्य यह कार्य 15 से 30 साल करना होता है कि जितना अच्छा चंदन का पेड़ होगा उतनी ज्यादा कम मिलेगा कोई दिक्कत होगा तो कम रकम मिलेगी
Chandan ke ped kee baagavaanee sarakaar aam aadamee ko kyon najar karane detee yah kaanoon sirph 2001 tatha 2002 mein niyamon mein nae niyam parivartit ho gae jisake kaaran aaj ke samay mein jo koee vyakti apane ghar par chandan ke ped kee baagavaanee karata hoon to hua baar-baar kar sakata hai ped laga sakata hai ek din usako plaat mein sakata sarakaaree anumati ke bina sarakaaree karmachaaree phorest adhikaaree ise kaat kar le ja sakate hain yah raashtr kee sampatti hai ise keval lagaane ka gaane ka kaary kar sakate hain aam aadamee tatha aam aadamee mein kitana paanee piya kya kiya kya nahin kiya jo bhee cheej ka musalamaan laga hai usaka paisa kitana laga hua saare phorest ophisar ke rakha tha chandan ka ped 15 se 20 saal ke madhy kaat kar becha ja sakata isase pahale ki nahin matalab ki ham nahin bhej sakate ophisar ko soochana karenge vah aap kaat kar le jaenge hamaara kaam hai any maamalon ka kaam hai isakee rakhavaalee karana paanee de dena aur jise jo paise lage adhoora kaam poora yahee kaary yah kaary 15 se 30 saal karana hota hai ki jitana achchha chandan ka ped hoga utanee jyaada kam milega koee dikkat hoga to kam rakam milegee

bolkar speaker
चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसान को क्यों नहीं करने देती?Chandan Ke Ped Ki Bagvani Sarkaar Aam Kisan Ko Kyu Nahin Karne Deti
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:51
सवाल ये है कि चंदन के पेड़ की बागवानी सरकार आम किसानों को क्यों नहीं करने देती तो यह कहना सही नहीं है कि सरकार आम किसान को चंदन के पेड़ की लगाने की अनुमति नहीं देती आप हां यह ठीक है कि 2001 तक यह बात सही थी किंतु 2002 से नियमों में बदलाव किया गया है साथ ही यह भी कहना पूरी तरह से सही नहीं होगा कि भारत सरकार ने किसी राज्य सरकार ने चंदन के पेड़ की बागवानी करने की अनुमति दे दी है क्योंकि सच तो यह है कि आप चंदन के पेड़ तो लगा सकते हैं किंतु उन्हें अपनी मर्जी से काट नहीं सकते एक बार चंदन के पेड़ लगाने की क्या हुआ आने के बाद एक तरह से राष्ट्रीय संपत्ति बन जाते हैं और उन्हें काटने और बेचने के लिए फॉरेस्ट ऑफिसर से अनुमति लेनी होती है या फॉरेस्ट ऑफिसर उसे काट ले जाते हैं और सरकारी रेट पर आपको कीमत का भुगतान कर दिया जाता है लेकिन ध्यान रहे कि चंदन का पेड़ कम से कम 10 साल यह 15 साल बाद ही काट कर बेचा जा सकता है अच्छी आमदनी के लिए पेड़ों को 15 साल से 30 साल तक पालते रहना होगा और तभी उसकी कोई अच्छी कीमत मिल सकेगी सब के पास इतने लंबे समय तक का इंतजार करने की धीरज नहीं होता है लगाकर धन कमाने की बात है तो सर किसानों के लिए धन उपार्जन के अन्य और भी अच्छी आप्शन उपलब्ध है आमदनी के लिए आप सामान्य फलों के पेड़ों की बागवानी भी कर सकते हैं यदि आपने इस साल 2021 में चंदन का पेड़ लगाया था शायद 30 साल बाद यानी 2051 में जाकर आपको बहुत अच्छी आमदनी हो पाएगी संभव है कि आपका बेटा हो सकता है या उसके बेटे का बेटा पेड़ काट रहा होगा उसे तो अच्छा है क्या आप आज आम के पेड़ लगाया और 5 साल में ही हर साल कुछ ना कुछ अच्छी आमदनी पाना शुरू कर दें आम के पौधे को दो-तीन साल बाद में फल देने लगते हैं
Savaal ye hai ki chandan ke ped kee baagavaanee sarakaar aam kisaanon ko kyon nahin karane detee to yah kahana sahee nahin hai ki sarakaar aam kisaan ko chandan ke ped kee lagaane kee anumati nahin detee aap haan yah theek hai ki 2001 tak yah baat sahee thee kintu 2002 se niyamon mein badalaav kiya gaya hai saath hee yah bhee kahana pooree tarah se sahee nahin hoga ki bhaarat sarakaar ne kisee raajy sarakaar ne chandan ke ped kee baagavaanee karane kee anumati de dee hai kyonki sach to yah hai ki aap chandan ke ped to laga sakate hain kintu unhen apanee marjee se kaat nahin sakate ek baar chandan ke ped lagaane kee kya hua aane ke baad ek tarah se raashtreey sampatti ban jaate hain aur unhen kaatane aur bechane ke lie phorest ophisar se anumati lenee hotee hai ya phorest ophisar use kaat le jaate hain aur sarakaaree ret par aapako keemat ka bhugataan kar diya jaata hai lekin dhyaan rahe ki chandan ka ped kam se kam 10 saal yah 15 saal baad hee kaat kar becha ja sakata hai achchhee aamadanee ke lie pedon ko 15 saal se 30 saal tak paalate rahana hoga aur tabhee usakee koee achchhee keemat mil sakegee sab ke paas itane lambe samay tak ka intajaar karane kee dheeraj nahin hota hai lagaakar dhan kamaane kee baat hai to sar kisaanon ke lie dhan upaarjan ke any aur bhee achchhee aapshan upalabdh hai aamadanee ke lie aap saamaany phalon ke pedon kee baagavaanee bhee kar sakate hain yadi aapane is saal 2021 mein chandan ka ped lagaaya tha shaayad 30 saal baad yaanee 2051 mein jaakar aapako bahut achchhee aamadanee ho paegee sambhav hai ki aapaka beta ho sakata hai ya usake bete ka beta ped kaat raha hoga use to achchha hai kya aap aaj aam ke ped lagaaya aur 5 saal mein hee har saal kuchh na kuchh achchhee aamadanee paana shuroo kar den aam ke paudhe ko do-teen saal baad mein phal dene lagate hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • चंदन का पेड़ किसान विरोधी बिल
URL copied to clipboard