#पढ़ाई लिखाई

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:21
चिप्स बनाने वाला मुझे किस तरह की पुस्तक पढ़ने वाले को दे दिए थे भाई माना जाता है लेकिन आज ऐसा क्यों पूछा जाता है
Chips banaane vaala mujhe kis tarah kee pustak padhane vaale ko de die the bhaee maana jaata hai lekin aaj aisa kyon poochha jaata hai

और जवाब सुनें

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:11
नमस्ते जी की पुस्तक पढ़ने वालों में किस तरह की पुस्तक लिखी पुस्तक एडवेंचर सकते हैं और आपको लाइफ स्टोरी से रिलेटेड आते हैं और मिस्टीरियस आते हैं तो जो है वह हर तरह के तो ऐसा नहीं है कि अगर फेसबुक पर डाल या कोई स्टोरी टेलिंग वाला पड़ रहा है या फिर अगर रियल लाइफ से जुड़ा हुआ पड़ रहा है तो वही बुद्धिमान है सबकी अपनी अपनी चॉइस होती है लेकिन इसमें यह है कि मोटिवेशनल ऑन इंस्पिरेशन जो बुक रहती है जो किसी लाइफ लाइफ से बेस्ट होती है वह आदमी को पढ़नी चाहिए जिससे वह कुछ सीख पाए किसी स्वामी विवेकानंद जी की किताबें हो गई या अभी इस लाख कार्यों निकाले उनकी किताबों पर लोग तो कुछ इंस्पिरेशनल व्यक्तित्व वाले आदमी की किताब मुझे पानी चाहिए लेकिन हरेक की अपनी चॉइस होती है तो उस चॉइस के आधार पर आप यह नहीं कर सकती जिए बुद्धिमान है उसको इसलिए तू बुद्धि नहीं सबके अपनी
Namaste jee kee pustak padhane vaalon mein kis tarah kee pustak likhee pustak edavenchar sakate hain aur aapako laiph storee se rileted aate hain aur misteeriyas aate hain to jo hai vah har tarah ke to aisa nahin hai ki agar phesabuk par daal ya koee storee teling vaala pad raha hai ya phir agar riyal laiph se juda hua pad raha hai to vahee buddhimaan hai sabakee apanee apanee chois hotee hai lekin isamen yah hai ki motiveshanal on inspireshan jo buk rahatee hai jo kisee laiph laiph se best hotee hai vah aadamee ko padhanee chaahie jisase vah kuchh seekh pae kisee svaamee vivekaanand jee kee kitaaben ho gaee ya abhee is laakh kaaryon nikaale unakee kitaabon par log to kuchh inspireshanal vyaktitv vaale aadamee kee kitaab mujhe paanee chaahie lekin harek kee apanee chois hotee hai to us chois ke aadhaar par aap yah nahin kar sakatee jie buddhimaan hai usako isalie too buddhi nahin sabake apanee

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:01
बच्चे पढ़ने वालों में भी किस तरह की पुस्तक पढ़ने वाले को अधिक बुद्धिमान माना जाएगा पुस्तिकाएं अध्यात्मिक को आर्मी को एकेडमिक प्रोफेशनल हूं तीन पुस्तक से हमें ज्ञान की प्राप्ति होती है दोस्ती होती है हमें तरक्की का अवसर मिलता है कुछ नया करने का अवसर मिलता है कुछ समाज में सीखने का अवसर मिलता है और उससे समाज में परिवर्तन लाने का मिलता है इस पुस्तकों को पढ़कर हम जीवन में उतारने को उसे उतारने की तरफ अग्रसर होते हैं और एक क्रियात्मक परिवार एक इंसान बनते हैं ऐसी पुस्तकों को पढ़ने वाले लोग ही बुद्धिमान माने जाते हैं
Bachche padhane vaalon mein bhee kis tarah kee pustak padhane vaale ko adhik buddhimaan maana jaega pustikaen adhyaatmik ko aarmee ko ekedamik propheshanal hoon teen pustak se hamen gyaan kee praapti hotee hai dostee hotee hai hamen tarakkee ka avasar milata hai kuchh naya karane ka avasar milata hai kuchh samaaj mein seekhane ka avasar milata hai aur usase samaaj mein parivartan laane ka milata hai is pustakon ko padhakar ham jeevan mein utaarane ko use utaarane kee taraph agrasar hote hain aur ek kriyaatmak parivaar ek insaan banate hain aisee pustakon ko padhane vaale log hee buddhimaan maane jaate hain

lyadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए lyadav जी का जवाब
Unknown
0:42
ऐसा कहा जाता है पुरानी पुस्तक और पुरानी दारु को पढ़ने और उसे पीने वाला ही समझ सकता है इस प्रकार हम कह सकते हैं जो जितनी अधिक और इतिहास की किताबें पढ़कर समझ सकता है वही अधिक बुद्धिमान कहलाएगा रही बात आज की पुस्तकों और नोबेल की उस पर तो कई मूवी अभी बनती है आप चाहे तो किसी मूवी को देखकर भी किताब लिख सकते हैं लेकिन अगर कोई पुरानी पुस्तकों पर फिल्म भी बनाना चाहे तब भी वह उसे अपने शब्दों में ही बना पाएगा
Aisa kaha jaata hai puraanee pustak aur puraanee daaru ko padhane aur use peene vaala hee samajh sakata hai is prakaar ham kah sakate hain jo jitanee adhik aur itihaas kee kitaaben padhakar samajh sakata hai vahee adhik buddhimaan kahalaega rahee baat aaj kee pustakon aur nobel kee us par to kaee moovee abhee banatee hai aap chaahe to kisee moovee ko dekhakar bhee kitaab likh sakate hain lekin agar koee puraanee pustakon par philm bhee banaana chaahe tab bhee vah use apane shabdon mein hee bana paega

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • पुस्तक पढ़ने के लाभ, पुस्तक पढ़ने के फायदे, पुस्तक पढ़ने की आदत
URL copied to clipboard