#भारत की राजनीति

bolkar speaker

किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के वादों में कितनी सच्चाई है?

Kisano Ki Aay 2022 Tak Doguni Karne Ke Modi Sarkar Ke Vaadon Mein Kitni Sachai Hai
Ashish Lavania Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Ashish जी का जवाब
Yoga Instructor
0:23
डिग्री है तो पूरी तरीके से सच कहा था और अगर यह सच्चाई नहीं होती इसमें तो अब तक किसानों के लिए जो बिल लागू है वापस हो जाता परंतु इस बिल का मकसद यही है कि किसानों की आय दुगनी की जा सके इसलिए यह अभी तक वापस नहीं लिया गया वह सारे फैक्टर इस पर बात होना भी बाकी और बात होगी रही है कल भी मीटिंग है देखते हैं क्या होता है
Digree hai to pooree tareeke se sach kaha tha aur agar yah sachchaee nahin hotee isamen to ab tak kisaanon ke lie jo bil laagoo hai vaapas ho jaata parantu is bil ka makasad yahee hai ki kisaanon kee aay duganee kee ja sake isalie yah abhee tak vaapas nahin liya gaya vah saare phaiktar is par baat hona bhee baakee aur baat hogee rahee hai kal bhee meeting hai dekhate hain kya hota hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के वादों में कितनी सच्चाई है?Kisano Ki Aay 2022 Tak Doguni Karne Ke Modi Sarkar Ke Vaadon Mein Kitni Sachai Hai
Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
1:52
किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के वादे में कितनी सच्चाई है लेकिन सच्चाई तो आपके सामने झलकती है क्योंकि ए चीजें प्रत्यक्ष रूप से क्योंकि जब वह नोटबंदी हुई थी उस समय कहा गया था हर एक भारतीय के खाते में 15 1500000 रुपए आएंगे हम जो बेरोजगार हैं उन्हें रोजगार देंगे हम हर एक युवा के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म बनाएंगे जिससे कि युवा परेशान नहीं होगा उसे हर चीज की सुविधाएं मिलेगी लेकिन क्या हुआ आज कुछ भी नहीं हुआ उसके साथ साथ हम किसानों के लिए इतनी उन्नति भरी स्कीम लाएंगे इसे और रोड पर के सामने आएगी आज रोड पर किसान है उसके साथ-साथ देखा जाए तो हम इतनी ज्यादा एंड ऋषि लगाएंगे कि किसी चीज की हमें दूसरे देश से सामान मंगाने की की जरूरत नहीं पड़ेगी हम सेल्फ डिपेंडेंट हो जाएगी लेकिन आज भी हमारा देश कई देशों के द्वारा निर्भर है उसके साथ-साथ देखा जाए तो आज सब की आय दोगुनी हो जाएगी आज ऐसी स्थिति होगी भारत की जीडीपी ही - में चली गई है जो हम सोच नहीं सकते मदर 40 45 साल का रिकार्ड रहा है कि अब तक इतनी स्थिति खराब नहीं हुई थी लेकिन भारत की स्थिति खराब हुई सब वादे ही हैं जो सरकार ने बड़े अच्छे से पूरा कर रही है आज ही युवा बेरोजगार युवा परेशान है इतनी अच्छी सच्चाई है जो लोगों को दिख रही है हर एक इंसान को दिख रही है यहां मेरी सरकार मेरे साथ क्या कर रही है आप उसके बाद मेरी बातों से अगर सहमत होंगे तो समझ गए होंगे कि सरकार क्या किसानों की आय दोगुनी कर देगी हां या ना में आपको जब आप खुद मिल गया होगा ना
Kisaanon kee aay 2022 tak dogunee karane ke modee sarakaar ke vaade mein kitanee sachchaee hai lekin sachchaee to aapake saamane jhalakatee hai kyonki e cheejen pratyaksh roop se kyonki jab vah notabandee huee thee us samay kaha gaya tha har ek bhaarateey ke khaate mein 15 1500000 rupe aaenge ham jo berojagaar hain unhen rojagaar denge ham har ek yuva ke lie ek aisa pletaphaarm banaenge jisase ki yuva pareshaan nahin hoga use har cheej kee suvidhaen milegee lekin kya hua aaj kuchh bhee nahin hua usake saath saath ham kisaanon ke lie itanee unnati bharee skeem laenge ise aur rod par ke saamane aaegee aaj rod par kisaan hai usake saath-saath dekha jae to ham itanee jyaada end rshi lagaenge ki kisee cheej kee hamen doosare desh se saamaan mangaane kee kee jaroorat nahin padegee ham selph dipendent ho jaegee lekin aaj bhee hamaara desh kaee deshon ke dvaara nirbhar hai usake saath-saath dekha jae to aaj sab kee aay dogunee ho jaegee aaj aisee sthiti hogee bhaarat kee jeedeepee hee - mein chalee gaee hai jo ham soch nahin sakate madar 40 45 saal ka rikaard raha hai ki ab tak itanee sthiti kharaab nahin huee thee lekin bhaarat kee sthiti kharaab huee sab vaade hee hain jo sarakaar ne bade achchhe se poora kar rahee hai aaj hee yuva berojagaar yuva pareshaan hai itanee achchhee sachchaee hai jo logon ko dikh rahee hai har ek insaan ko dikh rahee hai yahaan meree sarakaar mere saath kya kar rahee hai aap usake baad meree baaton se agar sahamat honge to samajh gae honge ki sarakaar kya kisaanon kee aay dogunee kar degee haan ya na mein aapako jab aap khud mil gaya hoga na

bolkar speaker
किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के वादों में कितनी सच्चाई है?Kisano Ki Aay 2022 Tak Doguni Karne Ke Modi Sarkar Ke Vaadon Mein Kitni Sachai Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
1:02
मोदी जी किसानों की आय को दोगुना करने के लिए 1922 तक जो सच्चाई बता रहे थे तो यह किसानों को उनकी बातों पर भरोसा नहीं रहेगी क्योंकि मोदी जी ने कहा था अच्छे दिन आएंगे आए मोदी जी ने कहा था 15 1500000 रुपए हमारे के खाते में डालेंगे डाला मोदी जी ने कहा था हम सब को बिल्कुल मुफ्त सेवाएं देंगे स्वाद के दिया उन्होंने मोदी जी का था कि हर घर वालों को हम बिल्कुल मुफ्त बीमा की व्यवस्था देंगे लेकिन वह हर बैंक में आज से 12:00 ₹12 काट लिया उसका कोई रिटर्न में कोई पाल्सी आती है कुछ नहीं आती है तो चारों तरफ से पैसे को इन्होंने ढेर करके और पूंजी पतियों के लिए पूंजी बनाई है और चुटिया बनाया ही उन्होंने पब्लिक अब उनकी बात पर किसानों को भी कोई भरोसा नहीं है व्यापारी को भी कोई भरोसा नहीं है जनता को भी कोई भरोसा नहीं रह गई है यह बड़े-बड़े वादे करते हैं और अपने वादों के बाद में कह देता कि हमने चुनावी जुमला था हमने ऐसा कुछ नहीं कहा इसलिए किसान मोदी जी के ताजे भाषण जो है 2022 तक यह बिल्कुल होते चने की तरह
Modee jee kisaanon kee aay ko doguna karane ke lie 1922 tak jo sachchaee bata rahe the to yah kisaanon ko unakee baaton par bharosa nahin rahegee kyonki modee jee ne kaha tha achchhe din aaenge aae modee jee ne kaha tha 15 1500000 rupe hamaare ke khaate mein daalenge daala modee jee ne kaha tha ham sab ko bilkul mupht sevaen denge svaad ke diya unhonne modee jee ka tha ki har ghar vaalon ko ham bilkul mupht beema kee vyavastha denge lekin vah har baink mein aaj se 12:00 ₹12 kaat liya usaka koee ritarn mein koee paalsee aatee hai kuchh nahin aatee hai to chaaron taraph se paise ko inhonne dher karake aur poonjee patiyon ke lie poonjee banaee hai aur chutiya banaaya hee unhonne pablik ab unakee baat par kisaanon ko bhee koee bharosa nahin hai vyaapaaree ko bhee koee bharosa nahin hai janata ko bhee koee bharosa nahin rah gaee hai yah bade-bade vaade karate hain aur apane vaadon ke baad mein kah deta ki hamane chunaavee jumala tha hamane aisa kuchh nahin kaha isalie kisaan modee jee ke taaje bhaashan jo hai 2022 tak yah bilkul hote chane kee tarah

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के मोदी सरकार के वादों में सच्चाई, किसानों की आय 2022 तक दोगुनी
URL copied to clipboard