#undefined

bolkar speaker

क्या चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है?

Kya Chandi Ke Work Mein Pashu Charbi Ka Upyog Kiya Jata Hai
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
0:30
चांदी के वर्क में पशु चर्बी का कोई उपयोग नहीं होता क्योंकि चांदी के वर्क बनाने के लिए चांदी को पीट-पीटकर था कूट-कूट कर पतली चादर बनाई जाती है जिसे हम मिठाइयों फल अपने एवं कई चीजों में शिरकत काम में लेते हैं ताकि इसकी सुंदरता भी मन नहीं रहे और अच्छा भी रहे
Chaandee ke vark mein pashu charbee ka koee upayog nahin hota kyonki chaandee ke vark banaane ke lie chaandee ko peet-peetakar tha koot-koot kar patalee chaadar banaee jaatee hai jise ham mithaiyon phal apane evan kaee cheejon mein shirakat kaam mein lete hain taaki isakee sundarata bhee man nahin rahe aur achchha bhee rahe

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है?Kya Chandi Ke Work Mein Pashu Charbi Ka Upyog Kiya Jata Hai
NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:08
सवाल नहीं चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है हिंदी के चांदी के वर्क बनाने के लिए चमड़े का उपयोग किया जाता है चांदी को कमरे में रख कर विशेष प्रकार के हथौड़े से लंबे समय तक कूट-कूट कर पतला किया जाता है जिससे पत्नी जिंदगी जैसे परत बन जाती है इसे ही चांदी का वर्क कहते हैं इसे निकालकर कागज में रख रखा जाता है फिर पर करके भेजा जाता है पशु के चमड़े पर यह आसानी से उतर जाती है इसलिए इसे चमड़े में रखकर हथौड़े से उठा जाता है इसे विद से बने हुए वर्क पूजा व्रत आदि ने काम लाने योग्य नहीं होते हैं वर्तमान में वर्क बनाने के लिए पशुओं के किसी भी अंग के उपयोग में प्रतिबंध लगा दिया गया है इसे अब जर्मन बटर पेपर नामक पर यह विशेष प्रकार से बनाए गए काले कागज की मदद से ही बनाया जाता है धन्यवाद
Savaal nahin chaandee ke vark mein pashu charbee ka upayog kiya jaata hai hindee ke chaandee ke vark banaane ke lie chamade ka upayog kiya jaata hai chaandee ko kamare mein rakh kar vishesh prakaar ke hathaude se lambe samay tak koot-koot kar patala kiya jaata hai jisase patnee jindagee jaise parat ban jaatee hai ise hee chaandee ka vark kahate hain ise nikaalakar kaagaj mein rakh rakha jaata hai phir par karake bheja jaata hai pashu ke chamade par yah aasaanee se utar jaatee hai isalie ise chamade mein rakhakar hathaude se utha jaata hai ise vid se bane hue vark pooja vrat aadi ne kaam laane yogy nahin hote hain vartamaan mein vark banaane ke lie pashuon ke kisee bhee ang ke upayog mein pratibandh laga diya gaya hai ise ab jarman batar pepar naamak par yah vishesh prakaar se banae gae kaale kaagaj kee madad se hee banaaya jaata hai dhanyavaad

bolkar speaker
क्या चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है?Kya Chandi Ke Work Mein Pashu Charbi Ka Upyog Kiya Jata Hai
Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi जी का जवाब
Unknown
2:03
नमस्कार जब हम घर से बाहर निकलते हैं कुछ शॉपिंग करने के लिए कुछ सामान खरीदने के लिए तो हमारी नजर पड़ जाती है हलवाई की दुकान पर या स्वीट कार्नर जी से कह सकते हैं और वहां के जो शोकेस होते हैं उसमें तरह-तरह की जो मिठाइयां होती है भाई देख कर तो अलग ही मन में मुस्कान आ जाती है कि कब इन ए टेस्ट किया जाए जल्दी से खरीद के और अगर उसे कुछ मिठाइयों में जो चांदी के सोने की वर्क रोती है तो वह हो तो उनका स्वाद इतना बढ़ा देता है जैसे कि इसे कहते हैं ना कि सोने पर सुहागा वाली बात हो जाती है अब आपने आज जो प्रश्न किया है वह सबके डाउट आ जाता है कि भैया जो सोने चांदी के जेवर करें उन्हें कैसे तैयार किया जाता है जैसा कि आपने प्रश्न में क्या है क्या इन में किसी तरह की कोई मिलावट होती है जिस तरह आपने प्रश्न में जिक्र किया तो पहले के जो फॉर्म होते थे उन्हें बनाने का जो तरीका होता था उसमें कहीं ना कहीं लेदर या कैसे पर चमड़े का इस्तेमाल करके उसे पीटने के लिए ताकि चांदी को पीट-पीटकर पतला किया जाता है और कागज से भी वहीं वक्र किसे कहते हैं शॉर्ट फॉर्म में लाने के लिए चांदी को चमड़े का इस्तेमाल किया जाता था दोनों तरफ के बीच में और को प्रताप मारी जाती थी थपकी टाइप की तो जिससे वह बहुत ज्यादा पतला हो जाता था बारिश हो जाता लेकिन अब क्या है कि इस तरह तरह की टेक्नोलॉजी आ गई है मशीनरी आ गई है तो उससे यह चीजें हट गई है प्रोसेस अट गया पूरी तरह से अभी भी जो छोटे-मोटे अनोकल जो सप्लायर होते जो चांदी के वक्त सप्लाई करते हैं वह कहीं ना कहीं इस्तेमाल करते करते होंगे आप करते हैं लेकिन जो अच्छी क्वालिटी की जो चांदी के वक्र आते हैं वह वह इस तरह का प्रोसेस अब बिल्कुल बंद कर दिया गया आशा कर तो यह पोस्ट आपको अच्छा लगा आप अपनी राय जरूर दें मुझे कमेंट के माध्यम से और लाइक कर सकते हैं यह पोस्ट को अच्छा लगा आपको और सब्सक्राइब कर सकते हमारे प्रोफाइल पर
Namaskaar jab ham ghar se baahar nikalate hain kuchh shoping karane ke lie kuchh saamaan khareedane ke lie to hamaaree najar pad jaatee hai halavaee kee dukaan par ya sveet kaarnar jee se kah sakate hain aur vahaan ke jo shokes hote hain usamen tarah-tarah kee jo mithaiyaan hotee hai bhaee dekh kar to alag hee man mein muskaan aa jaatee hai ki kab in e test kiya jae jaldee se khareed ke aur agar use kuchh mithaiyon mein jo chaandee ke sone kee vark rotee hai to vah ho to unaka svaad itana badha deta hai jaise ki ise kahate hain na ki sone par suhaaga vaalee baat ho jaatee hai ab aapane aaj jo prashn kiya hai vah sabake daut aa jaata hai ki bhaiya jo sone chaandee ke jevar karen unhen kaise taiyaar kiya jaata hai jaisa ki aapane prashn mein kya hai kya in mein kisee tarah kee koee milaavat hotee hai jis tarah aapane prashn mein jikr kiya to pahale ke jo phorm hote the unhen banaane ka jo tareeka hota tha usamen kaheen na kaheen ledar ya kaise par chamade ka istemaal karake use peetane ke lie taaki chaandee ko peet-peetakar patala kiya jaata hai aur kaagaj se bhee vaheen vakr kise kahate hain short phorm mein laane ke lie chaandee ko chamade ka istemaal kiya jaata tha donon taraph ke beech mein aur ko prataap maaree jaatee thee thapakee taip kee to jisase vah bahut jyaada patala ho jaata tha baarish ho jaata lekin ab kya hai ki is tarah tarah kee teknolojee aa gaee hai masheenaree aa gaee hai to usase yah cheejen hat gaee hai proses at gaya pooree tarah se abhee bhee jo chhote-mote anokal jo saplaayar hote jo chaandee ke vakt saplaee karate hain vah kaheen na kaheen istemaal karate karate honge aap karate hain lekin jo achchhee kvaalitee kee jo chaandee ke vakr aate hain vah vah is tarah ka proses ab bilkul band kar diya gaya aasha kar to yah post aapako achchha laga aap apanee raay jaroor den mujhe kament ke maadhyam se aur laik kar sakate hain yah post ko achchha laga aapako aur sabsakraib kar sakate hamaare prophail par

bolkar speaker
क्या चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है?Kya Chandi Ke Work Mein Pashu Charbi Ka Upyog Kiya Jata Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:38
र क पत्नी के चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है तो आपको बता दें देखिए समा जाता था कि जो चांदी का वर्क बनाए जाते थे जब को पीटा जाता था तो यहां पर छोड़ दो वर्गों के बीच की तो जल्दी होते थे जिससे वेट करते थे वह जानवर की चर्बी से बना होता तो पशु चर्बी से बना होता था हालांकि आज के समय में रनिया आजकल तो उद्योग कारखाने लग गए उसके जरिए यहां पर यह वर्ग बनाए जाते हैं तो ऐसे में आप ही से बेफिक्र रही है कि पशु चर्बी का अपमान हो रहा है मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Ra ka patnee ke chaandee ke vark mein pashu charbee ka upayog kiya jaata hai to aapako bata den dekhie sama jaata tha ki jo chaandee ka vark banae jaate the jab ko peeta jaata tha to yahaan par chhod do vargon ke beech kee to jaldee hote the jisase vet karate the vah jaanavar kee charbee se bana hota to pashu charbee se bana hota tha haalaanki aaj ke samay mein raniya aajakal to udyog kaarakhaane lag gae usake jarie yahaan par yah varg banae jaate hain to aise mein aap hee se bephikr rahee hai ki pashu charbee ka apamaan ho raha hai main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

bolkar speaker
क्या चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग किया जाता है?Kya Chandi Ke Work Mein Pashu Charbi Ka Upyog Kiya Jata Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:38
अच्छा एक बात यह बताइए कि चांदी के वर्क में पशु की चर्बी कैसे इस्तेमाल हो सकती हैं क्या धातु में पशुओं की चर्बी को मिलाया जा सकता है नहीं लेकिन हां यह जो है तो गाय की जो हाल होती है बहुत चिकने और वेलवेट वाली होती है उसमें इस की कुटाई लकड़ी के हथौड़े से होती है और वह कुत्ते कुत्ते कुत्ते कुत्ते इतना मतलब उसको पतला बना दिया जाता है और वह खाल भी नहीं पड़ती है उसमें कुटाई होती है इसलिए उसको भले ही यह कहा जाए लेकिन यह सच्चाई यही है कि गाय बैल की जो खाल होती है खाल में इसकी जो कुटाई होती है लेकिन उसमें और कुछ मिक्स नहीं की जाती
Achchha ek baat yah bataie ki chaandee ke vark mein pashu kee charbee kaise istemaal ho sakatee hain kya dhaatu mein pashuon kee charbee ko milaaya ja sakata hai nahin lekin haan yah jo hai to gaay kee jo haal hotee hai bahut chikane aur velavet vaalee hotee hai usamen is kee kutaee lakadee ke hathaude se hotee hai aur vah kutte kutte kutte kutte itana matalab usako patala bana diya jaata hai aur vah khaal bhee nahin padatee hai usamen kutaee hotee hai isalie usako bhale hee yah kaha jae lekin yah sachchaee yahee hai ki gaay bail kee jo khaal hotee hai khaal mein isakee jo kutaee hotee hai lekin usamen aur kuchh miks nahin kee jaatee

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या चांदी के वर्क में चर्बी का उपयोग किया जाता है, चांदी के वर्क में पशु चर्बी का उपयोग
URL copied to clipboard