#जीवन शैली

bolkar speaker

जीवन का क्या महत्व है?

Jeevan Ka Kya Mahatv Hai
Pooja prajapati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Pooja जी का जवाब
Student
2:30
नमस्कार आज का सवाल है जीवन का क्या महत्व है जीवन अनमोल है यह बात लगभग सभी जानते हैं तो जीवन का महत्व भी अनमोल होगा ही और महत्व यह है कि मोक्ष की प्राप्ति हो सके इसलिए जीवन की प्राप्ति हुई है ईश्वर से इसलिए कुछ बातों को हर एक को ध्यान में रखना चाहिए जिससे कि जीवन का महत्व फलीभूत हो सके जैसे कि हर एक जीव को जीवन ईश्वर से मिलता है हां मगर प्रकार यानी कि पशु या पक्षी या मनुष्य यह जीत के पिछले कर्मों पर निर्भर करता है इसलिए इस जीवन को पूरी शिद्दत से जीना चाहिए और साथ ही साथ हर जीव की अपनी क्षमता अनुसार मदद करते रहना चाहिए तो वहीं इसके साथ साथ हमेशा गलत कामों से दूर ही रखना चाहिए सत्य का हमेशा साथ देना चाहिए यह जीवन ईश्वर जी को इस लिए प्रदान किया करते हैं ताकि जीव अपने जीवन काल में अच्छे से अच्छे कर्म करके उच्च कोटि जीवो में खुद को पहुंचा सके धीरे करते-करते मोक्ष को प्राप्त कर सके जीवन का महत्व हम सब के लिए अलग अलग होता है कोई इसे बेहद बहुमूल्य समझता है कोई बिल्कुल नहीं एक साधारण इंसान जो पूरी तरह से स्वस्थ हैं सभी अंग सही सलामत है उसे इसकी परवाह नहीं होती ना मूल्य आंखों का एक अंधे व्यक्ति ही जानता है पैरों का मोहल्ले एक लौंडा ही व्यक्ति समझ सकता है इस प्रकार यह जीवन है हम जितना मूल्यवान इसे मानेंगे उतना ही मूल्य देगा वरना खाना-पीना वह विलास में ही समाप्त हो जाता है जीवन का वास्तविक मूल्य होगा जब हम इस जीवन का उपयोग जीवनदाता कुछ जानने के लिए करेंगे यही एक मानव जीवन और एक पशु के जीवन में अंतर होता है ज्ञान पुरुषार्थ करने की शक्ति जो पुरुष और जानवरों में अलग-अलग होती है
Namaskaar aaj ka savaal hai jeevan ka kya mahatv hai jeevan anamol hai yah baat lagabhag sabhee jaanate hain to jeevan ka mahatv bhee anamol hoga hee aur mahatv yah hai ki moksh kee praapti ho sake isalie jeevan kee praapti huee hai eeshvar se isalie kuchh baaton ko har ek ko dhyaan mein rakhana chaahie jisase ki jeevan ka mahatv phaleebhoot ho sake jaise ki har ek jeev ko jeevan eeshvar se milata hai haan magar prakaar yaanee ki pashu ya pakshee ya manushy yah jeet ke pichhale karmon par nirbhar karata hai isalie is jeevan ko pooree shiddat se jeena chaahie aur saath hee saath har jeev kee apanee kshamata anusaar madad karate rahana chaahie to vaheen isake saath saath hamesha galat kaamon se door hee rakhana chaahie saty ka hamesha saath dena chaahie yah jeevan eeshvar jee ko is lie pradaan kiya karate hain taaki jeev apane jeevan kaal mein achchhe se achchhe karm karake uchch koti jeevo mein khud ko pahuncha sake dheere karate-karate moksh ko praapt kar sake jeevan ka mahatv ham sab ke lie alag alag hota hai koee ise behad bahumooly samajhata hai koee bilkul nahin ek saadhaaran insaan jo pooree tarah se svasth hain sabhee ang sahee salaamat hai use isakee paravaah nahin hotee na mooly aankhon ka ek andhe vyakti hee jaanata hai pairon ka mohalle ek launda hee vyakti samajh sakata hai is prakaar yah jeevan hai ham jitana moolyavaan ise maanenge utana hee mooly dega varana khaana-peena vah vilaas mein hee samaapt ho jaata hai jeevan ka vaastavik mooly hoga jab ham is jeevan ka upayog jeevanadaata kuchh jaanane ke lie karenge yahee ek maanav jeevan aur ek pashu ke jeevan mein antar hota hai gyaan purushaarth karane kee shakti jo purush aur jaanavaron mein alag-alag hotee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जीवन का महत्व, जीवन का महत्व क्या होता है, जीवन का महत्व क्या होता है बताइए
URL copied to clipboard