#रिश्ते और संबंध

pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:46
नमक का प्रश्न है इंसान को इंसान की नजर से तो लिए दो शब्द ही सही मगर प्यार से बोलिए प्रात नमन बहुत बहुत नमस्कार आपको भी आपने यह प्रश्न जो है वह पूछता है बहुत ही अच्छे शब्द जो है आपने कही है कि इंसान को हमेशा जो है प्यारे शब्दों से दूसरों से बात करनी चाहिए क्योंकि कहीं ना कहीं जब अगर हम long-term की बात करें तो चीजें जो है सब भूल जाते हैं लेकिन अपशब्द जो है कहे गए वह कहीं ना कहीं हमारे शहर में रह जाते हैं और वह बहुत छुपते भी हैं तो बेहतर यह होता है कि हम हमेशा प्यारे अच्छे साफ शब्दों से ही हमेशा दूसरों से बात करें
Namak ka prashn hai insaan ko insaan kee najar se to lie do shabd hee sahee magar pyaar se bolie praat naman bahut bahut namaskaar aapako bhee aapane yah prashn jo hai vah poochhata hai bahut hee achchhe shabd jo hai aapane kahee hai ki insaan ko hamesha jo hai pyaare shabdon se doosaron se baat karanee chaahie kyonki kaheen na kaheen jab agar ham long-tairm kee baat karen to cheejen jo hai sab bhool jaate hain lekin apashabd jo hai kahe gae vah kaheen na kaheen hamaare shahar mein rah jaate hain aur vah bahut chhupate bhee hain to behatar yah hota hai ki ham hamesha pyaare achchhe saaph shabdon se hee hamesha doosaron se baat karen

और जवाब सुनें

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
2:46
इंसानियत कोशिका होता झूठे भ्रम जाति के चरणों में ही पढ़ा होता तो आज इंसान संसार में यह अलग ही होती है देख कर के आज के जो हालात हैं इंसान इंसान को खाने चल रहा है उस इंसान के साथ छल कपट धोखा करे बेईमानी 100 प्रकार की अन्य धर्म कर रहा है कृष्ण उत्सर्जन को प्राप्त करने के लिए तुम देख कर आप लोग कितने प्रकार के करीब 2 बेईमान ही अन्य धर्म सभी कुछ करते हैं पहले इंसान कम थे एक दूसरे से प्रेम से प्रेम था भाईचारा थाबल अंसार काफी इंसान इंसान को देख कर के खुश होता था लेकिन आज इंसान इंसान को खाने दौड़ रहा है कर रहा है जबकि पहले इंसानियत की समाज में बेल जा प्रेम प्रीति भाईचारा पालन सताती उदारता की संयुक्त बयान में यह लगता है यह समस्त मानवीय भाव कपूर की तरह उड़ गए हैं और एक इंसान दूसरे स्थान से पसंद नहीं है इंसान निर्जीव मशीन बन गया है इस भौतिक धन कमाने के चक्कर में तुम देख रहे हो कि रिश्तेदार रिश्तेदार को धोखा दे रहे हैं भाई भाई के साथ में मार काट कर रहा है लग रहा है जमीन पाप करने के लिए या उनके लिए आसान नहीं था एक दूसरे इंसान नहीं हूं शाम को चाहा होता मुझे देख कर के एक प्रदीप का गाना पुराना याद आ रहा है तो बहुत देख तेरे इंसान की हालत क्या हो गई भगवान कितना बदल गया इंसान कितना बदल गया इंसान सभी मानव भी कुछ मिलजुल कर के रहते हैं और समझते भी जाति और धर्म के जूते झगड़े इंसान को हैवान बना रहे हैं तथा मानव मानवता को खा रही है
Insaaniyat koshika hota jhoothe bhram jaati ke charanon mein hee padha hota to aaj insaan sansaar mein yah alag hee hotee hai dekh kar ke aaj ke jo haalaat hain insaan insaan ko khaane chal raha hai us insaan ke saath chhal kapat dhokha kare beeemaanee 100 prakaar kee any dharm kar raha hai krshn utsarjan ko praapt karane ke lie tum dekh kar aap log kitane prakaar ke kareeb 2 beeemaan hee any dharm sabhee kuchh karate hain pahale insaan kam the ek doosare se prem se prem tha bhaeechaara thaabal ansaar kaaphee insaan insaan ko dekh kar ke khush hota tha lekin aaj insaan insaan ko khaane daud raha hai kar raha hai jabaki pahale insaaniyat kee samaaj mein bel ja prem preeti bhaeechaara paalan sataatee udaarata kee sanyukt bayaan mein yah lagata hai yah samast maanaveey bhaav kapoor kee tarah ud gae hain aur ek insaan doosare sthaan se pasand nahin hai insaan nirjeev masheen ban gaya hai is bhautik dhan kamaane ke chakkar mein tum dekh rahe ho ki rishtedaar rishtedaar ko dhokha de rahe hain bhaee bhaee ke saath mein maar kaat kar raha hai lag raha hai jameen paap karane ke lie ya unake lie aasaan nahin tha ek doosare insaan nahin hoon shaam ko chaaha hota mujhe dekh kar ke ek pradeep ka gaana puraana yaad aa raha hai to bahut dekh tere insaan kee haalat kya ho gaee bhagavaan kitana badal gaya insaan kitana badal gaya insaan sabhee maanav bhee kuchh milajul kar ke rahate hain aur samajhate bhee jaati aur dharm ke joote jhagade insaan ko haivaan bana rahe hain tatha maanav maanavata ko kha rahee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • इंसान की परख कैसे करे और बात कैसे करे
URL copied to clipboard