#भारत की राजनीति

bolkar speaker

गांधी जी किस बात का आग्रह करते थे?

Gandhi Ji Kis Baat Ka Aagrah Karte The
pooja Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pooja जी का जवाब
Student
0:32
नमस्कार आपका प्रश्न है गांधी जी किस बात का आग्रह करते थे तो गांधीजी जो है वो सत्याग्रह का आग्रह करते थे सत्याग्रह का शाब्दिक अर्थ होता है तब तक के लिए आग्रह करना सत्याग्रह 19वीं शताब्दी के अंतिम दशक में गांधी जी ने गांधी जी के दक्षिण अफ्रीका के भारतीयों के अधिकारियों की रक्षा के लिए कानून भंग शुरू करने तक संस्कार निशा छत्रपति का रकबा निष्क्रिय प्रतिरोध की युद्ध नीति से ही परिचित था शुक्रिया
Namaskaar aapaka prashn hai gaandhee jee kis baat ka aagrah karate the to gaandheejee jo hai vo satyaagrah ka aagrah karate the satyaagrah ka shaabdik arth hota hai tab tak ke lie aagrah karana satyaagrah 19veen shataabdee ke antim dashak mein gaandhee jee ne gaandhee jee ke dakshin aphreeka ke bhaarateeyon ke adhikaariyon kee raksha ke lie kaanoon bhang shuroo karane tak sanskaar nisha chhatrapati ka rakaba nishkriy pratirodh kee yuddh neeti se hee parichit tha shukriya

और जवाब सुनें

bolkar speaker
गांधी जी किस बात का आग्रह करते थे?Gandhi Ji Kis Baat Ka Aagrah Karte The
vikas Singh Rajput Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए vikas जी का जवाब
Unknown
6:58
आपका सवाल है गांधी जी किस बात का आग्रह करते थे महात्मा गांधी जी को अहिंसा का पुजारी कहा जाता है वह हिंसा करने वालों के विरुद्ध थे उनका मानना था किसी भी समस्या का समाधान वार्तालाप के माध्यम से हो सकता है किया जा सकता है और करना भी चाहिए गांधी जी की अच्छी सोच अच्छी सूझबूझ अच्छी रणनीति के माध्यम से देश को आजादी मिली मैं यह नहीं कह रहा हूं कि महात्मा गांधी जी ने ही देश को आजाद करवाया और किसी का कोई योगदान नहीं था लेकिन हां मैं यह कह सकता हूं या हम यह कह सकते हैं कि गांधीजी का भारत की आजादी में योगदान था क्रांतिकारी लोग थे क्रांतिकारियों ने अपनी अलग मुहिम चलाई अपने प्राण न्यौछावर किए देश को आजाद कराने के लिए उनका सबसे ज्यादा योगदान था भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद और बहुत क्रांतिकारी जिन्होंने अपने प्राण को कुर्बान कर दिया इस देश को आजाद कराने के लिए इन लोगों का ज्यादा महत्वपूर्ण योगदान था अंग्रेज हमारे देश पर गए और उसका पूरा श्रेय महात्मा दीदी को ही दे दिया गया यह कांग्रेस पार्टी की पॉलिटिकल चाल थी पोलिटिकल चाल थी किसी एक व्यक्ति को पूरा क्रेडिट दे देना आपको क्रेडिट देना था तो आप सभी लोगों को देते हमें बुरा नहीं लगता अंग्रेज हमारे देश से आगे आजाद हिंद फौज की वजह से भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद जैसे क्रांतिकारियों की वजह से हमारे देश में जब आजाद हिंद फौज की स्थापना सुभाष चंद्र बोस जी ने किया उन्होंने एक नारा दिया तुम हमें खून दो हम तुम्हें आजादी देंगे पूरे देश में क्रांति आगे और हम लोगों ने अंग्रेजों को जूता मार कर भगाया अंग्रेज तो गए लेकिन कांग्रेस विचारधारा वाली अंग्रेजी पॉलिटिकल पार्टी को छोड़कर गए हम लोगों को आपस में लड़ा कर गए और हम लोग 70 साल तक लड़े हम लोगों के दादा बड़े बुजुर्गों ने वोट कांग्रेस को दिया और कांग्रेस ने इस देश को खोखला कर दिया गरीब बना दिया बेरोजगार बना दिया शिक्षित बना दिया मैं नहीं कह रहा हूं कि गरीब नहीं था देश देश इतना ज्यादा गरीब था कि मैं आपको क्या बताऊं जब भारत आजाद हुआ था उस टाइम हमारे एक रुपए की कीमत $1 के बराबर हुआ करती थी और एक कड़वा सत्य है भैया कांग्रेस पार्टी ने ऐसी कौन सी नीति से काम किया कि हमारा ₹1 6558 रुपए पहुंच गया हमारे सॉरी हमारे एक डॉलर की कीमत हमारे देश में ₹68 होती है यानी कांग्रेस ने लूट का सूट की होगी चलिए यह सब तो पॉलिटिकल बातें हैं आप सभी लोग जानते हैं हम भी जानते हैं मैं महात्मा गांधी जी को गलत नहीं बोल रहा हूं महात्मा गांधी जी के प्रति भ्रम फैलाया गया कि वह ऐसे थे वैसे थे उनकी कुछ नीतियां गलत भारत देश आजाद हुआ था तो धर्म के नाम पर भारत का बंटवारा किया गया पाकिस्तान को मुस्लिम कंट्री बनाया गया तो भारत को हिंदू राष्ट्र बना देना चाहिए था लेकिन लोगों ने ऐसा नहीं किया और यहां से जब सभी मुस्लिम जा रहे थे पाकिस्तान तो वह महात्मा गांधी जी ने बोल दिया कि जिसको यहां रुकना है वह रुक सकता है उनकी सबसे गंदी नीति थी जिसकी वजह से लड़ाई झगड़ा हो रहा है बंटवारा किया गया अच्छे से बंटवारा होता एक देश मुसलमानों को मिलता है एक देश हिंदुओं को मिलता कभी लड़ाई झगड़ा नहीं होता यह सब गलत नीति थी भाजपा गांधी जी की जिसकी वजह से उनकी बहुत आलोचना होती है और हमें लगता है हमेशा होती रहेगी लेकिन महात्मा गांधी जी के बारे में अगर आप पढ़ेंगे बुक पड़ेंगे तो 99% उनकी अच्छाइयां आपको देखने को मिलेगी पढ़ने को मिलेगी कोई गलत नहीं था नाथूराम गोडसे साहब भी गलत नहीं थे आत्मा गांधी जी भी गलत नहीं थे तो मैं ऐसा आ जाता है कि एक सेवक को अपने गुरु को महान बनाने के लिए उसे मारना पड़ता है अपने गुरु को ही मारना पड़ता है महात्मा गांधी जी की महानता को बढ़ाने के लिए नाथूराम गोडसे साथ में ऐसा कदम उठाया था क्योंकि वह उनके सबसे बड़े सेवक थे सुभाष चंद्र बोस जी महात्मा गांधी के सेवक थे चलो ठीक आ सकते हैं आप उनको बहुत मानते थे सरदार वल्लभभाई पटेल जीवनी महात्मा गांधी को बहुत मानते थे क्यों मानते थे जो कि महात्मा गांधी जी अच्छे से अहिंसा के पुजारी थे हमारे देश देश में हिंसा को बढ़ावा देने वालों का बहुत बुरा हाल होगा कोई भी समस्या हो आप वार्तालाप के माध्यम से उसका समाधान करिए यही महात्मा गांधी जी कहते थे धन्यवाद
Aapaka savaal hai gaandhee jee kis baat ka aagrah karate the mahaatma gaandhee jee ko ahinsa ka pujaaree kaha jaata hai vah hinsa karane vaalon ke viruddh the unaka maanana tha kisee bhee samasya ka samaadhaan vaartaalaap ke maadhyam se ho sakata hai kiya ja sakata hai aur karana bhee chaahie gaandhee jee kee achchhee soch achchhee soojhaboojh achchhee rananeeti ke maadhyam se desh ko aajaadee milee main yah nahin kah raha hoon ki mahaatma gaandhee jee ne hee desh ko aajaad karavaaya aur kisee ka koee yogadaan nahin tha lekin haan main yah kah sakata hoon ya ham yah kah sakate hain ki gaandheejee ka bhaarat kee aajaadee mein yogadaan tha kraantikaaree log the kraantikaariyon ne apanee alag muhim chalaee apane praan nyauchhaavar kie desh ko aajaad karaane ke lie unaka sabase jyaada yogadaan tha bhagat sinh chandrashekhar aajaad aur bahut kraantikaaree jinhonne apane praan ko kurbaan kar diya is desh ko aajaad karaane ke lie in logon ka jyaada mahatvapoorn yogadaan tha angrej hamaare desh par gae aur usaka poora shrey mahaatma deedee ko hee de diya gaya yah kaangres paartee kee politikal chaal thee politikal chaal thee kisee ek vyakti ko poora kredit de dena aapako kredit dena tha to aap sabhee logon ko dete hamen bura nahin lagata angrej hamaare desh se aage aajaad hind phauj kee vajah se bhagat sinh chandrashekhar aajaad jaise kraantikaariyon kee vajah se hamaare desh mein jab aajaad hind phauj kee sthaapana subhaash chandr bos jee ne kiya unhonne ek naara diya tum hamen khoon do ham tumhen aajaadee denge poore desh mein kraanti aage aur ham logon ne angrejon ko joota maar kar bhagaaya angrej to gae lekin kaangres vichaaradhaara vaalee angrejee politikal paartee ko chhodakar gae ham logon ko aapas mein lada kar gae aur ham log 70 saal tak lade ham logon ke daada bade bujurgon ne vot kaangres ko diya aur kaangres ne is desh ko khokhala kar diya gareeb bana diya berojagaar bana diya shikshit bana diya main nahin kah raha hoon ki gareeb nahin tha desh desh itana jyaada gareeb tha ki main aapako kya bataoon jab bhaarat aajaad hua tha us taim hamaare ek rupe kee keemat $1 ke baraabar hua karatee thee aur ek kadava saty hai bhaiya kaangres paartee ne aisee kaun see neeti se kaam kiya ki hamaara ₹1 6558 rupe pahunch gaya hamaare soree hamaare ek dolar kee keemat hamaare desh mein ₹68 hotee hai yaanee kaangres ne loot ka soot kee hogee chalie yah sab to politikal baaten hain aap sabhee log jaanate hain ham bhee jaanate hain main mahaatma gaandhee jee ko galat nahin bol raha hoon mahaatma gaandhee jee ke prati bhram phailaaya gaya ki vah aise the vaise the unakee kuchh neetiyaan galat bhaarat desh aajaad hua tha to dharm ke naam par bhaarat ka bantavaara kiya gaya paakistaan ko muslim kantree banaaya gaya to bhaarat ko hindoo raashtr bana dena chaahie tha lekin logon ne aisa nahin kiya aur yahaan se jab sabhee muslim ja rahe the paakistaan to vah mahaatma gaandhee jee ne bol diya ki jisako yahaan rukana hai vah ruk sakata hai unakee sabase gandee neeti thee jisakee vajah se ladaee jhagada ho raha hai bantavaara kiya gaya achchhe se bantavaara hota ek desh musalamaanon ko milata hai ek desh hinduon ko milata kabhee ladaee jhagada nahin hota yah sab galat neeti thee bhaajapa gaandhee jee kee jisakee vajah se unakee bahut aalochana hotee hai aur hamen lagata hai hamesha hotee rahegee lekin mahaatma gaandhee jee ke baare mein agar aap padhenge buk padenge to 99% unakee achchhaiyaan aapako dekhane ko milegee padhane ko milegee koee galat nahin tha naathooraam godase saahab bhee galat nahin the aatma gaandhee jee bhee galat nahin the to main aisa aa jaata hai ki ek sevak ko apane guru ko mahaan banaane ke lie use maarana padata hai apane guru ko hee maarana padata hai mahaatma gaandhee jee kee mahaanata ko badhaane ke lie naathooraam godase saath mein aisa kadam uthaaya tha kyonki vah unake sabase bade sevak the subhaash chandr bos jee mahaatma gaandhee ke sevak the chalo theek aa sakate hain aap unako bahut maanate the saradaar vallabhabhaee patel jeevanee mahaatma gaandhee ko bahut maanate the kyon maanate the jo ki mahaatma gaandhee jee achchhe se ahinsa ke pujaaree the hamaare desh desh mein hinsa ko badhaava dene vaalon ka bahut bura haal hoga koee bhee samasya ho aap vaartaalaap ke maadhyam se usaka samaadhaan karie yahee mahaatma gaandhee jee kahate the dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गांधी जी ,गांधी जी महान थे,गांधी जी के प्रमुख आंदोलन
URL copied to clipboard