#जीवन शैली

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
1:05
कारक बस ने ऐसी स्थिति में कि आज जब आपको पता है कि जो आप कर रहे हैं वह गलत है क्या सोचकर आप अपने आप को यह करने देते हैं तो आपको बता दें कि यहां पर बहुत सारे ऐसे जीवन में निर्णय लेने पड़ते हैं मनुष्य को कि जो कि उसकी सहमति से होते हैं उसको अच्छे लगते हो कुछ उसमें उसकी सहमति नहीं होती लेकिन फिर भी दिल पर पत्थर रख के उसको लेने होते हैं ऐसी स्थिति में आप को से अपने बारे में नहीं बल्कि अपने से जुड़े लोगों के बारे में भी सोचना होता है फिर वह चाहे आपका परिवार हो आप के नाते रिश्तेदार हो आपके फ्रेंड्स एंड फैमिली मेंबर सो तुम सब का भी विचार यहां पर किया जाता है उसका रिकॉर्डिंग यहां पर डिसीजन लेते हैं तो कई बार चीजें जो होते हैं वह के हितकर भी होते हैं और कई बार वह आपका एक भी करते हैं लेकिन कहीं ना कहीं किसी ना किसी मोड़ पर आकर आपको एक्सटेंड लेना ही होता है आंखें क्या विचार है इस बारे में कमेंट सेक्शन अपनी राय जरुर व्यक्त करें मेरी शुभकामनाएं आपके साथ है धन्यवाद
Kaarak bas ne aisee sthiti mein ki aaj jab aapako pata hai ki jo aap kar rahe hain vah galat hai kya sochakar aap apane aap ko yah karane dete hain to aapako bata den ki yahaan par bahut saare aise jeevan mein nirnay lene padate hain manushy ko ki jo ki usakee sahamati se hote hain usako achchhe lagate ho kuchh usamen usakee sahamati nahin hotee lekin phir bhee dil par patthar rakh ke usako lene hote hain aisee sthiti mein aap ko se apane baare mein nahin balki apane se jude logon ke baare mein bhee sochana hota hai phir vah chaahe aapaka parivaar ho aap ke naate rishtedaar ho aapake phrends end phaimilee membar so tum sab ka bhee vichaar yahaan par kiya jaata hai usaka rikording yahaan par diseejan lete hain to kaee baar cheejen jo hote hain vah ke hitakar bhee hote hain aur kaee baar vah aapaka ek bhee karate hain lekin kaheen na kaheen kisee na kisee mod par aakar aapako eksatend lena hee hota hai aankhen kya vichaar hai is baare mein kament sekshan apanee raay jarur vyakt karen meree shubhakaamanaen aapake saath hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:28
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है ऐसी स्थिति में आप जब आपको पता है कि जो आप कर रहे हो गलत है क्या सोचकर आप अपने आप को संतुष्ट कर पाते हैं तो फ्रेंड अगर आपको पता चले कि आप गलत कर रहे हैं तो आपको वैसा काम बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए और कोई भी गलत बात अपने मन को समझा कर संतोष में नहीं करनी चाहिए जो गलत है वह गलत काम बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए उस गलती को सुधार कर सही कहा खाना चाहिए धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai aisee sthiti mein aap jab aapako pata hai ki jo aap kar rahe ho galat hai kya sochakar aap apane aap ko santusht kar paate hain to phrend agar aapako pata chale ki aap galat kar rahe hain to aapako vaisa kaam bilkul bhee nahin karana chaahie aur koee bhee galat baat apane man ko samajha kar santosh mein nahin karanee chaahie jo galat hai vah galat kaam bilkul bhee nahin karana chaahie us galatee ko sudhaar kar sahee kaha khaana chaahie dhanyavaad

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:26
ऐसी स्थिति में आज जब आपको पता चले कि आप करें वह गलत है सोच कर आप अपने आप को कैसे संतुष्ट कर पाते हैं ठीक है मैं विश्लेषण करूंगा कि मैं गलत क्यों हूं कैसे गलत हो गया फिर मैं सही अपने मन में सही क्यों चल रहा था और फिर नहीं कहूंगा जो हॉर्स गलती हो गई पर बातचीत सुधरेंगे और सही रास्ते पर चलने वाली
Aisee sthiti mein aaj jab aapako pata chale ki aap karen vah galat hai soch kar aap apane aap ko kaise santusht kar paate hain theek hai main vishleshan karoonga ki main galat kyon hoon kaise galat ho gaya phir main sahee apane man mein sahee kyon chal raha tha aur phir nahin kahoonga jo hors galatee ho gaee par baatacheet sudharenge aur sahee raaste par chalane vaalee

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:52
नमस्कार दोस्तों आपका सवाल है ऐसी स्थिति में कि आज जब आपको पता है कि जो आप लोग कर रहे हैं तो गलत है क्या सोचकर आप अपने आप को संतुष्ट कर पाते हैं तो दोस्तों यह आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से है जगह अगर व्यक्ति जो भी कोई गलत कार्य करता है और उनको पता है यह गलत कार्य करने से हमें उनका नुकसान होगा लेकिन फिर भी वह गलती कर देते हैं लेकिन संतोष तो नहीं हो पाते लेकिन वह अपने आप को संतुष्ट कर लेते हैं क्योंकि उनका काम ऐसा ही होता है क्योंकि वह नासमझ लोग होते हैं और वह समझदार लोग नहीं होते हैं जिनकी वजह से वह गलत कार्य करते हैं वह आगे और पीछे की नहीं सोचते हैं धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Namaskaar doston aapaka savaal hai aisee sthiti mein ki aaj jab aapako pata hai ki jo aap log kar rahe hain to galat hai kya sochakar aap apane aap ko santusht kar paate hain to doston yah aapake savaal ka uttar is prakaar se hai jagah agar vyakti jo bhee koee galat kaary karata hai aur unako pata hai yah galat kaary karane se hamen unaka nukasaan hoga lekin phir bhee vah galatee kar dete hain lekin santosh to nahin ho paate lekin vah apane aap ko santusht kar lete hain kyonki unaka kaam aisa hee hota hai kyonki vah naasamajh log hote hain aur vah samajhadaar log nahin hote hain jinakee vajah se vah galat kaary karate hain vah aage aur peechhe kee nahin sochate hain dhanyavaad doston khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जब आप को पता हो आप गलत है तब क्या करे, जब सामने वाला सही और आप गलत हो क्या करे
URL copied to clipboard