#undefined

bolkar speaker

जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?

Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:23
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मैं शरीर तथा क्यों है तो फ्रेंड सब इंसान जिंदा रहता है तो वह तैर सकता है पानी से ऊपर रहता है बचने कोशिश कर सकता है लेकिन जो मृत शरीर उसमें अगर पढ़ा होता है तो उसके अंदर पानी भर जाता है और वह भूल जाता है तथा ऊपर आ जाता है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin main shareer tatha kyon hai to phrend sab insaan jinda rahata hai to vah tair sakata hai paanee se oopar rahata hai bachane koshish kar sakata hai lekin jo mrt shareer usamen agar padha hota hai to usake andar paanee bhar jaata hai aur vah bhool jaata hai tatha oopar aa jaata hai dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
0:46
सभी दोस्तों आप का सवाल है जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मर्द शरीर डरता क्यों है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से है मृत शरीर पानी में डूबता नहीं है ल के ऊपर चढ़ता है जिस किसी भी वस्तु का पानी से ज्यादा होगा वह वस्तु पानी में आसानी से डूब जाती है इसी कारण से जिला शरीर पानी में डूब जाता है क्योंकि जिंदा शरीर दर्द ज्यादा होता है जिस कारण से हमारी बॉडी पानी में डूब जाती है धन्यवाद और तो करो
Sabhee doston aap ka savaal hai jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin mard shareer darata kyon hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar se hai mrt shareer paanee mein doobata nahin hai la ke oopar chadhata hai jis kisee bhee vastu ka paanee se jyaada hoga vah vastu paanee mein aasaanee se doob jaatee hai isee kaaran se jila shareer paanee mein doob jaata hai kyonki jinda shareer dard jyaada hota hai jis kaaran se hamaaree bodee paanee mein doob jaatee hai dhanyavaad aur to karo

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
NeelamAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए NeelamAwasthi जी का जवाब
I am housewife
1:52
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर डरता क्यों है देखिए आरंभ में शरीर नीचे तक डूबने की संभावना है लेकिन जैसे ही शरीर विकसित होता है और शरीर में से घर से निकलती है शरीर में उछल के परिणाम स्वरुप लास्ट वापस तथा पर आ जाएगी जिस किसी भी वस्तु का घनत्व पानी से ज्यादा होता है वह तो पानी में आसानी से दूर जाती है और किसी कारण जिंदा शरीर पानी में डूब जाता है क्योंकि जिंदा शरीर का घनत्व ज्यादा होता है जिस कारण हमारी बॉडी पानी में डूब जाती है और डूबने के कारण हमारे शरीर के फेफड़ों में पानी भर जाता है इसका वैज्ञानिक कारण है किसी वस्तु का पानी के ऊपर तैरने का मतलब है उसका घनत्व पानी से कम है अब यह जानना होगा कि मृत शरीर का गलत जिंदा से कम कैसे हो जाता है इंसान की मृत्यु के बाद बॉडी पानी के अंदर जाती है और मुंह से बार्बी के फेफड़ों में पानी भर जाता है पानी में बैक्टीरिया होता है और शरीर में पहले से भी बतिया होता है मृत्यु के बाद व्यक्ति के प्रतिरक्षा तंत्र काम करना बंद कर देता है वह बलिया शरीर को आप गठन करना शुरू कर देता है जिसके कारण मनुष्य शरीर का पेट और पेट फूलना शुरू हो जाता है उसके बाद जैसे ही शरीर का घनत्व पानी से कम होता है शरीर पानी के ऊपरी सतह पर आ जाता है और मृत शरीर पानी में डूबता नहीं है बल्कि ऊपर करता रहता है धन्यवाद
Jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin mrt shareer darata kyon hai dekhie aarambh mein shareer neeche tak doobane kee sambhaavana hai lekin jaise hee shareer vikasit hota hai aur shareer mein se ghar se nikalatee hai shareer mein uchhal ke parinaam svarup laast vaapas tatha par aa jaegee jis kisee bhee vastu ka ghanatv paanee se jyaada hota hai vah to paanee mein aasaanee se door jaatee hai aur kisee kaaran jinda shareer paanee mein doob jaata hai kyonki jinda shareer ka ghanatv jyaada hota hai jis kaaran hamaaree bodee paanee mein doob jaatee hai aur doobane ke kaaran hamaare shareer ke phephadon mein paanee bhar jaata hai isaka vaigyaanik kaaran hai kisee vastu ka paanee ke oopar tairane ka matalab hai usaka ghanatv paanee se kam hai ab yah jaanana hoga ki mrt shareer ka galat jinda se kam kaise ho jaata hai insaan kee mrtyu ke baad bodee paanee ke andar jaatee hai aur munh se baarbee ke phephadon mein paanee bhar jaata hai paanee mein baikteeriya hota hai aur shareer mein pahale se bhee batiya hota hai mrtyu ke baad vyakti ke pratiraksha tantr kaam karana band kar deta hai vah baliya shareer ko aap gathan karana shuroo kar deta hai jisake kaaran manushy shareer ka pet aur pet phoolana shuroo ho jaata hai usake baad jaise hee shareer ka ghanatv paanee se kam hota hai shareer paanee ke ooparee satah par aa jaata hai aur mrt shareer paanee mein doobata nahin hai balki oopar karata rahata hai dhanyavaad

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
0:31
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तथा क्यों तो देखे बहुत सारी ऐसी चीज है जो पानी में मतलब तैरती रहती है बहुत सारी चीज है जो पानी में डूब जाती है तो यह सब डेंसिटी के वजह से होता है जो शरीर होता है उसका जो डेंसिटी होता है वह बहुत ज्यादा होता है पानी की तुलना में जिसकी वजह से जिंदा शरीर जाता है लेकिन वही जब अमृत शरीर की बात करते हैं तो उसका डेंसिटी बहुत ही कम होता है पानी की तुलना में इसलिए वह तैरता रहता है
Helo evareevan to aaj aap ka savaal hai ki jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin mrt shareer tatha kyon to dekhe bahut saaree aisee cheej hai jo paanee mein matalab tairatee rahatee hai bahut saaree cheej hai jo paanee mein doob jaatee hai to yah sab densitee ke vajah se hota hai jo shareer hota hai usaka jo densitee hota hai vah bahut jyaada hota hai paanee kee tulana mein jisakee vajah se jinda shareer jaata hai lekin vahee jab amrt shareer kee baat karate hain to usaka densitee bahut hee kam hota hai paanee kee tulana mein isalie vah tairata rahata hai

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:47
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन उमर शरीफ देर तक क्यों बात करते हैं शरीर में पानी को लेकर के पानी के अंदर शरीर को ले जाने पर ब्रह्मदेव ते अमृतसरी पानी में होता है तब थोड़ी देर में पानी के नीचे चला जाता है और तकरीबन 24 घंटे में पानी के ऊपर आ जाता है दोस्तों मृत शरीर में ऐसी प्रक्रिया होती है शरीर जो होता है पहले डूब जाता है पानी पर तैरने लगती है पानी में होता है और पानी के समान गलत होता है जब शरीर पानी में डूबता है तुम्हें इतनी गहराई तक जा सकता है जब तक उसे कोई अवरोध नहीं मिलता जैसे शरीर गहरी पानी में डूबता है पानी का दवा पेट और छाती की दुआओं में गैस रोग से पीड़ित भरना है जिसके परिणाम स्वरुप शरीर कम पानी को विस्थापित करता है उस पर भी निर्भर होता है यदि पानी गर्म है तो शरीर के भीतर गैस का निर्माण कैसे होता है और शरीर एक या 2 दिन में पानी पर आ सकता है और शरीर के समय पर दिखाई देने में कई सप्ताह लग जाते हैं पानी में डूबने से मौत का मुखिया कांड हो तो उसे पानी के साथ रक्त का विश्वास कमजोर पड़ जाने के उपाय इस कदर ले जाने की रक्त की क्षमता से चलता हो जाती है जिसके परिणाम स्वरुप होता है क्या है तो और क्रोध में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है
Jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin umar shareeph der tak kyon baat karate hain shareer mein paanee ko lekar ke paanee ke andar shareer ko le jaane par brahmadev te amrtasaree paanee mein hota hai tab thodee der mein paanee ke neeche chala jaata hai aur takareeban 24 ghante mein paanee ke oopar aa jaata hai doston mrt shareer mein aisee prakriya hotee hai shareer jo hota hai pahale doob jaata hai paanee par tairane lagatee hai paanee mein hota hai aur paanee ke samaan galat hota hai jab shareer paanee mein doobata hai tumhen itanee gaharaee tak ja sakata hai jab tak use koee avarodh nahin milata jaise shareer gaharee paanee mein doobata hai paanee ka dava pet aur chhaatee kee duaon mein gais rog se peedit bharana hai jisake parinaam svarup shareer kam paanee ko visthaapit karata hai us par bhee nirbhar hota hai yadi paanee garm hai to shareer ke bheetar gais ka nirmaan kaise hota hai aur shareer ek ya 2 din mein paanee par aa sakata hai aur shareer ke samay par dikhaee dene mein kaee saptaah lag jaate hain paanee mein doobane se maut ka mukhiya kaand ho to use paanee ke saath rakt ka vishvaas kamajor pad jaane ke upaay is kadar le jaane kee rakt kee kshamata se chalata ho jaatee hai jisake parinaam svarup hota hai kya hai to aur krodh mein okseejan kee kamee ho jaatee hai

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
2:22
पूछा गया है कि जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मत शरीर डरता क्यों है देखिए मैं आपको बता दूं कि मनुष्य का मृत शरीर पानी में इसलिए डरता क्योंकि मृत शरीर का जो धर्म महान है वह पानी के अनुमान से कम होता है लिखिए जिस किसी भी वस्तु का जो गलत है वह पानी से ज्यादा होता है वह वस्तु पानी में आसानी से डूब जाती है तो यही लिखे कारण है कि जिंदा शरीर पानी में डूब जाता है क्योंकि जिंदा शरीर का घनत्व ज्यादा होता है जिस कारण हमारी बॉडी पानी में डूब जाती है और डूबने के कारण हमारे शरीर के फेफड़ों में पानी भर जाता है तो जिस कारण हमारी मौत हो जाती है शुरुआत में दिखी बॉडी पानी में डूब जाती है लेकिन जब वह मृत शरीर करने लगता है तो उसमें से गैस निकलने लगती है और वह शरीर को पानी में ऊपर की तरफ ले आती है कि हमारे मरने के बाद हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली का करना बंद कर देती और ऐसे में बॉडी का अपघटन करना शुरू हो जाता है जिस कारण देखिए बैक्टीरिया हमारे शरीर की कोशिकाओं और उसको को तोड़ना शुरू कर देती तुम मृत शरीर में मौजूद बैक्टीरिया धीरे-धीरे नष्ट होने लगती है और शरीर से विभिन्न गैसों जैसे मेथेन अमोनिया कार्बन डाइऑक्साइड हाइड्रोजन यह सब सही से बाहर निकलने लगते हैं तो जैसे जैसे देखिए शरीर पड़ता है वैसे वैसे सही बोलता है लेकिन उसका वजन नहीं भरता और ऐसे में जो गैस शरीर से बाहर निकलती है वह मृत शरीर को पानी के ऊपर की तरफ लाती है और वह मध्य शरीफ पानी में डूबने की वजह थी कि उस पर 10 नहीं लगती है इसलिए आपने देखा होगा जब कोई डेड बॉडी पानी में डूब जाती तो बाहर निकलने पर गली हुई और सड़ी हुई दिखाई देती और प्रभु का देखिए ऐसा भी होता है कि अगर मैं आपको सरल भाषा में समझाऊं तुम मृत शरीर का घनत्व ज्यादा होने के कारण लिखिए हेलो तुमको पानी में डूबता है जैसे-जैसे देखिए मध्य शरीर पड़ता है वैसे वैसे सर जी का घनत्व कम होने लगता और वह हल्का हो जाता है शादी उसमें देखे कई तरह की गैस बनने लगती है जिस कारण मत शरीफ पानी के ऊपर तैरने लगता है जय हिंद जय भारत
Poochha gaya hai ki jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin mat shareer darata kyon hai dekhie main aapako bata doon ki manushy ka mrt shareer paanee mein isalie darata kyonki mrt shareer ka jo dharm mahaan hai vah paanee ke anumaan se kam hota hai likhie jis kisee bhee vastu ka jo galat hai vah paanee se jyaada hota hai vah vastu paanee mein aasaanee se doob jaatee hai to yahee likhe kaaran hai ki jinda shareer paanee mein doob jaata hai kyonki jinda shareer ka ghanatv jyaada hota hai jis kaaran hamaaree bodee paanee mein doob jaatee hai aur doobane ke kaaran hamaare shareer ke phephadon mein paanee bhar jaata hai to jis kaaran hamaaree maut ho jaatee hai shuruaat mein dikhee bodee paanee mein doob jaatee hai lekin jab vah mrt shareer karane lagata hai to usamen se gais nikalane lagatee hai aur vah shareer ko paanee mein oopar kee taraph le aatee hai ki hamaare marane ke baad hamaare shareer kee pratiraksha pranaalee ka karana band kar detee aur aise mein bodee ka apaghatan karana shuroo ho jaata hai jis kaaran dekhie baikteeriya hamaare shareer kee koshikaon aur usako ko todana shuroo kar detee tum mrt shareer mein maujood baikteeriya dheere-dheere nasht hone lagatee hai aur shareer se vibhinn gaison jaise methen amoniya kaarban daioksaid haidrojan yah sab sahee se baahar nikalane lagate hain to jaise jaise dekhie shareer padata hai vaise vaise sahee bolata hai lekin usaka vajan nahin bharata aur aise mein jo gais shareer se baahar nikalatee hai vah mrt shareer ko paanee ke oopar kee taraph laatee hai aur vah madhy shareeph paanee mein doobane kee vajah thee ki us par 10 nahin lagatee hai isalie aapane dekha hoga jab koee ded bodee paanee mein doob jaatee to baahar nikalane par galee huee aur sadee huee dikhaee detee aur prabhu ka dekhie aisa bhee hota hai ki agar main aapako saral bhaasha mein samajhaoon tum mrt shareer ka ghanatv jyaada hone ke kaaran likhie helo tumako paanee mein doobata hai jaise-jaise dekhie madhy shareer padata hai vaise vaise sar jee ka ghanatv kam hone lagata aur vah halka ho jaata hai shaadee usamen dekhe kaee tarah kee gais banane lagatee hai jis kaaran mat shareeph paanee ke oopar tairane lagata hai jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
anuj gothwal Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
9828597645
1:12
नमस्कार दोस्तों बोलकर आप में स्वागत है सवाल है कि जिंदा इंसान पानी में डूब जाता लेकिन मृत शरीर तड़पा क्यों हैं क्योंकि शरीर पानी में डूबने से उसमें पानी की मात्रा बढ़ जाती है इसके कारण शरीर में पानी भर जाता है और शरीर में पानी शरीर पानी में डूब जाता है जिससे संपूर्ण दुगना हो जाता है वह तथा मानव शरीर का औसत घनत्व 1 पॉइंट जीरो होता है जबकि पानी का 1 पॉइंट जीरो एक होने की वजह से व्यक्ति पानी में डूब जाता है तथा जब कोई व्यक्ति पूरी पूरी तरह से पानी में डूबता है तो श्वास रोग होने के कारण भी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तथा पानी में व्यक्ति के डूबने की अलग-अलग स्थिति होती है जो कि उसकी मृत्यु की संभावना बढ़ाती है और मृत्यु का समय भी उसी वक्त होता है
Namaskaar doston bolakar aap mein svaagat hai savaal hai ki jinda insaan paanee mein doob jaata lekin mrt shareer tadapa kyon hain kyonki shareer paanee mein doobane se usamen paanee kee maatra badh jaatee hai isake kaaran shareer mein paanee bhar jaata hai aur shareer mein paanee shareer paanee mein doob jaata hai jisase sampoorn dugana ho jaata hai vah tatha maanav shareer ka ausat ghanatv 1 point jeero hota hai jabaki paanee ka 1 point jeero ek hone kee vajah se vyakti paanee mein doob jaata hai tatha jab koee vyakti pooree pooree tarah se paanee mein doobata hai to shvaas rog hone ke kaaran bhee vyakti kee mrtyu ho jaatee hai tatha paanee mein vyakti ke doobane kee alag-alag sthiti hotee hai jo ki usakee mrtyu kee sambhaavana badhaatee hai aur mrtyu ka samay bhee usee vakt hota hai

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Naayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Naayank जी का जवाब
College
0:44
एक्शन कंपनी का खेल होता है जब हम जिंदा होते हैं कोई जिंदा जिंदा होता है उसके अंदर की होती उसकी पूरी होती है और अंदर जाता रहता है मरने के बाद शरीर के अंदर जाता है लेकिन जैसे ही वह होने लगता है तो उसकी 1 मिनट सिस्टम तो बंद हो जाता है तो जो बैक्टीरिया होते हैं वह उसकी बॉडी को डीकंपोज करने लगते हैं और जब डीकंपोज करने लगते हैं तो उसके अंदर की गैस भर आती है जिसके कारण जो मृत शरीर है उनके पार्थिव शरीर है उसकी डेंसिटी कम हो जाती है पानी की तुलना में और इस कारण वह पानी के ऊपर आ जाओ
Ekshan kampanee ka khel hota hai jab ham jinda hote hain koee jinda jinda hota hai usake andar kee hotee usakee pooree hotee hai aur andar jaata rahata hai marane ke baad shareer ke andar jaata hai lekin jaise hee vah hone lagata hai to usakee 1 minat sistam to band ho jaata hai to jo baikteeriya hote hain vah usakee bodee ko deekampoj karane lagate hain aur jab deekampoj karane lagate hain to usake andar kee gais bhar aatee hai jisake kaaran jo mrt shareer hai unake paarthiv shareer hai usakee densitee kam ho jaatee hai paanee kee tulana mein aur is kaaran vah paanee ke oopar aa jao

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
2:23
10 वाले की जिंदा इंसान पानी में डूब जाता लेकिन मैं स्टेशन पर मीटर चेकिंग के प्रारंभ में श्री नीचे तक डूबने की संभावना थी लेकिन जैसे ही फ्री होता है और शरीर में गैस निकलती है यह संकल्प शरीर में उछाल में प्रणाम सर प्लस ऑफिस पर आ जाएगी उनके प्राकृतिक रूप में तैरने का कारण हमारी फेसबुक ने मुझे दवा है जो किया वह शरीर के लिए कठिन मल के रूप में कार्य करते हैं जिससे कि आपके लिए केवल एक स्विमिंग पूल के ताल पटना से संभव हो जाता है एक लाश के हालांकि इसका इस बात का कोई नियंत्रण नहीं है किस के फेफड़े बच्चे या नहीं अगर लाश पानी में गिर जाती है तो वह कभी भी नहीं नीचे नहीं रुकती क्योंकि फेफड़ों में हुआ एक का कोई वास्तविक मौका नहीं होगा होगा हालांकि अगर बिलासपुर से पेट भर पानी में डाल दिया जाए तो हवा नीचे बच सकते हैं यानी कि अपनी अपनी जगह ले सकते हैं और शरीर में डूब जाएगी यदि कोई व्यक्ति डूब जाते हैं तो वह जरूरी जरूरी नहीं कि मरते हैं क्योंकि पानी इनकी फेसबुक ऊपर से एक स्त्री अपने आप को शांत कर दिया क्योंकि पानी की स्थिति के खिलाफ बेड पर बैठ जाएं बंद हो जाएगा इसकी वजह से एक बॉडी संभावित पुश्तैनी के डूबने से पहले राजस्थान में देखने जाता है और सभी वॉलपेपर से बाहर निकल जाती है जो पानी में भी कर दिए गए हैं इसलिए मैं डूब गए पानी के तल पर मीटिंग हुई थी निर्माण निमित्त पानी की तुलना ने हल्की गैस शरीर को कम जाना बनाती है उस समय 24 घंटे के बाद शरीर का वजन पानी की तुलना में कम हो जाता है इसलिए शरीर देखते हैं याद रखेगी किसी पदार्थ का घनत्व जितना अधिक होगा हुए पानी में डूबने की क्षमता कितनी है दिखाइए
10 vaale kee jinda insaan paanee mein doob jaata lekin main steshan par meetar cheking ke praarambh mein shree neeche tak doobane kee sambhaavana thee lekin jaise hee phree hota hai aur shareer mein gais nikalatee hai yah sankalp shareer mein uchhaal mein pranaam sar plas ophis par aa jaegee unake praakrtik roop mein tairane ka kaaran hamaaree phesabuk ne mujhe dava hai jo kiya vah shareer ke lie kathin mal ke roop mein kaary karate hain jisase ki aapake lie keval ek sviming pool ke taal patana se sambhav ho jaata hai ek laash ke haalaanki isaka is baat ka koee niyantran nahin hai kis ke phephade bachche ya nahin agar laash paanee mein gir jaatee hai to vah kabhee bhee nahin neeche nahin rukatee kyonki phephadon mein hua ek ka koee vaastavik mauka nahin hoga hoga haalaanki agar bilaasapur se pet bhar paanee mein daal diya jae to hava neeche bach sakate hain yaanee ki apanee apanee jagah le sakate hain aur shareer mein doob jaegee yadi koee vyakti doob jaate hain to vah jarooree jarooree nahin ki marate hain kyonki paanee inakee phesabuk oopar se ek stree apane aap ko shaant kar diya kyonki paanee kee sthiti ke khilaaph bed par baith jaen band ho jaega isakee vajah se ek bodee sambhaavit pushtainee ke doobane se pahale raajasthaan mein dekhane jaata hai aur sabhee volapepar se baahar nikal jaatee hai jo paanee mein bhee kar die gae hain isalie main doob gae paanee ke tal par meeting huee thee nirmaan nimitt paanee kee tulana ne halkee gais shareer ko kam jaana banaatee hai us samay 24 ghante ke baad shareer ka vajan paanee kee tulana mein kam ho jaata hai isalie shareer dekhate hain yaad rakhegee kisee padaarth ka ghanatv jitana adhik hoga hue paanee mein doobane kee kshamata kitanee hai dikhaie

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:23
है कि जिंदा इंसान पानी में डूबता मृत्यु सन पानी में तैरता है तू जिंदा इंसान पानी में इसलिए होता है क्योंकि उसकी नंदू भारी पड़ जाता है लेकिन वह इंसान के अंदर पानी ही नहीं जानते हैं कि दूसरे के करीब ऊपर आने लगते हुए फूल जाता है इंसान के अंदर
Hai ki jinda insaan paanee mein doobata mrtyu san paanee mein tairata hai too jinda insaan paanee mein isalie hota hai kyonki usakee nandoo bhaaree pad jaata hai lekin vah insaan ke andar paanee hee nahin jaanate hain ki doosare ke kareeb oopar aane lagate hue phool jaata hai insaan ke andar

bolkar speaker
जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है?Jinda Insaan Paani Mei Doob Jata Hai Lekin Mrit Shareer Tairta Kyo Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:37
नमस्कार आपका प्रश्न है जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तथा क्यों हैं तो आपको बता दें किसी ने बहुत खूब बात कही है कि दोस्तों सांसों का होता है इंसान की सांसे खत्म हो जाती है तो उसका शरीर में पानी क्यों भरा जाता है खैर वैज्ञानिक बुक ज्यादा देखा जाए तो आपके शरीर में जब पानी भर जाता है तो वह हल्का हो जाता है और जिसके कारण भूल कर के ऊपर आ जाता है जिस कारण जो बैटरी होता है वह करता रहता है जबकि जो जिंदा रहती होता है वह पानी में डूब जाता है मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Namaskaar aapaka prashn hai jinda insaan paanee mein doob jaata hai lekin mrt shareer tatha kyon hain to aapako bata den kisee ne bahut khoob baat kahee hai ki doston saanson ka hota hai insaan kee saanse khatm ho jaatee hai to usaka shareer mein paanee kyon bhara jaata hai khair vaigyaanik buk jyaada dekha jae to aapake shareer mein jab paanee bhar jaata hai to vah halka ho jaata hai aur jisake kaaran bhool kar ke oopar aa jaata hai jis kaaran jo baitaree hota hai vah karata rahata hai jabaki jo jinda rahatee hota hai vah paanee mein doob jaata hai main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • जिंदा इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन मृत शरीर तैरता क्यों है, मृत शरीर तैरता क्यों है
  • जिन्दा आदमी पानी में डूब जाता है, मृत आदमी पानी में क्यों तैरता है, पानी में डूबने से मौत कैसे होती है
  • मृत शरीर पानी में क्यों तैरता हैं, जीवित इंसान पानी में डूब जाता है लेकिन शव तैरता रहता है ऐसा क्यों, मृत शरीर क्यों नहीं डूबता
  • मरा हुआ आदमी पानी में क्यों तैरता है, लाश पानी में क्यों तैरती है, मरा हुआ आदमी की लाश पानी में कैसे कर सकती है
URL copied to clipboard