#पढ़ाई लिखाई

bolkar speaker

इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?

Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:37
एक इंसान की बेल अमृता की असली परीक्षा कब होती है असली परीक्षा कब होगी जब वह बहुत ही ज्यादा परेशानी और मुश्किलों में खेड़ा और उसके साथ कोई ना हो और जो भी इंसानों से खराब तरीके से पेश आ रहा हूं ताने मार रहे हो ऐसे समय में यदि बहुत परेशान व्यक्ति बहुत विनम्रता चले थे तो यही उसकी असली परीक्षा होती है और किसी से कोई क्लोज परसेंट खत्म होंगे वह लोग उस पर ताना दे रहे हैं
Ek insaan kee bel amrta kee asalee pareeksha kab hotee hai asalee pareeksha kab hogee jab vah bahut hee jyaada pareshaanee aur mushkilon mein kheda aur usake saath koee na ho aur jo bhee insaanon se kharaab tareeke se pesh aa raha hoon taane maar rahe ho aise samay mein yadi bahut pareshaan vyakti bahut vinamrata chale the to yahee usakee asalee pareeksha hotee hai aur kisee se koee kloj parasent khatm honge vah log us par taana de rahe hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
Amit Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Amit जी का जवाब
Student 🇮🇳🇮🇳🇮🇳 mission Indian Army🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳
1:10
खुशनसीब इंसान विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है देखिए यहां पर लोगों की अलग-अलग मत हो सकते लोग आप लोग सुन सकते हैं मेरे हिसाब से तो मतलब तभी विनम्रता का असली परिचय दे सकते हैं जब मोदी जी आपके सामने कोई भी व्यक्ति बहुत ज्यादा गुस्से में आपको बहुत बार भला-बुरा कह रहा हूं लेकिन आपको वहां पर एक दम शांत रहना हमेशा मुस्कुराने उसके सामने ताकि वह इतना आपसे प्रभावित हो जाएगी दोबारा आपको इतना बुरा भला बुरा कहने की ना उस से मतलब चाहे जितना आप से मतलब जलता हो या जितनी बात ना कर तो बुरी तरह से बात करता हूं और आपकी हर समय बुराई ही करता रहता हूं तो आपको उससे बिल्कुल अपने बदले की भावना अपनी जपानी जपानी है आपको उसे विनम्रता से बात तो आप अगर उसे विनम्रता से बात करेंगे तो एक ना एक दिन मुझे शर्मिंदा जरूर होगा तो आपसे माफी मांगेगा कि आप हमें माफ कर दीजिए मैं आपको इतना सता रहा हूं लेकिन आप उसे अपनी प्रेम से बात करते हैं तुम्हारी सब से यही विनम्रता कितनी परीक्षा होगी बाकी आप लोगों की अलग-अलग रहे हो सकती है अपना जवाब जरूर दीजिएगा धन्यवाद
Khushanaseeb insaan vinamrata kee asalee pareeksha kab hotee hai dekhie yahaan par logon kee alag-alag mat ho sakate log aap log sun sakate hain mere hisaab se to matalab tabhee vinamrata ka asalee parichay de sakate hain jab modee jee aapake saamane koee bhee vyakti bahut jyaada gusse mein aapako bahut baar bhala-bura kah raha hoon lekin aapako vahaan par ek dam shaant rahana hamesha muskuraane usake saamane taaki vah itana aapase prabhaavit ho jaegee dobaara aapako itana bura bhala bura kahane kee na us se matalab chaahe jitana aap se matalab jalata ho ya jitanee baat na kar to buree tarah se baat karata hoon aur aapakee har samay buraee hee karata rahata hoon to aapako usase bilkul apane badale kee bhaavana apanee japaanee japaanee hai aapako use vinamrata se baat to aap agar use vinamrata se baat karenge to ek na ek din mujhe sharminda jaroor hoga to aapase maaphee maangega ki aap hamen maaph kar deejie main aapako itana sata raha hoon lekin aap use apanee prem se baat karate hain tumhaaree sab se yahee vinamrata kitanee pareeksha hogee baakee aap logon kee alag-alag rahe ho sakatee hai apana javaab jaroor deejiega dhanyavaad

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:27
राजा का सवाल है कि इंसान की विनम्रता के असली परीक्षा कब होती है इंसान के धैर्य और विनम्रता की बात करें तो बहुत सारी जगह बहुत लंबे समय आता है जब इंसान विनम्रता और धैर्य की परीक्षा होती है जैसे आज बहुत बार मेहनत कर रहे हैं आपको सफलता नहीं मिल रही है फिर भी आप धैर्य विनम्रता से अपने काम कर रहे हैं मेहनत कर रहे हो भाई लगन से आप पढ़ रहे हैं मेरी लगन से आप तो अपना मतलब जो भी आप जिस फिल्म में जिस चीज के लिए आप तैयारी कर रहे हो उसके लिए मन लगाकर आप मेहनत करें यहां पर आपके धैर्य विनम्रता की का मतलब परीक्षा पता चलती है उसके बाद पता चलता है कि आपने बहुत मेहनत किया लेकिन क्रेडिट किसी और को मिल जाता है और फिर आप का मतलब आपको कोई झूठा इल्जाम आप पर लगा रहा है मतलब आपकी गलती नहीं है फिर भी आप से मतलब पोजीशन सुना जा रहा है आपसे अलग मतलब आप पर इल्जाम लगा रहे हो क्या ठीक है फिर भी इंसान के विनम्रता और पेशेंट और धैर्य की मतलब पता चले कि इंसान मतलब कितना सुंदर और कितना खुश करके वह आगे कैसे बढ़ रहा है लोग कैसे हो जाम लगा रखी है वह सुन रहा है अपने काम को रखने करता अच्छी तरीके से मतलब कर रहा है
Raaja ka savaal hai ki insaan kee vinamrata ke asalee pareeksha kab hotee hai insaan ke dhairy aur vinamrata kee baat karen to bahut saaree jagah bahut lambe samay aata hai jab insaan vinamrata aur dhairy kee pareeksha hotee hai jaise aaj bahut baar mehanat kar rahe hain aapako saphalata nahin mil rahee hai phir bhee aap dhairy vinamrata se apane kaam kar rahe hain mehanat kar rahe ho bhaee lagan se aap padh rahe hain meree lagan se aap to apana matalab jo bhee aap jis philm mein jis cheej ke lie aap taiyaaree kar rahe ho usake lie man lagaakar aap mehanat karen yahaan par aapake dhairy vinamrata kee ka matalab pareeksha pata chalatee hai usake baad pata chalata hai ki aapane bahut mehanat kiya lekin kredit kisee aur ko mil jaata hai aur phir aap ka matalab aapako koee jhootha iljaam aap par laga raha hai matalab aapakee galatee nahin hai phir bhee aap se matalab pojeeshan suna ja raha hai aapase alag matalab aap par iljaam laga rahe ho kya theek hai phir bhee insaan ke vinamrata aur peshent aur dhairy kee matalab pata chale ki insaan matalab kitana sundar aur kitana khush karake vah aage kaise badh raha hai log kaise ho jaam laga rakhee hai vah sun raha hai apane kaam ko rakhane karata achchhee tareeke se matalab kar raha hai

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
pari Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए pari जी का जवाब
Unknown
0:21
हाईटेंशन ऑपरेशन किया था इंसान की विनम्रता की अपील परीक्षा कब होती है तो कान सर मैं आपको बताती हूं उनकी विनम्रता की परीक्षा तब होती है जब उसका सामना खुद के काबिल आदमी से होता है फ्रेंड्स मुझे यकीन है लोग समझ गए होंगे मुझे समझाने की जरूरत नहीं है फ्रेंड
Haeetenshan opareshan kiya tha insaan kee vinamrata kee apeel pareeksha kab hotee hai to kaan sar main aapako bataatee hoon unakee vinamrata kee pareeksha tab hotee hai jab usaka saamana khud ke kaabil aadamee se hota hai phrends mujhe yakeen hai log samajh gae honge mujhe samajhaane kee jaroorat nahin hai phrend

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:36
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है तो फ्रेंड इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा विषम परिस्थितियों में होती है क्योंकि अच्छे समय में तो सभी लोग भी विनम्र रेटिंग लेकिन जब उसका बुरा समय आता है तो बहुत ही समझदार लोग होते हैं जो विनम्र बने रहते हैं बाकी लोग अपना आपा खो देते हैं गुस्से में आ जाते हैं गलत गलत बोलने लगते हैं तो किसी भी इंसान की पहचान उसके बुरे समय में बुरे वक्त में ही की जा सकती है कि वह विनम्र चाहे बुरा है कैसा है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai insaan kee vinamrata kee asalee pareeksha kab hotee hai to phrend insaan kee vinamrata kee asalee pareeksha visham paristhitiyon mein hotee hai kyonki achchhe samay mein to sabhee log bhee vinamr reting lekin jab usaka bura samay aata hai to bahut hee samajhadaar log hote hain jo vinamr bane rahate hain baakee log apana aapa kho dete hain gusse mein aa jaate hain galat galat bolane lagate hain to kisee bhee insaan kee pahachaan usake bure samay mein bure vakt mein hee kee ja sakatee hai ki vah vinamr chaahe bura hai kaisa hai dhanyavaad

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:02
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है जब कोई इंसान किसी इंसान के साथ अन्याय अनिश्चितता अमनी और स्वास्थ्य चिन्ह स्टूडियो कोड कोलकाता सेंट्रल इतने निरीक्षक पुरुष और सद्भाव व्यक्ति एक सीमा है जिसमें टप्पू अपनी नम्रता का अपने पैतृक आचरण का सद्भाव का परिचय देता है और कदाचित ऐसी विषम परिस्थिति में भी इंसान अपने आप को नियंत्रित कर लेता है तो वही उसकी विनम्रता का परिचय बताएं वही उसकी विनम्रता की परीक्षा होती है
Insaan kee vinamrata kee asalee pareeksha kab hotee hai jab koee insaan kisee insaan ke saath anyaay anishchitata amanee aur svaasthy chinh stoodiyo kod kolakaata sentral itane nireekshak purush aur sadbhaav vyakti ek seema hai jisamen tappoo apanee namrata ka apane paitrk aacharan ka sadbhaav ka parichay deta hai aur kadaachit aisee visham paristhiti mein bhee insaan apane aap ko niyantrit kar leta hai to vahee usakee vinamrata ka parichay bataen vahee usakee vinamrata kee pareeksha hotee hai

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T जी का जवाब
Business
4:08
ने प्रश्न किया है कि हिंदुस्तान की विनम्रता की असली परीक्षा कब है बहुत अच्छा प्रश्न है देखिए इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है जब इंसान सक्षम जब इंसान ऐसे पद पर हो ऐसी स्थिति में जहां पर उसके पास में दो परिस्थितियां आई कहिए दोस्ती क्या होती है एक उस परिस्थिति में बगदम अंड कर सकता है और उस परिस्थिति में विनम्र बंसल उदाहरण के लिए कोई एक ऐसा व्यक्ति है जो यूं तो साधारणतया आपको बहुत विनम्र लगता है लेकिन कल्पना कीजिए वही व्यक्ति अचानक से किसी बहुत बड़े पद पर पहुंच जाता है वही व्यक्ति बिजनेस में बहुत ज्यादा सफल हो जाता है करोड़पति अरबपति बन जाता है वही कोई साधारण व्यक्ति बहुत बड़ा राजनेता बन जाता है बहुत बड़ा पद हासिल कर लेता है वही साधारण व्यक्ति को ऐसा कार्य करें जिसकी वजह से उसको सारी दुनिया जानने लग जाती है उस परिस्थिति में भी अगर व्यक्ति विनम्र रहता है या उस परिस्थिति में व्यक्ति को घमंड आ जाता है यह वही समय होता है जब इंसान की असली परीक्षा होती है क्योंकि साधारण परिस्थितियों तो वैसे भी व्यक्ति को विनम्र बना ही देती है लेकिन जब आप उस स्थिति में जहां पर आप परिवार को समाज को संस्कृति को अपने आसपास के वातावरण को प्रभावित करने में सक्षम हो उस समय आप की स्थिति में है आप में उसका मन है अभिमान है या उस समय आप विनम्र उसी समय व्यक्ति की अपनी परीक्षा होती है क्योंकि मैंने देखा है ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो समाज में जब साधारण स्थिति में से साधारण जीवन जी रहे थे तब वह हमेशा विनम्र नजर आते थे लेकिन वही व्यक्ति जब किसी बहुत बड़े पद पर पहुंच गया वही व्यक्ति जब बहुत बड़ा राजनेता बन गया वही व्यक्ति बहुत बड़ा बिजनेसमैन बन गया अचानक से उस व्यक्ति में घमंड आ जाता है विनम्रता मानव रातों-रात कहीं गायब हो गई होती तो उन परिस्थितियों पर निर्भर करता है कि जब व्यक्ति ऐसी परिस्थिति में हो जहां पर वह बहुत पकड़म हो जहां पर वह बहुत प्रभावित करने की स्थिति में हूं अब ऐसे बहुत सारे लोगों को उस परिस्थिति में उपस्थिति में दूसरे आसपास के लोग कीड़े मकोड़ों की तरह नजर आता है वह इंसान को इंसान नहीं समझता वह गरीब को इंसान नहीं समझते साधारण व्यक्ति को इंसान नहीं सकता उसे लगता है यह कुछ लोग हैं यह क्या करता है जबकि वही व्यक्ति कल तक साधारण था और उसी समाज का हिस्सा था लेकिन उस औरत ने उस पद नहीं इस पैसे ने उस व्यक्ति को अभिमानी बना दो असली परीक्षा व्यक्ति की तभी होती है जब वह ऐसी स्थिति में होता है मेरा आकलन यही है उम्मीद करता हूं मेरे उत्तर से आपसे धन्यवाद
Ne prashn kiya hai ki hindustaan kee vinamrata kee asalee pareeksha kab hai bahut achchha prashn hai dekhie insaan kee vinamrata kee asalee pareeksha kab hotee hai jab insaan saksham jab insaan aise pad par ho aisee sthiti mein jahaan par usake paas mein do paristhitiyaan aaee kahie dostee kya hotee hai ek us paristhiti mein bagadam and kar sakata hai aur us paristhiti mein vinamr bansal udaaharan ke lie koee ek aisa vyakti hai jo yoon to saadhaaranataya aapako bahut vinamr lagata hai lekin kalpana keejie vahee vyakti achaanak se kisee bahut bade pad par pahunch jaata hai vahee vyakti bijanes mein bahut jyaada saphal ho jaata hai karodapati arabapati ban jaata hai vahee koee saadhaaran vyakti bahut bada raajaneta ban jaata hai bahut bada pad haasil kar leta hai vahee saadhaaran vyakti ko aisa kaary karen jisakee vajah se usako saaree duniya jaanane lag jaatee hai us paristhiti mein bhee agar vyakti vinamr rahata hai ya us paristhiti mein vyakti ko ghamand aa jaata hai yah vahee samay hota hai jab insaan kee asalee pareeksha hotee hai kyonki saadhaaran paristhitiyon to vaise bhee vyakti ko vinamr bana hee detee hai lekin jab aap us sthiti mein jahaan par aap parivaar ko samaaj ko sanskrti ko apane aasapaas ke vaataavaran ko prabhaavit karane mein saksham ho us samay aap kee sthiti mein hai aap mein usaka man hai abhimaan hai ya us samay aap vinamr usee samay vyakti kee apanee pareeksha hotee hai kyonki mainne dekha hai aise bahut saare log hain jo samaaj mein jab saadhaaran sthiti mein se saadhaaran jeevan jee rahe the tab vah hamesha vinamr najar aate the lekin vahee vyakti jab kisee bahut bade pad par pahunch gaya vahee vyakti jab bahut bada raajaneta ban gaya vahee vyakti bahut bada bijanesamain ban gaya achaanak se us vyakti mein ghamand aa jaata hai vinamrata maanav raaton-raat kaheen gaayab ho gaee hotee to un paristhitiyon par nirbhar karata hai ki jab vyakti aisee paristhiti mein ho jahaan par vah bahut pakadam ho jahaan par vah bahut prabhaavit karane kee sthiti mein hoon ab aise bahut saare logon ko us paristhiti mein upasthiti mein doosare aasapaas ke log keede makodon kee tarah najar aata hai vah insaan ko insaan nahin samajhata vah gareeb ko insaan nahin samajhate saadhaaran vyakti ko insaan nahin sakata use lagata hai yah kuchh log hain yah kya karata hai jabaki vahee vyakti kal tak saadhaaran tha aur usee samaaj ka hissa tha lekin us aurat ne us pad nahin is paise ne us vyakti ko abhimaanee bana do asalee pareeksha vyakti kee tabhee hotee hai jab vah aisee sthiti mein hota hai mera aakalan yahee hai ummeed karata hoon mere uttar se aapase dhanyavaad

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:25
कसम वाले इंसान की मृत्यु की असली परीक्षा कब होती है इंसान की विनम्रता के असली परीक्षा तभी होती है जब कोई भी परिस्थिति उसके अनुकूल ना हो और काम वाले व्यक्ति उसके हिसाब से कार्य नहीं कर रहा हूं और काफी ज्यादा बुरा भला कह रहा हूं ऐसे व्यक्ति मियां ऐसी परिस्थिति में वह व्यक्ति कितना ज्यादा खुद को रोक पाता है इसका सहनशील है कितना उसका दिमाग शांत रहता है यह सब चीजें तभी पता चलती हैं आपने शुभ रहे थे निषाद
Kasam vaale insaan kee mrtyu kee asalee pareeksha kab hotee hai insaan kee vinamrata ke asalee pareeksha tabhee hotee hai jab koee bhee paristhiti usake anukool na ho aur kaam vaale vyakti usake hisaab se kaary nahin kar raha hoon aur kaaphee jyaada bura bhala kah raha hoon aise vyakti miyaan aisee paristhiti mein vah vyakti kitana jyaada khud ko rok paata hai isaka sahanasheel hai kitana usaka dimaag shaant rahata hai yah sab cheejen tabhee pata chalatee hain aapane shubh rahe the nishaad

bolkar speaker
इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है?Insaan Kee Vinamrata Kee Asalee Pareeksha Kab Hotee Hai
vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:02
आपका सवाल इंसान की विनम्रता की असली परीक्षा कब होती है तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से विनम्र व्यक्ति की पहचान ना काफी धर्म होता है यह कभी भी अति उत्साह में नजर नहीं आते हैं और आपकी कोई भी बात वैसे तो नहीं काटते हैं जानू पूरी बात उद्यमिता से सुनते हैं और आपकी बातों के मुख्य मनोवैज्ञानिक पहलू को रेखांकित करते हैं जब आप अपनी बात रखते हुए थक जाते हैं तब हुआ आप की कमियों को पति के साथ आपके संबंध रखते हैं इस दौरान बीच-बीच में आप की बातों में बच्चे पहले तथा विभाग को रखते जाते हैं ताकि आप ऑपरेशन हो और इसके साथ ही वह आपकी गलतियों को अप्रत्यक्ष तौर पर रखकर आपको सत्य से रूबरू करवाते हैं और आत्मसात करा देते हैं धन्यवाद दोस्तों खुश रहो
Aapaka savaal insaan kee vinamrata kee asalee pareeksha kab hotee hai to doston aapake savaal ka uttar is prakaar se vinamr vyakti kee pahachaan na kaaphee dharm hota hai yah kabhee bhee ati utsaah mein najar nahin aate hain aur aapakee koee bhee baat vaise to nahin kaatate hain jaanoo pooree baat udyamita se sunate hain aur aapakee baaton ke mukhy manovaigyaanik pahaloo ko rekhaankit karate hain jab aap apanee baat rakhate hue thak jaate hain tab hua aap kee kamiyon ko pati ke saath aapake sambandh rakhate hain is dauraan beech-beech mein aap kee baaton mein bachche pahale tatha vibhaag ko rakhate jaate hain taaki aap opareshan ho aur isake saath hee vah aapakee galatiyon ko apratyaksh taur par rakhakar aapako saty se roobaroo karavaate hain aur aatmasaat kara dete hain dhanyavaad doston khush raho

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

    URL copied to clipboard