#undefined

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:57

और जवाब सुनें

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:59

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:54

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
5:01

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए anuj जी का जवाब
Unknown
2:10

Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
2:38
इस भागदौड़ की जिंदगी में अक्सर महिलाओं के बारे में हर घर में यह बात कही जाती है कि सारा दिन घर पर रहकर यह करती क्या है मैं उन मर्दों से पूछना चाहता हूं क्या तुम्हें इस बात से कुछ नहीं सर जहां से मिलाया नहीं है तुम अपनी निगाहों से देखते हो अपनी आंखों से देखते हो कि वह दिन भर करती है सुबह 4:00 बजे उठकर बिन भोरे सबसे पहले उठती है और अपने घर के को स्वच्छ करके फिर अपने लिए बच्चों के लिए खाना परोस दी है खाना बनाती है टिफिन बनाती है फिर अपना दिन भर का काम में उलझन रहते हैं रहती है फिर उसको जरा सा समय नहीं मिलता सप्ताह के सातों दिन महीनों के महीनों के हर दिन वह काम करते रहती है और बोलते हैं कि महिलाएं करती क्या क्या क्या हमें इस प्रश्न करने से हमें एक बार अपनी अंतरात्मा को यह बात समझ में नहीं आई कि हम तो इस बारे में बात कर रहे हैं अरे अगर हमारी मां हमारी बहन ने हमारी जो कुछ भी जो हमें हमारे मतलब अगर नहीं रहती तो हम कुछ नहीं कर पाते जो हम जो हम स्टैंडर्ड से स्कूल जा पाते हैं ना वह कुछ भी ना होता हमारे लिए मां हमारी भी बहने बहुत कुछ ऐसा कंडीशन अप्लाई कर दी है जो हमें प्यार करती है फिर भेजती है फिर हम दिव्या स्कूल के लिए टिफिन तैयार कर दिए ड्रेस बना ड्रेस ड्रेस का स्त्री कर दी है फिर हम लोग बनाते हैं जो बिना ऑफिस के लिए अपने पति को पति के लिए टाई बेल्ट प्यार करते हैं और उनके लिए खाना भी पूछती है बहुत सारी ऐसी कंडीशन अप्लाई होती महिलाओं के साथ में जो उनकी काम को सराहना करना हमेशा ही हमारे लिए उत्तरदाई होती है हम इसे नकार नहीं सकते कितना दुनिया आगे बढ़ जाए इस बात से इंकार नहीं कर सकते महिलाओं के लिए हमारे महिलाओं के लिए हमारे मन में बहुत ही आदर्श और आदर्श की भावना है
Is bhaagadaud kee jindagee mein aksar mahilaon ke baare mein har ghar mein yah baat kahee jaatee hai ki saara din ghar par rahakar yah karatee kya hai main un mardon se poochhana chaahata hoon kya tumhen is baat se kuchh nahin sar jahaan se milaaya nahin hai tum apanee nigaahon se dekhate ho apanee aankhon se dekhate ho ki vah din bhar karatee hai subah 4:00 baje uthakar bin bhore sabase pahale uthatee hai aur apane ghar ke ko svachchh karake phir apane lie bachchon ke lie khaana paros dee hai khaana banaatee hai tiphin banaatee hai phir apana din bhar ka kaam mein ulajhan rahate hain rahatee hai phir usako jara sa samay nahin milata saptaah ke saaton din maheenon ke maheenon ke har din vah kaam karate rahatee hai aur bolate hain ki mahilaen karatee kya kya kya hamen is prashn karane se hamen ek baar apanee antaraatma ko yah baat samajh mein nahin aaee ki ham to is baare mein baat kar rahe hain are agar hamaaree maan hamaaree bahan ne hamaaree jo kuchh bhee jo hamen hamaare matalab agar nahin rahatee to ham kuchh nahin kar paate jo ham jo ham staindard se skool ja paate hain na vah kuchh bhee na hota hamaare lie maan hamaaree bhee bahane bahut kuchh aisa kandeeshan aplaee kar dee hai jo hamen pyaar karatee hai phir bhejatee hai phir ham divya skool ke lie tiphin taiyaar kar die dres bana dres dres ka stree kar dee hai phir ham log banaate hain jo bina ophis ke lie apane pati ko pati ke lie taee belt pyaar karate hain aur unake lie khaana bhee poochhatee hai bahut saaree aisee kandeeshan aplaee hotee mahilaon ke saath mein jo unakee kaam ko saraahana karana hamesha hee hamaare lie uttaradaee hotee hai ham ise nakaar nahin sakate kitana duniya aage badh jae is baat se inkaar nahin kar sakate mahilaon ke lie hamaare mahilaon ke lie hamaare man mein bahut hee aadarsh aur aadarsh kee bhaavana hai

Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:30
गुड मॉर्निंग कैसी थाना रखी जाती है और नंबर से सोचते हैं लेकिन हमें भी कोई कम नहीं होता है जो काम करती है इतने काम करती है कि एक फंदा को नहीं हो सकता है
Gud morning kaisee thaana rakhee jaatee hai aur nambar se sochate hain lekin hamen bhee koee kam nahin hota hai jo kaam karatee hai itane kaam karatee hai ki ek phanda ko nahin ho sakata hai

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:48
काले कैसे महिलाओं के बारे में हर घर में यह बात कही जाती है कि सारे घर पर रहकर के क्या करती हो सिर्फ घर का ही काम तो करती हो जी हां यह बात सही है कि जो महिला घर पर रहती हैं सिर्फ घर का ही काम किधर करती है लेकिन मैं घर का ही काम ज्यादा होता है यदि करने के लिए अच्छे अच्छे लोगों को एक साथ होते हैं वह भी नहीं कर पाएंगे और हरी वह बंदा दो तरीके के क्वेश्चन पेपर कौन करता है मेरे हिसाब से तो हमेशा उसको एक दिन ना एक दिन देना चाहिए जिससे कि वह खुद घर में रहे और घर के सारे वह काम काज करें मैनेज करें घर को ढंग से अपने बच्चों को देखें टाइम पर खाना पानी भरोसे हर एक घर के सदस्य को लेते कि उसे भी पता चले कि घर की साफ सफाई करने में खाना बनाने में टाइम पर सब तो सब करने में बच्चों को देखने उनकी पढ़ाई देखने में उनकी टेक केयर करने में कितना समय जाता है और कितनी मेहनत लगती है तब उन्हें इस बात का एहसास जरूर होगा आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Kaale kaise mahilaon ke baare mein har ghar mein yah baat kahee jaatee hai ki saare ghar par rahakar ke kya karatee ho sirph ghar ka hee kaam to karatee ho jee haan yah baat sahee hai ki jo mahila ghar par rahatee hain sirph ghar ka hee kaam kidhar karatee hai lekin main ghar ka hee kaam jyaada hota hai yadi karane ke lie achchhe achchhe logon ko ek saath hote hain vah bhee nahin kar paenge aur haree vah banda do tareeke ke kveshchan pepar kaun karata hai mere hisaab se to hamesha usako ek din na ek din dena chaahie jisase ki vah khud ghar mein rahe aur ghar ke saare vah kaam kaaj karen mainej karen ghar ko dhang se apane bachchon ko dekhen taim par khaana paanee bharose har ek ghar ke sadasy ko lete ki use bhee pata chale ki ghar kee saaph saphaee karane mein khaana banaane mein taim par sab to sab karane mein bachchon ko dekhane unakee padhaee dekhane mein unakee tek keyar karane mein kitana samay jaata hai aur kitanee mehanat lagatee hai tab unhen is baat ka ehasaas jaroor hoga aapaka din shubh rahe dhanyavaad

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:14

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • महिलाओं की सुरक्षा समय का मूल्य
URL copied to clipboard