#टेक्नोलॉजी

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:20
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है ऑनलाइन खरीदी जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ती क्यों होते हैं तो सेंड से ऑनलाइन समान आते हैं उन्हें टैक्स वगैरह नहीं जुड़ा होता है और विवेक फ्री होते हैं इसलिए मैं बाजार से काफी सस्ते मिलते हैं धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai onalain khareedee jaane vaale saamaan baajaar kee tulana mein sastee kyon hote hain to send se onalain samaan aate hain unhen taiks vagairah nahin juda hota hai aur vivek phree hote hain isalie main baajaar se kaaphee saste milate hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
1:05
दर्द मकसद आप से मेरी बोलकर प्रोफाइल पर और आप सुंदर रोहित राठौर को तो ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान जो होता है वह बाजार से खरीदने की तुलना में सस्ता क्यों होता है अगर आपने अक्सर क्योंकि बाजार तक मन पहुंचते करते हैं इसमें बहुत लंबी प्रोसेस होती है जिसे सप्लाई चैन कहां जाता है इस सप्लाई चैन में जो कंजूमर होता है उसके तक गुड से प्रोडक्ट पोस्टर पोस्टर उसकी महंगाई बढ़ जाती है क्योंकि यह फैक्ट्री से डिस्ट्रीब्यूटर के पास जाता है डिस्ट्रीब्यूटर से होलसेल होलसेल एंड रिटेल अरुण रिटेलर से कंजूमर तक जिसमें सब अपना अपना कमीशन निकालते हैं जिससे यह प्रोडक्ट कंजूमर एनी उपभोक्ता के पास आते आते महंगा हो जाता है उसी प्रकार जब ऑनलाइन होती है खरीदी तो डायरेक्ट ये मैन्युफैक्चर से कानपुर तक आता है मुझे डायरेक्ट जो कभी उसका क्या जो गुड से बनाता है या नहीं कुछ सामान बनाता है वो सीधे उससे अपनी कंजूमर ए न्यू भोक्ता तक आता जिससे बीच का जो भी कमीशन वगैरह होता है एक कट जाता है यह नहीं होता है जिससे हमें बाजार मार्केट से ऑनलाइन में ज्यादा अच्छे हैं सस्ते और अच्छे लक्ष्मी जाते हैं धन्यवाद मिलते हैं आपसे अपने सवाल मेरी तकलीफ देखकर
Dard makasad aap se meree bolakar prophail par aur aap sundar rohit raathaur ko to onalain khareede jaane vaale saamaan jo hota hai vah baajaar se khareedane kee tulana mein sasta kyon hota hai agar aapane aksar kyonki baajaar tak man pahunchate karate hain isamen bahut lambee proses hotee hai jise saplaee chain kahaan jaata hai is saplaee chain mein jo kanjoomar hota hai usake tak gud se prodakt postar postar usakee mahangaee badh jaatee hai kyonki yah phaiktree se distreebyootar ke paas jaata hai distreebyootar se holasel holasel end ritel arun ritelar se kanjoomar tak jisamen sab apana apana kameeshan nikaalate hain jisase yah prodakt kanjoomar enee upabhokta ke paas aate aate mahanga ho jaata hai usee prakaar jab onalain hotee hai khareedee to daayarekt ye mainyuphaikchar se kaanapur tak aata hai mujhe daayarekt jo kabhee usaka kya jo gud se banaata hai ya nahin kuchh saamaan banaata hai vo seedhe usase apanee kanjoomar e nyoo bhokta tak aata jisase beech ka jo bhee kameeshan vagairah hota hai ek kat jaata hai yah nahin hota hai jisase hamen baajaar maarket se onalain mein jyaada achchhe hain saste aur achchhe lakshmee jaate hain dhanyavaad milate hain aapase apane savaal meree takaleeph dekhakar

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
1:24
प्रश्न है कि ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ती क्यों होते हैं इनके सत्य होने का कारण यह है कि जो कंपनियां हैं अमेजॉन फ्लिपकार्ट उनके जो छलकते हैं वह बहुत बड़ी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी होती है और वह बल्क में सामान खरीदती है बड़े पैमाने पर सामान खरीदने की वजह से वह भाग है वह बिल्कुल कम रखते रेट बिल्कुल कम रखते मुख्य कारण तो यह जो बाजार में जो भाग होते हैं जो दुकानें हैं उन दुकानों में क्या एक ही रे नदी किस कारण होता है क्योंकि जो दुकानदार है मुकम्माल सरिता है जैसे मान लो उसने कोई प्रोडक्ट है एक बिकती है उसके शोपीस खरीदे अब तो पीस उसके लिए बहुत बड़े हैं कि एक दुकान में मिर्ची के शौक है लेकिन जो अमेजॉन के कलर होते हैं वह 1000 5000 50,000 2017 कंपनी से डील करते हैं और वह टारगेट के साथ भेज देते हैं 1 महीने में एक दो महीने में तो इस पर कंपनियों ने सस्ते में मानदेय देती है जिसकी वजह से और सबसे बड़ी बात यह है कि जो बीच में जो होते हैं मीडिया तक वो नहीं होते हैं अब जो अमेजॉन पर जो चैनल वो सीधे कंपनी से खरीदते हैं तो बीच में जो भी होलसेल के रूप में 8 दिन है ना वह सारा खत्म हो जाता है तो इसका भी यह भी बहुत बड़ा कारण है कि जो ऑनलाइन सामान है वह सस्ते मिलते हैं
Prashn hai ki onalain khareede jaane vaale saamaan baajaar kee tulana mein sastee kyon hote hain inake saty hone ka kaaran yah hai ki jo kampaniyaan hain amejon phlipakaart unake jo chhalakate hain vah bahut badee praivet limited kampanee hotee hai aur vah balk mein saamaan khareedatee hai bade paimaane par saamaan khareedane kee vajah se vah bhaag hai vah bilkul kam rakhate ret bilkul kam rakhate mukhy kaaran to yah jo baajaar mein jo bhaag hote hain jo dukaanen hain un dukaanon mein kya ek hee re nadee kis kaaran hota hai kyonki jo dukaanadaar hai mukammaal sarita hai jaise maan lo usane koee prodakt hai ek bikatee hai usake shopees khareede ab to pees usake lie bahut bade hain ki ek dukaan mein mirchee ke shauk hai lekin jo amejon ke kalar hote hain vah 1000 5000 50,000 2017 kampanee se deel karate hain aur vah taaraget ke saath bhej dete hain 1 maheene mein ek do maheene mein to is par kampaniyon ne saste mein maanadey detee hai jisakee vajah se aur sabase badee baat yah hai ki jo beech mein jo hote hain meediya tak vo nahin hote hain ab jo amejon par jo chainal vo seedhe kampanee se khareedate hain to beech mein jo bhee holasel ke roop mein 8 din hai na vah saara khatm ho jaata hai to isaka bhee yah bhee bahut bada kaaran hai ki jo onalain saamaan hai vah saste milate hain

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
2:49
ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ती क्यों होते हैं लेकिन वालों का किसी भी प्रोडक्ट को अलग-अलग ढंग से पेश कर देते हैं हम आपको समझ ही नहीं पाते हैं आपने देखा होगा तो बढ़िया बैंड क्यों होती है और बड़े अच्छे ढंग से डिजाइन किया होता है और क्वालिटी प्रोडक्ट ऐसे होते हैं जो सचमुच के ठीक होते हैं लेकिन बहुत सारी ऐसी है जैसे लोग टॉनिक आइटम से जो भी हो चित्तौड़गढ़ लो बेहतरीन मार्केटिंग स्ट्रेटजी जानते हैं बड़े-बड़े शोरूम है या जो भी ठीक है नतीजा क्या है कि वह सस्ते का ड्रामा करती और एंड सामानों को बस स्टैंड में ही भेज देते हैं देखते हैं जब कभी आप जानते हैं मार्केट में शोरूम में तो आपको लगा होता है बीवी कर सकती पर कितनी डिस्काउंट मिलूंगी भेजते हैं थोड़ा करके अरे जमाल रेडियो मार्केट में सस्ता हो ही चुका है तो वहां पर सस्ता भेजने का क्या मतलब तीन चीजें हैं हम देखेंगे अधिकतम मार्केट में जाएंगे तो आपको पता चलेगा कि दुकानदार बैठा हुआ था निधन का स्टिकर लगाकर फिल्म का डीएनए समान हो वही सिर्फ देखते हो या नहीं लगाता है तो सामान हो वहीं से खरीदे और अलग से एक दूसरे को खिलाते नहीं हो बस एक ही बेड सीन और यह सब बड़ी अच्छी होती है प्रोग्राम बहुत बेहतरीन करते तो वही चीजें हैं वह अपनी फिल्म डॉन इसकी दुनिया में चले जाओ कितने लोन में है किसी भी प्रोडक्ट को चाही सरकारी आपको भूल नहीं सकता क्योंकि मैं तो तुम्हें मैंने देखा है तो मैंने तो ऑनलाइन थी तुमको तो वही कर दिया
Onalain khareede jaane vaale saamaan baajaar kee tulana mein sastee kyon hote hain lekin vaalon ka kisee bhee prodakt ko alag-alag dhang se pesh kar dete hain ham aapako samajh hee nahin paate hain aapane dekha hoga to badhiya baind kyon hotee hai aur bade achchhe dhang se dijain kiya hota hai aur kvaalitee prodakt aise hote hain jo sachamuch ke theek hote hain lekin bahut saaree aisee hai jaise log tonik aaitam se jo bhee ho chittaudagadh lo behatareen maarketing stretajee jaanate hain bade-bade shoroom hai ya jo bhee theek hai nateeja kya hai ki vah saste ka draama karatee aur end saamaanon ko bas staind mein hee bhej dete hain dekhate hain jab kabhee aap jaanate hain maarket mein shoroom mein to aapako laga hota hai beevee kar sakatee par kitanee diskaunt miloongee bhejate hain thoda karake are jamaal rediyo maarket mein sasta ho hee chuka hai to vahaan par sasta bhejane ka kya matalab teen cheejen hain ham dekhenge adhikatam maarket mein jaenge to aapako pata chalega ki dukaanadaar baitha hua tha nidhan ka stikar lagaakar philm ka deeene samaan ho vahee sirph dekhate ho ya nahin lagaata hai to saamaan ho vaheen se khareede aur alag se ek doosare ko khilaate nahin ho bas ek hee bed seen aur yah sab badee achchhee hotee hai prograam bahut behatareen karate to vahee cheejen hain vah apanee philm don isakee duniya mein chale jao kitane lon mein hai kisee bhee prodakt ko chaahee sarakaaree aapako bhool nahin sakata kyonki main to tumhen mainne dekha hai to mainne to onalain thee tumako to vahee kar diya

satish kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए satish जी का जवाब
Student
1:14
करंट क्वेश्चन पूछा जाए कि ऑनलाइन खरीद खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ती क्यों होते तो हम अगर ऑनलाइन की बात करें तो ऑनलाइन मार्केटिंग में क्या होता है कि कोई भी प्रोडक्ट होता है वहां से बनता है वह डायरेक्ट वहां से जो है आपके साथ जो है सेल किया जाता है तो इसमें क्या होता है कि बीच के जो भी वस्तु खरीदने वाले होते हैं फिर बेचने वाले होते हैं या स्टेट जो होता है उसमें फॉलो नहीं हो पाता है इससे क्या होता है कि कोई भी वस्तु का जो होता है दाम ज्यादा जो होता है पढ़ता नहीं है पर हमें सस्ते दामों में ही अच्छे प्रोडक्ट मिल जाते हैं लेकिन इसके विपरीत अगर हम बाजार की बात करें तो बाजार में ऐसा नहीं होता है बाजार में अक्सर कोई भी चीज अगर हम उसका प्रोडक्ट का उत्पादन करते हैं तो उसके बाद वहां से आपके पास पहुंचने में लगभग तीन-चार स्टेप फॉलो करना पड़ता है इसमें क्या होता है कि बड़े व्यापारी होते हैं अपने छोटे व्यापारी को भेजते हैं और इस तरफ से आपके यहां जो है अगर गांव है तो सहरसा फिर गांव में आता है तो इस स्टेट में क्या हो जाता है कि वस्तुओं की महंगाई बढ़ जाती है और वस्तु जो होता है धीरे-धीरे उसकी महंगाई बढ़ने के कारण वाहन ज्यादा देना पड़ता है
Karant kveshchan poochha jae ki onalain khareed khareede jaane vaale saamaan baajaar kee tulana mein sastee kyon hote to ham agar onalain kee baat karen to onalain maarketing mein kya hota hai ki koee bhee prodakt hota hai vahaan se banata hai vah daayarekt vahaan se jo hai aapake saath jo hai sel kiya jaata hai to isamen kya hota hai ki beech ke jo bhee vastu khareedane vaale hote hain phir bechane vaale hote hain ya stet jo hota hai usamen pholo nahin ho paata hai isase kya hota hai ki koee bhee vastu ka jo hota hai daam jyaada jo hota hai padhata nahin hai par hamen saste daamon mein hee achchhe prodakt mil jaate hain lekin isake vipareet agar ham baajaar kee baat karen to baajaar mein aisa nahin hota hai baajaar mein aksar koee bhee cheej agar ham usaka prodakt ka utpaadan karate hain to usake baad vahaan se aapake paas pahunchane mein lagabhag teen-chaar step pholo karana padata hai isamen kya hota hai ki bade vyaapaaree hote hain apane chhote vyaapaaree ko bhejate hain aur is taraph se aapake yahaan jo hai agar gaanv hai to saharasa phir gaanv mein aata hai to is stet mein kya ho jaata hai ki vastuon kee mahangaee badh jaatee hai aur vastu jo hota hai dheere-dheere usakee mahangaee badhane ke kaaran vaahan jyaada dena padata hai

Maayank Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Maayank जी का जवाब
College
1:20
जो बाजार वाले लोग होते हैं जो अपने सामान बेचते हैं मैदान में कूद सामान खरीदते हैं वह भी होलसेल नहीं करता है कितना नहीं करते उनको ज्यादा प्रॉब्लम ऑनलाइन शॉप है ऑनलाइन वेबसाइट सेंड टू काफी बड़े मार्जिन प्रोडक्शन करती है बहुत ज्यादा क्वांटिटी में सामान खरीदते तो उनको पर प्रोडक्ट पर 30 थोड़ा सस्ता पड़ जाता है भारतीयों का दूसरा वह जो ऑनलाइन वाले हैं उनका ऐसा ही है कि वह केवल एक ही एक ही समान भेजते हैं और केवल उनका स्मरण अपने जो सम्मान भेजते हैं ऑनलाइन सामान उसमें थोड़ा डिस्काउंट ज्यादा देख सकते हैं और एक्सक्लूसिव ऑफिस भी मिलते हैं उनको कंपनीज वाले होते हैं कुछ कौन से होते हैं जो केवल टू देवली कुछ टाइप भी बेचे जाते हैं तो एक्सक्लूसिव वाली चीज होती है तो वह भी उन्हें थोड़ा कम दाम पर बेचने को मौका मिलना था उसकी साइड जो कंपनी वाले होते हैं वह भी अपना समझना चाहते हैं तो उन्हें प्राइवेट शिखा बेचने की बजाय वह ऑनलाइन पेपर का
Jo baajaar vaale log hote hain jo apane saamaan bechate hain maidaan mein kood saamaan khareedate hain vah bhee holasel nahin karata hai kitana nahin karate unako jyaada problam onalain shop hai onalain vebasait send too kaaphee bade maarjin prodakshan karatee hai bahut jyaada kvaantitee mein saamaan khareedate to unako par prodakt par 30 thoda sasta pad jaata hai bhaarateeyon ka doosara vah jo onalain vaale hain unaka aisa hee hai ki vah keval ek hee ek hee samaan bhejate hain aur keval unaka smaran apane jo sammaan bhejate hain onalain saamaan usamen thoda diskaunt jyaada dekh sakate hain aur eksakloosiv ophis bhee milate hain unako kampaneej vaale hote hain kuchh kaun se hote hain jo keval too devalee kuchh taip bhee beche jaate hain to eksakloosiv vaalee cheej hotee hai to vah bhee unhen thoda kam daam par bechane ko mauka milana tha usakee said jo kampanee vaale hote hain vah bhee apana samajhana chaahate hain to unhen praivet shikha bechane kee bajaay vah onalain pepar ka

Ram Kumawat  Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ram जी का जवाब
Unknown
2:11
आकाश वाले ऑनलाइन खरीदी जाने वाले सामान बाजार की तुलना सकते क्यों होते तो हम पहले फिर से पहले ऑनलाइन और ऑफलाइन भी पोस्ट मॉडल समझ लेते हैं और अमेजॉन में एक छोटा सा इलेक्ट्रॉनिक दुकान का मालिक मान लेते हैं कि मैं प्रणाम जलालगढ़ है मार्केटिंग में एक नया फोन आया और बनानाफोन जनता एकदम बावली हो गई अब मैंने मौका देख कर लगे हाथ 10 20 30 आर्डर कर मंगवा कर दुकान पर रखिए मुझे हर चीज में लगभग ₹8000 का मुनाफा हो रहा था तब संभव जी ने एक भी देखा कि एक नया फोन मार्केट में आया है पुलिस का स्टॉक रख लेते हैं तो वह अपने हजार पीस मंगा कर रख लेते हैं और बड़े वेयरहाउस में अब अपनी कंपनी ने दो दाम मुझे फोन दिया है आप तो उस पर ही नहीं दिए होंगे उसमें इतना माल उठा लिया तो उसको थोड़ा सस्ता लगाएंगे बहुत ही नहीं मार्केटिंग तो पूरे भारत में विदेश भैया आर्डर लेने शुरू कर दिए यहां तो एक ही माल वेयरहाउस में रखा गया है ऑर्डर वहीं से जाएगा ग्राहक जिसे आप उनसे ग्राहक डिलीवरी चार्ज भी लगेगी डिलीवरी कंपनी कैसे कम आती है ऐसे किसी दिन बताऊंगा फिलहाल जी की दुकान पर ग्राहक आ गए जिन्होंने करें फोन बेच दिया और बस एक ही विकेट उनका एरिया तक ही सीमित हो गया पर मैं भी 10 में से कुछ पीस फतेह गई और मुझे शायद रेट टू रेट देखने पढ़े अगर से लगा दे दूं तो इसमें मुनाफा नहीं कमा पा लूंगा इधर आंख के 30 तरीके तो आप एक से निकाल कर ले आराम से भेज देंगे सामान का पेमेंट करना भी संभव जी का दुनियाभर विकल्प दे रहे थे ग्राहक चाय ऑनलाइन पेमेंट दे माल लेते समय पर एक साइड कर दे आधी ऊपर भी कैशबैक दे रहे थे वह चुन्नीलाल जी सबसे नंदकुमार थे ऑनलाइन पेमेंट के आनाकानी हो रही थी कैसे की जगह मुफ्त में कैरी बैग भी देनी पड़ रही थी और भैया ग्राहक तो जाएगा ही ना धन्यवाद
Aakaash vaale onalain khareedee jaane vaale saamaan baajaar kee tulana sakate kyon hote to ham pahale phir se pahale onalain aur ophalain bhee post modal samajh lete hain aur amejon mein ek chhota sa ilektronik dukaan ka maalik maan lete hain ki main pranaam jalaalagadh hai maarketing mein ek naya phon aaya aur banaanaaphon janata ekadam baavalee ho gaee ab mainne mauka dekh kar lage haath 10 20 30 aardar kar mangava kar dukaan par rakhie mujhe har cheej mein lagabhag ₹8000 ka munaapha ho raha tha tab sambhav jee ne ek bhee dekha ki ek naya phon maarket mein aaya hai pulis ka stok rakh lete hain to vah apane hajaar pees manga kar rakh lete hain aur bade veyarahaus mein ab apanee kampanee ne do daam mujhe phon diya hai aap to us par hee nahin die honge usamen itana maal utha liya to usako thoda sasta lagaenge bahut hee nahin maarketing to poore bhaarat mein videsh bhaiya aardar lene shuroo kar die yahaan to ek hee maal veyarahaus mein rakha gaya hai ordar vaheen se jaega graahak jise aap unase graahak dileevaree chaarj bhee lagegee dileevaree kampanee kaise kam aatee hai aise kisee din bataoonga philahaal jee kee dukaan par graahak aa gae jinhonne karen phon bech diya aur bas ek hee viket unaka eriya tak hee seemit ho gaya par main bhee 10 mein se kuchh pees phateh gaee aur mujhe shaayad ret too ret dekhane padhe agar se laga de doon to isamen munaapha nahin kama pa loonga idhar aankh ke 30 tareeke to aap ek se nikaal kar le aaraam se bhej denge saamaan ka pement karana bhee sambhav jee ka duniyaabhar vikalp de rahe the graahak chaay onalain pement de maal lete samay par ek said kar de aadhee oopar bhee kaishabaik de rahe the vah chunneelaal jee sabase nandakumaar the onalain pement ke aanaakaanee ho rahee thee kaise kee jagah mupht mein kairee baig bhee denee pad rahee thee aur bhaiya graahak to jaega hee na dhanyavaad

Pt. Rakesh  Chaturvedi ( Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant | Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Pt. जी का जवाब
Tally Trainer | Tax - Investment -Consultant |
1:47
नमस्कार दोस्तों बसने की ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ते क्यों होते हैं तो उसके कई कारण होते हैं इसलिए हमें सस्ता मिलता है पहले तो एक तो लागत की कमी हो जाती है इसकी वजह से सामान सस्ता हो जाता है अगर कोई व्यक्ति दुकान खोलता है या गोदाम कहीं रखता है तो उसका किराया देना पड़ता है वहां कर्मचारी रखने पड़ते हैं वहां रोज का बिजली का खर्चा यह सारी चीजें आती हैं अगर कोई घर से व्यापार तू करता है या मात्र गोदाम ही रखता है तो खर्चों में काफी कटौती होती है तो यह कारण है इसकी वजह से कर सामान सस्ता हो जाता है दूसरा एक कारण यह होता है कि कई कंपनियां ऐसी मिलेंगी आपको जो मैंने बातचीत करी जो ऑनलाइन सामान के लिए अलग कपड़े बनाती हैं क्वालिटी के हिसाब से और जो शोरूम पर होते हैं वह क्वालिटी अलग बनाती है हो सकता है शोरूम पर जो महंगे कपड़े भेजती हैं वह उसका जो है कपड़े का स्तर काफी अच्छा हो और जो ऑनलाइन होती है उसकी क्वालिटी में का दीपक हो सकता है यह बहुत बड़े बड़े ब्रांड वाले भी ऐसा करते हैं और तीसरा कारण यह हो सकता है कि बहुत सारे ऐसे समान होते हैं जो कुछ पीस पड़े रह जाते हैं और वह नहीं निकल पाते हैं या उनके स्थाई जी एक ही पढ़ा होता है मान लीजिए कि जींस की पेंट की कमर की साइज मात्र 32 पड़ा है और बाकी साइज नहीं पढ़े हैं तो उसको भेजना जरा मुश्किल हो जाता है शोरूम में मालूम किसी की हजार ब्रांच हैं और 1000 ब्रांच अजमेर के पीछे अलग-अलग रखे हुए हैं पीछे तो आप देखते हैं कि कहीं मॉल वाले या कहीं दुकान वाले तेल लगाकर बेचने की कोशिश करते हैं तो भी रह जाता है तो वह क्या करते हैं कि ऑनलाइन पर या किसी को होलसेलर को भेज देते हैं वहां ऑनलाइन पर औने पौने दाम में बेच देता है कई बार आपने देखा होगा जूतों के साथ भी ऐसा है मानो एक ही जूता रह गया के पास आठ नंबर का या कुछ पीस रह गए तो उनके जिनके शोरूम से ज्यादा होते हैं ब्रांच जाते हैं उनके वह क्वांटिटी सारे को जोड़ लेते हैं तो इकट्ठी हो जाती है वह तो तरीका है उससे भी रेट डाउन आ जाते हैं और बिक जाता है और एक और कारण हो सकता है इसके अंदर की वह नकली भी हो समान कई बार ऐसा होता है कि हम जिसे असली समझते हैं ऑनलाइन पर वह नकली होते हैं और उसकी कीमत बहुत कम होती है लेकिन ब्रांड के नाम पर दिख जाते हैं देखिए भी कारण हो सकता है इन्हीं सब कारण है जिसकी वजह से ऑनलाइन पर सामान सस्ता मिलता है धन्यवाद
Namaskaar doston basane kee onalain khareede jaane vaale saamaan baajaar kee tulana mein saste kyon hote hain to usake kaee kaaran hote hain isalie hamen sasta milata hai pahale to ek to laagat kee kamee ho jaatee hai isakee vajah se saamaan sasta ho jaata hai agar koee vyakti dukaan kholata hai ya godaam kaheen rakhata hai to usaka kiraaya dena padata hai vahaan karmachaaree rakhane padate hain vahaan roj ka bijalee ka kharcha yah saaree cheejen aatee hain agar koee ghar se vyaapaar too karata hai ya maatr godaam hee rakhata hai to kharchon mein kaaphee katautee hotee hai to yah kaaran hai isakee vajah se kar saamaan sasta ho jaata hai doosara ek kaaran yah hota hai ki kaee kampaniyaan aisee milengee aapako jo mainne baatacheet karee jo onalain saamaan ke lie alag kapade banaatee hain kvaalitee ke hisaab se aur jo shoroom par hote hain vah kvaalitee alag banaatee hai ho sakata hai shoroom par jo mahange kapade bhejatee hain vah usaka jo hai kapade ka star kaaphee achchha ho aur jo onalain hotee hai usakee kvaalitee mein ka deepak ho sakata hai yah bahut bade bade braand vaale bhee aisa karate hain aur teesara kaaran yah ho sakata hai ki bahut saare aise samaan hote hain jo kuchh pees pade rah jaate hain aur vah nahin nikal paate hain ya unake sthaee jee ek hee padha hota hai maan leejie ki jeens kee pent kee kamar kee saij maatr 32 pada hai aur baakee saij nahin padhe hain to usako bhejana jara mushkil ho jaata hai shoroom mein maaloom kisee kee hajaar braanch hain aur 1000 braanch ajamer ke peechhe alag-alag rakhe hue hain peechhe to aap dekhate hain ki kaheen mol vaale ya kaheen dukaan vaale tel lagaakar bechane kee koshish karate hain to bhee rah jaata hai to vah kya karate hain ki onalain par ya kisee ko holaselar ko bhej dete hain vahaan onalain par aune paune daam mein bech deta hai kaee baar aapane dekha hoga jooton ke saath bhee aisa hai maano ek hee joota rah gaya ke paas aath nambar ka ya kuchh pees rah gae to unake jinake shoroom se jyaada hote hain braanch jaate hain unake vah kvaantitee saare ko jod lete hain to ikatthee ho jaatee hai vah to tareeka hai usase bhee ret daun aa jaate hain aur bik jaata hai aur ek aur kaaran ho sakata hai isake andar kee vah nakalee bhee ho samaan kaee baar aisa hota hai ki ham jise asalee samajhate hain onalain par vah nakalee hote hain aur usakee keemat bahut kam hotee hai lekin braand ke naam par dikh jaate hain dekhie bhee kaaran ho sakata hai inheen sab kaaran hai jisakee vajah se onalain par saamaan sasta milata hai dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ते क्यों होते हैं,ऑनलाइन दाम इतने कम होते कैसे हैं,ऑनलाइन दाम इतने कम होते कैसे हैं
  • ऑनलाइन दाम इतने कम होते कैसे हैं, Online सामान खरीदने के क्या क्या लाभ होते है,सबसे सस्ता ऑनलाइन शॉपिंग
  • Online सामान खरीदने के क्या क्या लाभ होते है,ऑनलाइन दाम इतने कम होते कैसे हैं,ऑनलाइन खरीदे जाने वाले सामान बाजार की तुलना में सस्ते क्यों होते हैं
URL copied to clipboard