#undefined

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:38
पेट्रोल और डीजल की कीमतें दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है दूध की कीमत ₹40 के लगभग है तो बिल्कुल दूध पीने से सेहत अच्छी होगी और साइकिल चलाने से 20 मतों से होगी तो बाइक चलाना कोई जरूरी नहीं है बाइक बाइक की जगह साइकिल का इस्तेमाल आराम से कर सकते हैं ऑफिस में रहेंगे और घर में ₹100 की पेट्रोल की जगह दूध में नष्ट करना तो दूर वाले सारे उस दूध गोपी सकेंगे भी एक अच्छा नहीं लगा
Petrol aur deejal kee keematen din pratidin badhatee ja rahee hai doodh kee keemat ₹40 ke lagabhag hai to bilkul doodh peene se sehat achchhee hogee aur saikil chalaane se 20 maton se hogee to baik chalaana koee jarooree nahin hai baik baik kee jagah saikil ka istemaal aaraam se kar sakate hain ophis mein rahenge aur ghar mein ₹100 kee petrol kee jagah doodh mein nasht karana to door vaale saare us doodh gopee sakenge bhee ek achchha nahin laga

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:44
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पीकर साइकिल चलाना बेहतर नहीं होगा आपकी क्या राय है तो फ्रेंड से बात सही है कि हम लोग दूध पी ले ताकतवर हो जाएं और साइकिल चला ले लेकिन अब हर जगह साइकिल से नहीं जा सकते हैं कभी कभी किसी किसी को 30 से 40 किलोमीटर 5050 किलोमीटर तक की दूरी तय करना पड़ता है अपनी ड्यूटी जाने के लिए यह कोई काम के लिए तो आप साइकिल 40 50 किलोमीटर नहीं चला पाएंगे ना आप को बाइक चलानी पड़ेगी और पेट्रोल आपको डलवाना ही पड़ेगा तो जिस को एक 2 किलोमीटर 4 किलोमीटर जाना है तो कोई बात नहीं पर ज्यादा दूरी क्लिप आप को बाइक चलानी ही पड़ेगी इसलिए पेट्रोल का यूज भी आपको करना पड़ेगा धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka prashn hai jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareeda ja sakata hai to kya doodh peekar saikil chalaana behatar nahin hoga aapakee kya raay hai to phrend se baat sahee hai ki ham log doodh pee le taakatavar ho jaen aur saikil chala le lekin ab har jagah saikil se nahin ja sakate hain kabhee kabhee kisee kisee ko 30 se 40 kilomeetar 5050 kilomeetar tak kee dooree tay karana padata hai apanee dyootee jaane ke lie yah koee kaam ke lie to aap saikil 40 50 kilomeetar nahin chala paenge na aap ko baik chalaanee padegee aur petrol aapako dalavaana hee padega to jis ko ek 2 kilomeetar 4 kilomeetar jaana hai to koee baat nahin par jyaada dooree klip aap ko baik chalaanee hee padegee isalie petrol ka yooj bhee aapako karana padega dhanyavaad

Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:00
ऑफिस वालों की जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदने खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पीकर साइकिल चलाना था तो नहीं है या पेट्रोल महंगा हो गया तो इसमें राज्य सरकार या केंद्र सरकार दोनों ही इसकी जिम्मेदार है अगर आप कोई लंबे यानी की मोटरसाइकिल से आपका ऑफिस घाट जहां पर आप काम करते हुए थोड़ा दूर है तो आप साइकिल से टाइम पर नहीं पहुंच पाते हैं इसलिए आपको मोटरसाइकिल की जरूरत तो पड़ेगी जो मेल चैन से अगर आप नजदीक में कोई काम कर रहे हैं तो आप साइकिल का उपयोग कर सकते हैं अगर कुछ 30 या 25 किलोमीटर दूर जाना है तो आप साइकिल की मोटरसाइकिल की जरूरत रहेगी इसलिए साइकिल का काम साइकिल करेंगी उमा शंकर उमा शंकर जी
Ophis vaalon kee jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareedane khareeda ja sakata hai to kya doodh peekar saikil chalaana tha to nahin hai ya petrol mahanga ho gaya to isamen raajy sarakaar ya kendr sarakaar donon hee isakee jimmedaar hai agar aap koee lambe yaanee kee motarasaikil se aapaka ophis ghaat jahaan par aap kaam karate hue thoda door hai to aap saikil se taim par nahin pahunch paate hain isalie aapako motarasaikil kee jaroorat to padegee jo mel chain se agar aap najadeek mein koee kaam kar rahe hain to aap saikil ka upayog kar sakate hain agar kuchh 30 ya 25 kilomeetar door jaana hai to aap saikil kee motarasaikil kee jaroorat rahegee isalie saikil ka kaam saikil karengee uma shankar uma shankar jee

Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:40
यह है कि जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में दूध पी लो दूध खरीदा जा सकता है तो 6 दूध पीकर साइकिल चलाना बेहतर नहीं होगा मेरे सबसे साइकिल चलाना चाहता है ज्यादा दूर जाना है तो वहां पर आप अपनी बाइक का यूज़ करें और साइकिल चलाएंगे तो प्रदूषण कम हो गई जिसके द्वारा पर्यावरण बहुत अच्छा रहेगा मेरे हिसाब से चढ़कर खराब करी अच्छा ही कर रही है हमारे देश में भी बदलाव होगा फिर से साइकिल देखे हुए हर कोई स्वस्थ होगा मेंटेन होगा हेल्थ वेल्थ सब पर्फेक्ट रहेगी यहां पर हर समय के लिए मैं हर किसी के लिए नहीं
Yah hai ki jab 1 leetar petrol kee keemat mein doodh pee lo doodh khareeda ja sakata hai to 6 doodh peekar saikil chalaana behatar nahin hoga mere sabase saikil chalaana chaahata hai jyaada door jaana hai to vahaan par aap apanee baik ka yooz karen aur saikil chalaenge to pradooshan kam ho gaee jisake dvaara paryaavaran bahut achchha rahega mere hisaab se chadhakar kharaab karee achchha hee kar rahee hai hamaare desh mein bhee badalaav hoga phir se saikil dekhe hue har koee svasth hoga menten hoga helth velth sab parphekt rahegee yahaan par har samay ke lie main har kisee ke lie nahin

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
1:40
हेलो गूगल हेलो आप सब ठीक होंगे आप मेरे मित्र ने किसी ने पूछा है जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पी कर सके चलाना बेहतर रहेगा दीदी आजकल के समय में हम खुद ही अपने आप को इतना डिपेंड कर चुके हैं बाकी स्त्रोतों के ऊपर इसकी वजह से अब हमें यह चीजें चुगने लगे हैं तकलीफ देने लगी है कहीं ना कहीं बाकी साइकिल तो हमेशा से शुरू से ही बहुत अच्छा विकल्प रहा है विकल्प है जिस वक्त ऊर्जा की बचत होती है जिसमें आप तो पेट्रोल की भी बचत होती है पैसों की भी बचत होती है और आपका क्लाइमेट को भी आप बहुत अच्छे सपने लेकिन अगर बात अब मुद्दे पर आते हैं दूध पीकर अगर आप से कुछ आता है बहुत अच्छी बात है आपकी खुद की सेहत के लिए बहुत अच्छा मैं तो यही कहूंगा कि आप नजदीकी कहीं पर भी दो से 3 किलोमीटर है तो अपनी साइकिल का इस्तेमाल करें जो कि बहुत अच्छा रहेगा आपके पर्यावरण के लिए आपकी जेब के लिए भी और आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा रहेगा दूसरा कर बात करें जिस हिसाब से हम चीजों पे डिपेंड होना शुरू हो गए मेरे घर से 15 किलोमीटर से जाता है हम चाहते हैं तो हमें बाइक की जरूरत पड़ेगी या गाड़ी की जरूरत पड़ती है क्योंकि हमने आपको उसी हिसाब से 8 घंटे के लिए तो आपका अपना कॉन्सेप्टेकल लेकिन जब आप इन चीजों पर डिपेंड हो चुके हैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट नहीं यूज करते हैं जब कुछ ऐसा ही दिक्कत आती है आपको तो सबसे बेस्ट है यही है कि आप जो है ज्यादा पेट्रोल देना बंद कर दे भाई चलाना बंद कर दे नहीं तो आपको उसका इस्तेमाल तो करना पड़ेगा यही कुछ तकलीफ है मेरे जो मैंने आपसे शेयर की है तो आपको पसंद आए तो लाइक
Helo googal helo aap sab theek honge aap mere mitr ne kisee ne poochha hai jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareeda ja sakata hai to kya doodh pee kar sake chalaana behatar rahega deedee aajakal ke samay mein ham khud hee apane aap ko itana dipend kar chuke hain baakee stroton ke oopar isakee vajah se ab hamen yah cheejen chugane lage hain takaleeph dene lagee hai kaheen na kaheen baakee saikil to hamesha se shuroo se hee bahut achchha vikalp raha hai vikalp hai jis vakt oorja kee bachat hotee hai jisamen aap to petrol kee bhee bachat hotee hai paison kee bhee bachat hotee hai aur aapaka klaimet ko bhee aap bahut achchhe sapane lekin agar baat ab mudde par aate hain doodh peekar agar aap se kuchh aata hai bahut achchhee baat hai aapakee khud kee sehat ke lie bahut achchha main to yahee kahoonga ki aap najadeekee kaheen par bhee do se 3 kilomeetar hai to apanee saikil ka istemaal karen jo ki bahut achchha rahega aapake paryaavaran ke lie aapakee jeb ke lie bhee aur aapake svaasthy ke lie bahut achchha rahega doosara kar baat karen jis hisaab se ham cheejon pe dipend hona shuroo ho gae mere ghar se 15 kilomeetar se jaata hai ham chaahate hain to hamen baik kee jaroorat padegee ya gaadee kee jaroorat padatee hai kyonki hamane aapako usee hisaab se 8 ghante ke lie to aapaka apana konseptekal lekin jab aap in cheejon par dipend ho chuke hain pablik traansaport nahin yooj karate hain jab kuchh aisa hee dikkat aatee hai aapako to sabase best hai yahee hai ki aap jo hai jyaada petrol dena band kar de bhaee chalaana band kar de nahin to aapako usaka istemaal to karana padega yahee kuchh takaleeph hai mere jo mainne aapase sheyar kee hai to aapako pasand aae to laik

vijay singh Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए vijay जी का जवाब
Social worker in india
1:15
प्रणाम नानी आप का स्वाद इस प्रकार से 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पीकर साइकिल चलाना वेदर नहीं रहेगा तो दोस्तों आपके सवाल का उत्तर इस प्रकार से है जो कि वर्तमान समय में डीजल और पेट्रोल और गैस सिलेंडर के दाम में बेतहाशा वृद्धि होने की वजह से आम आदमी को साधन चलाना बहुत ही मुश्किल हो गया है इसलिए अगर 1 लीटर पेट्रोल की कीमत जिगर तो कर लो हमें दूध मिलता है तो हमें दूध पीकर साइकिल चलाना चाहिए जिससे यह तो हमारा शरीर सही रे और एक हमारे शरीर की एक्सरसाइज हो जाएगी इसलिए अगर और साइकिल चलाने से तो अच्छा है कल चलाना ही अच्छा रहेगा धन्यवाद बस तुम खुश रहो
Pranaam naanee aap ka svaad is prakaar se 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo khareeda ja sakata hai to kya doodh peekar saikil chalaana vedar nahin rahega to doston aapake savaal ka uttar is prakaar se hai jo ki vartamaan samay mein deejal aur petrol aur gais silendar ke daam mein betahaasha vrddhi hone kee vajah se aam aadamee ko saadhan chalaana bahut hee mushkil ho gaya hai isalie agar 1 leetar petrol kee keemat jigar to kar lo hamen doodh milata hai to hamen doodh peekar saikil chalaana chaahie jisase yah to hamaara shareer sahee re aur ek hamaare shareer kee eksarasaij ho jaegee isalie agar aur saikil chalaane se to achchha hai kal chalaana hee achchha rahega dhanyavaad bas tum khush raho

sanjay kumar pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए sanjay जी का जवाब
Writer, Teacher, motivational youtuber
3:00
सवाल यह है कि जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पीकर साइकिल चलाना बेहतर नहीं रहेगा आपकी क्या यह देखिए यह तो सेहत के लिए बहुत ही अच्छी बात है कि हम साइकिल चलाएं दूध पिए साइकिल चलाएं इससे अच्छी बात ही नहीं हो सकती है सेहत के लिए बहुत जरुरी हो गया है यह तो यह समय का तकाजा है भी कि अधिक से अधिक लोग साइकिल चलाई लेकिन हमारे भारतवर्ष में विडंबना है यह की साइकिल जय भोले स्टेटस सिंबल हो गया साइकिल चलाना मतलब कि आप आपका स्टैंडर्ड कब माना जाएगा आपको तो ही नजर आएगी समाज में आपको लोग उपस्थित नजर से देखेंगे आपकी इज्जत नहीं होगी यह यही बहुत बड़ी विडंबना है जैसा जबकि ऐसा मतलब अन्य विकसित देशों में यह स्थिति नहीं है चाइना जापान में अब चाहिए तो वहां पर बकायदा ऑफिसों के पास टैलेंट बनाए गए हैं और अच्छे अच्छे लोग मतलब वह साइकिल से जाना पसंद करते हैं और जाते हैं यह तो बहुत ही इन्वायरमेंट फ्रेंडली है यह बात पेट्रोल की बचत भी होगी और हमारा सेहत भी सही रहेगा हमें कुछ एक्स्ट्रा करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी लेकिन इतना आसान नहीं है यह भारत में होना पेट्रोल पॉ पेट्रोल बचाने के लिए नहीं बल्कि एक मुहिम की तरह हो इससे हमारे स्टेटस पर प्रभाव ना पड़े इसका यह ट्रेंड ऐसा हो जाना चाहिए कि इससे आपका स्टेटस बड़े साइकिल चलाने से आपको तो ही नहीं मतलब सम्मान लगे कि मैं एक सम्मानित काम कर रहा हूं मैं अच्छा काम कर रहा हूं तब जाकर यह लोगों में आएगी का की सेटिंग चलाना ही ज्यादा बेहतर है बाइक और बताने गाड़ियों के मतलब कार चलाने के अपेक्षा तब जाकर यहां दूध पीकर गाड़ी चलाना ज्यादा बेहतर माना जाएगा लता यहां तो लोग है कि झूठे दिखावे में लाखों-करोड़ों फूंक देते हैं और एक गरीब को एक वक्त का खाना भी खिलाने में परहेज करते हैं ऐसे ऐसे लोगों को मैंने देखा है और देखता हूं हर रोज देखता हूं कि लोग फालतू की शादी में विवाह में खर्च कर देते हैं लेकिन
Savaal yah hai ki jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareeda ja sakata hai to kya doodh peekar saikil chalaana behatar nahin rahega aapakee kya yah dekhie yah to sehat ke lie bahut hee achchhee baat hai ki ham saikil chalaen doodh pie saikil chalaen isase achchhee baat hee nahin ho sakatee hai sehat ke lie bahut jaruree ho gaya hai yah to yah samay ka takaaja hai bhee ki adhik se adhik log saikil chalaee lekin hamaare bhaaratavarsh mein vidambana hai yah kee saikil jay bhole stetas simbal ho gaya saikil chalaana matalab ki aap aapaka staindard kab maana jaega aapako to hee najar aaegee samaaj mein aapako log upasthit najar se dekhenge aapakee ijjat nahin hogee yah yahee bahut badee vidambana hai jaisa jabaki aisa matalab any vikasit deshon mein yah sthiti nahin hai chaina jaapaan mein ab chaahie to vahaan par bakaayada ophison ke paas tailent banae gae hain aur achchhe achchhe log matalab vah saikil se jaana pasand karate hain aur jaate hain yah to bahut hee invaayarament phrendalee hai yah baat petrol kee bachat bhee hogee aur hamaara sehat bhee sahee rahega hamen kuchh ekstra karane kee jaroorat hee nahin padegee lekin itana aasaan nahin hai yah bhaarat mein hona petrol po petrol bachaane ke lie nahin balki ek muhim kee tarah ho isase hamaare stetas par prabhaav na pade isaka yah trend aisa ho jaana chaahie ki isase aapaka stetas bade saikil chalaane se aapako to hee nahin matalab sammaan lage ki main ek sammaanit kaam kar raha hoon main achchha kaam kar raha hoon tab jaakar yah logon mein aaegee ka kee seting chalaana hee jyaada behatar hai baik aur bataane gaadiyon ke matalab kaar chalaane ke apeksha tab jaakar yahaan doodh peekar gaadee chalaana jyaada behatar maana jaega lata yahaan to log hai ki jhoothe dikhaave mein laakhon-karodon phoonk dete hain aur ek gareeb ko ek vakt ka khaana bhee khilaane mein parahej karate hain aise aise logon ko mainne dekha hai aur dekhata hoon har roj dekhata hoon ki log phaalatoo kee shaadee mein vivaah mein kharch kar dete hain lekin

Dhiraj Gurjar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dhiraj जी का जवाब
Unknown
1:19

pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
0:49
कॉलेज अमेठी में पेट्रोल की कीमत में दो खरीदा जा सकता है तो क्या दूध पीकर साइकिल चलाना बेहतर नहीं होगा आपकी राय क्या है अच्छी बात है और भी अच्छी बात है क्योंकि पर्यावरण प्रदूषण के हम बच्चे हैं और हमारी सेहत के लिए अच्छा होगा लेकिन अगर ज्यादा दूर दूर जाना भी जरूरत पड़ेगी और पेट्रोल की जानी पड़ेगी तुम्हारी रही है अगर आपको जाना है तो टाइम बहुत कम है जिसकी वजह तो मैं बाइक का कमाल करना ही पड़ेगा उम्मीद करती हूं कॉल करो
Kolej amethee mein petrol kee keemat mein do khareeda ja sakata hai to kya doodh peekar saikil chalaana behatar nahin hoga aapakee raay kya hai achchhee baat hai aur bhee achchhee baat hai kyonki paryaavaran pradooshan ke ham bachche hain aur hamaaree sehat ke lie achchha hoga lekin agar jyaada door door jaana bhee jaroorat padegee aur petrol kee jaanee padegee tumhaaree rahee hai agar aapako jaana hai to taim bahut kam hai jisakee vajah to main baik ka kamaal karana hee padega ummeed karatee hoon kol karo

India is Great Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए India जी का जवाब
Master Chef in House
1:24
देखिए मेरा राय दोनों तरफ ही है मान लीजिए अगर आप कोई काम से जा रहे हो आप को समय से जाना है तो वहां पर आप हो गई अभी 2 किलो दूध पी लेंगे 1 किलो पेट्रोल के जगह पर आप तो सनम साइकिल से चले जाएंगे तो समझ लो कि 1 किलो पेट्रोल 1 लीटर पेट्रोल में कितना किलोमीटर जाता अगर आपके पास में बाइक है तभी तो समझ लीजिए कि मिनिमम मैक्सिमम दोनों मिलाकर के 50 किलोमीटर 50 किलोमीटर आप कितने समय में पहुंच सकता अपनी बाइक से और आप यू देखो क्या अपनी साइकिल से कितने समय पहुंचेगी कहीं ऐसा ना हो गई 50 किलोमीटर आप दूध पी कर के अगर आप चलो टीवी में चलने से और समय एक तो आपका बर्बाद हो रहा क्योंकि साइकिल और बाइक में काफी फर्क होता है दूसरे चाहिए मनाया साइकिल चलाना अच्छा होता है शरीर के लिए भी अच्छा होता लेकिन वह इस तरह से जो आप रोज नेवला करना तो कहना क्यों मुझे लगता है कि नुकसान सी है और अगर आप बिंदास नहीं जा रहे हो और आपको इतनी जरूरत नहीं पड़ती है कभी बाजार गया आप कुछ ऐसी चीज क्यों के लिए तो फिर बेटर यही रहेगा कि आप बिल्कुल साइकिल 42 2 लीटर दूध दे करके यह सबसे ज्यादा अच्छा आईडिया बहुत बढ़िया है यह पहली बार मुझे सुझाव मिला और हमने अपनी तरफ से अपना राय दे दिया है आप सभी जरूर दें धन्यवाद
Dekhie mera raay donon taraph hee hai maan leejie agar aap koee kaam se ja rahe ho aap ko samay se jaana hai to vahaan par aap ho gaee abhee 2 kilo doodh pee lenge 1 kilo petrol ke jagah par aap to sanam saikil se chale jaenge to samajh lo ki 1 kilo petrol 1 leetar petrol mein kitana kilomeetar jaata agar aapake paas mein baik hai tabhee to samajh leejie ki minimam maiksimam donon milaakar ke 50 kilomeetar 50 kilomeetar aap kitane samay mein pahunch sakata apanee baik se aur aap yoo dekho kya apanee saikil se kitane samay pahunchegee kaheen aisa na ho gaee 50 kilomeetar aap doodh pee kar ke agar aap chalo teevee mein chalane se aur samay ek to aapaka barbaad ho raha kyonki saikil aur baik mein kaaphee phark hota hai doosare chaahie manaaya saikil chalaana achchha hota hai shareer ke lie bhee achchha hota lekin vah is tarah se jo aap roj nevala karana to kahana kyon mujhe lagata hai ki nukasaan see hai aur agar aap bindaas nahin ja rahe ho aur aapako itanee jaroorat nahin padatee hai kabhee baajaar gaya aap kuchh aisee cheej kyon ke lie to phir betar yahee rahega ki aap bilkul saikil 42 2 leetar doodh de karake yah sabase jyaada achchha aaeediya bahut badhiya hai yah pahalee baar mujhe sujhaav mila aur hamane apanee taraph se apana raay de diya hai aap sabhee jaroor den dhanyavaad

Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदा जा सकता है तो क्या 2 लीटर दूध पीकर साइकिल से चलना चलना तो एक तार्किक रूप से तीन है लेकिन साइकिल की कुछ महिलाएं की गति बहुत धीमी गति और उस लोगों को काम के लिए कहीं पर भी दूर दूर दूर दूर तक प्रवास करना पड़ता है इसलिए वैज्ञानिक उसकी जरूरत जरूरत निर्माण में पहले के जमाने में साइकिल का यूज किया जाता को चलाना सेहत के लिए अच्छा सा प्रदूषण नहीं होता यह सब बात सही है लेकिन एक लिमिटेड अंतर तक ऐसा करना जरूरी चाइना में ऐसा किया जाता है तो उसकी रिजेक्ट प्रदूषण के संबंध में एक्सीडेंट के संबंध में सार्वजनिक स्वच्छता और संस्था के डांस अच्छे सकारात्मक परिणाम दिखाई नहीं है अपने शहर में और गांव में साइकिल चलाना बिल्कुल अवश्य दें लेकिन इस तरह की आदत नहीं हमें डालनी चाहिए कि कभी पैदल चलता ही नहीं सिर्फ भी कल पर ऑटोमेटिक चलने वाली गाड़ियों पर चलता है वह झूठा तो निश्चित रूप से इस केस को शारीरिक समस्या आएंगे लेकिन यह सब लोग जो है वस्तुओं के और भौतिक सुखों के इतने मोह जाल में फंसे हुए हैं कि उम्र कम कब हुई थी होती दिखाई दे रही है लोग मर रहे हर्ट अटैक से मर गए कम उम्र में डायबिटीज कैंसर जैसी पड़ी की बीमारियां मिलता इस कई बीमारियों के शिकार होते जा रहे हैं गुर्जर भी चलना चाहिए और आंतरिक में ज्यादा हो तो साइकिल चलाना चाहिए कमेंट की बात का मैं घर पर नहीं हूं इस तरीके के लोकल नंबर आनी चाहिए और फिल्म उसके लिए उनकी इच्छाशक्ति है लेकिन शायद गांव का हो या दिल्ली का पेट्रोल वालों से बहुत डरता है सारी दुनिया पेट्रोल पर चल रहे और उसके पैसे में प्रस्तुत करने से भी शामिल है सभी के परसेंटेज से मिले हैं मुख्यमंत्री से लेकर सब केंद्र सरकार हो गया और बहुत सारी आर्थिक संबंध बने हुए हैं इसलिए सरकार उसके ऊपर कर कोई पर्याय भी नहीं है कई लोगों ने दावे किए थे कि में पेट्रोल डीजल के भाव चलाई जा सकती लेकिन वो करीब गायब हुए मालूम है और यह पेट्रोल वाली अर्थव्यवस्था और इसके जो बड़े माफिया है वैसी बातें होने लगी रहती है लेकिन इच्छाशक्ति होगा सरकार को सुनिश्चित केजरीवाल ने दिल्ली में सब कुछ किया है सर उसे हो सकता है
Jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareeda ja sakata hai to kya 2 leetar doodh peekar saikil se chalana chalana to ek taarkik roop se teen hai lekin saikil kee kuchh mahilaen kee gati bahut dheemee gati aur us logon ko kaam ke lie kaheen par bhee door door door door tak pravaas karana padata hai isalie vaigyaanik usakee jaroorat jaroorat nirmaan mein pahale ke jamaane mein saikil ka yooj kiya jaata ko chalaana sehat ke lie achchha sa pradooshan nahin hota yah sab baat sahee hai lekin ek limited antar tak aisa karana jarooree chaina mein aisa kiya jaata hai to usakee rijekt pradooshan ke sambandh mein ekseedent ke sambandh mein saarvajanik svachchhata aur sanstha ke daans achchhe sakaaraatmak parinaam dikhaee nahin hai apane shahar mein aur gaanv mein saikil chalaana bilkul avashy den lekin is tarah kee aadat nahin hamen daalanee chaahie ki kabhee paidal chalata hee nahin sirph bhee kal par otometik chalane vaalee gaadiyon par chalata hai vah jhootha to nishchit roop se is kes ko shaareerik samasya aaenge lekin yah sab log jo hai vastuon ke aur bhautik sukhon ke itane moh jaal mein phanse hue hain ki umr kam kab huee thee hotee dikhaee de rahee hai log mar rahe hart ataik se mar gae kam umr mein daayabiteej kainsar jaisee padee kee beemaariyaan milata is kaee beemaariyon ke shikaar hote ja rahe hain gurjar bhee chalana chaahie aur aantarik mein jyaada ho to saikil chalaana chaahie kament kee baat ka main ghar par nahin hoon is tareeke ke lokal nambar aanee chaahie aur philm usake lie unakee ichchhaashakti hai lekin shaayad gaanv ka ho ya dillee ka petrol vaalon se bahut darata hai saaree duniya petrol par chal rahe aur usake paise mein prastut karane se bhee shaamil hai sabhee ke parasentej se mile hain mukhyamantree se lekar sab kendr sarakaar ho gaya aur bahut saaree aarthik sambandh bane hue hain isalie sarakaar usake oopar kar koee paryaay bhee nahin hai kaee logon ne daave kie the ki mein petrol deejal ke bhaav chalaee ja sakatee lekin vo kareeb gaayab hue maaloom hai aur yah petrol vaalee arthavyavastha aur isake jo bade maaphiya hai vaisee baaten hone lagee rahatee hai lekin ichchhaashakti hoga sarakaar ko sunishchit kejareevaal ne dillee mein sab kuchh kiya hai sar use ho sakata hai

umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:53
आपका सोच बहुत ही सही है इससे तो हमारे शरीर को लाभ ही लाभ मिलेगा अगर साइकिल हम लोग चलाएं तो हमारी अभी कम लगेगी क्योंकि शरीर का व्यायाम होता है सर कल से लेकिन आज के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में गाड़ी का भी महत्व उतना ही ज्यादा कर गाड़ी नारायण कितने का मटन जाने जाते हैं आज के समय में इंसान के पास समय नहीं है उसको कोई भी काम करने के लिए इतनी भी जल्दी हो जाओ इतने अच्छे हैं सब लोग इसी लिए गाड़ी का सहारा लेते हैं कि मेरा कब जल्दी से निपट गया तो कार्ड की फोटो कॉपी ना कर सकते
Aapaka soch bahut hee sahee hai isase to hamaare shareer ko laabh hee laabh milega agar saikil ham log chalaen to hamaaree abhee kam lagegee kyonki shareer ka vyaayaam hota hai sar kal se lekin aaj ke is bhaag daud bharee jindagee mein gaadee ka bhee mahatv utana hee jyaada kar gaadee naaraayan kitane ka matan jaane jaate hain aaj ke samay mein insaan ke paas samay nahin hai usako koee bhee kaam karane ke lie itanee bhee jaldee ho jao itane achchhe hain sab log isee lie gaadee ka sahaara lete hain ki mera kab jaldee se nipat gaya to kaard kee photo kopee na kar sakate

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh जी का जवाब
Unknown
2:06
आपका जो प्रश्न पूछा जा रहा है बेशक सही है और इसका असर भी हो सकता है क्योंकि हम 1 लीटर जो पेट्रोल पर आते हैं हम 2 किलो दूध 2 लीटर दूध पी के क्या उन साइकिल चलाएंगे लेकिन हमारे पास जो मेन चीज है इस भागदौड़ की जिंदगी में जो हमारा मेन नाचे कि हम समय को बचाकर उस समय का यूज़ करें जिसे हमें अगर कोई दूरी तय करनी है तो हम साइकिल से 1 घंटे में दूरी तय करते हैं वही हम 10 से 15 मिनट में दूरी तय कर लेते हैं और अगर देखा जाए तो हमें 50 किलोमीटर का साइकिल से यात्रा करनी हो तो हमें बहुत सारे समय लग जाएंगे कई घंटों लग जाएंगे जिससे कि हम बहुत ज्यादा परेशान हो जाएंगे मगर बाइक का सहारा ने तो आप अगर 40 से 45 किलोमीटर पर आवर के हिसाब से भी चल रहे हैं तो आपको 4040 45 मिनट लगेंगे 50 मैक्सिमम मानकर चलें कि अपने फोन घंटा लगेगा आपको पहुंचने में वही चीज है कि आप थोड़ा सा स्पीड और बनाएंगे तो आप किस चलने के अनुसार है आप की क्या स्पीड है कोई 3035 चलते हैं कोई 4045 कोई 470 की एवरेज में चलते हैं पर हाउ आर के हिसाब से तो एक आपके अनुसार है कि आपकी शॉप से चलेंगे क्योंकि अब 50 किलोमीटर है तो आप अगर 50 किलोमीटर पर आवर के साथ में चलेंगे 1 घंटे में अब 50 किलोमीटर दूरी तय कर लेंगे तू क्या है कि बस हमें समय बताने के लिए हमारी इस तरह की जो हमारी सुविधाएं मिल रही हमें अलग अलग तरीके के साधन मिल रहा है जैसे हम डीजे बाइक हो गई बाइक के साथ में फोर व्हीलर हो गई उसके साथ हम हम अगर एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश में जाना चाहते हैं बहुत अर्जेंट है आज ही पहुंचना है तो हम फ्लाइट का सहारा लेते हैं ट्रेन का सहारा लेते बहुत सारे ऐसे साधन है जो हम कर सकते हैं लेकिन आप अगर ऐसे करेंगे तो हां आप चलाना चाहते हैं तो कुछ दूरी ऐसे है कि आप 2 किलोमीटर 3 किलोमीटर या मैक्सिमम 5 किलोमीटर की दूरी है तो आप उसे साइकिल का ही चावल ले और एक समय निकालने कि मैं इस टाइम में एक काम करूंगा और अपनी साइकिल से ही इसकी यात्रा करूंगा तो आपके लिए बेस्ट होगा अगर आपके पास समय है तो आप कुछ भी कर सकते हैं बेस्ट है
Aapaka jo prashn poochha ja raha hai beshak sahee hai aur isaka asar bhee ho sakata hai kyonki ham 1 leetar jo petrol par aate hain ham 2 kilo doodh 2 leetar doodh pee ke kya un saikil chalaenge lekin hamaare paas jo men cheej hai is bhaagadaud kee jindagee mein jo hamaara men naache ki ham samay ko bachaakar us samay ka yooz karen jise hamen agar koee dooree tay karanee hai to ham saikil se 1 ghante mein dooree tay karate hain vahee ham 10 se 15 minat mein dooree tay kar lete hain aur agar dekha jae to hamen 50 kilomeetar ka saikil se yaatra karanee ho to hamen bahut saare samay lag jaenge kaee ghanton lag jaenge jisase ki ham bahut jyaada pareshaan ho jaenge magar baik ka sahaara ne to aap agar 40 se 45 kilomeetar par aavar ke hisaab se bhee chal rahe hain to aapako 4040 45 minat lagenge 50 maiksimam maanakar chalen ki apane phon ghanta lagega aapako pahunchane mein vahee cheej hai ki aap thoda sa speed aur banaenge to aap kis chalane ke anusaar hai aap kee kya speed hai koee 3035 chalate hain koee 4045 koee 470 kee evarej mein chalate hain par hau aar ke hisaab se to ek aapake anusaar hai ki aapakee shop se chalenge kyonki ab 50 kilomeetar hai to aap agar 50 kilomeetar par aavar ke saath mein chalenge 1 ghante mein ab 50 kilomeetar dooree tay kar lenge too kya hai ki bas hamen samay bataane ke lie hamaaree is tarah kee jo hamaaree suvidhaen mil rahee hamen alag alag tareeke ke saadhan mil raha hai jaise ham deeje baik ho gaee baik ke saath mein phor vheelar ho gaee usake saath ham ham agar ek pradesh se doosare pradesh mein jaana chaahate hain bahut arjent hai aaj hee pahunchana hai to ham phlait ka sahaara lete hain tren ka sahaara lete bahut saare aise saadhan hai jo ham kar sakate hain lekin aap agar aise karenge to haan aap chalaana chaahate hain to kuchh dooree aise hai ki aap 2 kilomeetar 3 kilomeetar ya maiksimam 5 kilomeetar kee dooree hai to aap use saikil ka hee chaaval le aur ek samay nikaalane ki main is taim mein ek kaam karoonga aur apanee saikil se hee isakee yaatra karoonga to aapake lie best hoga agar aapake paas samay hai to aap kuchh bhee kar sakate hain best hai

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Raghvendra जी का जवाब
Unknown
2:36
हेलो सर नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है जब 1 लीटर पेट्रोल की कीमत में 2 किलो दूध खरीदा जा सकता है क्या दूध पीकर साइकिल चलाना बेहतर नहीं रहेगा आपकी राय क्या दिखे फ्रेंड आपकी राय बहुत ही बेहतर है उससे मैं सहमत हूं पेट्रोल की कीमत ज्यादा है तो आज दूध पीकर जो है साइकिल चलाई इससे आपका व्यायाम भी होगा और आपका जो पेट्रोल का खर्चा है वह भी बचेगा फ्रेंड यह जो होता है आपकी राय जो है वह कम दूरी के लिए अगर हम मान लेते हैं का में 1 किलोमीटर 2 किलोमीटर जाना है ऐसी 5 किलोमीटर 10 किलोमीटर मान लीजिए बहुत हद है मैं मान लूं कि मुझे 10 किलोमीटर तक साइकिल से जाना है तो आपकी राय कारगर होगी फ्रेंड कोई व्यक्ति को इंसान जो है 10 किलोमीटर तक जा सकता है अगर कहीं हमें दूर जाना होगा तो उसके लिए फ्रेंड हमें गाड़ी की बाई की आवश्यकता हरमीपंती ही पड़ती क्योंकि फ्रेंड साइकिल से हम इतनी दूरी जो है नहीं तय कर सकते जितनी कि हम एक बाइक से ऑफिस फोर व्हीलर से करते हैं तो फ्रेंड पेट्रोल मांगा हो ऐसी सस्ता हो अगर हमारी और सकता है तो हमें उसे लेना ही हो अदर वाइज हम अगर इस प्रकार का नहीं करते हैं तो हमें भाड़े की किराए की सहारे जो है उस स्थान पर पहुंचना पड़ेगा वाली की पेट्रोल की कीमत ज्यादा है और अगर आप कहीं पर जाना चाहते हैं तो आप किसी इंसान से लिफ्ट मांग कर जा सकते हैं या फिर किराए पर गाड़ी करके जा सकते हैं बड़ा करके जा सकते हैं कई रास्ते होते हैं लेकिन अगर आपको मंजिल पर पहुंचना है तो आपको खुद से जाना पड़ेगा या अगर पैसा वो चाहते हैं कि कम लगे तो आपको भाड़े की कि किराए वाली गाड़ी से जाना होगा जैसे कि बस इत्यादि इससे आप का किराया भी कम लगेगा और आप उस स्थान पर पहुंच जाएंगे लेकिन यह जो दूध पीकर साइकिल चलाने वाली बात ही कम समय कम दूरी के लिए फ्रेंड ज्यादा दूरी के लिए यह नहीं हो सकता तो आज फ्रेंड क्या सभी भाजपा पसंद होगा शुक्रिया
Helo sar namaskaar jaisa ki aapaka prashn hai jab 1 leetar petrol kee keemat mein 2 kilo doodh khareeda ja sakata hai kya doodh peekar saikil chalaana behatar nahin rahega aapakee raay kya dikhe phrend aapakee raay bahut hee behatar hai usase main sahamat hoon petrol kee keemat jyaada hai to aaj doodh peekar jo hai saikil chalaee isase aapaka vyaayaam bhee hoga aur aapaka jo petrol ka kharcha hai vah bhee bachega phrend yah jo hota hai aapakee raay jo hai vah kam dooree ke lie agar ham maan lete hain ka mein 1 kilomeetar 2 kilomeetar jaana hai aisee 5 kilomeetar 10 kilomeetar maan leejie bahut had hai main maan loon ki mujhe 10 kilomeetar tak saikil se jaana hai to aapakee raay kaaragar hogee phrend koee vyakti ko insaan jo hai 10 kilomeetar tak ja sakata hai agar kaheen hamen door jaana hoga to usake lie phrend hamen gaadee kee baee kee aavashyakata harameepantee hee padatee kyonki phrend saikil se ham itanee dooree jo hai nahin tay kar sakate jitanee ki ham ek baik se ophis phor vheelar se karate hain to phrend petrol maanga ho aisee sasta ho agar hamaaree aur sakata hai to hamen use lena hee ho adar vaij ham agar is prakaar ka nahin karate hain to hamen bhaade kee kirae kee sahaare jo hai us sthaan par pahunchana padega vaalee kee petrol kee keemat jyaada hai aur agar aap kaheen par jaana chaahate hain to aap kisee insaan se lipht maang kar ja sakate hain ya phir kirae par gaadee karake ja sakate hain bada karake ja sakate hain kaee raaste hote hain lekin agar aapako manjil par pahunchana hai to aapako khud se jaana padega ya agar paisa vo chaahate hain ki kam lage to aapako bhaade kee ki kirae vaalee gaadee se jaana hoga jaise ki bas ityaadi isase aap ka kiraaya bhee kam lagega aur aap us sthaan par pahunch jaenge lekin yah jo doodh peekar saikil chalaane vaalee baat hee kam samay kam dooree ke lie phrend jyaada dooree ke lie yah nahin ho sakata to aaj phrend kya sabhee bhaajapa pasand hoga shukriya

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • 1 लीटर पेट्रोल की कीमत, पेट्रोल की कीमत क्यों बढ़ गई,
URL copied to clipboard