#undefined

bolkar speaker

सोते समय सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए?

Sote Samay Sir Ke Niche Takiye Ko Kyun Rakhna Chaiye
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
0:27
आपका सवाल है कि सोते समय सिर के नीचे तक के कोष में रखना चाहिए तो अगर आप सोते समिति की को रखते हैं तो आपकी गर्दन में दर्द नहीं होता अगर दिन आराम देती है कि नहीं सकते तो आपकी गर्दन में मोच आने किसी समस्या का सामना करना पड़ता है इसलिए सर काट के रखते हैं
Aapaka savaal hai ki sote samay sir ke neeche tak ke kosh mein rakhana chaahie to agar aap sote samiti kee ko rakhate hain to aapakee gardan mein dard nahin hota agar din aaraam detee hai ki nahin sakate to aapakee gardan mein moch aane kisee samasya ka saamana karana padata hai isalie sar kaat ke rakhate hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
सोते समय सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए?Sote Samay Sir Ke Niche Takiye Ko Kyun Rakhna Chaiye
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
2:20
सवाल यह है कि सोते समय सिर के नीचे तकिया को क्यों रखना चाहिए मुलायम तकिया सोने में आराम देता है इसलिए हम सभी को सिर के नीचे तकिया लगा कर सोने की आदत होती है लेकिन क्या आपको पता है कि तकिया लगा कर सोना आपके सेहत के लिए काफी हानिकारक हो सकता है इससे आपको रीड संबंधी समस्याओं के अलावा कील मुहांसों और झुर्रियों तक की समस्या हो सकती है जब हम बिना तकिए के सोते हैं तो हमारी रीड बेहद ही आराम मुद्रा में होती है शरीर प्राकृतिक वक्रता में होता है ऐसे में मोटे तकिए के साथ होने पर पीठ और गर्दन में दर्द होने की समस्या हो सकती है अगर आपके साथ पीठ दर्द की समस्या है तो तत्काल ही तकिए का प्रयोग बंद कर दें इससे कुछ ही दिनों में आपको बेहतर परिणाम मिलेगा मुंहासे और झुर्रियां रोकने में भी मददगार तकिए के कवर पर काफी मात्रा में धूल गंदगी और बैक्टीरिया होते हैं जो चेहरे की त्वचा पर चिपक कर मुहांसों आदि के कारण बनते हैं इसके अलावा तकिए पर हमारे चेहरे काफी आराम की स्थिति में होती है इससे चेहरे पर झुरिया के आने का खतरा भी 30% तक बढ़ जाता है अगर आप मुहांसों और कम उम्र में ही झुर्रियों की समस्या से निजात पाना चाहते हैं तो आज ही तकिए को तकिए पर सोना बंद कर दे याददाश्त बड़ा है जब हम सोते हैं तो हमारा दिमाग आराम की स्थिति में होता है सुबह जब हम मानसिक रूप से तरोताजा होकर उसने तो हमारी मेमोरी सेहतमंद रहती है इससे याददाश्त दुरुस्त रहती है लेकिन ऐसा तभी संभव है जब हमारे सोने की पोजीशन सही हो सही पोजीशन में सोने के लिए घर के नीचे से तकिया हटाना बेहद जरूरी है नींद की आंख वाली थी सुधरती है अगर आप सोचते हैं कि सोते समय मखमली तकिया आपके गर्दन और सिर को सपोर्ट करता है उन्हें आराम देता है और आपकी नींद नींद को बेहतर बनाता है तो आप गलत है एक शोध में बताया गया है कि बिना तकिए के सोने से ना केवल नींद की क्वालिटी सुधरती है बल्कि इनसोम्निया जैसी नींद ना आने वाली समस्याओं से भी छुटकारा यह आप पैरों के रक्त प्रभाव को भी बाधित करता है ह्रदय की धड़कन सोते समय कम हो जाती है पैर नीचे हो तो दूसरी तरफ को वापस हृदय तक आने में कठिनाई होती है और हमारे पैर दर्द की शिकायत हो सकती है ऐसी स्थिति में पैर के नीचे तकिया लगाकर उन्हें ऊंचा करके सोना चाहिए
Savaal yah hai ki sote samay sir ke neeche takiya ko kyon rakhana chaahie mulaayam takiya sone mein aaraam deta hai isalie ham sabhee ko sir ke neeche takiya laga kar sone kee aadat hotee hai lekin kya aapako pata hai ki takiya laga kar sona aapake sehat ke lie kaaphee haanikaarak ho sakata hai isase aapako reed sambandhee samasyaon ke alaava keel muhaanson aur jhurriyon tak kee samasya ho sakatee hai jab ham bina takie ke sote hain to hamaaree reed behad hee aaraam mudra mein hotee hai shareer praakrtik vakrata mein hota hai aise mein mote takie ke saath hone par peeth aur gardan mein dard hone kee samasya ho sakatee hai agar aapake saath peeth dard kee samasya hai to tatkaal hee takie ka prayog band kar den isase kuchh hee dinon mein aapako behatar parinaam milega munhaase aur jhurriyaan rokane mein bhee madadagaar takie ke kavar par kaaphee maatra mein dhool gandagee aur baikteeriya hote hain jo chehare kee tvacha par chipak kar muhaanson aadi ke kaaran banate hain isake alaava takie par hamaare chehare kaaphee aaraam kee sthiti mein hotee hai isase chehare par jhuriya ke aane ka khatara bhee 30% tak badh jaata hai agar aap muhaanson aur kam umr mein hee jhurriyon kee samasya se nijaat paana chaahate hain to aaj hee takie ko takie par sona band kar de yaadadaasht bada hai jab ham sote hain to hamaara dimaag aaraam kee sthiti mein hota hai subah jab ham maanasik roop se tarotaaja hokar usane to hamaaree memoree sehatamand rahatee hai isase yaadadaasht durust rahatee hai lekin aisa tabhee sambhav hai jab hamaare sone kee pojeeshan sahee ho sahee pojeeshan mein sone ke lie ghar ke neeche se takiya hataana behad jarooree hai neend kee aankh vaalee thee sudharatee hai agar aap sochate hain ki sote samay makhamalee takiya aapake gardan aur sir ko saport karata hai unhen aaraam deta hai aur aapakee neend neend ko behatar banaata hai to aap galat hai ek shodh mein bataaya gaya hai ki bina takie ke sone se na keval neend kee kvaalitee sudharatee hai balki inasomniya jaisee neend na aane vaalee samasyaon se bhee chhutakaara yah aap pairon ke rakt prabhaav ko bhee baadhit karata hai hraday kee dhadakan sote samay kam ho jaatee hai pair neeche ho to doosaree taraph ko vaapas hrday tak aane mein kathinaee hotee hai aur hamaare pair dard kee shikaayat ho sakatee hai aisee sthiti mein pair ke neeche takiya lagaakar unhen ooncha karake sona chaahie

bolkar speaker
सोते समय सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए?Sote Samay Sir Ke Niche Takiye Ko Kyun Rakhna Chaiye
Vijay shankar pal Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Vijay जी का जवाब
My youtube channel - Tech with vijay
0:58
नमस्कार साथियों सवाल है सोते समय सिर के नीचे तकिए को क्यों रखना चाहिए तो साथियों मुलायम तकिया सोने में आराम देता है इसलिए हम अपने सिर के नीचे तकिया लगा कर सोने की आदत होती है हमारी साथियों इससे हमारी नींद की क्वालिटी सुधरती है अच्छी नींद आती है जिससे हमारी याददाश्त भी बढ़ती है हमारा दिमाग भी अच्छे तरीके से काम करता है साथियों और साथियों तकिया जो होता है वह मुहासे और झुर्रियों को रोकने के लिए मददगार होता है इससे हमारे जो नीचे कवर के नीचे हमारे मतलब जो झुर्रियां होती हैं अंकल होते हैं उनको हमारे पास तक आने में रोकता है आयोग के जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
Namaskaar saathiyon savaal hai sote samay sir ke neeche takie ko kyon rakhana chaahie to saathiyon mulaayam takiya sone mein aaraam deta hai isalie ham apane sir ke neeche takiya laga kar sone kee aadat hotee hai hamaaree saathiyon isase hamaaree neend kee kvaalitee sudharatee hai achchhee neend aatee hai jisase hamaaree yaadadaasht bhee badhatee hai hamaara dimaag bhee achchhe tareeke se kaam karata hai saathiyon aur saathiyon takiya jo hota hai vah muhaase aur jhurriyon ko rokane ke lie madadagaar hota hai isase hamaare jo neeche kavar ke neeche hamaare matalab jo jhurriyaan hotee hain ankal hote hain unako hamaare paas tak aane mein rokata hai aayog ke javaab pasand aaya hoga dhanyavaad

bolkar speaker
सोते समय सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए?Sote Samay Sir Ke Niche Takiye Ko Kyun Rakhna Chaiye
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:24
प्रश्न है कि सोते समय सिर के नीचे तकिया क्यों रखना चाहिए दरअसल तक के रखना कोई जरूरी नहीं है कुछ लोगों को थकी की आदत होती है कुछ लोगों को तकिया की आदत नहीं होती तो तकिया देखें अगर थोड़ा-सा टाइट तो कई बार नस में दर्द भरा जाता है नशे में जकड़ जाती है दूसरी अपनी सुविधा के अनुसार अपने कंफर्ट के हिसाब से ही दिखेगा सम्मान करना चाहिए
Prashn hai ki sote samay sir ke neeche takiya kyon rakhana chaahie darasal tak ke rakhana koee jarooree nahin hai kuchh logon ko thakee kee aadat hotee hai kuchh logon ko takiya kee aadat nahin hotee to takiya dekhen agar thoda-sa tait to kaee baar nas mein dard bhara jaata hai nashe mein jakad jaatee hai doosaree apanee suvidha ke anusaar apane kamphart ke hisaab se hee dikhega sammaan karana chaahie

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • सोते समय सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए, सिर के नीचे तकिया लगाकर सोने की आदत
  • सिर के नीचे तकिया लगाकर सोने की आदत,सिर के नीचे तकिये को क्यों रखना चाहिए,सोते समय तक‌िये
  • सोते वक्‍त अपने तकिये के नीचे रखना, सिर के नीचे दो तकिये लगाकर सोएं ,तकिये को क्यों रखना चाहिए
URL copied to clipboard