#जीवन शैली

bolkar speaker

क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है और हम आगे बढ़ पाते हैं?

Kya Jeevan Mein Chunautiyon Se He Hume Himmat Milti Hai Aur Hum Aage Badh Pate Hain
Vaishnavi Pandey Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vaishnavi जी का जवाब
Student / Artist
0:59
लगता है आपने लिखा है कि क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है आते हैं तो बिल्कुल सच है कि हमें लोगों से ही आगे बढ़ने की हिम्मत मिलती है जितना चाहे उतना ही खराब होता है जब तुम्हारे जो है वह इस मिट्टी का कोई बर्तन बनाता है तो उसे बार-बार पीता है सब बोला जाता है वह उसे बार-बार पीटता है उसके बाद कोविड-19 काफी सुंदर बन जाता है तो हमको भी ज्यादा नहीं चीजें सीखने को मिलती हैं और आप अपने काम को आप बैठे तरह से करवाते हैं उनके स्टील के आगे बढ़ाते हैं
Lagata hai aapane likha hai ki kya jeevan mein chunautiyon se hee hamen himmat milatee hai aate hain to bilkul sach hai ki hamen logon se hee aage badhane kee himmat milatee hai jitana chaahe utana hee kharaab hota hai jab tumhaare jo hai vah is mittee ka koee bartan banaata hai to use baar-baar peeta hai sab bola jaata hai vah use baar-baar peetata hai usake baad kovid-19 kaaphee sundar ban jaata hai to hamako bhee jyaada nahin cheejen seekhane ko milatee hain aur aap apane kaam ko aap baithe tarah se karavaate hain unake steel ke aage badhaate hain

और जवाब सुनें

bolkar speaker
क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है और हम आगे बढ़ पाते हैं?Kya Jeevan Mein Chunautiyon Se He Hume Himmat Milti Hai Aur Hum Aage Badh Pate Hain
अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
0:56
पूछा क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है और हमें आगे बढ़ पाते जी बिल्कुल देखिए जीवन में देखिए क्या है ना कि यदि चुनौती ना है तो व्यक्ति निराश हो जाएगा जो व्यक्ति हर पल नए नए चुनौतियों का सामना करता है वही जो आने वाले चुनौतियों का डटकर मुकाबला करने में सक्षम होता है उसे देखिए मुकाम हासिल करने से कोई नहीं रोक सकता अपने ऊपर दिखे विश्वास रखें विश्वास ही वह ताकत है जो आपको कर्तव्य पथ पर मजबूती के साथ दिखे अग्रसर करेगा कई बार देखी ऐसी जाती है कि कुछ देर के लिए ऐसा महसूस होता है कि आगे बढ़ने के सभी दरवाजे बंद हो गए लेकिन मैं आपको बता दूं जब मंथन करेंगे एक रास्ते के बजाय कई रास्ते नजर आएंगे उस वक्त आपको एहसास होगा जीवन जीने का जय हिंद जय भारत
Poochha kya jeevan mein chunautiyon se hee hamen himmat milatee hai aur hamen aage badh paate jee bilkul dekhie jeevan mein dekhie kya hai na ki yadi chunautee na hai to vyakti niraash ho jaega jo vyakti har pal nae nae chunautiyon ka saamana karata hai vahee jo aane vaale chunautiyon ka datakar mukaabala karane mein saksham hota hai use dekhie mukaam haasil karane se koee nahin rok sakata apane oopar dikhe vishvaas rakhen vishvaas hee vah taakat hai jo aapako kartavy path par majabootee ke saath dikhe agrasar karega kaee baar dekhee aisee jaatee hai ki kuchh der ke lie aisa mahasoos hota hai ki aage badhane ke sabhee daravaaje band ho gae lekin main aapako bata doon jab manthan karenge ek raaste ke bajaay kaee raaste najar aaenge us vakt aapako ehasaas hoga jeevan jeene ka jay hind jay bhaarat

bolkar speaker
क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है और हम आगे बढ़ पाते हैं?Kya Jeevan Mein Chunautiyon Se He Hume Himmat Milti Hai Aur Hum Aage Badh Pate Hain
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:40
प्रश्न क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें मत मिलती और हम आगे बढ़ पाते हैं निश्चित रूप से जब व्यक्ति अपने उद्देश्य के प्रति समर्पित होता उसके अंदर ही भाव होता है करो या मरो तो चुनौतियां जब आती है तो चुनौतियों का सामना करने के लिए उसके अंदर जो रचनात्मक क्षमता होती है वह और भी सशक्त हो जाती है लक्ष्य के प्रति समर्पण और सशक्त हो जाता है एकाग्रता बढ़ जाती है समय न सोई हुई ताकत भी जग जाती है और आदमी इसीलिए असंभव को संभव कर डालता है निश्चित रूप से कि व्यक्ति में जो सामर्थ्य होती है वह बहुत ही सशक्त होती है जब चुनौतियां आती हैं तो व्यक्ति उन चुनौतियों का सामना उसी की महत्वाकांक्षा समर्पण के भाव सोई हुई शक्ति को जगा कर करता है और ऐसे में उसका जो कार्य होता है सफलता का और भी सशक्त हो जाता है चुनौतियों का सामना करने वाला व्यक्ति कहीं ज्यादा समर्पित भाव से एक का करो करके कार्य करता है और एक उसके अंदर हाथी आज ईद का भाव भी हो जाता है कि मंजिल हमें जीतने और ऐसे लोग इसलिए कहा जाता है कि जो सफल होते हैं वह चुनौतियों का सामना करके कहीं ज्यादा सफल होते हैं और कठिन से कठिन कार्य को भी वह हल कर देते थे
Prashn kya jeevan mein chunautiyon se hee hamen mat milatee aur ham aage badh paate hain nishchit roop se jab vyakti apane uddeshy ke prati samarpit hota usake andar hee bhaav hota hai karo ya maro to chunautiyaan jab aatee hai to chunautiyon ka saamana karane ke lie usake andar jo rachanaatmak kshamata hotee hai vah aur bhee sashakt ho jaatee hai lakshy ke prati samarpan aur sashakt ho jaata hai ekaagrata badh jaatee hai samay na soee huee taakat bhee jag jaatee hai aur aadamee iseelie asambhav ko sambhav kar daalata hai nishchit roop se ki vyakti mein jo saamarthy hotee hai vah bahut hee sashakt hotee hai jab chunautiyaan aatee hain to vyakti un chunautiyon ka saamana usee kee mahatvaakaanksha samarpan ke bhaav soee huee shakti ko jaga kar karata hai aur aise mein usaka jo kaary hota hai saphalata ka aur bhee sashakt ho jaata hai chunautiyon ka saamana karane vaala vyakti kaheen jyaada samarpit bhaav se ek ka karo karake kaary karata hai aur ek usake andar haathee aaj eed ka bhaav bhee ho jaata hai ki manjil hamen jeetane aur aise log isalie kaha jaata hai ki jo saphal hote hain vah chunautiyon ka saamana karake kaheen jyaada saphal hote hain aur kathin se kathin kaary ko bhee vah hal kar dete the

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या जीवन में चुनौतियों से ही हमें हिम्मत मिलती है, जीवन में चुनौतियों से हमें हिम्मत मिलती
URL copied to clipboard