#जीवन शैली

bolkar speaker

व्यसन व्यक्ति के जीवन को किस हद तक प्रभावित करता है?

Vyasan Vyakti Ke Jivan Ko Kis Had Tak Prabhavit Karta Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:56
रेशम व्यक्ति के जीवन को कैसे प्रभावित करता है दो तो बहुत ज्यादा जीवन को प्रभावित करता है क्योंकि एक रिसर्च में पाया गया कि जो व्यक्ति नशा इत्यादि करता है पोस्ट स्वस्थ मनुष्य के मुकाबले 7 से 8 साल पहले मरता है तो आप देश के साथ तभी आप को प्रभावित कर आपके जीवन को और दूसरी बात की है कि यह दो चीज है ऑपरेशन करते हैं तो आपका शारीरिक रूप से कमजोर होगी ताकि साथ आपको भूख जो है वह कब लगेगी और आपको पूरी तरह से प्रभावित करता है आपको और आपके जीवन को और आपके प्रोडक्ट सेवन करना जिस भी चीज का ऑपरेशन हो सकता है तंबाकू होता है
Resham vyakti ke jeevan ko kaise prabhaavit karata hai do to bahut jyaada jeevan ko prabhaavit karata hai kyonki ek risarch mein paaya gaya ki jo vyakti nasha ityaadi karata hai post svasth manushy ke mukaabale 7 se 8 saal pahale marata hai to aap desh ke saath tabhee aap ko prabhaavit kar aapake jeevan ko aur doosaree baat kee hai ki yah do cheej hai opareshan karate hain to aapaka shaareerik roop se kamajor hogee taaki saath aapako bhookh jo hai vah kab lagegee aur aapako pooree tarah se prabhaavit karata hai aapako aur aapake jeevan ko aur aapake prodakt sevan karana jis bhee cheej ka opareshan ho sakata hai tambaakoo hota hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
व्यसन व्यक्ति के जीवन को किस हद तक प्रभावित करता है?Vyasan Vyakti Ke Jivan Ko Kis Had Tak Prabhavit Karta Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:43
हेलो एवरीवन स्वागत है आपका आपका प्रश्न है व्यक्ति के जीवन को किस हद तक प्रभावित करता है तो फ्रेंड जो व्यसन है नशा उसे कहते हैं जो व्यक्ति के जीवन को बहुत ज्यादा प्रभावित करता है जिस व्यक्ति को किसी भी चीज किसी भी व्यसन की लत लग जाती है किसी भी नशे की आदत हो जाती है तो वह परेशान हो जाता है जब तक उसको वह नशा मिलता नहीं है उसके लिए बहुत सारी गलत काम करता है अपने घर में लड़ाई झगड़े करता है और कोई भी नशे का आदी हो जाता है तो नशे की लत उसको धीरे-धीरे मौत की तरफ ले जाती है और व्यसन का शादी होने से तरह-तरह की बीमारियां भी हो जाती हैं और समाज में इज्जत भी नहीं रहती है धन्यवाद
Helo evareevan svaagat hai aapaka aapaka prashn hai vyakti ke jeevan ko kis had tak prabhaavit karata hai to phrend jo vyasan hai nasha use kahate hain jo vyakti ke jeevan ko bahut jyaada prabhaavit karata hai jis vyakti ko kisee bhee cheej kisee bhee vyasan kee lat lag jaatee hai kisee bhee nashe kee aadat ho jaatee hai to vah pareshaan ho jaata hai jab tak usako vah nasha milata nahin hai usake lie bahut saaree galat kaam karata hai apane ghar mein ladaee jhagade karata hai aur koee bhee nashe ka aadee ho jaata hai to nashe kee lat usako dheere-dheere maut kee taraph le jaatee hai aur vyasan ka shaadee hone se tarah-tarah kee beemaariyaan bhee ho jaatee hain aur samaaj mein ijjat bhee nahin rahatee hai dhanyavaad

bolkar speaker
व्यसन व्यक्ति के जीवन को किस हद तक प्रभावित करता है?Vyasan Vyakti Ke Jivan Ko Kis Had Tak Prabhavit Karta Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:11
आपने पूछा बेसन व्यक्ति के जीवन को किस हद तक प्रभावित करता है इसका जवाब और पूरी तरह प्रभावित करता है अगर बेसन केवल आनंद मनोरंजन के लिए किया जा रहा है तो तुम मनुष्य सहज स्वाभाविक रहता है लेकिन बेसन और उसकी प्रवृत्ति बन जाती उसकी मजबूरी बन जाती है तो बेसन से मनुष्य पशुओं से भी बदतर काम कर सकता है जैसे नशेबाज लोगों को देखिए नशेबाज लोग जो है ना अपने नशे की पूर्ति के लिए किसी के साथ कोई भी व्यवहार कर सकते हैं लेकिन कभी-कभी यह बेसन जो होता है वह रचना घर में भी बन जाता जो कि किस को पढ़ने का बेसन हो जाए तुझे आपने या किसी को अपने कार्य में कुछ निपुणता लाने का हो जाए उसे ठेले वाले हैं चार्ट वाले पकौड़े वाले कुछ बड़ा व्यापारी है उद्योगपति है उसको भी कभी-कभी बेसन चाहता है होता है अच्छा से सरकारी करें लोगों को प्रभावित करें तो व्यसन जो है वह जिंदगी को मना भी सकता है और बिगाड़ भी सकता है बस एक मनोरंजन के साथ-साथ रहता हूं थैंक यू
Aapane poochha besan vyakti ke jeevan ko kis had tak prabhaavit karata hai isaka javaab aur pooree tarah prabhaavit karata hai agar besan keval aanand manoranjan ke lie kiya ja raha hai to tum manushy sahaj svaabhaavik rahata hai lekin besan aur usakee pravrtti ban jaatee usakee majabooree ban jaatee hai to besan se manushy pashuon se bhee badatar kaam kar sakata hai jaise nashebaaj logon ko dekhie nashebaaj log jo hai na apane nashe kee poorti ke lie kisee ke saath koee bhee vyavahaar kar sakate hain lekin kabhee-kabhee yah besan jo hota hai vah rachana ghar mein bhee ban jaata jo ki kis ko padhane ka besan ho jae tujhe aapane ya kisee ko apane kaary mein kuchh nipunata laane ka ho jae use thele vaale hain chaart vaale pakaude vaale kuchh bada vyaapaaree hai udyogapati hai usako bhee kabhee-kabhee besan chaahata hai hota hai achchha se sarakaaree karen logon ko prabhaavit karen to vyasan jo hai vah jindagee ko mana bhee sakata hai aur bigaad bhee sakata hai bas ek manoranjan ke saath-saath rahata hoon thaink yoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • व्यसन क्या होता है.. व्यसन को कैसे दूर किया जाए
  • मादक पदार्थ के कारण, व्यसन के कारण, मादक पदार्थ क्या है
  • व्यसन का क्या अर्थ होता है, व्यसन के कितने प्रकार होते है
URL copied to clipboard