#जीवन शैली

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:45
मनुष्य के मस्तिष्क में अश्लील विचारों की शुरुआत तब होती है जब मनुष्य किसी मतलब विपरीत लिंगी क्या को देखता है या मालिक फिल्म देखता है अखबार में कोई फोटो देखता है मोबाइल में को फोटो देखता है वीडियो देखता है या देखती है तो उसको देखता है तो उसके दिमाग में एक विचार आता है उसके शरीर को उसके बनावट को देखकर और उसकी वजह से अश्लील विचार दिया कामुक विचार दिमाग में उत्पन्न हो जाते हैं जब हम व्यस्त रहते हैं तब हमारे दिमाग में सिर्फ जा नहीं आती है लेकिन जब भी दिमाग खाली होता है और हम इस प्रकार की कोई देख लेते हैं तस्वीर वीडियो में आपको कुछ रियल लाइफ में काफी विचार है आने लगती है
Manushy ke mastishk mein ashleel vichaaron kee shuruaat tab hotee hai jab manushy kisee matalab vipareet lingee kya ko dekhata hai ya maalik philm dekhata hai akhabaar mein koee photo dekhata hai mobail mein ko photo dekhata hai veediyo dekhata hai ya dekhatee hai to usako dekhata hai to usake dimaag mein ek vichaar aata hai usake shareer ko usake banaavat ko dekhakar aur usakee vajah se ashleel vichaar diya kaamuk vichaar dimaag mein utpann ho jaate hain jab ham vyast rahate hain tab hamaare dimaag mein sirph ja nahin aatee hai lekin jab bhee dimaag khaalee hota hai aur ham is prakaar kee koee dekh lete hain tasveer veediyo mein aapako kuchh riyal laiph mein kaaphee vichaar hai aane lagatee hai

और जवाब सुनें

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:25
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न है मनुष्य के मंदिर में अश्लील विचारों की शुरुआत किस प्रकार होती है तो सेंड जब कोई गलत संगत में फंस जाता है बुरी बातें करता है या बुरा कोई देख लेता है तो फिर अश्लील विचारों की शुरुआत होती है यह सब बुरी संगत का असर होता है बुरे लोगों के साथ उठना बैठना बुरी बातें करना इसी से अश्लीलता की शुरुआत होती है धन्यवाद
Helo phrend svaagat hai aapaka aapaka prashn hai manushy ke mandir mein ashleel vichaaron kee shuruaat kis prakaar hotee hai to send jab koee galat sangat mein phans jaata hai buree baaten karata hai ya bura koee dekh leta hai to phir ashleel vichaaron kee shuruaat hotee hai yah sab buree sangat ka asar hota hai bure logon ke saath uthana baithana buree baaten karana isee se ashleelata kee shuruaat hotee hai dhanyavaad

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:59
तुम अस्तित्व में अश्लील विचारों की शुरुआत किस प्रकार के होती है इस तरीके से होते जब भी कोई व्यक्ति अकेलापन महसूस करता है बांस ना ही उसके दिमाग में ऑटोमेटिक ले चल जाती है संगत का असर दोस्तों कुछ ऐसा ही होता है यदि आपको नहीं यार दोस्तों के साथ बैठते हैं या फिर आप कुछ ऐसी चल चित्रों के अंदर कुछ इंटरेस्ट लेते हैं तो मेरे हिसाब से जो आपके अश्लीलता बजे विचार है वह दोस्तों बढ़ने लग जाता है व्यक्ति को ज्यादा सोचने को लेकर की जाए अश्लीलता के विचार उत्पन्न कर देता है दोस्तों दूसरों के प्रति चिड़चिड़ापन करना 10:30 बजे विचारों को उत्पन्न कर दी यहां तक कि दोस्तों तकनीकी जो विकास हो रहा है जो अब खान यानी कि आप तकनीकी विचारों से पहले में खानपान को लूंगा दिन में व्यक्ति जो है जिस तरीके से आज रासायनिक क्रियाओं के माध्यम हमारी खेती हो रही है हम उन चीजों को खा रहे हैं यह चीज भी हमें जो है जल्दी बड़ा कर रही है और जल्दी खत्म कर रही है यही कारण है कि आज का छठी सातवीं कक्षा के बच्चे भी जो है मास्टर्बेट करने दो सारी चीजें सोशल साइट के ऊपर तक पिक्चर कर सकते हैं इंटरनेट का हर एक व्यक्ति को इस तरीके से खेल रहे हैं कि आप कोई भी वेबसाइट के ऊपर चले जाएंगे एक जो चलचित्र वह आप को प्रदर्शित कर दिया जाएगा जो कि अपने विचारों को उत्पन्न करने की आपकी मानसिकता को लेकर के शुरुआती दौर होता है जिसकी वजह से मनुष्य विचार उत्पन्न होते हैं
Tum astitv mein ashleel vichaaron kee shuruaat kis prakaar ke hotee hai is tareeke se hote jab bhee koee vyakti akelaapan mahasoos karata hai baans na hee usake dimaag mein otometik le chal jaatee hai sangat ka asar doston kuchh aisa hee hota hai yadi aapako nahin yaar doston ke saath baithate hain ya phir aap kuchh aisee chal chitron ke andar kuchh intarest lete hain to mere hisaab se jo aapake ashleelata baje vichaar hai vah doston badhane lag jaata hai vyakti ko jyaada sochane ko lekar kee jae ashleelata ke vichaar utpann kar deta hai doston doosaron ke prati chidachidaapan karana 10:30 baje vichaaron ko utpann kar dee yahaan tak ki doston takaneekee jo vikaas ho raha hai jo ab khaan yaanee ki aap takaneekee vichaaron se pahale mein khaanapaan ko loonga din mein vyakti jo hai jis tareeke se aaj raasaayanik kriyaon ke maadhyam hamaaree khetee ho rahee hai ham un cheejon ko kha rahe hain yah cheej bhee hamen jo hai jaldee bada kar rahee hai aur jaldee khatm kar rahee hai yahee kaaran hai ki aaj ka chhathee saataveen kaksha ke bachche bhee jo hai maastarbet karane do saaree cheejen soshal sait ke oopar tak pikchar kar sakate hain intaranet ka har ek vyakti ko is tareeke se khel rahe hain ki aap koee bhee vebasait ke oopar chale jaenge ek jo chalachitr vah aap ko pradarshit kar diya jaega jo ki apane vichaaron ko utpann karane kee aapakee maanasikata ko lekar ke shuruaatee daur hota hai jisakee vajah se manushy vichaar utpann hote hain

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • मन को पवित्र कैसे करें, मन में अच्छे विचार कैसे लाएं, मन में अच्छे विचार कैसे लाये
  • मस्तिष्क में अश्लील विचार कैसे आते है, किन कारणों से मस्तिष्क में अश्लील विचार उत्पन होते है
  • मनुष्य के मस्तिष्क में अश्लील विचारों की शुरुआत,अश्लील विचारों की शुरुआत किस प्रकार होती है
URL copied to clipboard