#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

आज रिश्तो के डरे डरे होने का कारण आप क्या मानते हैं?

Aaj Rishto Ke Dare Dare Hone Ka Kaaran Aap Kya Mante Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:40
राक्षस ने कि आज रिश्तो को डरे डरे होने के कारण आप क्या मानते हैं तो आपको बताना चाहेंगे देखिए जो व्यक्ति या जो इस तरह का प्रश्न पूछ रहे हैं कि रिश्तो में लोग बैटरी क्यों रहते हैं इसलिए है क्योंकि आप से संवाद में कमी आ गई है जितना कमा पाप से संवाद रखेंगे उतना ही इस तरह का डर आपके जीवन में बना रहेगा क्या आप अपने रिश्तो को खो ना दें इसलिए हमेशा अपने दोस्तों से जुड़े रहने के लिए संवाद स्थापित रखें संवाद करते रहिए अन्यथा इस तरह की फोटो हमेशा मिस करते रहेंगे मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Raakshas ne ki aaj rishto ko dare dare hone ke kaaran aap kya maanate hain to aapako bataana chaahenge dekhie jo vyakti ya jo is tarah ka prashn poochh rahe hain ki rishto mein log baitaree kyon rahate hain isalie hai kyonki aap se sanvaad mein kamee aa gaee hai jitana kama paap se sanvaad rakhenge utana hee is tarah ka dar aapake jeevan mein bana rahega kya aap apane rishto ko kho na den isalie hamesha apane doston se jude rahane ke lie sanvaad sthaapit rakhen sanvaad karate rahie anyatha is tarah kee photo hamesha mis karate rahenge main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

और जवाब सुनें

bolkar speaker
आज रिश्तो के डरे डरे होने का कारण आप क्या मानते हैं?Aaj Rishto Ke Dare Dare Hone Ka Kaaran Aap Kya Mante Hai
Christina KC Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Christina जी का जवाब
Unknown
3:35
सवाल आपने किया है आज रिश्तो के दरे तेरे होने का कारण आप क्या मानते हैं मेरा मानना है कि अगर आप रिश्ते की बात कर रहे हैं जो कि लव रिलेशनशिप है ऐसी रिलेशनशिप चयन अक्सर धीरे-धीरे होने की वजह कहीं ना कहीं जगह हो सकता है कि जिस व्यक्ति का जो रिलेशनशिप है उनका जो परिवार है उस रिश्ते के लिए तैयार नहीं है या फिर लव रिलेशनशिप से ही तैयार नहीं होता है या फिर ऐसा हो सकता है कि उनके रिश्तेदार से उनको खतरा है कुछ तुमसे ही चेहरा लोग तरह-तरह से रहते हैं और दर-दर के जो है रिश्ता निभाते हैं तो मेरा यह मानना है कि आजकल के जमाने में चाहे जो रिश्ता आपके आसपास में देखते हैं अगर ऐसा भी कोई रिश्ता है जहां पर 6 लोग दर-दर के शहर रिलेशनशिप को आगे बढ़ा रहे हैं तो ऐसे रिश्ते काफी खतरनाक मोड़ पर ही भी आ सकते हैं और मेरा यह मानना है कि ऐसे वातावरण पर वह इंसान है जहां पर पैसे देने देने रहकर रिश्ता निभाना पड़ रहा है निष्ठा से आगे बढ़ाना पड़ रहा है तो मेरा यह मानना है कि ऐसे रिश्ते चाहे जितना से जितना हो सके और लोगों से आप को खतरा है उनसे दूर रहे या फिर आप अपना मतलब खुद का अलग संसार में बसा है क्योंकि ऐसा करने से ही जो है आपके लिए फायदेमंद होता है और आपके जिनसे आपका दर है उनसे भी आपको छुटकारा मिलने का समय होता है तो इसलिए जो है मेरा यह मानना है कि अगर लोग तेरे तेरे हैं तो उनको एक अलग से दुनिया बसा नहीं चाहिए और तेरे तेरे रहने का कारण नहीं होता है कि इंसान जो है ऐसी परिस्थिति में आ चुका है कि लोग से हम किसी दूसरे कश्मीर के बच्चों की जो लव मैरिज होती है लव रिलेशनशिप होती है सब लोग पसंद नहीं करते हैं इस खास करके जो आपके रिलेटिव से फिर आपके जो एड्रेस होते हैं आपकी फैमिली के उनको यह सब पसंद नहीं होता है क्योंकि उनका मानना होता है कि इंसान को हमेशा अरेंज मैरिज करनी चाहिए इंसान को वही शादी करनी चाहिए जहां पर वह मतलब मंजूरी थी पर अक्सर ऐसा नहीं हो पाता है क्योंकि बच्चे जो हैं गलतियां कर बैठते हैं या फिर ऐसा उनका मानना होता है तो मेरा यह मानना है कि अगर आपके आस पड़ोस ऐसा कोई है जो लव मैरिज कर आया लव रिलेशनशिप कर रहा है तो और अगर मतलब उनको किसी का खतरा है तो उनसे हो सके तो आप बचाई या फिर आप जहां मतलब उन को समझाइए किधर है तेरे होने की वजह से नहीं है आप क्या अगर आप मालिक है तो आप अपना रिश्ता जरा खुल कर कर सकते हैं पर अगर जीजा जीवन का खतरा क्यों क्या होता है कि जीवन का भी खतरा हो सकता है इंसान को अगर मतलब जैसे प्रेस्टीज है लोगों को जो है बहुत ज्यादा ही ना पसंद है तो मैं नहीं मानना है कि दर्द होने का कारण कहीं ना कहीं चाहे यह समाज है कि जो एक्सेप्ट नहीं कर पाती है कि लव रिलेशनशिप जय हो भी सकता है और मेरा मानना है कि यह सवाल का जादू
Savaal aapane kiya hai aaj rishto ke dare tere hone ka kaaran aap kya maanate hain mera maanana hai ki agar aap rishte kee baat kar rahe hain jo ki lav rileshanaship hai aisee rileshanaship chayan aksar dheere-dheere hone kee vajah kaheen na kaheen jagah ho sakata hai ki jis vyakti ka jo rileshanaship hai unaka jo parivaar hai us rishte ke lie taiyaar nahin hai ya phir lav rileshanaship se hee taiyaar nahin hota hai ya phir aisa ho sakata hai ki unake rishtedaar se unako khatara hai kuchh tumase hee chehara log tarah-tarah se rahate hain aur dar-dar ke jo hai rishta nibhaate hain to mera yah maanana hai ki aajakal ke jamaane mein chaahe jo rishta aapake aasapaas mein dekhate hain agar aisa bhee koee rishta hai jahaan par 6 log dar-dar ke shahar rileshanaship ko aage badha rahe hain to aise rishte kaaphee khataranaak mod par hee bhee aa sakate hain aur mera yah maanana hai ki aise vaataavaran par vah insaan hai jahaan par paise dene dene rahakar rishta nibhaana pad raha hai nishtha se aage badhaana pad raha hai to mera yah maanana hai ki aise rishte chaahe jitana se jitana ho sake aur logon se aap ko khatara hai unase door rahe ya phir aap apana matalab khud ka alag sansaar mein basa hai kyonki aisa karane se hee jo hai aapake lie phaayademand hota hai aur aapake jinase aapaka dar hai unase bhee aapako chhutakaara milane ka samay hota hai to isalie jo hai mera yah maanana hai ki agar log tere tere hain to unako ek alag se duniya basa nahin chaahie aur tere tere rahane ka kaaran nahin hota hai ki insaan jo hai aisee paristhiti mein aa chuka hai ki log se ham kisee doosare kashmeer ke bachchon kee jo lav mairij hotee hai lav rileshanaship hotee hai sab log pasand nahin karate hain is khaas karake jo aapake riletiv se phir aapake jo edres hote hain aapakee phaimilee ke unako yah sab pasand nahin hota hai kyonki unaka maanana hota hai ki insaan ko hamesha arenj mairij karanee chaahie insaan ko vahee shaadee karanee chaahie jahaan par vah matalab manjooree thee par aksar aisa nahin ho paata hai kyonki bachche jo hain galatiyaan kar baithate hain ya phir aisa unaka maanana hota hai to mera yah maanana hai ki agar aapake aas pados aisa koee hai jo lav mairij kar aaya lav rileshanaship kar raha hai to aur agar matalab unako kisee ka khatara hai to unase ho sake to aap bachaee ya phir aap jahaan matalab un ko samajhaie kidhar hai tere hone kee vajah se nahin hai aap kya agar aap maalik hai to aap apana rishta jara khul kar kar sakate hain par agar jeeja jeevan ka khatara kyon kya hota hai ki jeevan ka bhee khatara ho sakata hai insaan ko agar matalab jaise presteej hai logon ko jo hai bahut jyaada hee na pasand hai to main nahin maanana hai ki dard hone ka kaaran kaheen na kaheen chaahe yah samaaj hai ki jo eksept nahin kar paatee hai ki lav rileshanaship jay ho bhee sakata hai aur mera maanana hai ki yah savaal ka jaadoo

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आज रिश्तो के टूटने का क्या कारण है, आज रिश्तो मे क्या नई परेशानी हो रही
URL copied to clipboard