#रिश्ते और संबंध

bolkar speaker

शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?

Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:17

और जवाब सुनें

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:44
आप को समझने की शादी से पहले की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है शादी के बाद अपना घर-परिवार छोड़कर एक लड़की दूसरी जगह पटाने के लिए जाती है जहां पर उसे वहां से सारे रीति रिवाज को रश्मि को मानना होता है तभी की एक्सपेक्टेशन पर खरे उतरने के लिए कोशिश करनी होती है जद्दोजहद करनी होती है नए रिश्तो में बंद करके जीना सीखना होता है न एटमॉस्फेयर में खुद को एडजस्ट करना सीखना होता है और साथ ही साथ इतनी सारी रिस्पांसिबिलिटीज उसके आप पर आ जाती हैं उन सभी को सही तरीके से निभाना होता है और यह एक बहुत बड़ा फैक्टर है रीजन है कि शादी से पहले की हस्ती खेलती चुलबुल उसी लड़की शादी के बाद गंभीर हो जाती है आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद
Aap ko samajhane kee shaadee se pahale kee hastee khelatee chulabulee ladakee shaadee ke baad gambheer kyon ho jaatee hai shaadee ke baad apana ghar-parivaar chhodakar ek ladakee doosaree jagah pataane ke lie jaatee hai jahaan par use vahaan se saare reeti rivaaj ko rashmi ko maanana hota hai tabhee kee eksapekteshan par khare utarane ke lie koshish karanee hotee hai jaddojahad karanee hotee hai nae rishto mein band karake jeena seekhana hota hai na etamospheyar mein khud ko edajast karana seekhana hota hai aur saath hee saath itanee saaree rispaansibiliteej usake aap par aa jaatee hain un sabhee ko sahee tareeke se nibhaana hota hai aur yah ek bahut bada phaiktar hai reejan hai ki shaadee se pahale kee hastee khelatee chulabul usee ladakee shaadee ke baad gambheer ho jaatee hai aapaka din shubh rahe dhanyavaad

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:04

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:27

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Vibhore Pirodiya Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vibhore जी का जवाब
Teacher & Career Counselor
0:48

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Nav kishor Aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nav जी का जवाब
Service
1:11

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:29
यह बात तो सही है सर चुलबुली लड़की शादी के बाद कुछ हद तक हो जाती है गंभीर की रिश्तो का भुजा दाता उन पर पति का साथ का ससुर का देवर का देवरानी का जेठानी का हो सारे नए रिश्ते जुड़ जाते हैं तो वह थोड़ी गंभीर हो जाती है लेकिन अगर आप अच्छे हैं आप उनके हस्बैंड है आप अच्छे हैं तो आप उनको कुछ टाइम के बाद उनका महीना फ्री कर सकते हैं जब वह कंफर्ट लेवल में आ जाएगी वह जब आपके फैमिली वालों के साथ भूल जाएगी तो वह फिर पहले वाले अपने नेचर में आ जाएगी ऐसा होता है तो सबसे पहले आपको उनको कंफर्ट लेवल देना होता है विकी शुरुआत में तो उनमें थोड़ा सा रहता जिम्मेदारी का बोझ आप कंफर्ट लेवल दीजिएगा प्यार दीजिएगा रिस्पेक्ट दीजिएगा तो बहुत सारे किस पहले जैसी हो जाती है कभी टाइम मिले घुमाने ले जाइए अच्छी जगह आपके साथ उनको टाइम बिताने का मौका मिलेगा उससे भी वह अपने पुराने रूप में आ जाती है तो तरह-तरह से एक दूसरे से टाइम स्पेंड करने का आप लोग समय देखिए कम्युनिकेशन बढ़ेगा अंडरस्टैंडिंग बढ़ेगा तो वह पहले रूप में आ जाएगी थैंक यू थैंक यू वेरी मच कीजिए इस बारे में आपको लगता को तोड़ दूं से खुल के बात कीजिए कि आप ऐसा हो रहे हैं क्यों हो रहे हैं वह आपको अपना शेयर करें कि अपना भी यह भी बहुत अच्छा तरीका है जानने का
Yah baat to sahee hai sar chulabulee ladakee shaadee ke baad kuchh had tak ho jaatee hai gambheer kee rishto ka bhuja daata un par pati ka saath ka sasur ka devar ka devaraanee ka jethaanee ka ho saare nae rishte jud jaate hain to vah thodee gambheer ho jaatee hai lekin agar aap achchhe hain aap unake hasbaind hai aap achchhe hain to aap unako kuchh taim ke baad unaka maheena phree kar sakate hain jab vah kamphart leval mein aa jaegee vah jab aapake phaimilee vaalon ke saath bhool jaegee to vah phir pahale vaale apane nechar mein aa jaegee aisa hota hai to sabase pahale aapako unako kamphart leval dena hota hai vikee shuruaat mein to unamen thoda sa rahata jimmedaaree ka bojh aap kamphart leval deejiega pyaar deejiega rispekt deejiega to bahut saare kis pahale jaisee ho jaatee hai kabhee taim mile ghumaane le jaie achchhee jagah aapake saath unako taim bitaane ka mauka milega usase bhee vah apane puraane roop mein aa jaatee hai to tarah-tarah se ek doosare se taim spend karane ka aap log samay dekhie kamyunikeshan badhega andarastainding badhega to vah pahale roop mein aa jaegee thaink yoo thaink yoo veree mach keejie is baare mein aapako lagata ko tod doon se khul ke baat keejie ki aap aisa ho rahe hain kyon ho rahe hain vah aapako apana sheyar karen ki apana bhee yah bhee bahut achchha tareeka hai jaanane ka

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
1:29
यह बात तो सही है सर चुलबुली लड़की शादी के बाद कुछ हद तक हो जाती है गंभीर की रिश्तो का भुजा दाता उन पर पति का साथ का ससुर का देवर का देवरानी का जेठानी का हो सारे नए रिश्ते जुड़ जाते हैं तो वह थोड़ी गंभीर हो जाती है लेकिन अगर आप अच्छे हैं आप उनके हस्बैंड है आप अच्छे हैं तो आप उनको कुछ टाइम के बाद उनका महीना फ्री कर सकते हैं जब वह कंफर्ट लेवल में आ जाएगी वह जब आपके फैमिली वालों के साथ भूल जाएगी तो वह फिर पहले वाले अपने नेचर में आ जाएगी ऐसा होता है तो सबसे पहले आपको उनको कंफर्ट लेवल देना होता है विकी शुरुआत में तो उनमें थोड़ा सा रहता जिम्मेदारी का बोझ आप कंफर्ट लेवल दीजिएगा प्यार दीजिएगा रिस्पेक्ट दीजिएगा तो बहुत सारे किस पहले जैसी हो जाती है कभी टाइम मिले घुमाने ले जाइए अच्छी जगह आपके साथ उनको टाइम बिताने का मौका मिलेगा उससे भी वह अपने पुराने रूप में आ जाती है तो तरह-तरह से एक दूसरे से टाइम स्पेंड करने का आप लोग समय देखिए कम्युनिकेशन बढ़ेगा अंडरस्टैंडिंग बढ़ेगा तो वह पहले रूप में आ जाएगी थैंक यू थैंक यू वेरी मच कीजिए इस बारे में आपको लगता को तोड़ दूं से खुल के बात कीजिए कि आप ऐसा हो रहे हैं क्यों हो रहे हैं वह आपको अपना शेयर करें कि अपना भी यह भी बहुत अच्छा तरीका है जानने का
Yah baat to sahee hai sar chulabulee ladakee shaadee ke baad kuchh had tak ho jaatee hai gambheer kee rishto ka bhuja daata un par pati ka saath ka sasur ka devar ka devaraanee ka jethaanee ka ho saare nae rishte jud jaate hain to vah thodee gambheer ho jaatee hai lekin agar aap achchhe hain aap unake hasbaind hai aap achchhe hain to aap unako kuchh taim ke baad unaka maheena phree kar sakate hain jab vah kamphart leval mein aa jaegee vah jab aapake phaimilee vaalon ke saath bhool jaegee to vah phir pahale vaale apane nechar mein aa jaegee aisa hota hai to sabase pahale aapako unako kamphart leval dena hota hai vikee shuruaat mein to unamen thoda sa rahata jimmedaaree ka bojh aap kamphart leval deejiega pyaar deejiega rispekt deejiega to bahut saare kis pahale jaisee ho jaatee hai kabhee taim mile ghumaane le jaie achchhee jagah aapake saath unako taim bitaane ka mauka milega usase bhee vah apane puraane roop mein aa jaatee hai to tarah-tarah se ek doosare se taim spend karane ka aap log samay dekhie kamyunikeshan badhega andarastainding badhega to vah pahale roop mein aa jaegee thaink yoo thaink yoo veree mach keejie is baare mein aapako lagata ko tod doon se khul ke baat keejie ki aap aisa ho rahe hain kyon ho rahe hain vah aapako apana sheyar karen ki apana bhee yah bhee bahut achchha tareeka hai jaanane ka

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
1:01

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:20
गुड आफ्टरनून भाई आपका सामान है पहेली की हस्ती खेलती हुई लड़की शादी के बाद हम भी हो जाते हैं क्या है कि शादी के बाद उसे बहुत चीज में गाड़ियां भी निभाने होंगे जिससे कि वह गंभीर हो जाती है
Gud aaphtaranoon bhaee aapaka saamaan hai pahelee kee hastee khelatee huee ladakee shaadee ke baad ham bhee ho jaate hain kya hai ki shaadee ke baad use bahut cheej mein gaadiyaan bhee nibhaane honge jisase ki vah gambheer ho jaatee hai

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
डा. इन्दु प्रकाश सिंह  Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए डा. जी का जवाब
शिक्षण-कार्य, कालेज शिक्षा में प्राचार्य हूँ
1:32
शादी के पहले की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है मित्र देखें अपने कहा जाता है कि लड़की नहीं गंभीर होती लड़का भी गंभीर हो जाता है समझा अपना अपने देश में लड़का या लड़की जब बिगड़ते नजर आते थे मां-बाप की दृष्टि में बुजुर्गों की दृष्टि में समझे आप ना वह थोड़ा सा काबू से बाहर होते थे तो लोग कहते थे शादी कर दो बस में आ जाएगा समझे अपना शादी माना जाता था कि कैसा बंधन है जिसमें बस जाने के बाद भटकाव के रास्ते जो है वह बंद हो जाते हैं या सिमट जाते हैं ठीक है लड़की पिता के घर में होती है तो उसके ऊपर शर्म संकोच का बंधन होता ना नहीं होता है समझे अपना और पिता या हां या परिवार के द्वारा उसे प्यार मिलता रहा है तो मान के चलेंगे लड़कियां हमारे हिंदू समाज में सम्मान पाती रही हैं लेकिन जैसे ही हो पुत्र वधू के रूप में किसी घर में जाती हैं तो उन्हें शर्म और संकोच से जो आ जाता है घूंघट करना सास ससुर के सामने थोड़ा कम बोलना समझे आपने और धीरे-धीरे उन्हें यह भी बहुत होता है कभी उनका यहीं पर है यहीं उन्हें अपनी जिंदगी बितानी है इसलिए अपनी उस नई जिंदगी को बड़ी गंभीरता से लेती हैं सफलता पिता के घर के उन्मुक्त होता जो होती है वह पति के घर में ससुर के घर में एक बंधन के रूप में दिखाई पड़ता जिसे आपने गंभीरता माना है यह जीवन की एक स्वाभाविक प्रवृत्ति और लड़कियों में नहीं लड़कों में भी दिखाई पड़ती टैंक
Shaadee ke pahale kee hastee khelatee chulabulee ladakee shaadee ke baad gambheer kyon ho jaatee hai mitr dekhen apane kaha jaata hai ki ladakee nahin gambheer hotee ladaka bhee gambheer ho jaata hai samajha apana apane desh mein ladaka ya ladakee jab bigadate najar aate the maan-baap kee drshti mein bujurgon kee drshti mein samajhe aap na vah thoda sa kaaboo se baahar hote the to log kahate the shaadee kar do bas mein aa jaega samajhe apana shaadee maana jaata tha ki kaisa bandhan hai jisamen bas jaane ke baad bhatakaav ke raaste jo hai vah band ho jaate hain ya simat jaate hain theek hai ladakee pita ke ghar mein hotee hai to usake oopar sharm sankoch ka bandhan hota na nahin hota hai samajhe apana aur pita ya haan ya parivaar ke dvaara use pyaar milata raha hai to maan ke chalenge ladakiyaan hamaare hindoo samaaj mein sammaan paatee rahee hain lekin jaise hee ho putr vadhoo ke roop mein kisee ghar mein jaatee hain to unhen sharm aur sankoch se jo aa jaata hai ghoonghat karana saas sasur ke saamane thoda kam bolana samajhe aapane aur dheere-dheere unhen yah bhee bahut hota hai kabhee unaka yaheen par hai yaheen unhen apanee jindagee bitaanee hai isalie apanee us naee jindagee ko badee gambheerata se letee hain saphalata pita ke ghar ke unmukt hota jo hotee hai vah pati ke ghar mein sasur ke ghar mein ek bandhan ke roop mein dikhaee padata jise aapane gambheerata maana hai yah jeevan kee ek svaabhaavik pravrtti aur ladakiyon mein nahin ladakon mein bhee dikhaee padatee taink

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
ABHAI PRATAP SINGH Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ABHAI जी का जवाब
teacher
1:30
आपका प्रश्न है शादी की के पहले हंसती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है लड़की हो लड़का हो या कोई वीडियो आदमी हो औरत हो बच्चा हो मैं किसी की बात कर रहा हूं जब उसके पास जिम्मेदारी पड़ती है तब वह गंभीर हो जाता है जिम्मेदारी बहुत बड़ी चीज होती है जिम्मेदारी होने पर गंभीर होना सौभाग्य हमें कई ऐसे लोगों को देखा है जो भूत कुछ छीन कर भ्रमित किए थे किंतु विवाह के बाद जितेंद्र गंभीरता भी कुछ लोग ऐसे थे कि विवाह के बाद भी कम भी नहीं हुए थे जब उनके बच्चे हो गए तब गंभीर हो गई तू जहां पर जिम्मेदारी पड़ती है वहां पर गंभीरता सतह बढ़ जाती है कुछ लोगों को मैंने ऐसा भी देखा है कि विवाह बच्चे के बाद भी गंभीर नहीं हुए तब तक उनके माता-पिता नहीं रह गए तब वह गंभीर हो गए क्योंकि तब उन्होंने जिम्मेदारी समझना शुरू किया तुम जब भी अब अपनी जिम्मेदारियों को समझना शुरू करेंगे तब आप गंभीर हो जाएंगे इसमें कोई संदेह नहीं है धन्यवाद
Aapaka prashn hai shaadee kee ke pahale hansatee khelatee chulabulee ladakee shaadee ke baad gambheer kyon ho jaatee hai ladakee ho ladaka ho ya koee veediyo aadamee ho aurat ho bachcha ho main kisee kee baat kar raha hoon jab usake paas jimmedaaree padatee hai tab vah gambheer ho jaata hai jimmedaaree bahut badee cheej hotee hai jimmedaaree hone par gambheer hona saubhaagy hamen kaee aise logon ko dekha hai jo bhoot kuchh chheen kar bhramit kie the kintu vivaah ke baad jitendr gambheerata bhee kuchh log aise the ki vivaah ke baad bhee kam bhee nahin hue the jab unake bachche ho gae tab gambheer ho gaee too jahaan par jimmedaaree padatee hai vahaan par gambheerata satah badh jaatee hai kuchh logon ko mainne aisa bhee dekha hai ki vivaah bachche ke baad bhee gambheer nahin hue tab tak unake maata-pita nahin rah gae tab vah gambheer ho gae kyonki tab unhonne jimmedaaree samajhana shuroo kiya tum jab bhee ab apanee jimmedaariyon ko samajhana shuroo karenge tab aap gambheer ho jaenge isamen koee sandeh nahin hai dhanyavaad

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Dt. Mayuari official Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dt. जी का जवाब
Medical field
2:59
शादी के पहले की चुलबुली हंसती खेलती लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है तो देखिए और इसके जो ट्यूशन होते हैं शादी के बाद बहुत सी रिस्पांसिबिलिटी आती है ठीक है इंसान जो है धीरे-धीरे में चोरों ने लगता है वह बातों को समझ नहीं लगता है वह समझ नहीं लगता है कि अगर वह कोई भी स्टेप उठाएगा तो ऐसा ना हो कि उसके मां-बाप को कोई कुछ कहे लोग कहेंगे अच्छा मां-बाप ने यही संस्कार दिए होंगे इसीलिए कर रही है या इसकी मां ने ही सिखाया होगा इसलिए कर रही है जो जो रूढ़िवादी लोग बोलते हैं तो लड़कियों को थोड़ा बहुत यह सोचना पड़ता है कि वह कोई ऐसा काम ना करें गलती से भी भूल से भी कि उनकी परवरिश पर या उनके मां-बाप को या ऐसा कोई भी सवाल उठे जो वह सुनना पाया वह चीज है लाइफ में उसको कर ना पाए सह ना पाए ठीक है हमें कि हम उन चीजों से कटने लगते हैं दूर भागने लगते हैं और जो हमारा बचपना होता है ऐसा नहीं है कि बचपना खत्म हो जाता बच्चा होता है बट जब वह अपने घर आती है पेरेंट्स के पास आती है तब बचपना वही जारी रखती हैं जो बचपना पहले होता है क्योंकि वह उनके मां-बाप होते हैं उन्हें पता होता है कि मां-बाप उनको कभी भी गलत में नहीं लेंगे हमेशा आपको सही समझाएंगे बस शादी के बाद ससुराल में वह गंभीर ही रहती हैं खुद को गंभीर ही दिखाती हैं क्योंकि कभी-कभी हस्बैंड भी बहुत ऐसे होते हैं जो गलतफहमी पाल लेते हैं गलत समझने लगते हैं उनको लगता है मैंने इनमें जो लड़की से शादी की है इसको अकल नहीं है या वह हर बात में गिराना डांटना डोंट माना की सूची से करने लगते हैं जो कि गलत है और इसमें दे यह भी रीजन है कि लड़कियां जो है कहीं ना कहीं गंभीर हो जाती है क्योंकि रिस्पांस और इस चीज का टेंशन की को उनके मां-बाप को कुछ कही ना उनको भी कुछ ना कहें उनकी कोई बुराई ना करें ठीक है तो इस वजह से भी वह गंभीर होने लगती और अपने को वक्त के साथ सब बदल लेते हैं और जब मां बनती है तो और ज्यादा गंभीर होने लगती है क्योंकि रिस्पांसिबिलिटी उनके और बढ़ जाती है तो जैसे तैसे लाइफ आगे बढ़ती रहती है तो सुनसान समझने लगता है जाने लगता है और लाइफ में प्रदर्शित होने लगता है क्यों लाइट को समझने लगता कि अब स्कूल लाइफ आगे कैसे जीनी है ठीक है उनको किन-किन बातों का ध्यान रखना है इसका रीजन यही होता है वह अलग-अलग फ्रेश होते हैं लाइफ की गर्ल्स की लाइफ में भी अलग अलग फेस में खुद को पैसे डाल दी जाती है और यही होता है कि वह जब तक पहुंचती है तो उनके पास बहुत नॉलेज होती है इसीलिए तो कहते हैं ना कि दादी और नानी को इतनी नॉलेज है तो इसलिए होती क्लिक बचपन से हूं वह नॉलेज अगेन करती रहती है ओल्ड अजमेर के पास
Shaadee ke pahale kee chulabulee hansatee khelatee ladakee shaadee ke baad gambheer kyon ho jaatee hai to dekhie aur isake jo tyooshan hote hain shaadee ke baad bahut see rispaansibilitee aatee hai theek hai insaan jo hai dheere-dheere mein choron ne lagata hai vah baaton ko samajh nahin lagata hai vah samajh nahin lagata hai ki agar vah koee bhee step uthaega to aisa na ho ki usake maan-baap ko koee kuchh kahe log kahenge achchha maan-baap ne yahee sanskaar die honge iseelie kar rahee hai ya isakee maan ne hee sikhaaya hoga isalie kar rahee hai jo jo roodhivaadee log bolate hain to ladakiyon ko thoda bahut yah sochana padata hai ki vah koee aisa kaam na karen galatee se bhee bhool se bhee ki unakee paravarish par ya unake maan-baap ko ya aisa koee bhee savaal uthe jo vah sunana paaya vah cheej hai laiph mein usako kar na pae sah na pae theek hai hamen ki ham un cheejon se katane lagate hain door bhaagane lagate hain aur jo hamaara bachapana hota hai aisa nahin hai ki bachapana khatm ho jaata bachcha hota hai bat jab vah apane ghar aatee hai perents ke paas aatee hai tab bachapana vahee jaaree rakhatee hain jo bachapana pahale hota hai kyonki vah unake maan-baap hote hain unhen pata hota hai ki maan-baap unako kabhee bhee galat mein nahin lenge hamesha aapako sahee samajhaenge bas shaadee ke baad sasuraal mein vah gambheer hee rahatee hain khud ko gambheer hee dikhaatee hain kyonki kabhee-kabhee hasbaind bhee bahut aise hote hain jo galataphahamee paal lete hain galat samajhane lagate hain unako lagata hai mainne inamen jo ladakee se shaadee kee hai isako akal nahin hai ya vah har baat mein giraana daantana dont maana kee soochee se karane lagate hain jo ki galat hai aur isamen de yah bhee reejan hai ki ladakiyaan jo hai kaheen na kaheen gambheer ho jaatee hai kyonki rispaans aur is cheej ka tenshan kee ko unake maan-baap ko kuchh kahee na unako bhee kuchh na kahen unakee koee buraee na karen theek hai to is vajah se bhee vah gambheer hone lagatee aur apane ko vakt ke saath sab badal lete hain aur jab maan banatee hai to aur jyaada gambheer hone lagatee hai kyonki rispaansibilitee unake aur badh jaatee hai to jaise taise laiph aage badhatee rahatee hai to sunasaan samajhane lagata hai jaane lagata hai aur laiph mein pradarshit hone lagata hai kyon lait ko samajhane lagata ki ab skool laiph aage kaise jeenee hai theek hai unako kin-kin baaton ka dhyaan rakhana hai isaka reejan yahee hota hai vah alag-alag phresh hote hain laiph kee garls kee laiph mein bhee alag alag phes mein khud ko paise daal dee jaatee hai aur yahee hota hai ki vah jab tak pahunchatee hai to unake paas bahut nolej hotee hai iseelie to kahate hain na ki daadee aur naanee ko itanee nolej hai to isalie hotee klik bachapan se hoon vah nolej agen karatee rahatee hai old ajamer ke paas

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Rajeev Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rajeev जी का जवाब
Student
1:10
हेलो दोस्तों हमारा आज का प्रश्न है कि शादी से पहले की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद कर देना समझ आती है आपकी शादी हो चुकी है उनकी वाइफ का दिवाली कैसी लायक नहीं चाहिए ऐसा प्यार होगा सब कुछ पता नहीं होता तो उसने बोला कि शादीशुदा सीमा भाभी देवर के रूप में भाई मिलता है भाई ग्रुप में जुड़े मिलते हैं सास के रूप में माफ किया जा सके हमको ऐसा कुछ पता नहीं चलता है
Helo doston hamaara aaj ka prashn hai ki shaadee se pahale kee hastee khelatee chulabulee ladakee shaadee ke baad kar dena samajh aatee hai aapakee shaadee ho chukee hai unakee vaiph ka divaalee kaisee laayak nahin chaahie aisa pyaar hoga sab kuchh pata nahin hota to usane bola ki shaadeeshuda seema bhaabhee devar ke roop mein bhaee milata hai bhaee grup mein jude milate hain saas ke roop mein maaph kiya ja sake hamako aisa kuchh pata nahin chalata hai

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Aditya Dangayach  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Aditya जी का जवाब
Student
1:35
आ जाना चाहते हैं कि शादी की पहली की हस्तियों के चुलबुले लड़की शादी के बाद कबीर क्यों हो जाती है कई बार हमने देखा होगा हमारे आसपास या फिर हमारे परिवार में जो लड़की शादी से पहले हंसती खेलती चलती रहती थी काफी ज्यादा अपने सपनों की उड़ान भरा करती थी वह लड़की शादी के बाद अचानक से कमजोर हो जाती है क्या जाने से 1 तारीख तक रियलिटी के अंदर घुस जाती है एप्स ऐसा क्यों है ऐसा क्या हुआ उनके साथ कि वह दूसरी लड़की का चेहरा ही बदल गया इसका सबसे बड़ा कारण है कि जिम्मेदारी जब हम छोटे होते हैं जब हमारी शादी नहीं हुई होती है तो सब तुम्हारे पास इतनी सारी जिम्मेदारी नहीं होती कि हमें अपने को संभालना है हमें अपने परिवार को संभाल के मतलब यह होता है कि हमारे पास जिम्मेदारी है कम होती है लेकिन लेकिन जब होगी जब हम शादी करते थे यह लड़का और लड़की दोनों के लिए होता है कि दोनों पर हमले के जिम्मेदार रेखा से मरने के बाद आपकी बड़ी जिम्मेदारी होती है इसी वजह से ऐसा लगता है कि अब हम दो हमारे सपने पूरे नहीं कर पाएंगे तो किसी चीज से फुर्सत नहीं मिलेगी बाकी अपनी कैसे पूरा करेंगे इसलिए वह पर हो जाती है बाद में गंभीरता होने लगती है कि वह अब काफी गंभीर हो जाती है तो आपको मेरा प्रश्न समझ आया होगा और सवालों के जवाब पाने के लिए टाइप करें धन्यवाद
Aa jaana chaahate hain ki shaadee kee pahalee kee hastiyon ke chulabule ladakee shaadee ke baad kabeer kyon ho jaatee hai kaee baar hamane dekha hoga hamaare aasapaas ya phir hamaare parivaar mein jo ladakee shaadee se pahale hansatee khelatee chalatee rahatee thee kaaphee jyaada apane sapanon kee udaan bhara karatee thee vah ladakee shaadee ke baad achaanak se kamajor ho jaatee hai kya jaane se 1 taareekh tak riyalitee ke andar ghus jaatee hai eps aisa kyon hai aisa kya hua unake saath ki vah doosaree ladakee ka chehara hee badal gaya isaka sabase bada kaaran hai ki jimmedaaree jab ham chhote hote hain jab hamaaree shaadee nahin huee hotee hai to sab tumhaare paas itanee saaree jimmedaaree nahin hotee ki hamen apane ko sambhaalana hai hamen apane parivaar ko sambhaal ke matalab yah hota hai ki hamaare paas jimmedaaree hai kam hotee hai lekin lekin jab hogee jab ham shaadee karate the yah ladaka aur ladakee donon ke lie hota hai ki donon par hamale ke jimmedaar rekha se marane ke baad aapakee badee jimmedaaree hotee hai isee vajah se aisa lagata hai ki ab ham do hamaare sapane poore nahin kar paenge to kisee cheej se phursat nahin milegee baakee apanee kaise poora karenge isalie vah par ho jaatee hai baad mein gambheerata hone lagatee hai ki vah ab kaaphee gambheer ho jaatee hai to aapako mera prashn samajh aaya hoga aur savaalon ke javaab paane ke lie taip karen dhanyavaad

bolkar speaker
शादी की पहली की हस्ती खेलती चुलबुली लड़की शादी के बाद गंभीर क्यों हो जाती है?Shadi Ki Pehli Ki Hasti Khelti Chulbuli Ladki Shadi Ke Baad Gambheer Kyun Ho Jati Hai
Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
4:58
शादी से पहले लड़की अपने माता-पिता के घर में रहते हैं बहुत देखभाल होती है उसकी बहुत डांस होते बहुत अच्छे तरीके से हमारे पिता उसका ख्याल रखते हैं उसको पाल पोस कर बड़ा करते हैं प्रयास करते हैं कि उसे किसी चीज की कमी ना हो और उसकी छोटी बड़ी इच्छाओं की पूर्ति के लिए प्रयास करते हैं एक बेहतर जीवन देने का प्रयास करते हैं उसको महफूज रखने का प्रयास करते हैं चिंता बनी रहती है किसकी शादी किस लड़के से किस घर परिवार में हो इसका भी वह ख्याल रखते हैं सही समय पर शादी हो जाए इसका भी ख्याल रखते हैं वगैरा-वगैरा यह सब माता-पिता बच्चे के बारे में सोचते हैं लड़की के बारे में सोचते हैं और इसलिए लड़कों के बारे में भी सोचते हैं और जब शादी हो जाती है ना तो वही लड़की जो अपने घर में ऐड हो आती थी खेलती थी चुलबुली सी चीज जो आप बता रहे हैं तो जल्दी होता ही है कि शादी के बाद एक लड़की अपने घर को जहां पर उसने आप 18 साल 20 साल 25 साल बिताए हैं वह छोड़ कर जब दूसरे घर में जाते हैं चाहे वह अरेंज मैरिज हो या लव मैरिज हो जो भी कोई तरीके से हो जग्गू जाते हैं और दूसरे घर परिवार में तो उसको नया परिवार मिलता है हस्बैंड भी देखा जाए तो एक अनजान व्यक्ति है जिससे उसकी शादी हुई है इनको हम थोड़ी समय से जानते हैं उनके साथ शादी हुई है वहां जा रहे हैं सही बात है वहां का वातावरण वहां के लोगों की दृष्टिकोण मानसिकता और वहां के घर की इकनोमिक फाइनेंसियल कंडीशन वहां के घर का अनुपात और तरीका बहुत सारी चीजें आ जाती है जो उसको अपनाना पड़ता है देखना पड़ता है एडजस्ट करना पड़ता है और कहानी वहां पर ठीक नहीं होती है मान लीजिए पंचशील पार्क में हेल्थ रिलेटेड प्रॉब्लम में आ किसी और बात का थाना में माहौल सही नहीं है तो जैसे निकली अब उसको यह लगता है कि आप कैसे मैनेज किया जाए क्या किया जाए तो डेफिनिटी वह जो लड़की वहां पर अपने घर में चुलबुली सी थी अब बेफिक्र थी क्योंकि माता पिता थे ना उसको जानते थे कि मैं इसका स्वभाव ऐसा ही ऐसी है वैसी है लेकिन यहां पर यह कोई भी चीज जो आपने अपनी मनमानी नहीं कर सकती है उसको सोच समझ कर काम करना पड़ता है बात करना पड़ता है व्यवहार करना पड़ता है क्योंकि कहीं कोई बात किसी को बुरी ना लग जाए वहां पर तो माता-पिता थे तो कोई फर्क नहीं पड़ता वह जानते हैं कि यह भोलेपन में बोल रही है या यह हंसी मजाक करी है वगैरा-वगैरा यहां पर तो शायद अब आप दूसरी तरह से ली जा सकती है वहां पर उठने का समय खाने का समय रहन-सहन तक शीशा लगता यहां पर अलग हो सकता है बातें बाहर अलग हो सकते हैं तो परिवर्तन आ जाता है और यह परिवर्तन अगर गंभीर अवस्था में या परिस्थिति में या उस परिवार में और जहां पर जीवों का थोड़ा अभाव होता है या जहां पर ईगो लोगों में ज्यादा होती है वहां पर थोड़ा और कठिन हो जाता है तो वह लड़की के लिए थोड़ा दिक्कत हो जाता है तो डेफिनेटली उसका समय पूछने में भी जाता है अपने आप को रखने में मैनेज करने में लोगों को देखने में सबको साथ लेकर चलने में इन सब में जाता है और उसका पर आते रहता है कि उसका विरोध और जो भी कार्य हो वह उचित होता कि किससे किसी कारण से किसी को कोई दुख तकलीफ परेशानी ना हो तो यह सो जाती है और ऐसा होता है जनरल की थोड़ी गंभीर हो जाती है लेकिन ऐसा भी नहीं होता कि हर जगह हर समय लड़की का वीडियो जाती है घर परिवार हस्बैंड सब लोग अगर ठीक-ठाक है माहौल अच्छा है तो भैया भर ही पैसे उतने ना हो रहे थे क्योंकि भाई एक-एक घर में रौनक पैसों के कारण भी होती है क्योंकि पैसे से कई सारी चीजें आती हैं तो अब ना हो तो भी अगर बहुत अच्छा है लोगों का लोगों की सोच अच्छी है व्यवहार अच्छा है तो डेफिनेटली लेना अच्छे से ठीक ठाक रहती हैं रह सकती हैं तो मैं प्रयास करना चाहिए कि वह लड़की जो दूसरे दूसरे के घर से आती है उसको वह माहौल दिया जाए और है और उसको इस तरीके से ना दिया जाए देखा जाए कि वह यह लो यह तो बहू है तो यह है तो वह है ऐसा ऐसा है कहानी उसका यह सब कुछ नहीं है बस सिंपल सी बात है आपने उसको एक्सेप्ट किया है आप उसको इनफॉर्मली अपने घर में लेकर आए हैं एक पवित्र बंधन में वह बंद किया है यह और भी उसकी देखभाल करना उसका ख्याल रखना यह भी जिम्मेदारी है घर के हर एक सदस्य की जिम्मेदारी है तो इस तरीके से रखना चाहिए और लड़की का भी फर्ज बनता है कि वह अनुचित व्यवहार करें आज सही तरीके से रहें और जीवन को और सुख में बनाएं
Shaadee se pahale ladakee apane maata-pita ke ghar mein rahate hain bahut dekhabhaal hotee hai usakee bahut daans hote bahut achchhe tareeke se hamaare pita usaka khyaal rakhate hain usako paal pos kar bada karate hain prayaas karate hain ki use kisee cheej kee kamee na ho aur usakee chhotee badee ichchhaon kee poorti ke lie prayaas karate hain ek behatar jeevan dene ka prayaas karate hain usako mahaphooj rakhane ka prayaas karate hain chinta banee rahatee hai kisakee shaadee kis ladake se kis ghar parivaar mein ho isaka bhee vah khyaal rakhate hain sahee samay par shaadee ho jae isaka bhee khyaal rakhate hain vagaira-vagaira yah sab maata-pita bachche ke baare mein sochate hain ladakee ke baare mein sochate hain aur isalie ladakon ke baare mein bhee sochate hain aur jab shaadee ho jaatee hai na to vahee ladakee jo apane ghar mein aid ho aatee thee khelatee thee chulabulee see cheej jo aap bata rahe hain to jaldee hota hee hai ki shaadee ke baad ek ladakee apane ghar ko jahaan par usane aap 18 saal 20 saal 25 saal bitae hain vah chhod kar jab doosare ghar mein jaate hain chaahe vah arenj mairij ho ya lav mairij ho jo bhee koee tareeke se ho jaggoo jaate hain aur doosare ghar parivaar mein to usako naya parivaar milata hai hasbaind bhee dekha jae to ek anajaan vyakti hai jisase usakee shaadee huee hai inako ham thodee samay se jaanate hain unake saath shaadee huee hai vahaan ja rahe hain sahee baat hai vahaan ka vaataavaran vahaan ke logon kee drshtikon maanasikata aur vahaan ke ghar kee ikanomik phainensiyal kandeeshan vahaan ke ghar ka anupaat aur tareeka bahut saaree cheejen aa jaatee hai jo usako apanaana padata hai dekhana padata hai edajast karana padata hai aur kahaanee vahaan par theek nahin hotee hai maan leejie panchasheel paark mein helth rileted problam mein aa kisee aur baat ka thaana mein maahaul sahee nahin hai to jaise nikalee ab usako yah lagata hai ki aap kaise mainej kiya jae kya kiya jae to dephinitee vah jo ladakee vahaan par apane ghar mein chulabulee see thee ab bephikr thee kyonki maata pita the na usako jaanate the ki main isaka svabhaav aisa hee aisee hai vaisee hai lekin yahaan par yah koee bhee cheej jo aapane apanee manamaanee nahin kar sakatee hai usako soch samajh kar kaam karana padata hai baat karana padata hai vyavahaar karana padata hai kyonki kaheen koee baat kisee ko buree na lag jae vahaan par to maata-pita the to koee phark nahin padata vah jaanate hain ki yah bholepan mein bol rahee hai ya yah hansee majaak karee hai vagaira-vagaira yahaan par to shaayad ab aap doosaree tarah se lee ja sakatee hai vahaan par uthane ka samay khaane ka samay rahan-sahan tak sheesha lagata yahaan par alag ho sakata hai baaten baahar alag ho sakate hain to parivartan aa jaata hai aur yah parivartan agar gambheer avastha mein ya paristhiti mein ya us parivaar mein aur jahaan par jeevon ka thoda abhaav hota hai ya jahaan par eego logon mein jyaada hotee hai vahaan par thoda aur kathin ho jaata hai to vah ladakee ke lie thoda dikkat ho jaata hai to dephinetalee usaka samay poochhane mein bhee jaata hai apane aap ko rakhane mein mainej karane mein logon ko dekhane mein sabako saath lekar chalane mein in sab mein jaata hai aur usaka par aate rahata hai ki usaka virodh aur jo bhee kaary ho vah uchit hota ki kisase kisee kaaran se kisee ko koee dukh takaleeph pareshaanee na ho to yah so jaatee hai aur aisa hota hai janaral kee thodee gambheer ho jaatee hai lekin aisa bhee nahin hota ki har jagah har samay ladakee ka veediyo jaatee hai ghar parivaar hasbaind sab log agar theek-thaak hai maahaul achchha hai to bhaiya bhar hee paise utane na ho rahe the kyonki bhaee ek-ek ghar mein raunak paison ke kaaran bhee hotee hai kyonki paise se kaee saaree cheejen aatee hain to ab na ho to bhee agar bahut achchha hai logon ka logon kee soch achchhee hai vyavahaar achchha hai to dephinetalee lena achchhe se theek thaak rahatee hain rah sakatee hain to main prayaas karana chaahie ki vah ladakee jo doosare doosare ke ghar se aatee hai usako vah maahaul diya jae aur hai aur usako is tareeke se na diya jae dekha jae ki vah yah lo yah to bahoo hai to yah hai to vah hai aisa aisa hai kahaanee usaka yah sab kuchh nahin hai bas simpal see baat hai aapane usako eksept kiya hai aap usako inaphormalee apane ghar mein lekar aae hain ek pavitr bandhan mein vah band kiya hai yah aur bhee usakee dekhabhaal karana usaka khyaal rakhana yah bhee jimmedaaree hai ghar ke har ek sadasy kee jimmedaaree hai to is tareeke se rakhana chaahie aur ladakee ka bhee pharj banata hai ki vah anuchit vyavahaar karen aaj sahee tareeke se rahen aur jeevan ko aur sukh mein banaen

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • चुलबुली लड़की, शादी की पहली की हस्ती
URL copied to clipboard