#undefined

bolkar speaker

एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?

Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam जी का जवाब
Student
1:39

और जवाब सुनें

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
RAJESH KUMAR PANDEY Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए RAJESH जी का जवाब
Director of Study Gateway+
0:28

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
पुरुषोत्तम सोनी Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए पुरुषोत्तम जी का जवाब
साहित्यकार, समीक्षक, संपादक पूर्व अधिकारी विजिलेंस
0:49

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:41

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
pushpanjali patel Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए pushpanjali जी का जवाब
Student with micro finance bank employee
1:08

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
6:58

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Dinesh Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Ji
1:29

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:10

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
umashankar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए umashankar जी का जवाब
Farmer
0:56

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Vikas Sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Vikas जी का जवाब
Student
1:13

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Nav kishor Aggarwal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Nav जी का जवाब
Service
1:17
हेलो फ्रेंड्स आप का सवाल है कि एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है अच्छा सवाल है आपका देखिए गरीबी तो पहले ही एक अभिशाप है ऊपर से अगर बच्चे ज्यादा हो तो समझ लीजिए कोढ़ में खाज या नहीं पहले तो गरीब है उसके बाद उसे अब अपना तो पेट पालने की पालना साथ में अपने बच्चों का भी पालना है तो बड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ता है और इसके लिए मैं तो यही राय दूंगा कि गरीब व्यक्ति मेहनत करें और कोशिश करें कि जितनी वह कर सकता है उससे ज्यादा करने की कोशिश करें अगर उसका शरीर अलाउड करता है तो अगर वह शिक्षा में तो थोड़ा मेहनत ज्यादा करें भगवान कभी ना कभी उसे कामयाब बनाएगा उसके बच्चे पढ़ लिख जाएंगे अपने बच्चों को अच्छे संस्कार दे उनको समझाया कि देखो बेटा हमने आपको कैसे गरीबी में अपना पेट काट काट कर के आप को पढ़ाया लिखाया आपको इस काबिल बनाया क्या कुछ कमा सको आगे चलकर के जब बच्चे कमाने लग जाएंगे तो धीरे-धीरे उसके परेशानी उसकी गरीबी अपने आप ही दूर हो जाएगी लेकिन उस वक्त और संयम कोई ऐसा काम ना करें जो आगे चलकर के उसके लिए या उसके बच्चों के लिए नुकसानदेह साबित हो कोई क्राइम ना करें मेहनत से ईमानदारी से अपने कर्म को किए जाए भगवान भूखे उठाते जरूर है लेकिन भूखे सुलाते नहीं है यह कहावत है उम्मीद करता हूं आप जवाब अच्छा लगेगा धन्यवाद
Helo phrends aap ka savaal hai ki ek gareeb vyakti apane bachchon ka pet paalane ke lie kis had tak ja sakata hai achchha savaal hai aapaka dekhie gareebee to pahale hee ek abhishaap hai oopar se agar bachche jyaada ho to samajh leejie kodh mein khaaj ya nahin pahale to gareeb hai usake baad use ab apana to pet paalane kee paalana saath mein apane bachchon ka bhee paalana hai to badee dikkat ka saamana karana padata hai aur isake lie main to yahee raay doonga ki gareeb vyakti mehanat karen aur koshish karen ki jitanee vah kar sakata hai usase jyaada karane kee koshish karen agar usaka shareer alaud karata hai to agar vah shiksha mein to thoda mehanat jyaada karen bhagavaan kabhee na kabhee use kaamayaab banaega usake bachche padh likh jaenge apane bachchon ko achchhe sanskaar de unako samajhaaya ki dekho beta hamane aapako kaise gareebee mein apana pet kaat kaat kar ke aap ko padhaaya likhaaya aapako is kaabil banaaya kya kuchh kama sako aage chalakar ke jab bachche kamaane lag jaenge to dheere-dheere usake pareshaanee usakee gareebee apane aap hee door ho jaegee lekin us vakt aur sanyam koee aisa kaam na karen jo aage chalakar ke usake lie ya usake bachchon ke lie nukasaanadeh saabit ho koee kraim na karen mehanat se eemaanadaaree se apane karm ko kie jae bhagavaan bhookhe uthaate jaroor hai lekin bhookhe sulaate nahin hai yah kahaavat hai ummeed karata hoon aap javaab achchha lagega dhanyavaad

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Pankaj Chauhan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Pankaj जी का जवाब
private job
0:23

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Dinesh Kumar mahi Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Dinesh जी का जवाब
Students life
2:21
नया गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जाता है दोस्तों में बता दो कि एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किसी भी हद तक जाता है चाहे उसको कोई कठिन परिश्रम क्यों ना करना पड़े वह कर लेता है चाहे उसको 50 केजी का वजन क्यों ना उठाना पड़े वह 12:00 13 घंटा काम कर लेता अपने बच्चों के लिए वह सोचता अगर हम यह काम नहीं करेंगे तो मेरे बच्चे कहां से खाएगा इतना ही नहीं इसके और काम करके आओ ओवरटाइम में करता जिससे कि एक्स्ट्रा पैसा आता है वह पैसा अपने बच्चे को ऊपर खर्च कर खर्च करता है ताकि जो हम काम कर रहे हैं दिन हमारे बच्चों को देखना ना पड़े इसके भविष्य ब्राइट करने के लिए वह व्यक्ति अलग से पैसा कमा कर उन बच्चों को ऊपर खर्च करता और उसको पर आता भी है और गरीब व्यक्ति को कोई भी काम मिल जाएगा कितना बे कठोर काम क्यों ना मिल जाए वह पीठ नहीं दिखाता है वह काम करने के लिए हमेशा आगे होता है वह सोचता अगर हम यह काम नहीं करेंगे तो मेरे बच्चे भूखे रह जाएंगे अपने शरीर को नहीं देखता अपने शरीर इतना मेहनत कर कर के अपना शरीर को लोहा बना ले बना लेता है कि हाथ में छाले पड़ जाते हैं वह सोचते हैं अगर हम गरीब है भले ही हैं आपने कमाई से अपने बच्चों को पा लेंगे पहुंचेंगे एक दिन उनको पढ़ाएंगे लिख आएंगे वह जरूर मेरा नाम रोशन करेगा और उसको ऐसा दिन देखने को नहीं मिलेगा जो से कम हम कठिन परिश्रम कर रहे हैं वह उसको ऐसा दिन देखने को ना मिले और वह पढ़ाई करें वह पढ़ लिखके कोई अच्छा डॉक्टर इंजीनियर बन जाए तो आराम से बैठ कर खा सकता है गरीब लोग बस यही सब समझता है और उसको यह सब काम करने के लिए उसका घर का हालात मजबूर कर देता है काम करने के लिए दोस्त है इसलिए उसको इस हद तक जाना पड़ता है तेरा जितना खींचता है उसमें उतना ही चमक आता है क्योंकि गरीब व्यक्ति अपने काम से कभी पीठ नहीं दिखाते वह सोचते हैं काम कोई भारी क्यों ना हो उससे हम पेट नहीं दिखाएंगे अपना बच्चे के लिए करेंगे काम था कि मेरे बच्चे अच्छे से खा सके अच्छे से कपड़े पहन सके अच्छा खाना खाए और घर में रहे और पढ़ाई करे तंदुरुस्त रहे बीमार ना हो उसका पूरा मैच मैच करता है दोस्तों अमित करते हैं प्रश्न का जवाब नहीं मिला होगा धन्यवाद
Naya gareeb vyakti apane bachchon ka pet paalane ke lie kis had tak jaata hai doston mein bata do ki ek gareeb vyakti apane bachchon ka pet paalane ke lie kisee bhee had tak jaata hai chaahe usako koee kathin parishram kyon na karana pade vah kar leta hai chaahe usako 50 kejee ka vajan kyon na uthaana pade vah 12:00 13 ghanta kaam kar leta apane bachchon ke lie vah sochata agar ham yah kaam nahin karenge to mere bachche kahaan se khaega itana hee nahin isake aur kaam karake aao ovarataim mein karata jisase ki ekstra paisa aata hai vah paisa apane bachche ko oopar kharch kar kharch karata hai taaki jo ham kaam kar rahe hain din hamaare bachchon ko dekhana na pade isake bhavishy brait karane ke lie vah vyakti alag se paisa kama kar un bachchon ko oopar kharch karata aur usako par aata bhee hai aur gareeb vyakti ko koee bhee kaam mil jaega kitana be kathor kaam kyon na mil jae vah peeth nahin dikhaata hai vah kaam karane ke lie hamesha aage hota hai vah sochata agar ham yah kaam nahin karenge to mere bachche bhookhe rah jaenge apane shareer ko nahin dekhata apane shareer itana mehanat kar kar ke apana shareer ko loha bana le bana leta hai ki haath mein chhaale pad jaate hain vah sochate hain agar ham gareeb hai bhale hee hain aapane kamaee se apane bachchon ko pa lenge pahunchenge ek din unako padhaenge likh aaenge vah jaroor mera naam roshan karega aur usako aisa din dekhane ko nahin milega jo se kam ham kathin parishram kar rahe hain vah usako aisa din dekhane ko na mile aur vah padhaee karen vah padh likhake koee achchha doktar injeeniyar ban jae to aaraam se baith kar kha sakata hai gareeb log bas yahee sab samajhata hai aur usako yah sab kaam karane ke lie usaka ghar ka haalaat majaboor kar deta hai kaam karane ke lie dost hai isalie usako is had tak jaana padata hai tera jitana kheenchata hai usamen utana hee chamak aata hai kyonki gareeb vyakti apane kaam se kabhee peeth nahin dikhaate vah sochate hain kaam koee bhaaree kyon na ho usase ham pet nahin dikhaenge apana bachche ke lie karenge kaam tha ki mere bachche achchhe se kha sake achchhe se kapade pahan sake achchha khaana khae aur ghar mein rahe aur padhaee kare tandurust rahe beemaar na ho usaka poora maich maich karata hai doston amit karate hain prashn ka javaab nahin mila hoga dhanyavaad

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Sameera khaan Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Sameera जी का जवाब
Unknown
0:24
आपका सवाल है एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पाने के लिए किस हद तक जा सकता है गरीब व्यक्ति के पास उसका कुछ अपने बच्चों का पेट पाने के लिए किसी की भी कैसी भी गुलामी करने को तैयार हो जाते
Aapaka savaal hai ek gareeb vyakti apane bachchon ka pet paane ke lie kis had tak ja sakata hai gareeb vyakti ke paas usaka kuchh apane bachchon ka pet paane ke lie kisee kee bhee kaisee bhee gulaamee karane ko taiyaar ho jaate

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
Gopal rana Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Gopal जी का जवाब
Unknown
0:48
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों को पेट पालने के लिए हर सीमा हर हर कठिनाइयों का सामना करते हुए अपने बच्चों का भरण पोषण करता है अपने आपको इतना जोश में पड़ता है उसको कि जीवन के हर कठिनाइयों के लिए अपने बच्चों के लिए सारी खुशी त्याग कर देता है एक एग्जांपल के तौर पर देखेंगे 11 रिक्शावाला का उनके परिवार में जब वह रिक्शा चलाता हूं 2 दिन भर पसीना करके हद से हद हो या ₹300 कमा पाता है जिससे वह हर प्रकार की संभावना को तो नहीं दे सकता लेकिन दो वक्त की रोटी तो निकाल सकते हैं
Ek gareeb vyakti apane bachchon ko pet paalane ke lie har seema har har kathinaiyon ka saamana karate hue apane bachchon ka bharan poshan karata hai apane aapako itana josh mein padata hai usako ki jeevan ke har kathinaiyon ke lie apane bachchon ke lie saaree khushee tyaag kar deta hai ek egjaampal ke taur par dekhenge 11 rikshaavaala ka unake parivaar mein jab vah riksha chalaata hoon 2 din bhar paseena karake had se had ho ya ₹300 kama paata hai jisase vah har prakaar kee sambhaavana ko to nahin de sakata lekin do vakt kee rotee to nikaal sakate hain

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
nitu Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए nitu जी का जवाब
Online Store
0:21

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
भारत बनेगा स्वर्ग नमामि गंगे Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए भारत जी का जवाब
रेस्टोरेंट में मुनीम के पद पर कार्यरत
2:46
आपका सवाल एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है बताना चाहूंगा कि हाय रे गरीबी यह गरीबी से दो काम होते हैं एक तो आदमी अगर जरूरी है तो अगर वह समझदार है तो गरीबी और अमीरी गरीबी अमीरी इन थे दोपहर कर्म के फल होते हैं अगर आपके कर्म करते कुछ करीबी दोहे कहते हैं दादा लाई है कि पिता गरीब का बेटा गरीब है या बेटा गरीब है तो आगे चलकर अमीर भी बनेगा तो दो पहलू हैं और पेट पालन किया जा सकता है यह तो मैं कहूंगा गरीब आदमी कभी आदमी जो है चोरी नहीं करेगा अगर गरीब है दिल का गरीब नहीं है दिल का अमीर तो कभी चोरी नहीं करेगा अपने बच्चों के खातिर अपना भूखा रह लेगा अपने आप भूखा सोएगा 12 घंटे ड्यूटी कर दो 18 घंटे रात दिन एक कर देगा लेकिन चोरी नहीं करेगा गरीब आदमी कभी चोरी याद नहीं करता है कितनी छोरियां जितना भ्रष्टाचार करते हो सब पैसे वालों का कुछ गरीब ऐसे होते हैं जो जानबूझकर गरीबन रहे हो काम ही नहीं करना चाहते तो गरीब हो जाएंगे पैसे होते तो देश के गद्दारों के आगे चलके दरिया नहीं आ रही है और एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट तो बिल्कुल करीब है ही तो बेचारा सब कुछ करता है राजन मजबूरी करेगा जैसा आप कहें वैसा काम करेगा लेकिन मैं अपने बच्चों का पेट पाने के लिए छोटे थे तब करेगा जब अगर वह किसी के काम करता है उसके काम करने के पैसे ना मिलते हैं वह नहीं देता है उसने मेहनत करी उसका बच्चा भूखा प्यासा चिल्ला रहा है उसे पता भूखा है तो उसे गाड़ी में मजबूरी में चोरी की आदत भी जा सकता है वह मजबूर हो जाएगा गरीब इंसान अपने बच्चों वाले ने बहुत कुछ कर देता है
Aapaka savaal ek gareeb vyakti apane bachchon ka pet paalane ke lie kis had tak ja sakata hai bataana chaahoonga ki haay re gareebee yah gareebee se do kaam hote hain ek to aadamee agar jarooree hai to agar vah samajhadaar hai to gareebee aur ameeree gareebee ameeree in the dopahar karm ke phal hote hain agar aapake karm karate kuchh kareebee dohe kahate hain daada laee hai ki pita gareeb ka beta gareeb hai ya beta gareeb hai to aage chalakar ameer bhee banega to do pahaloo hain aur pet paalan kiya ja sakata hai yah to main kahoonga gareeb aadamee kabhee aadamee jo hai choree nahin karega agar gareeb hai dil ka gareeb nahin hai dil ka ameer to kabhee choree nahin karega apane bachchon ke khaatir apana bhookha rah lega apane aap bhookha soega 12 ghante dyootee kar do 18 ghante raat din ek kar dega lekin choree nahin karega gareeb aadamee kabhee choree yaad nahin karata hai kitanee chhoriyaan jitana bhrashtaachaar karate ho sab paise vaalon ka kuchh gareeb aise hote hain jo jaanaboojhakar gareeban rahe ho kaam hee nahin karana chaahate to gareeb ho jaenge paise hote to desh ke gaddaaron ke aage chalake dariya nahin aa rahee hai aur ek gareeb vyakti apane bachchon ka pet to bilkul kareeb hai hee to bechaara sab kuchh karata hai raajan majabooree karega jaisa aap kahen vaisa kaam karega lekin main apane bachchon ka pet paane ke lie chhote the tab karega jab agar vah kisee ke kaam karata hai usake kaam karane ke paise na milate hain vah nahin deta hai usane mehanat karee usaka bachcha bhookha pyaasa chilla raha hai use pata bhookha hai to use gaadee mein majabooree mein choree kee aadat bhee ja sakata hai vah majaboor ho jaega gareeb insaan apane bachchon vaale ne bahut kuchh kar deta hai

bolkar speaker
एक गरीब व्यक्ति अपने बच्चों का पेट पालने के लिए किस हद तक जा सकता है?Ek Gareeb Vyakti Apne Bacho Ka Pet Paalne Ke Lie Kis Had Tak Ja Sakta Hai
murari lal meena Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए murari जी का जवाब
Unknown
0:29

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • गरीब व्यक्ति,गरीब व्यक्ति बना अमीर
URL copied to clipboard