#undefined

bolkar speaker

चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?

Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
0:34
सवाल यह है कि चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने की व्यवहारिक तरीके कौन से हैं चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के लिए आप सबसे पहले खुश रहना सीखें क्योंकि खुशी चेहरे की सुंदरता में चार चांद लगा देती है एक रंग रूप ही चेहरा अब अपनी मासूम मुस्कान से सबका मन मोह लेती है आप वर्कआउट और व्यायाम जरूर करें क्योंकि जो पसीना हमारे शरीर से पसीना निकलता है पर पसीना बॉडी की 20% गंदगी को निकाल देता है जिससे चेहरा और बॉडी निखर कर आती है
Savaal yah hai ki chehare ka saundary badhaane kee vyavahaarik tareeke kaun se hain chehare ka saundary badhaane ke lie aap sabase pahale khush rahana seekhen kyonki khushee chehare kee sundarata mein chaar chaand laga detee hai ek rang roop hee chehara ab apanee maasoom muskaan se sabaka man moh letee hai aap varkaut aur vyaayaam jaroor karen kyonki jo paseena hamaare shareer se paseena nikalata hai par paseena bodee kee 20% gandagee ko nikaal deta hai jisase chehara aur bodee nikhar kar aatee hai

और जवाब सुनें

bolkar speaker
चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:51
सुंदरी बढ़ाने की व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं तो आप ले लो मेरा नाम नहीं पता उसका अच्छे ग्वारपाठे कर सकते ग्वारपाठे को आपके घर क्या चीज है उसको थोड़ी उसके अंदर ले पाता है आप उसको अपने चेहरे पर ऊपर लगा सकते हैं इससे क्या होता है चेहरे पर हो काफी अच्छी रौनक मिलते जैतून का इस्तेमाल दोस्तों आप कर सकते हैं इसके अतिरिक्त मार्केट के अंदर आप जाएंगे तो काफी सारे प्रोडक्ट आपको मिल जाएंगे जो चेहरे को सुंदर बनाने का काम करते हैं परंतु वह जो प्रोडक्ट होते हो सके तो आप एलोवेरा का इस्तेमाल कीजिए वह कहीं ज्यादा फायदेमंद रहेगा या हो सके तो केले का छिलका जो होता है उसका जो दिल के अंदर जो सफेद सफेद उसको भी लगा सकते रात्रि के समय तो भी जो सुबह मौत हो गई तो कच्चा चीलोदा
Sundaree badhaane kee vyaavahaarik tareeke kaun-kaun se hain to aap le lo mera naam nahin pata usaka achchhe gvaarapaathe kar sakate gvaarapaathe ko aapake ghar kya cheej hai usako thodee usake andar le paata hai aap usako apane chehare par oopar laga sakate hain isase kya hota hai chehare par ho kaaphee achchhee raunak milate jaitoon ka istemaal doston aap kar sakate hain isake atirikt maarket ke andar aap jaenge to kaaphee saare prodakt aapako mil jaenge jo chehare ko sundar banaane ka kaam karate hain parantu vah jo prodakt hote ho sake to aap elovera ka istemaal keejie vah kaheen jyaada phaayademand rahega ya ho sake to kele ka chhilaka jo hota hai usaka jo dil ke andar jo saphed saphed usako bhee laga sakate raatri ke samay to bhee jo subah maut ho gaee to kachcha cheeloda

bolkar speaker
चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
Divya Singh  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Divya जी का जवाब
Mentor teacher at DoE, Delhi
5:00
नमस्कार साथियों प्रश्न है चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने की व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं देखिए मैं सही मायने में बताओ तो जो मेरे अपने विचार हैं यदि हमारे विचार सुंदर हैं तो चेहरे का सौंदर्य स्वयं बढ़ता है और विचारों को सुंदर और स्वच्छ रख पाना बिल्कुल हमारे हाथों में ही होता है दूसरा है खान-पान जिसमें कि पानी भरपूर मात्रा में पीना और मूत्र के जरिए वेस्ट को बाहर निकाल सकते हम पानी ज्यादा पीते हैं तो वह हमारा स्वभाविक है यह हमें मित्र के लिए जाना होगा और उसी के रूप में हमारे शरीर में जितने भी ऐसे तत्व होते हैं जो विषैले होते हैं वह उस के रूप में शरीर से निष्कासित हो जाते हैं तीसरा होगा वर्कआउट करना एनी श्रम करना अब वह श्रम घर में साफ सफाई करके हो बाहर जहां भी हमारा कार्यक्षेत्र है वहां पर आप जैसा कार्य है उस हिसाब से वह निर्भर करता है कि कितना मारा मेहनत का कार्य है और अगर मेहनत का काम नहीं है बैठने का ही कार्य तो भी अपने कार्य क्षेत्र तक जाने और आने के समय में हम पैदल चलने का अगर प्रावधान कर पाए ऐसा कर पाए कि हम पैदल ज्यादा से ज्यादा चले और है या फिर हम योगा के जरिए भी अपने शरीर से यानी कि पसीना बाहर निकले कुछ भी शर्म हमेशा करें जिसमें हमारे शरीर से पसीना बाहर निकली वह वह करना हो सकता है जिम जाना हो सकता है घर की साफ सफाई हो सकता है और सुबह उठकर जोगिंग के लिए जाना हो सकता है कैसे भी करें प्रतिदिन हमारा पसीना हमारे शरीर से बाहर निकले तो पसीने के थ्रू और उसके थ्रो हमारे मतलब निष्कासन जो है वह विषैले पदार्थों का हो उसके लिए जो पानी की मात्रा जब हम ज्यादा लेते हैं आश्रम हम ज्यादा करते हैं तो हमारे शरीर से पसीना और मूत्र के रूप में काफी विशाल ए चीज है जो है वह निष्कासित हो जाती है विचारों को शुद्ध रखने से हमारे चेहरे का तेज बढ़ता है यह हम अपने आसपास के व्यक्तियों को देखकर महसूस कर पाते हैं जो व्यक्ति सीधा सरल और उच्च विचार वाला होता है उसके चेहरे पर एक भेजो उससे तेज का मतलब केवल गोरेपन से अब से नहीं महसूस करेंगे रंग भले ही पक्का हो लेकिन ना एक तेज होता है ऐसे व्यक्ति के चेहरे पर वही हमें सुंदरता अगर हम असली सुंदरता कहीं तो वह तेज वह विश्वास तो उसका आत्मविश्वास उसका बॉडी लैंग्वेज बॉडी पोस्चर खड़े होने का तरीका बोलने का इनका हर चीज को मिलाकर हम देखे तो सुंदरता होती है सुंदर लेकर जिस क्या बात करें तो चेहरे का सौंदर्य वास्तव में आपके आत्मविश्वास से आता है और जब हमें किसी कार्य को करने की पूरी जानकारी होती है जब हम अपने कार्य को बेहतर ढंग से कर पाते हैं जब हम बिना स्वार्थ के काम करते हैं कई बार हम एक्सपर्ट तो बहुत हैं लेकिन उसको भी हम अपने स्वार्थ के साथ जोड़कर यानी कि हम स्वार्थ सिद्धि के लिए ही अपने एक्सपर्ट इस प्रयोग में लाते हैं किसी सहायता या सहयोग के लिए नहीं तो इस तरह का यह मैंने केवल एक उदाहरण दिया कि जब यह कनिग्नेस यह चला की चतुराई हम करते हैं तो भी हमारा सुंदर है कहीं ना कहीं कम प्रतीत होता है तो लिखिए प्रसाधन जो है जितने भी बाजार में उपलब्ध हैं क्योंकि मैं खुद भी उनको कभी ज्यादा मत ज्यादा क्या कभी प्रयोग ही नहीं करती तो इसी प्रकार अपनी भी कई साथियों को देखती हूं या मेरे जीवन में मैं काफी ऐसे लोगों को आप जॉब करती हूं कि जो बहुत ही सुंदर होते हैं उन्हें बिल्कुल वह नेचुरल रहे हैं कभी उन्होंने इस तरह की कोई कॉस्मेटिक का प्रयोग नहीं किया तो चेहरे पर सौंदर्य लाने के यही तरीके मेरी समझ में पर्याप्त हैं और योगा करिए श्रम कीजिए खुश रहिए एक ही तो भूल ही गई मैं मैन इनग्रेडिएंट खुश रहना बिल्कुल खुश रहना हमारी सुंदरता को बढ़ाता है ऐसा काम करें दूसरों से कुछ बातों को आई गई की तरह से यानी शमा में रहेगी हाथी क्या बुलाना सीखी रिग्रेट्स को बुलाना सीसी किसी के कहे हुए कटु शब्दों को तो खुद के साथ रहकर खुश है ना सीखी तो खुश है ना मेहनत करना विषैले तत्वों को बाहर निकालना अपनी अच्छी खानपान की आदतों से और अच्छे विचारों के साथ चेहरे का संदल है जरूर पड़ेगा
Namaskaar saathiyon prashn hai chehare ka saundary badhaane kee vyaavahaarik tareeke kaun-kaun se hain dekhie main sahee maayane mein batao to jo mere apane vichaar hain yadi hamaare vichaar sundar hain to chehare ka saundary svayan badhata hai aur vichaaron ko sundar aur svachchh rakh paana bilkul hamaare haathon mein hee hota hai doosara hai khaan-paan jisamen ki paanee bharapoor maatra mein peena aur mootr ke jarie vest ko baahar nikaal sakate ham paanee jyaada peete hain to vah hamaara svabhaavik hai yah hamen mitr ke lie jaana hoga aur usee ke roop mein hamaare shareer mein jitane bhee aise tatv hote hain jo vishaile hote hain vah us ke roop mein shareer se nishkaasit ho jaate hain teesara hoga varkaut karana enee shram karana ab vah shram ghar mein saaph saphaee karake ho baahar jahaan bhee hamaara kaaryakshetr hai vahaan par aap jaisa kaary hai us hisaab se vah nirbhar karata hai ki kitana maara mehanat ka kaary hai aur agar mehanat ka kaam nahin hai baithane ka hee kaary to bhee apane kaary kshetr tak jaane aur aane ke samay mein ham paidal chalane ka agar praavadhaan kar pae aisa kar pae ki ham paidal jyaada se jyaada chale aur hai ya phir ham yoga ke jarie bhee apane shareer se yaanee ki paseena baahar nikale kuchh bhee sharm hamesha karen jisamen hamaare shareer se paseena baahar nikalee vah vah karana ho sakata hai jim jaana ho sakata hai ghar kee saaph saphaee ho sakata hai aur subah uthakar joging ke lie jaana ho sakata hai kaise bhee karen pratidin hamaara paseena hamaare shareer se baahar nikale to paseene ke throo aur usake thro hamaare matalab nishkaasan jo hai vah vishaile padaarthon ka ho usake lie jo paanee kee maatra jab ham jyaada lete hain aashram ham jyaada karate hain to hamaare shareer se paseena aur mootr ke roop mein kaaphee vishaal e cheej hai jo hai vah nishkaasit ho jaatee hai vichaaron ko shuddh rakhane se hamaare chehare ka tej badhata hai yah ham apane aasapaas ke vyaktiyon ko dekhakar mahasoos kar paate hain jo vyakti seedha saral aur uchch vichaar vaala hota hai usake chehare par ek bhejo usase tej ka matalab keval gorepan se ab se nahin mahasoos karenge rang bhale hee pakka ho lekin na ek tej hota hai aise vyakti ke chehare par vahee hamen sundarata agar ham asalee sundarata kaheen to vah tej vah vishvaas to usaka aatmavishvaas usaka bodee laingvej bodee poschar khade hone ka tareeka bolane ka inaka har cheej ko milaakar ham dekhe to sundarata hotee hai sundar lekar jis kya baat karen to chehare ka saundary vaastav mein aapake aatmavishvaas se aata hai aur jab hamen kisee kaary ko karane kee pooree jaanakaaree hotee hai jab ham apane kaary ko behatar dhang se kar paate hain jab ham bina svaarth ke kaam karate hain kaee baar ham eksapart to bahut hain lekin usako bhee ham apane svaarth ke saath jodakar yaanee ki ham svaarth siddhi ke lie hee apane eksapart is prayog mein laate hain kisee sahaayata ya sahayog ke lie nahin to is tarah ka yah mainne keval ek udaaharan diya ki jab yah kanignes yah chala kee chaturaee ham karate hain to bhee hamaara sundar hai kaheen na kaheen kam prateet hota hai to likhie prasaadhan jo hai jitane bhee baajaar mein upalabdh hain kyonki main khud bhee unako kabhee jyaada mat jyaada kya kabhee prayog hee nahin karatee to isee prakaar apanee bhee kaee saathiyon ko dekhatee hoon ya mere jeevan mein main kaaphee aise logon ko aap job karatee hoon ki jo bahut hee sundar hote hain unhen bilkul vah nechural rahe hain kabhee unhonne is tarah kee koee kosmetik ka prayog nahin kiya to chehare par saundary laane ke yahee tareeke meree samajh mein paryaapt hain aur yoga karie shram keejie khush rahie ek hee to bhool hee gaee main main inagredient khush rahana bilkul khush rahana hamaaree sundarata ko badhaata hai aisa kaam karen doosaron se kuchh baaton ko aaee gaee kee tarah se yaanee shama mein rahegee haathee kya bulaana seekhee rigrets ko bulaana seesee kisee ke kahe hue katu shabdon ko to khud ke saath rahakar khush hai na seekhee to khush hai na mehanat karana vishaile tatvon ko baahar nikaalana apanee achchhee khaanapaan kee aadaton se aur achchhe vichaaron ke saath chehare ka sandal hai jaroor padega

bolkar speaker
चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
Divya Singh  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Divya जी का जवाब
Mentor teacher at DoE, Delhi
5:00
नमस्कार साथियों प्रश्न है चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने की व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं देखिए मैं सही मायने में बताओ तो जो मेरे अपने विचार हैं यदि हमारे विचार सुंदर हैं तो चेहरे का सौंदर्य स्वयं बढ़ता है और विचारों को सुंदर और स्वच्छ रख पाना बिल्कुल हमारे हाथों में ही होता है दूसरा है खान-पान जिसमें कि पानी भरपूर मात्रा में पीना और मूत्र के जरिए वेस्ट को बाहर निकाल सकते हम पानी ज्यादा पीते हैं तो वह हमारा स्वभाविक है यह हमें मित्र के लिए जाना होगा और उसी के रूप में हमारे शरीर में जितने भी ऐसे तत्व होते हैं जो विषैले होते हैं वह उस के रूप में शरीर से निष्कासित हो जाते हैं तीसरा होगा वर्कआउट करना एनी श्रम करना अब वह श्रम घर में साफ सफाई करके हो बाहर जहां भी हमारा कार्यक्षेत्र है वहां पर आप जैसा कार्य है उस हिसाब से वह निर्भर करता है कि कितना मारा मेहनत का कार्य है और अगर मेहनत का काम नहीं है बैठने का ही कार्य तो भी अपने कार्य क्षेत्र तक जाने और आने के समय में हम पैदल चलने का अगर प्रावधान कर पाए ऐसा कर पाए कि हम पैदल ज्यादा से ज्यादा चले और है या फिर हम योगा के जरिए भी अपने शरीर से यानी कि पसीना बाहर निकले कुछ भी शर्म हमेशा करें जिसमें हमारे शरीर से पसीना बाहर निकली वह वह करना हो सकता है जिम जाना हो सकता है घर की साफ सफाई हो सकता है और सुबह उठकर जोगिंग के लिए जाना हो सकता है कैसे भी करें प्रतिदिन हमारा पसीना हमारे शरीर से बाहर निकले तो पसीने के थ्रू और उसके थ्रो हमारे मतलब निष्कासन जो है वह विषैले पदार्थों का हो उसके लिए जो पानी की मात्रा जब हम ज्यादा लेते हैं आश्रम हम ज्यादा करते हैं तो हमारे शरीर से पसीना और मूत्र के रूप में काफी विशाल ए चीज है जो है वह निष्कासित हो जाती है विचारों को शुद्ध रखने से हमारे चेहरे का तेज बढ़ता है यह हम अपने आसपास के व्यक्तियों को देखकर महसूस कर पाते हैं जो व्यक्ति सीधा सरल और उच्च विचार वाला होता है उसके चेहरे पर एक भेजो उससे तेज का मतलब केवल गोरेपन से अब से नहीं महसूस करेंगे रंग भले ही पक्का हो लेकिन ना एक तेज होता है ऐसे व्यक्ति के चेहरे पर वही हमें सुंदरता अगर हम असली सुंदरता कहीं तो वह तेज वह विश्वास तो उसका आत्मविश्वास उसका बॉडी लैंग्वेज बॉडी पोस्चर खड़े होने का तरीका बोलने का इनका हर चीज को मिलाकर हम देखे तो सुंदरता होती है सुंदर लेकर जिस क्या बात करें तो चेहरे का सौंदर्य वास्तव में आपके आत्मविश्वास से आता है और जब हमें किसी कार्य को करने की पूरी जानकारी होती है जब हम अपने कार्य को बेहतर ढंग से कर पाते हैं जब हम बिना स्वार्थ के काम करते हैं कई बार हम एक्सपर्ट तो बहुत हैं लेकिन उसको भी हम अपने स्वार्थ के साथ जोड़कर यानी कि हम स्वार्थ सिद्धि के लिए ही अपने एक्सपर्ट इस प्रयोग में लाते हैं किसी सहायता या सहयोग के लिए नहीं तो इस तरह का यह मैंने केवल एक उदाहरण दिया कि जब यह कनिग्नेस यह चला की चतुराई हम करते हैं तो भी हमारा सुंदर है कहीं ना कहीं कम प्रतीत होता है तो लिखिए प्रसाधन जो है जितने भी बाजार में उपलब्ध हैं क्योंकि मैं खुद भी उनको कभी ज्यादा मत ज्यादा क्या कभी प्रयोग ही नहीं करती तो इसी प्रकार अपनी भी कई साथियों को देखती हूं या मेरे जीवन में मैं काफी ऐसे लोगों को आप जॉब करती हूं कि जो बहुत ही सुंदर होते हैं उन्हें बिल्कुल वह नेचुरल रहे हैं कभी उन्होंने इस तरह की कोई कॉस्मेटिक का प्रयोग नहीं किया तो चेहरे पर सौंदर्य लाने के यही तरीके मेरी समझ में पर्याप्त हैं और योगा करिए श्रम कीजिए खुश रहिए एक ही तो भूल ही गई मैं मैन इनग्रेडिएंट खुश रहना बिल्कुल खुश रहना हमारी सुंदरता को बढ़ाता है ऐसा काम करें दूसरों से कुछ बातों को आई गई की तरह से यानी शमा में रहेगी हाथी क्या बुलाना सीखी रिग्रेट्स को बुलाना सीसी किसी के कहे हुए कटु शब्दों को तो खुद के साथ रहकर खुश है ना सीखी तो खुश है ना मेहनत करना विषैले तत्वों को बाहर निकालना अपनी अच्छी खानपान की आदतों से और अच्छे विचारों के साथ चेहरे का संदल है जरूर पड़ेगा
Namaskaar saathiyon prashn hai chehare ka saundary badhaane kee vyaavahaarik tareeke kaun-kaun se hain dekhie main sahee maayane mein batao to jo mere apane vichaar hain yadi hamaare vichaar sundar hain to chehare ka saundary svayan badhata hai aur vichaaron ko sundar aur svachchh rakh paana bilkul hamaare haathon mein hee hota hai doosara hai khaan-paan jisamen ki paanee bharapoor maatra mein peena aur mootr ke jarie vest ko baahar nikaal sakate ham paanee jyaada peete hain to vah hamaara svabhaavik hai yah hamen mitr ke lie jaana hoga aur usee ke roop mein hamaare shareer mein jitane bhee aise tatv hote hain jo vishaile hote hain vah us ke roop mein shareer se nishkaasit ho jaate hain teesara hoga varkaut karana enee shram karana ab vah shram ghar mein saaph saphaee karake ho baahar jahaan bhee hamaara kaaryakshetr hai vahaan par aap jaisa kaary hai us hisaab se vah nirbhar karata hai ki kitana maara mehanat ka kaary hai aur agar mehanat ka kaam nahin hai baithane ka hee kaary to bhee apane kaary kshetr tak jaane aur aane ke samay mein ham paidal chalane ka agar praavadhaan kar pae aisa kar pae ki ham paidal jyaada se jyaada chale aur hai ya phir ham yoga ke jarie bhee apane shareer se yaanee ki paseena baahar nikale kuchh bhee sharm hamesha karen jisamen hamaare shareer se paseena baahar nikalee vah vah karana ho sakata hai jim jaana ho sakata hai ghar kee saaph saphaee ho sakata hai aur subah uthakar joging ke lie jaana ho sakata hai kaise bhee karen pratidin hamaara paseena hamaare shareer se baahar nikale to paseene ke throo aur usake thro hamaare matalab nishkaasan jo hai vah vishaile padaarthon ka ho usake lie jo paanee kee maatra jab ham jyaada lete hain aashram ham jyaada karate hain to hamaare shareer se paseena aur mootr ke roop mein kaaphee vishaal e cheej hai jo hai vah nishkaasit ho jaatee hai vichaaron ko shuddh rakhane se hamaare chehare ka tej badhata hai yah ham apane aasapaas ke vyaktiyon ko dekhakar mahasoos kar paate hain jo vyakti seedha saral aur uchch vichaar vaala hota hai usake chehare par ek bhejo usase tej ka matalab keval gorepan se ab se nahin mahasoos karenge rang bhale hee pakka ho lekin na ek tej hota hai aise vyakti ke chehare par vahee hamen sundarata agar ham asalee sundarata kaheen to vah tej vah vishvaas to usaka aatmavishvaas usaka bodee laingvej bodee poschar khade hone ka tareeka bolane ka inaka har cheej ko milaakar ham dekhe to sundarata hotee hai sundar lekar jis kya baat karen to chehare ka saundary vaastav mein aapake aatmavishvaas se aata hai aur jab hamen kisee kaary ko karane kee pooree jaanakaaree hotee hai jab ham apane kaary ko behatar dhang se kar paate hain jab ham bina svaarth ke kaam karate hain kaee baar ham eksapart to bahut hain lekin usako bhee ham apane svaarth ke saath jodakar yaanee ki ham svaarth siddhi ke lie hee apane eksapart is prayog mein laate hain kisee sahaayata ya sahayog ke lie nahin to is tarah ka yah mainne keval ek udaaharan diya ki jab yah kanignes yah chala kee chaturaee ham karate hain to bhee hamaara sundar hai kaheen na kaheen kam prateet hota hai to likhie prasaadhan jo hai jitane bhee baajaar mein upalabdh hain kyonki main khud bhee unako kabhee jyaada mat jyaada kya kabhee prayog hee nahin karatee to isee prakaar apanee bhee kaee saathiyon ko dekhatee hoon ya mere jeevan mein main kaaphee aise logon ko aap job karatee hoon ki jo bahut hee sundar hote hain unhen bilkul vah nechural rahe hain kabhee unhonne is tarah kee koee kosmetik ka prayog nahin kiya to chehare par saundary laane ke yahee tareeke meree samajh mein paryaapt hain aur yoga karie shram keejie khush rahie ek hee to bhool hee gaee main main inagredient khush rahana bilkul khush rahana hamaaree sundarata ko badhaata hai aisa kaam karen doosaron se kuchh baaton ko aaee gaee kee tarah se yaanee shama mein rahegee haathee kya bulaana seekhee rigrets ko bulaana seesee kisee ke kahe hue katu shabdon ko to khud ke saath rahakar khush hai na seekhee to khush hai na mehanat karana vishaile tatvon ko baahar nikaalana apanee achchhee khaanapaan kee aadaton se aur achchhe vichaaron ke saath chehare ka sandal hai jaroor padega

bolkar speaker
चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:11
डिजिटल डाटा को बनाने के लिए कौन-कौन से तरीके बेसन में दही मिलाकर उबटन करने के लिए याद आते में सरसों का तेल और हल्दी मिलाकर ओपन करें या फिर आप नींबू के रस को आते में मिलाकर निवेशन में मिलाकर अर्जुन थोड़ा सा बटन मिलाकर चेहरे के ऊपर उसका लेप करें या मुल्तानी मिट्टी चेहरे के ऊपर डिपेंड जतन कुछ कर प्रतिदिन की सामग्री सेक्सी ओपन लिखकर गुलाब केंद्र के माध्यम से भी चेहरे पर चमक और चंद्र टट्टी
Dijital daata ko banaane ke lie kaun-kaun se tareeke besan mein dahee milaakar ubatan karane ke lie yaad aate mein sarason ka tel aur haldee milaakar opan karen ya phir aap neemboo ke ras ko aate mein milaakar niveshan mein milaakar arjun thoda sa batan milaakar chehare ke oopar usaka lep karen ya multaanee mittee chehare ke oopar dipend jatan kuchh kar pratidin kee saamagree seksee opan likhakar gulaab kendr ke maadhyam se bhee chehare par chamak aur chandr tattee

bolkar speaker
चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं?Chehre Ka Saundarya Badhane Ke Vyavaharik Tareeke Kaun Kaun Se Hain
Ganga Asati Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Ganga जी का जवाब
Unknown
0:43
की चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने की व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं तो इसका सबसे पहला और अच्छा तरीका यह है कि आप रोज चेहरे को ठंडे पानी से धोएं चाय ठंडी गर्मी में तैनात प्रोजेक्ट कोई क्रीम लगे मुस्कुराई के लगा लोशन लगाएं और सोनिया पाउडर लगाई आपको सूट करता है और स्पेशली रात को सोने के पहले अपना पूरा मेकअप उतारते फ्री क्रीम लगाई नाइट की जाती है आप डॉक्टर से पूछो कि या फिर शॉप पर भी जाकर पूछ सकते हैं कि आपका चेहरा बहुत अच्छा हेलो रहेगा उस दिन बहुत सॉफ्ट रहेगी हमेशा चेहरे पर स्माइल रखें इस्माइल किसी भी इंसान की खूबसूरती को और बढ़ा देती है
Kee chehare ka saundary badhaane kee vyaavahaarik tareeke kaun-kaun se hain to isaka sabase pahala aur achchha tareeka yah hai ki aap roj chehare ko thande paanee se dhoen chaay thandee garmee mein tainaat projekt koee kreem lage muskuraee ke laga loshan lagaen aur soniya paudar lagaee aapako soot karata hai aur speshalee raat ko sone ke pahale apana poora mekap utaarate phree kreem lagaee nait kee jaatee hai aap doktar se poochho ki ya phir shop par bhee jaakar poochh sakate hain ki aapaka chehara bahut achchha helo rahega us din bahut sopht rahegee hamesha chehare par smail rakhen ismail kisee bhee insaan kee khoobasooratee ko aur badha detee hai

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके कौन-कौन से हैं चेहरे का सौंदर्य बढ़ाने के व्यावहारिक तरीके
URL copied to clipboard