#जीवन शैली

Shipra Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Shipra जी का जवाब
Self Employed
0:27
आप सवाल है कि किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थितियों से कठोर बना देती हैं जो हमेशा तौर पर ऐसा ही होता है किसी की विपरीत परिस्थितियों के जीवन में आती हैं कठिन परिस्थितियां आती हैं उनसे निकलने के चक्कर में उसे निकालने के प्रयास में आप जीवन में अपने बहुत कुछ ऐसा सीखते हैं जो आपने पहले कभी अनुभव नहीं किया होता है और अपने इन्हीं एक्सपीरियंस एस थे आप अपने आपको लाइफ में चांदी बना पाते हैं आपका दिन शुभ रहे थे नेपाल

और जवाब सुनें

Harender Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Harender जी का जवाब
As School administration & Principal
1:38
किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली प्रथम प्रयोग किसने क्या बोला को अच्छी अनूप से भी लेने की कोशिश करता है तो इतना कठोर नहीं बनाती वन में आती जाती रहती कभी आपके अनुकूल होंगी करके अपने आप को कठोर बना लेते हैं और कभी-कभी कुछ लोगों का बिजनेस में लाश हो जाए या किसी और चीज में लाश हो जाए तो निश्चित तौर पर हो अपने आपको इतना मना लेते हैं कि लोगों से मिलने दिल ना यार लोग कुछ क्राइम की तरफ डायवर्ट हो जाते हैं तेरी हमारा तो सब कुछ कुछ लोगों पर लड़के बेहतर करके अपनी जिंदगी को बेहतर कर लेते हैं किस तरह से चलना है यह देखना होता है और उसी के अनुसार चलते हैं और मैं नहीं कह सकता हूं कि इंसान कटिंग करके अपने ऊपर लेटा कठोरता अपने मनोबल को बढ़ाने दुर्गापुर होता है

TechVR ( Vikas RanA) Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए TechVR जी का जवाब
IT Professional
2:25
नमस्कार दोस्तों यूजर ने पूछा किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थितियों क्या उसे कठोर बना लेते हैं देखिए जब भी हमारे लिए हमारे जीवन में बार बार कुछ समस्या हमेशा मना करनी पड़ती है तू बिलकुल हम उन समस्याओं के हिसाब से ज्यादा मन से पीछे हट जाते हैं जान का सामना नहीं कर पाते वहीं जाकर बार-बार होती है तो हमारे जीवन को बिल्कुल जो है प्रभावित करते हैं उनकी वजह से कठोर हो सकता है लेकिन कठोर का मतलब यह नहीं कि शारीरिक करो है इन चीजों के बारे में कहा यह बहुत को इंसानों को बहुत बोलता है कि सिलेक्शन में हो किसी को बहुत बोलता है अब वह कुछ करता है तो आपको कल को अगर वह बार-बार वही चीज करते कल को अगर वह चीज के प्रति मोशनल होता है जो सबको तकलीफ होता आपको बोलेगा लेकिन आपको सिर्फ तो कोई फर्क नहीं पड़ेगा क्यों नहीं फर्क पड़ेगा फर्क क्यों उस टाइम ने अपने दिया कि नहीं करा अब आपको जब से दिमाग को आपको खुद को लगता है कि वह चीज बार-बार हो रही है इसका तो यही का उसकी वजह से बिल्कुल वह आपको एक कट्ठा बने लेकिन कुछ जो इंसान बोलता कठोर हूं कहीं ना कहीं अंदर से बहुत ज्यादा इमोशनल भी होता है जो कि वह कई बार दिखा नहीं पाता वह सोचता है कि मगर मैं दिखाऊंगा तो बहुत कमजोर पड़ जाऊंगा तो इसी बीच यही इसके अंदर एक तरह से आपस में लड़ाई युद्ध होता रहता है उसके अंदर उसकी वजह से वह चीज को देख नहीं कर पाता है दोषी ससुर लग जा कि हां मैं नहीं लेकिन जब ऐसा इंसान ऐसे कठिन परिस्थितियों में गुजरा इंसान जब अकेलेपन बहुत चला जाता है या अपनी चीजों को अपनी फीलिंग को एक्सप्रेस नहीं कर पाता है तो बाद में उसको बहुत तकलीफ होती है और वह चीज को जो है सहन नहीं कर पाता है और यही चीज है जो है ना अगर आप सहन करते हैं जय श्री भाभी आप नहीं करते हैं तो इसलिए आने वाले समय में आपको डिप्रेशन की तरफ ले जाती है और इंसान को पता नहीं चलता क्या तुम मेरे साथ हो क्या रहा है और बाकी और कुछ कठिन अगर हम वैसे जिंदगी के कुछ हिस्से होते हैं कुछ नहीं लगी में कुछ ऐसे काम होते हैं जो आपको बार-बार करना पड़ता है बिल्कुल आप को कठोर बना देती है और चीजें क्योंकि एक चीज अगर बाहर बार मोदी अगर आप बाहर संघर्ष करना सीख गए हैं अगर आप जो इस तरह से चीजों के प्रति जो हैं और जस्ट सेड है तो बिल्कुल इस पेज को भी हम बोल कर देखिए कठिन परिस्थितियां इंसान को कठोर बना देते हो उस उस वक्त और कुछ सिचुएशन रोशनी बहुत अच्छी है आशा करता हूं आप तो आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा लाइक और शेयर करें धन्यवाद

अमित सिंह बघेल Bolkar App
Top Speaker,Level 55
सुनिए अमित जी का जवाब
सामाजिक कार्यकर्ता, मोटिवेशनल स्पीकर 
1:05
प्रश्न पूछा कि किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थिति है क्या उसे कठोर बना देती है तो देखिए मैं तो यही कहूंगा कि निर्भर करता है इंसान की परिस्थितियों से लड़ने की क्षमता पर कुछ लोगों को देखिए कठिन परिस्थितियां कठोर बना देती है तो कुछ को देखिए तोड़ भी देती है अपनी प्रस्तुतियों से इंसान बहुत कुछ अनुभव लेता है अच्छी परिस्थितियों में तो देखिए इंसान अपने स्वभाव अनुसार बर्ताव करता है पर जब भी की परिस्थितियां कठिन होती है तो कुछ दिखे कठोर फैसले क्या है कि लेने पड़ते तो देखिए अभी की बात बताएं जब यह कोरोनावायरस आया था तो कोरोना वायरस में लिखिए कर्फ्यू लगा कर्फ्यू का फैसला लेना पड़ गया दिखे तो आप भी दिखे कुछ कठोर कदम उठाएंगे आपने ही उठाया होगा जैसे दोस्तों से नहीं मिले बाजार नहीं जाना है तो यह सब होता जय हिंद जय भारत

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
1:06
शिव इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थितियां क्या उसे कठोर बना देती है दे दो तो बिल्कुल भी कठोर नहीं बनाती बल्कि उस आदमी को जो है वह समझदार बना देती है और समझदारी से जुड़े आपका निर्णय काम तो करते हैं को जोड़ते नहीं है क्या कॉलेज के अंदर बैठते हैं तो आप दूसरों को नसीहत देने क्यों क्योंकि आपने उस जिंदगी को अनुभव किया है यही कारण है कि जो आदमी जाने की कोई भी इंसान को ना उसको समझदार बना देते हैं उसमें गलत निर्णय लिए हैं तो जैसा ही ले लिया जब उनको समझाने की कोशिश करते हैं उन्होंने अनुभव शिकायत और समझदार नहीं बने इसी वजह से हमें भी शिक्षा देते हैं

DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
0:57
किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थितियों से शत्रु बना जितनी इसमें कोई दो राय नहीं है जब इंसान कठिन दौर से गुजर रहा होता है तो उसके साथ पहुंची विकल्प होते हैं और उन विकल्पों में इंसान आवश्यक रूप से और इस संसार की क्रियाकलापों से दिल्ली डॉक्टर को अपना लेता है और अपनी सकारात्मक सोच को गंवा बैठते हैं लड़कों की कठोर होना क्रश खेलो ना प्राथमिकता का शिकार करते हैं और कठिन समय को अपनी परीक्षा की घड़ी मानकर चाहत से उनका सामना करके आगे बढ़ने के लिए वह उतनी ही जोश खरोश के साथ आगे बढ़ते हैं

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:31
हेलो फ्रेंड स्वागत है आपका आपका प्रश्न किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिन परिस्थितियां क्या उसे कठोर बना देती हैं जी हम वेंचर इंसान के जीवन में कटौती परिस्थितियां आएंगे तो इंसान को कठोर कड़ा बना देती है जिस तरह से उसके जीवन में जो भी परेशानियां आएंगी वे उनका सामना करेंगे उनको हल करने की कोशिश करेंगे तो धीरे-धीरे ऐसे वह सब परेशानियों को कठोरता से हल कर लेंगे और हर कठिन परिस्थिति का सामना आसानी से कर पाएंगे धन्यवाद

Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
1:26
कम बैक स्वागत आप सबका मेरे बोलकर अब प्रोफाइल पर और आप सुन रहे हैं रोहित राठौर को तो क्या इंसान को कठिनाइयों कठोर बनाती है तो ऐसा मेरा मानना बिल्कुल नहीं है क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि आप जिस परिस्थिति से गुजरे हो जिस चीज से गुजरे आप नहीं चाहते कि आपके लव बनते हैं आपके आसपास के आपके प्यार आप जिनसे करते आपके परिवार वाले आपके दोस्त उस चीज से गुजरे उस चीज की कठिन नहीं होते हैं तब उन्हें उस चीज से नागपुर जाने के लिए आप कट हो नहीं बल्कि उन्हें सलाह देते हैं उस चीज के लिए हां कई बार ऐसा होता है कि व्यक्ति मजबूत बनता है पर कठोर नहीं बोल सकते क्योंकि परिस्थितियां कुछ ऐसी होती है कि उसे कई बार कठोर बनना होता है क्या कि आप उस परिस्थिति में ना जाए और आप उसका भुगतान ना करें कि आपको उससे कोई दुख ना हो उस परिस्थिति जिससे एक व्यक्ति गुजर चुका है तो आपको इस चीज से रोकने के लिए कठोर बन सकता है पर हर बार जब भी चुनौती होती है हमें में एक्सेप्ट करना होता है हमें जिस चीज का डर लगता है पहले हमें सबसे पहले वही चीज करनी होती जिससे मुझसे बढ़कर आए और अपने व्यक्तित्व को अपने कॉन्फिडेंस दुनिया को दिखा सके क्या हम हर चीज कर सकते हैं क्योंकि परिस्थितियां तो जीवन का एक साइकिल है यह चलती रहती है यहां सब कुछ भी परमानेंट नहीं है सिवाय चेंज इसके क्योंकि दुनिया में सिर्फ चेंज ऐसी परमानेंट बाकी कुछ परमानेंट नहीं है तो इस टाइप ईश्वर को न्यूट्रींस थैंक्यू मिलते हैं आप सभी समाज में जब तक के लिए टेक केयर
Kam baik svaagat aap sabaka mere bolakar ab prophail par aur aap sun rahe hain rohit raathaur ko to kya insaan ko kathinaiyon kathor banaatee hai to aisa mera maanana bilkul nahin hai kyonki kaee baar aisa hota hai ki aap jis paristhiti se gujare ho jis cheej se gujare aap nahin chaahate ki aapake lav banate hain aapake aasapaas ke aapake pyaar aap jinase karate aapake parivaar vaale aapake dost us cheej se gujare us cheej kee kathin nahin hote hain tab unhen us cheej se naagapur jaane ke lie aap kat ho nahin balki unhen salaah dete hain us cheej ke lie haan kaee baar aisa hota hai ki vyakti majaboot banata hai par kathor nahin bol sakate kyonki paristhitiyaan kuchh aisee hotee hai ki use kaee baar kathor banana hota hai kya ki aap us paristhiti mein na jae aur aap usaka bhugataan na karen ki aapako usase koee dukh na ho us paristhiti jisase ek vyakti gujar chuka hai to aapako is cheej se rokane ke lie kathor ban sakata hai par har baar jab bhee chunautee hotee hai hamen mein eksept karana hota hai hamen jis cheej ka dar lagata hai pahale hamen sabase pahale vahee cheej karanee hotee jisase mujhase badhakar aae aur apane vyaktitv ko apane konphidens duniya ko dikha sake kya ham har cheej kar sakate hain kyonki paristhitiyaan to jeevan ka ek saikil hai yah chalatee rahatee hai yahaan sab kuchh bhee paramaanent nahin hai sivaay chenj isake kyonki duniya mein sirph chenj aisee paramaanent baakee kuchh paramaanent nahin hai to is taip eeshvar ko nyootreens thainkyoo milate hain aap sabhee samaaj mein jab tak ke lie tek keyar

Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:44
नमस्कार प्रश्न है कि किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कठिनाइयां क्या उचित कठोर बना देती हैं देखिए उस व्यक्ति को कठोर बना देती है उसे सहनशील बना देती है जब परिस्थितियां आती है कठिन परिस्थितियां आती है जब विकेट परिस्थितियां आती है तो मनुष्य को बहुत कुछ सीखने को मिलता है और जब सीखने को मिलता है तो वह मजबूत बनता है कठोर बनता है बनता है और फिर आगे आने वाली बुरी पस्ता विकट परिस्थितियों को बिल्कुल सच का सामना कर सकता है आसानी से सामने हो सकता है और बिल्कुल खुश रह सकता है जीवन में जो खेलते हैं वह मनुष्य को मजबूत बनाती है धन्यवाद
Namaskaar prashn hai ki kisee bhee insaan ke jeevan mein aane vaalee kathinaiyaan kya uchit kathor bana detee hain dekhie us vyakti ko kathor bana detee hai use sahanasheel bana detee hai jab paristhitiyaan aatee hai kathin paristhitiyaan aatee hai jab viket paristhitiyaan aatee hai to manushy ko bahut kuchh seekhane ko milata hai aur jab seekhane ko milata hai to vah majaboot banata hai kathor banata hai banata hai aur phir aage aane vaalee buree pasta vikat paristhitiyon ko bilkul sach ka saamana kar sakata hai aasaanee se saamane ho sakata hai aur bilkul khush rah sakata hai jeevan mein jo khelate hain vah manushy ko majaboot banaatee hai dhanyavaad

Navnit Kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Navnit जी का जवाब
QUALITY ENGINEER
0:35
विकी परिस्थिति आदमी को कठोर नहीं बनाती मजदूर को मजबूत बनाती है हां यह हो सकता है कि कुछ पल के लिए आदमी अकेला पड़ जाता है जब कुछ पल के लिए भी टूट जाता है लेकिन वह जब हिम्मत करके आगे बढ़ता है ना बेबी स्टेप्स ए तो फिर वह लाइफ में बहुत कुछ कर जाता है तो कठोर बना देती है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है जो धीरे-धीरे ही सही लेकिन आगे बढ़ता है वह बहुत मुकाम पर पहुंचता है
Vikee paristhiti aadamee ko kathor nahin banaatee majadoor ko majaboot banaatee hai haan yah ho sakata hai ki kuchh pal ke lie aadamee akela pad jaata hai jab kuchh pal ke lie bhee toot jaata hai lekin vah jab himmat karake aage badhata hai na bebee steps e to phir vah laiph mein bahut kuchh kar jaata hai to kathor bana detee hai aisa bilkul bhee nahin hai jo dheere-dheere hee sahee lekin aage badhata hai vah bahut mukaam par pahunchata hai

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil जी का जवाब
Programme Coordinator at National Institute of Electronics & Information Technology (NIELIT)
0:48
ब्रेकअप उसने किसी भी इंसान के जीवन में आने वाली कटिंग भेज दिया क्या उसको कठोर बना देती है तो आपको बता देंगे देखे कठोर परिस्थितियां है जितनी भी आ जाएं आपके जीवन में यह कहीं ना कहीं आपके लिए फायदेमंद ही से दोस्ती है क्योंकि यह इंसान को और अधिक मजबूत बनाती है किस तरह से जीवन में संघर्ष करके लोग अपने बाप का नाम रोशन करते हैं अपनी जगह बनाते हैं समाज में पहले भी पूर्व में भी हम एग्जामपुर दे चुके हैं वर्तमान में देख रहे हो भविष्य में भी देखते रहेंगे तो इसलिए यकीन मानिए कि कहीं अगर आपके जीवन में आई है यानी कि हम आपके ऊपर उठने का वक्त आ गया है आपको उसको सहर्ष स्वीकार करके अपने जीवन में ऊपर होना चाहिए मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद
Brekap usane kisee bhee insaan ke jeevan mein aane vaalee kating bhej diya kya usako kathor bana detee hai to aapako bata denge dekhe kathor paristhitiyaan hai jitanee bhee aa jaen aapake jeevan mein yah kaheen na kaheen aapake lie phaayademand hee se dostee hai kyonki yah insaan ko aur adhik majaboot banaatee hai kis tarah se jeevan mein sangharsh karake log apane baap ka naam roshan karate hain apanee jagah banaate hain samaaj mein pahale bhee poorv mein bhee ham egjaamapur de chuke hain vartamaan mein dekh rahe ho bhavishy mein bhee dekhate rahenge to isalie yakeen maanie ki kaheen agar aapake jeevan mein aaee hai yaanee ki ham aapake oopar uthane ka vakt aa gaya hai aapako usako saharsh sveekaar karake apane jeevan mein oopar hona chaahie main shubhakaamanaen aapake saath hain dhanyavaad

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिन समस्याओं का सामना किस तरह किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिन समस्याओं का सामना किस तरह किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिन समस्याओं का सामना किस तरह किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिन समस्याओं का सामना किस तरह किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिन समस्याओं का सामना किस तरह किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
  • कैसे जीवन में कठिन परिस्थितियों को संभालने के लिए, जीवन में कठिनाइयों का सामना कैसे किया जाना चाहिए, साहस मनुष्य को कठिन से कठिन परिस्थिति में भी विचलित नहीं होने देता कैसे
URL copied to clipboard