#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

क्या हम जॉब छोड़ कर एनपीएस का सारा पैसा निकाल सकते हैं?

Kya Hum Job Chod Kar Nps Ka Sara Paisa Nikal Sakte Hain
Saurabh Rai Bolkar App
Top Speaker,Level 88
सुनिए Saurabh जी का जवाब
Software Engineer
3:35
देखिए पीएम की रकम जो होती है उसको दो तरह की स्कीम में जमा किया जाता है पहला होता है प्राइवेट फंड जिसको हम लोग ही दिया बोलते हैं और दूसरा होता है पेंशन फंड जिसको हम लोग यूपीएस बोलते हैं तो क्या होता क्या है कर्मचारी की बेसिक सैलरी का भारत देश का जो है उसकी सैलरी से कट जाता है और इतना ही योगदान कंपनी की तरफ से जाता है तो व्यक्ति की सैलरी का 12 परसेंट कर्मचारी का ईपीएफ में जो है जमा हो जाता है वही कंपनी का योगदान 3.7% ईटीएफ में जमा होता है और बाकी 133 अफरीदी का जो है वह कर्मचारी के पेंशन फंड योजना यानी कि ईपीएस में आता है अब निकालने की बात करते हैं तो दिन में बदलाव हुआ था इसके अनुसार यह है कि आंशिक निकासी जो है वह बच्चे की शादी उच्च शिक्षा और मकान खरीदने के लिए जो है कर सकते हैं के नए नियम के मुताबिक यह है कि नौकरी छोड़ने के बाद 1 महीने के बाद ही जो है अब 75% जो है जो भी आपका पैसा है उसको निकाल सकते हैं और 2 महीने बाद जो है अब बचा हुआ कौन सी पांच परसेंट जो है वह निकाल पाएंगे इससे पहले नौकरी छोड़ नहीं आप बेरोजगार होने की स्थिति में 2 महीने के बाद ही पीएफ की रकम भी जो है वह निकाली जा सकती है अगर आप की रकम नहीं निकालना चाहते हैं तो आप कभी भी अपने खाते में जमा राशि को निकाल सकते हैं चाहे आपकी नौकरी 6 महीने की हो या 10 साल की लेकिन पेंशन की रकम निकालने के लिए आपको थोड़ी परेशानी हो सकती है क्योंकि इसके बहुत सारे नियम है जो आपको समझ नहीं चाहिए तो आइए आपको समझाता हूं अगर आप एक प्राइवेट फंड खाते से दूसरा खाता ट्रांसफर करते हैं तो आपकी चाहे कितनी भी सर्विस हिस्ट्री हो आप पेंशन की रकम को कभी भी किसी हालत में नहीं निकाल पाएंगे क्योंकि ट्रांसफर किए हुए खाते में से केवल पीएफ की रकम ट्रांसफर होती है और आप केवल पीएफ का पैसा ही निकाल सकते हैं पेंशन की रकम को आपकी फ्री में जोड़ दिया जाता है मतलब यह कि अगर आप अलग-अलग जगह नौकरी करते हुए भी अगर आप की हिस्ट्री 10 साल की हो जाती है तो भी आप जो है पेंशन के हकदार हमेशा बने रहेंगे 58 उम्र की बातें आपको जो है मासिक पेंशन जो है मिलेगा अगर आपकी नौकरी 6 महीने से कम की है मतलब कि 180 दिन की ड्यूटी से कम है तो आप सिर्फ पीएफ की रकम ही निकाल पाएंगे लेकिन पेंशन में जमा रकम आपको नहीं मिलेगी क्योंकि ईपीएफओ के अनुसार 180 दिन की कंप्यूटर की सर्विस में पेंशन का पैसा नहीं निकाल सकते हैं तो अब आप देखिए की पेंशन का पैसा अगर आप को निकालना है तो आपकी 6 महीने से ज्यादा 9 साल 6 महीने से काम तो आप फोन 19 और 10 से जमा करके अपने पीएफ की रकम के साथ पेंशन की रकम भी निकाल सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको मैनुअल तरीके से ही पीएफ ऑफिस में जाकर आवेदन करना होगा ऑनलाइन प्रोसेस में अभी पेंशन फंड निकालने की सुविधा को शुरू नहीं किया गया है तो फॉर्म भरने के बाद ईपीएफओ के कार्यालय में ही जमा करना होगा इसके बाद आप जो है निकाल पाएंगे अगर आप 9 साल 6 महीने से कम की स्थिति में पेंशन की हिस्से को निकालना चाहते हैं तो याद रखें आप इसके बाद पेंशन की हकदार नहीं होंगे क्योंकि पीएफ के साथ पेंशन का पैसा निकालने का मतलब है फुल एंड फाइनल पियर सेटलमेंट और ऐसे मामलों में आपका वह पीएफ खाता नंबर पूरी तरीके से बंद करिए आता है इस कारण आप अपने रिटायरमेंट के लिए पेंशन सुविधा का लाभ नहीं दे सकते हैं आपको समझ में आ गया हूं धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या हम जॉब छोड़ कर एनपीएस का सारा पैसा निकाल सकते हैं क्या हम एनपीएस का सारा पैसा निकाल सकते हैं
URL copied to clipboard