#टेक्नोलॉजी

bolkar speaker

भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?

Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Dr.Nitin Pawar, D.M S.(Management) Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Dr.Nitin जी का जवाब
Kisan,Journalist,Marathi Writer, Social Worker,Political Leader.
7:00
भारत का भारत में आध्यात्मिकता का क्या भविष्य है एक बहुत अच्छा सवाल हल सहित पूर्व जो है उसने अंतर की यात्रा अंतर कम किया था उसका एक वशिष्ठ और पश्चिम का विशिष्ट हो रहा है कि भाई जगत की यात्रा तो उसने पश्चिम में शिखर पर किया उसी तरह से उन्होंने बुद्ध लाउड से कांटेक्ट कैसे लोग हैं जिन्होंने अंतर पर की यात्रा में एक हिमालय की तरह ऊंचाई हासिल की है आध्यात्मिक जीवन शैली का एक भाग साइंस और टेक्नोलॉजी की वजह से नई जनरेशन में आ जाती तो आज नैतिकता की तरफ भी है वह बिल्कुल दुकान था तो काफी कम हो गया है फिर भी यह एक गहरी जड़ें आध्यात्मिकता के निर्माण कई बार पश्चिम के लोग भी भारत में आते हैं सत्य की खोज करने के लिए अपने अंदर और भारत के विभिन्न विपश्यना केंद्र आध्यात्मिक गुरुओं के अनुभव सुकन्या में है वहां पर आते जाते दिखाई देते हैं दिव्या को एक खबर के बारे में सूजन का कारण बुद्ध ने जो मार्ग दिखाया है वह दुनिया में दूर-दूर तक वो उसका प्रभाव पड़ता है और एक आदमी की जरूरत नहीं है जब जरूरत नहीं होती है कभी उसके बाद इंसान खुश रहो खुश रहो आप चला जाता है भारत में सबसे ज्यादा सामाजिक विशेष धार्मिक रूप से आर्थिक रूप से सदस्य तनाव है कि भारत को भारत के लोगों को इसकी ज्यादा जरूरत पड़ती है पड़ती है लोग आध्यात्मिकता की ओर खींचे जाते हैं लेकिन फिर भी उनमें बदलाव नहीं दिखाई देता उसके कारण अलग है पुराने सजा हो सकती है लेकिन आध्यात्मिक क्षेत्र में भारत के लोग ज्यादा लोग अभी भी अब आगे वाले आने वाले दिनों में भी रहेंगे विज्ञान जो है वह कुछ बातें बताता है सच बताता है उसमें तब पिक्चर प्रत्याशियों और कारण जो है जिससे वह भी बताता है और व्यापक दर्शन भी करवाता है लेकिन मनुष्य के मन को एक आनंद और शांत शांत होता इसकी आवश्यकता होती है इसलिए बहुत अच्छा है

और जवाब सुनें

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Rohit Rathore Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Rohit जी का जवाब
Student
0:55
मैं स्वागत है आप सबका मेरी बोलकर प्रोफाइल पर और आप सुन रहे हैं रोहित राठौर को आप ऐसा कुछ है कि भारत में अध्यात्मिकता आए हैं इस पर क्यों लेने भगवान से जुड़े हुए विश्वास का भविष्य क्या है अगर हम इसे देखा जाए तो फौरन आज भी आजकल इसे बहुत ज्यादा है डॉक्टर ने तो यह तो हमारी संस्कृति हमेशा आगे लेकर जाना ही होगा और हम इसे ले आगे लेकर जाएंगे भी हमारी नेक्स्ट जनरेशन को भी यह देंगे क्योंकि आजकल का लाइफ में जो मतलब दिल्ली का जो रूटीन है वह इतना एक्सप्रेस लोग है कि हमें मेडिटेशन स्प्रिचुअल आत्मा आत्मा आध्यात्मिकता से जोड़ना नहीं पड़ेगा जिससे हमें सब चीजों से रिलीफ हो तो भविष्य में भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य जो है बहुत ही अच्छा है आप कई लोग इसमें करी अभी बना रहे हैं अगर आप इसकी छोटी छोटी चीजों को समझते हैं तो आप इस में करियर बना कर अच्छा पैसा भी कमा सकते हैं तो धन्यवाद मिलते हैं आपसे प्लीज वालों में जब तक टेक केयर

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Rahul जी का जवाब
Unknown
0:45
भारत में अध्यात्मिकता का भविष्य क्या है दोस्तों यदि शुरुआत के दौर की बात करें तो आजादी में और उनके ऊपर थी भारत के अंदर परंतु जैसे-जैसे हम लोग जो है पश्चिमी संस्कृति के संपर्क में आते गए वैसे-वैसे हमारे आध्यात्मिक जा सकती है या आध्यात्मिक तभी जब आते हैं तो धीरे-धीरे लुप्त हो रही है और आज हम पाश्चात्य संस्कृति से इतना ज्यादा प्रभावित हो गए हैं कि मुझे नहीं लगता कि फ्यूचर के अंदर जो है हमारी आध्यात्मिकता का कुछ भविष्य रहेगा आपको पता होगा कि अश्लील का जो है वह चरम पर पहुंच रही है आजकल यदि आप कोई फिल्म देखेंगे तो उसमें अश्लीलता यदि आप कोई गूगल के ऊपर कुछ चीज सर्च कर रहे तो उसको लेकर के भविष्य के अंदर हमारे पास

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Umesh Upaadyay Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Umesh जी का जवाब
Life Coach | Motivational Speaker
4:12
जी देखिए हम अपने भविष्य को कैसे देखते हैं हम अपने भविष्य को वर्तमान से जोड़कर देखते हैं तो ग्राहक वर्तमान में आज देखते हैं कि क्या हालात हैं वही चलके तो भविष्य बनेगा अब तो उसके देखिए आप आध्यात्मिकता की बात करते हैं अरे वह छोड़िए लोगों को तो भेजते नहीं पता है लोग जानते ही नहीं है पता ही नहीं है धर्म क्या है कर्तव्य क्या है सही क्या है गलत क्या है क्या करना चाहिए जीवन कैसे जीना चाहिए किसी ने आर्ट ऑफ लिविंग खोल रखा है किसी ने कुछ कर रखा है कि से कोई कुछ कर आ रहा है लेकिन वह बहुत सुपर फेशियल लेवल पर है सही में अभिराम आध्यात्म की बात करें और तू तो बहुत कम जगह पर कहीं-कहीं पर थोड़ा बहुत देखने को मिलता है बाकी सारी चीजें तो काफी हद तक डाइल्यूट हो गई है अगर हम हिंदुओं की बात करें तो भैया ग्रंथ तो दूर की बात है वेद उपनिषद गीता यह सब तो दूर की बात है भी नहीं जानते कि हमारी अक्ल चर्च स्थिति क्या है हमें कैसे रहना चाहिए क्या सत्कर्म होता है क्या नहीं करना चाहिए यह ऐसा करते हैं तो क्यों करते हैं अब आजकल के बच्चे उसको दकियानूसी समझते हैं रिचुअल समझते हैं अगर कुछ भी थे तो उनके पीछे साइंसिलॉजिक हां वह बात और है कि आपको आज बताने वाला नहीं है क्या आपको पता नहीं चल पाता है इसलिए आप हावी हो जाते हैं कि यह सब बकवास है लेकिन एक्चुअली में हर चीज के पीछे रीज़न था साइंस था लॉजिक था लेकिन क्योंकि यह बीच में बोलिए टूट गई है टूट रही है लोगों को पता नहीं है लोग बता नहीं पा रहे ट्रांसफर ऑफ नॉलेज नहीं हो पा रहा है लोग उसको इंबाइब नहीं कर पा रहे हैं लोग इनफेक्ट मेरे दोस्त जिम्मेदार कौन है पेरेंट्स होते हैं समाज होता है सुपरहिट ही होता है देश होता है सभी लोग जिम्मेदार होते हैं तुझे अगर उस पर ध्यान नहीं दिया जाएगा तो भव ऐसे उतना अच्छा नहीं दिखेगा आप देखेंगे कि भारत की कितनी सारी चीजें वेस्टर्न कंट्रीज में अडॉप्ट हो गई है वह देख रहे हैं वह कर रहे हैं और आध्यात्म छोड़िए वह तो है ही है और उसके अलावा भी वही वहां पर एक पता नहीं कौन सी कौन सी है मुझे याद भी नहीं है वहां पर एक क्या-क्या से है जहां पर वह हल्दी वाला दूध देते हैं और वह बहुत फेमस है वहां पर अच्छा खासा उत्तर प्राइस है पता नहीं कितने डॉलर है तू सोचे हमारे यहां हल्दी वाला दूध तू तो भाई जन्म जन्मांतर से बोला जाता है पीते हैं आज भी पीते हैं लेकिन आज लोग कुछ कुछ लोग तब नहीं थोड़ा उसको वैसे मानते हैं कि क्या हल्दी दूध वगैरा लेकिन अभी देश में देखिए आप हल्दी दूध एक फैशन हो गया तुझे ध्यान देने की जरूरत है इस पर अपने बच्चों को बताने की जरूरत है आपने पर्व को अपने त्यौहार को अपने कल्चर को पकड़कर जान जाने की जरूरत है जमीन से जुड़े रहने की जरूरत है समझना चाहिए जाना चाहिए कि वे आफ लिविंग क्या है किस तरीके से रहना चाहिए उसके लिए हमारे पास था लिक्विड सामग्री है जिसको हम देख सकते हैं पढ़ सकते हैं सुन सकते हैं तो बहुत सारे सब माध्यम से है जहां से हम जान सकते हैं अगर हमें पता नहीं है तो और रुझान हमारा उस तरफ ही होना चाहिए ना की मशीन लिस्ट क्या बाकी सारी चीजों किधर है प्लीज यार और अपन और बाकी सारी चीजों की तरह की भी देखिए यह सब टेंपरेरी है यह शरीर वगैरह सब कुछ टेंपरेरी है अगर हमने ठीक तरीके से जीवन यापन नहीं किया है तो भी आप यह जो इससे योनि में हमें जन्म लिया है मानव योनि में मनुष्य योनि में यह बढ़ा दो लाभ होता है यह भी अच्छा हो जाएगा तो इसका सदुपयोग करना चाहिए भाई आप लाइव स्कोर जी लिए जी लीजिए जैसा आपको जीना चाहते हैं जैसा करना चाहते हैं जो करना है जो उचे कांस्य है जो हासिल करना चल सब कुछ करिए लेकिन आध्यात्म को पकड़ रखे अपने धर्म को पकड़ के रखे अपने कल्चर को संस्कृति को जो सही है उसको पकड़ कर रखिए स्तर में जो है उसको पकड़ कर रखी है आपने घर परिवार के सदस्य को भी बताइए और आगे बढ़े यही करना

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Shruti Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Shruti जी का जवाब
Student
1:15
सवाली कि भारत में अध्यात्मिकता का भविष्य क्या है भारत में कई धर्म के लोग रहते हैं सभी धर्मों का अध्यात्मिक पर अलग-अलग है अगर कोई धर्म का दुरुपयोग ना करें क्या धर्म को अपना स्वार्थ पूरा करने का विषय ना बनाएं तो भारत में अध्यात्मिकता का भविष्य बहुत उज्ज्वल है विदेशों से लोग आकर हमारी संस्कृति में लीन होकर आध्यात्मिक गुरु से ज्ञान को प्राप्त करते हैं स्टीव जॉब के आध्यात्मिक यात्रा भारत आकर ही पूरी हुई थी भारत में अध्यात्मिकता का मतलब है प्रकृति के बेहद नजदीक पहुंचकर हमारा ही अध्यात्मा किसी वजह से हमें विश्व में प्रसिद्ध दिलाता है अध्यात्म ऊर्जा एवं एकाग्रता का स्त्रोत है और यह हमें हमारे पूर्वजों से विरासत के रूप में मिला है हमारा सौभाग्य है कि हम इस को फलीभूत जानते हैं और दुर्भाग्य है कि हम अध्यापक को जीवन में अधिक समय नहीं दे पा रहे हैं अध्यात्म में लीन व्यक्तियों की आज फल भारत में कितनी बहुत कम हो लेकिन जितनी भी है मैं आज नामचीन लोगों में गिने जाते हैं और विश्व प्रसिद्ध है भारत का अध्यात्मिक ऐसा ज्ञान का भंडार है जिसे जितना बांटो उतना बढ़ता है और बांटने वाला विश्व प्रसिद्ध हो जाता है

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Meghsinghchouhan Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Meghsinghchouhan जी का जवाब
student
1:23
बस वाले की भारत में आध्यात्मिकता का वशीकरण हेतु ऋषि-मुनियों अवतारों की भूमि भारत है कृषि में दे संज्ञा दी जा रही है तो सिर्फ रही है कि संत नहीं है तो सिर्फ रही है माना कि आजकल धर्म है धर्म की राह पर चल पड़ा उन्होंने कि अब मैं पुलिस चौकी धर्म आने के लिए की बनी हुई जय हो संत हम आपकी रेसिंग दादा आध्यात्मिक रहस्य की बात की जाए तो मन को शुद्ध के अनुसार सूक्ष्म शरीर धारी आत्माओं का एक संग है इसका केंद्रीय हिमालय की वजह और उत्तराखंड में स्थित है जो देवताओं की मलिका जाते में दुर्गम क्षेत्रों में फुल श्रीधारी भक्ति समानता नहीं पहुंच पाते हैं अपने श्रेष्ठ कर्मों के अनुसार सूक्ष्म से इधर ही आत्माएं प्रवेश जब भी पर्ची पर संकट रहता है तो मेरे को सपोर्ट क्यों की सहायता करने के लिए पक्षी पर ही भी आता है उनकी हंसी की बात की जाए तो बहुत से लोगों ने अभी भी के प्रति विश्वास बना हुआ है धन्यवाद

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Trilok Sain Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Trilok जी का जवाब
Motivational Speaker Public Speaker Life Coach Youtuber
0:48
नमस्कार भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य देखिए ज्यादा उज्जवल नहीं है लेकिन ऐसा नहीं किया बिल्कुल अंधकार में है आध्यात्मिकता खत्म नहीं होगी समाप्त नहीं होगी बल्कि चलती रहेगी इसलिए यह कि मैं टेक्नोलॉजी बढ़ रही है लोग हैं वह क्योंकि जान टेक्नोलोजी के जैसे और लोग थोड़ी नास्तिक हो सकते हैं लेकिन ऐसा नहीं है कि बिलकुल इसमें तो जाइए आध्यात्मिकता चलती रहेगी धर्म चलता रहेगा धर्म ग्रंथों का दिन चलता रहेगा और उनसे संबंधित जितने भी व्यापार है वह जलते रहेंगे इसलिए आध्यात्मिकता चलती रहेगी ग्रुप हो या ना हो यह गलत बात है लेकिन फैशन एक बिल्कुल समाप्त हो जाएगा भविष्य वह ठीक ठाक है

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
DR.OM PRAKASH SHARMA Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए DR.OM जी का जवाब
Principal, RSRD COLLEGE OF COMMERCE AND ARTS
1:23
भारत में जनजातियों सच कहा था किसी भी तरह किसी भी जाति का हो तो उसका फोटो दिखाएं दिसावर सट्टा मराठा बेटा बेटा बेटा बेटा बेटा बेटा

bolkar speaker
भारत में आध्यात्मिकता का भविष्य क्या है?Bharat Mein Adhyatmikta Ka Bhavishy Kya Hai
Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:37
हेलो रिबन स्वागत है आपका आपका प्रश्न भारत में अध्यात्मिकता का क्या भविष्य है तो फ्रेंड से हमारे भारत में बहुत सारी जाति और धर्म के लोग रहते हैं और सबकी अपनी अपनी मान्यताएं हैं सबके अपने अपने गुण हैं और आध्यात्म है तो जो हमारे आध्यात्मिक गुरु हैं उनसे हमें बहुत सारी चीजें मिलती है तो भारत में अब तक आध्यात्मिकता का बहुत ही अच्छा भविष्य की जो आध्यात्मिक गुरु हैं यहां पर भी बहुत अच्छी अच्छी ज्ञान की बातें देते हैं जो उन्हें जीवन में स्वीकार करना चाहिए और अपनाना भी चाहिए तो इसका भविष्य भारत में बहुत ही अच्छा है धन्यवाद

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • आध्यात्मिकता क्या है, आध्यात्मिक विकास क्या है, आध्यात्मिक का मतलब
URL copied to clipboard