#undefined

Archana Mishra Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Archana जी का जवाब
Housewife
0:24
हेलो दोस्तों स्वागत है आपका आपका प्रश्न चीन के जैसे सांप बिच्छू इत्यादि चीजें खाते हैं ऐसा क्यों तो फ्रेंड चीन के लोग मांसाहारी ज्यादा पसंद करते हैं इसीलिए लोग सब चीजें खा जाते हैं उन लोग सिर्फ और वह तुझे पसंद होता है चीनियों को इसीलिए ब्लॉक सनम पिक्चर इत्यादि सब कुछ खा लेते हैं धन्यवाद
<HTML><HEAD><meta http-equiv='c

और जवाब सुनें

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti जी का जवाब
Student
1:18
प्रश्न है कि चीन के लोग कीड़े मकोड़े जैसे सांप बिच्छू इत्यादि चीज खाते हैं ऐसा क्यों दिल की बात यह है कि एक तो वहां का जो वातावरण है यहां से बिल्कुल अलग है खाना-पीना मनुष्य की इच्छा और मन पर निर्भर करता है मनुष्य सिर्फ उसी चीज को नहीं खाना चाहेगा जिसके खाने से उसके सारे दांत ही टूट जाए या उसे खाने के बाद में वह बुरी तरह से बीमार पड़ जाए अगर कोई व्यक्ति अपनी इच्छा शक्ति को मजबूत कर लेता है उसे यकीन हो जाता है कि उसे खाने से उसे किसी तरह का नुकसान नहीं बल्कि फायदा होगा तो वह उस चीज को खा सकता है चीन के लोग इन्हीं बातों में विश्वास रखते हैं और कुछ भी खाने की क्षमता रखते हैं देखिए उनके वातावरण के हिसाब से एक तरह से पुरानी अवधारणा भी बनी हुई है कि जीवित चीजों में ज्यादा ताकत होती है और यही कारण है कि उन्हें ऐसी चीज खाने और इस्तेमाल करने में जरा भी तकलीफ नहीं होती है और उन्हें बचपन से ही यही चीज सिखाया जाता है अगर हमें भी बचपन से ही हमारी आंखों के सामने लोगों को खाते हुए हमने देखा होता है या फिर हमें बचपन से ही यह चीज खिलाई गई होती तो हमें भी इसे खाने में कोई आश्चर्य नहीं होता धन्यवाद
Prashn hai ki cheen ke log keede makode jaise saamp bichchhoo ityaadi cheej khaate hain aisa kyon dil kee baat yah hai ki ek to vahaan ka jo vaataavaran hai yahaan se bilkul alag hai khaana-peena manushy kee ichchha aur man par nirbhar karata hai manushy sirph usee cheej ko nahin khaana chaahega jisake khaane se usake saare daant hee toot jae ya use khaane ke baad mein vah buree tarah se beemaar pad jae agar koee vyakti apanee ichchha shakti ko majaboot kar leta hai use yakeen ho jaata hai ki use khaane se use kisee tarah ka nukasaan nahin balki phaayada hoga to vah us cheej ko kha sakata hai cheen ke log inheen baaton mein vishvaas rakhate hain aur kuchh bhee khaane kee kshamata rakhate hain dekhie unake vaataavaran ke hisaab se ek tarah se puraanee avadhaarana bhee banee huee hai ki jeevit cheejon mein jyaada taakat hotee hai aur yahee kaaran hai ki unhen aisee cheej khaane aur istemaal karane mein jara bhee takaleeph nahin hotee hai aur unhen bachapan se hee yahee cheej sikhaaya jaata hai agar hamen bhee bachapan se hee hamaaree aankhon ke saamane logon ko khaate hue hamane dekha hota hai ya phir hamen bachapan se hee yah cheej khilaee gaee hotee to hamen bhee ise khaane mein koee aashchary nahin hota dhanyavaad

India is Great Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए India जी का जवाब
Master Chef in House
0:52
हेलो प्रेशर कम बैक इन डिस्क्रीट में प्रवेश यादव पुत्र राजकिशोर गंगा के नाम से चीन के लोग जैसे छोटे बच्चे सब लोगों का परंपरा है और जो चीजें वह लोग खाते हैं तो वहीं कहने के अनुसार स्वादिष्ट आता है उसे टेस्टी लगता है और उनका मानना कि सबसे ज्यादा ताकत ही सीमित है तो ऐसे में सबके खाते हैं अच्छा लगता है बच्चों को खाना सिखाते हैं और ऐसे ही चलता है लेकिन मैं तो क्या बताऊं मैं खुद ही शाकाहारी हूं मैं इन सब चीजों अंडा हो मैं बनूंगा हो मछली हो या फिर मटन हो किसी चीज में हाथी नहीं लगाता हूं ज्यादा तो मुझे पता नहीं है बस मुझे जरूर पता है कि जो शुरू से जिसका व्यास हो जाता है वह कहीं ना कहीं ऐसी करता है

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

  • क्या चीन से कोरोना वायरस की शुरुवात हुई थी ? चीन के लोगो की सकल एक जैसी क्यों होती है ?
URL copied to clipboard